Search

5th May | Current Affairs | MB Books


1. विश्व अस्थमा दिवस (World Asthma Day)

हर साल विश्व अस्थमा दिवस का आयोजन ग्लोबल इनिशिएटिव फॉर अस्थमा (Global Initiative for Asthma) द्वारा किया जाता है। इसका उद्देश्य अस्थमा के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। प्रति वर्ष मई के पहले मंगलवार को दिन मनाया जाता है।

आवश्यकता : WHO के अनुसार, पूरी दुनिया में लगभग 235 मिलियन लोग अस्थमा से पीड़ित हैं। यह गैर-संचारी रोगों में से एक है। बच्चों में अस्थमा सबसे आम बीमारी है।

अस्थमा के लिए वैश्विक पहल (Global Initiative for Asthma) : विश्व स्वास्थ्य संगठन, राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान, राष्ट्रीय हृदय, फेफड़े और रक्त संस्थान के सहयोग से 1993 में अस्थमा के लिए वैश्विक पहल शुरू की गई थी। यह सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारी और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को चिकित्सा दिशानिर्देश प्रदान करती है।

भारत में अस्थमा : भारत में लगभग 6% बच्चे और 2% वयस्क अस्थमा के कारण प्रभावित हैं। भारत में अस्थमा का इलाज किया जाता है और निदान किया जाता है।

इतिहास : पहला विश्व अस्थमा दिवस 1998 में 35 से अधिक देशों में मनाया गया था। पहला विश्व अस्थमा दिवस स्पेन में विश्व अस्थमा बैठक के संयोजन में मनाया गया था।


2. क्रिमसन सोलर प्रोजेक्ट: अमेरिका ने 550 मिलियन डॉलर स्वीकृत किए

हाल ही में अमेरिका ने क्रिमसन सौर परियोजना (Crimson Solar Project) के लिए 550 मिलियन डालर की मंजूरी दी। इस परियोजना से 87,500 घरों को बिजली मिलेगी।

क्रिमसन सोलर प्रोजेक्ट :

  • इस परियोजना को कैलिफोर्निया के रेगिस्तान में 2,000 एकड़ भूमि पर स्थापित किया जायेगा।

  • यह परियोजना स्थल Blythe से 13 मील पश्चिम में है।

  • इस परियोजना का स्वामित्व सोनोरन वेस्ट सोलर होल्डिंग्स एलएलसी (Sonoran West Solar Holdings LLC) के पास होगा।

  • इस परियोजना के निर्माण से 650 अस्थायी रोजगार उत्पन्न होंगे।

  • इसमें 350 मेगावाट सौर फोटोवोल्टिक सुविधा और 350 मेगावाट ऊर्जा भंडारण प्रणाली है।

  • यह सार्वजनिक भूमि और पानी पर अक्षय ऊर्जा के विकास में तेजी लाने के लिए बाईडेन की योजना का एक हिस्सा है।

अमेरिका में सौर ऊर्जा : 2020 तक, अमेरिका में 97,275 मेगावाट स्थापित सांद्रता और फोटोवोल्टिक सौर ऊर्जा थी। यह देश द्वारा खपत की जाने वाली कुल बिजली का 1.66% है।

बाईडेन की योजना : अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाईडेन ने अमेरिका में ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को रोकने के लिए 2 मिलियन अमरीकी डालर के बुनियादी ढाँचे के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए। इस योजना ने देश में इलेक्ट्रिक ग्रिड प्रणाली को अपडेट करने और जलवायु आपदाओं के लिए अधिक लचीला बनाने के लिए 100 बिलियन अमरीकी डालर का प्रस्ताव दिया।

अमेरिका द्वारा आयोजित क्लाइमेट ऑन लीडर्स समिट के दौरान, राष्ट्रपति ने घोषणा की थी कि अमेरिका 2050 तक शुद्ध-शून्य उत्सर्जन का लक्ष्य प्राप्त करेगा।

कैलिफोर्निया रेगिस्तान : कैलिफोर्निया में तीन मुख्य रेगिस्तान हैं। वे कोलोराडो रेगिस्तान, मोहावे रेगिस्तान और ग्रेट बेसिन रेगिस्तान हैं। कोलोराडो रेगिस्तान कैलिफोर्निया के रेगिस्तान के उत्तर पश्चिम में स्थित है। ग्रेट बेसिन डेजर्ट देश में स्थित एकमात्र ठंडा रेगिस्तान है।

मोहावे रेगिस्तान में सैन गैब्रियल और सैन बर्नार्डिनो पर्वत श्रृंखला शामिल हैं।


3. बार्कलेज का अनुमान FY22 में भारत की जीडीपी वृद्धि 10%

यूके स्थित वैश्विक ब्रोकरेज फर्म बार्कलेज ने भारत के जीडीपी विकास अनुमान को 2021-22 (FY22) के लिए अपने पहले के 11 प्रतिशत के अनुमान से घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया है।

इसके अलावा, बार्कलेज ने FY21 में अर्थव्यवस्था के 7.6 प्रतिशत के संकुचन का अनुमान लगाया है।


4. ICICI बैंक पर RBI ने लगाया 3 करोड़ रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने प्रतिभूतियों को एक श्रेणी से दूसरी श्रेणी में स्थानांतरित करने के मामले में अपने निर्देशों का पालन न करने के लिए ICICI बैंक पर 3 करोड़ रुपये का मौद्रिक जुर्माना लगाया है।

बैंक पर यह मौद्रिक जुर्माना बैंक द्वारा 'वर्गीकरण, मूल्यांकन और निवेश पोर्टफोलियो के लिए प्रूडेंशियल नॉर्म्स' पर अपने मास्टर सर्कुलर में संचालन के लिए निहित दिशा-निर्देशों के उल्लंघन के लिए लगाया गया है।


5. SAIL 100 सबसे मूल्यवान भारतीय फर्मों की सूची में शामिल हुआ

बीएसई पर सेल का स्टॉक नौ साल के उच्च स्तर 135.60 रुपये पर पहुंच गया है। पिछले छह हफ्तों में सेल के शेयरों में 85% की वृद्धि हुई है। इसने 100 सबसे मूल्यवान भारतीय फर्मों की सूची में प्रवेश किया है।

SAIL (Steel Authority of Indian Limited) : यह इस्पात मंत्रालय के अधीन काम करता है। SAIL का वार्षिक टर्न ओवर लगभग 10 बिलियन अमरीकी डालर है।

इसमें पांच बड़े एकीकृत स्टील प्लांट हैं। वे राउरकेला स्टील प्लांट, भिलाई स्टील प्लांट, दुर्गापुर स्टील प्लांट, IISCO और बोकारो स्टील प्लांट हैं। ये प्लांट चार राज्यों अर्थात् ओडिशा, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और झारखंड में फैले हुए हैं। इसके अलावा, इसमें तीन विशेष स्टील प्लांट हैं, जैसे विश्वेशरैय्या आयरन एंड स्टील प्लांट, सलेम स्टील प्लांट, अलॉय स्टील प्लांट और चंद्रपुर में फेर्री एलॉय प्लांट।

राष्ट्रीय इस्पात नीति (National Steel Policy) : इसे 2017 में केंद्रीय कैबिनेट द्वारा अनुमोदित किया गया था। इस नीति के तहत, भारत सरकार का लक्ष्य 2030 तक 300 मिलियन टन के इस्पात उत्पादन को प्राप्त करना है। राष्ट्रीय इस्पात नीति के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं। वे इस प्रकार हैं:

  • 2030-31 तक प्रति व्यक्ति स्टील की खपत 160 किलोग्राम तक बढ़ाने का प्रयास किया जायेगा। वर्तमान में यह 69 किलोग्राम पर है।

  • 2025-26 तक स्टील का शुद्ध निर्यातक बनना

  • कोकिंग कोल की घरेलू उपलब्धता को बढ़ाना।यह 2030 तक कोकिंग कोल के आयात को 50% तक कम करने के लिए किया जा रहा है।

पृष्ठभूमि : चीन कच्चे इस्पात (crude steel) का विश्व का सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक है। विश्व इस्पात उत्पादन में 51% से अधिक उत्पादन चीन द्वारा किया जाता है। भारत 2019 में जापान को पछाड़कर दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक बन गया था। स्टील के अन्य शीर्ष उत्पादक रूस, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, ब्राजील और जर्मनी हैं।


6. SBI योनो ने किया शिवराय टेक्नोलॉजीज के साथ समझौता

शिवराय टेक्नोलॉजीज (Shivrai Technologies) ने लघुधारकों, सीमांत और बड़े धारक किसानों की मदद करने के लिए अग्रणी डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म, योनो एसबीआई (Yono SBI) के साथ भागीदारी की, जो एक मुफ्त एप्लीकेशन है।

इससे उन्हें अपनी लागत के साथ-साथ लगातार कुल लाभ के बहीखाता पर ध्यान केंद्रित करने की अनुमति होगी।

इसका उद्देश्य देश भर के किसानों को अपने खातों को कुशलता से प्रबंधित करने में मदद करना है, जिससे घाटे में कटौती हो। शिवराय का अपना B2B ब्रांड, FarmERP भी है।


7. खाद्य प्रसंस्करण उद्योग के लिए पीएलआई योजना के लिए दिशानिर्देश जारी किये गये

भारत सरकार ने हाल ही में की “उत्पादन लिंक्ड योजना” (Production Linked Incentive Scheme) के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। भारत सरकार ने इससे पहले “आत्म निर्भार भारत” के तहत 10,900 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ खाद्य प्रसंस्करण के लिए पीएलआई योजना को मंजूरी दी थी। यह योजना 2021-22 और 2026-27 के बीच लागू की जाएगी।

दिशानिर्देश में श्रेणियाँ : दिशानिर्देशों ने योजना के आवेदकों को निम्नलिखित श्रेणियों में विभाजित किया है:

श्रेणी 1 : ये आवेदक बड़ी संस्थाएं हैं जो बिक्री और निवेश मानदंडों के आधार पर प्रोत्साहन के लिए आवेदन करती हैं। ये आवेदक विदेशों में ब्रांडिंग और विपणन गतिविधियों का कार्य करेंगे। वे अनुदान के लिए भी आवेदन करेंगे।

श्रेणी 2: ये आवेदक लघु और मध्यम उद्यमों से संबंधित हैं। वे नवीन उत्पादों का निर्माण करते हैं। वे अपनी बिक्री के आधार पर योजना के तहत अनुदान के लिए आवेदन कर सकते हैं।

श्रेणी 3 : यह वे आवेदक हैं जो विदेशों में ब्रांडिंग और विपणन गतिविधियों को शुरू करने के लिए अनुदान के लिए आवेदन करते हैं।

दिशा-निर्देश :

  • पीएलआई योजना के तहत बिक्री आधारित प्रोत्साहन का भुगतान 2021-22 और 2026-27 के बीच छह वर्षों के लिए किया जाएगा।

  • वृद्धिशील बिक्री की गणना करने के लिए आधार वर्ष 2019-20 और पांचवें और छठे वर्ष के लिए आधार वर्ष क्रमशः 2021-22 और 2022-23 होना चाहिए।

आवेदन का चयन : आवेदकों के चयन के लिए निम्नलिखित दिशा-निर्देश दिए गए हैं:

  • श्रेणी I आवेदकों को उनकी बिक्री, प्रतिबद्ध निवेश और निर्यात के आधार पर चुना जाता है।इसके तहत चार उत्पाद खंड हैं जिन्हें योजना के तहत प्रोत्साहन दिया जायेगा। वे बाजरा-आधारित खाद्य पदार्थ, समुद्री उत्पाद, प्रसंस्कृत फल और सब्जियां और मोज़ेरेला चीज़ इत्यादि हैं।

  • श्रेणी II के तहत आवेदकों का चयन उनके अभिनव प्रस्ताव, उत्पाद की विशिष्टता आदि के आधार पर किया जाता है।

  • श्रेणी III के तहत आवेदकों का चयन उनके ब्रांड की मान्यता के स्तर, उत्पादन, रणनीति, बिक्री, निर्यात बाजार आदि के आधार पर किया जाता है।

8. न्यायमूर्ति पंत बने NHRC के कार्यकारी अध्यक्ष

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) के सदस्य न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) प्रफुल्ल चंद्र पंत (Prafulla Chandra Pant) को 25 अप्रैल से आयोग का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश, जस्टिस पंत को 22 अप्रैल, 2019 को NHRC का सदस्य नियुक्त किया गया था। भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एचएल दत्तू (Justice H.L. Dattu) के 2 दिसंबर, 2020 को उनके कार्यकाल पूरा होने के बाद से अध्यक्ष का पद खाली है।


9. कोटक महिंद्रा लाइफ ने महेश बालासुब्रमण्यन को MD नियुक्त किया

कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (KLI) ने 1 मई को घोषणा की कि उसने महेश बालासुब्रमण्यम (Mahesh Balasubramanian) को कंपनी का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया है। उन्हें जी मुरलीधर (G Murlidhar) की सेवानिवृत्ति के बाद नियुक्त किया गया है।

कंपनी बालासुब्रमण्यम की नियुक्ति के लिए भारतीय बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण से अनुमोदन प्राप्त किया है। यह नियुक्ति तीन साल की अवधि के लिए है। सुरेश अग्रवाल (Suresh Agarwal) को कोटक जनरल इंश्योरेंस के एमडी और सीईओ के पद पर नियुक्त किया गया है।


10. सिक्किम में भारतीय सेना का पहला ग्रीन सोलर एनर्जी हार्नेसिंग प्लांट

भारतीय सेना ने हाल ही में सिक्किम में पहला ग्रीन सोलर एनर्जी हार्नेसिंग प्लांट (Green Solar Energy Harnessing Plant) शुरू किया। इसे भारतीय सेना के सैनिकों को लाभ पहुंचाने के लिए लॉन्च किया गया था।

प्लांट के बारे में :

  • यह प्लांट वैनेडियम (Vanadium) आधारित बैटरी तकनीक का उपयोग करता है।

  • इसे 16,000 फीट की ऊंचाई पर बनाया गया है।

  • इस प्लांट की क्षमता 56 KVA है।

  • यह आईआईटी मुंबई के सहयोग से पूरा हुआ है।

भारतीय सेना की अन्य हरित पहल :

  • भारतीय सेना ने हाल ही में (अप्रैल, 2021) जालंधर छावनी में एक सौर ऊर्जा संयंत्र शुरू किया है। इसे विश्व पृथ्वी दिवस पर लॉन्च किया गया था। इसके अलावा, इसे “गो ग्रीन” पहल के एक भाग के रूप में लॉन्च किया गया था।

  • इस सयंत्र का निर्माण 16 करोड़ रुपये की लागत से किया गया था।

  • यह छावनी में सैन्य अस्पताल के लिए समर्पित है।

  • यह संयंत्र पांच एकड़ भूमि में स्थापित किया गया था।

  • इस परियोजना ने 1MW सौर ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए 3,176 सौर पैनल स्थापित किए हैं।

  • इस परियोजना से सालाना 15 लाख यूनिट सौर ऊर्जा का उत्पादन होगा और इससे प्रति वर्ष 1 करोड़ रुपये की बचत होगी।

वैनेडियम (Vanadium) :

  • जनवरी 2021 में, वनैडियम अरुणाचल प्रदेश में खोजा गया था। यह भारत में वनैडियम की पहली खोज थी।

  • भारत विश्व में वैश्विक वेनेडियम उत्पादन का 4% उपभोग करता है।

  • यह 60 विभिन्न खनिजों और अयस्कों में पाया जाता है जिसमें कारनोटाइट, वनाडेट, रोसकोलाइट, पेट्रोनाईट शामिल हैं।

  • वैनेडियम का उपयोग स्टील मिश्र धातु, अंतरिक्ष वाहन, परमाणु रिएक्टर आदि बनाने में किया जाता है। इसका उपयोग गर्डर्स, पिस्टन रॉड बनाने में भी किया जाता है। वैनेडियम रेडॉक्स बैटरी का उपयोग सुपरकंडक्टिंग मैग्नेट में किया जाता है। उनका उपयोग ऊर्जा के विश्वसनीय अक्षय स्रोतों को बनाने के लिए भी किया जाता है।

  • वनैडियम का रंग सिल्वर है। यह एक संक्रमणकालीन धातु है, जो गर्मी और बिजली का अच्छा संवाहक है।

11. IOC के 'बिलीव इन स्पोर्ट' अभियान के लिए एम्बेसडर बने सिंधु और मिशेल ली

बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (Badminton World Federation) ने घोषणा की कि भारत की शटलर पीवी सिंधु (PV Sindhu) और कनाडा की मिशेल ली (Michelle Li) को प्रतियोगिता में हेरफेर को रोकने के उद्देश्य से अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) के 'बिलीव इन स्पोर्ट' अभियान के लिए एथलीट एम्बेसडर के रूप में नामित किया गया है।

सिंधु और ली दुनिया भर के अन्य एथलीट एम्बेसडरों के साथ-साथ एथलीटों के बीच प्रतिस्पर्धा में हेरफेर के विषय पर जागरूकता बढ़ाने और प्रोत्साहित करने के लिए काम करेंगे।

यह जोड़ी अप्रैल 2020 से BWF के 'आई एम बैडमिंटन' अभियान के लिए वैश्विक एम्बेसडर है। प्रतियोगिता हेरफेर के खतरे के एथलीटों, कोचों और अधिकारियों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए 2018 में IOC का 'बिलीव इन स्पोर्ट' अभियान शुरू किया गया था।


12. श्रीलंकाई ऑलराउंडर थिसारा परेरा ने रिटायरमेंट की घोषणा की

श्रीलंकाई ऑलराउंडर और पूर्व कप्तान थिसारा परेरा (Thisara Perera) ने अपने 12 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर को समाप्त करते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा की।

दिसंबर 2009 में डेब्यू के बाद, परेरा ने श्रीलंका के लिए छह टेस्ट, 166 वनडे (2338 रन, 175 विकेट) और 84 T20I (1204 रन, 51 विकेट) खेले। ​32 वर्षीय परेरा घरेलू और फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे।


13. असम की पहली महिला IAS अधिकारी पारुल देबी दास का निधन

असम की पहली महिला IAS अधिकारी पारुल देबी दास (Parul Debi Das) का निधन हो गया है। वह असम-मेघालय कैडर के IAS अधिकारी थे।

​वह अविभाजित असम के पूर्व कैबिनेट मंत्री - रामनाथ दास की बेटी थीं। वह असम के पूर्व मुख्य सचिव नाबा कुमार दास (Naba Kumar Das) की बहन थीं।






  • Source of Internet

7 views0 comments