Search

2nd September | Current Affairs | MB Books


1. कोरोना से पीड़ित हैं या नहीं 15 मिनट में चलेगा पता, स्विस फार्मा कंपनी जल्द पेश करेगी COVID टेस्ट

स्विट्जरलैंड की दवा कंपनी रॉश (Roche) ने मंगलवार को घोषणा की है कि वह सितंबर महीने के अंत तक कोरोना वायरस (Coronavirus) का पता लगाने के लिए एक टेस्ट पेश करेगी। इसके जरिए सिर्फ 15 मिनट में COVID-19 का पता लगाया जा सकेगा। कंपनी ने कहा कि ये टेस्ट SARS-CoV-2 वायरस की पहचान करता है, जिसके वजह से दुनिया भर में महामारी फैली है। कोरोना वायरस महामारी से अब तक दुनिया भर में 8.51 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, संक्रमण का कुल आंकड़ा 2.54 करोड़ से ऊपर पहुंच गया है।

कंपनी ने कहा कि यह टेस्ट पहले उन देशों के लिए उपलब्ध होगा, जो कि यूरोपीय संघ में बेचे जाने उत्पादों के लिए सीई मार्क को मान्यता देते हैं हालांकि, कंपनी जल्द ही अमेरिका खाद्य एवं औषधि प्राधिकरण (FDA) की भी मंजूरी लेगी

कंपनी ने कहा, "इस टेस्ट के लॉन्च के साथ ही हर महीने 4 करोड़ सार्स कोव-2 रेपिड टेस्ट की क्षमता उपलब्ध होगी साल के अंत तक इस क्षमता को बढ़ाकर दोगुना किया जाएगा"

स्विस फार्म कंपनी रॉश बायोटेक कंपनी एसडी बायोसेंसर इंक के साथ मिलकर इस उत्पाद को लॉन्च करेगी और उसका वितरण करेगी

बता दें कि दुनियाभर में 100 से ज्यादा देश इस जानलेवा वायरस के प्रकोप का सामना कर रहा है दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमितों का कुल आंकड़ा ढाई करोड़ से अधिक है कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में अमेरिका, ब्राजील और भारत शीर्ष पर हैं भारत में कोरोना वायस संक्रमितों का आंकड़ा 37 लाख के करीब पहुंच गया है जबकि 69,000 से ज्यादा लोगों की अब तक मौत हो चुकी है


2. जापान ने भारत को COVID-19 से निपटने के लिए दिया 3500 करोड़ रुपये का ODA ऋण

जापान सरकार द्वारा भारत को JPY50 बिलियन (लगभग 3,500 करोड़ रुपये) की राशि का आधिकारिक विकास सहायता (ODA) ऋण प्रदान किया गया है।

जापान ने यह ऋण COVID-19 संकट से निपटने के लिए COVID-19 संकट आपातकालीन प्रतिक्रिया सहायता के लिए दिया है।

इसके अलावा जापानी सरकार ने भारत में सार्वजनिक स्वास्थ्य और चिकित्सा प्रणाली को मजबूत करने के लिए चिकित्सा उपकरणों की पेशकश के लिए JPY 1 बिलियन (लगभग 70 करोड़ रुपये) की राशि अनुदान के लिए नोटो का भी आदान-प्रदान किया गया।


3. सिविल सेवा अधिकारियों की फंक्शनिंग में सुधार के लिए 'कर्मयोगी योजना' को कैबिनेट की मंज़ूरी

सिविल सेवा अधिकारियों की फंक्शनिंग में सुधार के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने आज 'कर्मयोगी योजना (Karamyogi Scheme)' को मंज़ूरी दे दी। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javedkar) ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि इस योजना का मुख्य लोगों की अपेक्षाओं पर खरे उतरने वाले अधिकारी तैयार करना है।

केंद्रीय मेंत्री ने इससे पहले केंद्र सरकार द्वारा भर्ती परीक्षा को लेकर लिए गए नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (NRA) के निर्णय का जिक्र करते हुए कहा, 'पहले भर्ती के लिए अनेक परीक्षाएं छात्रों को देनी पड़ी थी उसके बदले एक ही परीक्षा हो ये सरकार द्वार किए गए सुधार का मूल उद्देश्य था उसका स्वागत पूरे देश में हुआ वो भर्ती से पहले का सुधार था आज हम भर्ती के बाद के सुधार का निर्णय लेने जा रहे हैं'

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, 'सरकार के विभिन्न् कर्मचारियों और अधिकारियों की कार्यक्षमता कैसे बढ़े इसके लिए क्षमता वर्धन का लगातार कार्यक्रम चलेगा औऱ उसका नाम कर्मयोगी योजना है ये बेहत ही महत्वपूर्ण सुधार है21वीं सदी का सरकार के मानव संसाधन के सुधार का ये बहुत बड़ा कदम कहलाया जाएगा लोगों की अपेक्षाओं पर खरे उतरने वाले अधिकारी तैयार करना इसका मूल मकसद है'

डीओपीटी के सचिव सी चंद्रमौली ने कहा, 'एक सिविल सेवक को समाज की चुनौतियों का सामना करने के लिए कल्पनाशील और अभिनव, सक्रिय और विनम्र, पेशेवर और प्रगतिशील, ऊर्जावान और सक्षम, पारदर्शी और तकनीकी तौर पर दक्ष और रचनात्मक होना चाहिए'

जम्मू कश्मीर के लिए राजभाषा विधेयक केंद्रीय मंत्री ने बताया कि आज कैबिनेट के दूसरे निर्णय के तहत जम्मू कश्मीर के लिए एक राजभाषा विधेयक 2020 लाने का भी फैसला हुआ, उसमें उर्दू, कश्मीरी, डोगरी, हिंदी और अंग्रेजी ये पांच ऑफिशियल भाषा रहेगी लोगों की मांग पर इसका निर्माण हुआ है

आज तीन MoU को भी दी गई मान्याता इसके अलावा आज केंद्रीय कैबिनेट ने तीन एमयूओ को भी मान्यता दी गई, जापान के साथ वस्त्र मंत्रालय का एक एमओयू हुआ खनन मंत्रालय का फिनलैंड के साथ समझौता हुआ है नवीनी ऊर्जा मंत्रालय का डेनमार्क के साथ समझौता हुआ है


4. वर्ल्ड बैंक ने अपनी “Doing Business” रिपोर्ट पर लगाई रोक

विश्व बैंक ने देशों के व्यापार और निवेश जलवायु की वार्षिक रैंकिंग में डेटा संग्रह अनियमितताओं की जांच करने के लिए अपनी “Doing Business” रिपोर्ट के प्रकाशन को रोक दिया है।

विश्व बैंक के अनुसार "अक्टूबर 2017 और 2019 में प्रकाशित, डूइंग बिजनेस 2018 और डूइंग बिजनेस 2020 रिपोर्ट में डेटा में बदलाव के बारे में कई अनियमितताएं रिपोर्ट की गई हैं।"

विश्व बैंक पिछले पांच डूइंग बिजनेस रिपोर्ट में डेटा परिवर्तनों की एक व्यवस्थित समीक्षा करेगा, और स्वतंत्र ऑडिटर डेटा संग्रह और प्रक्रियाओं की समीक्षा करेंगे।

अंतिम डूइंग बिजनेस रिपोर्ट अक्टूबर 2019 में प्रकाशित हुई थी जिसमें भारत 63 वें स्थान पर था जबकि न्यूजीलैंड शीर्ष पर था।


5. आईपीएल 2020: CRED होगा IPL का ऑफिशियल पार्टनर, बीसीसीआई ने किया ऐलान

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मंगलवार को इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के आधिकारिक भागीदार (ऑफिशियल पार्टर) के रूप में क्रीड (CRED) की घोषणा की। क्रीड (CRED) बेंगलुरु का एक क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट प्लेटफॉर्म है। बता दें कि आईपीएल का 13 वां संस्करण 19 सितंबर से 10 नवंबर तक यूएई में होने वाला है। बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस सौदे के लिए बीसीसीआई को बधाई दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'मुश्किल बाजारों के बावजूद' इस सौदे को सील करने के लिए बोर्ड को बधाई दी।

बोर्ड ने पहले इंडियन प्रीमियर लीग के तीन सत्रों के लिए आधिकारिक तौर पर बैंगलोर स्थित एजुकेशन टेक फर्म अनअकैडमी (Unacademy) की घोषणा की थी। BCCI ने पहले ही इस साल के आईपीएल टाइटल प्रायोजक के रूप में फैंटसी गेमिंग प्लेटफॉर्म ड्रीम 11 की घोषणा की थी, जिसने चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो की जगह ली है।

ड्रीम 11 ने अनकैडमी (Unacademy) और BYJUs को 222 करोड़ रुपये की बोली के साथ चार महीने और 13 दिनों की अवधि के लिए अधिकार प्रदान किया था।

आईपीएल की मेजबानी के लिए तैयार हो रहा है शारजाह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सत्र के आयोजन स्थलों में शामिल शारजाह क्रिकेट स्टेडियम इस लुभावने टी20 टूर्नामेंट की सफल मेजबानी के लिए काफी तैयारी कर रहा है। मंगलवार को जारी मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार स्टैंड के ऊपर नई कृत्रिम छत बनाई गई है और रॉयल सूइट और वीआईपी हॉस्पिटैलिटी बॉक्स को अपग्रेड किया गया है।

विज्ञप्ति के अनुसार कमेंटेटर बॉक्स में जैविक रूप से सुरक्षित माहौल के कड़े नियमों का पालन किया जाएगा और कोविड-19 से जुड़े नियमों के तहत खिलाड़ियों के पैवेलियन और अभ्यास सुविधाओं को कीटाणुमुक्त रखने के लिए विशेष सावधानी बरती जाएगी।

मौजूदा नवीनीकरण पर शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में उपाध्यक्ष वलीद बुखातिर ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों से लेकर सहयोगी स्टाफ और फ्रेंचाइजी मालिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हम प्रत्येक संभव एहतियात बरत रहे हैं और हमारा मुख्य लक्ष्य यह है कि पूरे टूर्नामेंट के दौरान जैविक रूप से सुरक्षित माहौल बना रहे।''

बयान के अनुसार स्टेडियम में क्रिकेट संग्रहालय बनाने की योजना पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। इस साल आईपीएल 19 सितंबर से शुरू होगा और इसका आयोजन शारजाह के अलावा दुबई और अबु धाबी में किया जाएगा।


6. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका-भारत रणनीतिक मंच के ‘लीडरशिप समिट’ को करेंगे संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका-भारत रणनीतिक एवं साझेदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) के तीसरे ‘लीडरशिप समिट' को बृहस्पतिवार को संबोधित करेंगे। यूएसआईएसपीएफ के प्रमुख मुकेश अघी ने बताया, "हम सम्मानित महसूस कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूएसआईएसपीएफ के वार्षिक कार्यक्रम को संबोधित करने के लिए समय निकाला। यह मौजूदा चुनौतीपूर्ण माहौल में अमेरिका-भारत संबंधों के महत्व को दर्शाता है।" उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों के लिए फायदे की साझेदारी है जो पारस्परिक रूप से भू-राजनीतिक, व्यापारिक, सांस्कृतिक, कूटनीतिक और वैज्ञानिक साझेदारी पर निर्भर है।

आक्रामक और मुखर चीन दोनों देशों को सहयोग और अंतरराष्ट्रीय कानून को सुनिश्चित करने के लिए और मौके देता हैअमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने एक सप्ताह चलने वाले सम्मेलन के पहले दिन संबोधित किया था विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी मंगलवार को चर्चा में भागीदारी की थी


7. पीएम नरेंद्र मोदी ने की सितंबर को "पोषण माह" के रूप में मनाया जाने की घोषणा

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मासिक रेडियो प्रसारण कार्यक्रम "मन की बात" के दौरान अपने नए संबोधन में सितंबर 2020 को "पोषण माह" के रूप में मनाने की घोषणा की है।

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि बच्चों में पोषण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए, स्कूलों में न्यूट्रिशन मॉनिटर और पोषण कार्ड की शुरुआत करनी चाहिए।

पोषण माह के दौरान, MyGov पोर्टल द्वारा फूड एंड न्यूट्रिशन क्विज़ और मेमे प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी।

यह महीना पूरे देश में सभी को पोषण के महत्व के बारे में शिक्षित करने मनाया जाएगा। इससे पहले पोषण माह सितंबर 2018 और 2019 में मनाया गया था।


8. ऑस्ट्रेलिया 3 दशक की सबसे बड़ी आर्थिक मंदी की चपेट में

ऑस्ट्रेलिया में जून में समाप्त हुई तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के आंकड़ों में पिछले तीन दशकों में सबसे ज्यादा 7 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

ऑस्ट्रेलियाई सांख्यिकी ब्यूरो के मुताबिक मार्च तिमाही में अर्थव्यवस्था 0.3 फीसदी गिरी थी। ऑस्ट्रेलियाई ब्रॉडकास्टिंग समूह की एक रिपोर्ट के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया पिछले 30 वर्षों में पहली बार मंदी की चपेट में आया है।

ऑस्ट्रेलियन सांख्यिकी ब्यूरो के नेशनल अकाउंटस प्रमुख माइकल स्मेड्स ने इसके पीछे वैश्विक महामारी और उससे जुड़ी नीतियों को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि यह 1959 से शुरू हुई देश की अर्थव्यवस्था में किसी भी तिमाही में दर्ज की गई सबसे बड़ी गिरावट है।

रिपोर्ट के मुताबिक महामारी से जूझ रहे देश में राहत प्रदान करने के लिए अतिरिक्त समर्थन भुगतानों के कारण, नकद राशि में दिया जाने वाला सामाजिक सहायता लाभ बढ़कर 41.6 प्रतिशत हो गया। वहीं, परिवाहन सेवाओं, होटलों, कैफे और रेस्टोरेंट से जुड़ी गतिविधियां लगभग ठप होने से सेवाओं पर खर्च में 17.6 फीसदी की कमी आई।

9. ‘Scooby Doo’ के सह निर्माता जो रूबी का निधन

कार्टून श्रृंखला ‘Scooby Doo’ के सह-निर्माता, जो रूबी (Joe Ruby) का निधन।

अमेरिकी एनिमेटर, टेलीविजन एडिटर, लेखक और निर्माता रूबी ने अपने क्रिएटिव पार्टनर केन स्पीयर्स के साथ मिलकर बच्चों के बहुत ही चहेते किरदारों स्कूबी-डू को बनाया था।

10. कांग्रेस सांसद हरिकृष्णन वसंतकुमार का निधन

कांग्रेस सांसद हरिकृष्णन वसंतकुमार का COVID-19 के कारण निधन।

उन्हें साल 2019 में कन्याकुमारी निर्वाचन क्षेत्र, तमिलनाडु से 17 वीं लोकसभा के लिए संसद सदस्य के रूप में चुना गया था।

वसंत कुमार तमिलनाडु के सबसे बड़े खुदरा होम एप्लायंस चेन में से एक मानी जाने वाली, वसंत एंड कंपनी के संस्थापक और अध्यक्ष थे।

वह तमिल सॅटॅलाइट टीवी चैनल वसंत टीवी के संस्थापक और एमडी भी थे।


11. न्यूजीलैंड ने मुख्य कोच गैरी स्टीड का अनुबंध तीन साल के लिए बढ़ाया

न्यूजीलैंड क्रिकेट ने राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच गैरी स्टीड का अनुबंध तीन साल के लिए बढ़ा दिया है जिससे वह 2023 में होने वाले 50 ओवरों के विश्व कप तक इस पद पर बने रहेंगे।

न्यूजीलैंड क्रिकेट ने बुधवार को स्टीड का अनुबंध बढ़ाने को मंजूरी दी। इस दौरान 2021 में भारत में और 2022 में ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप भी खेले जाएंगे। स्टीड को 2018 में माइक हेसन की जगह पर दो साल के लिए कोच नियुक्त किया गया था।

उनके रहते हुए न्यूजीलैंड ने 2019 में विश्व कप फाइनल में जगह बनाई जो नियमित खेल और सुपर ओवर के बाद भी टाई रहा था लेकिन बाउंड्री की गिनती के बाद इंग्लैंड को चैंपियन घोषित कर दिया गया था। न्यूजीलैंड की टीम ने कोविड-19 महामारी के कारण लगभग छह महीने से कोई मैच नहीं खेला है।


12. भारतीय रेलवे ने विकसित की "MEDBOT" मेडिकल ट्रॉली

भारतीय रेलवे ने COVID-19 रोगियों को भोजन और दवा पहुँचाने में मदद करने के लिए ‘MEDBOT’ नामक एक रिमोट-चलने वाली मेडिकल ट्रॉली विकसित की है।

भारतीय रेलवे कोरोना संकट के दौरान लोगों को परिवहन सुविधाएं और खाद्यान्न जैसी आवश्यक वस्तुएं प्रदान करने के अलावा, COVID-19 रोगियों को सुविधाएं प्रदान करने के कार्य में भी लगी हुई हैं।

यह वर्तमान में भारतीय रेल के डीजल रेल इंजन कारखाने के केंद्रीय अस्पताल में सेवा प्रदान दे रही है।


13. Tata Motors ने पेश किया Nexon का नया संस्करण, कीमत 8.36 लाख से शुरू

टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने बुधवार को अपनी कॉम्पैक्ट एसयूवी नेक्सन (Nexon) का नया संस्करण पेश किया, जिसकी दिल्ली में शोरूम कीमत 8.36 लाख से शुरू है। टाटा मोटर्स ने कहा कि नेक्सन का नया संस्करण एक्सएम (ए) पेट्रोल और डीजल दोनों संस्करणों में उपलब्ध है। इसमें दो ट्रांसमिशन विकल्प हैं- मैनुअल और ऑटोमेटेड मैनुअल ट्रांसमिशन (एएमटी)। टाटा मोटर्स की यात्री वाहन कारोबार इकाई के विपणन प्रमुख विवेक श्रीवत्स ने कहा, हम अपनी प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए नेक्सन एक्सएम (एस) की पेशकश की घोषणा करने को तैयार हैं। यह एक ऐसा उत्पाद है, जो हमारे ग्राहकों को एक शानदार मूल्य पर इलेक्ट्रिक सनरूफ जैसे बेहतरीन फीचर्स दे रहा है।


14. आरआईएल-ब्रुकफील्ड के 25,215 करोड़ रुपए के मोबाइल टावर सौदे को सरकार की मंजूरी

सरकार ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की अनुषंगी तथा कनाडा की कंपनी ब्रुकफील्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर पार्टनर्स एलपी के बीच 1.35 लाख मोबाइल टावर के बिक्री सौदे को मंजूरी दे दी है। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में यह जानकारी दी गई है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज की इकाई रिलायंस इंडस्ट्रियल इन्वेस्टमेंट्स एंड होल्डिंग्स लि. (आरआईआईएचएल) ने ब्रुकफील्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर पार्टनर्स एलपी और उसके भागीदारों के साथ दिसंबर, 2019 में टावर कारोबार की बिक्री का करार किया था। अब आरआईआईएचएल का नया नाम आरपीपीएमएसएल हो गया है।

टावर कंपनी रिलायंस जियो इन्फोकॉम लि. और रिलायंस प्रोजेक्ट्स एंड प्रॉपर्टी मैनेजमेंट सर्विसेज लि. (आरपीपीएमएसएल) ने इस सौदे के क्रियान्वयन के लिए मास्टर सेवा करार किया था। इसके तहत रिलायंस अगले 30 साल तक नई इकाई की टावर सम्पत्ति की किरायेदार रहेगी। 31 मार्च, 2020 तक टावर कंपनी के पास 1,35,047 टावर थे। कंपनी का इरादा चालू वित्त वर्ष में इन्हें 1,74,451 तक पहुंचाने का है। अभी रिलायंस जियो इन्फोकॉम टावर साइट की एकमात्र किरायेदार है।

ब्रुकफील्ड ने परिचालन कर रही टावर कंपनी में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। ब्रुकफील्ड के निवेश तथा दीर्घावधि के ऋण से प्राप्त राशि का इस्तेमाल रिलायंस जियो इन्फ्राटेल की मौजूदा देनदारियों तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा दिए गए कर्ज के भुगतान में किया जाएगा।


15. सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में पंचामृत चढ़ाने पर लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट ने 01 सितम्बर 2020 को उज्जैन स्थित महाकालेश्वर मंदिर में शिवलिंग के संरक्षण के लिए मंदिर प्रबंधन समिति को नये निर्देश जारी किए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर मामले में महत्वपूर्ण फैसला देते हुए शिवलिंग को क्षरण से बचाव के लिए तमाम आदेश पारित किए है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि मंदिर के शिवलिंग पर कोई भी भक्त पंचामृत नहीं चढ़ाएगा, बल्कि वह शुद्ध दूध से पूजा करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर कमिटी से कहा है कि वे भक्तों के लिए शुद्ध दूध का इंतजाम करेंगे और ये सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी अशुद्ध दूध शिवलिंग पर न चढ़ाएं।

कोर्ट ने क्षरण को रोकने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए पंचामृत पूजन पर रोक के साथ-साथ श्रद्धालुओं द्वारा शिवलिंग को घिसने और रगड़ने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही महाकाल मंदिर प्रबंध समिति को आदेश दिया है कि मंदिर समिति क्षरण रोकने के उपायों को तत्काल लागू करें।

जस्टिस अरुण मिश्रा ने क्या कहा?

जस्टिस अरुण मिश्रा की अगुवाई वाली बेंच ने उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर मामले में फैसला सुनाया। जस्टिस अरुण मिश्रा ने अपने कार्यकाल के आखिर में ये फैसला सुनाया। फैसला सुनाते हुए जस्टिस मिश्रा ने कहा कि भगवान शिव की कृपा से ये आखिरी फैसला भी हो गया। दरअसल, जस्टिस अरुण मिश्रा 02 सितम्बर 2020 को रिटायर होने वाले हैं।

क्षरण से रोकने हेतु तमाम आदेश पारित

सुप्रीम कोर्ट ने शिवलिंग को क्षरण से बचाने और संरक्षित करने के लिए तमाम आदेश पारित किया है। इसके तहत कहा गया है कि कोई भी भक्त शिवलिंग पर किसी भी पंचामृत आदि से लेप न करें। भस्म आरती को बेहतर किया जाए ताकि पीएच वैल्यू सही हो और शिवलिंग संरक्षित रहे। इसके लिए बेहतर से बेहतर तरीका अपनाया जाए। शिवलिंग पर मुंडमाल का भार कम किया जाए। इस बात पर विचार किया जाए कि क्या मेटल वाला मुंडमाल अनिवार्य है।

24 घंटे रेकॉर्डिंग

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि दही, घी और मधु लेपने (रब) करने के कारण शिविलिंग का घिसाव व क्षरण हो रहा है। ये सही होगा कि सीमित मात्रा में शुद्ध दूध शिवलिंग पर चढ़ाया जाए। परंपरागत पूजा सिर्फ शुद्ध वस्तुओं से होती रही है। कोई भी भक्त शिवलिंग को लेपेगा या मलेगा नहीं बल्कि मंदिर द्वारा परंपरागत पूजा होगी। गर्भगृह में पूजा स्थल की 24 घंटे रेकॉर्डिंग की जाएगी और छह महीने तक रेकॉर्डिंग को संरक्षित किया जाएगा। कोई भी पुजारी इस मामले में आदेश का उल्लंघन करते हैं तो मंदिर कमिटी एक्शन ले सकती है।

पृष्ठभूमि

विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर आस्था का बड़ा केंद्र है। जहां श्रद्धालु मंदिर के गर्भ गृह तक जाकर शिवलिंग को छूकर भगवान से आशीर्वाद लेते हैं, लेकिन इस बीच साल 2013 में उज्जैन की सारिका गुरु नामक महिला ने महाकाल मंदिर में हो रहे शिवलिंग क्षरण को लेकर हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। इसके बाद यह केस सुप्रीम कोर्ट चला गया। तभी से लगातार सुनवाई के बाद मंगलवार सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया है।


16. सुमित नागल ने रचा इतिहास, जीता यूएस ओपन में मेन्स सिंगल्स का पहला मैच

भारत के युवा पुरुष एकल खिलाड़ी सुमित नागल ने शानदार जीत दर्ज करते हुए अपने करियर में पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के दूसरे दौर में जगह बनाई। सुमित नागल ने यूएस ओपन के पहले दौर में अमेरिका के ब्रैडली क्लैन को मात दी। अब सुमित नागल का अगला मुकाबला डॉमिनिक थीम के साथ होगा।

विश्व रैंकिंग में 124वें पायदान पर मौजूद सुमित नागल ने ब्रैडली क्लान को 6-1, 6-3, 3-6, 6-1 से पराजित किया। भारत के टॉप रैंक वाले पुरुष एकल खिलाड़ी सुमित नागल अपने करियर में पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के दूसरे दौर में पहुंचे हैं। नागल ने 1 घंटा 27 मिनट तक चले मुकाबले में ब्रैडली क्लान को शिकस्त दी।

सात साल बाद यह पहला मौक़ा

सात साल बाद यह पहला मौक़ा है जब किसी भारतीय पुरुष एकल खिलाड़ी ने यूएस ओपन में कोई मैच जीता है। उनसे पहले साल 2013 में सोमदेव देववर्मन ने यह उपलब्धि हासिल की थी। तब सोमदेव ने पहले दौर के मुकाबले में स्लोवाक लुकास लाको को 4-6, 6-1, 6-2, 4-6, 6-4 से हराया था। खास बात यह है कि सुमित लगातार दूसरी बार यूएस ओपन के मेन ड्रॉ तक पहुंचे हैं।

पिछले साल पहले दौर के मैच में उन्हें 20 बार ग्रैंड स्लैम जीत चुके रोजर फ़ेडरर से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, पहले सेट में उन्होंने रोजर फ़ेडरर को कड़ी चुनौती दी थी। इस मैच में रोजर फ़ेडरर ने 4-6, 6-1, 6-2, 6-4 से जीत हासिल की थी।

मिक्स्ड डबल्स का खिताब

भारत के लिए पहली बार महेश भूपति ने 1999 में मिक्स्ड डबल्स में जापान की आई सुगियामा के साथ यूएस ओपन खिताब जीता था।

सुमित नागल के बारे में

• सुमित नागल हरियाणा के झज्जर जिले के जैतपुर गांव से हैं। उन्होंने आठ साल की उम्र में टेनिस खेलना शुरू किया था।

• सुमित नागल ने साल 2015 में जूनियर विंबलडन ग्रैंड स्लैम जीता और वे इसे जीतने वाले छठें भारतीय बने थे।

• सुमित का सबसे पसंदीदा टूर्नामेंट यूएस ओपन है और उन्होंने ग्रैंडस्लैम करियर की शुरुआत इसी इवेंट से की थी।

• सुमित नागल विश्व के ऐसे चौथे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने यूएस ओपन में रोजर फेडरर के विरुद्ध पहला सेट जीता है।

• उन्होंने अपना पहला मेडल चैलेंजर साल 2017 में जीता था लेकिन वे इस कामयाबी को आगे नहीं ले जा पाए।

• वे दिग्गज टेनिस खिलाड़ी रहे महेश भूपति को अपना विश्वसनीय सलाहकार मानते हैं।


17. भारतीय खगोलविदों ने ब्रह्मांड में खोजी एक और आकाशगंगा

भारतीय अंतरिक्ष विज्ञानियों ने ब्रह्मांड में सबसे दूर स्थित एक और स्टार गैलेक्सी (आकाशगंगा) की खोज की है। यह पृथ्वी से 9.3 अरब प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है। भारत सरकार के अंतरिक्ष विभाग ने 01 सितम्बर 2020 को यह जानकारी दी। खगोलविदों की यह सफलता अंतरिक्ष मिशनों में एक ऐतिहासिक उपलब्धि के रूप में देखी जा रही है।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भारतीय खगोलविदों द्वारा ब्रह्मांड में सबसे दूर स्थित तारों की आकाशगंगाओं में से एक खोजने पर उन्हें बधाई दी है। बतौर नासा, यह खोज मानवता की समझ को बेहतर बनाने में मदद करेगी। भारत ने अंतरिक्ष विज्ञान में एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है।

धरती से 9.3 बिलियन प्रकाश वर्ष दूर

केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेंद्र सिंह ने इसे लेकर रहा है कि यह गर्व की बात है कि एस्ट्रोसैट ने धरती से 9.3 बिलियन प्रकाश वर्ष दूर स्थित एक आकाशगंगा का पता लगाया है। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में भारत की क्षमता एक विशिष्ट स्तर पर पहुंच गई है, जहां से हमारे वैज्ञानिक अपनी क्षमताओं के संकेत दे रहे हैं।

अंतरिक्ष विभाग के अनुसार

अंतरिक्ष विभाग के अनुसार, एयूडीएफएस-01 नामक इस आकाशगंगा की खोज इंटर-यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स (आइयूसीएए) पुणे के डॉ. कनक साह के नेतृत्व में खगोलविदों की एक टीम ने की थी। इस अहम खोज के महत्व और विशिष्टता के बारे में जर्नल नेचर एस्ट्रोनॉमी में विस्तार से बताया गया है।

यह खोज करने वाली भारत की पहली अंतरिक्ष वेधशाला एस्ट्रोसैट को मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान 28 सितंबर 2015 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा प्रक्षेपित किया गया था। इसे इसरो के पूर्ण समर्थन के साथ आईयूसीएए के पूर्व एमेरिटस प्रोफेसर श्याम टंडन के नेतृत्व में एक टीम द्वारा विकसित किया गया था।

आइयूसीएए के निदेशक ने क्या कहा?

आइयूसीएए के निदेशक डॉ. सोमक रे ने कहा कि यह खोज एक महत्वपूर्ण सुराग है, जो यह बता सकता है कि ब्रह्मांड के अंधेरे युग कैसे समाप्त हुए और ब्रह्मांड में प्रकाश था। उन्होंने कहा हमें यह जानना चाहिए कि यह कब शुरू हुआ, लेकिन प्रकाश के शुरुआती स्त्रोतों को खोजना बेहद कठिन है।


18. गगनयान अंतरिक्ष यात्रियों के लिए मिशन अल्फा जैसे उपकरण उपलब्ध करवाने के लिए भारत और फ्रांस ने की चर्चा

फ्रांसीसी अंतरिक्ष एजेंसी, नेशनल सेंटर फॉर स्पेस स्टडीज (CNES) के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, चर्चाएं अंतिम दौर में हैं और इस बारे में जल्दी ही एक घोषणा होने की संभावना है। इस अधिकारी ने यह भी पुष्टि की है कि, मिशन अल्फा के लिए इंस्ट्रूमेंटेशन पर काम चल रहा था।

मिशन अल्फा एक फ्रांसीसी अंतरिक्ष यात्री थॉमस पेस्केट के मिशन को दिया गया नाम है, जिसके तहत अगले साल की शुरुआत में, क्रू ड्रैगन अंतरिक्ष यान पर उड़ान भरते हुए उन्हें अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) के लिए रवाना किया जाएगा।

मुख्य विशेषताएं

• इसरो और सीएनईएस, गगनयान अंतरिक्ष यात्रियों को आवश्यक उपकरण प्रदान करने के लिए विचार-विमर्श कर रहे हैं, ठीक वैसे ही जैसेकि मिशन अल्फा के दौरान फ्रांसीसी अंतरिक्ष यात्री थॉमस पेस्केट द्वारा उपयोग किये जायेंगे।

• नवंबर, 2016 और जून, 2017 के बीच अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर छह महीने बिताने वाले पेस्केट, वर्तमान में क्रू अल्फा के लिए क्रू ड्रैगन अंतरिक्ष यान और स्टेशन सिमुलेटर के साथ प्रशिक्षण ले रहे हैं, जिससे वे आईएसएस में वापस आ जाएंगे।

• उनके इस नए मिशन को सीएनईएस के साथ साझेदारी में यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा आयोजित एक प्रतियोगिता के बाद ’अल्फा’ नाम दिया गया है, जिसके लिए 27,000 से अधिक प्रविष्टियां प्राप्त हुई थीं। इन सभी प्राप्त प्रविष्टियों में 47 बार 'अल्फा' नाम का उल्लेख था।

• भारत के गगनगायन मिशन के लिए भारतीय वायु सेना के चार शॉर्ट-लिस्टेड पायलट और भावी अंतरिक्ष यात्री वर्तमान में रूस में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

महत्व

फ्रांस में अंतरिक्ष चिकित्सा के लिए एक सुव्यवस्थित तंत्र है और इसमें फ्रेंच इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस मेडिसिन और फिजियोलॉजी स्पेस क्लिनिक भी शामिल हैं, जो सीएनईएस की सहायक कंपनी है, जहां अंतरिक्ष सर्जन्स को प्रशिक्षण दिया जाता है। कोविड -19 का खतरा कम हो जाने के बाद, वर्ष 2020 में भारतीय अंतरिक्ष सर्जन प्रशिक्षण के लिए फ्रांस जाने वाले हैं।

मिशन अल्फा

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक पहुंचने और वहां की गतिविधियों के समन्वय के लिए यूरोपीय वैज्ञानिकों को अनुमति देने के लिए उपयोगकर्ता सहायता और संचालन केंद्र (USOC) की स्थापना की है। इन केंद्रों में से एक, माइक्रोग्रैविटी एप्लिकेशन और स्पेस ऑपरेशंस (CADMOS) के विकास का केंद्र सीएनईएस के टूलूज़ स्पेस सेंटर में स्थित है।

CADMOS केंद्र अमेरिका, यूरोप और रूस में स्थित जमीनी विभागों और अंतरिक्ष यात्रियों का समर्थन करने वाली विज्ञान टीमों के बीच एक संपर्क केंद्र है, क्योंकि वे मानव अंतरिक्ष उड़ानों के दौरान ही रियल टाइम में अपने एक्सपेरिमेंट्स करते हैं।

पृष्ठभूमि

भारत और फ्रांस अंतरिक्ष के क्षेत्र में आपसे में घनिष्ठ सहयोग करते हैं। इन दोनों ही देशों की अंतरिक्ष एजेंसियां ​​लगभग 10,000 करोड़ रूपये के ‘गगनयान मिशन’ पर भी सहयोग कर रही हैं, जिसका उद्देश्य वर्ष 2022 तक तीन भारतीयों को अंतरिक्ष में भेजना है। फ्रांसीसी फ़्लाइट सर्जन ब्रिजिट गोडार्ड भारतीय चिकित्सकों और इंजीनियरों को प्रशिक्षित करने के लिए वर्ष 2019 में भारत आये थे।

15 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved