Search

28 June 2020 Hindi Current Affairs


के. संजीता चानू को अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा

राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता वेटलिफ्टर के. संजीता चानू को 2018 के लिए प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इस महीने के शुरू में अंतर्राष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (IWF) द्वारा खेल खिलाड़ी को हाल ही में डोपिंग के आरोपों से बरी कर दिया गया था। उन्होंने 2014 और 2018 में दो राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीते थे। इस खबर की घोषणा भारतीय भारोत्तोलन महासंघ ने खेल मंत्रालय की मंजूरी के बाद की।

पृष्ठभूमि

मई, 2020 में वर्ल्ड एंटी-डोपिंग एजेंसी (WADA) ने यूनाइटेड स्टेट्स एंटी-डोपिंग एजेंसी (USADA) की प्रयोगशाला की मान्यता को निलंबित कर दिया था। 2017 वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप से पहले भारतीय वेटलिफ्टर का नमूना टेस्टोस्टेरोन के लिए सकारात्मक परीक्षण किया गया था । इस के बाद, संजीता चानू को अस्थायी तौर पर 15 मई, 2018 को निलंबित कर दिया गया था।

WADA ने विश्लेषण के दौरान USADA प्रयोगशाला द्वारा भारतीय भारोत्तोलक के परीक्षण नमूनों को संभालने में कुछ ‘गैर-अनुरूपताओं’ का हवाला देते हुए प्रयोगशाला की मान्यता को निलंबित कर दिया। इस पर वाडा द्वारा IWLF को 28 मई, 2020 को सूचित किया गया था। इसके बाद जून 2020 में संजीता चानू को सभी डोपिंग आरोपों से बरी किया गया था।

संजीता चानू

मणिपुर के काकिंग जिले में जन्मी 26 वर्षीय खुमुकचम संजीता चानू ने 2014 (48 किलोग्राम वर्ग) और 2018 (53 किलोग्राम वर्ग) में दो बार राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता है।


त्रिपुरा सरकार ने मुख्यमंत्री मातृ पुष्टि उपहार योजना लांच किया

त्रिपुरा की राज्य सरकार ने हाल ही में मुख्यमंत्री मातृ पुष्टि उपहार योजना नामक एक नई योजना शुरू की है। इस योजना का उद्देश्य गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को पोषण किट प्रदान करके शिशु और मातृ मृत्यु दर और कुपोषण का मुकाबला करना है। सरकार ने यह भी घोषणा की कि गर्भवती महिलाओं का परीक्षण पास के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (PHC) में चार बार किया जाएगा और प्रत्येक परीक्षण के बाद उन्हें पोषण किट दिया जाएगा।

योजना का उद्देश्य

राज्य सरकार द्वारा योजना का उद्देश्य राज्य में शिशु और मातृ मृत्यु दर को कम करना है। योजना के तहत प्रदान की गई पोषण किट राज्य सरकार को कुपोषण के खिलाफ प्रयासों में मदद करेगी।

योजना के बारे में

राज्य के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में, गर्भवती महिलाएं समय-समय पर जांच करवाती हैं। चेकअप के बाद उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों से पोषण किट प्रदान की जायेगी। एक गर्भवती महिला 4 ऐसे पोषण किट के लिए पात्र होगी, यह किट समय-समय पर जांच के बाद प्रदान की जाएगी।  किट में खाद्य पदार्थ और किराने की आपूर्ति जैसे गुड़, घी, सोयाबीन, मिश्रित दालें आदि शामिल होंगी।

योजना के लिए व्यय

प्रत्येक पोषण किट की कीमत राज्य सरकार को 500 रुपये पड़ेगी। इस योजना के माध्यम से, राज्य में हर साल कम से कम 40,000 महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा, इसके आधार पर, राज्य सरकार हर साल इस योजना के तहत 8 करोड़ रुपये खर्च करेगी।


नासा के मुख्यालय भवन का नाम ‘मैरी डब्ल्यू. जैकसन’ के नाम पर रखा गया

नासा ने अपनी पहली अफ्रीकी अमेरिकी महिला इंजीनियर मैरी डब्ल्यू.जैकसन के नाम पर अपने मुख्यालय का नाम रखा है। मैरी जैक्सन की सफलता की कहानी 2016 की जीवनी ‘हिडन फिगर्स’ में दिखाई गई थी। वाशिंगटन डीसी में नासा के मुख्यालय के बाहर की सड़क को 2019 में हिडन फिगर्स वे के रूप में नामित किया गया था।

मैरी डब्ल्यू. जैक्सन

एयरोनॉटिक्स के लिए राष्ट्रीय सलाहकार समिति ने 1951 में मैरी डब्ल्यू. जैकसन की नियुक्ति की। इस समिति को 1958 में राष्ट्रीय एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था।

मैरी डब्ल्यू. जैक्सन ने नासा के लैंगली रिसर्च सेंटर में एक शोध गणितज्ञ के रूप में अपने पेशेवर करियर की शुरुआत की। बाद में उन्हें नासा में पहली अफ्रीकी अमेरिकी महिला इंजीनियर बनने के लिए पदोन्नत किया गया था। उन्होंने अफ्रीकी अमेरिकियों के लिए और साथ ही महिलाओं के लिए समाज में मौजूद यथास्थिति को स्वीकार नहीं करने के अवसर खोले। 2005 में मैरी डब्ल्यू. जैक्सन की मृत्यु हुई थी।


विनी महाजन पंजाब की पहली महिला मुख्य सचिव बनी 1987 भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) बैच अधिकारी विनी महाजन पंजाब की पहली महिला  मुख्य सचिव बन गयी हैं। उन्होंने करन अवतार सिंह की जगह ली, जिन्होंने शासन सुधारों के लिए विशेष मुख्य सचिव का पदभार संभाला।

विनी महाजन पंजाब राज्य में उपायुक्त का पद संभालने वाली पहली महिला अधिकारी भी हैं। वह 1995 में रोपड़ जिले के उपायुक्त बनी थीं।

करियर के हाइलाइट्स

मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली से 12वीं करने के बाद , उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक की पढ़ाई पूरी की। उन्होंने कलकत्ता के भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM कलकत्ता) से पोस्ट ग्रेजुएशन किया।

उनके नाम पर कई शैक्षणिक उपलब्धियाँ हैं जिनमें राष्ट्रीय प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति, आईआईएम कोलकाता से रोल ऑफ ऑनर आदि शामिल हैं।

वैश्विक COVID-19 महामारी की पंजाब राज्य सरकार की प्रतिक्रिया में, उन्होंने पंजाब सरकार के स्वास्थ्य क्षेत्र प्रतिक्रिया और अधिप्राप्ति समिति के अध्यक्ष के रूप में विभिन्न पहलों को संचालित करके एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।  वह 2004-05 में केंद्रीय वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग में निदेशक के पद पर रह चुकी हैं।


अपोलो टायर्स ने आंध्र प्रदेश में अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट को कमीशन किया

2016 के समझौता ज्ञापन (एमओयू) के अनुसार आंध्र प्रदेश राज्य सरकार और अपोलो टायर्स लिमिटेड के बीच हस्ताक्षर किए गए थे, जिसके तहत कंपनी ने राज्य के चित्तूर जिले में अपनी नई विनिर्माण इकाई स्थापित करने का निर्णय लिया था। इस विनिर्माण संयंत्र की आधारशिला 9 जनवरी, 2018 को रखी गई थी।

मुख्य बिंदु

25 जून, 2020 को कंपनी ने इस विनिर्माण संयंत्र को कमीशन करने की घोषणा की, यह प्लांट 256 एकड़ में फैला हुआ है। अत्याधुनिक विनिर्माण सुविधा स्थापित करने के लिए 3,800 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। यह विश्व स्तर पर अपोलो टायर्स की 7वीं विनिर्माण इकाई और भारत में 5वीं इकाई है ।

उच्च स्वचालित विनिर्माण संयंत्र की स्थापना के लिए जो घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों बाजारों को पूरा करेगा, इसमें 35 मिलियन टन स्टील का उपयोग और 1.23 लाख घन मीटर कंक्रीट का उपयोग किया गया।

कंपनी ने इस समय लगभग 850 लोगों को नियुक्त किया है (अधिकांश स्थानीय लोग)। निर्मित क्षेत्र की फैसिलिटी 2,16,000 वर्ग मीटर है। संयंत्र में एक मॉड्यूलर लेआउट है और यह सूचना प्रौद्योगिकी-संचालित प्रणालियों और रोबोटिक्स का उपयोग करता है।

2022 तक, विनिर्माण संयंत्र के माध्यम से, कंपनी ने 15,000 यात्री कार टायर और 3,000 ट्रक-बस रेडियल उत्पादन प्रति दिन करने का लक्ष्य रखा है।



3 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved