Search

30th & 31st May | Current Affairs | MB Books


1. 31 मई: विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day)

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) मनाया जाता है।

मुख्य बिंदु : यह दिन तंबाकू के उपयोग के खतरों के बारे में जागरूकता पैदा करता है। विश्व तंबाकू निषेध दिवस की पहल को 1987 में WHO द्वारा अपनाया गया था। यह दिन तंबाकू के कारण होने वाली 8 मिलियन से अधिक मौतों की ओर भी ध्यान आकर्षित करता है।

महत्व : विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार 15 और 24 वर्ष की आयु के लगभग 17% युवा धूम्रपान कर रहे हैं। एक व्यक्ति जो 20 साल की उम्र से पहले धूम्रपान करना शुरू कर देता है, उसके नशे की लत विकसित होने की संभावना अधिक होती है। साथ ही इस दिन वर्ल्ड नो टोबैको अवॉर्ड्स भी बांटे जाते हैं।

भारत में धूम्रपान करने वाले : 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) ​ से ठीक पहले, Global Burden of Disease ने दुनिया भर में धूम्रपान करने वालों की संख्या पर एक अध्ययन प्रकाशित किया है।

इस अध्ययन के अनुसार, भारत में 2019 में 15-24 आयु वर्ग के लगभग 2 करोड़ धूम्रपान करने वाले थे। यह दुनिया भर में तंबाकू धूम्रपान करने वालों की दूसरी सबसे बड़ी संख्या है। भारत में भी 1990 के बाद से 15-24 आयु वर्ग में धूम्रपान करने वालों की सबसे अधिक वृद्धि देखी गई।

वैश्विक परिदृश्य :

  • इस अध्ययन के अनुसार, 2019 में धूम्रपान करने वालों की संख्या बढ़कर 1 बिलियन हो गई।

  • तंबाकू के सेवन से 7 मिलियन लोगों की मौत हुई।

  • नए धूम्रपान करने वालों में, 89% 25 साल की उम्र तक आदी हो गए थे।

  • दुनिया भर में 155 मिलियन धूम्रपान करने वाले 15-24 आयु वर्ग के हैं।

धूम्रपान करने वालों की सबसे अधिक संख्या वाले देश : तंबाकू धूम्रपान करने वालों की सबसे अधिक संख्या वाले 10 देशों में वैश्विक तंबाकू धूम्रपान करने वाली आबादी का दो-तिहाई हिस्सा है। शीर्ष 10 देश इस प्रकार हैं- चीन, भारत, इंडोनेशिया, अमेरिका, रूस, बांग्लादेश, जापान, तुर्की, वियतनाम और फिलीपींस।


2. CBSE ने कोविड-19 से निपटने के लिए युवा योद्धा आंदोलन शुरू किया

CBSE ने कोविड -19 के खिलाफ लड़ने के लिए 5 मिलियन युवा लोगों को शामिल करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी युवा योद्धा आंदोलन शुरू किया। इस आंदोलन से 50 मिलियन लोगों के प्रभावित होने की उम्मीद है। बोर्ड ने युवा मामले और खेल मंत्रालय, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, युवाह-यूनिसेफ और 950 से अधिक भागीदारों के एक बहु-हितधारक संघ के साथ मिलकर आंदोलन शुरू किया है।

10 से 30 वर्ष की आयु के छात्र और शिक्षक स्वयं को, अपने परिवार, अपने समुदायों और देश की सुरक्षा के लिए इस आंदोलन में शामिल हो सकते हैं!

इस आंदोलन में युवा योद्धाओं के साथ उनकी भागीदारी और कार्यों को पूरा करने के लिए यूनिसेफ प्रमाण पत्र अर्जित करने के साथ आसान और वास्तविक जीवन के कार्यों की एक श्रृंखला शामिल होगी।

कार्यों में सत्यापित स्वास्थ्य और आवश्यक सेवाओं तक पहुंच को बढ़ावा देना, वैक्सीन पंजीकरण, कोविड उपयुक्त व्यवहार, मिथकों को खत्म करना आदि शामिल हैं।

इन कार्यों को 10 क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित किया जाएगा ताकि खुद को, अपने परिवार और अपने पड़ोस को कोविड-19 से बचाया जा सके।


3. पीएम मोदी ने कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए सहायता की घोषणा की

अपनी सरकार की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए कल्याणकारी उपायों की घोषणा की।

मुख्य बिंदु : कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के नाम पर फिक्स्ड डिपाजिट खोला जायेगा, और PM-CARES इसमें योगदान होगा और जब बच्चे 18 साल के हो जायेंगे तो इसमें 10 लाख रुपये का कार्पस हो जायेगा। इस धनराशी का उपयोग मासिक आर्थिक सहायता या उच्च शिक्षा के लिए किया जा सकता है। 23 वर्ष की उम्र में पहुँचने पर वे बच्चे व्यक्तिगत या व्यवसायिक उपयोग के लिए एकमुश्त सारी धनराशी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा, 10 साल से कम उम्र के बच्चों को नजदीकी केन्द्रीय विद्यालय में प्रवेश दिया जायेगा। 11 से 18 साल के बच्चों को केंद्र सरकार के किसी भी आवासीय स्कूल (जैसे सैनिक स्कूल या नवोदय विद्यालय) में प्रवेश दिया जा सकता है।

यदि बच्चे को निजी स्कूल में एडमिट किया जा सकता है, जो उसके फीस PM-CARES फण्ड से शिक्षा के अधिकार के तहत दी जाएगी। इसके अलावा, उस बच्चे की वर्दी, किताबों व नोटबुक का खर्चा भी दिया जायेगा।

इन बच्चों को प्रोफेशनल कोर्स में उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए शिक्षा ऋण प्राप्त करने में सहायता की जाएगी और उनके ऋण के ब्याज का भुगतान PM-CARES फण्ड से किया जायेगा।

जो छात्र किसी मौजूदा छात्रवृत्ति के लिए योग्य नहीं हैं, उन्हें एक समान प्रकार की छात्रवृत्ति दी जाएगी।

इन बच्चों को आयुष्मान भारत या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत शामिल किया जायेगा, जिसमे 5 लाख का बीमा कवर शामिल है। इन बच्चों का प्रीमियम PM-CARES फण्ड से दिया जायेगा।


4. सरकार ने युवा लेखकों को सलाह देने के लिए युवा पीएम योजना शुरू की

शिक्षा मंत्रालय के तहत उच्च शिक्षा विभाग ने 'युवा- युवा लेखकों को सलाह देने के लिए प्रधानमंत्री योजना (YUVA- Prime Minister’s Scheme For Mentoring Young Authors)' नामक एक नई पहल शुरू की है। YUVA का पूर्ण रूप Young, Upcoming and Versatile Authors है।

यह देश में पढ़ने, लिखने और पुस्तक संस्कृति को बढ़ावा देने तथा भारत और भारतीय लेखन को विश्व स्तर पर व्यक्त करने के लिए 30 वर्ष से कम आयु के युवा और उभरते लेखकों को प्रशिक्षित करने के लिए एक लेखक परामर्श कार्यक्रम है।

शिक्षा मंत्रालय के तहत राष्ट्रिय पुस्तक न्यास (National Book Trust), भारत, योजना के लिए कार्यान्वयन एजेंसी होगी।

एक अखिल भारतीय प्रतियोगिता के माध्यम से कुल 75 लेखकों का चयन किया जाएगा, जो 1 जून से 31 जुलाई 2021 तक https://www.mygov.in/ के माध्यम से आयोजित की जाएगी।

युवा विजेता लेखकों को प्रख्यात लेखकों/संरक्षकों द्वारा प्रशिक्षित किया जाएगा।

मेंटरशिप योजना के तहत छह महीने की अवधि के लिए प्रति लेखक 50,000 रुपये प्रति माह की समेकित छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाएगा।


5. CRPF के डीजी कुलदीप सिंह को NIA का अतिरिक्त प्रभार

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक कुलदीप सिंह (Kuldiep Singh) को राष्ट्रीय जांच एजेंसी, NIA के महानिदेशक का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

वे वाई सी मोदी (Y C Modi) की सेवानिवृत्ति के बाद 31 या इस महीने के बाद अतिरिक्त पद संभालेंगे।

गृह मंत्रालय ने 1986 बैच के पश्चिम बंगाल कैडर के अधिकारी, सिंह को अतिरिक्त प्रभार सौंपा, जो इस साल 16 मार्च से CRPF के महानिदेशक का पद संभाल रहे हैं।

उन्हें 30 सितंबर, 2022 - उनकी सेवानिवृत्ति की तारीख तक DG, CRPF के रूप में नियुक्त किया गया है।


6. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने नए ऋणों की घोषणा की

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSB) ने कोविड -19 महामारी के आर्थिक प्रभाव को कम करने के लिए समर्थन उपायों और नए ऋण उत्पादों को लॉन्च करने की घोषणा की है।

घोषणाएं :

  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSB व्यक्तियों को 5 लाख रुपये तक का असुरक्षित ऋण प्रदान करेंगे। इसऋण का उपयोग उनके और परिवार के सदस्यों के उपचार लागत को पूरा करने के लिए किया जा सकता है।

  • भारतीय बैंक संघ (Indian Banks Association) और भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) ने मुंबई में तीन नए ऋण उत्पादों की घोषणा की।

  • मुंबई में ऋण की घोषणा आरबीआई और भारत सरकार द्वारा किए गए उपायों के आधार पर की गई है।

  • यह वैक्सीन निर्माताओं, अस्पतालों या औषधालयों, ऑक्सीजन के निर्माताओं और आपूर्तिकर्ताओं, पैथोलॉजी लैब, वेंटिलेटर, टीका आयातकों, कोविड दवाओं की लॉजिस्टिक्स फर्मों और उपचार के लिए रोगियों को नए सिरे से ऋण सहायता प्रदान करेगा।

  • दो अन्य ऋणों में शामिल हैं- 2 करोड़ रुपये तक का हेल्थकेयर बिजनेस लोन और 100 करोड़ रुपये तक की हेल्थकेयर सुविधाओं के लिए बिजनेस लोन।

  • Emergency Credit Line Guarantee Scheme (ECGLS) के तहत ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए हेल्थकेयर बिजनेस लोन दिया जाएगा।

  • हेल्थकेयर सुविधाओं के लिए लोन हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थापना या विस्तार और हेल्थकेयर उत्पाद निर्माताओं को प्रदान किया जाएगा।

ऋण चुकौती (Repayment of Loan) : IBA और SBI ने घोषणा की, सभी वेतनभोगी, गैर-वेतनभोगी और पेंशनभोगी व्यक्ति COVID-19 उपचार की देखभाल के लिए ₹25,000 से ₹​​5 लाख तक का असुरक्षित व्यक्तिगत ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए चुकौती अवधि 5 वर्ष है। एसबीआई सालाना 8.5 फीसदी का ब्याज वसूल करेगा और अन्य बैंक भी अपनी ब्याज दर तय कर सकते हैं।


7. RBI ने HDFC बैंक पर लगाया 10 करोड़ रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंक के ऑटो ऋण पोर्टफोलियो में पाई गई नियामक अनुपालन में कमियों के लिए HDFC बैंक पर 10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

RBI के अनुसार, HDFC बैंक ने बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 6(2) और धारा 8 के प्रावधानों का उल्लंघन किया है।

एक मुखबिर से शिकायत प्राप्त करने के बाद, RBI ने बैंक के ऑटो ऋण ग्राहकों को तीसरे पक्ष के गैर-वित्तीय उत्पादों के विपणन और बिक्री में एक परीक्षा आयोजित की और पाया कि बैंक नियामक निर्देशों का उल्लंघन कर रहा था।

RBI ने बैंकिंग विनियमन अधिनियम की धारा 46(4)(i) के साथ पठित धारा 47A(1)(c) के प्रावधानों के तहत केंद्रीय बैंक द्वारा निहित शक्तियों के प्रयोग में मौद्रिक दंड लगाया है।


8. NSA अजीत डोभाल ने ‘सजग’ पोत को कमीशन किया

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA), अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने भारतीय तटरक्षक अपतटीय गश्ती पोत सजग (Sajag) को कमीशन किया है। यह समुद्री हितों की रक्षा के लिए राष्ट्र को समर्पित किया गया था।

मुख्य बिंदु : ऑफशोर पेट्रोल वेसल सजग का निर्माण गोवा शिपयार्ड लिमिटेड (Goa Shipyard Limited) द्वारा किया गया है, जिसे अत्याधुनिक मशीनरी, नवीनतम तकनीक सेंसर और उपकरणों के साथ समुद्री सशस्त्र बलों के लिए स्वदेशी रूप से विकसित जहाजों के लिए NSA द्वारा सराहा गया था।

पैट्रोल नाव : यह एक छोटा नौसैनिक पोत है जिसे तटीय रक्षा, आव्रजन कानून-प्रवर्तन, सीमा सुरक्षा, खोज और बचाव कार्य के लिए डिज़ाइन किया गया है। उन्हें नौसेना, तट रक्षक, पुलिस बल या सीमा शुल्क द्वारा संचालित किया जा सकता है और समुद्री या मुहाना या नदी के वातावरण के लिए कमीशन किया जा सकता है। वे आमतौर पर सीमा सुरक्षा भूमिकाओं में उपयोग किए जाते हैं जैसे कि एंटी-पायरेसी, एंटी-स्मगलिंग, मत्स्य पालन गश्त और आव्रजन कानून प्रवर्तन इत्यादि।

गश्ती नाव का वर्गीकरण : पैट्रोल बोट (Patrol Boat ) को तटवर्ती गश्ती जहाजों (IPV) और अपतटीय गश्ती जहाजों (OPV) के रूप में वर्गीकृत किया गया है। वे छोटे आकार के युद्धपोत हैं और इनमें फ़ास्ट अटैक क्राफ्ट, मिसाइल बोट्स और टारपीडो बोट्स शामिल हैं। अपतटीय गश्ती पोत (Offshore patrol vessels) नौसेना में सबसे छोटा जहाज है। हालांकि, वे बड़े और समुद्र में चलने योग्य हैं जो तट से दूर की गश्त के लिए पर्याप्त हैं।


9. भारतीय नौसेना ने Advanced Light Helicopter पर मेडिकल आईसीयू स्थापित किया

भारतीय नौसेना ने आईएनएस हंसा (INS Hansa) में Advanced Light Helicopter (ALH) पर एक मेडिकल आईसीयू (MICU) स्थापित किया है।

मुख्य बिंदु : हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने आईएनएस हंसा में INAS 323 से ALH Mk-III ऑन-बोर्ड स्थापित किया। ALH Mk-III एक हर मौसम में चलने वाला विमान है जो भारतीय नौसेना को प्रतिकूल मौसम के दौरान भी गंभीर रोगियों को हवाई मार्ग से बाहर निकालने में मदद करेगा। इस विमान को एयर एंबुलेंस में बदलने के लिए दो-तीन घंटे में उपकरण लगाए जा सकते हैं। HAL भारतीय नौसेना को ऐसे 8 MICU देगा।

आईएनएस हंसा (INS Hansa) : यह गोवा में डाबोलिम (Dabolim) में एक भारतीय नौसैनिक हवाई अड्डा है। भारत के सबसे बड़े नौसैनिक हवाई अड्डे में एक सिविल एन्क्लेव भी शामिल है जो डाबोलिम हवाई अड्डे के रूप में संचालित होता है।

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) : HAL का मुख्यालय बैंगलोर में है, यह सरकारी स्वामित्व वाली एयरोस्पेस और रक्षा कंपनी है। इसकी स्थापना 23 दिसंबर, 1940 को हुई थी। यह दुनिया भर में सबसे पुराना और सबसे बड़ा एयरोस्पेस व रक्षा निर्माता है। इसने 1942 में रॉयल इंडियन एयर फ़ोर्स के लिए हार्लो PC-5, कर्टिस P-36 हॉक आदि के लाइसेंस प्राप्त उत्पादन के साथ विमान निर्माण शुरू किया था। भारत में HAL के 11 समर्पित अनुसंधान और विकास (आर एंड डी) केंद्र और 4 उत्पादन इकाइयों के तहत काम करने वाले 21 विनिर्माण विभाग हैं। इस कंपनी का प्रबंधन रक्षा मंत्रालय सरकार की सिफारिश पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त निदेशक मंडल द्वारा किया जाता है ।


10. बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को मिला यूएई का गोल्डन वीजा

UAE सरकार ने बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त (Sanjay Dutt) को गोल्डन वीजा से सम्मानित किया। गोल्डन वीज़ा प्रणाली अनिवार्य रूप से उत्कृष्ट प्रतिभा वाले लोगों को दीर्घकालिक निवास प्रदान करती है।

2019 में, UAE ने लंबी अवधि के निवास वीजा के लिए एक नई प्रणाली लागू की, जिससे विदेशियों को राष्ट्रीय प्रायोजक की आवश्यकता के बिना और उनके व्यवसाय के 100% स्वामित्व के साथ रहने, काम करने और अध्ययन करने में सक्षम बनाया गया।

रिपोर्टों के अनुसार, संजय दत्त गोल्डन वीज़ा प्राप्त करने वाले पहले मुख्यधारा हैं। वीजा की वैधता या तो 5 या 10 साल की होती है और यह स्वतः ही नवीनीकृत हो जाती है।


11. चेल्सी ने 2020-21 UEFA चैंपियंस लीग फाइनल जीता

चेल्सी (Chelsea) ने पुर्तगाल के पोर्टो में एस्टाडियो डो ड्रैगो (Estádio do Dragão) में 29 मई, 2021 को खेले गए 2020-21 UEFA चैंपियंस लीग के फाइनल में मैनचेस्टर सिटी (Manchester City) को 1-0 से हराकर खिताब जीता।

फुटबॉल मैच का एकमात्र गोल जर्मन फारवर्ड काई हैवर्ट (Kai Havertz) ने किया। 2012 में पहली जीत हासिल करने के बाद चेल्सी के लिए यह दूसरा चैंपियंस लीग खिताब है।


12. चार नए राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर लांच किए गए

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच लोगों की मदद के लिए चार नए हेल्पलाइन नंबर शुरू किए हैं। इन नंबरों को बढ़ावा देने के लिए निजी टेलीविजन चैनलों को सरकार ने एडवाइजरी जारी की है।

मुख्य बिंदु :

  • 1075 स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय का राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर है।

  • 1098 महिला एवं बाल विकास मंत्रालय का चाइल्ड हेल्पलाइन (Child Helpline) नंबर है।

  • 14566 सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाइन (Senior Citizens Helpline) है।यह कर्नाटक, दिल्ली, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड जैसे राज्यों में काम करेगा।

  • 08046110007 राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य और तंत्रिका विज्ञान संस्थान (National Institute of Mental Health and Neurosciences – NIMHANS) का हेल्पलाइन नंबर है जो मनोवैज्ञानिक सहायता प्रदान करेगा।

इसके अलावा, आयुष मंत्रालय द्वारा COVID-19 की चुनौतियों का समाधान प्रदान करने के लिए एक सामुदायिक सहायता हेल्पलाइन नंबर 14443 शुरू किया गया था। 1075 कोविड हेल्पलाइन नंबर अब ग्रामीण भारत के लिए टीकाकरण स्लॉट बुक करने के लिए खुला है। 1075 कोविड हेल्पलाइन नंबर अब ग्रामीण भारत के लिए टीकाकरण स्लॉट बुक करने के लिए खुला है। यह जानकारी आर.एस. शर्मा की अध्यक्षता वाले राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (National Health Authority – NHA) ने दी।


13. 30 मई : गोवा का राज्यत्व दिवस (Goa Statehood Day)

30 मई, 2020 को गोवा अपना स्थापना दिवस मना रहा है। गोवा भारत में शामिल होने वाला 25वां राज्य था ।

इतिहास : 15 अगस्त 1947 को जैसे ही भारत को स्वतंत्रता मिली, भारत ने पुर्तगालियों से उनके क्षेत्रों को सौंपने का अनुरोध किया। हालांकि, पुर्तगालियों ने इनकार कर दिया। 1961 में, भारत सरकार ने ऑपरेशन विजय (Operation Vijay) शुरू किया और दमन व दीव, द्वीपों और गोवा को भारतीय मुख्य भूमि के साथ जोड़ लिया।

30 मई 1987 को इस क्षेत्र को विभाजित किया गया और गोवा का गठन किया गया। दमन और दीव केंद्र शासित प्रदेश बने रहे। कोंकणी गोवा की राजभाषा है।

इतिहास में गोवा की भूमिका : गोवा ने भिक्षुओं और मिशनरियों को आकर्षित किया जिन्होंने गोवा की संस्कृति में बहुत छाप छोड़ी। इसके अलावा, गोवा 1370 में विजयनगर साम्राज्य का हिस्सा था और बाद में बीजापुर सल्तनत का भी हिस्सा रहा।

गोवा में पुर्तगाली : पुर्तगालियों ने 1510 में अफोंसो डी अल्बुकर्क (Afonso de Albuquerque) के नेतृत्व में गोवा पर विजय प्राप्त की। जैसे ही उन्होंने गोवा पर विजय प्राप्त की, उन्होंने मसाले के व्यापार पर नियंत्रण कर लिया।


14. भारतीय छात्रा को 10 साल के लिए मिला UAE का गोल्डन वीजा

भारतीय छात्रा तस्नीम असलम को उसकी मेधा और उत्कृष्ट अकादमिक रिकॉर्ड के लिए संयुक्त अरब अमीरात का प्रतिष्ठित 10 साल का गोल्डन वीजा मिला है। यह एक ऐसा वीजा है, जो मुख्यत: वैश्विक हस्तियों को ही दिया जाता है। ‘खलीज टाइम्स’ की खबर के मुताबिक, केरल की रहने वाली असलम को असाधारण विद्यार्थी वर्ग के तहत यह वीजा मिला है और उसे 2031 तक देश में रहने की अनुमति मिल गई है। संयुक्त अरब अमीरात ने 2019 में दीर्घकालीन निवास वीजा के लिए एक नई प्रणाली लागू की, जिसके बाद विदेशी लोगों को यहां बिना किसी राष्ट्रीय प्रायोजक की आवश्यकता के रहने, काम करने और पढ़ाई करने की अनुमति मिल गई। ये गोल्डन वीजा 10 साल के लिए जारी किए जाते हैं और इनका नवीनीकरण अपने आप हो जाता है। असलम ने खलीज टाइम्स से कहा कि यह उनकी जिंदगी के सबसे बेहतरीन पलों में से एक है और इसे पाकर उन्हें बेहद खुशी हो रही है। असलम शारजाह स्थित अल कासिमिया विश्वविद्यालय में इस्लामी शरिया की पढ़ाई कर रही हैं और वह अपनी कक्षा में प्रथम आई हैं। इस कक्षा में 72 देशों के विद्यार्थी हैं। हाल में अभिनेता संजय दत्त को यह वीजा मिला था।







  • Source of Internet

10 views0 comments

Recent Posts

See All