Search

4th October | Current Affairs | MB Books


1. भारत ने नेपाल को 41 एम्बुलेंस और 6 स्कूल बसें प्रदान की

गांधी जयंती (2 अक्टूबर, 2020) की पूर्व संध्या पर, भारत ने नेपाल में स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में संगठनों को 41 एम्बुलेंस और 6 स्कूल बसें दान कीं।

मुख्य बिंदु

1994 से, भारत ने नेपाल को 823 एम्बुलेंस भेंट की हैं। यह पहली बार है जब भारत ने तीन अलग-अलग श्रेणियों में एम्बुलेंस को उपहार में दिया। वे उन्नत जीवन समर्थन श्रेणी, आम जीवन समर्थन एम्बुलेंस श्रेणी और बुनियादी जीवन समर्थन श्रेणी हैं।

एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट कैटेगरी में ईसीजी, ट्रैवलिंग वेंटिलेटर, व्हील चेयर और 4जी मोबाइल डिवाइस जैसे उपकरण शामिल हैं। कॉमन लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस वे हैं जो पहाड़ी इलाकों के लिए सबसे उपयुक्त हैं।

अन्य हालिया दान

अप्रैल 2020 में, भारत ने COVID-19 के खिलाफ लड़ने के लिए नेपाल को 23 टन आवश्यक दवाएं दान कीं। इसमें पेरासिटामोल की 3.2 लाख खुराक और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की 2.5 लाख खुराक शामिल थी।

अगस्त 2020 में, भारतीय सेना ने नेपाली सेना को 10 आईसीयू वेंटिलेटर दान किए। भारतीय सेना के पास मानवीय सहायता और राहत के मामले में नेपाली सेना को समर्थन देने का एक लंबा रिकॉर्ड है।

भारत-नेपाल

भारत नेपाल का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है।इसके अलावा, भारत नेपाल में सबसे बड़े विदेशी निवेश का स्रोत है।

भारत की गोरखा रेजिमेंट में नेपाल के पहाड़ी जिलों से युवाओं को भर्ती से किया जाता है।

सूर्य किरण भारत और नेपाल के बीच एक संयुक्त सैन्य अभ्यास है।

भारत और नेपाल का कालापानी क्षेत्र पर सीमा विवाद है। हाल ही में नेपाल सरकार ने कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को अपने देश के नए नक्शे में शामिल करने की मंजूरी दी। यह अब देशों के बीच प्रमुख अड़चन बन गया है।

भारत नेपाल के साथ कई बहुपक्षीय मंच साझा करता है। वे BIMSTEC (Bay of Bengal Initiative for Multi Sectoral Technical and Economic Cooperation), SAARC (South Asian Association for Regional Cooperation), NAM (Non-aligned Movement), BBIN (Bangladesh, Bhutan, India and Nepal) हैं।

भारत और नेपाल ने काठमांडू-वाराणसी, जनकपुर-अयोध्या और लुम्बिनी-बोधगया नामक तीन सिस्टर-सिटीज समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।

नेपाल एक नाजुक पारिस्थितिक क्षेत्र में है जो भूकंप और बाढ़ से ग्रस्त है।इससे धन और जीवन के संदर्भ में बड़े पैमाने पर क्षति होती है। नेपाल मानवीय सहायता का सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता है।

2. बम धमाके में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अंपायर बिस्मिल्लाह की मौत

अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत में शनिवार को हुए एक बम विस्फोट में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अंपायर बिस्मिल्लाह जान शिन्वारी की मौत हो गई। 36 वर्षीय बिस्मिल्लाह ने अफगानिस्तान और कई अंतरराष्ट्रीय मैच में अंपायरिंग की है। इस हादसे में उनके परिवार को सात सदस्यों की भी मौत हुई है। नांगरहार प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह खोगयानी ने बताया कि यह बम धमाका नांगरहार प्रांत के शिनवार जिले में दोपहर बाद 12 बजकर 20 मिनट पर हुआ। आतंकवादियों ने पुलिस स्टेशन में घुसने की कोशिश के तहत यह धमाका किया।

स्थानीय मीडिया के अनुसार इस हमले में कम से कम 15 लोगों की मौत हुई है और 30 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। किसी आतंकवादी संगठन ने हालांकि इस हमले की फिलहाल जिम्मेदारी नहीं ली है।

3. भारत ने परमाणु मिसाइल ‘शौर्य’ का सफल परीक्षण किया

भारत ने 03 अक्टूबर 2020 को शौर्य मिसाइल के नए संस्करण का सफल परीक्षण किया। यह मिसाइल सतह से सहत पर मार करने वाली परमाणु क्षमता से लैस बैलिस्टिक मिसाइल है। इस मिसाइल का परीक्षण तटीय ओडिशा के बालासोर में किया गया।

भारत विगत कई दिनों से विभिन्न प्रकार के तथा नए नए किस्म के मिसाइलों का सफलतापूर्वक परीक्षण करता चला आ रहा है। आने वाले दिनों में भारत और कई नई किस्म की और ताकतवर मिसाइलों का परीक्षण करने की संभावना भी व्यक्त की जा रही है।

इस मिसाइल की खास बात

इस मिसाइल की खास बात ये भी है कि यह संचालित करने में हल्की और आसान होगी। शौर्य मिसाइल के आने से मौजूदा मिसाइस सिस्टम को मजबूती मिलेगी। यह मिसाइल पनडुब्‍बी से लॉन्‍च की जाने वाली बैलिस्टिक मिसाइल का जमीनी रूप है।

यह मिसाइल 40 किलोमीटर की ऊंचाई तक पहुंचने से पहले आवाज की छह गुना रफ्तार से चलती है। शौर्य मिसाइल के इस नए संस्करण के जरिए 800 किमी दूर स्थित लक्ष्य पर भी निशाना लगाया जा सकता है।

शौर्य मिसाइल के आने से मौजूदा मिसाइस सिस्टम को मजबूती मिलेगी और यह मिसाइल संचालित करने में हल्की और आसान होगी। मिसाइल की रफ्तार इतनी तेज है कि सीमा पर बैठे दुश्मन के रडार को इसे डिटेक्ट ट्रैक करने और इंटरसेप्ट करने के लिए 400 सेकेंड से भी कम का वक्त मिलेगा।

शौर्य मिसाइल को एक मिश्रित कनस्तर में संग्रहित किया जाता है, जो लंबे समय तक रखरखाव के बिना स्टोर करने और परिवहन करने के लिए बहुत आसान बनाता है। उड़ान भरने पर लगभग 50 किमी की ऊंचाई तक पहुंचने के बाद यह मिसाइल हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल की तरह उड़ने लगती है।

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण

इससे पहले, भारत ने 30 सितम्बर 2020 को ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया, जो 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक टारगेट को ध्वस्त कर सकती है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने ओडिशा के बालासोर में जमीन से पीजे-10 प्रोजेक्ट के तहत मिसाइल का परीक्षण किया और मिसाइल को स्वदेशी बूस्टर के साथ लॉन्च किया गया।

4. नबार्ड ने WASH कार्यक्रम के लिए शुरू की विशेष पुनर्वित्त सुविधा

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) ने वित्त वर्ष 2021 के लिए 800 करोड़ रुपये की विशेष पुनर्वित्त सुविधा की घोषणा की है।

इस कोष के साथ NABARD भारत सरकार के जल, स्वच्छता और हाइजीन (WASH) कार्यक्रम का समर्थन करेगा।

नाबार्ड 36 महीने तक की पुनर्भुगतान अवधि के लिए वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और सहकारी बैंकों सहित सभी पात्र वित्तीय संस्थानों को रियायती पुनर्वित्त प्रदान करेगा।

सहयोग सफाई गतिविधियों को निधि देने के लिए चैनल किया जाएगा, जो 95% पुनर्वित्त के लिए एक थ्रस्ट क्षेत्र है।

इसके अलावा NBFCs-MFI और अन्य MFI (सोसायटी, ट्रस्ट) के लिए बैंक क्रेडिट को भी बढ़ाया जाएगा।

5. पश्चिम बंगाल ने सड़क मरम्मत योजना "पथश्री अभियान" का किया शुभारंभ

पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा "पथश्री अभियान" नामक एक नई योजना की शुरूआत की गई है।

यह एक सड़क मरम्मत योजना है, जहां राज्य भर की 12,000 किलोमीटर वाली सड़कों के 7,000 खंड से अधिक हिस्सों की मिशन मोड में और समयबद्ध तरीके से मरम्मत की जाएगी।

पश्चिम बंगाल सरकार ने इन सड़कों की एक सूची तैयार की है, जिन्हें नई योजना के तहत मरम्मत किया जाएगा, जहां राज्य के लोग सरकार की 'दीदी के बोलो' पहल के माध्यम से मुख्यमंत्री तक पहुंच सकेंगे।

6. असम सीएम ने ऑनलाइन पेंशन सबमिशन और ट्रैकिंग पोर्टल 'कृतज्ञता' का किया शुभारंभ

असम के मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन पेंशन सबमिशन और ट्रैकिंग सिस्टम "कृतज्ञता" नामक एक नया पोर्टल लॉन्च किया है।

इस पोर्टल को पेंशनभोगियों को उनके पेंशन संबंधी दावों का निपटान करने के लिए शुरू किया गया है।

पोर्टल की मदद से सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी पेंशन से संबंधित कागजात ऑनलाइन जमा कर सकेंगे और उन्हें अपनी पेंशन की स्थिति की जांच करने का अवसर भी मिलेगा।

इस पोर्टल को भारत सरकार के "भविष्य" पोर्टल के अनुरूप लॉन्च किया गया है।

7. अर्जुन मुंडा ने जनजातीय उद्यमिता विकास कार्यक्रम का किया शुभारंभ

केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा ने जनजातीय उद्यमिता विकास कार्यक्रम का शुभारंभ किया है।

तीन साल की इस पहल को जनजातीय मामलों के मंत्रालय और शीर्ष उद्योग निकाय एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (ASSOCHAM) द्वारा द्वारा संयुक्त रूप से लॉन्च किया गया है।

यह पहल आदिवासी समुदायों की क्षमता का विकास करेगी और सामाजिक-आर्थिक विकास में उनके योगदान को बढ़ाने के लिए उनकी क्षमताओं का निर्माण करेगी।

'आदिवासी उद्यमिता विकास कार्यक्रम लॉन्च' के दौरान महात्मा गांधी की जयंती और वंचितों, हाशिए पर रहने वाले लोगों के उत्थान, समावेश और सशक्तीकरण को चिन्हित करने के लिए, एसोचैम ने 'खादी: इंडिपेंडेंट ऑफ इंडिपेंडेंट आत्मनिर्भर भारत' शीर्षक वेबिनार भी आयोजित किया।

7 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved