Search

31st August | Current Affairs | MB Books


1. भारत द्वारा महिला शांति सैनिकों पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का सह-प्रायोजन

इस 28 अगस्त, 2020 को संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने यह घोषणा की है कि, उसने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को सह-प्रायोजित करने का फैसला किया है जो शांति अभियानों में महिला कर्मियों की पूर्ण, प्रभावी और सार्थक भागीदारी के लिए आह्वान करता है।

इस मिशन ने अपने सह-प्रायोजन के बारे में सूचित करते हुए यह कहा कि, भारत उस संकल्प के सह-प्रायोजन पर गर्वित है जिसे इंडोनेशिया द्वारा आगे रखा गया था। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपने 2019-20 के कार्यकाल के दौरान शांति व्यवस्था कायम रखना इंडोनेशिया की प्राथमिकता रही है।

संयुक्त राष्ट्र परिषद में अपने कार्यकाल के दौरान इंडोनेशिया का शांति स्थापना मिशन

जब इंडोनेशिया ने वर्ष 2019 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता की, तो ‘द वुमन इन पीसकीपिंग’ के संकल्प को इसके द्वारा शुरू किया गया था और 28 अगस्त, 2020 को सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष (इंडोनेशिया) से ड्राफ्ट रेज़ोल्यूशन पर मतदान के परिणाम की घोषणा करने की उम्मीद की जा रही थी।

सूत्रों के अनुसार, यह प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया है, लेकिन इसका परिणाम बाद में घोषित किया जाएगा।

वर्ष 2021 में अपने कार्यकाल के दौरान भारत की योजना

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने सूचित किया है कि, सुरक्षा परिषद में वर्ष 2021 से शुरू होने वाले अपने कार्यकाल के दौरान भारत ने अपने लिए जो प्राथमिकतायें तय की हैं, उनमें से एक प्राथमिकता यह है कि, देश द्वारा सभी क्षेत्रों में महिलाओं की बढ़ती हुई भागीदारी पर जोर दिया जाएगा।

भारत संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में सबसे बड़े सैन्य योगदान कर्ताओं में से एक रहा है।

महिला शांति सैनिकों का समर्थन करने का भारत का इतिहास

• भारत की पृष्ठभूमि दुनिया भर के विभिन्न देशों में महिला शांति सैनिकों को तैनात करने की लंबी परंपरा प्रदर्शित करती है। अनेक वर्ष पहले की अगर हम बात करें तो वर्ष 1960 के शुरू में, भारत ने सशस्त्र बलों की चिकित्सा सेवाओं में महिलाओं को संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन में सेवा करने के लिए कांगो गणराज्य में भेजा था।

• वर्ष 2007 में, भारत ऑल-वुमेन फॉर्मेड पुलिस यूनिट को लाइबेरिया भेजने वाला पहला देश बन गया था। लाइबेरिया के तत्कालीन राष्ट्रपति और संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव, बान की मून ने भी उन्हें रोल मॉडल के तौर पर सम्मानित किया था।

• इसके अलावा वर्ष 2020 में, मेजर सुमन गवानी ने UN मिलिट्री जेंडर एडवोकेट अवार्ड जीता था। वे दक्षिण सूडान (UNIMSS) में संयुक्त राष्ट्र के एक मिशन में तैनात थी।

2. ड्वेन ब्रावो ने रचा इतिहास, टी-20 में 500 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बने

वेस्टइंडीज के आलराउंडर और दुनिया की विभिन्न टी-20 लीग में खेलने वाले ड्वेन ब्रावो क्रिकेट के इस सबसे छोटे प्रारूप में 500 विकेट हासिल करने वाले पहले गेंदबाज बन गये हैं। टी-20 क्रिकेट में ब्रावो से पहले कोई भी गेंदबाज 500 विकेट नहीं ले सका है। बता दें कि ब्रावो ने अपने 459वें मैच में ये कमाल किया।

ड्वेन ब्रावो ने कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) 2020 में सेंट लूसिया जॉक्स के खिलाफ मैच में यह उपलब्धि अपने नाम की। हमवतन रोस्टन चेज उनका 500वां टी-20 शिकार बने. सीपीएल में ब्रावो ट्रिनबागो नाइटराइडर्स का हिस्सा हैं। यही नहीं उन्होंने कैरेबियन प्रीमियर लीग में भी अपने 100 विकेट पूरे कर लिए हैं। वे यह उपलब्धि हासिल करने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं।

टी-20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट: एक नजर में

टी-20 क्रिकेट में ब्रावो से पहले कोई भी गेंदबाज 500 विकेट नहीं ले सका है। टी-20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा है, जिन्होंने 390 विकेट लिए हैं. कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में त्रिनबागो नाइटराइडर्स की ओर से खेल रहे ब्रावो ने सेंट लूसिया जोक्स के खिलाफ मैच के दौरान यह कारनामा किया।

तीसरे नंबर पर वेस्टइंडीज के ही सुनील नरेन हैं। सुनील नरेन अब तक 339 मैचों में 383 विकेट ले चुके हैं। चौथे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका के इमरान ताहिर हैं। इमरान ताहिर ने 295 मैचों में 374 टी-20 विकेट लिए हैं। पांचवें नंबर पर पाकिस्तान के सोहेल तनवीर हैं। सोहेल तनवीर ने अब तक 339 मैचों में 356 विकेट लिए हैं।

भारत की तरफ से सबसे ज्यादा टी-20 विकेट अमित मिश्रा ने झटके हैं। अमित मिश्रा ने 229 मैचों में 253 विकेट लिए हैं। अमित मैच में 2 बार 5-5 और 4 बार 4-4 विकेट ले चुके हैं। वे सबसे ज्यादा टी20 विकेट लेने वालों की सूची में 20वें नंबर पर हैं।

ब्रावो 459 टी-20 मैच खेल चुके है

ब्रावो 2006 से टी-20 मैच खेल रहे हैं। वे अब तक 459 मैच खेल चुके हैं। वे करियर में 2 बार 5 और 9 बार 4-4 विकेट भी ले चुके हैं। ड्वेन ब्रावो ने 500 टी-20 विकेट क्वींस पार्क ओवल में ही पूरे किए। यह वही मैदान है जहां वेस्टइंडीज के महान तेज गेंदबाज कर्टनी वॉल्श ने टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहले 500 विकेट लेने की उपलब्धि अपने नाम की थी।

ब्रावो ने अपने टी-20 करियर में सबसे ज्यादा बार कीरोन पोलार्ड को आउट किये है। वे पोलार्ड को अब तक 9 बार आउट कर चुके हैं। ब्रावो अब तक 21 टीमों से खेल चुके हैं। उन्होंने 400 से ज्यादा खिलाड़ियों के साथ टी-20 क्रिकेट खेला है। उन्होंने इस दौरान 312 बल्लेबाजों को आउट किया है।

3. अरूणाचल प्रदेश विधानसभा ने प्रदेश को संविधान की छठी अनुसूची के अधीन लाने से संबंधित प्रस्ताव पारित किया

अरूणाचल प्रदेश विधानसभा ने हाल ही में प्रदेश को संविधान की छठी अनुसूची के अधीन लाने से संबंधित प्रस्ताव पारित किया है। अरूणाचल प्रदेश विधानसभा ने राज्य के जनजातीय समुदाय की पहचान बचाए रखने के लिए संविधान की छठी अनुसूची में जरूरी संशोधन करने से संबंधित एक प्रस्ताव पारित किया है।

संसदीय कार्य मंत्री बमांग फेलिक्स द्वारा सदन में रखे गए प्रस्ताव पर चर्चा के बाद इसे ध्वनि मत से पारित कर दिया गया। अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जो प्रस्ताव रखा है वह ऐतिहासिक है।

मुख्य बिंदु

• संविधान की छठी अनुसूची चार पूर्वोत्तर राज्यों-असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिज़ोरम के जनजाति क्षेत्रों के प्रशासन के संबंध में अनुच्छेद 244 के अनुरूप व्यवहार करती है।

• राज्यपाल को ज़िले के क्षेत्रों को बढ़ाने या घटाने अथवा स्वायत्त ज़िलों के नाम में परिवर्तन कर सकने की शक्ति प्राप्त है।

• यद्यपि संघ कार्यकारी का शक्तियाँ पाँचवीं अनुसूची में शामिल क्षेत्रों के प्रशासन तक विस्तारित हैं, लेकिन छठी अनुसूची में शामिल क्षेत्र राज्य के कार्यकारी प्राधिकार के अंतर्गत आते हैं।

• प्रस्ताव में कहा गया कि विधानसभा संकल्प लेती है कि मूल निवासियों के जनजातीय अधिकारों की रक्षा के लिए अरुणाचल प्रदेश को संविधान की छठी अनुसूची में शामिल किया जाएगा।

संविधान की 6वीं अनुसूची क्या है?

संविधान की छठी अनुसूची असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा के आदिवासी क्षेत्रों के लिए अलग व्यवस्था करती है। अनुच्छेद 244A को 22वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम, 1969 के माध्यम से संविधान में जोड़ा गया था। यह संसद को असम के कुछ आदिवासी क्षेत्रों और स्थानीय विधानमंडल या मंत्रिपरिषद या दोनों हेतु एक स्वायत्त राज्य स्थापित करने का अधिकार देता है। इसे सबसे पहले 1949 में संविधान सभा द्वारा पारित किया गया था। यह जनजातीय आबादी के अधिकारों की रक्षा के लिए स्वायत्त जिला परिषदों (ADCs) को अधिनियमित करने की शक्ति प्रदान करता है।

6वीं अनुसूची के लाभ क्या है?

छठी अनुसूची उस क्षेत्र की भूमि पर मूल निवासियों के विशेषाधिकार की रक्षा करती है। छठी अनुसूची आदिवासी समुदायों को काफी स्वायत्तता प्रदान करती है। जिला परिषद और क्षेत्रीय परिषद को कानून बनाने की वास्तविक शक्ति प्राप्त है। ये निकाय क्षेत्र में विकास, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा, सड़कों और नियामक शक्तियों के लिए योजनाओं की लागत को पूरा करने के लिए भारत की संचित निधि से धन को मंजूरी प्रदान कर सकते हैं।

4. भारतीय किसानों और UAE फूड इंडस्ट्री के बीच अंतर को कम करने को ई-मार्केट प्लेटफॉर्म की शुरुआत

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने हाल ही में एग्रीयोटा नामक एक नई तकनीक आधारित कृषि जिंस कारोबार और ई-मार्केट प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है। इससे भारत के लाखों ग्रामीण किसानों और यूएई के फूड इंडस्ट्री के बीच अंतर को कम किया जा सकेगा।

दुबई के मुक्त क्षेत्र दुबई मल्टी कमोडिटीज सेंटर (डीएमसीसी) और जिंस व्यापार और उद्यम पर सरकार के प्राधिकरण द्वारा इस हफ्ते शुरू की गई इस पहल के तहत लाखों भारतीय किसानों को यूएई के पूरे फूड इंडस्ट्री से सीधे जुड़ने का मौका मिलेगा। इसमें खाद्य प्रसंस्करण कंपनियां, कारोबारी और थोक विक्रेता भी शामिल हैं।

फायदा

एग्रीयोटा ई-मार्केटप्लेस के जरिए किसान बिचौलियों को दरकिनार करते हुए आपूर्ति श्रृंखला का अधिकतम उपयोग कर सकेंगे। इससे सभी हितधारकों को फायदा होगा। इस ऑनलाइन मार्केटप्लेस में पूरी पारदर्शिता होगी और पैसों के सुरक्षित लेनदेन की गारंटी मिलेगी।

स्थानीय समुदाय को सशक्त बनाना

बाजार में स्थानीय समुदायों को सशक्त बनाने, बेहतर गुणवत्ता वाले कृषि-से-शेल्फ उत्पादों को वितरित करने और यूएई के दीर्घकालिक खाद्य सुरक्षा का विस्तार करने की क्षमता है। मंच खाद्य सुरक्षा और चैंपियन कृषि व्यवसाय सुविधा को सुनिश्चित करने के लिए यूएई की व्यापक योजना का एक हिस्सा है।

भारत के लाखों किसानों को फायदा

डीएमसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष और सीईओ अहमद बिन सुलयेम ने कहा कि मंच से भारत के लाखों किसानों को फायदा होगा और साथ ही संयुक्त अरब अमीरात को खाद्य सुरक्षा मिलेगी। उन्होंने कहा कि एग्रीयोटा जैसी पहल के जरिए यूएई को वैश्विक खाद्य सुरक्षा सूचकांक में अग्रणी स्थान पाने में मदद मिलेगी। शुरुआत में इस मंच के जरिए अनाज, दलहन, तिलहन, फल, सब्जियां और मसालों की पेशकश की जाएगी।

पृष्ठभूमि

भारत ने साल 2019 में 38 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों का निर्यात किया था। 26 अगस्त 2020 को एग्रीयोटा प्लेटफॉर्म को औपचारिक रूप से लॉन्च किया गया था।

5. भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों पर लगाम लगाने की तैयारी में मोदी सरकार, बनाई यह योजना

मोदी सरकार ने केंद्र सरकार के उन सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के काम की समीक्षा करने का निर्देश दिया है, जो सरकारी सेवा में 30 साल से ज्यादा काम कर चुके हैं। कार्मिक मंत्रालय के मुताबिक यह एक सतत प्रक्रिया जिसे फिर से अमल में लाने को कहा गया है।

कार्मिक मंत्रालय ने 28 अगस्त को अभी मंत्रालयों और विभागों को एक सर्कुलर जारी किया है। सर्कुलर में सरकार के उस नियम का हवाला दिया गया है जिसमें लोकहित में सरकार किसी कर्मचारी को समय से पहले रिटायर कर सकती है। रिटायर करने का आधार अक्षमता और भ्रष्ट आचरण को बनाया गया है।

सर्कुलर में ऐसे सभी कर्मचारियों के काम की समीक्षा करने का निर्देश दिया गया है, जो सरकारी सेवा में अपने 30 साल पूरे कर चुके हैं।

इसके अतिरिक्त उन सरकारी कर्मचारियों के सेवा रिकॉर्ड की भी समीक्षा करने का निर्देश दिया गया है जिनकी उम्र 55 वर्ष या उससे ज़्यादा हो चुकी है। लोकसभा में दिए गए एक प्रश्न के जवाब में कार्मिक राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा था कि यह एक लगातार चलने वाली प्रक्रिया है।

6. सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण पर लगाया 1 रुपए का जुर्माना, नहीं भरा तो 3 महीने की जेल, 3 साल के लिए प्रैक्टिस पर रोक

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) के खिलाफ कोर्ट की अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)ने आज अपना फैसला सुना दिया है। न्यायपालिका के खिलाफ अपने 2 ट्वीट को लेकर न्यायालय की अवमानना के दोषी ठहराए गए वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण पर 1 रुपए का आर्थिक जुर्माना लगाया गया। अवमानना मामले में फैसला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर प्रशांत भूषण 1 रुपए का जुर्माना नहीं भरते हैं तो इस स्थिति में उन्हें 3 महीने की जेल हो सकती है या फिर 3 साल तक वकालत करने से रोक दिया जाएगा। कोर्ट ने 15 सितंबर तक यह जुर्माना जमा करने को कहा है।

मामला वर्तमान और पूर्व चीफ जस्टिस के बारे में भूषण के विवादित ट्वीट का है। 14 अगस्त को कोर्ट ने इन ट्वीट पर प्रशांत भूषण के स्पष्टीकरण को अस्वीकार करते हुए उन्हें अवमानना का दोषी करार दिया था। उन्हें बिना शर्त माफी मांगने के लिए समय दिया गया था, लेकिन उन्होंने माफी मांगने से इंकार कर दिया था।

प्रशांत भूषण को कोर्ट ने 30 मिनट का समय दिया था और कहा था कि अपने रुख पर फिर विचार कर लें, लेकिन इसके बाद भी भूषण का विचार नहीं बदला तो कोर्ट ने यहां तक पूछा कि माफी मांगने में क्या गलत है, क्या यह बहुत बुरा शब्द है? न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने भूषण के खिलाफ अपना फैसला सुनाया।

भूषण का पक्ष रख रहे धवन ने भूषण के पूरक बयान का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया था कि वह अपने 14 अगस्त के फैसले को वापस ले ले और कोई सजा न दे। उन्होंने अनुरोध किया कि न सिर्फ इस मामले को बंद किया जाना चाहिए, बल्कि विवाद का भी अंत किया जाना चाहिए। खबरों के मुताबिक प्रशांत भूषण सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी प्रतिक्रिया देंगे।

7. गोवा में 20 नवंबर से आयोजित होगा 51वां IFFI

भारत का 51 वां अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) 20 से 28 नवंबर तक गोवा में आयोजित किया जाएगा

यह फिल्म फेस्टिवल COVID 19 के कारण एक हाइब्रिड फिल्म फेस्टिवल है, जो आधिकारिक डिजिटल प्लेटफॉर्म पर फिल्मों के साथ-साथ थियेटर स्क्रीनिंग भी प्रदर्शित करेगा

गोवा राजधानी: पणजी

गोवा के राज्यपाल: भगत सिंह कोश्यारी

गोवा के मुख्यमंत्री: प्रमोद सावंत

8. सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए.आर. लक्ष्मणन का निधन

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस ए.आर. लक्ष्मणन का निधन हो गया उनका जन्म 22 मार्च, 1942 को तमिलनाडु के शिवगंगा जिले के देवकोट्टई में हुआ था

उन्हें 20 दिसंबर, 2002 को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था और 22 मार्च, 2007 को सेवानिवृत्त हुए थे वर्तमान में वे न्यायमूर्ति ए.एस.आनंद की अध्यक्षता वाले मुलई पेरियार पैनल तमिलनाडु के प्रतिनिधि थे

9. देश की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. पद्मावती का 103 साल की उम्र में निधन

देश की पहली हृदय रोग विशेषज्ञ (cardiologist) डॉ. शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का 103 वर्ष की आयु में कोविड-19 से निधन हो गया। नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट (एनएचआई) ने यह जानकारी दी। डॉक्टरों ने कहा कि उनका पिछले 11 दिन से एनएचआई में इलाज चल रहा था।

एनएचआई ने एक बयान में कहा कि भारत की पहली महिला हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. एस पद्मावती का 29 अगस्त को कोरोनावायरस संक्रमण के कारण निधन हो गया।

बयान के मुताबिक वे संक्रमित थीं और उन्हें सांस लेने में तकलीफ और बुखार की शिकायत के बाद भर्ती कराया गया था। उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया हो गया था। हालांकि हृदयाघात के बाद उनका निधन हो गया। इसके मुताबिक रविवार को पंजाबी बाग के कोविड-19 शवदाह गृह में उनकी अंत्येष्टि हुई।

डॉ. शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का जन्म म्यांमार में हुआ था, लेकिन वे द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी आक्रमण के बाद भारत आ गई थीं और देश की पहली महिला हृदय रोग विशेषज्ञ बन गईं।

10. सनी लियोनी के बाद पश्चिम बंगाल के कॉलेज की प्रवेश सूची में नेहा कक्कड़ का नाम

पश्चिम बंगाल के तीन कॉलेजों की स्नातक की प्रवेश सूचियों में अभिनेत्री सनी लियोनी (Sunny Leone) का नाम प्रकाशित होने के बाद माल्दा जिले के एक कॉलेज की मेधा सूची में शीर्ष पर बॉलीवुड गायिका नेहा कक्कड़ (Neha Kakkar) का नाम आना चर्चा का विषय बना हुआ है। अधिकारियों ने इसे कुछ शरारती तत्वों का कृत्य बताया है।

माल्दा के माणिकचक कॉलेज के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने शुक्रवार को पहली मेधा सूची प्रकाशित होने के बाद गायिका कक्कड़ का नाम देखा और इस त्रुटि को सुधारते हुए नई सूची प्रकाशित की है।

कॉलेज के प्राचार्य अनिरुद्ध चक्रवर्ती ने कहा, ‘हमने स्थानीय थाने और पश्चिम बंगाल पुलिस के साइबर अपराध प्रकोष्ठ में शिकायतें दर्ज कराई हैं। यह कुछ लोगों की शरारत है जो मेधा सूची में इस तरह के नाम शामिल करके उच्च शिक्षा प्रणाली तथा पारदर्शी ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया को बदनाम करना चाहते हैं।’

तृणमूल छात्र परिषद की अगुवाई वाले कॉलेज छात्र संघ ने कहा कि इस तरह की घटनाओं के पीछे कोई साजिश लगती है क्योंकि इससे पहले लगातार तीन दिन तक तीन अन्य कॉलेजों की मेधा सूची में अभिनेत्री सनी लियोनी का नाम इसी तरह प्रकाशित हुआ था।

उत्तर 24 परगना जिले के बारासात सरकारी कॉलेज में शनिवार को अंग्रेजी ऑनर्स की सूची में तीसरे स्थान पर लियोनी का नाम था। उनसे पहले अमेरिकी पॉर्न स्टार डेनी डेनियल्स और लेबनान की वेबकैम मॉडल मिया खलीफा के नाम देखे गए।

इससे पहले शुक्रवार को लियोनी का नाम दक्षिण 24 परगना जिले के बज बज कॉलेज में बीए (ऑनर्स) के लिए चयनित 157 अभ्यर्थियों की सूची में 151वें स्थान पर दिखाई दिया था।

गुरुवार को इस तरह की पहली घटना सामने आई थी जब कोलकाता के आशुतोष कॉलेज में अंग्रेजी ऑनर्स में प्रवेश के लिए चयनित मेरिट लिस्ट में सबसे ऊपर लियोनी का नाम था।

पश्चिम बंगाल सरकार ने घोषणा की थी कि इस साल स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश पूरी तरह से ऑनलाइन प्रक्रिया से होगी और महामारी के कारण लोगों को हुई कठिनाइयों की वजह से कोई शुल्क नहीं वसूला जाएगा।

11. केंद्रीय मंत्री ने लॉन्च किया अगली पीढ़ी का स्टार्ट-अप चैलेंज “Chunauti”

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद द्वारा "चुनौती", एक अगली पीढ़ी की स्टार्टअप चैलेंज प्रतियोगिता शुरू की गई है

प्रतियोगिता का लक्ष्य भारत के टियर -2 शहरों पर विशेष ध्यान देने के साथ स्टार्टअप और सॉफ्टवेयर उत्पादों को और बढ़ावा देना है

"चुनौती" प्रतियोगिता में पहचाने गए क्षेत्रों में लगे लगभग 300 स्टार्टअप्स की पहचान की जाएगी और उन्हें अन्य सुविधाओं के साथ रु. 25 लाख का फण्ड उपलब्ध कराया जायेगा

इस कार्यक्रम के लिए 95.03 करोड़ रुपये का बजट सरकार द्वारा निकाला गया है जो तीन वर्षों की अवधि के लिए होगा

12. केरल सरकार ने पहली समुद्री एम्बुलेंस "PRATHEEKSHA" की शुरू

केरल के मुख्यमंत्री, पिनाराई विजयन ने केरल में तिरुवनंतपुरम जिले के विझिनजाम गाँव में ‘PRATHEEKSHA’ नाम की पहली समुद्री एम्बुलेंस की शुरुआत की

अन्य समुद्री एम्बुलेंस जिन्हें तैनात किया जाना है, वे Pratyasha और Karunya हैं

Pratheeksha, केरल सरकार के मत्स्य विभाग के लिए कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड (CSL) द्वारा निर्मित 3 पूर्ण सुसज्जित समुद्री एम्बुलेंस नाव की श्रृंखला में पहली है

केरल की राजधानी: तिरुवनंतपुरम

केरल के मुख्यमंत्री: पिनारयी विजयन

केरल के राज्यपाल: आरिफ मोहम्मद खा


13. देश में कोरोना के मामले 36 लाख के पार, 24 घंटे में 78512 नए केस; लेकिन इस मामले में राहत

पिछले 24 घंटे में 78,512 नए मामले सामने आने के बाद देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 36 लाख के पार हो गई हैं। अब तक कुल 36,21,245 केस सामने आ चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 971 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 64,469 हो गई है। अब तक 2774801 मरीज ठीक हो चुके हैं। रिकवरी रेट बढ़कर 76.62 % हो गया है। पॉजिटिविटी रेट 9.27% है।

महाराष्ट्र में कोविड-19 के केस आठ लाख के करीब महाराष्ट्र में कोविड-19 के एक दिन में 16,408 नए मामले सामने आने के साथ कुल आंकड़ा बढ़कर 7,80,689 पहुंच गया है। 296 और मरीजों की मौत हो जाने से राज्य में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़ कर 24,399 हो गई। मुंबई में रविवार को 1,237 मामले सामने आए और 30 मरीजों की मौत हुई। इसके साथ ही मुंबई में संक्रमण के कुल मामले बढ़ कर 1,44,626 हो गये। वहीं, शहर में अब तक 7,626 मरीजों की मौत हुई है। नवी मुंबई में 488 और कल्याण डोम्बीवली में 366 नये मामले सामने आए। पुणे में 1,163 मामले, पिंपरी चिंचवड में 1,072 , नागपुर शहर में 836, नासिक शहर में 1,049, कोल्हापुर शहर में 305, सांगली शहर में 297, लातूर में 154 और नांदेड़ में 128 मामले सामने आए।

झारखंड में कोरोना संक्रमण के 1,323 नए मामले झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 12 मरीजों की मौत हो गई। राज्य में इस संक्रमण से मृतकों की कुल संख्या 410 तक पहुंच गई है जबकि संक्रमण के 1,323 नए मामले सामने आए जिन्हें मिलाकर राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 38,435 हो गई। राज्य में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 410 तक पहुंच गई है। 26,448 संक्रमित अब तक ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। इसके अलावा 11,577 अन्य संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में जारी है।

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के एक दिन में सर्वाधिक 1,558 नए केस मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 1,558 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 62,433 तक पहुंच गई। राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से 29 और व्यक्तियों की मौत की पुष्टि हुई है जिससे मरने वालों की संख्या 1,374 हो गई है।

पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से इंदौर व भोपाल में पांच-पांच, सागर में तीन, जबलपुर, नीमच एवं बैतूल में दो-दो तथा ग्वालियर, शिवपुरी, धार, विदिशा, सीहोर, दमोह, झाबुआ, होशंगाबाद, कटनी एवं अशोकनगर में एक-एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है। राज्य में अब तक कोरोना वायरस से सबसे अधिक 389 मौत इन्दौर में हुई हैं। भोपाल में 280, उज्जैन में 80, सागर में 53, जबलपुर में 78, ग्वालियर में 46, बुरहानपुर में 25, खंडवा में 21 एवं खरगोन में 26 लोगों की मौत हुई हैं। बाकी मौत के मामले अन्य जिलों से आए हैं। अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के सबसे अधिक 265 नए मामले इंदौर जिले में आए हैं।

12 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved