Search

23th January | Current Affairs | MB Books


1. वैश्विक जोखिम रिपोर्ट, 2021

विश्व आर्थिक मंच ने हाल ही में वैश्विक जोखिम रिपोर्ट, 2021 के सोलहवें संस्करण का विमोचन किया। यह रिपोर्ट विश्व आर्थिक मंच के 650 से अधिक सदस्यों द्वारा किए गए वैश्विक जोखिम धारणा सर्वेक्षण के आधार पर जारी की गई थी।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु : इस रिपोर्ट के अनुसार, निम्नलिखित अल्पकालिक (0 से 2 वर्ष) जोखिम होंगे:

  • संक्रामक रोग

  • चरम मौसम की घटनाएँ

  • आजीविका के रोग

  • मध्यम अवधि (3 से 5 वर्ष) के जोखिम हैं:

  • आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर ब्रेकडाउन

  • मूल्य अस्थिरता

दीर्घकालिक (5 से 10 वर्ष) जोखिम हैं:

  • राज्य का पतन

  • जन संहार के हथियार

  • जैव विविधता के नुकसान

रिपोर्ट से पहचाने गए शीर्ष जोखिम : अगले दस वर्षों में शीर्ष तीन जोखिम हैं : जलवायु कार्रवाई विफलता, चरम मौसम और मानव पर्यावरणीय क्षति हैं। प्रभाव के आधार पर शीर्ष तीन जोखिम हैं : जलवायु कार्रवाई विफलता, संक्रामक रोग और सामूहिक विनाश के हथियार हैं। वैश्विक जोखिमों की सूची 2020 में संक्रामक रोग को दसवें स्थान पर रखा गया था।

रिपोर्ट के बारे में : विश्व आर्थिक मंच के आगामी दावोस एजेंडा शिखर सम्मेलन से पहले यह रिपोर्ट जारी की गई थी । इस वर्ष, 2021 में, वर्ल्ड इकोनॉमिक फ़ोरम में दावोस एजेंडा समिट के साथ ग्रेट रिसेट इनिशिएटिव शुरू किया जाना है। इस रिपोर्ट का मुख्य उद्देश्य संकट के समय के लिए सरकार और अन्य अंतर्राष्ट्रीय समुदायों को तैयार करना है।

सुझाव : COVID-19 की प्रतिक्रियाओं से सबक लेने के लिए इस रिपोर्ट ने वैश्विक समुदाय को निम्नलिखित सुझाव दिए हैं :

  • विश्लेषणात्मक रूपरेखा तैयार करना

  • स्पष्ट और सुसंगत संचार के माध्यम से विश्वास का निर्माण करना

  • साझेदारी के नए रूप


2. कैबिनेट ने चेनाब नदी पर 850 MW की रतले परियोजना के लिए 5,282 करोड़ रुपये के निवेश को दी मंजूरी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में चिनाब नदी पर स्थित 850 मेगावाट की रतले पनबिजली (hydropower) परियोजना के लिए 5281.94 करोड़ रुपये के निवेश को अपनी मंजूरी दे दी है। केंद्रशासित प्रदेश में रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण पनबिजली परियोजनाओं के पुनर्गठन के लिए केंद्र की योजना के तहत इस परियोजना को कार्यान्वित किया जा रहा है।

इस परियोजना का विकास राष्ट्रीय जल विद्युत निगम (National Hydroelectric Power Corporation) और जम्मू-कश्मीर राज्य विद्युत विकास निगम लिमिटेड (Jammu & Kashmir State Power Development Corporation Ltd) की क्रमशः 51% और 49% हिस्‍सेदारी वाली एक नई संयुक्त उद्यम कंपनी (जेवीसी) द्वारा किया जाएगा।

3. श्रम शक्ति पोर्टल को लांच किया गया

जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा ने हाल ही में एक राष्ट्रीय प्रवासन सहायता पोर्टल- “श्रमशक्ति” को लांच किया है। यह पोर्टल वर्चुअली गोवा के पंजिम में लॉन्च किया गया था।

मुख्य बिंदु : श्रमशक्ति पोर्टल प्रवासी श्रमिकों के लिए राष्ट्रीय और राज्य-स्तरीय कार्यक्रमों को आसान बनाने में मदद करेगा। इस इवेंट के दौरान एक आदिवासी प्रवासन कक्ष “श्रम साथी” और गोवा में एक आदिवासी संग्रहालय का भी शुभारंभ किया गया।

श्रमसाथी प्रवासी श्रमिकों के लिए एक प्रशिक्षण पुस्तिका है। गोवा में समर्पित प्रवासन सेल विभिन्न राज्यों से गोवा आने वाले प्रवासी श्रमिकों का समर्थन करेगा। प्रवासन सेल का शुभारंभ गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत द्वारा किया गया था।

यह पोर्टल और माइग्रेशन सेल राज्य सरकार को प्रवासी श्रमिकों से संबंधित वास्तविक समय के आंकड़ों पर नज़र रखने में मदद करेगा। यह प्रवासी कल्याण योजना के तहत प्रवासी आबादी को जोड़ने के लिए सरकार की मदद भी करेगा।

श्रम शक्ति के माध्यम से जो डेटा रिकॉर्ड किया जाएगा उसमें आजीविका विकल्प, जनसांख्यिकीय प्रोफ़ाइल, माइग्रेशन पैटर्न और कौशल मानचित्रण शामिल होंगे।

श्रम साथी प्रवासी श्रमिकों को उनके अधिकारों से अवगत करवाएगा और उन्हें सेवाओं और सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का उपयोग करने के तरीके के बारे में भी शिक्षित करेंगे। यह आजीविका प्रवासन की प्रक्रिया को उत्पादक और सुरक्षित भी बना देगा।


4. उत्तराखंड के पहले बाल सुलभ पुलिस स्टेशन का उद्घाटन करेंगे सीएम

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, त्रिवेंद्र सिंह रावत, उत्तराखंड के पहले बाल-सुलभ पुलिस स्टेशन का उद्घाटन करेंगे, जिसका उद्देश्य अपराधों से जुड़े बच्चों को एक अनुकूल वातावरण प्रदान करना है।

उत्तराखंड की बाल संरक्षण समिति की सिफारिश पर लगभग 5 लाख रुपये के बजट के साथ डालनवाला पुलिस स्टेशन में बाल-सुलभ पुलिस इकाई की स्थापना की गई है।

स्टेट कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (SCPCR) की चेयरपर्सन उषा नेगी के अनुसार, जो बच्चे या तो पीड़ित हैं या उन्हें उचित काउंसलिंग की जरूरत है या अन्य कारणों से पुलिस स्टेशन आते है, उन्हें एक निष्क्रिय और डरावने माहौल में रखने की तुलना में आरामदायक और निर्भीक वातावरण प्रदान किया जाना चाहिए।

बच्चों को सहज रखने के लिए, दीवारों को चमकीले रंगों और कार्टून में चित्रित किया गया है और पुलिस कर्मियों भी अपनी वर्दी के बजाय कैसुअल कपड़े पहनेंगे।


5. 23 जनवरी : पराक्रम दिवस (सुभाष चन्द्र बोस जयंती)

आज 23 जनवरी, 2021 को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती के अवसर पर देश भर में ‘पराक्रम दिवस’ मनाया जा रहा है। इस वर्ष नेताजी की 125वीं जयंती मनाई जा रही है। 125वीं जयंती के अवसर पर देश-भर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा

भारत सरकार ने हाल ही में घोषणा की कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को “पराक्रम दिवस” ​​के रूप में मनाया जाएगा। नेताजी का जन्म 23 जनवरी, 1897 को हुआ था।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस : नेताजी एक भारतीय राष्ट्रवादी थे।उनका जन्म कटक में हुआ था। उन्होंने दर्शनशास्त्र में डिग्री हासिल की और बाद में भारतीय सिविल सेवा के लिए चुने गए। उन्होंने इसमें शामिल होने से इनकार कर दिया क्योंकि वह ब्रिटिश सरकार की सेवा नहीं करना चाहते थे।

नेताजी 1921 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए।

नेताजी ने “स्वराज” नाम से एक अखबार शुरू किया था।उन्होंने “द इंडियन स्ट्रगल” नामक एक पुस्तक लिखी थी। इस पुस्तक में 1920 और 1942 के बीच भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन को शामिल किया गया है।

“जय हिंद” शब्द नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा गढ़ा गया था।

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में नेताजी : नेताजी को 1925 में उनकी राष्ट्रवादी गतिविधियों के लिए जेल में डाल दिया गया था।बाद में 1927 में उन्हें रिहा किया गया। उनकी रिहाई के बाद, वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के महासचिव बने।

उन्होंने 1939 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक भाग के रूप में ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक का गठन किया।

1941 में बोस अफगानिस्तान और सोवियत संघ के रास्ते जर्मनी चले गये थे।जर्मनी में, नेताजी जर्मन नेताओं और अन्य भारतीय छात्रों और यूरोपीय राजनीतिक नेताओं से मिले।

उन्होंने 4,500 भारतीय सैनिकों के साथ ‘Indian Legion’ की स्थापना की।इन सैनिकों को उत्तरी अफ्रीका से जर्मनों द्वारा कैद किया गया था। 1943 में, उन्होंने जापान के लिए प्रस्थान किया और ‘इंडियन नेशनल आर्मी’ को पुनर्जीवित किया।


6. कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा ने Avalokana सॉफ्टवेयर लॉन्च किया

कर्नाटक के मुख्यमंत्री, बीएस येदियुरप्पा ने हाल ही में Avalokana सॉफ्टवेयर लॉन्च किया है। सॉफ्टवेयर राज्य सरकार को 1,800 कार्यक्रमों पर किए गए व्यय और अनुमोदन पर डेटा का उपयोग करने में सक्षम करेगा।

यह सॉफ्टवेयर सतत विकास लक्ष्यों, अनुसूचित जाति उप-योजना, जनजातीय उप-योजना और केंद्र प्रायोजित योजनाओं पर ध्यान केंद्रित करता है।

यह एक पारदर्शी ई-गवर्नेंस उपकरण है जो विभिन्न सरकारी कार्यक्रमों के लिए सरकारी अनुदान और आवंटन के विधानसभा क्षेत्रवार रिलीज प्रदान करेगा।

इससे सरकार को विभाग द्वारा किए गए खर्च के आधार पर फंड्स जारी करने का निर्णय लेने में मदद मिलेगी।

यह अंततः संसाधनों पर सरकार की पकड़ को बढ़ाएगा। सॉफ्टवेयर अनुसूचित जाति उप-योजना, सतत विकास लक्ष्यों और आदिवासी उप-योजना और केंद्र प्रायोजित योजना पर एक केंद्रित दृष्टिकोण प्रदान करता है।


7. ओडिशा में तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेले का उद्घाटन किया गया

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 21 जनवरी को भुवनेश्वर में वार्षिक तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेला का उद्घाटन किया। इस शिल्प मेले का उद्घाटन वर्चुअली किया गया।

मुख्य बिंदु : तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेले में आने वाले सभी आगंतुकों को कोविड-19 मानदंडों का पालन करने की सलाह दी गई है। तोशाली शिल्प मेला पूर्वी भारत में सबसे लोकप्रिय हथकरघा और हस्तशिल्प मेलों में से है। इस इवेंट में तीन कारीगरों को राज्य हस्तशिल्प पुरस्कार 2019 प्रदान किया गया। यह तीन विजेता हैं- दिलीप कुमार स्वैन (ताड़ का पत्ता उत्कीर्णन), दिव्यज्योति बेहरा (पत्थर शिल्प), और प्रियंका पात्रा (टेराकोटा)। यह पुरस्कार हथकरघा, कपड़ा और हस्तशिल्प की राज्य मंत्री पद्मिनी दियान द्वारा दिया गया। सात अन्य कारीगरों को राज्य कलाकृती पुरस्कार से सम्मानित किया गया। राज्य कलाकृती पुरस्कार विजेता हैं : रोनीबाला महापात्रा (पटचित्र), सुशांत कुमार दास और नित्यानंद सा (पत्थर शिल्प), सुरेश चंद्र महापात्रा (applique), निर्मल चंद्र दास (ताड़ का पत्ता उत्कीर्णन) और कुनी पात्रा (कॉयर शिल्प) हैं।

इस इवेंट के लिए जनता मैदान स्थल पर कुल 250 स्टॉल लगाए गए हैं, जिसमें देश भर से सर्वश्रेष्ठ हथकरघा और हस्तशिल्प प्रदर्शित किए गए हैं। इनमे से 170 स्टाल ओडिशा वस्त्र और शिल्प का प्रतिनिधित्व करते हैं और 80 स्टॉल अन्य राज्यों के हैं।

तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेला 4 फरवरी तक (दैनिक दोपहर 2 बजे से 9 बजे तक) आम लोगों के लिए खुला है।


8. एक्सिस बैंक ने लॉन्च किया स्वास्थ्य, कल्याण सुविधाओं से लैस ‘AURA’ क्रेडिट कार्ड

एक्सिस बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए विशेष रूप से किफायती मूल्य पर कई स्वास्थ्य और कल्याण सुविधाओं से लैस एक क्रेडिट कार्ड ‘AURA’ लॉन्च किया है।

एक्सिस बैंक ने कार्डहोल्डर्स को Decathlon, Practo, Fitternity, IndushealthPlus, 1MG आदि जैसे स्वास्थ्य संबंधी और विशेषज्ञों की एक पूर्ण और विशिष्ट स्वास्थ्य सुविधा समाधान की पेशकश करने के लिए पॉशविने के साथ भागीदारी की है।

कार्डधारकों को IndushealthPlus के माध्यम से वार्षिक मेडिकल चेकअप कराने पर छूट मिलेगी।

इसमें एक महीने में 4 मुफ्त ऑनलाइन वीडियो परामर्श प्रदान करता है, जिसमें सभी 21 विशिष्टताओं पर चौबीस घंटे डॉक्टरों उपलब्ध रहेंगे। यह प्रोक्टो द्वारा पेश किया गया है।

इसमें Fitternity द्वारा एक महीने के लिए 4 मुफ्त ऑनलाइन इंटरेक्टिव फिटनेस सत्र भी प्रदान किए जाएंगे।

इस कार्ड के माध्यम से, उपयोगकर्ता एक महीने के लिए 16 रिकॉर्ड किए गए प्रशिक्षण सत्रों तक पहुँच प्राप्त कर सकते हैं और कई सत्रों जैसे योग और क्रॉस-फ़ंक्शनल ट्रेनिंग प्रोग्राम आदि से चुन सकते हैं।


9. Reliance Industries का शुद्ध लाभ 12 फीसदी बढ़कर 13101 करोड़ रुपए हुआ

रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. के चालू वित्त वर्ष की दिसंबर, 2020 में समाप्त तीसरी तिमाही के शुद्ध लाभ में 12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। तेल से लेकर रसायन कारोबार में सुधार तथा समूह की खुदरा कंपनी के कारोबार तथा दूरसंचार इकाई जियो के कारोबार में सतत वृद्धि से कंपनी का शुद्ध लाभ बढ़ा है। अरबपति उद्योगपति मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी ने शुक्रवार को बयान में कहा कि तिमाही के दौरान उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 12 प्रतिशत बढ़कर 13,101 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 11,640 करोड़ रुपए रहा था। बयान में कहा गया है कि तेल से रसायन या ओ2सी कारोबार में तिमाही-दर-तिमाही आधार पर सुधार रहा, लेकिन इसकी आमदनी एक साल पहले की समान तिमाही से कम रही। हालांकि उपभोक्ता केंद्रित कारोबार दूरसंचार और खुदरा कंपनी के कारोबार के अच्छे प्रदर्शन से इसकी भरपाई हो गई। कंपनी समूह की आमदनी में इन दोनों खंडों की हिस्सेदारी अब 51 प्रतिशत हो गई है जो एक साल पहले 37 प्रतिशत थी। बयान में कहा गया है कि उसके कुल कर-पूर्व लाभ (ईबीआईटीडीए) लाभ में करीब 56 प्रतिशत यानी 8,483 करोड़ रुपए का जियो और रिलायंस रिटेल से आया। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, तिमाही के दौरान हमने मजबूत परिचालन नतीजे दिए हैं। ओ2सी और खुदरा खंड में मजबूत पुनरोद्धार हुआ है वहीं डिजिटल सेवा कारोबार सतत वृद्धि दर्ज कर रहा है। अंबानी ने कहा कि दुनिया अब जलवायु परिवर्तन पर मजबूत कार्रवाई कर रही है। ऐसे में रिलायंस के पास अपने महत्वाकांक्षी नई ऊर्जा और नए सामग्री कारोबार को रफ्तार देने का यह अच्छा अवसर है। शुद्ध लाभ में बढ़ोतरी को डिजिटल इकाई जियो प्लेटफार्म्स और रिलायंस रिटेल में गूगल/वित्तीय निवेशकों से नकदी आने से सालाना आधार पर कर्ज के खर्च में 20 प्रतिशत की कमी से भी मदद मिली। आलोच्य तिमाही में कंपनी का कुल राजस्व 18.6 प्रतिशत घटकर 1,37,829 करोड़ रुपए रह गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज की दूरसंचार इकाई जियो का दिसंबर, 2020 में समाप्त तीसरी तिमाही का शुद्ध लाभ तिमाही दर तिमाही आधार पर 15.5 प्रतिशत बढ़कर 3,489 करोड़ रुपए रहा है। तिमाही के दौरान कंपनी के कुल ग्राहकों की संख्या में 2.5 करोड़ से अधिक की वृद्धि हुई। दिसंबर के अंत तक कंपनी के कुल ग्राहकों की संख्या 41.08 करोड़ थी। कंपनी की मासिक प्रति ग्राहक औसत कमाई (एआरपीयू) तिमाही के दौरान 151 रुपए रही, जो इससे पिछली तिमाही जुलाई-सितंबर में 145 रुपए रही थी। फैशन और लाइफ स्टाइल कारोबार में जोरदार सुधार से कंपनी का खुदरा कारोबार कोविड-19 के पूर्व के स्तर पर पहुंच गया। इस खंड का नकद मुनाफा 76.3 प्रतिशत बढ़कर 2,482 करोड़ रुपए रहा। कुल मिलाकर खुदरा कारोबार की आमदनी ईंधन खुदरा कारोबार को अलग इकाई में स्थानांतरित करने से प्रभावित हुई। इस इकाई में ब्रिटेन की बीपी पीएलसी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कुल मिलाकर कंपनी ने 327 नए स्टोर जोड़े और इनकी संख्या बढ़कर 12,201 पर पहुंच गई। महामारी की वजह से ईंधन की मांग प्रभावित होने से परंपरागत ओ2सी कारोबार का ईबीआईटीडीए 28.1 प्रतिशत घटकर 8,756 करोड़ रुपए रह गया। हालांकि तिमाही आधार पर इसमें वृद्धि हुई। तिमाही दर तिमाही आधार पर कर्ज/ब्याज की लागत 29 प्रतिशत घटकर 4,326 करोड़ रुपए रह गई। रिलायंस ने कहा कि उसने जियो प्लेटफार्म्स और रिलायंस रिटेल में वैश्विक निवेशकों को अल्पांश हिस्सेदारी बिक्री से धन जुटाने का काम पूरा कर लिया है। कंपनी ने जियो में 1,52,056 करोड़ रुपए और रिटेल में 47,265 करोड़ रुपए जुटाए हैं। 2,20,231 करोड़ रुपए के नकदी प्रवाह से यह शुद्ध नकदी अधिशेष वाली कंपनी बन गई है। कंपनी का कुल कर्ज दिसंबर के अंत तक घटकर 2,57,413 करोड़ रुपए रह गया, जो मार्च, 2020 के अंत तक 3,36,294 करोड़ रुपए था। वहीं कंपनी के हाथ में नकदी 1,75,259 करोड़ रुपए से बढ़कर 2,20,524 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। कंपनी पर कर्ज उसके पास पड़ी नकद धन से 2,954 करोड़ रुपए कम था।


10. RBI ने स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पर लगाया दो करोड़ रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक-इंडिया पर धोखाधड़ी के बारे में बैंकिंग नियामक को बताने में देरी के लिए दो करोड़ रुपये का आर्थिक जुर्माना लगाया है।

स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पर आर्थिक जुर्माना 'भारतीय रिजर्व बैंक (धोखाधड़ी - कमर्शियल बैंकों और चुनिंदा वित्तीय संस्थानों द्वारा वर्गीकरण और सूचित करना) दिशा-निर्देश 2016' के कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने के चलते लगाया गया।

स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा गया कि निर्देशों का पालन न करने के लिए उन पर जुर्माना क्यों न लगाया जाए।

नोटिस पर बैंक के जवाब, निजी सुनवाई में मौखिक दलीलों के मद्देनजर, रिजर्व बैंक ने पाया कि आरोपी को अनियमितता और गैर-अनुपालन का दोषी पाया गया और उस पर मौद्रिक जुर्माना लगाया गया।


11. एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक (D-SIBs) के रूप में बरक़रार

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कहा कि निजी करदाता आईसीआई बैंक (ICICI Bank) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के साथ-साथ राज्य स्वामित्व वाले भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI), जो इतने बड़े बैंक है कि कभी डूब (too-big-to-fail) नहीं सकते, को डोमेस्टिक सिस्‍टेमिकली इम्‍पोर्टेंट बैंक्‍स (D-SIBs) के रूप में निरंतर बरकरार हैं।

एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक की पहचान 2018 के D-SIB की सूची के समान बकेटिंग संरचना के तहत घरेलू प्रणालीगत रूप से महत्वपूर्ण बैंकों (D-SIB) के रूप में की गई है।

SIB को पर्यवेक्षण के उच्च स्तर के अधीन किया जाता है ताकि किसी भी विफलता की स्थिति में वित्तीय सेवाओं में व्यवधान को रोका जा सके।

रिज़र्व बैंक ने जुलाई 2014 को घरेलू प्रणालीगत रूप से महत्वपूर्ण बैंकों (D-SIB) से निपटने के लिए रूपरेखा जारी की थी।

D-SIB ढांचे के लिए रिज़र्व बैंक को 2015 से शुरू होने वाले D-SIB के रूप में नामित बैंकों के नामों को प्रकट करने की आवश्यकता है और इन बैंकों को उनके प्रणालीगत महत्व के स्कोर (SISs) के आधार पर उपयुक्त बकेट में रखना है।

SIB को वित्तीय संकट के समय में सरकार के लिए समर्थन की उम्मीद पैदा करने वाले इतने बड़े बैंक जो कभी डूब (too-big-to-fail) नहीं सकते, के रूप में देखा जाता है। ये बैंक फंडिंग मार्केट में कुछ खास फायदों का भी आनंद लेते हैं।


12. गुजरात के सानंद में भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक्स पार्क बनाया जायेगा

भारत में सबसे बड़े मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण गुजरात में किया जाएगा। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की मौजूदगी में इस संबंध में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

मुख्य बिंदु : देश के सबसे बड़े मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण गुजरात के अहमदाबाद जिले में सानंद के पास विरोचन नगर में किया जाएगा। गुजरात सरकार और अदानी पोर्ट और एसईजेड लिमिटेड ने गांधीनगर में मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौते पर अदानी पोर्ट्स और सेज लिमिटेड के करन गौतम अडानी और अतिरिक्त मुख्य सचिव एम. के. दास ने हस्ताक्षर किए थे।

इस पार्क का निर्माण 1,450 एकड़ में फैले क्षेत्र में किया जाएगा। इस पार्क में एक बड़े आकार के कार्गो विमान को संभालने के लिए 4.6 किलोमीटर लंबे रनवे के साथ एक समर्पित एयर कार्गो कॉम्प्लेक्स भी होगा। यह सीधी सड़क, हवाई और रेल संपर्क प्रदान करेगा। यह लॉजिस्टिक्स पार्क एक समर्पित फ्रेट कॉरिडोर के साथ सीधी रेल कनेक्टिविटी प्रदान करेगा जो दिल्ली-मुंबई औद्योगिक गलियारे का हिस्सा है।

इस मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के निर्माण के लिए कुल निवेश लगभग 50,000 करोड़ रुपये होगा। इस पार्क में 25,000 व्यक्तियों के लिए अप्रत्यक्ष और प्रत्यक्ष रोजगार उत्पन्न करने की क्षमता भी होगी यह। मल्टी-मॉडल पार्क अगले 3 वर्षों में पूरा हो जाएगा।


13. अंडमान और निकोबार कमांड ने किया संयुक्त सैन्य अभ्यास 'कवच'

भारतीय सेना अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी में बड़े पैमाने पर संयुक्त सैन्य अभ्यास कवच आयोजित करने जा रही है। यह अभ्यास अंडमान और निकोबार कमान के तत्वावधान में होना है।

संयुक्त सैन्य अभ्यास कवच में भारतीय नौसेना, भारतीय थल सेना, भारतीय वायु सेना और भारतीय तट रक्षक शामिल होंगे।

संयुक्‍त बल अंडमान सागर एवं बंगाल की खाड़ी में बहुक्षेत्रीय, उच्‍च मारक क्षमता तथा रक्षात्‍मक प्रणाली को कार्यान्वित करेगा। साथ ही जलस्‍थली लैंडिंग, एयर लैंडिंग संचालन, हेलिकॉप्‍टर से सुसज्जित समुद्र से लेकर भूमि तक विशेष बलों के संचालन के कार्य को पूरा करेगा।

यह अभ्यास भारत की तीनों सेनाओं की संयुक्त युद्ध क्षमताओं को बेहतर करने के लिए है।

कवच अभ्यास में समन्वित हवाई और समुद्री हमले, समुद्री निगरानी परिसंपत्तियों के समन्वित अनुप्रयोग, वायु रक्षा और लैंडिंग ऑपरेशन शामिल होंगे।

कवच अभ्यास के साथ, संयुक्त खुफिया निगरानी टोही (ISR) अभ्यास भी आयोजित किया जाएगा। ISR खुफिया जानकारी जुटाने की क्षमताओं को मान्य करेगा। साथ ही, यह अंतरिक्ष, भूमि, वायु और समुद्र से सूचना साझा करने की क्षमताओं को मान्य करेगा।


14. भारतीय गणितज्ञ निखिल श्रीवास्तव ने जीता माइकल और शीला हेल्ड पुरस्कार

हाल ही में भारतीय गणितज्ञ निखिल श्रीवास्तव को प्रतिष्ठित 2021 माइकल और शीला हेल्ड पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इस पुरस्कार के लिए दो अन्य लोगों को भी चुना गया है।

मुख्य बिंदु : इस पुरस्कार अन्य दो विजेता हैं- येल यूनिवर्सिटी के डैनियल एलन स्पिलमैन और इकोल पॉलीटेक्निक फेडरेल डी लुसाने (Ecole polytechnique federale de Lausanne-EPFL)। इन तीनों को रामानुजन रेखांकन (Ramanujan Graphs) और कैडिसन-सिंगर प्रॉब्लम (Kadison-Singer Problem) पर लंबे समय तक सवाल हल करने के लिए विजेताओं के रूप में नामित किया गया है। इन सवालों को हल करते हुए, उन तीनों ने रैखिक बीजगणित, ग्राफ सिद्धांत और बहुपद की ज्यामिति के बीच एक नए संबंध को उजागर किया।

उन्होंने एक दशक तक चलने वाली समस्या का समाधान प्रकाशित किया जिसे कडिसन-सिंगर प्रॉब्लम कहा जाता है। इन विजेताओं की घोषणा नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज द्वारा की गई थी।

वर्तमान में, निखिल श्रीवास्तव कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में गणित के एसोसिएट प्रोफेसर हैं।

माइकल और शीला हेल्ड पुरस्कार : यह एक वार्षिक पुरस्कार है जो असतत और दहनशील अनुकूलन या जटिलता विज्ञान और एल्गोरिदम के डिजाइन और विश्लेषण जैसे कंप्यूटर विज्ञान के संबंधित भागों में अभिनव, उत्कृष्ट, प्रभावशाली और रचनात्मक अनुसंधान को सम्मानित करता है। इस पुरस्कार की स्थापना 2017 में की गयी थी।


15. MeITY और AWS ने भारत में क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब की घोषणा की

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने अमेज़ॅन वेब सर्विसेज (AWS) के साथ साझेदारी में एक क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लिकेशन लैब की स्थापना की घोषणा की है।

यह कदम चुनिंदा शोधकर्ताओं, वैज्ञानिकों को अमेज़न की ब्रैकेट क्लाउड-आधारित क्वांटम कंप्यूटिंग सेवा तक पहुंच प्रदान करेगा।

यह विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत संचालित विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा लागू किया जाना है।

मिशन मौलिक विज्ञान, प्रौद्योगिकी विकास पर केंद्रित है और राष्ट्रीय प्राथमिकताओं से संबंधित मुद्दों को संबोधित करता है।

यह अगली पीढ़ी की कुशल जनशक्ति तैयार करेगा और उद्यमशीलता और स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास को प्रोत्साहित करेगा।

केंद्रीय बजट 2020-21 ने क्वांटम टेक्नोलॉजीज और एप्लीकेशन पर राष्ट्रीय मिशन पर 8,000 करोड़ रुपये खर्च करने का प्रस्ताव दिया था।


16. मलयालम अभिनेता उन्नीकृष्णन नमबोथिरी का निधन

अनुभवी मलयालम अभिनेता, उन्नीकृष्णन नमबोथिरी का निधन COVID-19 के संक्रमण के दौरान हुआ। उन्होंने 1996 में देसदनम (Desadanam) से अभिनय की शुरुआत की। हालांकि, वह कल्याणरमन (2002) में एक मजाकिया दादा के रूप में उनके अभिनय के लिए मलयालम फिल्म दर्शकों के बीच एक घरेलू नाम बन गए।

उन्नीकृष्णन को काइकुदुन्ना निलावु (1998), कालियाट्टम (1997), पम्मल के सम्बंदम (2002), सदानंदंते संयम (2003), मधुरनोमबरकट्टू (2000), राप्पकल (2005), और पोक्किरी राजा (2010) जैसी फिल्मों के लिए जाना जाता है।


  • Source of Internet

11 views0 comments

Recent Posts

See All