Search

4th November | Current Affairs | MB Books


1. अमेरिका ने ताइवान को 600 मिलियन अमरीकी डॉलर के सशस्त्र ड्रोन की बिक्री को मंजूरी दी

संयुक्त राज्य अमेरिका ने हाल ही में ताइवान को 600 मिलियन अमरीकी डॉलर के सशस्त्र ड्रोन की बिक्री को मंजूरी दी है। अक्टूबर 2020 के अंत में, अमेरिका ने ताइवान को हार्पून मिसाइल सिस्टम की बिक्री को मंजूरी दी थी।

पृष्ठभूमि

चीन की वर्तमान सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ताइवान पर दावा करती है। 1949 में गृह युद्ध के दौरान ताइवान चीन की मुख्य भूमि से अलग हो गया था।

चीन-ताइवान मुद्दे का इतिहास

1895 में पहले चीन-जापानी युद्ध के बाद, किंग सरकार ने ताइवान को जापान को सौंप दिया था। बाद में द्वितीय विश्व युद्ध में, चीन ने जापान से ताइवान पर नियंत्रण कर लिया और ब्रिटेन और अमेरिका की सहमति से द्वीप पर शासन करना शुरू कर दिया। हालाँकि, कुछ वर्षों में चीन में गृहयुद्ध छिड़ गया और कम्युनिस्ट सेनाओं द्वारा चिनग काई शेक के सैनिकों हराया गया। तब कम्युनिस्ट सेना माओत्से तुंग के नियंत्रण में थी।

वन कंट्री टू सिस्टम

“वन कंट्री टू सिस्टम” का प्रसिद्ध चीनी फार्मूला हांगकांग में स्थापित किया गया था। चीन ने इस फार्मूले के तहत ताइवान को भी फिर से संगठित करने की कोशिश की। उन्होंने पुन: एकीकरण के बाद ताइवान को स्वायत्तता प्रदान करने की भी पेशकश की।

संयुक्त राष्ट्र में ताइवान

संयुक्त राष्ट्र की सदस्यता हासिल करने पर एक क्षेत्र को एक स्वतंत्र देश के रूप में मान्यता दी जाएगी। आज तक, ताइवान संयुक्त राष्ट्र का आधिकारिक सदस्य नहीं बना है। इसे अभी भी चीन के एक प्रांत के रूप में मान्यता प्राप्त है। हाल ही में, विश्व स्वास्थ्य सभा में ताइवान की पर्यवेक्षक का दर्जा बहाल करने के मुद्दे सामने आया था। अमेरिका ने ताइवान का समर्थन किया और चीन ने विरोध किया।

ताइवान की अर्थव्यवस्था

ताइवान की अर्थव्यवस्था चीन पर अत्यधिक निर्भर है। ताइवान की कंपनियों ने चीन में 60 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक का निवेश किया है और 1 मिलियन तक ताइवान के लोग चीन में रहते हैं।

अमेरिका के लिए ताइवान महत्वपूर्ण क्यों है?

चीन में व्यापार और निवेश के लिए अमेरिका ताइवान को एक प्रवेश द्वार के रूप में उपयोग करता है। चीनी प्रतिबंधों, करों से बचने के लिए ताइवान एक विकल्प है।


2. अमेरिका ने ताइवान को दी ड्रोन बेचने की मंजूरी

अमेरिका के डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने कांग्रेस को अधिसूचित किया है कि उसने ताइवान को 60 करोड़ डॉलर मूल्य के ड्रोन बेचने को मंजूरी दी है। विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि उसने ताइवान को हथियारों और अन्य उपकरणों से लैस 4 ड्रोन बेचने की मंजूरी दे दी है। माना जा रहा है कि इससे चीन की नाराजगी और बढ़ेगी जो ताइवान को अपना अलग हुआ प्रांत मानता है और पहले भी अमेरिका द्वारा द्वीपीय देश को हथियार बिक्री की घोषणा पर गुस्से का इजहार कर चुका है। मंत्रालय ने कहा, प्रस्तावित बिक्री से अमेरिका के राष्ट्रीय, आर्थिक और सुरक्षा हितों की पूर्ति, ताइवान द्वारा अपनी सेना के आधुनिकीकरण और विश्वसनीय रक्षात्मक क्षमता कायम करने के लिए लगातार किए जा रहे प्रयासों के समर्थन से होगी। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा, प्रस्तावित बिक्री से प्राप्तकर्ता देश की सुरक्षा मजबूत होगी और क्षेत्र में राजनीतिक स्थिरता, सैन्य संतुलन, आर्थिक विकास और प्रगति में सुधार होगा।

उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते ट्रंप प्रशासन ने ताइवान को 2.37 अरब डॉलर कीमत की हार्पून मिसाइलें बेचने की मंजूरी दी थी। यह घोषणा चीन द्वारा बोइंग सहित अमेरिकी रक्षा उपकरणों के आपूर्तिकर्ताओं पर प्रतिबंध की घोषणा के महज कुछ घंटों बाद की गई।


3. पुर्तगाल के दुआर्ते पचेको को अंतर संसदीय संघ का नया अध्यक्ष चुना गया

दुआर्ते पचेको को 2 नवंबर, 2020 को अंतर संसदीय संघ के नए अध्यक्ष के रूप में चुना गया है। उन्हें 2020 और 2023 की अवधि के लिए संघ के अध्यक्ष के रूप में चुना गया है। अंतर संसदीय संघ के पूर्व अध्यक्ष मैक्सिकन सांसद गैब्रिएला कैवस बैरोन थीं।

मुख्य बिंदु

अंतर संसदीय संघ का 206वां सत्र 1 नवंबर, 2020 को शुरू हुआ। इस सत्र में भारत का प्रतिनिधित्व लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला ने किया। सत्र में 144 संसदों से अधिकारियों ने भाग लिया। इस सत्र में, पाकिस्तानी सीनेट के अध्यक्ष संजीरानी पुर्तगाली उम्मीदवार से बुरी तरह हार गए। साथ ही, भारत ने संघ में पाकिस्तान की उम्मीदवारी का विरोध किया था।

अंतर संसदीय संघ (IPU)

अंतर संसदीय संघ की स्थापना 1889 में हुई थी। इस संघ की स्थापना का प्राथमिक उद्देश्य लोकतांत्रिक शासन, सहयोग और जवाबदेही को बढ़ावा देना है। संसदीय संघ ने संयुक्त राष्ट्र, स्थायी न्यायालय पंचाट और लीग ऑफ़ नेशंस की स्थापना में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। इस संघ का नारा है “लोकतंत्र के लिए, सभी के लिए”। IPU में एक गवर्निंग काउंसिल, असेंबली, कार्यकारी समिति, IPU अध्यक्ष और एक सचिवालय शामिल हैं। आईपीयू के छह भू राजनीतिक समूह हैं, जैसे अफ्रीका, यूरेशिया, एशिया-प्रशांत, लैटिन अमेरिका, अरब समूह और बारह प्लस। भारत एशिया-प्रशांत समूह से संबंधित है।

आईपीयू का महत्व

आईपीयू ने विश्व युद्ध के दौरान एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। दो विश्व युद्धों के बीच, आईपीयू ने अंतरराष्ट्रीय विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए अपना काम तेज कर दिया था। इसने सामाजिक और मानवीय नीतियों, आर्थिक सवालों, औपनिवेशिक समस्याओं और बौद्धिक संबंधों को भी संहिताबद्ध किया।


4. ICICI लोम्बार्ड ने स्वास्थ्य बीमा समाधान प्रदान करने के लिए FreePaycard के साथ की साझेदारी

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने ऑनलाइन प्री-पेड कार्ड ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Freepaycard के साथ मिलकर ग्रुप सेफगार्ड इंश्योरेंस लॉन्च किया है।

यह साझेदारी, विशेष रूप से Freepaycardmembers को बाईट-साइज़ स्वास्थ्य बीमा समाधान उपलब्ध कराने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो अपने बहु-श्रेणी के साझेदार खुदरा दुकानों पर उपलब्ध होंगे।

अन्य आवश्यक वस्तुओं या सेवाओं की खरीदारी करते समय फ्रीपेकार्ड सदस्य इन स्वास्थ्य समाधानों को जोड़ सकते हैं।


5. केरल ने स्टार्ट-अप्स को बढ़ावा देने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी के लिए एक्सेलेरेटर लॉन्च किया

केरल ने इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजीज के लिए एक अत्याधुनिक एक्सेलरेटर लॉन्च किया। इससे राज्य के स्टार्टअप्स को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है जो स्थायी उद्यमों के रूप में बड़े पैमाने पर प्रयास कर रहे हैं।

मुख्य बिंदु

ACE (Accelerator for Electronics Technologies) का विकास केरल स्टार्टअप मिशन (KSUM) और सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ़ एडवांस्ड कंप्यूटिंग (CDAC) की एक संयुक्त पहल है।

ACE स्वयं को देश की इलेक्ट्रॉनिक्स तकनीकों में एक अग्रणी एक्सेलरेटर के रूप में विकसित करने का प्रयास करेगा।

ACE इलेक्ट्रॉनिक्स और संबद्ध विषयों में हाई-टेक स्टार्टअप के विकास का पोषण करेगा।

एसीई का उद्घाटन मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन द्वारा किया गया था।

यह एक्सेलरेटर कोच्चि में स्थापित किए गए इलेक्ट्रॉनिक्स प्रौद्योगिकियों के क्षेत्र में KSUM- समर्थित इनक्यूबेटर का पूरक होगा।

निगरानी

CADC एक विशिष्ट अवधि के लिए स्टार्टअप्स का संरक्षक होगा। CADC स्टार्टअप्स को नई सुविधा के भौतिक और बौद्धिक बुनियादी ढांचे तक पहुंच प्रदान करेगा। CADC ने सॉफ्टवेयर इन्फ्रास्ट्रक्चर की सुविधा के लिए भी प्रतिबद्धता व्यक्त की है जो हाई-एंड इलेक्ट्रॉनिक प्रणालियों, उपकरणों के अनुसंधान और विकास का समर्थन करेगा।

महत्व

एसीई रोजगार के 1,000 प्रत्यक्ष अवसर प्रदान करेगा। यह एक्सेलरेटर युवा उद्यमियों के लिए “अत्यधिक फायदेमंद” होगा। यह उन्हें अपने उद्यम को स्थिर करने में सक्षम करेगा। यह हाई एंड इलेक्ट्रॉनिक प्रणालियों, उपकरणों और सेवाओं के अनुसंधान और विकास के लिए समर्थन अर्जित करने के लिए सॉफ्टवेयर बुनियादी ढांचे को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। इससे केरल की आईटी कंपनियों के लिए जगह दोगुनी करने की योजना को और मजबूती मिलेगी।


6. आईबीएम और इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने डिजिटल सेवाओं के लिए किया समझौता

टेक दिग्गज आईबीएम ने डिजिटल टूल का उपयोग करके बाद के ग्राहक अनुभव को बदलने के लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) के साथ साझेदारी की है।

लगभग 130 मिलियन उपभोक्ताओं को कवर करने वाले लगभग 12,400 IOCL वितरक अब IBM सर्विस द्वारा विकसित इंडियनऑयल वन मोबाइल ऐप और पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं।

इंडियन ऑयल वन मोबाइल ऐप और पोर्टल इंडियन ऑयल के प्रोजेक्ट ईपीआईसी का हिस्सा हैं, जो ग्राहक संबंध प्रबंधन (Customer Relationship Management) और वितरण प्रबंधन प्रणाली (Distribution Management System) का एक एकीकृत मंच है।


7. Coronavirus India LIVE Updates: लद्दाख में कोरोपुडुचेरी में कोविड-19 के 108 नये मामले सामने आये

Coronavirus India Report: भारत (Coronavirus India Report) में हर रोज COVID-19 के मामले बढ़ रहे हैं। संक्रमितों की संख्या 83 लाख पार हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 83,13,876 हो गई है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 46,253 नए मामले सामने आए हैं। बीते 24 घंटों में 53,357 मरीज ठीक हुए हैं। इस दौरान 514 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। अब तक कुल 76,56,478 मरीज ठीक हो चुके हैं। 1,23,611 लोगों की जान गई है। कोरोना के मौजूदा मामलों की संख्या 5.5 लाख से नीचे है। यह संख्या 2 अगस्त के बाद पहली बार इतनी नीचे आई है। इस समय देश में 5,33,787 एक्टिव केस हैं। रिकवरी रेट की बात करें तो यह मामूली बढ़ोतरी के बाद 92.09 प्रतिशत पर पहुंच गया है। पॉजिटिविटी रेट 3.82 फीसदी है। डेथ रेट 1.48 प्रतिशत है। 3 नवंबर को 12,09,609 कोरोना सैंपल टेस्ट किए गए। अभी तक कुल 11,29,98,959 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। गौरतलब है कि भारत समेत दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोनावायरस (Coronavirus) का खौफ देखने को मिल रहा है। अभी तक 4.73 करोड़ से ज्यादा लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। यह वायरस 12.13 लाख से ज्यादा संक्रमितों की जिंदगी छीन चुका है।


8. जेम्स बॉन्ड अभिनेता शॉन कॉनरी का निधन

जेम्स बॉन्ड के किरदार के लिए प्रसिद्ध स्कॉटिश अभिनेता शॉन कॉनरी (Sean Connery) का निधन।

स्कॉटिश फिल्म के लीजेंड कॉनरी, जिन्होंने लोकप्रिय ब्रिटिश एजेंट जेम्स बॉन्ड के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्टारडम हासिल किया और चार दशकों तक सिल्वर स्क्रीन पर राज किया।

कॉनरी को पहले ब्रिटिश एजेंट 007 के रूप में याद किया जाएगा।


9. पीवीजी मेनन होंगे इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर स्किल काउंसिल ऑफ इंडिया के नए CEO

इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर स्किल काउंसिल ऑफ इंडिया (ESSCI) ने PVG मेनन को अपना मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त करने की घोषणा की है।

मेनन भारत में इलेक्ट्रॉनिक प्रणालियों के डिजाइन और विनिर्माण (ESDM) उद्योग के विकास से संबंधित रणनीतिक मुद्दों पर ESSCI के संचालन की देखरेख और इसकी संचालन परिषद के साथ मिलकर काम करने के लिए जिम्मेदार होंगे।

ESSCI उद्योगों के साथ मिलकर काम करता है, जिसे राष्ट्रीय कौशल विकास निगम और इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय उद्योग को कुशल और पुनः कौशल दोनों प्रकार की सेवाएं प्रदान करता है।


10. राजीव जलोटा बने मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के नए अध्यक्ष

भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी राजीव जलोटा को मुंबई पोर्ट ट्रस्ट (MbPT) का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

इस संबंध में केंद्रीय मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति द्वारा केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के लिए आदेश जारी कर दिया गया है।

इसके पूर्व अध्यक्ष संजय भाटिया के 31 जुलाई को सेवानिवृत्त होने और महाराष्ट्र के लोकायुक्त के रूप में नियुक्त किए जाने के बाद एमबीपीटी अध्यक्ष का पद खाली पड़ा था।


11. भारत की पहली सौर ऊर्जा संचालित लघु ट्रेन केरल में शुरू की गई

भारत की पहली सौर ऊर्जा संचालित लघु ट्रेन का उद्घाटन मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने 2 नवंबर, 2020 को किया। इसका उद्घाटन केरल के वेल्ली टूरिस्ट विलेज में किया गया है।

मुख्य बिंदु

यह ट्रेन परियोजनाओं की एक कड़ी का हिस्सा है, इस स्थान पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं को विकसित करने के लिए 60 करोड़ रुपये व्यय किये गये।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने एक “अर्बन पार्क” और इको-फ्रेंडली पर्यटक गांव में एक स्विमिंग पूल भी समर्पित किया।

पर्यटक गाँव बाहरी इलाके में स्थित है जहाँ वेल्ली झील अरब सागर से मिलती है।

लघु रेल

लघु रेल में उन सभी विशेषताओं का समावेश होता है, जो पूरी तरह से सुसज्जित रेल प्रणाली में होती हैं। इसमें एक सुरंग, स्टेशन और एक टिकट कार्यालय शामिल हैं। इसमें तीन बोगियां हैं जो एक बार में लगभग 45 लोगों को समायोजित कर सकती हैं। यह ट्रेन इको-फ्रेंडली और सोलर-पावर्ड है। 2.5 किमी की यह लघु रेल आगंतुकों को प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेने में सक्षम करेगी। भारत में अपनी तरह की इस पहली परियोजना की कुल लागत दस करोड़ रुपये है। यह ट्रेन से सौर ऊर्जा से संचालित होगी। सिस्टम द्वारा उत्पन्न अधिशेष ऊर्जा केरल राज्य विद्युत बोर्ड के ग्रिड में स्थानांतरित की जाएगी।

भारत में सौर ऊर्जा से चलने वाली ट्रेन

भारतीय रेलवे ने 14 जुलाई, 2017 को दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से अपनी पहली सौर ऊर्जा संचालित डीईएमयू (डीजल इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट) ट्रेन शुरू की थी। यह ट्रेन दिल्ली के सराय रोहिल्ला से हरियाणा के फारुख नगर तक चली थी। ट्रेन में 300 Wp का उत्पादन करने वाले कुल 16 सौर पैनल थे। सौर पैनल का निर्माण ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत किया गया था। यह दुनिया में पहली बार था कि रेलवे में ग्रिड के रूप में सौर पैनलों का उपयोग किया गया था।

11 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved