Search

4th May | Current Affairs | MB Books


1. 4 मई: अंतर्राष्ट्रीय अग्निशामक दिवस/अंतर्राष्ट्रीय अग्निशमन दिवस (International Firefighters Day)

हर साल 4 मई को अंतर्राष्ट्रीय अग्निशामक दिवस/अंतर्राष्ट्रीय अग्निशमन दिवस (International Firefighters Day) मनाया जाता है।

मुख्य बिंदु : अग्निशामकों के बलिदान को पहचानने के लिए यह दिन मनाया जाता है। इसके अलावा, यह दिवस यह सुनिश्चित करने के लिए जागरूकता पैदा करता है कि पर्यावरण और समुदाय यथासंभव सुरक्षित हैं।

4 मई ही क्यों? : अंतर्राष्ट्रीय अग्निशामक दिवस 4 मई को मनाया जाता है क्योंकि यह सेंट फ्लोरियन डे (Saint Florian’s Day) भी है। सेंट फ्लोरियन रोमन बटालियन के कमांडिंग फायरफाइटर्स में से एक था। उन्होंने कई लोगों की जान बचाई और उन्हें अग्निशामकों का संरक्षक संत माना जाता है। उन्होंने प्राचीन रोम में एक पूरा जलता हुआ गाँव बचा लिया था।

संत फ्लोरियन (Saint Florian) : संत फ्लोरियन का जन्म 250 ईस्वी में प्राचीन रोम में हुआ था। वह रोमन सेना में शामिल हुए थे और रोमन प्रांत में सेना के कमांडर बने। उन्होंने सैनिकों का एक समूह संगठित किया और जिसका कर्तव्य आग से लड़ना था।

अग्निशामक दिवस का प्रतीक : अग्निशामक दिवस के प्रतीक में लाल और नीले रंग के रिबन होते हैं। रिबन में लाल रंग आग का प्रतीक है और नीला रंग पानी का प्रतीक है।


2. कांगो ने इबोला के प्रकोप की समाप्ति की घोषणा की

कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (Democratic Republic of Congo) ने हाल ही में इबोला के 12वें प्रकोप के अंत की घोषणा की। एबोला के कारण उत्तरी किवु के पूर्वी प्रांत में 6 लोगों की मौत हो गयी थी।

इबोला के प्रकोप (Ebola Outbreak) :

  • वर्तमान इबोला प्रकोप आनुवंशिक रूप से उस प्रकोप से जुड़ा था जो 2018-20 में हुआ था।

  • वर्तमान में, गिनी (Guinea) भी इबोला महामारी के खिलाफ भी लड़ रहा है।

  • इबोला वायरस की खोज 1976 में हुई थी। पश्चिम अफ्रीका में इबोला का 2014-16 का प्रकोप सबसे बड़ा इबोला प्रकोप है।

  • जून 2019 में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल के रूप में घोषित किया था।

वैश्विक स्वास्थ्य आपातस्थिति (Global Health Emergency) : वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा तब की जाती है जब बीमारी का प्रकोप दूसरे देशों के लिए भी खतरा बन सकता है। इसके लिए समन्वित अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया की आवश्यकता होती है।

इबोला वायरस (Ebola Virus) :

  • इबोला वायरस जंगली जानवरों से लोगों तक पहुंचा है।यह मानव-से-मानव के माध्यम से मानव आबादी के बीच फैलता है।

  • इस इबोला वायरस के प्राकृतिक मेजबान फल चमगादड़ (fruit bats) हैं।

  • इबोला के निदान के लिए इस्तेमाल की जाने वाली विधियाँ ELISA, Serum neutralization test, electron microscopy, virus isolation by cell culture, reverse transcriptase polymerase chain reaction (RT-PCR), antigen capture detection tests हैं।

  • इबोला की मृत्यु दर 50% है।

  • 2019 में, WHO ने इबोला को वैश्विक स्वास्थ्य के लिए शीर्ष दस खतरों में से एक घोषित किया था। अन्य खतरे गैर-संचारी रोग, वायु प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन, वैश्विक इन्फ्लूएंजा महामारी, एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध, कमजोर स्वास्थ्य देखभाल, एचआईवी, वैक्सीन झिझक इत्यादि थे।

इबोला के टीके :

  • rVSV-ZEBOV एक इबोला वैक्सीन थी जिसका इस्तेमाल 2015 में गिनी में किया गया था।

  • इसका इस्तेमाल कांगो में 2018-19 इबोला के प्रकोप के दौरान भी किया गया था।

3. आनंद महिंद्रा ने लॉन्च किया प्रोजेक्ट 'ऑक्सीजन ऑन व्हील्स'

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन, आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने कोरोनोवायरस की दूसरी लहर के बीच बढ़ती ऑक्सीजन की कमी के बाद, ऑक्सीजन का परिवहन संयंत्रों से अस्पतालों और घरों तक ऑक्सीजन के परिवहन को आसान बनाने के लिए 'ऑक्सीजन ऑन व्हील्स (Oxygen on Wheels)’ नामक परियोजना शुरू की है।

'ऑक्सीजन ऑन व्हील्स’ पहल भारत में विशेष रूप से महाराष्ट्र में ऑक्सीजन के उत्पादन और इसके परिवहन के बीच की खाई को पाट देगी।

महिंद्रा ने ऑक्सीजन उत्पादकों को अस्पतालों और घरों से जोड़ने के लिए लगभग 70 बोलेरो पिकअप ट्रकों को ऑक्सीजन सिलेंडर वितरित करने के लिए तैयार किया है।

यह परियोजना महिंद्रा लॉजिस्टिक्स के माध्यम से कार्यान्वित की जा रही है।

इसके अलावा, एक संचालन नियंत्रण केंद्र स्थापित किया गया है और स्थानीय रिफिलिंग संयंत्र से भंडारण स्थान को फिर से भरना है। सीधे उपभोक्ता मॉडल का भी विचार किया जा रहा है।


4. टी. रबी शंकर को RBI के डिप्टी गवर्नर के रूप में नियुक्त किया गया

भारत सरकार ने हाल ही में टी. रबी शंकर को चौथे डिप्टी गवर्नर के रूप में नियुक्त किया।

टी. रबी शंकर (T. Rabi Shankar) :

  • टी. रबी शंकर भारतीय रिज़र्व बैंक में फिनटेक, भुगतान प्रणाली, जोखिम प्रबंधन और सूचना प्रौद्योगिकी के प्रभारी हैं। उन्होंने बी.पी. कानूनगो का स्थान लिया है।

  • रबी शंकर के पास अर्थशास्त्र की डिग्री में एम. फिल है।

  • उन्हें बांग्लादेश के केंद्रीय बैंक और बांग्लादेश सरकार के अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था।

  • उन्होंने 2008 और 2014 के बीच वित्त मंत्रालय के साथ काम किया।

  • उन्हें RBI सब्सिडियरी Indian Financial Technology and Allied Services (IFTAS) के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था।

संरचना :

  • भारतीय रिजर्व बैंक केंद्रीय निदेशक मंडल द्वारा शासित होता है।इन निदेशकों की नियुक्ति भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम के तहत भारत सरकार द्वारा की जाती है।

  • केंद्रीय बोर्ड में गवर्नर, चार डिप्टी गवर्नर, दो वित्त मंत्रालय के प्रतिनिधि और चार निदेशक स्थानीय बोर्ड के प्रतिनिधि शामिल होते हैं।इन स्थानीय बोर्डों का मुख्यालय कोलकाता, मुंबई, चेन्नई और नई दिल्ली में है।

मौद्रिक नीति समिति (Monetary Policy Committee) :

  • मौद्रिक नीति समिति का गठन भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किया गया था।इसका नेतृत्व RBI के गवर्नर द्वारा किया जाता है।

  • यह समिति आमतौर पर साल में छह बार बैठक करती है।

  • इस समिति में छह सदस्य हैं।इन छह सदस्यों में से, भारत सरकार तीन व्यक्तियों की नियुक्ति करती है। मौद्रिक नीति समिति में किसी भी सरकारी अधिकारी को नामित नहीं किया जाता है।

5. HCL टेक को पीछे छोड़ विप्रो बनी तीसरी सबसे बड़ी भारतीय आईटी कंपनी

विप्रो ने HCL टेक्नोलॉजीज की 2.62 ट्रिलियन रुपये बाजार पूंजीकरण को दबाकर 2.65 ट्रिलियन रुपये के बाजार पूंजीकरण द्वारा तीसरी सबसे बड़ी भारतीय आईटी सेवा कंपनी के रूप में पुनः अपना स्थान प्राप्त किया। TCS 11.51 ट्रिलियन रुपये के बाजार पूंजीकरण के साथ इन्फोसिस के बाद सूची में सबसे ऊपर है।

विप्रो ने 2040 तक शुद्ध-शून्य ग्रीनहाउस गैस (GHG) उत्सर्जन को प्राप्त करने की अपनी प्रतिबद्धता की घोषणा की है, जो पेरिस समझौते के उद्देश्य के अनुसार 1.5 डिग्री सेल्सियस तक तापमान वृद्धि है। ​

देश की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी ने 2016-17 के अपने आधार वर्ष (अप्रैल-मार्च) की तुलना में GHG उत्सर्जन में 55 प्रतिशत की कमी का लक्ष्य 2030 तक पूर्ण उत्सर्जन स्तरों में निर्धारित किया है।


6. GST राजस्व अप्रैल में सर्वकालिक ऊंचाई 1.41 लाख करोड़ रुपये पर

माल और सेवा कर (Goods and Services Tax) से सकल राजस्व ने अप्रैल 2021 में भारत में 1.41 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया, जो यह दर्शाता है कि पिछले साल की तरह COVID-19 महामारी की चल रही दूसरी लहर के बीच आर्थिक गतिविधि अभी बुरी तरह प्रभावित नहीं हो सकती है।

अप्रैल का GST संग्रह मार्च 2021 में पिछले उच्चतम संकलन 1.24 लाख करोड़ रुपये से 14% अधिक रहा, और अक्टूबर के बाद से लगातार सातवें महीने में GST राजस्व 1 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया।


7. यूरेनियम-214 : यूरेनियम का सबसे हल्का रूप

वैज्ञानिकों ने हाल ही में यूरेनियम का सबसे हल्का रूप बनाया है। इसे यूरेनियम -214 (Uranium-214) कहा जाता है। इस खोज से एक अल्फा कण (alpha particle) के बारे में अधिक जानकारी का पता चलता है। अल्फा कण वे कण होते हैं जो रेडियोधर्मी तत्वों से अलग हो जाते हैं जैसे उनका क्षय (decay) होता है।

यूरेनियम -214 (Uranium-214) : यूरेनियम के इस आइसोटोप में प्रोटॉन की तुलना में अधिक संख्या में न्यूट्रॉन होते हैं। न्यूट्रॉन में द्रव्यमान होता है। हालाँकि, हाल ही में पाया गया यूरेनियम -214 अन्य सामान्य यूरेनियम समस्थानिकों की तुलना में बहुत हल्का है। इसमें यूरेनियम-235 भी शामिल है। यूरेनियम -235 सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला आइसोटोप है। इसमें 51 अतिरिक्त न्यूट्रॉन होते हैं।

यूरेनियम -214 में अल्फा क्षय (Alpha Decay in Uranium-214) : नए आइसोटोप में पाया गया कि इसके क्षय के दौरान अद्वितीय व्यवहार भी दिखाई दिए। यह नई खोज वैज्ञानिकों को अल्फा क्षय नामक रेडियोधर्मी प्रक्रिया को समझने में मदद करेगी। अल्फा क्षय में, परमाणु नाभिक दो प्रोटॉन और दो न्यूट्रॉन खो देता है। उन्हें सामूहिक रूप से अल्फा कण (alpha particle) कहा जाता है। वैज्ञानिकों को अभी तक इस बात का जवाब नहीं मिल पाया है कि इन अल्फा कणों को कैसे निकाला जाता है।

यूरेनियम -214 कैसे बनाया गया? : आर्गन की एक बीम को गैस से भरे रिकॉइल सेपरेटर (recoil separator) के अंदर टंगस्टन पर प्रक्षेपित किया गया था। उसके बाद, शोधकर्ताओं ने यूरेनियम-214 बनाने के लिए एक लेज़र बीम के माध्यम से सामग्री में प्रोटॉन और न्यूट्रॉन जोड़े।

यूरेनियम -214 में परमाणु बल : वैज्ञानिकों ने पाया कि यूरेनियम -214 के प्रोटॉन और न्यूट्रॉन ने समान रूप से न्यूट्रॉन और प्रोटॉन की संख्या वाले समस्थानिकों की तुलना में अधिक मजबूती से आपस में क्रिया की। दूसरे शब्दों में, यूरेनियम -214 में परमाणु बल अन्य समस्थानिकों से अधिक था।


8. श्यामला गणेश को मिला जापान का आर्डर ऑफ़ द राइजिंग सन सम्मान

जापानी सरकार ने हाल ही में बेंगलुरु स्थित जापानी शिक्षिका श्यामला गणेश (Shyamala Ganesh) को "ऑर्डर ऑफ राइजिंग सन (Order of Rising Sun)" से सम्मानित किया गया। वह सेप्टुजेनिरेनियन संस्थान (Septuagenarian institution) में एक जापानी शिक्षक हैं और आरटी नगर, बेंगलुरु में इकेबाना के ओहरा स्कूल में भी कार्यरत्त हैं।

उन्होंने 38 साल पहले स्थापना के बाद से सैकड़ों से अधिक छात्रों को पढ़ाया है। इकेबाना (Ikebana) जापानी फूलों की व्यवस्था की कला है।

यह पुरस्कार उन लोगों को प्रदान किया जाता है जिन्होंने जापानी संस्कृति को बढ़ावा देने, अंतरराष्ट्रीय संबंधों में उपलब्धियों, अपने क्षेत्र में प्रगति और पर्यावरण के संरक्षण में विशिष्ट उपलब्धियां हासिल की हैं।


9. मार्क सेल्बी (Mark Selby) बने स्नूकर में चौथी बार विश्व चैंपियन

अंग्रेजी पेशेवर स्नूकर खिलाड़ी मार्क सेल्बी (Mark Selby) ने चौथी बार विश्व चैम्पियनशिप जीती है। इस बार उन्होंने शॉन मर्फी (Shaun Murphy) को हराकर खिताब जीता।

मार्क सेल्बी (Mark Selby) :

  • मार्क सेल्बी ने 2014, 2016, 2017 और 2021 में विश्व चैम्पियनशिप जीती है।

  • उन्हें 2015 और 2019 के बीच विश्व का नंबर एक स्थान मिला था।

विश्व स्नूकर चैम्पियनशिप : यह 1927 से प्रतिवर्ष आयोजित की जा रही है। यह शेफ़ील्ड, इंग्लैंड में क्रूसिबल थिएटर में खेली जाती है। विश्व पेशेवर बिलियर्ड्स और स्नूकर एसोसिएशन इस चैंपियनशिप का आयोजन करता है।

स्नूकर के बारे में : यह एक क्यू खेल है। क्यू स्पोर्ट को बिलियर्ड खेल भी कहा जाता है। वे विभिन्न प्रकार के खेल हैं जो क्यू स्टिक के साथ खेले जाते हैं। यह 4 पॉकेट या 6 पॉकेट के साथ एक मेज पर खेला जाता है। यह स्नूकर गेंदों और क्यू का उपयोग करके खेला जाता है।

स्नूकर गेम का उद्देश्य क्यू के साथ सफेद क्यू बॉल को हिट करना है ताकि यह अन्य गेंदों पर लगे और बदले में वे पॉकेट में गिर जाएं। खेल में अधिक अंक स्कोर करने वाला खिलाड़ी जीतता है। गेंदें अलग-अलग रंगों की होती हैं और हर रंग के अलग-अलग पॉइंट होते हैं।

स्नूकर गेम में फ़ाउल

स्नूकर गेम में निम्नलिखित फ़ाउल हैं:

  • किसी भी गेंद को हिट करने में विफल रहना

  • क्यू बॉल को पॉट करना

  • क्यू बॉल के अलावा अन्य किसी भी गेंद को

10. लुईस हैमिल्टन ने पुर्तगाली ग्रैंड प्रिक्स जीता

लुईस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) ने प्रतिद्वंद्वी मैक्स वेर्स्टाप्पेन (Max Verstappen) और मर्सिडीज टीम के साथी वाल्टेरी बोटास (Valtteri Bottas) को हराकर पुर्तगाली ग्रैंड प्रिक्स में जीत हासिल की।

वेर्स्टाप्पेन दूसरे स्थान पर रहे, जबकि बोटास, जिन्होंने पोल से शुरूआत की, निराशाजनक तीसरे स्थान पर आए। सर्जियो पेरेज़ (Sergio Perez) ने चौथा स्थान प्राप्त किया, लैंडो नॉरिस (Lando Norris) के साथ मैकलेरन के लिए पांचवां स्थान हासिल किया।

शुरूआती फॉर्मूला वन चैंपियन ओपनिंग लैप्स में तीसरे स्थान पर खिसक गया, लेकिन नौ रेस विजेता लैप्स में दो प्रभावशाली चाल चलकर सीजन की अपनी दूसरी जीत का दावा किया।


11. इंडियन प्रीमियर लीग का 14वां संस्करण निलंबित किया गया

हाल ही में इंडियन प्रीमियर लीग का 14वां संस्करण निलंबित कर दिया गया है। दरअसल पिछले कुछ दिनों में कई टीमों के खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ के सदस्य कोविड-19 से संक्रमित पाए गये थे, जिसके चलते आईपीएल के मौजूदा संस्करण को फिलहाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) : इंडियन प्रीमियर लीग विश्व के सबसे लोकप्रिय खेल इवेंट्स में से एक है। आईपीएल के पहले सीजन की शुरुआत 2008 में हुई थी। इसमें 8 टीमें हिस्सा लेती हैं। मुंबई इंडियन्स ने सबसे ज्यादा 5 पार आईपीएल का खिताब जीता है। आईपीएल में सबसे ज्यादा रन 5878 रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के विराट कोहली के नाम हैं। आईपीएल में लसिथ मलिंगा ने सबसे ज्यादा 170 विकेट लिए हैं।

आईपीएल में हिस्सा लेने वाली टीम्स इस प्रकार हैं : चेन्नई सुपरकिग्स, दिल्ली कैपिटल्स, कोलकाता नाईट राइडर्स, मुंबई इंडियन्स, पंजाब किंग्स, राजस्थान रॉयल्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, सनराइजर्स हैदराबाद।


12. सितार वादक पंडित देवब्रत चौधरी का निधन

सितार वादक पंडित देबू चौधरी (Pandit Debu Chaudhuri) का COVID-19 संक्रमण के कारण निधन हो गया है।

लेजेंड ऑफ़ सितार, संगीत के सेनिया या घराना शैली के थे। उन्हें पद्म भूषण और पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। वह एक शिक्षक और लेखक भी थे और उन्होंने छह किताबें लिखी थीं और कई नए रागों की रचना की थी।


13. ओडिशा ने गोपबंधु सम्बदिका स्वास्थ्य बीमा योजना (Gopabandhu Sambadika Swasthya Bima Yojana) लांच की

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) ने हाल ही में ओडिशा राज्य के कार्यरत पत्रकारों को अग्रिम पंक्ति के COVID-19 योद्धा घोषित किया है। यह घोषणा गोपबंधु सम्बदिका स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत की गई थी। इनके साथ राज्य में 6,500 से अधिक पत्रकारों को लाभ मिलेगा।

गोपबंधु सम्बदिका स्वास्थ्य बीमा योजना (Gopandhu Sambadika Swasthya Bima Yojana) :

  • यह एक स्वास्थ्य बीमा योजना है जो ओडिशा सरकार द्वारा पत्रकारों के लिए शुरू की गई थी।यह योजना राज्य के सभी कार्यरत पत्रकारों को 2 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करती है।

  • इसे 2018 में लॉन्च किया गया था।

  • इस योजना में सरकारी और निजी अस्पतालों में कैशलेस उपचार शामिल है।

  • यह पत्रकारों को उनके कर्तव्यों का पालन करते हुए बीमारी और चोटों को भी कवर करती है।

गोपालबंधु दास (Gopalbandhu Das) :

  • इस योजना का नाम गोपालबंधु दास के नाम पर रखा गया है।वे ओडिशा में एक लोकप्रिय सुधारक, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार, राजनीतिक कार्यकर्ता, निबंधकार और कवि थे।

  • उन्होंने “सत्यवादी” नामक एक पत्रिका शुरू की थी।पत्रकारिता में उनका योगदान उल्लेखनीय था।

अन्य राज्य : कई अन्य राज्यों ने भी पत्रकारों को अग्रिम पंक्ति का कार्यकर्ता घोषित किया है। इसमें मध्य प्रदेश, बिहार, पंजाब, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश शामिल हैं।

महत्व : पत्रकारों को फ्रंटलाइन कार्यकर्ता घोषित करने का महत्व यह है कि उन्हें भारत के COVID-19 टीकाकरण कार्यक्रम के चरण I में टीका लगाया जाएगा। COVID-19 टीकाकरण कार्यक्रम के चरण I के लाभार्थी स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता, फ्रंटलाइन वर्कर और 50 वर्ष से अधिक आयु की लोग हैं। वर्तमान फ्रंटलाइन वर्कर में होमगार्ड, सशस्त्र बल, जेल कर्मचारी, नगरपालिका कार्यकर्ता, नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवक सहित आपदा प्रबंधन स्वयंसेवक हैं।










  • Source of Internet


6 views0 comments

Recent Posts

See All