Search

29th August | Current Affairs | MB Books


1. कौन हैं ब्रिटेन की वो भारतीय मूल की जासूस नूर इनायत खान, जिसे मिला लंदन में 'मेमोरियल प्लाक'

दूसरे विश्व युद्ध में ब्रिटेन की भारतीय मूल की महिला जासूस नूर इनायत खान लंदन में मेमोरियल प्लाक से सम्मानित की जाने वाली पहली महिला बनी गई हैं। शुक्रवार को नूर इनायत खान के नाम पर मध्य लंदन में उनके पूर्व पारिवारिक घर में स्मारक ‘ब्लू प्लाक' देकर सम्मानित किया जाएगा। English Heritage charity की ओर से चलाई जाने वाली Blue Plaque Scheme के तहत प्रख्यात लोगों और संगठनों को सम्मानित करता है जो लंदन में किसी खास भवन से जुड़े होते हैं।

नूर इनायत खान की पट्टिका ब्लूम्सबरी में 4 टैविटोन स्ट्रीट पर पहुंची, जहां वो 1943 में नाज़ियों के कब्जे वाले फ्रांस के लिए रवाना होने से पहले रहती थीं। वो ब्रिटेन के स्पेशल ऑपरेशन्स एक्जिक्यूटिव (SOE) के लिए अंडरकवर रेडियो संचालक के तौर पर वहां गईं थी।

उनके बारे में एक खास बात यह भी है कि नूर, भारतीय सूफी संत हजरत इनायत खान की बेटी और 18वीं सदी के मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की वंशज थीं जिनकी 1944 में दचाउ यातना शिविर यानी कन्सन्ट्रेशन कैंप में हत्या कर दी गई थी और उन्होंने कैद करने वालों को किसी भी तरह की जानकारी नहीं दी थी यहां तक कि अपना असली नाम भी नहीं बताया था।

इतिहासकार और ‘Spy Princess: The Life of Noor Inayat Khan' की लेखिका श्रावनी बसु ने कहा, 'जब नूर इनायत खान अपने अंतिम मिशन पर अपना घर छोड़कर रवाना हुईं थीं, तो उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि एक दिन वह बहादुरी का प्रतीक बन जाएंगी।' बसु ने कहा, ‘वह एक असाधारण जासूस थीं. सूफी होने की वजह से वह अहिंसा एवं धार्मिक सौहार्द में यकीन करती थीं।'

बसु ने एक छोटे से समारोह में इस मेमोरियल प्लाक का औपचारिक रूप से अनावरण किया जिसका प्रसारण सोशल मीडिया पर किया जाएगा। उन्होंने कहा, 'यह उचित होगा कि भारतीय मूल की पहली महिला नूर को ब्लू प्लाक के साथ याद रखा जाएगा। इसे देखकर, नूर की कहानी भावी पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी। आज की दुनिया में,एकता और स्वतंत्रता का उनका दृष्टिकोण पहले से कहीं ज्यादा महत्त्वपूर्ण है।'

बसु नूर इनायत खान मेमोरियल ट्रस्ट (NIKMT) की संस्थापक-अध्यक्ष हैं जिसने 2012 में पास के गोर्डोन स्कॉयर में नूर की प्रतिमा लगाई थी।

2. मोदी सरकार से खरीदें सस्ता सोना, योजना 31 अगस्त से होगी शुरू

सोने में निवेश के इच्छुक निवेशकों के लिए नरेंद्र मोदी सरकार की स्वर्ण बांड योजना 31 अगस्त को शुरू हो रही है जो 4 सितंबर तक चलेगी।मोदी सरकार पिछले कुछ वर्षों से सोने की भौतिक मांग कम करने के लिए समय-समय पर स्वर्ण बॉन्ड योजना लाती रही है। योजना के तहत बेचे जाने वाली कीमती पीली धातु का दाम रिजर्व बैंक तय करता है। केंद्रीय बैंक ने इस बार स्वर्ण बॉन्ड योजना के तहत सोने का दाम 5117 रुपए प्रति ग्राम रखा है।

योजना के तहत खरीदे जाने वाली सोने की मात्रा पर डिजिटल भुगतान करने पर 50 रुपए प्रति दस ग्राम की छूट मिलेगी। डिजिटल भुगतान पर निवेशक को 5067 रुपए प्रति ग्राम कीमत अदा करनी होगी।

योजना के तहत न्यूनतम खरीद एक ग्राम की जा सकती है। सोने की खरीद बैंक, बीएसई, एनएसई की वेबसाइट अथवा डाकघर से की जा सकेगी।

उल्लेखनीय है कि 29 अगस्त को एक ग्राम 24 कैरेट सोने का दाम 5145 रुपए है, जो कि सरकार द्वारा की गई कीमत की तुलना में अधिक है।

समाप्त वित्त वर्ष में बैंक ने दस किस्तों में कुल 2316.37 करोड़ रुपए अर्थात 6.13 टन के स्वर्ण बॉन्ड जारी किए थे। कोरोना काल में लगातार छह महीने से स्वर्ण बॉन्ड जारी किए जा रहे हैं।

3. भारत औसत मासिक वेतन सूची में 72वें स्थान पर, शीर्ष पर है यह देश...

प्रतिमाह 32800 रुपए यानी 437 डॉलर के औसत वेतन के साथ इस मामले में भारत का दुनियाभर के 106 देशों में 72वां स्थान रहा है। इस सूची में स्विट्जरलैंड शीर्ष पर है। पिकोडी डॉट कॉम की एक रिपोर्ट में यह सामने आया है। डिस्काउंट कूपन प्रदान करने वाली अंतरराष्ट्रीय ई-वाणिज्य कंपनी पिकोडी डॉट कॉम के सर्वेक्षण के अनुसार, स्विट्जरलैंड 5,989 डॉलर यानी 4,49,000 रुपए के औसत मासिक वेतन के साथ शीर्ष पर है। सूची में 2,700 रुपए यानी 36 डॉलर के औसत मासिक वेतन साथ क्यूबा सबसे नीचे है। सूची में स्विट्जरलैंड के बाद 3,00,900 रुपए (4,014 डॉलर के साथ) लक्जमबर्ग दूसरे और 2,64,900 रुपए (3,534 डॉलर) के औसत मासिक वेतन के साथ अमेरिका तीसरे स्थान पर है।शीर्ष 10 देशों में डेनमार्क (3,515 डॉलर), सिंगापुर (3,414 डॉलर), ऑस्ट्रेलिया (3,333 डॉलर), कतर (3,232 डॉलर), नॉर्वे (3,174 डॉलर), हांगकांग (3,024 डॉलर) और आइसलैंड (2,844 डॉलर) शामिल हैं।

भारत की 32,800 रुपए की औसत मासिक मजदूरी के बाद कजाखस्तान (32,700 रुपए), ब्राज़ील (26,000 रुपए) और मिस्र (16,400 रुपए) जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया है।सूची में क्यूबा, युगांडा और नाइजीरिया जैसे देश 2,700 रुपए तथा 13,800 रुपए के औसत मासिक वेतन के साथ सूची में नीचे हैं।

इस सूची में शामिल 16 एशियाई देशों में भारत का 10वां स्थान है। दक्षिण कोरिया (1,72,900 रुपए), चीन (72,100 रुपए), मलेशिया (62,700 रुपए) और थाईलैंड (46,400 रुपए) जैसे देश भारत से आगे रहे हैं।भारत के बाद वियतनाम (30,200 रुपए), फिलीपींस (23,100 रुपए), इंडोनेशिया (22,900 रुपए) और पाकिस्तान (15,700 रुपए) जैसे देश हैं।

4. अमेरिका में Covid 19 के सभी मरीजों को रेमडेसिविर दवा देने की अनुशंसा

अमेरिका की नियामक संस्था ने अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के सभी मरीजों को रेमडेसिविर दवा देने की अनुमति दे दी है। दवा निर्माता 'गिलियड साइंसेज' ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

कंपनी ने कहा कि 'खाद्य एवं दवा प्रशासन' (एफडीए) ने आपातकालीन परिस्थिति में रेमडेसिविर के प्रयोग का दायरा बढ़ा दिया है जिससे डॉक्टर मरीजों को इसे लेने की सलाह दे सकेंगे। अब तक यह दवा कोविड-19 के गंभीर मरीजों को ही दी जाती थी। कैलिफोर्निया में फोस्टर सिटी स्थित गिलियड ने रेमडेसिविर को 'वेक्लुरि'नाम से बेचने की औपचारिक मंजूरी के लिए 10 अगस्त को एफडीए में आवेदन किया था।

गिलियड ने एक वक्तव्य में कहा कि अस्पताल में भर्ती मरीजों पर हाल ही में हुए एक सरकारी अध्ययन और गिलियड द्वारा 1 सप्ताह पहले प्रकाशित अध्ययन के आधार पर आपातकालीन परिस्थिति में इस दवा के प्रयोग के दायरे को बढ़ाने की मंजूरी मिली। गिलियड के अध्ययन में पाया गया कि कोविड-19 से ग्रस्त जिन मरीजों को 5 दिन तक रेमडेसिविर दवा दी गई उनमें ठीक होने की संभावना 65 प्रतिशत अधिक थी।

5. देश में संक्रमण के 34 लाख से ज्यादा मामले, 76.47% स्वस्‍थ

भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 76,472 नए मामले सामने आने के साथ ही देश में शनिवार को संक्रमण के मामले 34 लाख के पार चले गए वहीं संक्रमण से 26,48,998 लोग ठीक हो गए हैं जिससे संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर शनिवार को 76.47 % हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकडों के अनुसार पिछले 24 घंटे में देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 34,63,972 हो गए हैं वहीं 1,021 लोगों की मौत होने से मृतक संख्या 62,550 हो गई है। देश में संक्रमण से मृत्य दर घटकर 1.81% रह गई है। आंकडों के मुताबिक देश में फिलहाल 7,52,424 लोगों का संक्रमण का उपचार चल रहा है, जो कुल मामलों का 21.72 % है। गौरतलब है कि देश में संक्रमण के मामले सात अगस्त को 20 लाख के पार हो गए थे वहीं 23 अगस्त को मामले 30 लाख के पार हो गए।

आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिन 1,021 लोगों की जान गई, उनमें से सबसे अधिक 331 लोग महाराष्ट्र के थे। इसके अलावा कनार्टक के 136, तमिलनाडु के 102, आंध्र प्रदेश के 81, उत्तर प्रदेश के 77, पश्चिम बंगाल के 56, पंजाब के 51, बिहार और दिल्ली में 20-20, मध्य प्रदेश के 17, हरियाणा के 15, गुजरात के 14, राजस्थान के 12 और उत्तराखंड के 11 लोग थे।

पुडुचेरी और तेलंगाना में नौ-नौ, असम, झारखंड और ओडिशा में आठ-आठ, जम्मू-कश्मीर और केरल में सात-सात, छत्तीसगढ़ में छह, त्रिपुरा में पांच, गोवा में चार, चंडीगढ़, मणिपुर और मेघालय में दो-दो लोगों की मौत हुई। लद्दाख में एक व्यक्ति की मौत संक्रमण से हुई।

कुल 62,550 मौतों में से, महाराष्ट्र में सबसे अधिक 23,775, तमिलनाडु में 7,050, कर्नाटक में 5,368, दिल्ली में 4,389, आंध्र प्रदेश में 3,714, उत्तर प्रदेश में 3,294, पश्चिम बंगाल में 3,073, गुजरात में 2,976 और मध्य प्रदेश में 1,323 लोगों की मौत हुई। अब तक पंजाब में 1,307, राजस्थान में 1,017, तेलंगाना में 808, जम्मू-कश्मीर में 678, हरियाणा में 661, बिहार में 558, ओडिशा में 456, झारखंड में 381, असम में 286, केरल में 274 , छत्तीसगढ़ में 251 और उत्तराखंड में 239 लोगों की मौत संक्रमण से हुई।

पुडुचेरी में 199, गोवा में 175, त्रिपुरा में 94, चंडीगढ़ में 45, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 42, हिमाचल प्रदेश में 33, लद्दाख में 28, मणिपुर में 27, मेघालय में 10, नगालैंड में नौ, अरुणाचल प्रदेश में पांच, सिक्किम में तीन और दादरा एवं नगर हवेली तथा दमन और दीव में दो लोगों की मौत संक्रमण से हुई।

6. दिल्ली सरकार ने स्वस्थ शरीर, स्वस्थ दिमाग अभियान का किया शुभारंभ

दिल्ली सरकार ने COVID-19 महामारी के कारण स्कूलों और कॉलेजों पर लगाए गए ताले की वजह से घरों में सीमित रहने वाले छात्रों के लिए “Healthy Body, Healthy Mind” यानि “स्वस्थ शरीर, स्वस्थ दिमाग” फिटनेस अभियान शुरू किया है।

"स्वस्थ शरीर, स्वस्थ दिमाग" अभियान के तहत, एक YouTube चैनल शुरू किया गया है जहां प्रत्येक बुधवार को एक वीडियो अपलोड किया जाएगा, जिसके जरिए छात्र सर्वव्यापी महामारी से बचने के लिए फिटनेस बनाए रखने और शारीरिक गतिविधियों के लिए एक सप्ताह तक अभ्यास कर सकते हैं ।

7. कंप्यूटर पायनियर अर्नोल्ड स्पीलबर्ग का निधन

प्रख्यात कंप्यूटर डिजाइनर और इनोवेटिव इंजीनियर अर्नोल्ड मेयर स्पीलबर्ग का 103 वर्ष की आयु में निधन।

स्पीलबर्ग और चार्ल्स प्रोपस्टर ने 1950 के दशक के अंत में जनरल इलेक्ट्रिक के लिए काम करते हुए GE-225 मेनफ्रेम कंप्यूटर डिज़ाइन किया था।

मशीन ने डार्टमाउथ कॉलेज के कंप्यूटर वैज्ञानिकों को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज BASIC विकसित करने की अनुमति दी, जो 1970 और 80 के दशक में पर्सनल कंप्यूटरों के उदय के लिए आवश्यक थी।

स्पीलबर्ग का जन्म 6 फरवरी, 1917 को ओहियो के सिनसिनाटी में हुआ था। वह फिल्म निर्माता स्टीवन स्पीलबर्ग के पिता हैं और उन्होंने 1963 में बनी उनकी पहली Firelight’ को बनाने में उनकी मदद की थी।

8. सेना प्रमुख ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर लिखी गई पुस्तक का किया विमोचन

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने "National Security Challenges: Young Scholars' Perspective" नामक एक पुस्तक का विमोचन किया है, जो विश्वविद्यालय के छात्रों लेकर स्नातक स्तर के डॉक्टरेट उम्मीदवारों तक पर आधारित है।

इस पुस्तक को आर्मी थिंक-टैंक सेंटर फॉर लैंड वारफेयर स्टडीज (CLAWS) द्वारा प्रकाशित किया गया है।

9. 29 अगस्त राष्ट्रीय खेल दिवस: PM मोदी ने मेजर ध्यान चंद को किया नमन, कहा, 'खेल-व्यायाम हो दिनचर्या का हिस्सा'

आज हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद (Major Dhyan Chand) का जन्मदिन है, इस दिन को पूरा देश राष्ट्रीय खेल दिवस (National Sports Day) के रूप में मनाता है। इस अवसर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संदेश में मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि दी और आज के दिन को को खेलों में अतुलनीय योगदान देने के लिए खिलाड़ियों, कोचों और सहयोगी कर्मचारियों की सराहना करने का दिन बताया।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हर व्यक्ति को खेल और व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाना चाहिए

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, 'राष्ट्रीय खेल दिवस उन सभी अनुकरणीय खिलाड़ियों की उल्लेखनीय उपलब्धियों का जश्न मनाने का दिन है, जिन्होंने विभिन्न खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है और हमारे राष्ट्र को गौरवान्वित किया है उनका तप और संकल्प है उत्कृष्ट है'

एक अन्य ट्वीट में मेजर ध्यान चंद को श्रद्धांजलि देते हुए पीएम ने लिखा, 'आज राष्ट्रीय खेल दिवस पर, हम मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि देते हैं, जिनकी हॉकी स्टिक के साथ जादू कभी नहीं भुलाया जा सकता यह हमारे प्रतिभाशाली एथलीटों की सफलता के लिए परिवारों, कोचों और सहयोगी कर्मचारियों द्वारा दिए गए उत्कृष्ट समर्थन की सराहना करने का भी दिन है

खेलों को लेकर भारत सरकार के प्रयासों और देश की जनता को फिट रहने का मंत्र देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'भारत सरकार खेल को लोकप्रिय बनाने और भारत में खेल प्रतिभाओं को समर्थन देने के लिए कई प्रयास कर रही है साथ ही, मैं सभी से खेल और फिटनेस एक्सरसाइज को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने का आग्रह करता हूं ऐसा करने के कई फायदे हैं हर कोई खुश और स्वस्थ हो सकता है!'

10. अरूणाचल प्रदेश विधानसभा ने प्रदेश को संविधान की छठी अनुसूची के अधीन लाने से संबंधित प्रस्ताव पारित किया

अरूणाचल प्रदेश विधानसभा ने हाल ही में प्रदेश को संविधान की छठी अनुसूची के अधीन लाने से संबंधित प्रस्ताव पारित किया है। अरूणाचल प्रदेश विधानसभा ने राज्य के जनजातीय समुदाय की पहचान बचाए रखने के लिए संविधान की छठी अनुसूची में जरूरी संशोधन करने से संबंधित एक प्रस्ताव पारित किया है।

संसदीय कार्य मंत्री बमांग फेलिक्स द्वारा सदन में रखे गए प्रस्ताव पर चर्चा के बाद इसे ध्वनि मत से पारित कर दिया गया। अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जो प्रस्ताव रखा है वह ऐतिहासिक है।

मुख्य बिंदु

• संविधान की छठी अनुसूची चार पूर्वोत्तर राज्यों- असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिज़ोरम के जनजाति क्षेत्रों के प्रशासन के संबंध में अनुच्छेद 244 के अनुरूप व्यवहार करती है।

• राज्यपाल को ज़िले के क्षेत्रों को बढ़ाने या घटाने अथवा स्वायत्त ज़िलों के नाम में परिवर्तन कर सकने की शक्ति प्राप्त है।

• यद्यपि संघ कार्यकारी का शक्तियाँ पाँचवीं अनुसूची में शामिल क्षेत्रों के प्रशासन तक विस्तारित हैं, लेकिन छठी अनुसूची में शामिल क्षेत्र राज्य के कार्यकारी प्राधिकार के अंतर्गत आते हैं।

• प्रस्ताव में कहा गया कि विधानसभा संकल्प लेती है कि मूल निवासियों के जनजातीय अधिकारों की रक्षा के लिए अरुणाचल प्रदेश को संविधान की छठी अनुसूची में शामिल किया जाएगा।

संविधान की 6वीं अनुसूची क्या है?

संविधान की छठी अनुसूची असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा के आदिवासी क्षेत्रों के लिए अलग व्यवस्था करती है। अनुच्छेद 244A को 22वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम, 1969 के माध्यम से संविधान में जोड़ा गया था। यह संसद को असम के कुछ आदिवासी क्षेत्रों और स्थानीय विधानमंडल या मंत्रिपरिषद या दोनों हेतु एक स्वायत्त राज्य स्थापित करने का अधिकार देता है। इसे सबसे पहले 1949 में संविधान सभा द्वारा पारित किया गया था। यह जनजातीय आबादी के अधिकारों की रक्षा के लिए स्वायत्त जिला परिषदों (ADCs) को अधिनियमित करने की शक्ति प्रदान करता है।

6वीं अनुसूची के लाभ क्या है?

छठी अनुसूची उस क्षेत्र की भूमि पर मूल निवासियों के विशेषाधिकार की रक्षा करती है। छठी अनुसूची आदिवासी समुदायों को काफी स्वायत्तता प्रदान करती है। जिला परिषद और क्षेत्रीय परिषद को कानून बनाने की वास्तविक शक्ति प्राप्त है। ये निकाय क्षेत्र में विकास, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा, सड़कों और नियामक शक्तियों के लिए योजनाओं की लागत को पूरा करने के लिए भारत की संचित निधि से धन को मंजूरी प्रदान कर सकते हैं।

11. IIT एलुमनाई काउंसिल ने क्वांटम कंप्यूटर विकसित करने के लिए रूस के साथ समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के पूर्व छात्रों की परिषद (IIT Alumni Council) ने भारत में दुनिया के सबसे बड़े और सबसे तेज हाइब्रिड क्वांटम कंप्यूटर को विकसित करने के लिए रूस के लोमोनोसोव मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटी (MSU) और रूसॉफ्ट के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

भारत-रूसी संयुक्त परियोजनाओं के लिए सबसे आशाजनक क्षेत्र सूचना और संचार प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष अनुसंधान, जलवायु परिवर्तन, क्वांटम प्रौद्योगिकी और डेटा सुरक्षा हैं।

इस समझौते का उद्देश्य आत्मनिर्भर भारत के मिशन को प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य, कृषि, परिवहन और रसद, प्रदूषण और मौसम के पूर्वानुमान के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी का उपयोग करना है।

IIT पूर्व छात्र परिषद के अध्यक्ष: रवि शर्मा

IIT पूर्व छात्र परिषद मुख्यालय: नई दिल्ली

12. वर्चुअली आयोजित की गई भारत-वियतनाम संयुक्त आयोग की 17 वीं बैठक

व्यापार, आर्थिक, वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग पर भारत-वियतनाम संयुक्त आयोग की 17 वीं बैठक वर्चुअली आयोजित की गई।

वर्चुअली बैठक की सह-अध्यक्षता विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और उनके समकक्ष वियतनामी फाम बिन्ह मिन्ह (Pham Binh Minh) ने की।

17 वीं बैठक में भारत-वियतनाम व्यापक रणनीतिक साझेदारी में हाल के घटनाक्रम पर विचार-विमर्श शामिल था।

बैठक के दौरान, दोनों देशों ने आर्थिक और रक्षा क्षेत्र में सहयोग को नई गति जोड़ने को मंजूरी दी।

इसके अलावा दोनों देशों असैन्य परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, समुद्री विज्ञान और नई प्रौद्योगिकियों जैसे उभरते क्षेत्रों में घनिष्ठ सहयोग का पता लगाने के लिए भी सहमति जताई।

13. NCPUL ने नई दिल्ली में किया "विश्व उर्दू सम्मेलन" का आयोजन

राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद् (NCPUL) द्वारा नई दिल्ली में "विश्व उर्दू सम्मेलन" का आयोजन किया गया।

इस दो दिवसीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को केंद्रीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने संबोधित किया।

सम्मेलन के दौरान, मंत्री ने कहा कि भारत सरकार उर्दू लेखकों और साहित्यकारों को साहित्य और रचनात्मक सेवाओं के लिए उर्दू लेखकों को प्रोत्साहित करने के लिए उर्दू के महान व्यक्तित्वों के नाम पर पुरस्कार और सम्मान प्रदान करेगी।

राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद् के निदेशक: डॉ. अकिल अहमद

14. एचडीएफसी बैंक ने ग्राहकों के डिजिटल अनुभवों को बेहतर बनाने के लिए एडोब के साथ की साझेदारी

एचडीएफसी बैंक ने अपने ग्राहकों के डिजिटल अनुभवों को और बेहतर बनाने के लिए Adobe के साथ एक रणनीतिक साझेदारी करने की घोषणा की है।

यह साझेदारी एडोब एक्सपीरियंस क्लाउड सॉल्यूशंस द्वारा संचालित है, जो एचडीएफसी बैंक को किसी भी समय और कहीं भी नए और मौजूदा ग्राहकों को व्यक्तिगत डिजिटल अनुभव प्रदान करने में मदद करेगी।

बैंक ग्राहकों की गहरी समझ विकसित करने के लिए Adobe Audience Manager में Data Management Platform जैसे प्लेटफार्मों का उपयोग करेगा।

एकत्र किए गए डेटा HDFC को ईमेल, मोबाइल और ऑफ-लाइन चैनलों के माध्यम से ग्राहकों को केंद्रित अभियान और संचार प्रदान करने में सक्षम बनाएंगे।

एचडीएफसी बैंक की टैगलाइन: We Understand Your World

एचडीएफसी बैंक मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र

15. उत्तर प्रदेश सरकार ने लॉन्च किया NRI यूनिफाइड पोर्टल

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा NRI यूनिफाइड पोर्टल लॉन्च किया गया है।

इस पोर्टल की मदद प्रवासी भारतीय और एनआरआई अपने मुद्दों को स्थानीय प्रशासन या राज्य सरकार के सहयोग से हल कर पाएंगे, क्योंकि ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं जब उन्हें अपने परिवारों, घर के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन के मुद्दे से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने में मदद करने के लिए कोई मंच नहीं मिल पाता है।

राज्य सरकार दुनिया के विभिन्न देशों में कार्यरत राज्य के प्रवासी श्रमिकों का एक डेटाबेस भी तैयार करेगी, जो किसी भी आपात स्थिति के दौरान सहायता प्रदान करने में मदद करेगी।

इसके अलावा यह पोर्टल उन लोगों को भी अवसर प्रदान करेगा जो विदेश जाना चाहते हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री: योगी आदित्य नाथ; राज्यपाल: आनंदीबेन पटेल

16. COVID-19 : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने इंदौर में लोकार्पित किया सुपर स्पेशलिटी अस्पताल

देश में कोविड-19 (COVID-19) से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर (Indore news) में 237 करोड़ रुपए की लागत से बने सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की शुक्रवार से औपचारिक शुरुआत हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इस अत्याधुनिक अस्पताल को पहले चरण में महामारी के मरीजों के इलाज के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए लोकार्पित किया।

अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत विकसित इस अस्पताल में किडनी, हृदय, पेट, मस्तिष्क और अन्य अंगों की बीमारियों का इलाज किया जा सकेगा। अस्पताल में प्लास्टिक सर्जरी और अंग प्रत्यारोपण की सुविधा भी होगी। यह अस्पताल राज्य सरकार के महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय से जुड़ा है।

बहरहाल, कोविड-19 के जारी प्रकोप के मद्देनजर राज्य सरकार से चर्चा के बाद इस अस्पताल को फिलहाल महामारी के मरीजों के इलाज के लिए शुरू किया गया है।अधिकारियों के मुताबिक अत्याधुनिक सुविधाओं वाला यह अस्पताल 10 ऑपरेशन थिएटरों, सुपर स्पेशलिटी वॉर्डों के 327 बिस्तरों और आईसीयू के 92 बिस्तरों से लैस है। इसमें उच्च स्तरीय विशेषज्ञता से जुड़े अलग-अलग चिकित्सा पाठ्यक्रमों के कुल 58 विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जा सकता है।

लोकार्पण समारोह स्थल पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपस्थित थे। उन्होंने सूबे में चिकित्सा सुविधाओं में इजाफे के लिए केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा किया। इस मौके पर हर्षवर्धन ने पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की देशभर में छह नए एम्स स्थापित करने और चिकित्सा संस्थानों के उन्नयन की परिकल्पना को याद किया।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वर्ष 2014 से इस परिकल्पना को नयी ऊर्जा के साथ अमलीजामा पहनाए जाने के कारण देश में स्थापित किए जाने वाले नए एम्स की तादाद बढ़कर 22 हो चुकी है। इसके साथ ही, 75 सुपर स्पेशलिटी अस्पताल बनाने की योजना पर भी तेजी से काम जारी है।

उन्होंने बताया कि हाल ही में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 'राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान' छह केंद्रशासित प्रदेशों में शुरू किया गया है। हर्षवर्धन ने कहा, इस अभियान को अगले तीन से छह महीने के भीतर देश के अन्य सूबों में भी शुरू किया जाएगा। इसके लिए बड़े प्रदेशों को अभी से तैयारियां शुरू करनी पड़ेगी।

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने मध्यप्रदेश में पिछले छह साल में 14 नए चिकित्सा महाविद्यालयों को हरी झंडी दिखायी है। राजगढ़, मंडला, मंदसौर, नीमच, श्योपुर और सिंगरौली जिलों में भी छह चिकित्सा महाविद्यालय शुरू होने हैं।

हर्षवर्धन ने यह भी बताया कि कोविड-19 के खिलाफ जारी लड़ाई में मध्यप्रदेश को केंद्र की ओर से 13.99 लाख एन-95 मास्क, 7.97 लाख पीपीई किट, 679 वेंटिलेटर आदि उपकरण प्रदान किए गए हैं।

14 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved