Search

27th September | Current Affairs | MB Books


1. विश्व बैंक ने बांग्लादेश में सुरक्षित पानी और स्वच्छता के लिए 200 मिलियन डॉलर के ऋण को मंजूरी दी

विश्व बैंक ने देश के ग्रामीण क्षेत्रों में सुरक्षित पानी और स्वच्छता सेवाओं तक पहुंच में सुधार के लिए बांग्लादेश के लिए 200 मिलियन डॉलर के ऋण को मंजूरी दी है। बांग्लादेश रूरल वाटर, सेनिटेशन एंड हाइजीन (WASH) प्रोजेक्ट से 6 लाख लोगों को ग्रामीण इलाकों में स्वच्छ पानी की सुविधा मिल सकेगी।

परियोजना की मुख्य विशेषताएं

यह परियोजना बांग्लादेश में 6 मिलियन से अधिक ग्रामीण लोगों को स्वच्छता सेवाएं प्रदान करेगी।

विश्व बैंक ने कहा कि इस परियोजना से बीमारियों को रोकने में मदद मिलेगी।

यह परियोजना लोगों को घरों और सार्वजनिक स्थानों पर जल तथा स्वच्छता सम्बन्धी (WASH) सुविधाओं तक पहुंच प्रदान करके COVID-19 जैसी महामारियों से बचाने में मदद करेगी।

यह परियोजना डायरिया जैसी बीमारियों को कम करेगी। पोषण तथा स्वास्थ्य में सुधार होगा।

यह परियोजना सार्वजनिक स्थानों पर 2500 से अधिक हैंडवाशिंग स्टेशन स्थापित करने में भी मदद करेगी।

यह पानी और स्वच्छता सुविधाओं के लिए ओवरहेड टैंक भी स्थापित करेगा।

यह ऋण 30 वर्ष के रियायती ऋण के रूप में प्रदान किया गया है जिसमें पांच वर्ष की छूट अवधि है। इसका श्रेय विश्व बैंक के इंटरनेशनल डेवलपमेंट एसोसिएशन (आईडीए) को जाता है। बांग्लादेश में वर्तमान में 13.5 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक मूल्य का सबसे बड़ा आईडीए कार्यक्रम है।

अंतर्राष्ट्रीय विकास संघ (IDA)

इंटरनेशनल डेवलपमेंट एसोसिएशन (आईडीए) विश्व बैंक के तहत एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान है। यह दुनिया के सबसे गरीब विकासशील देशों को रियायती ऋण और अनुदान प्रदान करता है। इसका मुख्यालय वाशिंगटन में है। इसकी स्थापना 1960 में की गई थी। इसका उद्देश्य मौजूदा उन विकासशील देशों को ऋण देकर मदद करना था, जिनकी सकल राष्ट्रीय आय सबसे कम है।


2. भारत-डेनमार्क वर्चुअल शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सोमवार को डेनमार्क के प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन (Mette Frederiksen) के साथ वर्चुअल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन करेंगे। कोराना वायरस (Coronavirus) संकट के बीच किसी भी वैश्विक नेता के साथ पीएम मोदी का यह चौथा वर्चुअल शिखर सम्मेलन है।

अब तक उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, यूरोपीय संघ और श्रीलंका के नेताओं के साथ वर्चुअल मीटिंग की है। विदेश मंत्रालय (MEA) द्वारा बयान के अनुसार, भारत-डेनमार्क द्विपक्षीय संबंध ऐतिहासिक लिंक, लोकतांत्रिक परंपराओं में समानता और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शांति और स्थिरता की साझा इच्छा पर आधारित हैं। भारत-डेनमार्क के बीच वर्चुअल मीटिंग के दो अहम मुद्दे होंगे। पहला दो देशों के बीच बौद्धिक संपदा सहयोग के क्षेत्र में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर। और दूसरा अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में शामिल होना।

मिलेगी नई राजनीतिक दिशा वर्चुअल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन दोनों नेताओं को दोनों देशों के बीच समय-परीक्षण के अनुकूल संबंधों के संदर्भ में द्विपक्षीय संबंधों के व्यापक ढांचे की व्यापक रूप से समीक्षा करने का अवसर देगा। आपसी हित के प्रमुख मुद्दों पर सहयोगात्मक साझेदारी को मजबूत और गहरा किया। साथ ही आपसी हित के प्रमुख मुद्दों पर एक मजबूत और गहरी सहयोगात्मक साझेदारी के लिए व्यापक राजनीतिक दिशा मिलेगा।

दोनों देशों के बीच बढ़ा Goods & Service का व्यापार भारत और डेनमार्क के बीच वस्तुओं और सेवाओं का द्विपक्षीय व्यापार 30.49 प्रतिशत बढ़ गया है। 2016 में 2.82 बिलियन अमरीकी डॉलर से बढ़कर 2019 में 3.68 बिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुंच गया है। भारत में लगभग 200 डेनिश कंपनियों ने निवेश किया है जबकि डेनमार्क में 25 भारतीय कंपनियां आईटी, अक्षय ऊर्जा और इंजीनियरिंग क्षेत्र में कार्यरत हैं।


