Search

28th July | Current Affairs | MB Books


1. मैड्रिड के पासेओ डेल प्राडो और रेटिरो पार्क को यूनेस्को ने दिया विश्व विरासत का दर्जा

स्पेन (Spain) में मैड्रिड के ऐतिहासिक पासेओ डेल प्राडो बुलवार्ड (Paseo del Prado boulevard) और रेटिरो पार्क (Retiro Park) को UNESCO वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स का दर्जा दिया गया है।

स्पेन (Spain) की राजधानी के बीचों-बीच पेड़ों की कतारों से घिरा पासेओ डेल प्राडो (Paseo del Prado), प्राडो संग्रहालय (Prado Museum) जैसी प्रमुख इमारतों का घर है।

प्रतिष्ठित रेटिरो पार्क (Retiro Park), जो पासेओ डेल प्राडो (Paseo del Prado) से सटा हुआ है, 125 हेक्टेयर का हरा भरा स्थान है, और मैड्रिड (Madrid) के इतिहास में सबसे अधिक देखे जाने वाले आकर्षणों में से एक है।


2. फ़िलीपीन्स गोल्डन राइस रोपण को मंजूरी देने वाला पहला देश बना

फ़िलीपीन्स (Philippines) आनुवंशिक रूप से संशोधित "गोल्डन राइस (golden rice)" के व्यावसायिक उत्पादन के लिए अनुमोदन प्राप्त करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है, जो बचपन के कुपोषण (malnutrition) को कम करने में मदद करने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर चावल की एक किस्म है।

गोल्डन चावल को कृषि विभाग-फिलीपीन चावल अनुसंधान संस्थान (Department of Agriculture-Philippine Rice Research Institute (DA-PhilRice) द्वारा अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (International Rice Research Institute - IRRI) के साथ साझेदारी में लगभग दो दशक बिताने के बाद विकसित किया गया है।

इसके चमकीले पीले रंग के कारण इसे गोल्डन राइस (Golden Rice) नाम दिया गया है।

एक कप सुनहरा चावल 40 प्रतिशत तक विटामिन ए (vitamin A) दे सकता है जो कि छह महीने से पांच साल की उम्र के बच्चों के लिए, बचपन के अंधेपन (childhood blindness) से लड़ने और विकासशील देशों में जीवन बचाने के लिए बहुत जरूरी है।

यह दक्षिण (South) और दक्षिण पूर्व एशिया (Southeast Asia) में वाणिज्यिक प्रसार के लिए अनुमोदित पहला आनुवंशिक रूप से संशोधित चावल भी है।


3. स्मृति ईरानी ने हिंसा से प्रभावित महिलाओं के लिए 24/7 हेल्पलाइन लांच की

27 जुलाई, 2021 को केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास स्मृति ईरानी ने राष्ट्रीय महिला आयोग का 24/7 हेल्पलाइन नंबर 7827170170 लांच किया, यह हेल्पलाइन हिंसा से प्रभावित महिलाओं को 24/7 सहायता प्रदान करेगी। उन्हें अस्पताल, डॉक्टर, पुलिस, मनोवैज्ञानिक सेवाओं, जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण आदि जैसे उपयुक्त अधिकारियों से कनेक्ट किया जाएगा।

मुख्य बिंदु :

  • यह हेल्पलाइन देश भर में सभी महिलाओं की सुरक्षा को और बेहतर बनाने के उद्देश्य से शुरू की गई है।

  • मंत्री ने इस शानदार पहल के लिए राष्ट्रीय महिला आयोगको बधाई दी और कहा कि यह हेल्पलाइन देश की महिलाओं को एक मजबूत संदेश देगी कि आयोग और सरकार हमेशा उनके साथ खड़ी रहेगी।

  • महामारी के दौरान देश की महिलाओं की मदद करने की दिशा में उनके प्रयासों के लिए मंत्री द्वारा राष्ट्रीय महिला आयोग की पूरी टीम की भी सराहना की गई।

  • इस नई शुरू की गई हेल्पलाइन का प्राथमिक उद्देश्य देश की उन सभी महिलाओं को 24 घंटे परामर्श और शिकायत सेवाएं प्रदान करना है जो हिंसा से प्रभावित हैं।

यह हेल्पलाइन कैसे काम करेगी? : प्रशिक्षित विशेषज्ञों की एक टीम इस हेल्पलाइन के कामकाज में मदद करेगी। इस हेल्पलाइन पर 18 साल और उससे अधिक उम्र की कोई भी महिला कॉल करके मदद मांग सकती है। यह हेल्पलाइन राष्ट्रीय महिला आयोग के परिसर से संचालित की जाएगी जो नई दिल्ली में स्थित है। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन के सहयोग से इस हेल्पलाइन को विकसित किया गया है।

राष्ट्रीय महिला आयोग : राष्ट्रीय महिला आयोग सरकार का एक वैधानिक निकाय है जिसका गठन वर्ष 1992 में किया गया था। NCW का प्राथमिक उद्देश्य पूरे देश में महिलाओं से संबंधित मुद्दों पर कार्य करना है। राष्ट्रीय महिला आयोग की वर्तमान अध्यक्ष रेखा शर्मा हैं।


4. पिछले साल ई-वेस्ट उत्पादन में 31.6% की वृद्धि हुई

वर्ष 2020 में, भारत ने कुल 10,14,961.2 टन ई-कचरा (e-waste) उत्पन्न किया है, इसमें पिछले वर्ष की तुलना में 31.6% की वृद्धि हुई है।

मुख्य बिंदु :

  • पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने राज्यसभा में यह जानकारी दी।

  • मंत्री ने राज्य-वार डेटा और मौत के बारे में रिपोर्ट भी मांगी है जो ई-कचरे से हुई हो सकती है।

  • भारत में ई-कचरे के संबंध में डेटा केवल वर्ष 2017-18 से ही उपलब्ध है।

  • वर्ष 2016 में ई-अपशिष्ट (प्रबंधन) नियम अधिसूचित किए गए थे और तब से इसमें समय-समय पर संशोधन होते रहे हैं।

  • भारत के पर्यावरण मंत्रालय ने 21 प्रकार के विद्युत और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को अधिसूचित किया है जिन्हें ई-कचरा माना जाना है।

ई-कचरा उत्पादन के आकलन : ई-कचरा उत्पादन का अनुमान लगाने के फार्मूले में विद्युत और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की बिक्री के संबंध में डेटा की जांच करना शामिल है। बिक्री के इस आंकड़े से पता चलता है कि देश में ई-कचरा उत्पादन में लगातार वृद्धि हो रही है।

ई-कचरा संग्रह तंत्र : सरकार एक कुशल ई-कचरा संग्रह तंत्र के निर्माण को प्रोत्साहित कर रही है जो पर्यावरण की दृष्टि से सुरक्षित और सुदृढ़ हो। ई-कचरे के अधिकृत विघटनकर्ताओं (authorised dismantlers) और पुनर्चक्रणकर्ताओं (recyclers) के माध्यम से पुनर्चक्रण से देश में ई-कचरा उत्पादन कम होगा। वर्तमान में, देश के 20 राज्यों में ई-कचरे के लगभग 400 पुनर्चक्रणकर्ता या विघटनकर्ता कार्य कर रहे हैं।


5. FY22 में 8.8-9% के बीच भारत की जीडीपी ग्रोथ

केयर रेटिंग एजेंसी (Care Ratings agency) ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product - GDP) की विकास दर चालू वित्त वर्ष 2021-22 (FY22) में 8.8 से 9 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान लगाया है। वित्त वर्ष 2020-21 में देश की अर्थव्यवस्था में 7.3 फीसदी की गिरावट आई थी।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि वित्त वर्ष 22 के लिए राजकोषीय घाटा (fiscal deficit) 17.38 लाख करोड़ रुपये से 17.68 लाख करोड़ रुपये के बीच रहने का अनुमान है। अर्थव्यवस्था के मुख्य चालक कृषि (agriculture) और उद्योग (industry) क्षेत्र होंगे।


6. अल्फाबेट एक नई रोबोटिक्स कंपनी ‘Intrinsic’ शुरू करेगी

Google की पैरेंट कंपनी Alphabet ने एक नई कंपनी शुरू करने की घोषणा की है जो रोबोट के लिए विकसित होने वाले सॉफ़्टवेयर पर केंद्रित होगी। इस कंपनी का नाम इंट्रिंसिक (Intrinsic) रखा गया है।

मुख्य बिंदु :

  • इंट्रिंसिक, नई रोबोटिक फर्म की घोषणा अल्फाबेट की सहायक कंपनी “एक्स” के भीतर वर्षों के काम के बाद की गई है, जो मुख्य रूप से तकनीकी उद्योग से प्रतिभाओं को एक साथ रखकर सभी उद्यमशीलता और अभिनव विचारों के लिए इनक्यूबेटर के रूप में कार्य करती है।

  • विंग, वेमो, गूगल वॉच और गूगल ग्लास कुछ अन्य कंपनियां हैं जो एक्स से बाहर आई हैं

  • वेंडी टैन व्हाइट को Intrinsicके सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया है।

  • कंपनी रीयल-टाइम मैकेनिक्स में सॉफ़्टवेयर का परीक्षण कर रही है जो डीप लर्निंग, स्वचालित धारणा, मोशन प्लानिंग, सुदृढ़ीकरण सीखने, बल नियंत्रण और सिमुलेशन जैसी विभिन्न तकनीकों का उपयोग करती है।

अल्फाबेट : Alphabet Inc. एक अमेरिकी कंपनी है जिसका मुख्यालय माउंटेन व्यू, कैलिफ़ोर्निया में है। इसे वर्ष 2015 में Google के पुनर्गठन के माध्यम से बनाया गया था। इसके निर्माण के बाद यह Google और कई अन्य Google सहायक कंपनियों की मूल कंपनी बन गई। वर्तमान में राजस्व के आधार पर अल्फाबेट दुनिया की चौथी सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी है।


7. INS तलवार ने भाग लिया अभ्यास कटलैस एक्सप्रेस 2021 में

भारतीय नौसेना का जहाज तलवार (Indian Naval Ship Talwar) अभ्यास कटलैस एक्सप्रेस (Exercise Cutlass Express) 2021 में भाग ले रहा है, जिसका संचालन 26 जुलाई 2021 से 06 अगस्त 2021 तक अफ्रीका (Africa) के पूर्वी तट (East Coast) पर किया जा रहा है।

अभ्यास पूर्वी अफ्रीका (East Africa) और पश्चिमी हिंद महासागर (Western Indian Ocean) में राष्ट्रीय और क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए आयोजित एक वार्षिक समुद्री अभ्यास है।

यह अभ्यास पूर्वी अफ्रीका के तटीय क्षेत्रों पर केंद्रित है और इसे संयुक्त समुद्री कानून प्रवर्तन क्षमता का आकलन और सुधार करने, राष्ट्रीय और क्षेत्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देने और क्षेत्रीय नौसेनाओं के बीच अंतर को बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

अभ्यास के हिस्से के रूप में, भारतीय नौसेना, अन्य भागीदारों के साथ, समुद्री सुरक्षा संचालन के स्पेक्ट्रम में विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न भाग लेने वाले देशों के टुकड़ियों के प्रशिक्षण का कार्य करेगी।

समुद्री डोमेन जागरूकता के संबंध में विभिन्न भागीदार देशों के बीच सूचना साझाकरण और सूचना प्रवाह भी अभ्यास का एक प्रमुख केंद्र है और भारत के सूचना संलयन केंद्र की भागीदारी - हिंद महासागर क्षेत्र (Information Fusion Centre – Indian Ocean Region - IFC-IOR) इसे प्राप्त करने में योगदान देगा।


8. वंतिका अग्रवाल ने जीता राष्ट्रीय महिला ऑनलाइन शतरंज का खिताब

दिल्ली की युवा खिलाड़ी वंतिका अग्रवाल (Vantika Agarwal) ने राष्ट्रीय महिला ऑनलाइन शतरंज का खिताब जीता। 11 राउंड से उन्होंने 9.5 अंक हासिल किए।

मुख्य बिंदु :

  • 9 अंकों के साथ पश्चिम बंगाल की अर्पिता मुखर्जी ने दूसरा स्थान हासिल किया।

  • तमिलनाडु की श्रीजा शेषाद्रि ने 8.5 अंकों के साथ इस प्रतियोगिता में तीसरा स्थान हासिल किया।

  • महाराष्ट्र की सौम्या स्वामीनाथन और तमिलनाडु की आर. वैशाली क्रमश: चौथे और पांचवें स्थान पर रहीं।

जूनियर ओपन सेक्शन : जूनियर ओपन वर्ग में तमिलनाडु के वी.एस. राहुल ने 9.5 अंक के साथ पहला स्थान हासिल किया। अंतर्राष्ट्रीय मास्टर भरत सुब्रमण्यम 9 अंकों के साथ दूसरे और ग्रैंडमास्टर पी. इनियान जिन्होंने हाल ही में विश्व कप में देश का प्रतिनिधित्व किया था, तीसरे स्थान पर रहे।

निष्कर्ष : महामारी के कारण ओवर-द-बोर्ड कार्यक्रम आयोजित नहीं किए गए और अखिल भारतीय शतरंज महासंघ ने फैसला किया है कि वे एशियाई व्यक्तिगत चैंपियनशिप और अन्य विभिन्न आयोजनों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाड़ियों के चयन के लिए इस ऑनलाइन आयोजन के प्रदर्शन पर विचार करेंगे।


9. जापान के यूटो होरिगोमे ने स्केटबोर्डिंग में जीता पहला ओलंपिक स्वर्ण पदक

जापान (Japan) के यूटो होरिगोमे (Yuto Horigome) ने टोक्यो में एरिएक अर्बन स्पोर्ट (Ariake Urban Sport) में पुरुषों की स्ट्रीट स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर ओलंपिक खेलों में पहली बार स्केटबोर्डिंग प्रतियोगिता (skateboarding competition) जीती है। यूटो (Yuto) ने कमजोर शुरुआत के बावजूद 37.18 अंकों के साथ स्वर्ण पदक जीता।

पुरुषों की स्ट्रीट स्केटिंग प्रतियोगिता में ब्राजील (Brazil) के केल्विन होफ्लर (Kelvin Hoefler) ने रजत जीता, जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका (United States) के जैगर ईटन (Jagger Eaton) ने कांस्य पदक जीता।

ओलंपिक (Olympics) में स्केटबोर्डिंग (Skateboarding's) का समावेश खेल के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ है, जिसकी जड़ें युवा सड़क संस्कृति में हैं और इसने कला से लेकर फैशन तक हर चीज को प्रभावित किया है।


10. भारत की प्रिया मलिक ने हंगरी में विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता

भारत की प्रिया मलिक ने हंगरी में आयोजित विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में कुश्ती में स्वर्ण पदक जीता है। उन्होंने महिलाओं के 73 किग्रा भार वर्ग में पदक जीता।

मुख्य बिंदु :

  • प्रिया मलिक ने महिलाओं के 73 किग्रा वर्ग के फाइनल में हंगरी की सेनिया पटापोविच को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

  • वर्ष 2019 में पुणे में आयोजित खेलो इंडिया खेलों में भी उन्होंने स्वर्ण पदक जीता था और फिर बाद में उन्होंने दिल्ली में आयोजित 17वें स्कूल खेलों में स्वर्ण पदक जीता।

  • प्रिया मलिक अगले 2024 में पेरिस में होने वाले अगले ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने में सक्षम हो सकती हैं। वह ओलंपिक के उच्चतम स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करके पदक जीतने की इच्छुक भी हैं।

कैडेट विश्व चैंपियनशिप : कैडेट वर्ल्ड चैंपियनशिप फ्रीस्टाइल, ग्रीको-रोमन और महिला पहलवानों के लिए एक वार्षिक आयोजन है। दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी जिनकी उम्र 16 और 17 साल है, इस टूर्नामेंट में भाग लेते हैं। इस साल टूर्नामेंट का आयोजन हंगरी के बुडापेस्ट में किया जा रहा है। अगला टूर्नामेंट साल 2022 में रोम, इटली में होगा।


11. कुशल बहुभाषी अभिनेत्री जयंती का निधन

प्रसिद्ध दक्षिणी अभिनेत्री जयंती (Jayanthi) का उम्र संबंधी बीमारियों के कारण निधन हो गया है। उन्होंने 1963 में अपने अभिनय करियर की शुरुआत की और 500 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया, जो कन्नड़ (Kannada), तेलुगु (Telugu), तमिल (Tamil), मलयालम (Malayalam) और हिंदी (Hindi) सहित पांच भाषाओं में फैली हुई हैं।

कन्नड़ फिल्म उद्योग में उन्हें प्यार से 'अभिनय शारदे (Abhinaya Sharadhe)' यानी 'अभिनय की देवी (Goddess of acting)' के नाम से जाना जाता था। उन्होंने सात बार कर्नाटक राज्य फिल्म पुरस्कार (Karnataka State Film Awards) और दो बार फिल्मफेयर पुरस्कार (Filmfare Awards) सहित कई पुरस्कार जीते।


12. हड़प्पा शहर धोलावीरा (Dholavira) को यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया

27 जुलाई, 2021 को धोलावीरा (हड़प्पा शहर), जो गुजरात के कच्छ जिले में स्थित है, को यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया। यह यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल किया जाने वाला 40वां भारतीय स्थान है।

मुख्य बिंदु :

  • इस साइट को प्रतिष्ठित सूची में शामिल करने का निर्णय फ़ूज़ौ, चीन में 44वीं यूनेस्को विश्व विरासत समिति सत्र में लिया गया।

  • 25 जुलाई को एक और भारतीय स्थल तेलंगाना में रामप्पा मंदिर को इस सूची में जोड़ा गया था।

  • चंपानेर, अहमदाबाद के चारदीवारी वाले क्षेत्र और रानी की वाव के बाद, धोलावीरा यूनेस्को की इस सूची में शामिल होने वाला गुजरात का चौथा स्थल बन गया है।

  • धोलावीरा दक्षिण एशिया की सबसे अच्छी तरह से संरक्षित शहरी बस्तियों में से एक है।

धोलावीरा : यह शहर वर्ष 1968 में खोजा गया था, और यह गुजरात राज्य में कच्छ जिले के कच्छ के ग्रेट रण में खादिर द्वीप पर स्थित है। धोलावीरा शहर 22 हेक्टेयर में फैला हुआ है और यह सिंधु घाटी सभ्यता का पांचवां सबसे बड़ा पुरातात्विक स्थल है। यह शहर लगभग 3,000 ईसा पूर्व का है और ऐसा माना जाता है कि इस शहर में 1500 ईसा पूर्व तक तक रहते थे। इसका नाम भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित धोलावीरा गांव से लिया गया है। स्थानीय रूप से इस स्थल को कोटड़ा टिम्बा के नाम से जाना जाता है।

इस साइट को तीन भागों में बांटा गया है। वे मध्य शहर, गढ़ और निचला शहर हैं। गढ़ में किलेबंदी की विस्तृत संरचनाएँ हैं। इस साइट पर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा खुदाई से पता चला है कि शहर के घरों का निर्माण चूने के पत्थरों से किया गया था और ये सभी एक सीवेज नेटवर्क से जुड़े थे। यहाँ पर ताजा या बारिश के पानी को स्टोर करने के लिए टैंक भी मिले हैं। इसमें खुदाई के दौरान सजावटी मोती, लाल मिट्टी के बर्तन और सूक्ष्म पाषाण उपकरण भी मिले हैं।











  • Source of Internet

9 views0 comments