Search

22nd June | Current Affairs | MB Books


1. भारत और अमेरिका ने लॉन्च किया हाइड्रोजन टास्क फोर्स

US India Strategic Partnership Forum (USISPF) के अनुसार, भारत और अमेरिका ने ” Strategic Clean Energy Partnership (SCEP)” के तहत एक हाइड्रोजन टास्क फोर्स शुरू किया है जो भारत के ऊर्जा सुरक्षा प्रयासों को बढ़ावा देगा।

भारत-अमेरिका हाइड्रोजन टास्क फोर्स :

  • यह कार्य बल (task force) अमेरिका के ऊर्जा विभाग, केंद्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) और USISPF द्वारा लांच किया गया था।

  • यह उद्योग और सरकारी हितधारकों का प्रतिनिधित्व करेगा और प्रौद्योगिकी की स्थिति का आकलन करेगा, नवीन नीति विकल्पों का अध्ययन करेगा और सिफारिशें करेगा।

  • यह कार्य बल डीकार्बोनाइजिंग, उच्च प्रदूषणकारी औद्योगिक क्षेत्रों और एक हरित और स्वच्छ ग्रह को प्राप्त करने के लक्ष्यों तक पहुंचने में मदद करेगा।

  • यह दोनों देशों के बीच केंद्रित सार्वजनिक, निजी सहयोग को मजबूत करेगा और हाइड्रोजन ऊर्जा प्रौद्योगिकियों के तीव्र विकास और तैनाती के लिए रास्ता बनाएगा।

  • यह निजी क्षेत्र के इनपुट को एकीकृत करने के उद्देश्य से नवीनतम तकनीक लाने और हाइड्रोजन प्रौद्योगिकियों को विकसित करने और तैनात करने के लिए व्यावसायिक मॉडल अपनाने के उद्देश्य से उद्योगों और शिक्षाविदों को एक साथ लाने लाएगा।

टास्क फोर्स का उद्देश्य : किफायती हाइड्रोजन समाधान प्राप्त करने के लिए एक मंच के रूप में कार्य करने के उद्देश्य से यूएस-इंडिया हाइड्रोजन टास्क फोर्स का गठन किया गया है। यह कम या शून्य-कार्बन हाइड्रोजन प्रौद्योगिकियों और तैनाती को बढ़ाकर ऊर्जा सुरक्षा और लचीलापन बढ़ाने का प्रयास करेगा।


2. इंडसइंड बैंक ने लॉन्च किया एक डिजिटल लेंडिंग प्लेटफॉर्म "IndusEasy Credit"

इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank) ने 'IndusEasy Credit' लॉन्च करने की घोषणा की, जो एक व्यापक डिजिटल लेंडिंग प्लेटफॉर्म है, जो ग्राहकों को उनके घर के आराम से उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम बनाता है।

इसके साथ, मौजूदा, और साथ ही गैर-इंडसइंड बैंक ग्राहक दोनों, पूरी तरह से पेपरलेस और डिजिटल तरीके से एक ही मंच पर व्यक्तिगत ऋण या क्रेडिट कार्ड का तुरंत लाभ उठा सकते हैं।

अपनी तरह का पहला प्रस्ताव, 'IndusEasyCredit' पूरी तरह से डिजिटल एंड टू एंड प्रक्रिया प्रदान करता है, जो भारत के सार्वजनिक डिजिटल बुनियादी ढांचे की शक्ति - 'इंडियास्टैक' का एक पेपरलेस, बिना उपस्थिति और कैशलेस तरीके से व्यक्तिगत ऋण और क्रेडिट कार्ड प्रदान करने के लिए लाभ उठाता है।


3. उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 में संशोधन किया जायेगा

भारत ने अमेज़न और फ्लिपकार्ट जैसे ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस के लिए नियमों को कड़ा करने की योजना बनाई है और उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 में कई संशोधनों का प्रस्ताव दिया है।

पृष्ठभूमि : यह निर्णय छोटे व्यवसायों की शिकायतों के बाद लिया गया था। उन्होंने ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस पर मार्केट दबदबे का गलत इस्तेमाल करने और ऑनलाइन रिटेलर्स द्वारा भारी छूट देने का आरोप लगाया है। इन संशोधन का प्रस्ताव ऐसे समय में किया गया है जब फ्लिपकार्ट और अमेज़न इंडिया जैसे बड़े ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस की बाजार प्रभुत्व के कथित दुरुपयोग के लिए भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (Competition Commission of India) द्वारा जांच की जा रही है।

प्रस्तावित नियम :

  • संशोधित नियमों में ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा वस्तुओं और सेवाओं की ‘फ्लैश सेल’ को सीमित करने का प्रस्ताव है।

  • हालांकि, यह पारंपरिक ई-कॉमर्स फ्लैश सेल पर प्रतिबंध नहीं लगाता है।कुछ विशिष्ट फ्लैश सेल या बैक-टू-बैक सेल की अनुमति नहीं दी जाएगी जो ग्राहकों की पसंद को सीमित करती है, कीमतों में वृद्धि करती है।

  • ई-कॉमर्स फर्मों को पर्याप्त निवारण तंत्र स्थापित करना होगा और एक मुख्य अनुपालन अधिकारी (chief compliance officer) नियुक्त करना होगा।

  • कंपनियों को एक निवासी शिकायत अधिकारी (resident grievance officer) को नियुक्त करना होगा जो कंपनी का कर्मचारी और भारत का नागरिक होना चाहिए।वह कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए संपर्क के नोडल बिंदु के रूप में काम करेंगे।

4. IMD के विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक 2021 में भारत 43वें स्थान पर

भारत ने प्रबंधन विकास संस्थान (IMD) द्वारा संकलित एक वार्षिक विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक में 43वां स्थान बनाए रखा, जिसने इस वर्ष दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाओं पर COVID-19 के प्रभाव की जांच की।

IMD विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता रैंकिंग 64 अर्थव्यवस्थाओं को रैंक करती है और यह आकलन करती है कि कोई देश कठिन डेटा और अधिकारियों के सर्वेक्षण प्रतिक्रियाओं के माध्यम से आर्थिक कल्याण को मापकर अपने लोगों की समृद्धि को कितना बढ़ावा देता है।

सूचकांक :

रैंक 1: स्विट्ज़रलैंड

रैंक 2: स्वीडन

रैंक 3: डेनमार्क


5. पर्यावरण संगठन 'फैमिलियल फॉरेस्ट्री' ने जीता संयुक्त राष्ट्र का प्रतिष्ठित पुरस्कार

2021 लैंड फॉर लाइफ अवार्ड (Land for Life Award) राजस्थान के फैमिलियल फॉरेस्ट्री (Familial Forestry) द्वारा जीता गया है, यह एक अनूठी अवधारणा है, जो एक परिवार को एक पेड़ के साथ जोड़ती है, जिससे यह एक हरा "परिवार का सदस्य" बन जाता है।

संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन टू कॉम्बैट डेजर्टिफिकेशन (UNCCD), भूमि के संतुलन की दिशा में प्रयासों में उत्कृष्टता और नवाचार को पहचानने के लिए हर दो साल में लैंड फॉर लाइफ अवार्ड का आयोजन करता है। 2021 पुरस्कार का विषय "स्वस्थ भूमि, स्वस्थ जीवन (Healthy Land, Healthy Lives)" है।

लैंड फॉर लाइफ अवार्ड 2011 में UNCCD COP (कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज) 10 में लॉन्च किया गया था और इसे भूमि संरक्षण और बहाली के संबंध में दुनिया का सर्वोच्च पुरस्कार माना जाता है।

फैमिलियल फॉरेस्ट्री जलवायु-कार्यकर्ता श्याम सुंदर ज्ञानी (Shyam Sunder Jyani) द्वारा एक पर्यावरण संरक्षण अवधारणा है, जो राजस्थान में समाजशास्त्र के एक एसोसिएट प्रोफेसर हैं, जो 15 से अधिक वर्षों से फैमिलियल फॉरेस्ट्री के लिए अभियान चला रहे हैं।


6. इज़रायल ने हवाई उच्च शक्ति वाले लेजर का सफलतापूर्वक परीक्षण किया

इजरायली सेना ने एक हवाई उच्च शक्ति वाले लेजर (airborne high-power laser) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है जो ड्रोन को मार गिराने की क्षमता रखता है।

मुख्य बिंदु :

  • इज़रायल के पास पहले से ही बड़ी और अत्याधुनिक वायु रक्षा प्रणाली है।

  • मई 2021 के 11-दिवसीय युद्ध के दौरान गाजा से दागे गए हजारों रॉकेटों के मुकाबले इस प्रणाली में 90% अवरोधन दर (interception rate) थी।

इज़रायल की लेजर रक्षा प्रणाली : इस लेज़र को एलबिट सिस्टम्स (Elbit Systems) के साथ विकसित किया गया है। इसे एक नागरिक विमान पर रखा गया था और भूमध्य सागर के ऊपर किए गए हालिया परीक्षण में इसने एक ड्रोन को सफलतापूर्वक मार गिराया गया।

लेजर हथियार क्या है? : लेजर हथियार एक निर्देशित-ऊर्जा हथियार (directed-energy weapon) है जो लेजर पर आधारित है। जनवरी 2020 तक, कई अनुसंधान एवं विकास के बावजूद, लेजर सहित निर्देशित-ऊर्जा हथियार वर्तमान में प्रयोगात्मक चरण में हैं। यह अभी देखा जाना बाकी है कि लेजर हथियारों को व्यावहारिक, उच्च प्रदर्शन वाले सैन्य हथियारों के रूप में तैनात किया जा सकता है या नहीं।

लेजर हथियार के साथ चुनौतियां : वायुमंडलीय तापीय प्रस्फुटन (atmospheric thermal blooming) एक बड़ी समस्या है। अगर कोहरा, धुआं, बारिश, धूल, बर्फ, स्मॉग, झाग जैसे अस्पष्ट रसायन मौजूद हों तो यह समस्या और बढ़ सकती है।


7. आयरलैंड के केविन ओ ब्रायन ने वनडे से संन्यास की घोषणा की

आयरलैंड के हरफनमौला खिलाड़ी केविन ओ'ब्रायन (Kevin O'Brien) ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों से संन्यास की घोषणा की है। 37 वर्षीय डबलिनर, जो टेस्ट और T20 क्रिकेट के लिए उपलब्ध है, ने 50 ओवर के प्रारूप में 153 कैप जीते, 3,000 से अधिक रन बनाए और अपनी जीवंत मध्यम गति के साथ प्रारूप में 114 विकेट लिए।

लेकिन उन्हें विश्व कप में एक धमाकेदार शतक के लिए जाना जाता है, जिसमें आयरलैंड ने 2011 के संस्करण के दौरान बैंगलोर में इंग्लैंड को तीन विकेट से हराया था।

उनका 50 गेंदों में बना शतक विश्व कप के इतिहास में सबसे तेजी से बना शतक है, जिसमें ओ'ब्रायन ने इंग्लैंड पर हमला किया जिसमें जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड और ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान शामिल थे।


8. लॉरेल हबर्ड (Laurel Hubbard) बनेंगी पहली ट्रांसजेंडर ओलंपियन

न्यूजीलैंड ओलंपिक समिति (NZOC) ने भारोत्तोलक लॉरेल हबर्ड (Laurel Hubbard) को महिलाओं के +87 किग्रा वर्ग में लड़ने के लिए चुना है। वह ओलंपिक में हिस्सा लेने वाली पहली ट्रांसजेंडर एथलीट होंगी।

मुख्य बिंदु :

  • 43 वर्षीय भारोत्तोलक ने 2013 में लिंग परिवर्तन से पहले पुरुषों की भारोत्तोलन प्रतियोगिताओं में भाग लिया था।

  • हबर्ड 2015 से ओलंपिक में भाग लेने के लिए पात्र हैं।

  • 2015 में, अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने किसी भी ट्रांसजेंडर एथलीट को इस शर्त पर महिला के रूप में प्रतिस्पर्धा करने की अनुमति देने के लिए दिशानिर्देश जारी किए कि पहली प्रतियोगिता में भाग लेने से पहले उनके टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम से कम 12 महीने के लिए 10 नैनोमोल प्रति लीटर से कम होना चाहिए।

लॉरेल हबर्ड : हबर्ड न्यूजीलैंड की भारोत्तोलक हैं जिन्हें 2020 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा करने के लिए चुना गया है। वह लिंग परिवर्तन के बाद ओलंपिक खेलों में भाग लेने वाली पहली ट्रांसजेंडर एथलीट होंगी। अपने लिंग परिवर्तन से पहले, हबर्ड ने 1998 में नव स्थापित M105+ डिवीजन में 135 किग्रा, क्लीन एंड जर्क 170 किग्रा के साथ न्यूजीलैंड जूनियर रिकॉर्ड बनाया था। हालांकि, बाद में इन रिकॉर्ड्स को डेविड लिटि ने पीछे छोड़ दिया। बाद में हबर्ड ने महिला में परिवर्तन किया और 2012 में लॉरेल हबर्ड बन गईं। उन्होंने 2017 विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक और समोआ में 2019 प्रशांत खेलों में स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में भी भाग लिया।


9. बीसीसीआई का बड़ा फैसला, 2025 में चैंपियंस ट्रॉफी की बोली लगाएगा

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने चैम्पियंस ट्रॉफी, एक टी-20 वर्ल्ड कप और एक वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी के लिए बोली लगाने का फैसला किया है। यह फैसला बीसीसीआई की शीर्ष परिषद की वर्चुअल आपात बैठक में लिया गया है। बोर्ड ने साल 2024 से शुरू होने वाले आठ साल के टूर्नामेंट चक्र में छोटे प्रारूपों के दो वर्ल्ड कप के अलावा तीन वैश्विक प्रतियोगिताओं की मेजबानी का दावा करने का फैसला किया है।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि हम 2025 में चैंपियंस ट्रॉफी के अलावा 2028 में होने वाले वाले टी-20 विश्व कप और 2031 में होने वाले वनडे विश्व कप की मेजबानी के लिए दावा पेश करेंगे। अधिकारी ने बताया कि शीर्ष परिषद इस पर सैद्धांतिक तौर पर सहमत है।

मुख्य बिंदु :

• अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने हाल में घोषणा की थी कि अगले भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में चैंपियंस ट्रॉफी को शामिल किया जाएगा जिसका साल 2017 के बाद आयोजन नहीं हुआ है।

• इसके अतिरिक्त बीसीसीआई ने पिछले सत्र में रणजी ट्राफी रद्द होने के कारण घरेलू खिलाड़ियों के मुआवजे के तौर तरीकों को तय करने के लिए 10 सदस्यीय समिति गठित करने का भी निर्णय किया।

• अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के आठ साल के अगले फ्यूचर टूर्स कार्यक्रम (FTP) में टी20 विश्व कप हर दो साल में होगा, जबकि 50 ओवरों के विश्व कप में 2027 से 14 टीमें भाग लेंगी।

• अगले चक्र में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के चार सत्र और दो चैम्पियंस ट्रॉफी खेली जाएंगी।

• मौजूदा समय में में 50 ओवरों के विश्व कप में दस टीमें होती है। इस बार टी20 विश्व कप में 16 टीमें होंगी। आठ टीमों की चैम्पियंस ट्रॉफी 2025 और 2029 में खेली जाएगी।

• आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल्स 2025, 2027, 2029 और 2031 में खेले जाएंगे। आईसीसी महिला टूर्नामेंट का शेड्यूल पहले ही तय हो चुका है।

टी-20 विश्व कप की मेजबानी : आईसीसी ने बीसीसीआई को भारत में कोरोना संकट के बीच टी-20 विश्व कप की मेजबानी पर फैसला लेने के लिये 28 जून तक का समय दिया है। आईसीसी बोर्ड की ऑनलाइन बैठक में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने की। टी-20 विश्व कप इस साल अक्टूबर नवंबर में होना है। बीसीसीआई ने एक महीने का समय मांगा था जो आईसीसी बोर्ड ने सर्वसम्मति से दे दिया।


10. कुरान का सबसे पहले गोजरी भाषा में अनुवाद करने वाले मुफ्ती फैज-उल-वहीद का निधन

जम्मू के प्रसिद्ध इस्लामिक विद्वान मुफ्ती फैज-उल-वहीद (Mufti Faiz-ul-Waheed), जिन्होंने पहली बार कुरान का गोजरी भाषा में अनुवाद किया, का जम्मू में निधन हो गया। उन्होंने ने 'सिराज-उम-मुनीरा', 'अहकाम-ए-मय्यत' और 'नमाज का मसाइल कुरान-ओ-हदीस की रोशनी में' सहित कई पुस्तिकाएं भी लिखी थीं।

गुर्जरी - जिसे गुजारीं, गुजरी, गोजारी या गोजरी के नाम से भी जाना जाता है - गुर्जरों और भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान की अन्य जनजातियों द्वारा बोली जाने वाली इंडो-आर्यन की एक किस्म है. भाषा मुख्य रूप से जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, गुजरात, पंजाब, दिल्ली और भारत के अन्य हिस्सों में बोली जाती है।


11. जाम्बिया के पहले राष्ट्रपति केनेथ कौंडा का निधन

जाम्बिया के पहले राष्ट्रपति के रूप में सेवा करने वाले जाम्बिया के राजनेता केनेथ कौंडा (Kenneth Kaunda) का निधन हो गया है।

श्री कौंडा ने 1964 से 1991 तक 27 वर्षों तक स्वतंत्र ज़ाम्बिया के पहले राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। जाम्बिया ने अक्टूबर 1964 में ब्रिटेन से स्वतंत्रता प्राप्त की।










  • Source of Internet

5 views0 comments

Recent Posts

See All