3. डोनाल्ड ट्रम्प ने एमी कोनेय बारेट को सुप्रीम कोर्ट के नए जज के तौर पर किया नामित

सभी अटकलों को समाप्त करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (US President Donald Trump) ने एमी कोनेय बारेट (Amy Coney Barrett) को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के नए जज के तौर पर नामित किया है। यह प्रक्रिया न्यायाधीश रुथ बादर गिन्सबर्ग (Judge Ruth Bader Ginsberg) की मौत के बाद रिक्त हुए पद को भरने के लिए की गई है।

नामांकन करने के बाद ट्रम्प ने व्हाइट हाउस (White House) में कहा, ‘सर्वोच्च न्यायालय के जज के तौर पर हमारे देश की सबसे बेहतरीन कानूनी विद, प्रतिभाशाली एमी कोनेय बारेट को नामित करना मेरे लिए सम्मान का विषय है। वह विलक्षण प्रतिभा की धनी हैं. संविधान के प्रति गकहरी निष्ठा रखती हैं।'

ट्रंप ने की बारेट की जमकर तारीफ इस दौरान ट्रंप ने बारेट की प्रशंसा करते हुए कहा कि ‘मैंने अध्ययन किया कि आप इस काम के लिए बहुत ही योग्य हैं, आपका काम शानदार रहेगा।’ ट्रंप ने उम्मीद जताई कि बारेट की नियुक्ति में कोई अड़चन नहीं आनी चाहिए। बेहद आसानी से और बिना किसी विवाद के पूरी हो जानी चाहिए। इसके लिए ट्रंप ने बारेट को शुभकामननाएं दीं।

बारेट ने ट्रंप के प्रति जताया आभार नामांकन के बाद अपने संबोधन में बारेट ने ट्रम्प को धन्यवाद दिया और कहा, ‘मैं पूरी तरह से समझती हूं कि राष्ट्रपति (PresidentP) के लिए यह एक महत्वपूर्ण निर्णय है। अगर सीनेट मेरे ऊपर विश्वास जताते हैं तो मैं अपनी पूरी क्षमता के साथ जिम्मेदारियों का निर्वहन करूंगी। मैं अमेरिका (America) और संयुक्त राज्य अमेरिका (United State) के संविधान से प्यार करती हूं।’

2017 में भी ट्रंप ने ही किया था नामित बता दें कि 48 वर्षीय बारेट वर्तमान में 7वें सर्किट कोर्ट ऑफ अपील्स (7th Circuit Court of Appeals) में एक जज हैं। यहां भी उन्हें 2017 में ट्रम्प द्वारा ही नामित किया गया था। उन्होंने रोड्स कॉलेज से स्नातक किया है और नोट्रे डेम लॉ स्कूल (Notre Dame Law School) विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं।

जल्दबाजी के लिए ट्रंप की हुई थी आलोचना बता दें कि तीन नवंबर को प्रस्तावित अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential election) के लिए नामांकन 40 दिन पहले किया गया था। इस पूरी प्रक्रिया में जल्दबादी के लिए डोनाल्ड ट्रम्प की विपक्ष द्वारा अत्यधिक आलोचना की गई थी। हालाँकि, ट्रंप ने अपने निर्णय को यह कहते हुए उचित ठहराया कि यह संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान के तहत उनका सर्वोच्च और सबसे महत्वपूर्ण कर्तव्य है।


4. Reliance Jio 35.33% मार्केट शेयर के साथ टॉप पर

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया यानी ट्राई के ताजा आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली सर्किल में 35.33 फीसदी मार्केट शेयर के साथ रिलायंस जियो (Reliance Jio) की धाक बनी हुई है। दिल्ली सर्किल में रिलायंस जियो के नेटवर्क से जून माह के अंत तक 1 करोड़ 83 लाख से अधिक ग्राहक जुड़े हुए थे। राजधानी दिल्ली समेत हरियाणा के गुरुग्राम एवं फरीदाबाद और उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद जिले दिल्ली सर्किल में आते हैं। साल की शुरूआत में ही रिलायंस जियो ने वोडा-आइडिया को पटकनी देकर दिल्ली सर्किल में नंबर वन की पोजीशन हासिल की थी। जनवरी से जून तक यानी वर्ष के पहले 6 महीनों में रिलायंस जियो ने करीब 9.03 लाख ग्राहक जोड़कर अपनी पोजीशन को और मजबूत किया है। दिल्ली सर्किल में नंबर दो की पोजीशन पर काबिज वोडा-आइडिया से रिलायंस जियो के करीब 20 लाख ग्राहक अधिक हैं। ग्राहक संख्या की दौड़ में भारती एयरटेल तीसरे नंबर पर पिछड़ गई है। वह रिलायंस जियो से 33 लाख 40 हजार और वोडा-आइडिया से करीब 13.70 लाख ग्राहकों से पिछड़ रही है। वर्ष 2020 के पहले 6 महीनों में यानी जनवरी से जून माह के दौरान दिल्ली सर्किल में वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल के 18 लाख 8 हजार से अधिक मोबाइल फोन ग्राहकों ने अपने सिम बंद कर दिए। कभी दिल्ली सर्किल में नंबर वन रही वोडा-आइडिया को सबसे भारी झटका लगा। ट्राई द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक साल के पहले 6 महीनों में वोडाफोन-आइडिया के हाथों से 12 लाख 84 हजार से अधिक ग्राहक फिसल गए हैं। वहीं एयरटेल के नेटवर्क से समान अवधि में करीब 5 लाख 24 हजार उपभोक्ता छिटके। जून माह भी वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल के लिए अच्छी खबर लेकर नहीं आया। रिलायंस जियो ने यहां भी बाजी मार ली। उसके नेटवर्क से करीब 56 हजार नए ग्राहक जून माह में जुड़े। वहीं समान अवधि में वोडा-आइडिया से करीब 2 लाख और एयरटेल से 1 लाख 21 हजार से अधिक उपभोक्ताओं ने नाता तोड़ लिया।

जून में ही कंपनी ने करीब 45 लाख ग्राहक जोड़े। 31 करोड़ 66 लाख ग्राहकों के साथ एयरटेल दूसरे और 30 करोड़ 51 लाख के साथ वोडा-आइडिया तीसरे नंबर पर काबिज थी। जून माह में वोडा-आइडिया ने देशभर में 48 लाख से अधिक ग्राहकों को खोया वहीं एयरटेल 11 लाख 28 हजार ग्राहकों से हाथ धो बैठी।


5. पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का 82 साल की आयु में निधन

पूर्व रक्षा मंत्री जसंवत सिंह का रविवार सुबह निधन हो गया। वह 82 साल के थे और पिछले 6 साल से कोमा में थे।

पीएम नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर शोक व्यक्त किया।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संस्थापकों में से एक सिंह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्‍व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के दौरान विभिन्न मंत्रालयों के कैबिनेट मंत्री रहे। उन्होंने 1996 से 2004 के दौरान रक्षा, विदेश और वित्‍त जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों का जिम्‍मा संभाला।

वर्ष 2014 में भाजपा ने सिंह को राजस्थान के बाड़मेर से लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया था। इसके बाद नाराज सिंह ने पार्टी छोड़कर निर्दलीय चुनाव लड़ा मगर हार गए । उसी वर्ष उन्‍हें सिर में गंभीर चोटें आई, तब से वह कोमा में थे।

जसंवत सिंह ने पहले सेना में रहकर देश सेवा की और बाद में राजनीति का दामन थाम लिया था। सिंह 1980 से 2014 तक सांसद रहे और इस दौरान उन्होंने संसद के दोनों सदनों का प्रतिनिधित्व किया। उनके पुत्र मानवेंद्र सिंह भी राजनीति में हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'जसवंत सिंह जी ने पूरी लगन के साथ हमारे देश की सेवा की। पहले एक सैनिक के रूप में और बाद में राजनीति के साथ अपने लंबे जुड़ाव के दौरान। अटल जी की सरकार के दौरान उन्होंने महत्वपूर्ण विभागों को संभाला और वित्त, रक्षा और विदेश मामलों की दुनिया में एक मजबूत छाप छोड़ी। उनके निधन से दुखी हूं।'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर कहा कि जसवंत सिंह जी को उनकी बौद्धिक क्षमताओं और देश की सेवा में अभूतपूर्व रिकॉर्ड के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने राजस्थान में भाजपा को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाई।


6. केरल के वरिष्ठ कांग्रेस नेता सीएफ थॉमस का निधन

केरल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और चंगनासेरी के विधायक सीएफ थॉमस का रविवार को तिरुवल्ला के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। पार्टी के सूत्रों ने यह जानकारी दी। वे 81 वर्ष के थे। उन्होंने कहा कि उनका यहां कुछ बीमारियों का इलाज चल रहा था। थॉमस 1980 के बाद से ही लगातार विधानसभा में चंगनासेरी निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे थे। 2001-2006 के कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ सरकार में वे ग्रामीण विकास, पंजीकरण, खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री भी थे। वे दिवंगत केरल कांग्रेस (एम) के नेता केएम मणि के विश्वासपात्र थे। पिछले साल अप्रैल में मणि की मौत के बाद पार्टी में दो गुटों के बीच दरार के कारण थॉमस केरल कांग्रेस (एम) में पीजे जोसेफ के गुट से जुड़े। अपने छात्र जीवन में ही थॉमस कांग्रेस में शामिल हो गए और फिर चंगनासेरी टाउन (पश्चिम) मंडलम के उपाध्यक्ष बने। केरल कांग्रेस के गठन के बाद उन्होंने पार्टी का दामन थाम लिया और राजनीति में उनका कद बढ़ता गया। उन्होंने राज्य महासचिव और केरल कांग्रेस (एम) के अध्यक्ष का पद भी संभाला।

10 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved