Search

9th April | Current Affairs | MB Books


1. भारत और मालदीव ने आतंकवाद से निपटने हेतु वैश्विक सहयोग मजबूत करने की अपील की

भारत और मालदीव ने 08 अप्रैल 2021 को सीमापार आतंकवाद समेत दहशतगर्दी के सभी स्वरूपों की पुरजोर निंदा की और सतत तरीके से इस समस्या से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत बताई।

दोनों देशों ने इस बात की आवश्यकता बताई कि सभी देश तत्काल, सतत, सत्यापन योग्य कार्रवाई करें ताकि उनके नियंत्रण वाले किसी क्षेत्र का इस्तेमाल दूसरों पर आतंकवादी हमलों के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाए।

संयुक्त कार्यसमूह की पहली बैठक : दोनों देशों ने आतंकवाद निरोधक कार्रवाई, हिंसक उग्रवाद को रोकने तथा कट्टरपंथ को कम करने पर संयुक्त कार्यसमूह की पहली बैठक में यह बात कही। विदेश मंत्रालय में सचिव (पश्चिम) विकास स्वरूप के नेतृत्व में भारतीय पक्ष ने इस बैठक में भाग लिया, जबकि मालदीव के दल का नेतृत्व विदेश सचिव अब्दुल गफूर मुहम्मद ने किया।

आतंकवाद के सभी स्वरूपों की जोरदार निंदा : विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि भारत और मालदीव ने आतंकवाद के सभी स्वरूपों की जोरदार निंदा की, जिसमें सीमापार आतंकवाद भी शामिल है। उन्होंने सतत और व्यापक तरीके से आतंकवाद से निपटने हेतु अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत पर जोर दिया।

आतंकवादी नेटवर्कों के खिलाफ कार्रवाई की जरूरत : विदेश मंत्रालय ने इस बात पर जोर दिया कि सभी आतंकवादी नेटवर्कों के खिलाफ समन्वित कार्रवाई की जरूरत है। उसने कहा कि दोनों पक्षों ने संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध के दायरों में आने वाले आतंकवादी संगठनों की ओर से खतरों पर समीक्षा की।

भारत-मालदीव स