Search

13th September | Current Affairs | MB Books


1. बिहार चुनाव के पहले PM मोदी ने दी 900 करोड़ रुपए से अधिक की सौगात

बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को राज्य में सुशासन लाने का श्रेय देते हुए उनकी सराहना की और विश्वास जताया कि जद (यू) प्रमुख के नेतृत्व में अच्छा काम जारी रहेगा। प्रधानमंत्री ने बिहार में पेट्रोलियम क्षेत्र में 900 करोड़ रुपए से अधिक की 3 परियोजनाओं को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए देश को समर्पित किया।

राज्य में विपक्षी दल राजद और उसके नेता लालू प्रसाद या पार्टी के सहयोगी दल कांग्रेस में से किसी का भी नाम नहीं लेते हुए मोदी ने राज्य के पिछड़ेपन के लिए उस मानसिकता को जिम्मेदार ठहराया जिसमें आर्थिक प्रगति को तिरस्कार की दृष्टि से देखा जाता है और जब गरीबों के उत्थान की बात आती है तो केवल बातों को ही पर्याप्त माना जाता है।

परोक्ष रूप से लालू प्रसाद की ओर इशारा करते हुए मोदी ने कहा कि बिहार लंबे समय से एक अलग तरह की मानसिकता से जकड़ा हुआ था। सड़क परियोजनाओं को हतोत्साहित किया जाता था और लोगों से पूछा जाता था कि इनका उन लोगों के लिए क्या काम है जिनके पास वाहन नहीं हैं और जो पैदल चलते हैं।

उन्होंने कहा कि प्रगति को लेकर इस अनदेखी का असर उच्च शिक्षा पर भी पड़ा, लेकिन बीते 15 वर्ष सुशासन के रहे हैं। आधारभूत ढांचे में सुधार आया है, नए मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज खुले, विधि संस्थान तथा पॉलीटेक्निक खुले। नीतीश कुमार ने प्रगति सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

भाजपा ने बिहार में जद (यू) के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की घोषणा की है जिसमें मुख्यमंत्री पद का चेहरा नीतीश कुमार होंगे।

कोरोनावायरस महामारी और उसके कारण लगे लॉकडाउन के चलते बड़ी संख्या में प्रवासियों के लौटने का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इनमें से बड़ी संख्या में बिहार के लोग थे। उन्होंने कहा कि इस संकट ने हमारे लिए अवसर प्रस्तुत किया है। हम त्वरित आर्थिक गतिविधियों को सक्रिय करके रोजगार के नए स्रोतों के बारे में विचार कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बिहार में एलपीजी पाइपलाइन परियोजना के एक खंड और दो बॉटलिंग संयंत्रों का उद्घाटन किया। इन परियोजनाओं में पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर-बांका खंड और बांका और चंपारण जिले में दो एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र शामिल हैं। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गैस पाइपलाइन परियोजना से बिहार में उर्वरक, बिजली और इस्पात क्षेत्र के उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और सीएनजी आधारित स्वच्छ यातायात प्रणाली का भी लाभ मिलेगा तथा रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

2. एयरो इंडिया-21 का 13वां संस्करण फरवरी 2021 में बेंगलुरु में आयोजित किया जाएगा

एयरो इंडिया-21 का 13वां संस्करण 3 से 7 फरवरी, 2021 तक बेंगलुरु, कर्नाटक के वायु सेना स्टेशन, येलहंका में आयोजित किया जाएगा।

रक्षा मंत्री, राजनाथ सिंह द्वारा एयरो इंडिया 2021 के लिए वेबसाइट लॉन्च की गई।

एयरो इंडिया एशिया का सबसे बड़ा एयर शो और विमानन प्रदर्शनी है, जिसे 1996 के बाद से बेंगलुरु में द्विवार्षिक रूप से आयोजित किया जाता है।

इसे aeroindia.gov.in वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

3. भारत का सबसे बड़ा "Piggery Mission" मेघालय सरकार ने किया लॉन्च

मेघालय सरकार द्वारा 209 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय वाला भारत का सबसे बड़ा "Piggery Mission" लॉन्च किया गया है।

इसे मेघालय पशुधन उद्यम उन्नति सोसायटी (MLEADS) के तत्वावधान में और राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (NCDC) द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है।

इस मिशन का मुख्य उद्देश्य अगले 3 वर्षों में 150 करोड़ रुपये के पोर्क वार्षिक आयात को कम करना और मेघालय को Pork (सुअर के मांस) उत्पादन में "आत्मनिर्भर" बनाना है।

4. पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का रविवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। उनके एक करीबी सहयोगी ने यह जानकारी दी।

एम्स में इलाज के दौरान रघुवंशप्रसाद सिंह के साथ रहे केदार यादव ने फोन पर बताया कि सिंह का सुबह करीब 11 बजे सांस लेने में कठिनाई और अन्य जटिलताओं के कारण निधन हो गया।

यादव ने बताया कि सिंह के परिवार में दो पुत्र और एक पुत्री हैं। सिंह की पत्नी का पहले ही निधन हो चुका है। उन्होंने कहा कि सिंह (74) का पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए पटना लाया जाएगा। यादव के अनुसार सिंह शुक्रवार रात को गंभीर रूप से बीमार हो गए थे और उन्हें एम्स के आईसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया था।

इससे पहले जून में सिंह को कोरोनावायरस संक्रमित पाया गया था और उन्हें पटना के एम्स में भर्ती कराया गया था। कोविड-19 से उबरने के बाद की जटिलताओं को देखते हुए उन्हें हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी के एम्स में भर्ती कराया गया था।

डॉ. सिंह ने दिल्ली में एम्स से ही 10 सितंबर को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफा देने की घोषण की थी। उन्होंने अपने पत्र में लिखा था- जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा लेकिन अब नहीं। पार्टी नेता और आम जनों ने बड़ा स्नेह दिया, मुझे क्षमा करें।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने डॉ. सिंह को मनाने के लिए जेल से गुरुवार को ही भावनात्मक चिट्ठी लिखकर चार दशक पुराने संबंधों का हवाला देते हुए पूरे अधिकार के साथ कहा था कि चार दशकों में हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और यहां तक कि पारिवारिक मामलों में मिल-बैठकर ही विचार किया है। आप जल्द स्वस्थ हों, फिर बैठ के बात करेंगे। आप कहीं नहीं जा रहे हैं, समझ लीजिए। आपका लालू प्रसाद।

गौरतलब है कि पूर्व सांसद रामा सिंह को राजद में लाए जाने की चर्चा के बाद से ही डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह नाराज थे। लालू प्रसाद यादव ने भी उन्हें मनाने की कोशिश की, इसी बीच यादव के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव ने डॉ. सिंह को लेकर विवादास्पद बयान दे दिया था कि ‘समुद्र से एक लोटा पानी निकल जाए तो कोई फर्क नहीं पड़ता।’ ऐसा समझा जाता है कि डॉ. सिंह इससे काफी क्षुब्ध थे और अपमानित महसूस कर रहे थे। अंत में उन्होंने पार्टी छोड़ने का निर्णय लिया। समाजवादी नेता डॉ. सिंह ने बिहार के वैशाली लोकसभा क्षेत्र का कई बार प्रतिनिधित्व किया।

06 जून 1946 को वैशाली जिले के शाहपुर में जन्मे डॉ. सिंह ने बिहार विश्वविद्यालय से गणित में पीएचडी की उपाधि प्राप्‍त की। उन्हें ग्रामीण और कृषि क्षेत्र के बारे में महारथ हासिल था। युवावस्‍था में उन्‍होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नेतृत्‍व में हुए आंदोलनों में भाग लिया। वर्ष 1973 में उन्‍हें संयुक्‍त सोशलिस्‍ट पार्टी का सचिव बनाया गया। 1977 से 1990 तक वे बिहार से राज्‍यसभा के सदस्‍य भी रहे। वर्ष 1977 से 1979 तक वे बिहार के ऊर्जा मंत्री रहे। इसके बाद उन्‍हें लोकदल का अध्‍यक्ष बनाया गया। वर्ष 1985 से 1990 के दौरान वे लोक लेखा समिति के अध्‍यक्ष रहे। लोकसभा के सदस्‍य के रूप में उनका पहला कार्यकाल वर्ष 1996 से प्रारंभ हुआ। वे 1996 के लोकसभा चुनाव में निर्वाचित हुए। लोकसभा में दूसरी बार वे 1998 में निर्वाचित हुए तथा 1999 में तीसरी बार लोकसभा के सदस्य बने। डॉ. सिंह इस कार्यकाल में गृह मामलों की समिति के सदस्‍य रहे। उन्हें वर्ष 2004 में चौथी बार लोकसभा सदस्‍य के रूप में चुना गया। वेे संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के मनमोहन सिंह सरकार में 23 मई 2004 से 2009 तक वे केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रहे। इस कार्यकाल में उन्हें लोक कल्याणकारी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) की परिकल्पना और उसे लागू करने का श्रेय प्राप्त है। इसके बाद वर्ष 2009 के लोकसभा चुनावों में उन्‍होंने पांचवीं बार जीत दर्ज की। वे पांच बार लोकसभा सदस्य और तीन बार केंद्रीय मंत्री रहे।

5. ब्रिटिश एक्ट्रेस डायना रिग का निधन

हाल ही में गेम ऑफ़ थ्रोंस सीरीज़ में निभाई ओलेना टाइरेल की भूमिका के लिए लोकप्रियता हासिल करने वाली ब्रिटिश एक्ट्रेस डेम डायना रिग का निधन।

उन्होंने 1959 में रॉयल शेक्सपियर कंपनी में अपनी शुरुआत की।

उन्होंने द एवेंजर्स (1965) में पार्टिक मैनी के साथ एक सीक्रेट एजेंट एम्मा पील के रूप में अभिनय किया था।

6. विमान में फोटोग्राफी पर रोक संबंधी आदेश पर DGCA का U-turn

नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने शनिवार को जारी अपने आदेश को 24 घंटे के भीतर बदलते हुए आज कहा कि ‘बोनाफाइड’ यात्री चालक दल के सदस्यों की सहमति से विमान के अंदर फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कर सकते हैं बशर्ते इससे विमान की सुरक्षा को कोई खतरा न हो और विमान के अंदर व्यवस्था बनी रहे।

डीजीसीए ने आज जारी आदेश में कहा कि यात्री विमान के अंदर, विमान के उड़ान भरते समय या उतरते समय फोटो ले सकते हैं या वीडियो बना सकते हैं। ऐसा करते समय किसी ऐसे उपकरण के इस्तेमाल की अनुमति नहीं होगी जिससे विमान की सुरक्षा को खतरा हो या विमान के अंदर व्यवस्था खराब हो या फिर चालक दल के सदस्यों ने इसके लिए मना किया हो।

इससे पहले डीजीसीए ने शनिवार को जारी आदेश में कहा था कि विमान के अंदर बिना अनुमति किसी ने भी फोटोग्राफी की तो उस मार्ग पर संबंधित एयरलाइन की उड़ान पर दो सप्ताह के लिए प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। यह प्रतिबंध तभी हटाया जाएगा जब एयरलाइन इसके लिए जिम्मेवार व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करेगी, लेकिन एक दिन बाद ही उसने अपने आदेश को बदल दिया।

किफायती विमान सेवा कंपनी इंडिगो की एक उड़ान में फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत की फोटो लेने के लिए मीडियाकर्मियों द्वारा सामाजिक दूरी संबंधी कोविड-19 मानदंडों के उल्लंघन का वीडियो वायरल होने के बाद डीजीसीए ने उड़ानों पर प्रतिबंध संबंधी आदेश दिया था। इन दिनों महाराष्ट्र सरकार के साथ वाक्युद्ध के कारण चर्चा में रहीं कंगना 9 सितंबर को इंडिगो की उड़ान से चंडीगढ़ से मुंबई आई थीं। नियामक ने इंडिगो से भी इस घटना के बारे में रिपोर्ट तलब की थी।

7. यूनिसेफ ने आयुष्मान खुराना को बनाया बाल अधिकार अभियान का ‘सेलिब्रिटी एडवोकेट’

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (United Nations Children’s Fund - UNICEF) ने बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना को बच्चों के अधिकारों के लिए चलाए जा रहे अभियान, "For Every Child" के लिए अपना ‘सेलिब्रिटी एडवोकेट’ (Celebrity Advocate) बनाया है।

वह भारत में इस पहल की दिशा में काम करेंगे। वह बच्चों के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए यूनिसेफ के प्रयासों समर्थन करेंगे, क्योंकि वर्तमान में विशेष रूप से COVID-19 विस्तारित तालाबंदी और महामारी के सामाजिक-आर्थिक प्रभावों के कारण बच्चों के खिलाफ हिंसा और दुरुपयोग का खतरा बढ़ रहा है।

13 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved