Search

3rd December | Current Affairs | MB Books


1. सिंगापुर ने ‘लैब निर्मित मांस’ की बिक्री को मंजूरी दी

सिंगापुर पहला ऐस देश बन गया है जिसने लैब प्रोड्यूस मीट की बिक्री को मंजूरी दे दी है । सिंगापुर के इस कदम को ऐतिहासिक करार दिया जा रहा है। अमेरिकी कंपनी सिंगापुर की फूड एजेंसी के सेफ्टी टेस्ट को पास करने के बाद ‘जस्ट ईट’ चिकन बाइट्स का उत्पादन करेगी ।

मुख्य बिंदु

सिंगापुर से मंजूरी मिलने के साथ ही इस कदम से एक ऐसे भविष्य की नींव रक्खी जायेगी जिसमें जानवरों की हत्या किए बिना ही मांस उत्पादन हो सकेगा ।

लैब में बनाए गए मीट में पारंपरिक मीट के तरह ही सारे पोषक तत्व व स्वाद होगा ।

कई दर्जन फर्मो द्वारा कल्टीवेटेड चिकन, बीफ और पोर्क तैयार किया जा रहा हैं ताकि जानवरों की हत्या से जलवायु और पर्यावरण पर पड़ रहे असर को रोका जा सके ।

इस उत्पाद को बनाने के लिए जरूरी एनिमल सेल्स सेल बैंक से ली जाएंगी और इसके लिए किसी जानवर की हत्या करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. ये सेल्स जिंदा जानवरों की बायोप्सीज से ली जा सकेंगी ।

कोशिकाओं को उगाने के लिए जो भी पोषक तत्व इस्तेमाल होंगे, वो पौधों से ही लिए जाएंगे ।

अमेरिकी कंपनी जस्ट ईट इसके उत्पादन के लिए 1200 लीटर के बायोरिएक्टर में एनिमल कोशिकाओं को तैयार करेगी इसके बाद इसमें पौधों से जुड़े इनग्रेडिएंट भी मिलाये जायेंगे।

2. UN महासभा के विशेष सत्र में शामिल होंगे विश्व के 100 नेता

विश्व के कम से कम 100 नेता और अनेक मंत्री 03 दिसंबर 2020 से शुरू हो रहे संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) के कोविड-19 पर विशेष सत्र को संबोधित करेंगे। इसमें वैश्विक महामारी के प्रभाव और वैश्विक स्वास्थ्य संकट से निपटने के लिए जरूरी कदमों पर चर्चा की जाएगी।

इससे विश्वभर में अभी तक 15 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस कोरोना टीकों को वैश्विक जन संपत्ति मानने पर जोर देंगे, ताकि महामारी से निपटने में कारगर कोई भी टीका सभी के लिए सुलभ हो। इस गंभीर कोरोना वायरस ने अब तक 1.5 मिलियन लोगों की जान ले ली है अमीर और गरीब देशों में लाखों लोगों को बेरोजगार कर दिया।

कोविड -19 से लड़ने हेतु युद्धकालीन योजना

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने वैश्विक अर्थव्यवस्था के 80 प्रतिशत के भागीदार दुनिया के सबसे अमीर देशों के 20 नेताओं को मार्च के अंत में एक पत्र भेजा था कि वे कोविड -19 से लड़ने के लिए "युद्धकालीन" योजना बनाएं और कोरोना वायरस को खत्म करने हेतु सहयोग करें।

वैक्सीन डेवलपर्स को एक साथ लाने की जरूरत

जनरल असेंबली के प्रवक्ता ब्रेंडेन वर्मा ने कहा कि इस विशेष बैठक का मुद्दा कोविड-19 की मुसीबत पर बहुपक्षीय और सामूहिक तरीके से अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए ठोस कार्रवाई करना है। उन्होंने कहा कि महामारी के लिए वर्तमान में कई प्रतिक्रियाएं हैं, लेकिन अब सभी देशों, संयुक्त राष्ट्र, निजी क्षेत्र और वैक्सीन डेवलपर्स को एक साथ लाने की जरूरत है।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय के पास स्थिति बेहतर

महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर ने कहा कि यह कोविड-19 को मात देने के लिए हमें एक ऐतिहासिक क्षण प्रदान करेगा। कई टीकों को मंजूरी मिलने की खबरों और विश्व में इससे निपटने के लिए खरबों डॉलर खर्च किए जाने के बीच, अंतरराष्ट्रीय समुदाय के पास स्थिति बेहतर करने का एक अनूठा मौका है।

विश्व नेतृत्व के लिए संयुक्त राष्ट्र की ओर देख रहा है। दो दिवसीय इस विशेष सत्र में 03 दिसंबर को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के भाषण के बाद लगभग 140 से अधिक देशों के नेता तथा मंत्री सत्र को संबोधित करेंगे।

सत्र को संबोधित करने वालों की सूची में

सत्र को संबोधित करने वालों की सूची में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा और यूरोपीय संघ के प्रमुख चार्ल्स माइकल का नाम शामिल है।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी

अमेरिका के स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री एलेक्स एजर इस उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित करेंगे। 04 दिसंबर को ऑनलाइन तीन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला का पहले से रिकॉर्ड किया गया संबोधन चार दिसंबर को इस सत्र में चलाया जाएगा।


3. अमेरिका ने चीन से कपास आयात पर रोक लगाई

अमेरिका ने हाल ही में चीन के शिनजियांग के पश्चिमी क्षेत्र के अर्ध-सैन्य संगठन से होने वाले कपास के आयात पर रोक लगा दी है। ऐसा इसलिय किया गया है क्योंकि इस संगठन पर हिरासत में लिए गए उइघुर मुसलमानों से जबरन श्रम करवाने का आरोप है।

मुख्य बिंदु

यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन (CBP) एजेंसी ने बुधवार को कहा कि “विथहोल्ड रिलीज़ ऑर्डर” चीन के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक शिनजियांग प्रोडक्शन एंड कंस्ट्रक्शन कॉर्प्स (XPCC) के कपास और कपास उत्पादों पर प्रतिबंध लगाएगा।

गौरतलब है कि यह कदम ट्रम्प प्रशासन द्वारा उठाया गया है जो कार्य के अंतिम सप्ताह में है। यह कदम चीन के खिलाफ अमेरिका की स्थिति को सख्त करने के लिए लिया गया है ताकि नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाईडेन के लिए दोनों देशों के बीच तनाव कम करना मुश्किल हो जाए।

पिछले कुछ दिनों में ट्रम्प प्रशासन ने प्रमुख सरकारी चीनी कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई को बढ़ावा दिया है।

चीन पर बाईडेन का रुख

बिडेन ने अमेरिकी सहयोगियों के साथ मिलकर चीन पर मानवाधिकारों और व्यापार के दुरुपयोग को रोकने के लिए दबाव बनाने का काम किया है। हाल के हफ्तों में ट्रम्प ने प्रमुख चीनी राज्य कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई बढ़ा दी है।

उइगर मुसलमान

इस्लाम को मानने वाले उइगर समुदाय के लोग चीन के सबसे बड़े और पश्चिमी क्षेत्र शिंजियांग प्रांत में रहते हैं। इस प्रांत की सीमा मंगोलिया और रूस सहित आठ देशों के साथ मिलती है। तुर्क मूल के उइगर मुसलमानों की इस क्षेत्र में आबादी एक करोड़ से ऊपर है। इस क्षेत्र में उनकी आबादी बहुसंख्यक थी। लेकिन जब से इस क्षेत्र में चीनी समुदाय हान की संख्या बढ़ी है और सेना की तैनाती हुई है तब से यह स्थिति बदल गई है। संयुक्त राष्ट्र ने विश्वसनीय रिपोर्टों में यह कहा है कि चीन में शिविरों में लगभग 1 मिलियन मुसलमानों को काम पर रखा गया है। लेकिन, चीन उइगरों की बदसलूकी से इनकार करता रहा है। चीन के अनुसार ये शिविर व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र हैं जो कि चरमपंथ से लड़ने के लिए ज़रूरी हैं।


4. पश्चिम बंगाल ने बड़े पैमाने पर शुरू किया आपके ‘द्वारे सरकार’ अभियान

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 11 राज्य-कल्याणकारी योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक करने और इसका लाभ उठाने में मदद करने के लिए ‘द्वारे सरकार’ (दरवाजे पर सरकार) नामक एक बड़े अभियान का शुभारंभ किया है।

अप्रैल-मई में होने वाले 2021 राज्य विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए दो महीने लंबे आउटरीच कार्यक्रम की शुरुआत की गई है।

यह अभियान 1 दिसंबर, 2020 से 30 जनवरी, 2020 तक चार चरणों में चलाया जाएगा, जिसमें नारा ‘jar jekhane darkar, asche apnar duare sarkar’ यानि जब आप चाहे तब सरकार आपके दरवाजे पर होगी। 11 योजनाओं के लाभार्थियों को इस उद्देश्य के लिए लगाए गए शिविरों में रखा जाएगा।


5. कर्नाटक मे कचरे से चलने वाले बिजली संयंत्र की आधारशिला रखी गयी

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कचरे से चलने वाले 11.5 मेगावाट की क्षमता के बिजली संयंत्र की आधारशिला रखी । इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 260 करोड़ रुपये की लागत का यह बिजली संयंत्र 2022 तक बन कर तैयार हो जाएगा । इससे बेंगलूरू नगर निगम को 14 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष की बचत होगी । उन्होंने कहा कि

मुख्य बिंदु

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कचरे से चलने वाले 11 दशमलव पांच मेगावाट की क्षमता के बिजली संयंत्र की आधारशिला रखी।

राज्य में यह पहला बिजली संयंत्र होगा जो नगरपालिका के 600 टन कचरे को 11.5 मेगावाट ऊर्जा में परिवर्तित करने में सक्षम होगा।

यह बिजली संयंत्र मौजूदा पावर ग्रिड में 8 करोड 6 लाख यूनिट बिजली का उत्‍पादन करेगा। बेंगलुरु में प्रतिदिन पांच हजार टन कचरा निकलता है।

इससे पर्यावरण और भूजल दूषित होने से बचेंगे ।

नगर निगम शहर के कचरे से खाद का भी उत्पादन कर रहा है।

बेंगलुरु में हर दिन 5000 मैट्रिक टन कूड़ा जमा होता है। बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका और कर्नाटक पावर कॉर्पोरेशन मिलकर कूड़े से बिजली तैयार करने की योजना में शामिल हैं। भारत सरकार स्वच्छ भारत मिशन के तहत 35 प्रतिशत इंसेंटिव देती है। इसके आरंभ होने से नगर पालिका कूड़ा साफ करने के खर्च में हर साल 14 करोड़ रुपये बचा पाएगी। इससे वातावरण प्रदूषित नहीं होगा और साथ ही भूजल भी खराब नहीं होगा।


6. सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने गुरु नानक देव जी की जयंती पर जारी की पुस्तिका

श्री गुरु नानक देव जी की जयंती के अवसर पर ‘पीएम मोदी और सिखों के साथ उनकी सरकार के विशेष संबंध’ नामक एक पुस्तिका का विमोचन किया गया।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अधीन ब्यूरो ऑफ़ आउटरीच कम्युनिकेशन द्वारा इस पुस्तिका को तैयार किया गया है और इसे तीन भाषाओं हिंदी, पंजाबी और अंग्रेजी में जारी किया गया है।

पुस्तिका का विमोचन केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर और केंद्रीय नागरिक उड्डयन और आवास और शहरी मामलों के मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी ने संयुक्त रूप से किया।

मंत्री ने प्रधानमंत्री को व्यक्तिगत रूप से छोटी व्यवस्थाओं की देखरेख करने और व्यक्तिगत रूप से करतारपुर कॉरिडोर के लिए पहला जत्था भेजने का श्रेय दिया।


7. कर्नाटक ने नाबार्ड और एसबीआई ने साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कर्नाटक में नाबार्ड के क्षेत्रीय कार्यालय और भारतीय स्टेट बैंक ने जल संभर विकास और जनजातीय विकास परियोजनाओं के लाभार्थियों को रियायती दरों पर वित्‍तीय सुविधा देने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। नाबार्ड के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक नीरज कुमार वर्मा और भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अभिजीत मजूमदार ने आज बेंगलुरु में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। आज हुए समझौते के अंतर्गत स्‍टेट बैंक को स्वयं सहायता समूहों को डिजिकृत और राज्य भर में ई-शक्ति पोर्टल पर आंकड़े अपलोड करेगा।

मुख्य बिंदु

इसका लक्ष्य कर्नाटक के 28 जिलों में 260 किसान संगठनों के 45 हजार लाभार्थियों की सहायता करना है।

इसमें स्वयंसहायता समूहों और संयुक्त उत्‍तरदायी समूहों के 8 हजार 5 सौ लाभार्थियों को भी शामिल किया जाएगा।

इस वर्ष पहली अक्तूबर को 3 लाख दो हजार 614 स्वयंसहायता समूहों का डिजिकरण किया गया।

कर्नाटक के 29 जिलों में 2 लाख 81 हजार 755 क्रेडिट लिंक शुरू किए गए। ये सभी ई-शक्ति परियोजना से जुड़े हैं।

बैंक की प्रत्येक ग्रामीण और अर्ध-शहरी शाखाएं इसके लिए प्रतिवर्ष वित्तीय सुविधा प्रदान करेंगी।

राष्ट्रीय कृषि व ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड)

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) मुम्बई, महाराष्ट्र अवस्थित भारत का एक शीर्ष बैंक है। इसे “कृषि ऋण से जुड़े क्षेत्रों में, योजना और परिचालन के नीतिगत मामलों में तथा भारत के ग्रामीण अंचल की अन्य आर्थिक गतिविधियों के लिए मान्यता प्रदान की गयी है। नाबार्ड अपने 28 क्षेत्रीय कार्यालय और एक उप कार्यालय, जो सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों की राजधानियों में स्थित हैं, के माध्यम से देश भर में परिचालित है।


8. एआर रहमान होंगे भारत में 'बाफ्टा ब्रेकथ्रू' पहल के एम्बेसडर

ऑस्कर और ग्रैमी विजेता भारतीय संगीतकार एआर रहमान को भारत में बाफ्टा की ब्रेकथ्रू पहल का एम्बेसडर चुना गया है।

वर्ष 2020 में, बाफ्टा भारत में फिल्म, खेल अथवा टेलीविजन में काम करने वाली पांच असाधारण प्रतिभाओं की पहचान करेगा और उनका सहयोग करेगा।

बाफ्टा की ब्रेकथ्रू पहल, यूके, चीन, भारत और अमेरिका के फिल्म, खेल और टेलीविजन उद्योगों में आने वाली नई प्रतिभाओं की मदद करने के लिए अकादमी के साल भर के कार्यक्रम का एक हिस्सा है, जो उन्हें अद्वितीय कैरियर विकास और सलाह के अवसरों तक पहुंच प्रदान करता है।


9. Virat Kohli बने वनडे इतिहास में सबसे तेज़ 12,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज़, तोड़ा सचिन का रिकॉर्ड

भारत के कप्तान विराट कोहली 02 दिसंबर 2020 को वन-डे इंटरनेशनल (वनडे) में सबसे तेज 12,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। विराट कोहली मनूका ओवल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला के तीसरे और अंतिम एकदिवसीय मैच में 23 रन बनाते ही इस मील के पत्थर तक पहुंच गए।

भारतीय कप्तान ने 12,000 एकदिवसीय रन बनाने के लिए 242 पारियां (251 मैच) खेली हैं, जो दिग्गज सचिन तेंदुलकर की तुलना में 58 कम हैं। सचिन को इस रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिए 300 एकदिवसीय पारियों (309 मैचों) खेलनी पड़ी थी।

रिकी पोंटिंग इस सूची में तीसरे स्थान पर

विराट कोहली का एकदिवसीय फॉर्मेट में औसत 60 के करीब है, जो उन्होंने वर्षों में अपना वर्चस्व बनाया है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग इस सूची में तीसरे स्थान पर हैं क्योंकि उन्होंने वनडे में 12,000 रन बनाने के लिए 314 पारियां (323 मैच) ली थीं। उनके बाद कुमार संगकारा (336 पारियां, 359 मैच), सनथ जयसूर्या (379 पारियां, 390 मैच) और महेला जयवर्धने (399 पारियां, 426 मैच) हैं।

विराट कोहली टेस्ट और टी-20: एक नजर में

विराट कोहली ने भारत के लिए 86 टेस्ट और 82 टी-20 मुकाबले भी खेले हैं, जिनमें उन्होंने क्रमशः 7,240 और 2,794 रन रन बनाए हैं। हाल ही में, वह 250 एकदिवसीय प्रदर्शन करने वाले नौवें भारतीय क्रिकेटर बने। उन्होंने अब तक प्रारूपों में 21,000 से अधिक अंतरराष्ट्रीय रन बनाए हैं। कुल मिलाकर, सचिन तेंदुलकर के बाद भारत के लिए सबसे अधिक एकदिवसीय मैच बनाने का रिकॉर्ड कोहली के नाम है।

विराट कोहली: वनडे में

विराट कोहली मौजूदा समय में दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज हैं। विराट कोहली के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे तेजी से 8000 रन (175 पारियों में), 9000 रन (194 पारियों में), 10000 रन (205 पारियों में) और 11000 रन (222 पारियों में) पूरे करने का रिकॉर्ड है और जिसमें सबसे तेज 12000 रन बनाने का रिकॉर्ड भी जुड़ गया है।


10. संदीप कटारिया होंगे बाटा के नए वैश्विक मुख्य कार्यकारी अधिकारी

जूते के प्रमुख संगठन बाटा जूता संगठन ने संदीप कटारिया को अपना नया वैश्विक मुख्य कार्यकारी अधिकारी (Chief Executive Officer) नियुक्त किया है।

वह पहले भारतीय हैं जिन्हें बाटा (हेडक्वार्टर-लुसाने, स्विट्जरलैंड) में वैश्विक भूमिका निभाने के लिए चुना किया गया है।

वे एलेक्सिस नास्र्ड का पदभार संभालेंगे, जिन्होंने लगभग पांच साल बाद पद प् रहने के बाद इस्तीफा दे दिया है।

इससे पहले, कटारिया 2017 से बाटा इंडिया के सीईओ है।

कटारिया की लीडरशिप के अंतर्गत, बाटा इंडिया उम्मीद से भी कम समय के अन्दर भारत में सबसे बड़े फुटवियर रिटेलर में बदलने में कामयाब रहा।


11. MDH के मालिक महाशय धर्मपाल का निधन

मसाला कंपनी MDH के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का गुरुवार सुबह 5.38 मिनट पर निधन हो गया। मसाला किंग के नाम से मशहूर धर्मपाल 98 वर्ष के थे।

महाशय धर्मपाल का आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। भारत सरकार द्वारा पद्मभूषण सम्मान प्राप्त गुलाटी कोरोनावायरस से संक्रमित होने के बाद ठीक हो गए थे।

उन्हें दुनिया का सबसे उम्रदराज ऐड स्टार माना जाता था। वे खुद ही अपने उत्पादों का प्रचार करते थे।

महाशय धर्मपाल की कहानी : महाशय धर्मपाल का जन्म 27 मार्च, 1923 को सियालकोट में हुआ था। 5वीं कक्षा तक पढ़े धर्मपाल ने साल 1937 में, अपने पिता की मदद से व्यापार शुरू किया और उसके बाद साबुन, बढ़ई, कपड़ा, हार्डवेयर, चावल का व्यापार किया।

हालांकि महाशय धर्मपाल गुलाटी लंबे वक्त ये काम नहीं कर सके। इसके बाद उन्होंने अपने पिता की 'महेशियां दी हट्टी' के नाम की दुकान में काम करना शुरू कर दिया। भारत-पाकिस्तान विभाजन के बाद 27 सितंबर 1947 को वे दिल्ली आ गए और तब उनके पास केवल 1500 रुपए थे।

इन पैसों से उन्होंने 650 रुपए में एक तांगा खरीदा और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से कुतुब रोड के बीच तांगा चलाया। कुछ दिनों बाद उन्होंने तांगा भाई को दे दिया और करोलबाग की अजमल खां रोड पर ही एक छोटा सी दुकान लगाकर मसाले बेचना शुरू किया। मसाले का कारोबार चल निकला और एमडीएच ब्रांड की नींव पड़ गई। इसका प्रचार भी उन्होंन खुद किया और कड़ी मेहनत से 2000 करोड़ का साम्राज्य खड़ा कर दिया।


12. OECD ने वित्त वर्ष 2020-21 में भारत की जीडीपी -9.9% रहने का जताया अनुमान

ऑर्गनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवलपमेंट (OECD) ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए जारी किए भारत के सकल घरेलू उत्पाद के अपने पूर्वानुमान में मामूली संशोधन कर 9.9% नेगेटिव रहने की संभावना जताई है, जो सितंबर 2020 में (-) 10.2% आँका गया था।

हालंकि OECD ने उम्मीद जताई है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की जीडीपी उभरकर 8% और 2022-23 में 5% की दर से वृद्धि करेगी।

वैश्विक अर्थव्यवस्था के संदर्भ में, OECD को उम्मीद है कि 2020 में दुनिया की जीडीपी 4.2% नेगेटिव रहेगी।

सितंबर के पूर्वानुमान में यह अनुमान (-) 4.5 प्रतिशत था।

इसके अलावा ओईसीडी ने 2021 में विश्व अर्थव्यवस्था के 5 प्रतिशत के पहले के पूर्वानुमान के स्थान पर 4.2 प्रतिशत की दर से बढ़ने का भी अनुमान जताया है।

साथ ही 2022 के लिए ग्लोबल जीडीपी 3.7% आंकी गई है।


13. Reliance Industries फॉर्च्यून 500 भारतीय कंपनियों की सूची में शीर्ष पर

फॉर्च्यून 500 भारतीय कंपनियों की सूची में दिग्गज उद्योगपति मुकेश अंबानी के अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. (आरआईएल) शीर्ष पर पहुंच गई है। फॉर्च्यून इंडिया ने बुधवार को कहा कि भारत की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन दूसरे स्थान पर रही। उसके बाद ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन (ओएनजीसी) का स्थान है। सूची में देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई (भारतीय स्टेट बैंक) चौथे स्थान पर रहा है, जबकि दूसरी सबसे बड़ी खुदरा ईंधन कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (बीपीसीएल) पांचवें स्थान पर रही है। सूची का प्रकाशन फॉर्च्यून इंडिया ने किया है, जो कोलकाता स्थित आरपी संजीव गोयनका समूह का हिस्सा है। सूची में टाटा मोटर्स छठे तथा स्वर्ण प्रसंस्करण से जुड़ी राजेश एक्सपोर्ट सातवें स्थान पर रही है। देश की सबसे बड़ी आईटी सेवा कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज आठवें तथा आईसीआईसीआई बैंक नौवें एवं लार्सन एंड टूब्रो 10वें पायदान पर रहा है। अगस्त में जारी वैश्विक रैंकिंग में आरआईएल दुनिया की शीर्ष 100 कंपनियों में शामिल थी। वैश्विक सूची में आईओसी पिछले साल के मुकाबले 34 स्थान लुढ़ककर 151वें, जबकि ओएनजीसी 30 स्थान नीचे आकर 190वें स्थान पर थी।


14. RBI ने HDFC बैंक को डिजिटल गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने से रोका

निजी क्षेत्र के HDFC बैंक ने गुरुवार को कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने उससे अपनी आगामी डिजिटल कारोबार गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने को अस्थायी रूप से रोकने के लिए कहा है। केंद्रीय बैंक ने HDFC के डेटा सेंटर में पिछले महीने कामकाज प्रभावित होने के चलते यह आदेश दिया। HDFC ने शेयर बाजार को बताया, ‘‘आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड को दो दिसंबर 2020 को एक आदेश जारी किया है, जो पिछले दो वर्षों में बैंक के इंटरनेट बैंकिंग/ मोबाइल बैंकिंग/ पेमेंट बैंकिंग में हुई परेशानियों के संबंध में है, जिसमें हाल में 21 नवंबर 2020 को प्राइमरी डेटा सेंटर में बिजली बंद हो जाने के चलते बैंक की इंटरनेट बैंकिंग और भुगतान प्रणाली का बंद होना शामिल हैं।''

HDFC बैंक ने कहा कि आरबीआई ने आदेश में ‘‘बैंक को सलाह दी है कि वह अपने कार्यक्रम डिजिटल 2.0 और अन्य प्रस्तावित आईटी अनुप्रयोगों के तहत आगामी डिजिटल व्यापार विकास गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड ग्राहकों की सोर्सिंग को रोक दे'' HDFC बैंक ने कहा कि इसके साथ ही बैंक के निदेशक मंडल से कहा गया है कि वे कमियों की जांच करें और जवाबदेही तय करें

HDFC बैंक ने कहा कि पिछले दो वर्षों में उसने अपने आईटी सिस्टम को मजबूत करने के लिए कई उपाय किए हैं और शेष काम को तेजी से पूरा करेगी बैंक ने कहा है कि वह डिजिटल बैंकिंग चैनलों में हालिया परेशानियों को दूर करने के लिए ठोस कदम उठा रहा है और उम्मीद जताई कि उसके मौजूदा क्रेडिट कार्ड, डिजिटल बैंकिंग चैनलों और मौजूदा परिचालन पर ताजा नियामकीय फैसले का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा बैंक का मानना ​​है कि इन उपायों से उसके समग्र व्यवसाय पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा


10 views0 comments

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved