Search

27th July | Current Affairs | MB Books


1. चीन ने निजी शिक्षा कंपनियों के लिए सुधार की घोषणा की

चीन ने नए नियमों की घोषणा की जिसके तहत परिवारों पर वित्तीय दबाव कम करने के लिए मुख्य स्कूल विषयों (core school subjects) में लाभ शिक्षण (profit tutoring) पर रोक लगा दी गई है। इस घोषणा के बाद चीन की निजी शैक्षणिक फर्में बड़े पैमाने पर प्रभावित होंगी। इसके बाद शैक्षिक कंपनियों के शेयरों में बिकवाली शुरू हो गई।

मुख्य बिंदु :

  • चीन द्वारा घोषित नए नियम शैक्षिक फर्मों पर प्रतिबंध लगाते हैं जो स्कूल पाठ्यक्रम को पूंजी जुटाने, लाभ कमाने या सार्वजनिक होने से रोकते हैं।

  • नियामकों ने यह भी कहा कि अब कोई नया लाइसेंस नहीं दिया जाएगा।

घोषणा के बाद का प्रभाव : ताल (Tal) के शेयरों में 71% की गिरावट आई।

कूलर्न, न्यू ओरिएंटल, चाइना बेस्ट स्टडी और स्कॉलर एजुकेशन के शेयर में 30% से 40% की गिरावट आई।

नियम परिवर्तन लागू करने का कारण : चीन ने अभिभावकों पर लागत का बोझ कम करने और स्कूली बच्चों पर दबाव कम करने के उद्देश्य से देश के लाभकारी शिक्षा क्षेत्र को जांच के दायरे में रखा है।

निष्कर्ष : मई के महीने में, चीनी सरकार ने घोषणा की कि वह पिछली दो बच्चों वाली नीति में बदलाव करके तीन बच्चे पैदा करने की अनुमति देगी। इसे ध्यान में रखते हुए देश के नियमों में कुछ बदलाव किया जा रहा है। दीदी ग्लोबल (Didi Global Inc) और एंट ग्रुप कंपनी (Ant Group Co) जैसी देश की शक्तिशाली टेक फर्मों पर लगाम लगाने के सरकार के कदमों ने वैश्विक निवेशकों को पलायन करने के लिए बाध्य कर दिया है।


2. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने ‘MyGov-मेरी सरकार’ पोर्टल लॉन्च किया

26 जुलाई, 2021, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘MyGov-मेरी सरकार’ (MyGov-Meri Sarkar) पोर्टल को लांच किया।

मुख्य बिंदु :

  • इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के लोग सरकार को विभिन्न फीडबैक दे सकते हैं और यूपी सरकार उन्हें राज्य की विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी दे सकती है।

  • उत्तर प्रदेश सरकार के साथ राज्य के आम नागरिकों के जुड़ाव को और बढ़ाने के लिए इस पोर्टल का कुशलतापूर्वक उपयोग किया जाएगा।

  • यह पोर्टल राज्य की योजनाओं के प्रसार और उन पर नागरिकों की राय जानने और उन्हें कैसे संबोधित किया जा सकता है, यह जानने में प्रमुख भूमिका निभाएगा।

निष्कर्ष : यह पोर्टल राज्य के लोगों के लिए फायदेमंद होगा क्योंकि वे अपने सुझाव, विचार और प्रतिक्रिया सामने रख सकेंगे। इस पोर्टल का उद्देश्य सरकार के साथ जनता को जोड़ने के लिए एक इनोवेटिव प्लेटफार्म बनना है और इसलिए राज्य में शासन में सुधार होगा। इस पोर्टल से जनभागीदारी में भी सुधार होगा।


3. मैक्स बूपा हेल्थ इंश्योरेंस ने खुद को निवा बूपास के रूप में किया रीब्रांड

स्टैंडअलोन हेल्थ इंश्योरेंस मैक्स बूपा हेल्थ इंश्योरेंस (Max Bupa Health Insurance) ने खुद को 'निवा बूपा हेल्थ इंश्योरेंस (Niva Bupa Health Insurance)' के रूप में रीब्रांड किया है।

यह विकास कंपनी के प्रमोटर, मैक्स इंडिया के बाद आया है, जिसके पास 51 प्रतिशत बीमाकर्ता है, जिसने फरवरी 2019 में अपनी हिस्सेदारी ट्रू नॉर्थ को 510 करोड़ रुपये में बेच दी थी।

निजी इक्विटी फर्म ट्रू नॉर्थ के प्रवेश के साथ, यह निर्णय लिया गया कि "मैक्स" ब्रांड के उपयोग को दो साल की अवधि में समाप्त कर दिया जाएगा और एक नई ब्रांड पहचान बनाने के लिए एक उपयुक्त नाम के साथ प्रतिस्थापित किया जाएगा। निवा बूपा ने वित्त वर्ष 2021-22 तक 2,500 करोड़ रुपये की कंपनी बनने का लक्ष्य रखा है।


4. लोकसभा ने पारित किया फैक्टरिंग संशोधन विधेयक

26 जुलाई, 2021 को लोकसभा ने फैक्टरिंग विनियमन अधिनियम 2011 में संशोधन करने के लिए यह बिल पारित किया। यह फैक्टरिंग व्यापार में भाग लेने वाली इकाइयों के दायरे को और भी व्यापक बनाएगा। भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) क्षेत्र की मदद के लिए यह बदलाव किए जा रहे हैं।

मुख्य बिंदु :

  • सितंबर 2020 में इसे लोकसभा में पेश किया गया था। यह बिल देश के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) क्षेत्रों को विलंबित भुगतानों की समस्या को सुलझाने में मदद करेगा।

  • यह बिल TReDS प्लेटफॉर्म पर भी कर्षण (traction) को बढ़ाएगा, जिसे भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा वर्ष 2014 में उद्यमियों के लिए पेश किया गया था ताकि वे कार्यशील पूंजी को अनलॉक कर सकें जो उनके अवैतनिक चालान (unpaid invoices) से जुड़ी हुई है।

  • सरकार ने भुगतान निगरानी पोर्टल एमएसएमई समाधान (MSME Samadhaan) में देरी के अनुसार, MSME द्वारा 83,000 से अधिक विलंबित भुगतान आवेदन दायर किए गए हैं, जिसमें 22,311 करोड़ रुपये की राशि शामिल है। इनमें से 1,433 करोड़ रुपये के 7920 आवेदनों का निस्तारण (dispose) किया गया।

  • बड़ी कंपनियों की तुलना में, एमएसएमई बहुत अधिक लागत पर उधार लेते रहते हैं और इसलिए, यह फैक्टरिंग बिल उन्हें अपनी प्राप्तियों का मुद्रीकरण करने में मदद करेगा जो बदले में उन्हें अपनी कार्यशील पूंजी के प्रबंधन और उनकी कार्यशील पूंजी लागत को कम करने में मदद करेगा।

  • भारत में, फैक्टरिंग क्रेडिट कुल एमएसएमई क्रेडिट का केवल 2.6% योगदान देता है जबकि चीन में यह 11.2% है।

बिल के अन्य पहलू : फैक्टरिंग संस्थाओं की संख्या सात से बढ़ाकर कुछ हजार की जाएगी। ऋण के इस प्रवाह में भी तेजी से वृद्धि होगी जबकि एमएसएमई के लिए ऋण की लागत को कम किया जाएगा।2019 में, यू.के. सिन्हा की अध्यक्षता में, RBI ने MSMEs के विलंबित भुगतान के मुद्दे को हल करने में मदद करने के लिए MSMEs पर एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया था। इस विधेयक में किए गए संशोधन यूके सिन्हा समिति की सिफारिशों पर आधारित थे।

TReDS : TReDS विभिन्न फाइनेंसरों के माध्यम से MSMEs के व्यापार प्राप्तियों के वित्तपोषण और छूट की सुविधा के लिए RBI द्वारा शुरू किया गया एक इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म है। अब तक TReDS ने लगभग 43,000 करोड़ मूल्य के चालानों को संसाधित किया है, जिससे 25,000 से अधिक MSME को धन और तरलता तक बेहतर पहुंच में मदद मिली है।


5. लोकसभा ने राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान विधेयक पारित किया

26 जुलाई, 2021 को राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान, उद्यमिता और प्रबंधन विधेयक, 2021 लोकसभा में पारित किया गया।

मुख्य बिंदु :

  • यह विधेयक पशुपति कुमार पारस द्वारा पेश किया गया था जो खाद्य प्रसंस्करण और उद्योग मंत्री हैं।

  • यह विधेयक खाद्य प्रौद्योगिकी, प्रबंधन और उद्यमिता संस्थानों के लिए विभिन्न प्रावधानों को निर्धारित करता है।

  • यह बिल केवल 8 मिनट के रिकॉर्ड समय में पेश व पास किया गया।

  • यह विधेयक तंजावुर में स्थित भारतीय खाद्य प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी संस्थान (Indian Institute of Food Processing Technology) और कुंडली में स्थित राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंधन संस्थान (National Institute of Food Technology Entrepreneurship and Management) को राष्ट्रीय महत्व का संस्थान घोषित करने का भी प्रयास करता है।

  • यह विधेयक इन क्षेत्रों में अनुसंधान और निर्देश प्रदान करने का भी प्रयास करता है।

  • यह बिल मार्च महीने में राज्यसभा में पहले ही पास हो चुका था।

लोकसभा : लोकसभा भारत की संसद का निचला सदन है जबकि राज्यसभा उच्च सदन है। लोकसभा के सदस्य देश के लोगों द्वारा अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुने जाते हैं। यह सदस्य पांच साल की अवधि के लिए चुने जाते हैं। वर्तमान में, सदन में 543 सीटें हैं जो 543 निर्वाचित सदस्यों द्वारा भरी जाती हैं। ओम बिरला लोकसभा के वर्तमान अध्यक्ष हैं।


6. एम्स्टर्डम में खुला दुनिया का पहला 3D-प्रिंटेड स्टील पुल

नीदरलैंड (Netherlands) के एम्स्टर्डम (Amsterdam) में दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड स्टील ब्रिज जनता के लिए खोला गया।

इसे विशेषज्ञों के एक संघ के सहयोग से एक डच रोबोटिक्स कंपनी MX3D द्वारा विकसित किया गया था, और यह 3D-प्रिंटिंग तकनीक के लिए एक प्रमुख मील का पत्थर का प्रतिनिधित्व करता है।

चार साल के विकास के बाद, नीदरलैंड की महामहिम रानी मैक्सिमा (Queen Máxima) द्वारा पुल का अनावरण किया गया था। यह एम्स्टर्डम के शहर के केंद्र - औदेज़िज्ड्स एच्टरबर्गवाल में सबसे पुरानी नहरों में से एक पर स्थापित किया गया था।

12 मीटर लंबी स्टील संरचना एक 'जीवित प्रयोगशाला' होगी, जो वास्तविक समय में अपने स्वास्थ्य पर डेटा को कैप्चर और संचारित करेगी, ताकि यह दिखाया जा सके कि यह अपने जीवनकाल में कैसे बदलता है।

पुल की लंबाई करीब 40 फीट है। यह एक 6 टन स्टेनलेस स्टील संरचना है।

स्मार्ट सेंसर नेटवर्क को एलन ट्यूरिंग इंस्टीट्यूट की एक टीम द्वारा डिजाइन और स्थापित किया गया था।


7. भारतीय नौसेना अफ्रीका के पूर्वी तट पर कटलैस एक्सप्रेस अभ्यास में भाग ले रही है

समुद्री अभ्यास कटलैस एक्सप्रेस 2021 (Exercise Cutlass Express) में आईएनएस तलवार भाग ले रहा है। इस नौसैनिक अभ्यास 26 जुलाई से 6 अगस्त, 2021 तक अफ्रीका के पूर्वी तट के निकट आयोजित किया जा रहा है।

मुख्य बिंदु :

  • यह समुद्री अभ्यास प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है और यह पश्चिमी हिंद महासागर और पूर्वी अफ्रीका में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जाता है।

  • कटलैस एक्सप्रेस 2021 अभ्यास में, आईएनएस तलवार भाग ले रहा है। यह अभ्यास प्रवर्तन क्षमता में सुधार, संयुक्त समुद्री कानून और क्षेत्रीय व राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जा रहा है।

कटलैस एक्सप्रेस 2021 के प्रतिभागी : 2021 संस्करण में 12 पूर्वी अफ्रीकी देश,भारत, ब्रिटेन, अमेरिका और विभिन्न अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों जैसे United Nations Office on Drugs and Crime (UNODC), अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन (IMO), यूरोपीय संघ नौसेना बल (EUNAVFOR) की भागीदारी शामिल है। इस अभ्यास में भारतीय नौसेना एक प्रशिक्षक की भूमिका में भाग ले रही है।

निष्कर्ष : आईएनएस तलवार केन्या में मोम्बासा का दौरा कर रहा है , जहां केन्या नौसेना के साथ इंटरेक्शन होगा। मोम्बासा में अपने प्रवास के दौरान, यह पोत भारतीय समुदाय और मेजबान के साथ संबंधों को और बेहतर बनाने के लिए कई कार्यक्रमों की मेजबानी करेगा। आईएनएस तलवार की यह यात्रा सागर (SAGAR – Security and Growth for All in the Region) और हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सहयोग की दिशा में भारत की नीति के अनुरूप है।


8. जापान की 13 वर्षीय स्केटर निशिया (Nishiya) सबसे कम उम्र की स्वर्ण पदक विजेता बनीं

13 वर्षीय जापानी स्केटबोर्डर मोमीजी निशिया (Momiji Nishiya) ने टोक्यो 2020 ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता। वह ओलंपिक खेलों में जापान की और से अब तक की सबसे कम उम्र की स्वर्ण पदक विजेता बन गयी हैं।

मुख्य बिंदु :

  • निशिया ने 26 जुलाई को महिलाओं की स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता।

  • जापान के युटो होरीगोम ने पुरुषों की प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता।

  • निशिया ने सिर्फ 13 साल की उम्र में भी ब्राजील की रेसा लील को पराजित किया।

  • कांस्य पदक जीतने वाली जापान की फुना नाकायमा की उम्र 16 साल है।

  • लील और निशिया दोनों अपने-अपने देशों ब्राजील और जापान के लिए सबसे कम उम्र के पदक विजेता हैं।

सबसे कम उम्र का स्वर्ण पदक विजेता कौन है? : मार्जोरी गेस्ट्रिंग (Marjorie Gestring) ओलंपिक के सबसे कम उम्र की स्वर्ण पदक विजेता हैं। 1936 के बर्लिन खेलों में उन्होंने महिला डाइविंग प्रतियोगिता में अपना दबदबा बनाया था। उस दौरान वह सिर्फ 13 साल 268 दिन की थीं।


9. टोक्यो ओलंपिक में शामिल किये गये चार नए खेल

टोक्यो ओलंपिक में चार नए खेलों को शामिल किया गया है। वे खेल हैं : कराटे, स्केटबोर्डिंग, सर्फिंग और सपोर्ट क्लाइम्बिंग हैं।

कराटे : मार्शल आर्ट 1970 के दशक से, ओलंपिक समावेश के लिए एक उम्मीदवार रहा है, लेकिन आयोजक इस खेल को स्वीकार करने के लिए कभी भी सहमत नहीं हुए।

तीन दिवसीय प्रतियोगिता निप्पॉन बुडोकन में आयोजित की जाएगी और इसमें तीन भार वर्गों में प्रतिभाशाली कुमाइट प्रतियोगी शामिल होंगे।टेलीविजन और फिल्मों में इसकी पुनरुत्थान की लोकप्रियता के कारण, दर्शक इस खेल का आनंद लेने की उम्मीद कर रहे हैं।

स्केटबोर्डिंग : स्केटबोर्ड की शुरुआत आयोजकों द्वारा युवा दर्शकों को आकर्षित करने के लिए की गई थी। दर्शक हाई-फ्लाइंग स्टंट और ट्रिक्स देख सकेंगे।इसमें भाग लेने वाले प्रतियोगी 12 से 47 वर्ष के बीच के हैं।

सर्फ़िंग : आठ दिन की अवधि में कम से कम तीन दिन की प्रतियोगिता होगी। वर्ष 1995 से, इंटरनेशनल सर्फिंग एसोसिएशन इस खेल को शामिल करने के लिए पैरवी कर रहा है, और यह टोक्यो 2020 ओलंपिक में पदार्पण कर रहा है।

सपोर्ट क्लाइम्बिंग : हाल के वर्षों में चढ़ाई (climbing) नई ऊंचाइयों पर पहुंच गई है और इसलिए यह टोक्यो 2020 ओलंपिक में अपनी एक और शुरुआत कर रहा है।


10. भारत की सबसे उम्रदराज छात्रा भगीरथी अम्मा का 107 साल की उम्र में निधन

भारत में समानक परीक्षा देने वाली सबसे उम्रदराज महिला भगीरथी अम्मा (Bhageerathi Amma) का उम्र संबंधी बीमारियों के कारण निधन हो गया है। वह 107 साल की थीं।

केरल के कोल्लम जिले की रहने वाली अम्मा ने 105 साल की उम्र में अपनी शिक्षा जारी रखने का फैसला किया।

अम्मा ने नौ साल की उम्र में ही तीसरी कक्षा में औपचारिक शिक्षा छोड़ दी थी। महिला सशक्तिकरण की दिशा में उनके असाधारण योगदान के लिए केंद्र सरकार द्वारा शतायु को प्रतिष्ठित नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
















  • Source of Internet

9 views0 comments