Search

10th September | Current Affairs | MB Books


1. अमेरिकी अंतरिक्ष यान का नाम कल्पना चावला के नाम पर

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र के लिए उड़ान भरने वाले एक अमेरिकी व्यावसायिक मालवाहक अंतरिक्ष यान का नाम नासा की दिवंगत अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के नाम पर रखा गया है। मानव अंतरिक्ष यान में उनके प्रमुख योगदानों के लिए उन्हें यह सम्मान दिया जा रहा है। कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय महिला थीं।

अमेरिकी वैश्विक एरोस्पेस एवं रक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी, नॉर्थग्रुप ग्रमैन ने घोषणा की कि इसके अगले अंतरिक्ष यान 'सिग्नेस' का नाम मिशन विशेषज्ञ की याद में 'एसएस कल्पना चावला' रखा जाएगा जिनकी 2003 में कोलंबिया में अंतरिक्ष यान में सवार रहने के दौरान चालक दल के 6 सदस्यों के साथ मौत हो गई थी।

कंपनी ने बुधवार को ट्वीट किया कि आज हम कल्पना चावला का सम्मान कर रहे हैं जिन्होंने भारतीय मूल की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री के तौर पर नासा में इतिहास बनाया था। मानव अंतरिक्ष यान में उनके योगदान का दीर्घकालिक प्रभाव रहेगा।

कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि नॉर्थरोप ग्रमैन एनजी-14 सिग्नस अंतरिक्ष यान का नाम पूर्व अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के नाम पर रख गर्व महसूस कर रहा है। यह कंपनी की परंपरा है कि वह प्रत्येक 'सिग्नस' का नाम उस व्यक्ति के नाम पर रखता है जिसने मानवयुक्त अंतरिक्ष यान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसने कहा कि चावला का चयन इतिहास में उनके प्रमुख स्थान को सम्मानित देने के लिए किया गया है, जो अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय महिला थीं।

2. डोनाल्ड ट्रंप को 2021 Noble Peace Prize के लिए किया गया नॉमिनेट

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम साल 2021 के नोबल पीस प्राइज़ (Noble Peace Prize) के लिए नॉमिनेट किया गया है। ट्रंप को इज़रायल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच शांति समझौते में योगदान देने के लिए नामित किया गया है। उनका नाम नॉर्वे के राइटविंग यानी दक्षिणपंथी सांसद Tybring-Gjedde ने नामित किया है। यह सांसद नॉर्वे में अपने एंटी-इमिग्रेशन यानी प्रवासी-विरोधी रुख के चलते जाने जाते हैं। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का पूरा कार्यकाल ही प्रवासियों को लेकर विवादों से भरा हुआ है।

Mirror के मुताबिक, Tybring-Gjedde ने कहा कि ट्रंप इस सम्मान के लिए जरूरी तीन शर्तों पर खरे उतरते हैं। पहला- दुनियाभर के देशों के बीच सहयोग को बढ़ाना, जो उन्होंने नेगोसिएशन के जरिए बखूबी किया है। दूसरा, सेना की तादाद कम करना- उन्होंने मिडिल ईस्ट में अमेरिकी जवानों की संख्या घटाई है। तीसरा, पीस कांग्रेस को बढ़ावा देना. उन्होंने कहा कि ट्रंप ने शांति समझौते में जबरदस्त योगदान दिया है।

Tybring-Gjedde ने कहा कि 'डोनाल्ड ट्रंप ने देशों के बीच शांति स्थापित करने में दूसरे पीस प्राइज़ नॉमिनीज़ से ज्यादा योगदान दिया है। उन्होंने नोबल समिति को ट्रंप की वकालत करते हुए जो नॉमिनेशन लेटर भेजा है, उसमें कहा है कि 'ट्रंप प्रशासन ने इज़रायल और UAE के बीच में शांति समझौता कराने में अहम भूमिका निभाई है और जैसाकि उम्मीद है मिडिल ईस्ट में दूसरे देश भी इस दिशा में आगे कदम बढ़ाएंगे, जिससे कि मिडिल ईस्ट सहयोग और समृद्धि वाली जगह बनने की दिशा में आगे बढ़ सकेगा।'

Tybring-Gjedde ने Fox News से कहा कि वो कोई बहुत बड़े 'ट्रंप समर्थक' नहीं हैं लेकिन ट्रंप ने कई आपस में संघर्षरत राष्ट्रों के बीच में शांति स्थापित करवाने में अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने इसके लिए भारत-पाकिस्तान के बीच कश्मीर विवाद और उत्तरी और दक्षिणी कोरिया का नाम लिया।

बता दें कि जहां तक कश्मीर विवाद पर ट्रंप का अभी तक कोई दखल नहीं रहा है। हां कई मौकों पर वो दोनों देशों के बीच अपनी ओर से मध्यस्थता करने की पेशकश कर चुके हैं, लेकिन भारत ने हमेशा इसे खारिज कर दिया है और कहा है कि वो अपने आंतरिक मामलों को सुलझाने में सक्षम है और बाहरी दखल नहीं चाहता है।

3. भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ राफेल

राफेल लड़ाकू विमान औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल हो गया है। राफेल अंबाला एयरबेस पर 17 स्कवॉड्रन 'गोल्डन ऐरोज़' में शामिल किया गया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोंरेस पार्ले की मौजूदगी में राफेल वायुसेना में शामिल हुआ। इसके साथ ही एयरफोर्स की ताकत और बढ़ गई है।

भारत-चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत के लिए इस उपलब्धि को काफी अहम माना जा रहा है। राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने के बाद दुश्मनों के खिलाफ बड़ी बढ़त के तौर पर देखा जा रहा है। पांच राफेल लड़ाकू विमानों को 10 सितम्बर 2020 को अंबाला हवाई ठिकाने पर हुए शानदार समारोह में भारतीय वायु सेना में औपचारिक रूप से शामिल किया गया।

राफेल को वाटर कैनन से सलामी दी गई

अंबाला एयरबेस पर राफेल लड़ाकू विमान को वाटर कैनन से सलामी दी गई। फ्लाईपास्ट के शुरू होने के साथ ही 4.5 पीढ़ी का लड़ाकू विमान राफेल आसमान में करतब भी दिखाया। बता दें कि भारतीय वायुसेना में पांच राफेल लड़ाकू विमान शामिल हुए हैं। रंग-बिरंगे हेलीकॉप्टर सारंग ने भी राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने का जश्न मनाया और अपना करतब दिखाया।

राफेल के लिए सर्व धर्म पूजा हुई

पांच धर्मों के धर्मगुरुओं ने राफेल को वायुसेना में पूरे पूजा पाठ के साथ शामिल कराया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, फ्रांस की रक्षा मंत्री, सीडीएस बिपिन रावत, एयरफोर्स चीफ भदौरिया इस मौके पर मौजूद रहे। फ्रांस की रक्षामंत्री को भारत आगमन पर पालम हवाईअड्डे पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

भारत 29 जुलाई को आए थे राफेल विमान

फ्रांस से 29 जुलाई को 5 राफेल विमान अंबाल के एयरफोर्स बेस में पहुंचे थे। इनमें तीन सिंगल सीटर और दो ट्विन सीटर जेट हैं। अंबाला एयरबेस में जगुआर और मिग-21 फाइटर जेट भी हैं। इससे लगभग चार साल पहले भारत ने फ्रांस के साथ 59,000 करोड़ रुपये की लागत से ऐसे 36 विमानों की खरीद के लिए अंतर सरकारी समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

धोनी ने किया ट्वीट

राफेल को भारतीय वायुसेना में शामिल कर लिया गया है। ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी ने ट्वीट कर भारतीय वायुसेना को शुभकामनाएं दी है। धोनी ने राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना ऐतिहासिक करार दिया है। अपने ट्वीट में धोनी ने लिखा, यह ऐतिहासिक पल है, जब भारतीय वायुसेना में राफेल जैसे फाइटर विमान को शामिल किया गया है।

राफेल की खासियत: एक नजर में

राफेल लड़ाकू विमान बेहद अत्याधुनिक और शक्तिशाली है। इसमें उन्नत हथियार, उच्च तकनीक सेंसर, लक्ष्य का पता लगाने और ट्रैकिंग के लिए बेहतर रडार और प्रभावशाली पेलोड ले जाने की क्षमता है। राफेल हवा से हवा में मार करने वाली मीटिअर मिसाइलों से लैस है, जो 150 किलोमीटर दूर लक्ष्य को निशाना बनाने में सक्षम है। राफेल की अधिकतम स्पीड 2,130 किमी/घंटा है।

राफेल में बहुत ऊंचाई वाले एयरबेस से भी उड़ान भरने की क्षमता है। राफेल विमान दो इंजनों वाला बहुउद्देश्यीय लड़ाकू विमान है। यह लड़ाकू विमान परमाणु आयुध का इस्तेमाल करने में सक्षम है। यह हवा से हवा में और हवा से जमीन पर हमले कर सकता है। राफेल अत्याधुनिक हथियारों से लैस होने वाला लड़ाकू विमान है।

राफेल एक मिनट में करीब 60 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। इससे भारतीय वायुसेना के आधुनिकीकरण को गति मिलेगी। अभी तक भारतीय वायुसेना का मिग विमान अचूक निशाने के लिए जाना जाता था, लेकिन राफेल का निशाना इससे भी ज्यादा सटीक होगा।

4. पीएम मोदी ने जयपुर में पत्रिका गेट का किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राजस्थान के जयपुर में पत्रिका गेट का उद्घाटन किया है।

पत्रिका गेट का निर्माण जयपुर के जवाहरलाल नेहरू मार्ग के पत्रिका समाचार समूह द्वारा किया गया हैं।

पीएम मोदी ने राजस्थान पत्रिका समूह के प्रधान संपादक और पत्रिका समाचार समूह के अध्यक्ष गुलाब कोठारी द्वारा लिखित 2 पुस्तकें संवाद उपनिषद और अक्षर यात्रा का भी विमोचन किया।

पेट्रिका गेट एक स्मारक है जो राजस्थान की सांस्कृतिक विरासत और स्थापत्य शैली को दर्शाता है।

यह स्मारक एक संरचना में राजस्थान की कला, शिल्प और सांस्कृतिक विरासत को एकीकृत करने का एक प्रयास है।

पत्रिका गेट के डिजाइन में राजस्थान के सभी हिस्सों की संस्कृति जीवनशैली और वास्तुकला शामिल है जो श्रीगंगानगर से बांसवाड़ा तक और जैसलमेर से भरतपुर तक है। यह जयपुर का दक्षिणी द्वार है।

5. अनिल जैन होंगे ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन के नए अध्यक्ष

अखिल भारतीय टेनिस संघ (All India Tennis Association) द्वारा अनिल जैन को अपना नया अध्यक्ष चुना गया है, वहीँ अनिल धूपर को महासचिव चुना गया।

साथ ही भारत के डेविस कप कप्तान रोहित राजपाल को 2024 तक के चार साल के कार्यकाल के लिए कोषाध्यक्ष चुना गया था।

सभी पदाधिकारी, साथ ही नई कार्यकारी समिति के सदस्य निर्विरोध चुने गए।

अनिल जैन एआईटीए अध्यक्ष के रूप में प्रवीण महाजन का स्थान लेंगे। धूपर, हिरनमाय चटर्जी का स्थान लेंगे।

6. पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 95,735 कोविड-19 केस, कोरोना से अब तक सबसे ज्यादा 1,172 की मौत

Coronavirus in India : कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर हालात लगातार चिंताजनक बने हुए हैं, स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटों में (बुधवार सुबह 8 बजे से लेकर गुरुवार सुबह 8 बजे तक) सबसे ज्यादा 95,735 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 44.65 लाख पहुंच गई है। वहीं इस दौरान 1,172 लोगों की मौत हुई है। जोकि एक दिन में हुए मृतकों की सबसे ज्यादा संख्या है। वहीं पिछले 24 घंटों में 72,939 लोग इस वायरस को मात देने में कामयाब रहे हैं। अब तक 34,71,783 लोग इस खतरनाक वायरस को मात देने में कामयाब रहे हैं।

भारत में इस वक्त 9 लाख 19 हजार एक्टिव केस हैं। यानी कि इनका इलाज या तो अस्पताल में चल रहा है या फिर हल्के फुलके लक्षणों के कारण होमआइसोलेशन में हैं। महाराष्ट्र, कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है, जहां पिछले 24 घंटों में 23,577 नए मामले सामने आए हैं। इस राज्य में ही एक दिन में 380 लोगों की मौत हुई है, जोकि किसी भी राज्य में एक ही दिन में हुई सबसे ज्यादा मौतें हैं।

संक्रमितों के मामले में महाराष्ट्र के बाद आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु का नंबर आता है, जहां क्रमश: 10 हजार 418, 9 हजार 540, 6 हजार 568 और 5 हजार 584 लोग इसकी चपेट में आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार 77.7 प्रतिशत लोग ठीक हो रहे हैं, तो वहीं मृतक दर दो प्रतिशत के नीचे 1.6 फीसदी पर बना हुआ है। ICMR के अनुसार पिछले 24 घंटों में 11.29 लाख लोगों के सैंपल जुटाए गए जबकि अब तक कुल 5,29,34,433 लोगों की कोरोना जांच हो चुकी है।

7. भारतीय रेडियो खगोल विज्ञान के जनक गोविंद स्वरूप का निधन

भारत के रेडियो खगोल विज्ञान के जनक प्रो गोविंद स्वरूप का निधन।

उनका जन्म 23 मार्च, 1929 को ठाकुरद्वार, यूनाइटेड प्रांत, ब्रिटिश भारत (वर्तमान उत्तर प्रदेश) में हुआ था।

वह टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च के रेडियो एस्ट्रोफिजिक्स के राष्ट्रीय केंद्र के संस्थापक निदेशक थे।

गोविंद स्वरूप, ऊटी रेडियो टेलीस्कोप (भारत) और जायंट मेट्रूवे रेडियो टेलीस्कोप (जीएमआरटी) की अवधारणा, डिजाइन और स्थापना के पीछे प्रमुख व्यक्ति थे, जिन्होंने भारत को रेडियो खगोल विज्ञान अनुसंधान के लिए अग्रणी देशों की सूची में लाकर खड़ा कर दिया।

वह खगोल विज्ञान और खगोल भौतिकी के कई क्षेत्रों में अपने महत्वपूर्ण अनुसंधान योगदान के लिए जाना जाता है।

8. तेलुगु दिग्गज अभिनेता जया प्रकाश रेड्डी का निधन

तेलुगु अभिनेता जया प्रकाश रेड्डी का निधन।

जब उन्हें वेंकटेश की 1988 की फिल्म ब्रह्मा पुत्रुद्दु में अभिनय करने का मौका मिला था तो वह पुलिस उप-निरीक्षक के रूप में कार्यत थे।

उन्हें आखिरी बार महेश बाबू अभिनीत फिल्म 'Sarileru Neekevvaru' (2020) में देखा गया था।

रेड्डी को समरसिम्हा रेड्डी, प्रेमिनचुकुंदम रा, नरसिम्हा नायडू, नुव्वोस्तन्ते नेनोडदंता, जुलायी, रेडी, किक, जयम मनदीरा, जंबा लकडी पम्बा, अवनु वल्लिदारु इस्सापद्दारु, कबड्डी, कबड्डी, एवाडी गोला वदिदी और कैथाकिथालू आदि फिल्मों में उनकी भूमिका के लिए जाना जाता था।


9. पीएम मोदी ने लॉन्च किया मत्स्य संपदा योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 सितम्बर 2020 को प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) का शुभारंभ किया। इस योजना का मुख्य मकसद किसानों की आय दोगुनी करने के सरकार के लक्ष्य के तहत मत्स्यपालन क्षेत्र का निर्यात बढ़ाना है। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं और किसानों से बातचीत भी की।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित इस कार्यक्रम के जरिये प्रधानमंत्री ने मत्स्यपालन तथा पशुपालन क्षेत्र के लिए कई और योजनाओं की शुरुआत की। इस योजना की शुरुआत बिहार से हुई है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने मोबाइल ऐप ई-गोपाला का भी शुभारंभ किया। यह ऐप किसानों को पशुधन के लिए ई-मार्केटप्लस उपलब्ध कराएगी।

प्रधानमंत्री ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधन की शुरुआत भोजपुरी भाषा में की। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारा प्रयास है कि मछली पालन, डेयरी से जुड़े काम के जरिए किसानों की आय को दोगुना किया जाए। उन्होंने कहा कि मछली पालन की योजना में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक रुपये खर्च किए जाएंगे। समुद्र से लेकर तालाब तक मछली पालन पर जोर देने के लिए व्यापक योजना पर काम चल रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत कई नेता मौजूद

वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुए इस कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत कई नेता मौजूद थे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने लगभग 1700 करोड़ रुपये की अलग-अलग परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को देश भर में मछली पालन को बढ़ाने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के तहत अगले 5 सालों लगभग 20,050 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। मछली पालन के क्षेत्र में आजादी के बाद से अब तक का यह सबसे बड़ा निवेश है।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना से मछली उत्पादन को 150 लाख टन से बढ़ाकर 220 लाख टन तक करना है। सरकार के अनुसार इस स्कीम से देश में लगभग 55 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। सरकार का मुख्य मकसद मछली पालन के निर्यात को बढ़ाकर एक लाख करोड़ रुपये तक पहुंचाना है।

मत्स्य संपदा योजना का लाभ केवल मछुआरा समुदाय से संबंध रखने वाले लोगों को मिलेगा। जलीय क्षेत्रों से संबंध रखने वाले और जलीय कृषि का कार्य करने वाले या इसके लिए इच्छुक व्यक्ति ही इस योजना के पात्र होंगे. समुद्री तूफान, बाढ़, चक्रवात जैसी किसी प्राकृतिक आपदा का बुरी तरह से ग्रसित मछुआरों को इसका लाभ मिलेगा।

क्या है ई-गोपाला ऐप

ई-गोपाला ऐप के बारे में खुद पीएम ने ट्वीट कर कहा है कि यह हमारे मेहनती किसानों के लिए एक व्यापक नस्ल सुधार बाजार और सूचना पोर्टल प्रदान करता है। यह एक अभिनव प्रयास है, जिससे कृषि क्षेत्र को बहुत लाभ होगा। इसके मुताबिक यह ऐप किसानों के प्रत्यक्ष उपयोग के लिए एक व्यापक नस्ल सुधार बाज़ार और सूचना पोर्टल है। इस ऐप के जरिए कृत्रिम गर्भाधान, पशु की प्राथमिक चिकित्सा, टीकाकरण, उपचार आदि और पशु पोषण के लिए किसानों का मार्गदर्शन किया जा सकेगा। ई-गोपाला ऐप इन सभी पहलुओं पर किसानों को समाधान प्रदान करेगा।

10. बैंक ऑफ़ इंडिया ने लॉन्च किया “Signature Visa Debit Card”

बैंक ऑफ़ इंडिया (BoI) ने अपने 115 वें स्थापना दिवस के अवसर पर, BoI के ज्यादा आय वाले अथवा औसतन 10 लाख रुपये और उससे अधिक का तिमाही औसत बैलेंस बनाए रखने वाले व्यक्तियों के लिए एक अंतरराष्ट्रीय संपर्क रहित डेबिट कार्ड “Signature Visa Debit Card” लॉन्च किया है।

इस कार्ड में पीओएस और ई-कॉमर्स पर 5 लाख और एटीएम पर 1 लाख तक की खर्च सीमा होगी।

अन्य सुविधाओं में लाउंज एक्सेस (प्रति तिमाही 2) और यात्रा, रिटेल, भोजन, जीवन शैली, मनोरंजन, लक्जरी होटल, ऑनलाइन शॉपिंग पर रिवॉर्ड पॉइंट आदि शामिल हैं।

साथ ही, यह धोखाधड़ी वाले लेनदेन के लिए बीमा भी प्रदान करेगा।

18 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved