Search

23 June 2020 Hindi Current Affairs


23 जून: संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस

20 दिसम्बर, 2002 को प्रस्ताव 57/277 को अपनाकर संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 23 जून  को ‘संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया।

यह दिन इसलिए भी मनाया जाता है ताकि समाज के विकास के लिए सार्वजनिक सेवा के मूल्य को युवा पीढ़ी समझ सके, आगे उन्हें सार्वजनिक क्षेत्र में करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

2020 के लिए महत्व

COVID-19 महामारी ने लाखों लोगों को संक्रमित किया है और वैश्विक स्तर पर हजारों लोगों की जान ले ली है। इस कठिन समय में जब स्वास्थ्य देखभाल संगठनों पर तनाव है, लॉकडाउन के कारण नौकरियों की हानि हो रही है और वित्तीय संकट, शिक्षा प्रणाली, सामाजिक जीवन आदि बाधित होते हैं, इस साल संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस फ्रंटलाइन वर्कर्स (स्वास्थ्य सेवा, स्वच्छता, जन सेवक, सामाजिक कल्याण समूह, परिवहन, कानून प्रवर्तन आदि) को सम्मानित करता है।

भारत में सिविल सेवा दिवस

प्रतिवर्ष 21 अप्रैल को सिविल सेवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर प्रशासनिक सुधार तथा जन शिकायत विभाग द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। इस बार COVID-19 के कारण किसी कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया है।


अमेरिका ने अस्थायी रूप से ‘ग्रीन कार्ड और गैर-प्रवासी काम वीजा’ निलंबित किया COVID-19 के बाद आये एक वैश्विक आर्थिक संकट के बाद अमेरिकी सरकार ने 31 दिसम्बर, 2020 तक ‘ग्रीन कार्ड और गैर-प्रवासी कार्य वीज़ा’ को निलंबित करने का फैसला किया है। इसका उद्देश्य  अमेरिकी नागरिकों के लिए नौकरियां सुरक्षित करना है।

इस कार्यकारी आदेश पर 22 जून, 2020 को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने हस्ताक्षर किए।

पृष्ठभूमि

ग्रीन कार्ड और गैर-प्रवासी वर्क वीजा के निलंबन से अमेरिका में लगभग 5,25,000 नौकरियां पैदा होंगी। कोविड ​​-19 के कारण, रिपोर्टों के अनुसार, अमेरिका में रिकॉर्ड 47 मिलियन लोग अपनी नौकरी खो सकते हैं।

निलंबित कार्य वीजा

एच -1 बी

H-4 कुछ H-1B पति-पत्नी के लिए

कम कौशल श्रमिकों के लिए एच -2 बी

इंट्रा-कंपनी ट्रांसफर के लिए एल -1

शैक्षणिक व सांस्कृतिक कर्मियों के लिए J वीज़ा

एच -1 बी वीजा कार्यक्रम में सुधार

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने प्रशासन को वर्तमान एच -1 बी वीज़ा कार्यक्रम में सुधार करने के निर्देश दिए थे। सुधार के अनुसार, अप्रवासी श्रमिक जिन्हें भर्तीकर्ता द्वारा उच्चतम मजदूरी की पेशकश की जाती है, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी, यह सुनिश्चित करता है कि संयुक्त राज्य के नागरिकों के वेतन की रक्षा की जाए क्योंकि नियोक्ता कम लागत वाले विदेशी श्रम की भर्ती नहीं कर पाएंगे।

भारत पर प्रभाव

हर साल H-1B वीजा 85,000 लोगों को ही जारी किया जाता है, इनमें से रिकॉर्ड के अनुसार वीजा कार्यक्रम के सबसे बड़े लाभार्थी भारतीय थे। कुल 85,000 लाभार्थियों में से 70 प्रतिशत से अधिक भारत से हैं।


ओडिशा के पुरी में किया गया प्रसिद्ध जगन्नाथ यात्रा का आयोजन

ओडिशा के पूरी में जगन्नाथ यात्रा का आयोजन किया गया, इसमें श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। हालांकि इस बार COVID-19 के कारण आयोजन स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशानिर्देशों के मुताबिक हुआ। इस मौके पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों को शुभकामनाएं दी।

रथ यात्रा का पौराणिक इतिहास

यह घटना भगवान जगन्नाथ को अपने भाई, भगवान बलराम और बहन सुभद्रा के साथ रथ में यात्रा करते हुए चिह्नित करती है। यह दुनिया भर से तीर्थयात्रियों और आगंतुकों को आकर्षित करता है। त्योहार प्राचीन काल से मनाया जाता रहा है। इसकी उत्पत्ति के बारे में एक किंवदंती के अनुसार, जगन्नाथ ने प्रति वर्ष एक सप्ताह के लिए अपने जन्मस्थान पर जाने की इच्छा व्यक्त की है। इस प्रकार, देवताओं को हर साल गुंडिचा मंदिर, पुरी, ओडिशा ले जाया जाता है। एक अन्य किंवदंती के अनुसार, सुभद्रा, अपने माता-पिता के घर द्वारका जाना चाहती थीं, और उनके भाई इस दिन उन्हें वापस द्वारका ले गए। रथ यात्रा उस यात्रा का एक स्मरणोत्सव है। भगवद पुराण के अनुसार, यह भी माना जाता है कि इसी दिन कृष्ण और बलराम कासना के निमंत्रण पर एक कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए मथुरा गए थे।


23 जून: अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस

23 जून, 1894 में अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति की स्थापना पेरिस में की गयी थी। इसके चलते 23 जून को अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति के स्थापना दिवस को मनाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया।

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस पहली बार वर्ष 1948 में मनाया गया था। कुल 9 देशों ने अपने-अपने देशों में 1948 में इस दिवस को मनाया।

2020 के लिए महत्व

महामारी के इन समय के दौरान, अपने होम वर्कआउट को साझा करके, ओलंपियन दुनिया भर में कई लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत बन गए हैं। एक महामारी के समय ओलंपियन द्वारा किए गए ये प्रयास हर किसी को मन और शरीर में स्वस्थ रहने के लिए सक्रिय होने के महत्व का एहसास कराते है।

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC)

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा ग्रीष्मकालीन और शीतकालीन ओलंपिक खेलों का आयोजन किया जाता है। यह एक गैर-सरकारी खेल संगठन है जिसका मुख्यालय स्विट्जरलैंड के लॉसेन में है। इसकी स्थापना पियरे डी कुबरटिन और डेमेत्रियोस विकेलस ने 23 जून, 1894 को की थी।


50,000 मेड-इन-इंडिया वेंटिलेटर के लिए PM CARES फंड से 2000 करोड़ रुपये आवंटित किये गये

भारत सरकार ने आत्मनिर्भर भारत  बनाने के लिए 50,000 मेड-इन-इंडिया वेंटिलेटर के लिए 2000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। 2000 करोड़ रुपये की पूरी राशि पीएम केयर्स फंड ट्रस्ट से आवंटित की गई है।  इन वेंटिलेटरों को देश भर में प्राथमिकता के आधार पर विभिन्न सरकारी-संचालित COVID अस्पतालों में आपूर्ति की जाएगी।

आज तक, कुल 1340 वेंटिलेटर डिलीवर किये जा चुके हैं, जबकि कुल 2923 वेंटीलेटर निर्मित किए गए हैं। 30 जून तक 14,000 वेंटिलेटर देश भर में विभिन्न सरकारी COVID अस्पतालों में वितरित किये जा चुके हैं। कुल 50,000 वेंटिलेटर में से 30,000 का निर्माण सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी-भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (BEL) द्वारा किया जाएगा।

प्रवासी मजदूरों के लिए पीएम केयर्स

पीएम केयर्स फण्ड से देश में प्रवासी मजदूरों के कल्याण (भोजन, आवास, चिकित्सा उपचार आदि की व्यवस्था) के लिए 1000 करोड़ रुपये की राशि भी जारी की गई। इसमें से महाराष्ट्र को सबसे अधिक 181 करोड़ रुपये प्रदान किये गये, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु को क्रमशः 103 रुपये और 83 करोड़ रुपये प्रदान किये गये।

पीएम केयर्स

PM-CARES का पूर्ण स्वरुप Prime Ministers Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations है। यह एक समर्पित राष्ट्रीय कोष है, इसका उद्देश्य संकट स्थिति या आपातकालीन स्थिति के दौरान प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए धन जुटाना है।


1 view0 comments

Recent Posts

See All