Search

3rd April | Current Affairs | MB Books


1. तेलंगाना में स्थापित किया जाएगा भारत का सबसे बड़ा तैरता हुआ सौर ऊर्जा प्लांट

तेलंगाना के रामागुंडम (Ramagundam) में 100 मेगावाट की क्षमता वाला भारत का सबसे बड़ा तैरता हुआ सौर ऊर्जा संयंत्र (India’s biggest floating solar power plant) स्थापित किया जाएगा।

मुख्य बिंदु : इसके मई में शुरू होने की उम्मीद है, रामागुंडम थर्मल पावर प्लांट जलाशय में स्थापित किया जा रहा है। यह सौर परियोजना राष्ट्रीय थर्मल पावर कॉरपोरेशन (NTPC) द्वारा कमीशन की जाएगी। लगभग 423 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना में 4.5 लाख फोटोवोल्टिक पैनल होंगे।

यह सौर पैनल जलाशय के 450 एकड़ क्षेत्र को कवर करेंगे और भविष्य में इसका विस्तार किया जा सकता है। एनटीपीसी की फ्लोटिंग सौर ऊर्जा परियोजनाओं को स्थापित करने का उद्देश्य कार्बन फुटप्रिंट्स को कम करना है और इसकी क्षमता के 30 प्रतिशत तक हरित ऊर्जा उत्पादन में तेजी लाना है।

600 मेगावाट क्षमता वाला दुनिया का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा संयंत्र (World’s Largest Solar Power Plant) मध्य प्रदेश में नर्मदा नदी पर ओंकारेश्वर बांध (Omkareshwar Dam) पर स्थापित किया जा रहा है। 3,000 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना के 2022-23 तक बिजली उत्पादन शुरू करने की उम्मीद है।


2. उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद नगर निगम बीएसई में सूचीबद्ध

गाजियाबाद नगर निगम (Ghaziabad Nagar Nigam) ने खुद को BSE में सूचीबद्ध किया और BSE BOND का उपयोग करके निजी प्लेसमेंट बेसिस पर नगर निगम बांड जारी करके सफलतापूर्वक 150 करोड़ रुपये जुटाए। यह देश में किसी भी नगर निगम द्वारा जारी किया गया पहला ग्रीन बॉन्ड है। ​

धन का उपयोग गाजियाबाद के इंदिरापुरम में तृतीयक सीवेज उपचार संयंत्र के निर्माण के लिए किया जाएगा। धन का उपयोग आंशिक रूप से परियोजना को निधि देने के लिए किया जाएगा, जिसकी कीमत 240 करोड़ रुपये है। यह ट्रीटमेंट प्लांट सीवेज के पानी को उपचार के बाद उद्योगों के लिए उपयोग करने में सक्षम करेगा।

गाजियाबाद नगर निगम उत्तर प्रदेश राज्य में धन जुटाने वाला दूसरा नगर निगम है। इससे पहले, लखनऊ नगर निगम को BSE में सूचीबद्ध किया गया था।


3. TRIFED ने लांच की ‘Be the Brand Ambassador of Tribes India’ प्रतियोगिता

ट्राइबल कोऑपरेटिव मार्केटिंग डेवलपमेंट फेडरेशन लिमिटेड (Tribal Cooperative Marketing Development Federation Ltd – TRIFED) ने MyGov.in के सहयोग से ‘Be the Brand Ambassador of Tribes India’ और ‘Be a friend of TRIBES INDIA’ नामक दो प्रतियोगिताओं की शुरुआत की है।

मुख्य बिंदु : इन प्रतियोगिताओं को आदिवासी शिल्प, संस्कृति और जीवन शैली को बढ़ावा देने के एकमात्र उद्देश्य के साथ लॉन्च किया गया है। इन नवीन प्रतियोगिताओं के माध्यम से जनजातीय विरासत, कला, शिल्प के बारे में जागरूकता को आम जनता के बीच बढ़ाया जा सकता है। जनजातीय विरासत के बारे में अधिक जानकारी और जागरूकता के साथ, यह आशा की जाती है कि नागरिक अधिक जनजातीय उत्पादों को खरीदकर समग्र आदिवासी सशक्तिकरण में भी योगदान देंगे।

‘Be the Brand Ambassador of Tribes India’ देश भर के ग्राहकों से किसी भी आदिवासी उत्पादों की विशेषता वाली कहानियों को आमंत्रित कर रहा है। कहानियों में उत्पाद का उपयोग करने में अपने अनुभव को उजागर करना चाहिए और उत्पाद का विवरण और उस की जानकारी प्रदान करनी चाहिए जहां से इसे खरीदा गया था। यह कहानियाँ 30 सेकंड से 5 मिनट तक के शार्ट वीडियो के रूप में हों। प्रतिभागियों को YouTube पर अपलोड किए गए वीडियो के लिंक के रूप में अपनी कहानियों को साझा करना होगा। यह प्रतियोगिता 14 मई तक होगी। अधिक विवरण https://www.mygov.in/task/be-brand-ambassador-tribes-india-2021 पर प्राप्त किया जा सकता है।

TRIFED ने ‘Be A Friend of Tribes India’ नामक क्विज लॉन्च किया है। यह 14 मई तक चलेगा। यह क्विज़ यहां लिया जा सकता है : https://quiz.mygov.in/quiz/be-a-friend-of-tribes-india/

TRIFED का उद्देश्य : TRIFED की स्थापना छोटे-मोटे वन उत्पादों (Minor Forest Products) के व्यापार को संस्थागत बनाने के उद्देश्य से की गई थी। इसका उद्देश्य भारत में आदिवासियों द्वारा उत्पादित अधिशेष कृषि उत्पादों के लिए उचित मूल्य प्रदान करना है। यह आदिवासियों को बिचौलियों से बचाता है। आदिवासी कला और शिल्प का समर्थन करने के लिए, यह ‘आदि महोत्सव’ का आयोजन करता है।


4. मुखमीत एस. भाटिया बने ESIC के महानिदेशक

वरिष्ठ IAS अधिकारी, मुखमीत एस. भाटिया (Mukhmeet S. Bhatia) ने 04 अप्रैल, 2021 को कर्मचारी राज्य बीमा निगम (Employees’ State Insurance Corporation-ESIC) के महानिदेशक का पदभार संभाला। वह 1990 के झारखंड कैडर के IAS अधिकारी हैं।

इससे पहले, वह वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग में अतिरिक्त सचिव के रूप में काम कर चुके हैं। IAS श्रम और रोजगार मंत्रालय के तहत एक वैधानिक और स्वायत्त निकाय है।


5. सुभाष कुमार ने ONGC के CMD के रूप में अतिरिक्त प्रभार ग्रहण किया

ONGC के वित्त निदेशक सुभाष कुमार (Subhash Kumar) ने 31 मार्च को शशि शंकर की सेवानिवृत्ति के बाद अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के पद का अतिरिक्त प्रभार संभाला है। सुभाष कुमार 36 साल से इस उद्योग के साथ जुड़े हुए हैं। वह 1985 में वित्त और लेखा अधिकारी के रूप में ओएनजीसी में शामिल हुए थे।

मुख्य बिंदु : ONGC Videsh के साथ अपने कार्यकाल के दौरान, सुभाष कुमार कंपनी के विस्तार और अधिग्रहण से जुड़े हुए थे। उन्होंने कई विदेशी संपत्तियों के मूल्यांकन और अधिग्रहण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 2017 में, कुमार ने वित्त के निदेशक के रूप में पेट्रोनेट एलएनजी के साथ एक संक्षिप्त कार्यकाल के लिए काम किया। वह इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया में एक फेलो सदस्य हैं। वह चंडीगढ़ में पंजाब विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र हैं, जहां से उन्होंने स्वर्ण पदक के साथ वाणिज्य में स्नातक और मास्टर डिग्री प्राप्त की थी।


6. पेटीएम मनी ने पुणे में खोला नया R&D सेंटर

ऑनलाइन निवेश प्लेटफॉर्म पेटीएम मनी ने पुणे, महाराष्ट्र में एक नई R&D सुविधा स्थापित की है, जो विशेष रूप से इक्विटी, म्यूचुअल फंड और डिजिटल गोल्ड के क्षेत्र में उत्पाद नवाचार को चलाएगी।

कंपनी ने कहा कि वह नए धन उत्पादों और सेवाओं के निर्माण के लिए 250 से अधिक इंजीनियरों और डेटा वैज्ञानिकों को नियुक्त करने की योजना बना रही है।

पेटीएम मनी का लक्ष्य छोटे शहरों और कस्बों से आने वाले अधिकांश उपयोगकर्ताओं के साथ, FY21 में 10 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता और 75 मिलियन वार्षिक लेनदेन प्राप्त करना है।


7. भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.986 बिलियन डॉलर की कमी के साथ 579.285 अरब डॉलर पर पहुंचा

26 मार्च, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.986 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 279.285 अरब डॉलर पर पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

विदेशी मुद्रा भंडार : इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

26 मार्च, 2021 को विदेशी मुद्रा भंडार :

विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $537.953 बिलियन गोल्ड रिजर्व: $34.907 बिलियन आईएमएफ के साथ एसडीआर: $1.49 बिलियन आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $4.935 बिलियन


8. UNESCAP: 2021-22 में भारत की आर्थिक विकास दर 7%

एशिया और प्रशांत के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग (United Nations Economic and Social Commission for Asia and the Pacific – UNESCAP) ने नवीनतम अपडेट में कहा कि, सामान्य व्यावसायिक गतिविधि पर महामारी का प्रभाव के कारण पिछले वित्त वर्ष में 7.7% के संकुचन के बाद 2021-22 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 7% रिकॉर्ड करने का अनुमान है। यह भी उल्लेख किया गया है कि गैर-निष्पादित ऋणों को देखते हुए कम उधार लागत को बनाए रखना एक चुनौती होगी।


9. फेसबुक और गूगल समुद्र के नीचे बनाएंगे 'इको' और 'बिफ्रोस्ट' नामक नए केबल

फेसबुक (Facebook) और गूगल (Google) अमेरिका से सिंगापुर और इंडोनेशिया के लिए नए सबसी केबल बनाने की योजना बना रहे हैं।

फेसबुक ने दो नए सबसी केबल इको (Echo) और बिफ्रोस्ट (Bifrost) के निर्माण के लिए प्रमुख क्षेत्रीय और वैश्विक भागीदारों के साथ साझेदारी की है, जो एशिया-प्रशांत क्षेत्र और उत्तरी अमेरिका के बीच महत्वपूर्ण नए कनेक्शन प्रदान करेंगे।

जबकि गूगल केवल इको में निवेश कर रहा है। इन केबलों से कुल ट्रांस्पेसिफिक क्षमता में 70 प्रतिशत की वृद्धि होगी।

ये परियोजनाएँ अभी भी विनियामक अनुमोदन के अधीन हैं, पूरी होने पर, इन केबलों से बहुत अधिक इंटरनेट क्षमता, अतिरेक और विश्वसनीयता प्रदान करने की उम्मीद की जा रही है। घोषणाएं ऐसे समय में हुई हैं जब कोविड -19 महामारी ने विश्वसनीय इंटरनेट पहुंच की आवश्यकता को बढ़ा दिया है।


10. ताशकंद में किया जायेगा 2023 AIBA Men’s World Boxing Championship का आयोजन

अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (AIBA) के अध्यक्ष उमर क्रेमलेव (Umar Kremlev) ने उज्बेकिस्तान की अपनी यात्रा के दौरान आधिकारिक तौर पर घोषणा की कि 2023 AIBA Men’s World Boxing Championship का आयोजन का आयोजन ताशकंद में किया जायेगा।

AIBA (Association Internationale de Boxe Amateur) :

अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ AIBA की स्थापना 1946 में की गयी थी। वर्तमान में उमर क्रेमलेव AIBA के अध्यक्ष हैं। यह संगठन अमेचर बॉक्सिंग मैचों को स्वीकृति देता है। इसका मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड के लौसेन में स्थित है।

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) : यह भारत में मुक्केबाजी की राष्ट्रीय गवर्निंग बॉडी है और यह AIBA की सदस्य भी है। यह देश में मुक्केबाजी के प्रशासन और खेल के आयोजन और विकास के लिए ज़िम्मेदार है।


11. तीन राफेल फाइटर जेट्स की चौथी खेप पहुंची भारत

इंडियन एयरफोर्स (IAF) की स्ट्राइक क्षमता को और बढ़ाने के लिए इस्ट्रेस एयर बेस फ्रांस (Istres Air Base France) से नॉन-स्टॉप उड़ान भरने के बाद तीन राफेल फाइटर जेट्स की चौथी खेप भारत पहुंच चुकी है। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वायु सेना के टैंकरों द्वारा बीच हवा में राफेल लड़ाकू जेट विमानों में ईंधन भरने की सुविधा प्रदान की गई थी।

भारत के लिए फ्रांस से उड़ान भरने वाले तीन राफेल लड़ाकू विमान जामनगर एयरबेस पर उतरने वाले थे। हैमर मिसाइलों से लैस विमानों ने बालाकोट की तरह हवाई हमले की क्षमता को बढ़ाया है।


12. श्रीनगर में शुरू हुआ 5-दिवसीय ट्यूलिप फेस्टिवल

3 अप्रैल, 2021 को जम्मू और कश्मीर के श्रीनगर में 5-दिवसीय ट्यूलिप फेस्टिवल शुरू हुआ, यह फेस्टिवल 5 दिन तक चलेगा। गौरतलब है कि एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन 25 मार्च, 2021 से आम जनता और पर्यटकों के लिए खोला गया था।

मुख्य बिंदु : यह ट्यूलिप गार्डन रंगों का एक स्पेक्ट्रम है जिसमें लाखों ट्यूलिप हैं। श्रीनगर शहर में डल झील के किनारे ज़बरवान हिल्स की गोद में यह फूल खिले हुए हैं। इस बगीचे में आजकल 64 किस्मों से अधिक के लगभग 15 लाख फूल पूरी तरह से खिल रहे हैं।

इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्यूलिप गार्डन (Indira Gandhi Memorial Tulip Garden) :

बगीचे को पहले मॉडल फ्लोरिकल्चर सेंटर (Model Floriculture Center) के रूप में जाना जाता था। यह 74 एकड़ के क्षेत्र में फैला एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन है। यह श्रीनगर की डल झील में ज़बरवान रेंज की तलहटी में स्थित है। इस ट्यूलिप गार्डन का उद्घाटन 2007 में कश्मीर घाटी में फूलों की खेती और पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किया गया था। इसमें फूलों की कई प्रजातियां जैसे डैफोडिल्स, हाइसिंथ, और रेनकुंकल इत्यादि हैं।





  • Source of Internet

5 views0 comments