Search

8th September | Current Affairs | MB Books


1. रूस ने आम लोगों के लिए उतारा कोरोना वैक्सीन Sputnik V का पहला बैच

दुनियाभर में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे है। इस बीच, रूस की कोरोना वायरस (Coronavirus) वैक्सीन Sputnik V (स्पुतनिक-वी) सिविल सर्कुलेशन (आम नागरिकों) के लिए जारी कर दी गई है। जल्द ही क्षेत्रीय आधार पर वैक्सीन की डिलिवरी की योजना है। रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी। 'स्पुतनिक-वी' को रूस की गामालेया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर इपीडेमीलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉ़जी और रूस प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) ने विकसित किया है।

मंत्रालय ने बयान में कहा, "नए कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम के लिए Sputnik V वैक्सीन के पहले बैच ने चिकित्सा उपकरण नियामक के जरूरी क्वालिटी टेस्ट को पास कर लिया है और पहले बैच को सिविल सर्कुलेशन में जारी कर दिया गया है" रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने COVID-19 की पहली वैक्सीन को 11 अगस्त को पंजीकृत किया था इसका नाम Sputnik V रखा गया था

मॉस्को के मेयर सेरगी सोबयनिन ने रविवार को उम्मीज जताई थी कि मॉस्को की अधिकांश जनता को कुछ महीनों के अंदर यह दवा दे दी जाएगी

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश के अन्य क्षेत्रों में रूस की वैक्सीन के पहले बैच की आपूर्ति जल्द ही करने की योजना है

बता दें कि रूस ने दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) बना लेने का पिछले महीने ऐलान किया था खुद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने इसका ऐलान करते हुए कहा कि उनके देश ने कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन बना ली है उन्होंने यह भी बताया था कि उनकी बेटी को भी यह टीका लगाया गया है वैक्सीन का नाम स्पुतनिक-5 (Sputnik V) रखा गया है कि जो कि रूस के एक उपग्रह का भी नाम है दावा है कि इस टीके से Covid-19 के खिलाफ स्थाय़ी इम्यूनिटी विकसित की जा सकती है

2. 5जी प्रौद्योगिकी पर मिलकर काम कर रहे हैं भारत, अमेरिका, इसराइल

भारत, इसराइल और अमेरिका ने विकास वाले क्षेत्रों तथा अगली पीढ़ी की उभरती प्रौद्योगिकियों में आपसी सहयोग से काम करना शुरू कर दिया है। एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि तीनों देश 5जी संचार नेटवर्क पर भी मिलकर काम कर रहे हैं।

अधिकारी ने कहा कि तीनों देश एक पारदर्शी, खुले, विश्वसनीय और सुरक्षित संचार नेटवर्क पर काम कर रहे हैं। सामुदायिक नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 3 साल पहले जुलाई 2017 की इसराइल यात्रा के दौरान लोगों-से-लोगों के संपर्क पर सहमति बनी थी। विकास वाले और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में त्रिपक्षीय पहल इसी का हिस्सा है।

अंतराष्ट्रीय विकास के लिए अमेरिकी एजेंसी (यूएसएआईडी) की उपप्रशासक बोनी ग्लिक ने कहा कि 5जी में आपसी सहयोग तो बड़े कदमों की दिशा में सिर्फ पहला कदम है। ग्लिक ने कहा कि हम विज्ञान तथा शोध एवं विकास तथा अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकियों में मिलकर काम कर रहे हैं। इस भागीदारी के जरिए हम आधिकारिक तौर पर इन संबंधों की पुष्टि कर रहे हैं।

इससे पहले ग्लिक ने अमेरिका-भारत-इसराइल के बीच वर्चुअल शिखर बैठक को संबोधित करते हए कहा कि हम दुनिया की विकास से जुड़ीं चुनौतियों को हल करने के लिए इन भागीदारों के साथ काम कर काफी रोमांचित हैं। इस बैठक को भारत में इसराइल के राजदूत रॉन मलका तथा उनके समकक्ष संजीव सिंगला ने भी संबोधित किया।

ग्लिक ने कहा कि जिस एक क्षेत्र में हम सहयोग कर रहे हैं, वह है डिजिटल नेतृत्व तथा नवोन्मेषण। विशेषरूप से हमारा सहयोग अगली पीढ़ी की 5जी प्रौद्योगिकी पर केंद्रित है।

3. ट्रम्प ने विलिंगटन को घोषित किया पहली वर्ल्ड वार-II हेरिटेज सिटी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तरी कैरोलिना के विलिंगटन को पहली विश्व युद्ध II हेरिटेज सिटी घोषित किया है।

यह घोषणा 2 सितंबर, 2020 को द्वितीय विश्व युद्ध के अंत की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित एक समारोह के दौरान की गई।

युद्ध के दौरान, विलमिंगटन उत्तरी कैरोलिना शिपबिल्डिंग कंपनी की साइट थी, जिसने संघीय सरकार के आपातकालीन जहाज निर्माण कार्यक्रम के हिस्से के रूप में पांच वर्षों में 243 जहाजों का निर्माण किया था।


4. भारत में कोरोनावायरस से पिछले 24 घंटे में सबसे ज़्यादा 1,133 की मौत, सामने आए 75,809 COVID-19 केस

India Coronavirus Updates: भारत में कोरोनावायरस से पिछले 24 घंटों में अब तक की सबसे ज़्यादा मौतें दर्ज की गई है। 8 सितंबर की सुबह तक पिछले 24 घंटों में कोरोना से संक्रमित 1,133 मरीजों की मौत हुई है। वहीं, एक दिन में देश में 75,809 नए COVID-19 के केस (new Covid-19 cases) दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही देश में अब तक कोरोना के कुल मामले 42,80,422 हो चुके हैं। 1133 लोगों की मौत के साथ देश में कुल मौतों का आंकड़ा 72,775 पर पहुंच गया है।

अगर रिकवरी रेट की बात करें तो देश का कोरोना रिकवरी रेट 77.65% (Corona Recovery Rate) चल रहा है। ठीक होने वालों की संख्या 33 लाख के पार हो गई है। पिछले 24 घंटे में 73,521 मरीज ठीक हुए हैं। अब तक कुल ठीक हुए मरीजों की संख्या 33,23,950 है। एक्टिव मरीज़ों का फीसद 20.64% पर है। यानी देश में कुल 8,83,697 एक्टिव मामले हैं।

डेथ रेट पर 1.70% चल रहा है। वहीं, पॉजिटिविटी रेट गिरकर 6.90% पर आ गया है। यानी कि देश में जितनी कोरोना टेस्टिंग हो रही है, उनमें से 6.90 फीसदी सैंपल पॉजिटिव निकल रहे हैं। पिछले 24 घंटों में 10,98,621 सैंपलों की टेस्टिंग हुई है। वहीं, अब तक कुल टेस्ट की संख्या 5,06,50,128 हो चुकी है।

भारत की टेस्टिंग की रफ़्तार

  • 1 करोड़ टेस्ट भारत में 6 जुलाई को पूरे हुए, इसके लिए भारत को 159 दिन का समय लगा

  • 2 करोड़ टेस्ट 2 अगस्त को पूरे हुए। 1 से 2 करोड़ तक पहुंचने में भारत को सिर्फ 27 दिन लगे

  • 3 करोड़ टेस्ट 16 अगस्त को पूरे हुए, 2-3 करोड़ तक पहुंचने के लिए भारत को सिर्फ 14 दिन का समय लगा

  • 4 करोड़ टेस्ट 28 अगस्त को पूरे हुए, 3-4 करोड़ तक पहुंचने के लिए भारत को सिर्फ 12 दिन का समय लगा

  • 5 करोड़ टेस्ट 7 सितंबर को पूरे हुए, 4-5 करोड़ तक पहुंचने के लिए भारत को सिर्फ 10 दिन का समय लगा

5. केंद्र सरकार ने विज्ञापनों के लिए दिशानिर्देशों का मसौदा जारी किया, डिस्क्लेमर पर बढ़ेगी सख्ती

केंद्र सरकार ने हाल ही में विज्ञापनों के संबंध में उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत प्रस्तावित दिशा-निर्देंशों का एक व्यापक मसौदा जारी किया है। इसमें आसानी से न दिखने वाले या सामान्य उपभोक्ता के लिए समझने में कठिन डिस्क्लेमर को भ्रामक करार दिया जाएगा। इन दिशा निर्देशों के उल्लंघन पर केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्रा​धिकरण की तरफ से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इस प्राधिकरण का गठन हाल ही में किया गया है। उपभोक्ता मंत्रालय ने इस मसौदे पर आम लोगों से 18 सितंबर तक सुझाव आमंत्रित किए हैं। मसौदे में कहा गया है कि डिस्क्लेमर साफ, मोटा और पठनीय होना चाहिए। यह खंडन ऐसा हो जिसे कोई सामान्य दृष्टि वाला व्यक्ति एक व्यावहारिक दूरी और व्यावहारिक गति की अवस्था में पढ़ सके. इसे पैकेट पर किसी स्पष्ट रूप से दिखने वाली जगह पर ही प्रकाशित होना चाहिए।

विज्ञापन से संबंधित मुख्य बिंदु

य​दि यह विज्ञापन किसी आवाज या वायस ओवर में सुनाया गया हो, तो उसके साथ लिखित पाठ भी चलाया जाए। यह उसी आकार के फांट तथा भाषा में हो, जिसमें विज्ञापन प्रकाशित किया गया हो। किसी खंडन या अस्वीकारोक्ति में विज्ञापन की किसी भ्रामक बात को शुद्ध करने का प्रयास नहीं किया जाना चाहिए।

मसौदे में कहा गया है कि विज्ञापन में किसी माल या सेवा को मुफ्त या ​​नि:शुल्क या इसी तरह की किसी शब्दावली में प्रस्तुत न किया जाए, यदि उपभोक्ता को किसी उत्पाद की खरीद या डिलिवरी के लिए उसकी लागत से कुछ भी अलग भुगतान करना पड़ता हो।

इसमें यह भी कहा है कि विज्ञापन में कपंनी के दावे की पुष्टि के लिए खड़े व्यक्ति को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि कि उसमें कही गयी बातें ठोस हों और उनकी पुष्टि की जा सके। उसे कोई असत्य या भ्रामक बात का प्रचार नहीं करना चाहिए।

उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण

इस प्राधिकरण की स्थापना 2020 में उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम की धारा 10 (1) के तहत की गई थी। यह अनुचित व्यापार प्रथाओं और भ्रामक विज्ञापनों को ट्रैक करके उपभोक्ता के अधिकारों की रक्षा करेगा। यह प्राधिकरण उपभोक्ता अधिकारों और अनुचित व्यापार प्रथाओं के उल्लंघन के मामलों की जांच करेगा। यह उन सामानों को वापस बुलाएगा जो खतरनाक या असुरक्षित हैं।

सजा का प्रावधान

भ्रामक विज्ञापनों के लिए यह निर्माताओं को 10 लाख रुपये तक का जुर्माना और निर्माताओं को दो साल तक कारावास की सजा दी जा सकती है। यह जिला उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग में अनुचित व्यापार प्रथाओं और उपभोक्ता अधिकारों के उल्लंघन के खिलाफ शिकायतें दर्ज कर सकता है।

6. FADA ने विंकेश गुलाटी को नियुक्त किया अपना नया अध्यक्ष

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने विंकेश गुलाटी को वर्ष 2020-22 के लिए अपना 35 वां अध्यक्ष नियुक्त करने की घोषणा की है।

वह FADA के वर्तमान अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले का स्थान लेंगे।

गुलाटी इलाहाबाद और फरीदाबाद में संक्रिय यूनाइटेड ऑटोमोबाइल के निदेशक हैं।

यूनाइटेड ऑटोमोबाइल्स वर्ष 1985 से ऑटो डीलरशिप के कारोबार में शामिल है और महिंद्रा एंड महिंद्रा और बजाज ऑटो जैसे ब्रांडों की डीलर हैं।

यूनाइटेड ऑटोमोबाइल्स, 1951 में ट्रांसपोर्ट बिजनेस के रूप में शुरुआत करने वाली यूनाइटेड ग्रुप का हिस्सा है।

7. केनिची आयुकावा बने SIAM के नए अध्यक्ष

मारुति सुजुकी के एमडी और सीईओ केनिची आयुकावा (Kenichi Ayukawa) को दो साल की अवधि के लिए सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) का नया अध्यक्ष चुना गया है।

वह राजन वढ़ेरा का स्थान लेंगे। साथ ही, अशोक लीलैंड के एमडी और सीईओ, विपिन सोंधी को SIAM के नए उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया है।

SIAM भारतीय मोटर वाहन उद्योग का सर्वोच्च निकाय है।

8. प्रधानमंत्री मोदी आज पहले विश्व सौर प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे

अंतरराष्‍ट्रीय सौर गठबंधन आज (8 सितम्‍बर 2020) वर्चुअल प्‍लेटफॉर्म पर पहले विश्‍व सौर प्रौद्योगिकी शिखर बैठक का आयोजन करेगा। अंतरराष्ट्रीय सौर संघ (आईएसए) के अध्‍यक्ष और नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी इस शिखर बैठक का उद्घाटन करेंगे।

इस शिखर सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य ऊर्जा को सस्ती बनाने के लिए चुनौतियों का समाधान करने हेतु दुनिया के वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को एक साथ लाना है। बैठक में गठबंधन के सभी सदस्‍य देशों के मंत्री हिस्‍सा लेंगे। ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा कि सौर गठबंधन सौर ऊर्जा के बारे में एक पत्रिका भी शुरू करेगा। इससे विश्‍व के लेखकों को सौर ऊर्जा के बारे में लेख प्रकाशित करने में मदद मिलेगी।

ऊर्जा मंत्री ने क्या कहा?

ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा कि विश्‍व के वैज्ञानिक अनुसंधान और विकास से संबंधित उच्‍चस्‍तरीय शिष्‍टमंडल और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारियों का समूह कम लागत, नवाचार और किफायती सौर प्रौद्योगिकी के बारे में विचार-विमर्श करेगा। केंद्र सरकार के वरिष्‍ठ अधिकारी, वैश्विक कंपनियों, वित्‍तीय और बहुपक्षीय संस्‍थाओं के प्रमुख, सिविल सोसाइटी और विचारक इस सत्र में मौजूद रहेंगे।

मुख्य बिंदु

• आईएसए की सौर परियोजनाओं के वित्त पोषण के लिये 15 अरब डॉलर की अधिकृत पूंजी के साथ विश्व सौर बैंक गठित करने की योजना है।

• विश्व सौर प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन के बारे में आयोजित वर्चुअल संवादददता सम्मेलन में आईएसए के महानिदेशक उपेन्द्र त्रिपाठी ने कहा कि इस साल अक्टूबर में अंतरराष्ट्रीय सौर संघ की सालाना बैठक में इसका विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) पेश किया जा सकता है।

• विश्व सौर प्रौद्योगिक शिखर सम्मेलन अगले महीने आठ सितंबर को होगा। भारत ने साल 2022 तक 1,00,000 मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन क्षमता का लक्ष्य रखा है।

• केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के मुताबिक इस साल जुलाई तक सौर बिजली उत्पादन क्षमता 35,000 मेगावाट से अधिक हो गयी है। इसके अतिरिक्त दुनिया भर में कुल ऊर्जा में नवीकणीय ऊर्जा की हिस्सेदारी बढ़ाने हेतु सौर परियोजनाओं के लिये बड़े पैमाने पर वित्त पोषण की जरूरत है।

• आईएसए ने सार्वजनिक क्षेत्र की एनर्जी इफीशिएंसी सर्विसेज लिमिटेउ (ईईएसएल) को 4.7 करोड़ सोलर होम सिस्टम के आर्डर की जिम्मेदारी दी है। यह आर्डर लगभग 28 अरब डॉलर का है।

अंतरराष्‍ट्रीय सौर गठबंधन के बारे में

अंतरराष्‍ट्रीय सौर गठबंधन सौर ऊर्जा से संपन्न देशों का एक संधि आधारित अंतर-सरकारी संगठन है। अंतरराष्‍ट्रीय सौर गठबंधन की शुरुआत भारत और फ्राँस ने 30 नवंबर 2015 को पेरिस जलवायु सम्‍मेलन के दौरान की थी।

अंतरराष्‍ट्रीय सौर गठबंधन कर्क और मकर रेखा के मध्य आंशिक या पूर्ण रूप से अवस्थित 121 सौर संसाधन संपन्न देशों का एक अंतरराष्‍ट्रीय अंतर-सरकारी संगठन है। इसका मुख्यालय गुरुग्राम (हरियाणा) में है। इसका गठन सौर ऊर्जा के लाभ के उपयोग और स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिये वैश्विक बाजार प्रणाली तैयार करने के लिये किया गया है।

23 views0 comments

Recent Posts

See All