Search

3 June 2020 Hindi Current Affairs



भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल को खेल रत्न पुरस्कार के लिए नामित किया गया

2 जून, 2020 को, हॉकी इंडिया ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए भारत की महिला टीम की कप्तान रानी रामपाल के नाम की सिफारिश की। मोनिका, वंदना कटारिया और हरमनप्रीत सिंह को अर्जुन पुरस्कार के लिए नामित किया गया है।

मुख्य बिंदु

रानी रामपाल के अलावा,  तुषार खांडकर और आर.पी. सिंह को लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए मेजर ध्यानचंद पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। कोच रोमेश पठानिया और बी.जे. करिअप्पा को द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए नामित किया गया है।

रानी रामपाल

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार की अवधि जनवरी 2016 और दिसंबर 2019 के बीच है। इस अवधि के दौरान, रानी रामपाल ने 2017 में महिला एशिया कप जीतने वाली टीम का नेतृत्व किया। उनके नेतृत्व में टीम ने 2018 एशियाई खेलों में रजत कप जीता और उन्होंने 2019 में एफआईएच ओलंपिक क्वालीफायर में प्रवेश करने के लिए टीम में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनके निर्णायक गोल ने भारत को टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने में मदद की।  उन्हें 2016 में अर्जुन पुरस्कार और 2020 में पद्मश्री भी मिला है। वह पहली भारतीय हैं जिन्हें वर्ल्ड गेम्स एथलीट ऑफ द ईयर के रूप में नामित किया गया है।


विश्व साइकिल दिवस : 3 जून

प्रतिवर्ष 3 जून को विश्व साइकिल दिवस मनाया जाता है संयुक्त राष्ट्र द्वारा पहला आधिकारिक विश्व साइकिल दिवस 3 जून, 2018 को परिवहन के एक सरल, किफायती, भरोसेमंद, स्वच्छ और पर्यावरणीय रूप से फिट टिकाऊ साधनों को प्रोत्साहित करने के लिए मनाया गया था। इसका उद्देश्य दैनिक जीवन में साइकिल के उपयोग को लोकप्रिय बनाना है।

पृष्ठभूमि

2018 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 3 जून को विश्व साइकिल दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा की थी। विश्व साइकिल दिवस मनाये जाने  के लिए अमेरिका के मोंटगोमेरी कॉलेज के प्रोफेसर लेस्ज़ेक सिबिल्सकी और उनकी सोशियोलॉजी की कक्षा ने याचिका की थी। बाद में प्रोफेसर सिबिल्सकी तथा उनकी कक्षा ने सोशल मीडिया के द्वारा इसका काफी प्रचार किया और 3 जून को विश्व साइकिल दिवस के रूप में मनाये जाने का निर्णय लिया। इस अभियान को तुर्कमेनिस्तान समेत 56 देशों का सहयोग प्राप्त हुआ।


भारत सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर के लिए लांच की तीन योजनायें

2 जून, 2020 को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र के लिए तीन नई योजनाओं की शुरुआत की। यह योजनायें हैं : उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन योजना, क्लस्टर स्कीम (EMC 2.0) और कंपोनेंट मैन्युफैक्चरिंग स्कीम (SPECS)।  मार्च 2020 में केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा इन योजनाओं को मंजूरी दी गई थी।

मुख्य बिंदु

इस योजनाओं से निवेश आकर्षित करने की उम्मीद है। इससे 2025 तक मोबाइल फोन और उनके पुर्जों के विनिर्माण को लगभग 10 लाख करोड़ रुपए तक बढ़ाने की उम्मीद है। साथ ही, यह योजनायें 5 लाख प्रत्यक्ष और 15 लाख अप्रत्यक्ष नौकरियों का सृजन करने में मदद करेगी।

उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन योजना

यह योजना भारत में निर्मित माल को 4% से 6% की प्रोत्साहन राशि प्रदान करेगी।

SPECS

Scheme for Promotion of Manufacturing of Electronic Components and Semiconductors (SPECS) पूंजीगत व्यय पर 25% की प्रोत्साहन राशि प्रदान करेगी। यह कुछ विशिष्ट सूचियों जैसे कि सेमीकंडक्टर उपकरणों, इलेक्ट्रॉनिक सामानों, प्रदर्शन निर्माण इकाइयों आदि तक विस्तारित की गयी है।

ईएमसी 2.0

संशोधित इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्लस्टर (EMC 2.0) विश्व स्तर के बुनियादी ढांचे को बनाने में सहायता करेगा। यह योजना वैश्विक इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माताओं और उनकी आपूर्ति श्रृंखलाओं को आकर्षित करने में मदद करेगी।


आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत 3,200 करोड़ रुपये के ऋण स्वीकृत

2 जून, 2020 को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने 200 करोड़ रुपये के संपार्श्विक मुक्त ऋण मंज़ूर किए।

मुख्य बिंदु

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत 3,200 करोड़ रुपये प्रदान करेंगे। इससे MSME (माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज) को फायदा होगा जो 3,000 से अधिक टियर-2 शहरों में स्थित हैं। यह ऋण एमएसएमई को किराए के लिए अपने खर्चों को पूरा करने, सामानों की खरीद और वेतन के भुगतान में मदद करेंगे।

आत्म निर्भर भारत अभियान

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्म निर्भर भारत अभियान योजना के तहत 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा करते हुए कहा था कि एक साल की मोहलत के साथ संपार्श्विक मुक्त ऋणों का प्रावधान किया जाएगा। ये ऋण वे हैं जो अब सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों द्वारा प्रदान किए जा रहे हैं।


विश्व स्वास्थ्य संगठन ने COVID-19 टेक्नोलॉजी एक्सेस पूल लांच किया

कोस्टा रिका और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने C-TAP को लॉन्च किया है। C-TAP COVID-19 टेक्नोलॉजी एक्सेस पूल है।

मुख्य बिंदु

C-TAP वैश्विक समुदाय के लिए सूचना, वैज्ञानिक ज्ञान और बौद्धिक संपदा के लिए वन-स्टॉप शॉप के रूप में कार्य करेगा। लगभग 30 देशों, संस्थानों और अंतर्राष्ट्रीय भागीदारों ने C-TAP का समर्थन करने के लिए हस्ताक्षर किए हैं। यह एक पहल है जिसका उद्देश्य टीकों, परीक्षणों, स्वास्थ्य प्रौद्योगिकियों और उपचारों को बनाना है।

पृष्ठभूमि

यह पहल कोस्टा रिका के राष्ट्रपति कार्लोस अल्वाराडो द्वारा प्रस्तावित की गयी थी। यह पहल दवाओं, टीकों और अन्य तकनीकों की खोज में तेजी लाने में मदद करेगी जो COVID-19  का उपचार करने में मदद करेगी।


भारत सरकार ने डेयरी किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना लांच की

2 जून, 2020 को भारत सरकार ने डेयरी किसानों की मदद के लिए किसान क्रेडिट कार्ड अभियान लांच किया। लगभग डेढ़ करोड़ डेयरी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान किए जायेंगे।

मुख्य बिंदु

इस योजना के तहत, भारत सरकार उन किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान करेगी जो दूध उत्पादक कंपनियों से जुड़े हैं। पशुपालन विभाग ने संबंधित परिपत्रों को आगे बढ़ा दिया है। भारत में दुग्ध संघ से जुड़े करीब 1.7 करोड़ किसान हैं। वे डेयरी सहकारी आंदोलन के तहत पंजीकृत थे।

अभियान के बारे में

इस अभियान के पहले चरण में, वे किसान जो डेयरी सहकारी समितियों के सदस्य हैं और जो दुग्ध संघों से जुड़े हैं, उन्हें कवर किया जायेगा। जिन किसानों के पास भूमि स्वामित्व के आधार पर पहले से ही किसान क्रेडिट कार्ड हैं, उनकी ऋण सीमा को बढ़ाया जायेगा।



0 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved