Search

23rd July | Current Affairs | MB Books


1. भारत और US साथ मिलकर शुरू करने जा रहे हैं ड्रोन विकास कार्यक्रम

अमेरिका (America) और भारत (India) साथ मिलकर ड्रोन विकास कार्यक्रम शुरू करने पर बातचीत कर रहे हैं, जो किसी वायुयान से उड़ाया जा सकता है। पेंटागन की एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। अमेरिका-भारत व्यवसाय परिषद (USIBC) के द्वारा आयोजित भारत विचार शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए अमेरिका के रक्षा मंत्रालय की एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि अमेरिकी वायुसेना की शोध प्रयोगशालाओं ने मानवरहित हवाई वाहन (UAV) के विकास को लेकर एक भारतीय स्टार्टअप के साथ शोध व विकास समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसे आसमान से ही छोड़ा जा सकता है।

अमेरिका की उप रक्षा मंत्री (अधिग्रहण) एलेन एम लॉर्ड ने कहा, ‘‘मैं एक ऐसी रोमांचक परियोजना की जानकारी देना चाहूंगी, जिसके बारे में हम अभी बातचीत कर रहे हैं। UAV अमेरिकी वायुसेना की शोध प्रयोगशालाओं, भारतीय वायुसेना (IAF), भारत के रक्षा शोध एवं विकास संगठन (DRDO) और एक भारतीय स्टार्टअप कंपनी के लिए साझा विकास कार्यक्रम होंगे।''

अमेरिका-भारत रक्षा प्रौद्योगिकी एवं व्यापार मुहिम (DTTI) के लिए पेंटागन की प्रतिनिधि लॉर्ड ने कहा कि 14 सितंबर के सप्ताह में DTTI की अगली समूह बैठक और इससे पहले वाले सप्ताह में DTTI औद्योगिक गठजोड़ फोरम की दूसरी बैठक आयोजित करने की योजना है। लॉर्ड को प्राय: अमेरिका के रक्षा विभाग के लिए मुख्य हथियार खरीदार के रूप में संबोधित किया जाता है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में अमेरिका और भारत के रक्षा सहयोग ने शानदार प्रगति की है। इस सहयोग ने दोनों देशों की सरकारों के बीच करीबी संबंध बनाया है और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में बेहतर स्थिरता सुनिश्चित की है।

उन्होंने कहा कि भारत को अमेरिका की रक्षा बिक्री पिछले 10 वर्षों में तेजी से बढ़ी है और अमेरिका रक्षा समाधानों के मामले में भारत की पहली पसंद बनने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले साल DTTI में कई चीजें ऐसी हुईं, जो पहली बार हुईं। उन्होंने कहा कि साझा विकास की पहली परियोजना के समझौते पर बातचीत चल रही है। लॉर्ड ने कहा कि पहले औद्योगिक सहयोग फोरम का आयोजन किया जा चुका है। उन्होंने DTTI के साथ भागीदारी को लेकर औद्योगिक दिशा-निर्देश जारी किए जाने की भी घोषणा की।


2. China Mars Mission : मंगल ग्रह पर बर्फ का पता लगाएगा चीन, अंतरिक्ष में भेजा 'तिओनवेन 1'

चीन ने मंगल ग्रह के लिए अपने पहले अंतरिक्ष यान 'तिआनवेन-1' को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया है। यह यान मंगल की सतह पर किन जगहों पर बर्फ है, इसका पता लगाएगा। चीन का सबसे हैवी रॉकेट लॉन्ग मार्च-5 Y4 यान को लेकर रवाना हुआ। तिआनवेन 1 दक्षिण चीन के हेनान प्रांत के वेनचांग स्पेस लॉन्च सेंटर से रवाना किया गया है। चीन ने दावा किया है कि इस यान से अनंत अंतरिक्ष में खोज के लिए नए युग की शुरूआत होगी।

चीन के नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक, 2000 सेकेंड की उड़ान के बाद तिआनवेन 1 पृथ्वी और मंगल की कक्षा में प्रवेश कर, मंगल ग्रह की तरफ रवाना हो गया। यान को मंगल ग्रह के गुरुत्वाकर्षण वाले इलाके में प्रवेश करने के लिए, करीब सात महीने का समय लगेगा और अगले साल 2021 में यह वहां पहुंचेगा। इसके अलावा, मंगल की सतह पर लैंड करने के लिए अंतरिक्ष यान अपने साथ रोवर ले गया है।

इसकी खासियतें-

तिआनवेन-1 को मंगल के इक्वेटर के ठीक उत्तर में 'यूटोपिया इंपैक्ट बेसिन' के पास उतारने का लक्ष्य रखा गया है। यह रोवर मंगल ग्रह पर वातावरण का अध्ययन करेगा। बताया जा रहा है कि, इस यान की रूपरेखा नासा के 2000 के दशक के 'स्पिरिट एंड अपॉर्च्युनिटी' से मिलती-जुलती है।

तिआनवेन-1 का भार 240 किलोग्राम के लगभग है और इसमें आसानी से मोड़े जा सकने वाले सोलर पैनल लगे हुए हैं। इसके अलावा इसमें एक लंबा पंखा भी लगा है, जिससे तस्वीर खींचने और यान को नैविगेट करने में भी सहायता मिलती है। चीन का कहना है कि इस मिशन का लक्ष्य मंगल की सतह पर किन जगहों पर बर्फ है इसका पता लगाना है। इसके लिए इसमें पांच उपकरण भी लगाए गए हैं, जिनसे मंगल ग्रह पर मौजूद पत्थरों का विशलेषण करने एवं पानी या बर्फ की तलाश करने में मदद मिलेगी।


3. Microsoft को हुआ 11.2 अरब डॉलर का मुनाफा, कोरोना काल में बढ़ी प्रमुख उत्पादों की मांग

रेडमंड (अमेरिका)। माइक्रोसॉफ्ट ने चौथी तिमाही में 11.2 अरब डॉलर या 1.46 डॉलर प्रति शेयर का मुनाफा कमाया है, जो वॉल स्ट्रीट के अनुमान से कहीं अधिक है। वॉल स्ट्रीट में कंपनी का मुनाफा 1.34 डॉलर प्रति शेयर रहने की उम्मीद की जा रही थी।

सॉफ्टवेयर क्षेत्र की दिग्गज कंपनी ने बुधवार को अपने तिमाही नतीजों की घोषणा की। कंपनी का कहना है कि कोरोनावायरस महामारी की वजह से उसके प्रमुख उत्पादों की मांग बढ़ी है।

अप्रैल-जून की चौथी तिमाही में कंपनी की आय 13 प्रतिशत बढ़कर 38 अरब डॉलर पर पहुंच गई। फैक्टसेट के अनुसार विश्लेषक कंपनी की आय 36.5 अरब डॉलर रहने का अनुमान लगा रहे थे। कंपनी ने कहा कि सालाना आधार पर उसका वाणिज्यिक क्लाउड कारोबार पहली बार 50 अरब डॉलर के आंकड़े को पार कर गया है।

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि कोविड-19 की वजह से लोग घर से काम कर रहे हैं। इससे उसकी क्लाउड कम्प्यूटिंग सेवाओं और कार्यस्थल उत्पादकता से जुड़े उत्पादों- मसलन ई-मेल और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग उत्पादों की मांग बढ़ी है।


4. Covid 19 महामारी की रोकथाम के लिए ट्रंप ने की 5 अरब डॉलर की मदद की घोषणा

कोविड-19 के मामले बढ़ने से नर्सिंग होम में मरीजों की मौत की आशंकाओं के मद्देनजर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने महामारी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य केंद्रों को 5 अरब डॉलर की मदद देने की घोषणा की है।

यह कदम राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार जो बिडेन द्वारा पारिवारिक देखभाल योजना की घोषणा के बाद उठाया गया है। बिडेन की योजना का उद्देश्य बुजुर्गों के लिए संस्थागत देखभाल के विकल्पों का विस्तार करना और सब्सिडी देना है।

ट्रंप और बिडेन आगामी राष्ट्रपति चुनावों में देश के वरिष्ठ नागरिकों का समर्थन और वोट पाने का प्रयास कर रहे हैं। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा कि मैं हर वरिष्ठ नागरिक को मदद और उम्मीद का संदेश देना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि आशा की किरण दिखनी शुरू हो गई है और हम जल्द ही सफल हो जाएंगे। बुधवार को घोषित 5 अरब डॉलर की निधि उस पैकेज का हिस्सा है जिसमें नर्सिंग होम के कर्मियों की जांच, कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सुविधाओं की साप्ताहिक सूची और नर्सिंग होम को अतिरिक्त प्रशिक्षण और समर्थन देना शामिल है।


5. संयुक्त राष्ट्र महासभा पहली बार वर्चुअल रूप से आयोजित की जायेगी

75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा अपने इतिहास में पहली बार वर्चुअली आयोजित की जायेगी। 2020 का सत्र 15 सितंबर से शुरू होगा।

मुख्य बिंदु

इस वर्ष, विश्व नेताओं के पूर्व रिकॉर्ड किए गए बयानों को प्रसारित किया जायेगा। इस वर्चुअल बैठक की व्यवस्था के साथ, उत्तर कोरिया के किम जोंग उन के इस बैठक में भाग लेने की उम्मीद है।

प्रमुख ईवेंट

  • संयुक्त राष्ट्र संघ 2020 की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं

  • जैव विविधता शिखर सम्मेलन

  • महिलाओं पर चौथे विश्व सम्मेलन की 25वीं वर्षगांठ मनाने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक

  • जलवायु सप्ताह

पृष्ठभूमि

हर साल, दुनिया के नेता न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में मिलते हैं ताकि विश्व के महत्वपूर्ण मुद्दों पर बहस की जा सके। संयुक्त राष्ट्र महासभा, संयुक्त राष्ट्र की मुख्य नीति बनाने वाली संस्था है। यह संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अध्याय IV के तहत बनाई गयी थी। सन 1945 में सैन फ्रांसिस्को में चार्टर पर हस्ताक्षर किए गए थे।


6. साहिल सेठ को ब्रिक्स सीसीआई के लिए सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया

मुंबई सीमा शुल्क उपायुक्त साहिल सेठ को ब्रिक्स चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (CCI) के लिए संचालन समिति के मानद सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था।

मुख्य बिंदु

यह भूमिका स्वैच्छिक आधार पर है। पद के लिए कोई पारिश्रमिक शामिल नहीं है।

ब्रिक्स सी.सी.आई.

ब्रिक्स चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री एक मूल संगठन है जो ब्रिक्स में वाणिज्य और उद्योग को बढ़ावा देता है। यह 2012 में स्थापित किया गया था। ब्रिक्स सीसीआई का मुख्य उद्देश्य एमएसएमई खंड के लिए समर्थन प्रणाली बनाना है।

ब्रिक्स सीसीआई का उद्देश्य मुख्य रूप से युवा उद्यमियों तक पहुंच बनाना है।

ब्रिक्स

ब्रिक्स समूह में दुनिया की पांच प्रमुख अर्थव्यवस्थाएँ शामिल हैं, जैसे ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका। यह विश्व जनसंख्या का 42%, विश्व जीडीपी का 23% और विश्व व्यापार का 18% प्रतिनिधित्व करता है।


7. भारत का दूसरा राष्ट्रीय स्तर का प्लाज्मा बैंक तमिलनाडु में खोला गया, कोरोना रोगियों को मिलेगा बेहतर इलाज!

राष्ट्रीय राजधानी के बाद, भारत का दूसरा राष्ट्रीय स्तर का प्लाज्मा बैंक तमिलनाडु में 2.34 करोड़ रुपये की लागत से खोला गया है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजयभास्कर ने गुरुवार को यहां कहा। मंत्री ने बताया कि हम पहले परीक्षण के आधार पर प्लाज्मा विधि का संचालन कर रहे हैं। मदुरै में चार लोगों ने प्रारंभिक चरण में प्रक्रिया को सफलतापूर्वक अंजाम दिया और कुछ और बैंक आस-पास के जिलों में स्थापित किए जाएंगे। अब हमारे पास भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की स्वीकृति है और इससे राष्ट्रीय स्तर पर 2.65 करोड़ रुपये के साथ दूसरा प्लाज्मा बैंक खोला गया है।

उन्होंने आगे कहा कि सीओवीआईडी -19 रोगी को छुट्टी देने के बाद, रोगी को 14 दिनों तक इंतजार करना पड़ता है, जिससे वे अपना प्लाज्मा दान कर सकें। प्लाज्मा को रक्त से अलग किया जाएगा, जिसे एक वर्ष तक संग्रहीत और उपयोग किया जा सकता है। विजयभास्कर ने यह भी उल्लेख किया कि मृत्यु गणना पर चर्चा करने के लिए एक समिति का गठन किया गया था। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, हमने अब तक 2 मिलियन परीक्षण किए हैं और अन्य राज्यों की तुलना में परीक्षण के मामले में सबसे अधिक संख्या है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, तमिलनाडु में कुल 186,492 COVID-19 मामले सामने आए हैं, जिनमें 51,765 सक्रिय मामले है और 131,583 लोगों को ठीक किया जा चुका है।इस दौरान 3,144 मौतें भी दर्ज की गई।

8. India Ideas Summit में बोले PM मोदी, भारत में निवेश के प्रचुर अवसर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने कोविड-19 महामारी को ‘आत्मनिर्भर भारत’ के निर्माण का बड़ा मौका बताते हुए अमेरिकी निवेशकों का बीमा, ढांचागत विकास, ऊर्जा, स्वास्थ्य, नागरिक उड्डयन और रक्षा एवं अंतरिक्ष क्षेत्र में निवेश का आह्वान किया और कहा कि भारत में अवसर प्रचुर और विकल्प बहुतेरे हैं तो आशा कैसे पीछे रह सकती है।

मोदी ने अमेरिका भारत बिजनेस काउंसिल (America India Business Council) की 45वीं वर्षगांठ पर आयोजित इंडिया आईडियाज़ शिखर सम्मेलन (India Ideas Summit) को संबोधित करते हुए यह आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि भारत को विश्वभर में आशावाद है क्योंकि भारत खुलेपन, अवसरों और विकल्पों का एक समुचित मिश्रण प्रस्तुत करता है। भारत में लोगों एवं शासन दोनों में खुलापन है। खुले दिमाग से खुले बाज़ार बनते हैं और खुले बाज़ार से अधिक समृद्धि आती है। यह सिद्धांत भारत एवं अमेरिका दोनों स्वीकार करते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते 6 वर्षों में हमने अपनी अर्थव्यवस्था को अधिक खुला और सुधार केन्द्रित बनाया है। सुधारों से प्रतिस्पर्द्धात्मकता, पारदर्शिता, डिजीटाइज़ेशन, नवान्वेषण और नीतिगत स्थिरता में इजाफा हुआ है। भारत संभावनाओं से भरी भूमि है। प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में 5जी, बिग डाटा एनालिसिस, क्वांटम कम्प्यूटिंग, ब्लॉक चेन और इंटरनेट ऑफ थिंग्स जैसी आधुनिक प्रौद्योगिकी के अवसर मौजूद हैं। भारत में निवेश के विकल्प भी बहुत सारे हैं। भारत अमेरिकी निवेशकों को हमारे किसानों के परिश्रम में निवेश के लिए आमंत्रित करता है। कृषि मशीनरी, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, रेडी टू ईट आइटम, फिशरीज़ एवं ऑर्गनिक उपज सहित खाद्य प्रसंस्करण का क्षेत्र 2025 तक 5000 अरब डॉलर तक का होने की संभावना है।

उन्होंने स्वास्थ्य एवं चिकित्सा क्षेत्र में सालाना 22 प्रतिशत की वृद्धि दर होने का हवाला देते हुए कहा कि भारतीय कंपनियां मेडिकल तकनीक, टेलीमेडिसिन एवं नैदानिक प्रणाली के उत्पादन में प्रगति कर रही है। फार्मा सेक्टर में भारत-अमेरिका के बीच सहयोग बढ़ रहा है। ऊर्जा के क्षेत्र में भारत एक गैस आधारित अर्थव्यवस्था बन रही है जिसमें निवेश के बड़े अवसर हैं। स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में भी बड़े अवसर हैं। ढांचागत क्षेत्र में निवेश के लिए भारत आपको आमंत्रित करता है। आवास, सड़कें, राजमार्ग एवं बंदरगाह बनाने के लिए सहभागी बना जा सकता है। उन्होंने कहा कि नागरिक उड्डयन भी एक बड़ा अवसर है। अगले आठ साल में हवाई यात्रियों की संख्या दोगुना से अधिक होने की संभावना है। आगामी दशक में भारतीय आकाश में एक हजार नए एयरक्राफ्ट आएंगे। विमानन क्षेत्र में अनुरक्षण एवं मरम्मत के क्षेत्र में बहुत अवसर हैं।

मोदी ने रक्षा एवं अंतरिक्ष के क्षेत्र में विदेशी निवेश की सीमा 74 प्रतिशत होने और वित्त एवं बीमा के क्षेत्र में 100 प्रतिशत एफडीआई की अनुमति दिए जाने का उल्लेख किया। उन्होंने दो रक्षा कॉरिडोर में रक्षा उपकरणों के उत्पादन के क्षेत्र में संभावनाओं की भी जानकारी दी। उन्होंने बीमा एवं बैंक क्षेत्र के 2025 तक 250 अरब डॉलर के स्तर तक जाने की संभावना व्यक्त की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब बाजार खुले हों, जब अवसर ऊंचे और विकल्प बहुतायत में हों तो आशाएं पीछे कैसे रह सकतीं हैं। आप ये आशावाद प्रमुख बिजनेस रेटिंग में देख सकते हैं विशेष रूप से विश्व बैंक की ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस रेटिंग में। निवेश के स्तर से विश्वास का प्रदर्शन आंका जाता है। वर्ष 2019-20 में भारत में निवेश 74 अरब डॉलर का रहा है। उन्होंने कहा कि भारत एवं अमेरिका समान मूल्यों वाले दो जीवंत लोकतंत्र हैं। हमारी स्वाभाविक साझीदारी ने पिछले समय में कई नई ऊंचाइयां तय की हैं और आने वाले समय में भी तय करेंगे।

9. India Coronavirus Update: पिछले 24 घंटे में 45 हजार से ज्यादा मामलों की पुष्टि, 1129 लोगों की मौत

भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) के अब तक 12,38,635 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 4,26,167 एक्टिव केस हैं। 7,82,606 लोग ठीक हो गए हैं और 29,861 लोगों की मौत हो गई। अब तक 63.18 फीसद मरीज ठीक हो गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान एक दिन में सर्वाधिक 45,720 मामले सामने आए हैं और 1,129 लोगों की मौत हो गई है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3,50,823 सैंपल टेस्ट हुए हैं। देश में अब तक कोरोना के 1,50,75,369 सैंपल टेस्ट हो गए हैं। देश में कोरोना के 11 लाख से 12 लाख मामले में होने में केवल तीन दिन लगे।

बता दें कि महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां अभी तक 3,37,607 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 1,37,282 एक्टिव केस हैं और 12556 लोगों की मौत हो गई। वहीं 1,87,769 लोग ठीक हो गए हैं। तमिलनाडु में 1,86,492 मामले सामने आए हैं। इनमें से 51,765 एक्टिव केस हैं। 1,31,583 लोग ठीक हो गए हैं। 3144 लोगों की मौत हो गई है। दिल्ली में 1,26,323 मामले अब तक सामने आए हैं। 14,954 एक्टिव केस हैं। 1,07,650 मरीज ठीक हो गए हैं और 3719 लोगों की मौत हो गई है।

कर्नाटक में 75,833,आंध्र प्रदेश में 64,713 और उत्तर प्रदेश में 55,588 मामले

कर्नाटक में 75,833 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 47,075 एक्टिव केस है। 27,239 मरीज ठीक हो गए हैं और 1519 लोगों की मौत हो गई है। आंध्र प्रदेश में 64,713 मामले सामने आए हैं। इनमें 31,763 एक्टिव केस हैं। 32,127 मरीज ठीक हो गए हैं। 823 लोगों की मौत हो गई है। उत्तर प्रदेश में 55,588 मामले सामने आ गए हैं। 20,825 एक्टिव केस हैं। 33,500 मरीज ठीक हो गए हैं। 1263 लोगों की मौत हो गई है।

गुजरात में 51,399, पश्चिम बंगाल में 49,321 और तेलंगाना में 49,259 मामले

गुजरात में 51,399 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 11,915 एक्टिव केस हैं। 37,260 लोग ठीक हो गए हैं और 2224 लोगों की मौत हो गई है। पश्चिम बंगाल में 49,321 मामले सामने आ गए हैं। इनमें 18450 एक्टिव केस है। 29650 मरीज ठीक हो गए हैं और 1221लोगों की मौत हो गई है। तेलंगाना में 49,259 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 11,155 एक्टिव केस हैं। 37666 मरीज ठीक हो गए हैं और 438 लोगों की मौत हो गई है। राजस्थान में 32,334 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 8387 एक्टिव केस है और 23,364 मरीज ठीक हो गए हैं और 583 लोगों की मौत हो गई है। बिहार में 30,369 मामले सामने आ गए हैं। यहां 10,506 एक्टिव केस हैं। 19,646 मरीज ठीक हो गए और 217 लोगों की मौत हो गई है।

पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा तमिलनाडु में 518 लोगों की मौत

पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा तमिलनाडु में 518 लोगों की मौत हुई। इसके अलावा महाराष्ट्र में 280, आंध्र प्रदेश में 65, कर्नाटक में 55, पश्चिम बंगाल में 39, उत्तर प्रदेश में 34, दिल्ली में 29, गुजरात में 28, मध्य प्रदेश में14 और जम्मू-कश्मीर में 10 लोगों की मौत हो गई। वहीं तेलंगाना और झारखंड में नौ, हरियाणा में आठ, असम, पंजाब और राजस्थान में छह-छह लोगों की मौत हो गई। ओडिशा में पांच, गोवा और उत्तराखंड में दो-दो और केरल, पुड्डुचेरी, त्रिपुरा और चंडीगढ़ में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई।


10. ओला ने वैश्विक ग्राहकों के लिए की एंटरप्राइस मोबिलिटी समाधान ‘Ola Corporate’ की शुरुआत

  • भारत के मोबिलिटी प्लेटफॉर्म ओला ने वैश्विक बाजारों में अपने उद्यम मोबिलिटी समाधान ‘Ola Corporate’ की शुरुआत की है।

  • यह ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और ब्रिटेन के सभी ग्राहकों के लिए एंटरप्राइस की पेशकश को पूरा करेगा।

  • यह समाधान सबसे पहले भारतीय बाजार में उतारा गया था और जिसने देश में 10,000 कॉर्पोरेट उपयोगकर्ताओं को आकर्षित किया था।

  • ओला कॉरपोरेट अपनी राइड सेफ पहल के तहत कई सुरक्षा सुविधाओं की पेशकश करेगा और महामारी के बीच सुरक्षित गतिशीलता के लिए स्वच्छता और सैनेटाईजिंग के प्रोटोकॉल का पालन करेगा।

  • ओला सीईओ: भावना अग्रवाल

  • ओला मुख्यालय: बेंगलुरु

11. नई दिल्ली में शुरू हुआ भारतीय वायु सेना के कमांडरों का सम्मेलन

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली स्थित वायु सेना मुख्यालय (वायु भवन) में वायु सेना कमांडरों के सम्मेलन (AFCC) का उद्घाटन किया है।

इस सम्मेलन को "IAF in the Next Decade" (अगले दशक में भारतीय वायु सेना) विषय के साथ आयोजित किया जा रहा है।

एएफसीसी तीन दिवसीय सम्मेलन है जिसकी अध्यक्षता वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर. के. एस भदौरिया करेंगे।

सम्मेलन के दौरान अगले दशक में भारतीय वायुसेना की परिचालन क्षमता बढ़ाने की कार्य-योजना पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

इसके अलावा सम्मेलन के प्रतिभागी वर्तमान परिचालन परिदृश्य और तैनाती का भी जायजा लेंगे।

12. भारतीय सेना को सटीक निगरानी के लिए मिला 'भारत' ड्रोन

  • रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा भारतीय सेना को 'भारत' नामक ड्रोन सौंप दिए गए हैं।

  • स्वदेशी रूप से विकसित किए गए यह ड्रोन पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों सहित पहाड़ी इलाकों में सटीक निगरानी करने के लिए दिए गए हैं।

  • भारत ड्रोन, दुनिया के सबसे हल्के और तेज ड्रोन निगरानी प्रणाली में से एक है और जिसे भारत में बनाया गया है।

  • भारत ड्रोन कृत्रिम बुद्धिमत्ता से लैस हैं जो ड्रोन को दोस्त से दुश्मनों तक का पता लगाने में मदद करता है और उसके अनुसार कार्रवाई करने में मदद करता है। इसे अत्यधिक ठंडे मौसम के तापमान में काम करने के लिए बनाया गया है।

  • भारतीय सेना का मुख्यालय: नई दिल्ली

  • थल सेनाध्यक्ष: मनोज मुकुंद नरवाणे

13. गृह मंत्री अमित शाह ने ‘वृक्षारोपण अभियान’ लांच किया

23 जुलाई, 2020 को गृह मंत्री अमित शाह ने “वृक्षारोपण अभियान” को लांच किया। उन्होंने 38 जिलों में फैले 130 से अधिक स्थानों पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से योजना का शुभारंभ किया।

इस योजना में खनन क्षेत्रों में पेड़ पौधे लगाकर हरित स्थान बनाने पर ध्यान दिया जाएगा।

मुख्य बिंदु

इस योजना का शुभारंभ केंद्रीय कोयला और खान मंत्री श्री प्रहलाद जोशी की उपस्थिति में किया गया। श्री अमित शाह ने छह इको पार्क और पर्यटन स्थलों का शिलान्यास भी किया।

इको पार्क और पर्यटन स्थल

पर्यटन स्थल और इको पार्क आस-पास के क्षेत्रों में साहसिक, मनोरंजन, वाटर स्पोर्ट, बर्ड वॉचिंग आदि के लिए मार्ग दर्शन प्रदान करेंगे। ये स्थान राजस्व उत्पन्न करेंगी और स्थानीय लोगों के लिए रोजगार भी पैदा करेंगी।

योजना के बारे में

कोयला मंत्रालय द्वारा वृक्षारोपण अभियान लागू किया जाएगा। इस योजना के तहत खानों, कार्यालयों, कॉलोनियों और लिग्नाइट और कोयला सार्वजनिक क्षेत्र के अन्य स्थायी क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण किया जायेगा।

उद्देश्य

  • वृक्षारोपण के तहत 1626 हेक्टेयर को कवर किया जाएगा

  • 70 हेक्टेयर में घास भूमि का निर्माण करना

  • 90 हेक्टेयर में उच्च तकनीक युक्त खेती

  • 3 हेक्टेयर में बाँस के पौधे तैयार करना

14. स्पेनिश उपन्यासकार जुआन मार्से का निधन

  • स्पेनिश उपन्यासकार, जुआन मार्से (Juan Marse) का निधन। वह पिछले कुछ दशकों से स्पेन के सबसे सम्मानित उपन्यासकारों में शुमार थे और वे 2008 के स्पैनिश-भाषा में दुनिया के शीर्ष साहित्य पुरस्कार, Cervantes Prize के विजेता थे।

  • उनका सबसे प्रसिद्ध उपन्यास “Úlitmas trades on Teresa” (“Last Afternoons with Teresa”) 1965 में प्रकाशित हुआ था।

15. PNB ने फेस मास्क और सैनिटाइज़र वितरित करने के लिए शुरू किया देशव्यापी अभियान

  • पंजाब नेशनल बैंक द्वारा COVID-19 को फैलने से रोकने के लिए फेस मास्क और सैनिटाइज़र वितरित करने के लिए एक देशव्यापी अभियान शुरू किया है।

  • पीएनबी के इस अभियान का शुभारंभ केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन द्वारा किया गया।

  • पीएनबी द्वारा यह अभियान कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (Corporate social responsibility) के तहत शुरू किया गया है।

  • इस अभियान के तहत, पंजाब नेशनल बैंक पूरे देश के 662 जिलों में फेस मास्क और सैनिटाइज़र वितरित करेगा।

  • पंजाब नेशनल बैंक के एमडी और सीईओ: एस.एस. मल्लिकार्जुन राव

16. अभिनेता सोनू सूद ने “प्रवासी रोज़गार एप्प” लांच की

अभिनेता सोनू सूद ने “प्रवासी रोज़गार एप्प” लॉन्च की। यह एप्लीकेशन नौकरियों को खोजने और विशिष्ट नौकरी प्रशिक्षण कार्यक्रमों की पेशकश करने के लिए सभी आवश्यक जानकारी प्रदान करता है।

मुख्य बिंदु

सोनू सूद लॉकडाउन के दौरान से प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचने में मदद कर रहे हैं। “प्रवासी रोज़गार” एप्लीकेशन सही नौकरी के अवसर खोजने के लिए श्रमिकों के लिए एक मंच के रूप में कार्य करेगा।

एप्लीकेशन के बारे में

यह एप्प नि: शुल्क है। यह नौकरियों को खोजने के लिए सभी आवश्यक लिंकेज और जानकारी प्रदान करेगा। इस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में 500 से अधिक कंपनियां हैं जो परिधान, निर्माण, हेल्थ केयर, बीपीओ, इंजीनियरिंग, ऑटोमोबाइल, लॉजिस्टिक्स, ई-कॉमर्स, आदि से संबंधित हैं। एक टोल फ्री नंबर भी लॉन्च किया गया हैजिसे 24/7 संचालित किया जायेगा।

अभिनेता सोनू सूद के बारे में

सोनू सूद ने बसों, ट्रेनों और उड़ानों के माध्यम से फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचने में मदद की है।


17. “श्वसन वाल्व के साथ N95 मास्क COVID-19 को नही रोकता है” : भारत सरकार

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने हाल ही में घोषणा की कि रेस्पिरेटर वाल्व वाले N95 मास्क COVID -19 को फैलने से नहीं रोकते हैं।

N95 मास्क क्या हैं?

N95 मास्क सुरक्षात्मक उपकरण हैं जो पहनने वालों को चेहरे को दूषित करने वाले हवाई कणों से बचाता है। N95 मास्क उन कणों को फ़िल्टर करता है जो 300 नैनो मीटर से कम हैं। COVID-19 वायरस का आकार 65-125 नैनो मीटर के बीच है।

N95 मास्क में वाल्व का कार्य

एन 95 मास्क में वाल्व एक प्लास्टिक गैस्केट है जो व्यक्ति द्वारा साँस ली गई वायु को फिल्टर करता है और रोगजनकों के प्रवेश को रोकता है। वाल्व नमी को रोकने में मदद करता है, मास्क में गर्मी और कार्बन-डाइऑक्साइड का निर्माण कम करता है।

चिंताएं

स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि N95 मास्क के वाल्व वायरस को मास्क से बाहर निकलने से नहीं रोकते हैं। यह केवल मास्क पहनने वाले व्यक्ति की सुरक्षा करता है और इससे निकलने वाले एरोसोल को फ़िल्टर नहीं करता है। इसलिए, जब COVID-19 का एक स्पर्शोन्मुख रोगी मास्क पहनता है, तो वह आसानी से दूसरों को संक्रमण फैला सकता है जब वाल्व अनफ़िल्टर्ड हवा छोड़ता है।

स्पर्शोन्मुख रोगी एक ऐसा व्यक्ति है जो कोई COVID-19 लक्षण नहीं दिखाता है लेकिन फिर भी वायरस से संक्रमित होता है। वह अपने शुरुआती चरण में होता है।

उपाय

स्वास्थ्य मंत्रालय एन 95 मास्क के विकल्प के रूप में कपड़े से बने मास्क, ख़ास कर कपास का उपयोग करने की सलाह देता है।


18. कुलमीत बावा होंगे भारत में SAP के नए अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक

कुलमीत बावा को Systems, Applications & Products in Data Processing (SAP) द्वारा भारतीय उपमहाद्वीप के लिए अपना अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किए जाने की घोषणा की गई है।

वह देब दीप सेनगुप्ता का स्थान लेंगे।

कुलमीत पर SAP के पारिस्थितिक तंत्र में कर्मचारियों और ग्राहकों के लिए एक असाधारण अनुभव प्रदान करने और सेवा का विस्तार करने का जिम्मा होगा, साथ ही, वह भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका में डिजिटल-प्रमुख दृष्टिकोण को अपनाने के लिए व्यवसायों का मार्गदर्शन करेंगे।

  • कुलमीत सीधे एसएपी एशिया पैसिफिक जापान के अध्यक्ष स्कॉट रसेल को रिपोर्टिंग करेंगे।

  • SAP के CEO: क्रिश्चियन क्लेन; स्थापित: 1 अप्रैल 1972; मुख्यालय: वेइनहाइम, जर्मनी.

19. रमेश बाबू को नियुक्त किया गया करूर वैश्य बैंक का नया MD और CEO

करूर वैश्य बैंक के निदेशक मंडल द्वारा रमेश बाबू को बैंक का नया प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त किया गया है।

साथ ही, उन्हें अतिरिक्त निदेशक का पदभार भी सौपा गया है।

रमेश बाबू की नियुक्ति पदभार ग्रहण करने की तारीख से तीन साल की अवधि तक के लिए की गई है।

वह पीआर शेषाद्री का स्थान लेंगे, जिन्होंने 31 मार्च 2020 को इस्तीफा दे दिया था।

रमेश बाबू इससे पहले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में उप प्रबंध निदेशक के रूप में सेवारत थे और अप्रैल 2020 में सेवानिवृत्त हुए हैं।


20. अरुण कुमार को रेलवे के अंतर्राष्ट्रीय संघ के उपाध्यक्ष के रूप में नामित किया गया

श्री अरुण कुमार को अंतर्राष्ट्रीय रेलवे संघ के उपाध्यक्ष के रूप में नामित किया गया है।

मुख्य बिंदु

यूआईसी महासभा में यह निर्णय लिया गया। इंटरनेशनल यूनियन ऑफ रेलवे को यूनियन इंटरनेशनेल डेस केमिन्स (यूआईसी) भी कहा जाता है।

UIC

UIC का मुख्यालय पेरिस में है। यह व्यक्तियों, प्रतिष्ठानों और संपत्ति की सुरक्षा से संबंधित मामलों में रेल क्षेत्र की ओर से नीति विकसित करने में सक्षम है। यह यूआईसी की सुरक्षा एजेंसियों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान को बढ़ावा देता है।

रेलवे का अंतर्राष्ट्रीय संघ

इसकी स्थापना 1922 में 51 सदस्यों के साथ हुई थी। आज इसके 194 सदस्य हैं। भारत इस संघ का एक सक्रिय सदस्य है। इसमें लोकोमोटिव, एक्सल व्यवस्था, माल वैगन और कोचों का वर्गीकरण स्थापित किया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय उत्तर-दक्षिण परिवहन गलियारा

अंतर्राष्ट्रीय उत्तर-दक्षिण परिवहन गलियारा भारत, अफगानिस्तान, ईरान, रूस, आर्मेनिया, अजरबैजान, मध्य एशिया और यूरोप के बीच 7,200 किलोमीटर लंबा जहाज, सड़क और रेल मार्ग है।

अरुण कुमार

श्री अरुण कुमार 1985 बैच के भारतीय पुलिस अधिकारी हैं।

24 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved