Search

5th November | Current Affairs | MB Books


1. CARAT : बांग्लादेश और अमेरिका के बीच संयुक्त नौसेना अभ्यास

बांग्लादेश और संयुक्त राज्य अमेरिका ने एक संयुक्त नौसेना अभ्यास कैरेट का आयोजन किया। CARAT का पूर्ण स्वरुप Cooperation Afloat Readiness and Training है। यह अभ्यास चटगांव में आयोजित किया गया था।

मुख्य बिंदु

ऐतिहासिक रूप से, इस अभ्यास में विभिन्न प्रकार के व्यावसायिक आदान-प्रदान, सामुदायिक संबंध परियोजना, विषय विशेषज्ञ आदान-प्रदान और सामाजिक कार्यक्रम शामिल हैं। COVID-19 के कारण, यह अभ्यास वर्चुअली आयोजित किया गया था।

अभ्यास के बारे में

इस अभ्यास के कुछ इवेंट्स को वर्चुअली आयोजित किया गया। इसमें मैरीटाइम डोमेन अवेयरनेस, समुद्र में कानूनी नियम और मानवरहित हवाई वाहनों के एविएशन बेस्ट प्रैक्टिस शामिल हैं। इस वर्ष इस अभ्यास को United Nations Office of Drugs and Crime और बाली प्रोसेस रीजनल सपोर्ट ऑफिस द्वारा समर्थित किया गया है।

CARAT

यह बांग्लादेश, कंबोडिया, ब्रुनेई, इंडोनेशिया, फिलीपींस, मलेशिया, श्रीलंका, सिंगापुर और थाईलैंड जैसे देशों के साथ अमेरिकी-प्रशांत बेड़े द्वारा आयोजित वार्षिक द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास की एक श्रृंखला है। इस अभ्यास का फोकस मुख्य रूप से आसियान पर है। हालांकि, यह गैर-आसियान सदस्यों जैसे श्रीलंका और बांग्लादेश के साथ भी आयोजित किया जाता है।

भारत के लिए चटगांव का महत्व

यह बंदरगाह उत्तर-पूर्वी भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। 2015 में, भारत और बांग्लादेश ने भारत से माल के परिवहन के लिए चटगांव बंदरगाह का उपयोग करने के लिए समझौतों पर हस्ताक्षर किए। अक्टूबर 2018 में, देशों ने माल के परिवहन के लिए मोंगला बंदरगाह का उपयोग करने के लिए समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

बांग्लादेश के माध्यम से उत्तर पूर्व क्षेत्र तक पहुंच को सक्षम करने के समझौते के तहत आठ मार्ग प्रदान किए गए थे। यह भारत से उत्तर पूर्वी क्षेत्र में माल परिवहन के लिए समय, दूरी और रसद लागत को कम करने में मदद करेगा।


2. प्रियंका राधाकृष्णन बनी न्यूजीलैंड में भारतीय मूल की पहली मंत्री

भारतीय मूल की न्यूजीलैंड की राजनेता, प्रियंका राधाकृष्णन ने न्यूजीलैंड सरकार में मंत्री बनने वाली पहली भारतीय-कीवी महिला बनकर इतिहास रच दिया है।

राधाकृष्णन का जन्म चेन्नई, तमिलनाडु में हुआ था।

41 वर्षीय राधाकृष्णन, मंत्रिमंडल में शामिल किए गए पांच नए मंत्रियों में शामिल है।

उन्हें सामुदायिक और स्वैच्छिक क्षेत्र की मंत्री, विविधता, समावेश और जातीय समुदाय, युवा और सहयोगी और सामाजिक विकास और रोजगार मंत्री के तौर पर जैकिंडा अर्डर्न के मंत्रिमंडल में नियुक्त किया गया।


3. महिलाओं के नेतृत्व वाले 6 स्टार्टअप्स ने जीता कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज

महिलाओं के नेतृत्व वाले छह स्टार्टअप ने कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज जीता है। यह MyGov द्वारा UN महिलाओं के सहयोग से आयोजित किया गया था और इसे अप्रैल 2020 में लॉन्च किया गया था।

कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज को MyGov के मंच पर प्रस्तुत किया गया था। इसने ऐसे स्टार्टअप्स से आवेदन मंगवाए जो महिलाओं के नेतृत्व में संचालित किये जा रहे हैं।

यह कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज दो चरणों में लागू किया गया - प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट स्टेज और आइडिएशन स्टेज। इस चैलेंज को पूरे राष्ट्र से कुल 1265 प्रविष्टियां प्राप्त हुईं।

कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज का उद्देश्य

यह कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज संयुक्त राष्ट्र (UN) की महिलाओं के नेतृत्व में ‘मेरी सरकार’ (MyGov) द्वारा महिलाओं के नेतृत्व वाले स्टार्टअप्स को नवीन विचारों और समाधानों के साथ आने के लिए प्रोत्साहित और शामिल करने के लिए आयोजित किया गया था, जो कोविड -19 के खिलाफ लड़ाई में मदद कर सकेंगे या बड़ी संख्या में महिलाओं को प्रभावित करने में सक्षम होंगे।

विजेताओं का चयन: मुख्य विशेषताएं

सभी प्राप्त आवेदनों की पूरी स्क्रीनिंग के बाद, 25 स्टार्टअप्स को जूरी के समक्ष अपनी प्रस्तुतियां (प्रेजेंटेशन्स) पेश करने के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया था। इस जूरी में अटल इनोवेशन मिशन, संयुक्त राष्ट्र महिला भारत, और MyGov के अधिकारी शामिल थे।

इसके बाद, अपने समाधान तैयार और प्रस्तुत करने के लिए चयनित किये गये 11 स्टार्टअप को समय दिया गया। अंतिम प्रस्तुतियां 27 अक्टूबर, 2020 को एक बार फिर, जूरी के समक्ष पेश की गईं।

गहन चर्चा के बाद, जूरी ने शीर्ष 3 प्रविष्टियों को विजेताओं के तौर पर चुना और अतिरिक्त 3 प्रविष्टियों को ‘प्रॉमिसिंग सॉल्यूशंस’ के तौर पर मान्यता दी।

शीर्ष 3 विजेताओं को 5 लाख रुपये का ईनाम देने के अलावा, संयुक्त राष्ट्र - महिला समूह ‘प्रॉमिसिंग सॉल्यूशंस’ के लिए चुने गए 3 स्टार्टअप्स को भी 2 लाख रुपये (प्रत्येक) इनाम देने के लिए सहमत हुआ।

कोविड -19 श्री शक्ति चैलेंज के शीर्ष 3 विजेता

पी गायत्री हेला - वे बेंगलुरु में रेसाडा लाइफसाइंसेज प्राइवेट लिमिटेड की संस्थापक हैं। यह सिंथेटिक रसायनों के बजाय पौधे के अर्क के उपयोग के साथ कृषि और घर-आधारित उत्पादों को तैयार करने के साथ ही इनके वितरण की व्यवस्था करता है।

रोमिता घोष - वे एक कैंसर सर्वाइवर हैं और शिमला में आई हील हेल्थ टेक प्राइवेट लिमिटेड की संस्थापक हैं। यह स्टार्टअप एक हेल्थकेयर स्टार्टअप है जो कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे है।

डॉ. अंजना रामकुमार और डॉ. अनुष्का अशोकन - वे थानमत्र इनोवेशन प्राइवेट लिमिटेड की उत्पाद प्रबंधक और सह-संस्थापक हैं। केरल में लि. इन्होनें एंटी-माइक्रोबियल समाधान का एक अभिनव समाधान प्रस्तुत किया है।

‘प्रॉमिसिंग सॉल्यूशंस’ के तौर पर 3 स्टार्टअप्स की पहचान

वासंती पलानीवेल - वे बेंगलुरु में सेरगेन बायोथेरप्यूटिक्स प्राइवेट लिमिटेड की CEO और सह-संस्थापक हैं। एक वैज्ञानिक और शोधकर्ता के तौर पर, पलानीवेल ने कोविड - 19 वायरस के प्रभावों और लक्षणों का अध्ययन किया और यह पहचान की है कि, फेफड़े कोविड -19 में सबसे खराब संक्रमित अंगों में से एक थे।

शिवि कपिल - वे एम्पैथी डिज़ाइन लैब्स, बेंगलुरु की सह-संस्थापक हैं। इनके लैब्स विभिन्न स्वास्थ्य सेवा पर ध्यान केंद्रित करते हैं और ऐसी गर्भवती महिलाओं के लिए समाधान तैयार करने के लिए एक अवसर के तौर पर कोविड -19 महामारी को लेते हैं, जो अस्पतालों में नहीं जा सकती थीं।

जया और अंकिता पाराशर (मां और बेटी) - वे STREAM माइंड्स की संस्थापक और सह-संस्थापक हैं। यह स्टार्टअप एक ऐजु-टेक कंपनी है जो पूरे भारत के बच्चों के बीच प्रौद्योगिकी, विज्ञान, गणित, पढ़ने/ लिखने और कला शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए काम करती है।


4. प्रतिस्पर्धा आयोग ने आईसीआईसीआई लोम्बार्ड द्वारा भारती एक्सा के अधिग्रहण को दी मंजूरी

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने ICICI लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (ICICI Lombard) द्वारा भारती AXA जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (Bharti AXA) के जनरल इंश्योरेंस बिज़नेस के अधिग्रहण को प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की धारा 31 (1) के तहत मंजूरी दे दी है।

भारती एक्सा के पूरे जनरल इंश्योरेंस कारोबार को आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में अलग करने (डिमर्जर) के माध्यम से हस्तांतरित किया जाएगा और इसके बदले में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड, भारती एक्सा को शेयर जारी करेगी।

इस संयुक्त इकाई (प्रस्तावित विलयित गैर-जीवन बीमा कंपनी) की प्रोफार्मा के आधार पर बाजार हिस्सेदारी 8.7% होने की संभावना है।

प्रस्तावित संयोजन के तहत, भारती AXA के शेयरधारकों को भारती AXA के प्रत्येक 115 शेयरों के लिए ICICI लोम्बार्ड के 2 शेयर जारी किए जाएंगे, जिन्हें ICICI लोम्बार्ड और भारती AXA के निदेशक मंडल द्वारा योजना को मंजूरी दी गई तारीख पर जारी किया जाएगा।


5. BHU के 19 वैज्ञानिक विश्व की 2 फीसदी सूची में शामिल

उत्तर प्रदेश में वाराणसी स्थित काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) ने अपने यहां के 19 वैज्ञानिकों के विश्व की शीर्ष 2 फीसदी जानेमाने वैज्ञानिकों की सूची में शामिल होने का दावा किया है। बीएचयू के जनसंर्पक अधिकारी डॉ. राजेश सिंह ने बुधवार को कहा कि वैश्विक स्तर पर ख्याति प्राप्त यहां के वैज्ञानिकों ने एक बार फिर विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा को नए शिखर पर पहुंचाया है। उन्होंने बताया कि अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक अध्ययन के हवाले से ये जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि अध्ययन अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शोधपत्र ‘प्लोस बायोलॉजी’ में हाल ही में प्रकाशित हुआ है। इस अध्ययन में विभिन्न क्षेत्रों में विश्व के शीर्ष 1,00,000 वैज्ञानिकों के नाम शामिल किए गए हैं। साथ ही साथ विभिन्न विषयों में शीर्ष दो फीसदी वैज्ञानिकों की भी सूची तैयार की गई है। भारत रत्न महामना पंडित मदन मोहन मालवीय द्वारा स्थापित इस विश्वविद्यालय से 19 वैज्ञानिकों को शामिल होने पर खुशी जाहिर करते हुए डॉ. सिंह ने कहा कि विभिन्न विषयों में विश्व के दो शीर्ष फीसदी वैज्ञानिकों की सूची शामिल होना यहां के हर किसी के लिए गौरव की बात है।

उन्होंने कहा कि यह विश्वविद्यालय देश के उन चुनिंदा विश्वविद्यालयों में से एक है जिससे इतनी बड़ी संख्या में वैज्ञानिकों को इस प्रतिष्ठित सूची में जगह पाने में सफलता मिली है।


6. PRASAD योजना: केरल के गुरुवयूर में पर्यटक सुविधा केंद्र का उद्घाटन किया गया

केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने केरल के गुरुवयूर में “टूरिस्ट फैसिलिटेशन सेंटर” का उद्घाटन किया। इस केंद्र का निर्माण पर्यटन मंत्रालय की PRASAD योजना के तहत किया गया है।

मुख्य बिंदु

इस केंद्र का निर्माण 11.57 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इस केंद्र का निर्माण PRASAD योजना के “गुरुवयुर का विकास” परियोजना के तहत किया गया था। इस योजना के तहत परियोजना के लिए लगभग 45.36 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे। इस परियोजना के तहत सीसीटीवी नेटवर्क अवसंरचना, बहु-स्तरीय कार पार्किंग और पर्यटक सुविधा केंद्र जैसे घटकों का निर्माण किया गया है।

प्रसाद योजना

इस योजना का उद्देश्य बुनियादी ढांचा विकास जैसे लास्ट माइल कनेक्टिविटी, प्रवेश बिंदु, ईको-फ्रेंडली परिवहन, व्याख्या केंद्र, एटीएम/मनी एक्सचेंज और अन्य बुनियादी पर्यटन सुविधाएं हैं। यह HRIDAY योजना से अलग है। HRIDAY का पूर्ण स्वरुप Heritage City Development and Augmentation Yojana है। यह योजना विरासत शहरों को संरक्षित और पुनर्जीवित करती है। यह योजना धरोहर शहरों को अधिक सुलभ, आकर्षक बनाती है। यह योजना स्ट्रीट लाइट, फुटपाथ, सड़क, जल निकासी, जल आपूर्ति, अपशिष्ट प्रबंधन और सुरक्षा पर केंद्रित है। दूसरी ओर, PRASAD योजना तीर्थ स्थलों में अवसंरचनात्मक विकास पर केंद्रित है।

PRASAD का पूर्ण स्वरुप Pilgrimage Rejuvenation and Spiritual Augmentation Drive है। इसे 2015 में लॉन्च किया गया था।

हालिया गतिविधियाँ

पर्यटन मंत्रालय ने हाल ही में विभिन्न बौद्ध स्थलों पर अवसंरचना संबंधी विकासात्मक गतिविधियों का संचालन किया था। इसे PRASAD योजना और स्वदेश दर्शन योजना के माध्यम से लागू किया जायेगा। PRASAD योजना के तहत लगभग 30 अवसंरचनात्मक विकास परियोजनाओं की पहचान की गई है। इसमें अजंता और एलोरा, बोधगया जैसे बौद्ध स्थल शामिल हैं। बौद्ध विरासत को विकसित करना न केवल पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि यह एक्ट ईस्ट पॉलिसी के अनुरूप भी है।

चिन्हित शहर

इस योजना के तहत लगभग 12 शहरों की पहचान की गई थी। वे शहर हैं :

  • कामाख्या (असम)

  • अमरावती (आंध्र प्रदेश)

  • गया (बिहार)

  • द्वारका (गुजरात)

  • अजमेर (राजस्थान)

  • केदारनाथ (उत्तराखंड)

  • पुरी (ओडिशा)

  • मथुरा (उत्तर प्रदेश)

  • वाराणसी (उत्तर प्रदेश)

  • वेलंकन्नी (तमिलनाडु)

  • कांचीपुरम (तमिलनाडु)

  • अमृतसर (पंजाब)

अनुदान

PRASAD योजना केंद्र सरकार द्वारा 100% वित्त पोषित है।


7. इंडियन ऑयल और IISc ने हाइड्रोजन-जनरेशन तकनीक विकसित करने के लिए किया समझौता

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISc) और इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अनुसंधान और विकास केंद्र (IOCL) ने बायोमास गैसीफिकेशन-आधारित हाइड्रोजन जनरेशन तकनीक को विकसित करने और प्रदर्शित करने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

इस तकनीक का उपयोग सस्ती कीमत पर ईंधन सेल-ग्रेड हाइड्रोजन के उत्पादन के लिए किया जाएगा।

IISc और इंडियन आयल एक साथ बायोमास गैसीकरण और हाइड्रोजन शुद्धिकरण प्रक्रियाओं के अनुकूलन पर मिलकर काम करेंगे, इस विकसित तकनीक को हरियाणा के फरीदाबाद में इंडियन आयल के R & D सेंटर में प्रदर्शित किया जाएगा।

इस प्रदर्शन संयंत्र से उत्पन्न हाइड्रोजन का उपयोग ईंधन सेल बसों को बिजली देने के लिए किया जाएगा।

बायोमास से ईंधन सेल ग्रेड हाइड्रोजन का उत्पादन करने की यह पहल भारत की कृषि शक्तियों का उपयोग करते हुए भारत के प्रमुख ऊर्जा मैट्रिक्स में हाइड्रोजन ईंधन लाने के लिए आईआईएससी के साथ मिलकर इंडियनऑयल द्वारा उठाया गया एक और कदम है।


8. DRDO ने ओडिशा में किया पिनाका रॉकेट का सफल परीक्षण

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने बुधवार को कहा कि उसने ओडिशा तट से पिनाका (PINAKA Rocket ) रॉकेट प्रणाली के नए संस्करण का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। डीआरडीओ ने कहा कि लगातार 6 रॉकेट छोड़े गए और परीक्षण के दौरान लक्ष्य पूरा करने में सफलता मिली।

डीआरडीओ ने ट्वीट किया, ‘डीआरडीओ द्वारा विकसित पिनाका रॉकेट प्रणाली का बुधवार को ओडिशा तट के पास चांदीपुर एकीकृत परीक्षण रेंज से सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया।’

डीआरडीओ ने कहा कि पिनाका रॉकेट सिस्टम के उन्नत संस्करण मौजूदा Pinaka Mk-I का स्थान लेंगे, जिसका वर्तमान में उत्पादन हो रहा है। अधिकारियों ने बताया कि यह रॉकेट अत्याधुनिक दिशासूचक प्रणाली से लैस है, जिसके कारण यह सटीकता से लक्ष्य की पहचान कर उस पर निशाना साधता है।

एक अधिकारी ने बताया कि सभी उड़ान लेखों को टेलीमेट्री, रडार और इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम जैसे रेंज इंस्ट्रूमेंट्स द्वारा ट्रैक किया गया। उन्होंने बताया कि पिनाका एमके-I वर्तमान मे मौजूद पिनाका का लेटेस्ट वर्जन है।

पहले के पिनाका में गाइड करने की तकनीक नहीं थी, उसे अब अपग्रेड कर गाइडिंग प्रणाली से लैस कर दिया गया है। इस सिलसिले में हैदराबाद रिसर्च सेंटर इमारत (आरसीआई) ने नौवहन, दिशानिर्देशन एवं नियंत्रण किट भी विकसित की थी।

पुणे स्थित डीआरडीओ प्रयोगशाला, आयुध अनुसंधान एवं विकास स्थापना (एआरडीई) और हाई एनर्जी मैटेरियल रिसर्च लेबोरेटरी ने इसका डिजाइन और इसे विकसित किया है।

पिनाका रॉकेट की रेंज करीब 37 किलोमीटर है। पिछले 2 महीने में भारत ने कई मिसाइलों का परीक्षण किया है। इसमें सतह से सतह पर मार करने में सक्षम सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस और एंटी रेडिएशन मिसाइल रूद्रम-एक भी शामिल है।


9. CJI ने नागपुर में ई-रिसोर्स सेंटर और वर्चुअल कोर्ट का किया उद्घाटन

भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) शरद अरविंद बोबडे और सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ द्वारा संयुक्त रूप से भारत के पहले ई-संसाधन केंद्र और नागपुर के न्यायिक अधिकारी प्रशिक्षण संस्थान में "न्याय कौशल" नामक एक वर्चुअल कोर्ट का उद्घाटन किया गया।

न्याय कौशल, सर्वोच्च न्यायालय, उच्च न्यायालय और साथ ही देश भर के किसी भी जिला न्यायालयों में मुकदमों के इलेक्ट्रॉनिक-फाइल करने की सुविधा प्रदान करेगा, ताकि प्रौद्योगिकी का उपयोग करके मुकदमों के लिए त्वरित न्याय मिल सके।

यह वर्चुअल कोर्ट महाराष्ट्र के नागपुर जिले के काटोल से संचालित किया जाएगा।


10. भास्कराचार्य राष्ट्रीय अंतरिक्ष अनुप्रयोग संस्थान और प्रसार भारती के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये

प्रसार भारती और भास्कराचार्य नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस एप्लिकेशन एंड जियो इन्फार्मेटिक्स ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस एमओयू के तहत, सभी 51 डीटीएच शिक्षा चैनल सभी डीडी फ्री डिश दर्शकों को डीडी को-ब्रांडेड चैनल के रूप में उपलब्ध होंगे।

मुख्य बिंदु

51 डीटीएच चैनलों में स्वप्रभा, कक्षा 1 से 12 के लिए ई-विद्या, डिजीशाला, वंदे गुजरात आदि शामिल हैं। यह चैनल ग्रामीण और दूरदराज के घरों में गुणवत्तापूर्ण शैक्षिक कार्यक्रम प्रदान करते हैं। ये सेवाएं सभी दर्शकों के लिए 24/7 मुफ्त उपलब्ध हैं। यह भारत सरकार को “सभी को शिक्षा” प्रदान करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता करेगा।

स्वयं और स्वयं प्रभा

SWAYAM का पूर्ण स्वरुप Study Webs of Active Learning for Young Aspiring Minds है। इसे 2017 में लॉन्च किया गया था। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (अब शिक्षा मंत्रालय) द्वारा इसकी वेबसाइट लॉन्च की गयी थी। यह ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के लिए एक एकीकृत मंच और पोर्टल प्रदान करता है। SWAYAM का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि देश का प्रत्येक छात्र सस्ती कीमत पर सर्वोत्तम गुणवत्ता की शिक्षा प्राप्त करे।

स्वयम प्रभा

यह योजना मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित की जा रही है। यह 32 उच्च गुणवत्ता वाले शिक्षा चैनल प्रदान करती है। यह चैनल पाठ्यक्रम-आधारित पाठ्यक्रम सामग्री को प्रसारित करता है। इसे मुख्य रूप से दूरस्थ क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा संसाधन प्रदान करने के लिए लॉन्च किया गया था जहां इंटरनेट अभी भी एक चुनौती है।

इस कार्यक्रम के तहत डीटीएच चैनल प्रसारण के लिए जीएसएटी-15 उपग्रह कार्यक्रम का उपयोग करता है।

डिजिशाला

यह कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया एक टीवी चैनल है। यह एक चैनल है जो नागरिकों को डिजिटल भुगतान पारिस्थितिकी तंत्र, प्रक्रियाओं और लाभों के बारे में सूचित करता है। यह एक सैटेलाइट चैनल है जिसे दूर दर्शन द्वारा प्रबंधित किया गया है और इसे जीसैट 15 के माध्यम से उपलब्ध कराया गया है।

यह चैनल नागरिकों को यूपीआई, ई-वॉलेट्स, यूएसएसडी और आधार-सक्षम भुगतान प्रणाली और कार्ड के उपयोग के बारे में सूचित करता है। इस चैनल की सेवाएं अंग्रेजी और हिंदी में उपलब्ध हैं।


11. वेस्टइंडीज के बल्लेबाज मार्लोन सैमुअल्स ने पेशे‌वर क्रिकेट से संन्यास लिया

वेस्टइंडीज West Indies के बल्लेबाज मार्लोन सैमुअल्स Marlon Samuels ने बुधवार को पेशे‌वर क्रिकेट से संन्यास Retirement की घोषणा कर दी। वेस्टइंडीज की दो टी-20 विश्वकप खिताबी जीत में फाइनल मुकाबले में टॉप स्कोरर रहे सैमुअल्स ने वेस्टइंडीज के लिए आखिरी मैच दिसंबर 2018 में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था।

सैमुअल्स ने अपने संन्यास के बारे में वेस्टइंडीज क्रिकेट (CWI) को इस वर्ष जून में सूचित कर दिया था। सीडब्ल्यूआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जॉनी ग्रेव ने इस बात की पुष्टि की है।

39 वर्षीय वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ने 2012 के टी-20 फाइनल मुकाबले में 56 गेंदों पर 78 रन बनाकर श्रीलंका के खिलाफ जीत में अहम भूमिका निभाई थी। इस मैच में उन्होंने 15 रन देकर 1 विकेट भी लिया था।

कोलकाता में वर्ष 2016 में हुए टी-20 फाइनल में उन्होंने 66 गेंदों पर 85 रन बनाकर इंग्लैंड के खिलाफ 4 विकेट से जीत दर्ज करने में निर्णायक भूमिका निभाई। इस मैच में उन्हें 'मैन ऑफ द मैच पुरस्कार' से नवाजा गया जिसके साथ ही टी-20 फाइनल में यह सम्मान दो बार पाने वाले वह इकलौते खिलाड़ी बन गए।

टी-20 क्रिकेट में सैमुअल्स ने 67 मैचों में 10 अर्धशतकों की मदद से 1611 रन बनाए हैं, इसके अलावा उनके नाम 22 विकेट दर्ज है। सैमुअल्स ने 71 टेस्ट मैच में 3917 रन बनाए, जिसमें एक दोहरे शतक सहित सात शतक शामिल हैं। उन्होंने 41 विकेट भी इटके हैं।

सैमुअल्स ने 207 एकदिवसीय मैचों में 5606 रन बनाए जिसमें 10 शतक के अलावा 30 अर्धशतक शामिल हैं। क्रिकेट के इस प्रारूप में उनके नाम 89 विकेट है। उन्होंने दुनियाभर के कई टी-20 फ्रेंचाइजी में भी हिस्सा लिया है। इसमें पुणे वॉरियर्स, दिल्ली डेयरडेविल्स, मेलबोर्न रेनेगेड्स और पेशावर जाल्मी शामिल हैं।


12. बिहार के छठें और सबसे कम समय तक मुख्यमंत्री रहने वाले सतीश प्रसाद सिंह का निधन

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी सतीश प्रसाद सिंह का निधन।

उनका जन्म 1 जनवरी 1936 को बिहार के खगड़िया जिले के कोरचक्का (जिसे अब सतीश नगर के नाम से जाना जाता है) में हुआ था।

शोषित समाज दल के नेता सतीश प्रसाद सिंह इंडियन नेशनल कांग्रेस (INC) के समर्थन से 5 दिन (28 जनवरी से 1 फरवरी, 1968) के लिए बिहार के छठें और सबसे कम समय तक मुख्यमंत्री बनने वाले नेता थे।


13. प्रख्यात वायलिन वादक और पद्म अवार्डी टीएन कृष्णन का निधन

पद्म पुरस्कार से सम्मानित प्रख्यात वायलिन वादक टीएन कृष्णन का निधन।

उनका पूरा नाम त्रिपुनिथुरा नारायणायर कृष्णन था।

उनका जन्म 6 अक्टूबर 1928 को केरल के त्रिपुनिथुरा में हुआ था और वे बाद में 1942 के आसपास वे चेन्नई में बस गए।

उन्हें कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों जैसे कि पद्म श्री (1973), पद्म भूषण (1992) और संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार (1974) से सम्मानित किया गया है।


14. फिल्म निर्माता-एक्टर आशीष कक्कड़ का निधन

मशहूर अभिनेता, फिल्म निर्माता और वॉयसओवर कलाकार आशीष कक्कड़ का निधन हो गया है।

वह गुजराती फिल्म उद्योग के सबसे प्रमुख कलाकारों में से एक थे।

एक फिल्म निर्माता के रूप में, आशीष अपनी गुजराती परियोजनाओं जैसे बेटर हाफ (2010) और मिशन ममी (2016) के लिए जाने जाते थे।


15. पन्ना टाइगर रिजर्व को यूनेस्को से मिला बायोस्फीयर रिजर्व का दर्जा

मध्य प्रदेश में पन्ना टाइगर रिजर्व को यूनेस्को की 'व‌र्ल्ड नेटवर्क ऑफ बायोस्फीयर रिजर्व' सूची में शामिल किया गया है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्विटर पर खबर साझा करते हुए रिजर्व को स्थिति के लिए बधाई दी और बाघ संरक्षण पर इसके काम की प्रशंसा की। यूनेस्को की सूची में बाघ रिजर्व को जोड़ने से वन्यजीवों के संरक्षण और स्थिरता की दिशा में नए उपायों की खोज में मदद मिलेगी।

पर्यावरण, वन और जलवायु मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट करते हुए कहा है कि पन्ना टाइगर रिजर्व को अब यूनेस्को बायोस्फीयर रिजर्व घोषित किया गया है। उन्होंने अपने ट्वीट में बाघ संरक्षण के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने के लिए पन्ना टाइगर रिजर्व को बधाई दी। इस समय 129 देशों में 714 बायो स्फेयर रिजर्व हैं।

पन्ना टाइगर रिजर्व: एक नजर में

पन्ना टाइगर रिजर्व भारत का 12वां बाघ अभयारण्य है। बाघों के मुख्य अभयारण्य होन के साथ-साथ यहां मगरमच्छ और अन्य जीव भी अच्छी संख्या में हैं। मध्य प्रदेश के उत्तर में पन्ना और छतरपुर जिलों में फैला टाइगर रिजर्व विंध्य रेंज में स्थित है। साल 1981 में पन्ना टाइगर रिजर्व की स्थापना राष्ट्रीय उद्यान के तौर पर की गयी थी। केंद्र सरकार ने साल 1994 में राष्ट्रीय उद्यान को पन्ना टाइगर रिजर्व के रूप में घोषित की दिया था। यूनेस्को ने पन्ना टाइगर रिजर्व को अपने मैन एंड बायोस्फीयर प्रोग्राम का हिस्सा बनाया है।

वर्तमान में पन्ना टाइगर रिजर्व 56 बाघों का घर है। पन्ना राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के पन्ना और छतरपुर जिलों की सीमा में स्थित है। इस उद्यान का क्षेत्रफल 542.67 वर्ग किलोमीटर है। इसे 25 अगस्त 2011 को बायोस्फीयर रिजर्व के रूप में नामित किया गया था। साल 2007 में भारत के पर्यटन मंत्रालय द्वारा भारत के सर्वश्रेष्ठ रखरखाव वाले राष्ट्रीय उद्यान के रूप में उत्कृष्टता का पुरस्कार दिया गया था। केन नदी इस राष्ट्रीय उद्यान का मुख्य आकर्षण है।

बायोस्फीयर रिजर्व का दर्जा देने से क्या होगा फायदा

ये बायोस्फीयर भंडार भौगोलिक रूप से जीव जंतुओं के प्राकृतिक आवास की रक्षा करते हैं। पन्ना टाइगर रिजर्व को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली है। इससे टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा और आर्थिक मजबूती आएगी। साथ ही बफर जोन का जंगल बेहतर होगा।

युनेस्को के बारे में

यूनेस्को (UNESCO) 'संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन का लघुरूप है। संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) संयुक्त राष्ट्र का एक घटक निकाय है। इसका कार्य शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति तथा संचार के माध्यम से अंतराष्ट्रीय शांति को बढ़ावा देना है।

संयुक्त राष्ट्र की इस विशेष संस्था का गठन 16 नवम्बर 1945 को हुआ था। यूनेस्को के 195 सदस्य देश हैं और सात सहयोगी सदस्य देश और दो पर्यवेक्षक सदस्य देश हैं। इसका मुख्यालय पेरिस (फ्रांस) में है। यूनेस्को की विरासत सूची में हमारे देश के कई ऐतिहासिक इमारत और पार्क शामिल हैं।

9 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved