Search

25th July | Current Affairs | MB Books


1. अमेरिका ने जारी किया विदेशी छात्रों के लिए नया आदेश, ऑनलाइन कोर्स के लिए नए छात्रों को देश में आने की मंजूरी नहीं

अमेरिका ने शुक्रवार को ऐलान किया कि उन नए विदेशी छात्रों को देश में आने की मंजूरी नहीं होगी जिनके कोर्सेज की सभी क्लासेज ऑनलाइन हो चुकी हैं। महामारी के चलते सभी क्लासेज को ऑनलाइन करने के आदेश के बाद अमेरिका ने यह नए निर्देश जारी किए है। यह आदेश डोनाल्ड ट्रम्प एडिमिनिस्ट्रेशन के आईसीई यानी कि इमीग्रेशन और कस्टम एन्फोर्समेंट डिपार्टमेंट ने जारी किया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस संकट के दौरान कई तरह के वीजा को निलंबित कर दिया है। छात्रों को लेकर डोनाल्ड ट्रंप लगातार विवादों में रहे हैं।

बता दें कि दो हफ्ते पहले ICE ने एक ऐसा ही एक आदेश जारी किया था। इस आदेश में उन विदेशी छात्रों को देश छोड़ने के लिए कहा गया था कि जिनकी क्लासेज ऑनलाइन चल रही हैं। बाद में इस आदेश में बदलाव कर दिया गया।

2. चीन ने हाई रीजोल्यूशन मैपिंग सेटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजा, तीनों सेटेलाइट कक्षा में पहुंचे

चीन के उत्तरी हिस्से में स्थित ताइयुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से शनिवार को एक नए हाई रीजोल्यूशन मैपिंग सेटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजा गया। उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र के मुताबिक जियुआन 03 सेटेलाइट को लांग मार्च-4 बी रॉकेट द्वारा स्थानीय समयानुसार सुबह 11:13 बजे लांच किया गया। यह प्रक्षेपण लांग मार्च रॉकेट श्रृंखला का 341 वां मिशन था। लांग मार्च रॉकेट चीन की अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा संचालित किए जाने रॉकेटों की एक श्रृंखला है।

तीनों सेटेलाइट कक्षा में पहुंच गए हैं

हाई रीजोल्यूशन मैपिंग सेटेलाइट के अलावा दो अन्य सेटेलाइट को भी अंतरिक्ष में भेजा गया। इन्हें शंघाई एएसईएस स्पेसफ्लाइट टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड द्वारा विकसित किया गया था। उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र के मुताबिक तीनों सेटेलाइट कक्षा में पहुंच गए हैं।


3. तुर्कमेनिस्तान को विश्व व्यापार संगठन से मिला ऑब्जर्वर का दर्जा

विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organization) जनरल काउंसिल ने मध्य एशियाई देश तुर्कमेनिस्तान को "ऑब्जर्वर" का दर्जा दिए जाने की घोषणा की है।

विश्व व्यापार संगठन से ऑब्जर्वर का दर्जा मिलने के बाद, तुर्कमेनिस्तान इस व्यापार निकाय के साथ औपचारिक संबंध बनाने करने वाला अंतिम पूर्व सोवियत गणराज्य बन गया है। तुर्कमेनिस्तान इस संगठन का 25 वां ऑब्जर्वर बन गया है।

तुर्कमेनिस्तान अब इस दर्जे का लाभों को प्राप्त करने में सक्षम होगा क्योंकि यह देश की अर्थव्यवस्था को विकसित करने, बहुपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देने, विदेशी निवेश को आकर्षित करने और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संबंधों को विकसित करने में मदद करेगा।

विश्व व्यापार संगठन के महानिदेशक: रॉबर्टो अजेवेडो

तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति: गुर्बांगुली बेर्दिमुहम्मेदोव

मुद्रा: तुर्कमेन मानात

4. निकारागुआ ISA समझौते पर हस्ताक्षर करने वाला बना 87 वां देश

मध्य अमेरिकी देश निकारागुआ गणराज्य अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (International Solar Alliance) फ्रेमवर्क समझौते पर हस्ताक्षर करने वाला 87 वां देश बन गया है।

इस समझौते पर हस्ताक्षर संयुक्त राष्ट्र में निकारागुआ के स्थायी प्रतिनिधि जैमे हर्मिडा कैस्टिलो द्वारा न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत के स्थायी मिशन पर किए गए थे।

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन का आगाज नवंबर 2015 में पेरिस में हुए संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति हॉलैंड द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था.

निकारागुआ की राजधानी: मैनागुआ

निकारागुआ की मुद्रा: निकारागुआ कॉर्डोबा

निकारागुआ के राष्ट्रपति: डैनियल ओर्टेगा

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन मुख्यालय: गुरुग्राम, हरियाणा


5. देश में कोरोना के बीते 24 घंटे के भीतर आए 48,916 नए मामले, 757 लोगों की हुई मौत

Coronavirus in India: देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, पिछले कुछ दिनों से रोजाना करीब तीस हजार नए Covid-19 संक्रमित मिल रहे थे आज के आंकड़ों में यह संख्या 50 हजार के करीब दिखाई दे रही है। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आकंड़ों के अनुसार पिछले 24 घटों में सर्वाधिक 48,916 नए मामले सामने आए हैं। करीब 49 हजार नए मामले आने के बाद देश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 13,36,861 पर पहुंच गई है। वहीं इन 24 घंटों में 757 लोगों की मौत हुई है। जिसके बाद कुल मृतकों की संख्या का आंक़ड़ा बढ़कर 31358 पर पहुंच गई है। हालांकि इस वायरस से ठीक होने वाले लोगों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अब तक 849432 लोग इस वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 11.62 फीसदी पर पहुंच गया है तो वहीं रिकवरी रेट में मामूली सुधार देखने को मिला है, यह अब बढ़कर 63.53 फीसदी हो गया है।

Coronavirus: दिल्ली में कोविड-19 रिकवरी रेट 86.40 प्रतिशत हुआ, शुक्रवार को आए 1025 नए मामले

पिछले कुछ दिनों में हालात किस तरह से बिगड़े हैं इसे ऐसे समझा जा सकता है कि भारत में संक्रमितों की संख्या 1 लाख पहुंचने में 110 दिन का समय लगा लेकिन 13 लाख के आंकड़ों को क्रॉस करने में 177. यानि कि पिछले दो महीनों में करीब 12 लाख नए मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि जानकारों का कहना है कि यह संख्या इसलिए ज्यादा बढ़ी है क्योंकि भारत में अब पहले के मुकाबले ज्यादा कोरोना टेस्ट हो रहे हैं। जानकारी के अनुसार 24 जुलाई को 4 लाख 20 हजार 898 टेस्ट हुए हैं और अब तक कुल 1,58,49,068 लोगों का टेस्ट हो चुका है।

महाराष्ट्र में एक दिन में कोरोना के 9,615 मामले, संक्रमण से 278 और मौतें

अब अगर राज्यवार आंकड़ों समझें तो महाराष्ट्र में अभी स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। पिछले 24 घंटों में यहां 9615 नए मामले सामने आए हैं। वहीं आंध्र प्रदेश में 8147, तमिलनाडु में 6785, कर्नाटक में 5007 और उत्तर प्रदेश में 2667 नए मामले सामने आए हैं। मृतकों के मामले में भी महाराष्ट्र सबसे आगे हैं। पिछले 24 घंटों में यहां 278 लोगों की मौत हो चुकी है। कर्नाटक में 108, तमिलनाडु में 88, उत्तर प्रदेश में 59 और आंध्र प्रदेश 49 लोगों की मौत हुई है।


6. हवाई ताकत बढ़ाने को वायुसेना ने बनाया 10 साल का रोडमैप, विजन 2030 के लिए तय किए लक्ष्य

तीन दिन तक चली कांफ्रेंस के आखिरी दिन शुक्रवार को भारतीय वायुसेना के शीर्ष कमांडरों ने देश की हवाई ताकत में उल्लेखनीय बढ़ोतरी करने के लिए अगले 10 साल का विस्तृत रोडमैप तैयार किया ताकि उत्तरी और पश्चिमी मोर्चो के विरोधियों समेत उभरते हुए खतरों का सामना किया जा सके। अधिकारियों ने बताया कि वायुसेना के कमांडरों ने पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा विवाद, देश के समक्ष प्रमुख अल्प व दीर्घकालिक सुरक्षा चुनौतियों और भारत के पड़ोस में शक्ति के जटिल भू-राजनीतिक खेल पर विस्तार से विचार-विमर्श किया।

अपने समापन भाषण में वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने तेजी से क्षमता बढ़ाने, सभी हथियारों व उपकरणों की कार्यावधि में बढ़ोतरी करने और कम से कम समय में नई तकनीकों को अपनाने की जरूरत पर बल दिया। प्रवक्ता ने बताया कि एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने वायुसेना के लिए विजन-2030 के बारे बात की और आगामी दशक में इसमें बदलाव लाने के लक्ष्य तय किए। उन्होंने कहा कि तेजी से बदलती दुनिया में उभरते हुए खतरों की प्रकृति को पहचानना बहुत जरूरी है।

कमांडरों ने इस दौरान कई मसलों पर विचार-विमर्श किया और ऑपरेशनल तैयारी व सुरक्षा खतरों से निपटने की रणनीतियों की समीक्षा की। प्रवक्ता ने कहा, 'उन्होंने वर्तमान हालात पर चर्चा की और उसके बाद अगले दशक के लिए वायुसेना में बदलाव के रोडमैप की विस्तार से समीक्षा की।' इसके अलावा उन्होंने अगले महीने की शुरुआत में लद्दाख सेक्टर में छह राफेल विमानों की पहली खेप को तैनात करने पर भी विचार किया। इन विमानों के 29 जुलाई तक भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने की संभावना है।


7. उन्नत भारत अभियान: TRIFED ने आईआईटी, दिल्ली के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये

जनजातीय मामलों के मंत्रालय के तहत संचालित ट्राइफेड ने उन्नत भारत अभियान को लागू करने के लिए IIT दिल्ली के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

मुख्य बिंदु

कई संस्थानों के 2600+ शोध कार्यों को प्राप्त करने के लिए TRIFED के वन धन कार्यक्रम के तहत काम करने वाले आदिवासी उद्यमियों के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए गए, जो कि उन्नत भारत अभियान का हिस्सा हैं। नए समझौते के साथ, माइनर फॉरेस्ट प्रोड्यूस में लगे आदिवासी वन निवासी नई प्रसंस्करण प्रौद्योगिकियों, मेंटरशिप ट्रांसफॉर्मल डिजिटल सिस्टम, उत्पाद नवाचार और हैंडहोल्डिंग तक पहुंच सकेंगे।

VIBHA आंदोलन

IIT-TRIFED साझेदारी को VIBHA आंदोलन से भी मदद मिलेगी। VIBHA विज्ञान भारती विज्ञान आंदोलन है। यह आंदोलन भारत में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के महत्वपूर्ण विकास के बारे में जागरूकता पैदा करता है। यह वन धन योजना को मजबूत करने के लिए फोकस के साथ अभिसरण करने के लिए विभिन्न स्टेक होल्डरों तक पहुंचेगा। इस आंदोलन की स्थापना भारतीय विज्ञान संस्थान, आईआईएससी के प्रख्यात वैज्ञानिकों ने की थी।

उन्नत भारत अभियान

उन्नत भारत अभियान मानव संसाधन और विकास मंत्रालय का एक प्रमुख कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य उच्च शिक्षा संस्थान को कम से कम 5 गांवों से जोड़ना है। अपने ज्ञान के आधार का उपयोग करने वाले संस्थान इन ग्राम समुदायों के सामाजिक और आर्थिक बेहतरी में योगदान करेंगे। 2,474 संस्थानों द्वारा अब तक 13,702 गांवों को गोद लिया गया है।


8. भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.2 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 517.637 अरब डॉलर पर पहुंचा

17 जुलाई, 2020 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.2 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 517.637 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत 5वें स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

विदेशी मुद्रा भंडार

इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

17 जुलाई, 2020 को विदेशी मुद्रा भंडार

विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $476.880 बिलियन गोल्ड रिजर्व: $ 34.743 बिलियन आईएमएफ के साथ एसडीआर: $ 1.455 बिलियन आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $ 4.560 बिलियन


9. नासा ब्रह्माण्ड का अध्ययन करने के लिए ASTHROS मिशन लॉन्च करेगा

नासा दिसंबर 2023 में अंटार्कटिका से ASTHROS मिशन लॉन्च करेगा। यह मिशन तीन सप्ताह तक महाद्वीप के ऊपर वायु धाराओं का अध्ययन करेगा।

मुख्य बिंदु

ASTHROS मिशन स्ट्रैटोस्फियर में एक फुटबॉल स्टेडियम के आकार का गुब्बारा भेजेगा। यह गुब्बारा पृथ्वी से अदृश्य प्रकाश की तरंग दैर्ध्य का निरीक्षण करेगा। गुब्बारे में एक टेलिस्कोप, उप प्रणालियाँ, विज्ञान उपकरण, इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली और शीतलन प्रणाली होगी।

बैलून को हीलियम से फुलाया जायेगा। सुपरकंडक्टिंग डिटेक्टरों को -268.5 डिग्री सेल्सियस पर रखने के लिए एक क्रायोकूलर को गुब्बारे के साथ जोड़ा जायेगा।

मिशन के बारे में

यह मिशन विशालकाय सितारों की अनसुलझी पहेलियों और मिल्की वे गैलेक्सी में उनके गठन के बारे में उत्तर प्राप्त करेगा। पहली बार मिशन दो विशिष्ट प्रकार के नाइट्रोजन आयनों की उपस्थिति का पता लगाएगा और मैप करेगा।

ASTHROS क्या है?

ASTHROS का पूर्ण स्वरुप Astrophysics Stratospheric Telescope for High Spectral Resolution Observation as Sub millimetre wavelengths है। इस मिशन का संचालन नासा की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी द्वारा किया जायेगा।

NASA के ASTHROS मिशन का उद्देश्य घनत्व, गति और गैस की गति का 3 डी मानचित्र बनाना है।

पृष्ठभूमि

यह वैज्ञानिक गुब्बारा कार्यक्रम 30 वर्षों से संचालित हो रहा है। पृथ्वी के विभिन्न स्थानों से अब तक लगभग 10 से 15 ऐसे मिशन लॉन्च किए गए हैं।

महत्व

अंतरिक्ष अभियानों की तुलना में बैलून मिशन कम लागत वाले हैं। उनकी योजना और तैनाती का समय तुलनात्मक रूप से कम है।


10. राजस्थान ने राज्य का पहला प्लाज्मा बैंक लॉन्च किया

राजस्थान सरकार ने जयपुर में राज्य का पहला प्लाज्मा बैंक स्थापित किया है। भारत का पहला प्लाज्मा बैंक दिल्ली में स्थापित किया गया था।

मुख्य बिंदु

दिल्ली के बाद केरल, ओडिशा की राज्य सरकारों ने प्लाज्मा बैंक शुरू किए। महाराष्ट्र सरकार ने हाल ही में मालेगांव और धारावी में प्लाज्मा बैंकों की शुरूआत के बारे में घोषणा की गयी।

राष्ट्रीय स्तर के प्लाज्मा बैंक

राज्य सरकारों द्वारा स्थापित प्लाज्मा बैंक राज्यों के भीतर काम करते हैं। दूसरी ओर, दिल्ली में लॉन्च किया गया प्लाज्मा बैंक राष्ट्रीय स्तर पर संचालित होता है। दूसरा राष्ट्रीय स्तर का प्लाज्मा बैंक तमिलनाडु में खोला जायेगा।

प्लाज्मा थेरेपी के बारे में

प्लाज्मा थेरेपी के तहत, रक्त प्लाज्मा को एक COVID-19 रिकवर्ड मरीज से एकत्र किया जाता है। फिर इसे एक COVID-19 रोगी में स्थानांतरित कर दिया जाता है। रक्त प्लाज्मा, रक्त के घटकों को हटाने के बाद बचा हुआ तरल पदार्थ है।


11. मशहूर नृत्यांगना और कोरियोग्राफर अमला शंकर का निधन

मशहूर नृत्यांगना और कोरियोग्राफर अमला शंकर का निधन।

उन्हें 2011 में पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा कला में दिए उनके योगदान के लिए बंग विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

अमला शंकर ने अपना पहला कार्यक्रम कालिया दमन में किया था, जिसका मंचन 1931 में बेल्जियम में किया गया था। उन्होंने 1948 में आई फिल्म "कल्पना" में भी काम किया था।