Search

1st July | Current Affairs | MB Books


1. संयुक्त राष्ट्र ने अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन पर रिपोर्ट जारी की

UNCTAD और संयुक्त राष्ट्र के विश्व पर्यटन संगठन (WTO) की रिपोर्ट के अनुसार, कुछ पश्चिमी बाजारों को छोड़कर, अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन आगमन 2021 में स्थिर हो जाएगा।

प्रमुख निष्कर्ष :

  • इस रिपोर्ट के अनुसार, पर्यटन में इस ठहराव (stagnation) के परिणामस्वरूप 4 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होगा।

  • इस रिपोर्ट के मुताबिक पर्यटन क्षेत्र के 2023 तक पूरी तरह से पलटाव (rebound) की उम्मीद नहीं है।

  • इस रिपोर्ट के अनुसार विदेशी पर्यटन में विश्वास बहाल करने के लिए COVID-19 टीकाकरण और प्रमाण पत्र महत्वपूर्ण हैं।टीकाकरण छोटे द्वीप राज्यों सहित कई देशों के लिए एक जीवन रेखा प्रदान करेगा जो रोजगार प्रदान करने के लिए मुख्य रूप से पर्यटन क्षेत्रों पर निर्भर हैं।

  • इसके अनुसार, 2019 में पूर्व-महामारी के स्तर से 2020 में अंतर्राष्ट्रीय आगमन में 73% की गिरावट आई है। इसके परिणामस्वरूप पर्यटन और संबद्ध क्षेत्रों में 4 ट्रिलियन डॉलर का अनुमानित नुकसान हुआ है।

  • इस रिपोर्ट में कम से कम उत्तरी अमेरिका और यूरोप के लिए 2021 की दूसरी छमाही में कुछ सुधार की उम्मीद है।

2021 के लिए तीन परिदृश्य : इस रिपोर्ट ने 2021 के लिए तीन परिदृश्य निर्धारित किए हैं, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन आगमन पूर्व-महामारी के स्तर से 63% से 75% तक घटने का अनुमान है। इससे लगभग 1.7 ट्रिलियन डॉलर से 2.4 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होगा।

विश्व पर्यटन संगठन : UNWTO जिम्मेदार, सतत और सार्वभौमिक रूप से सुलभ पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष एजेंसी है। इसका मुख्यालय मैड्रिड, स्पेन में है। UNWTO पर्यटन के क्षेत्र में अग्रणी अंतर्राष्ट्रीय संगठन है, जो पर्यटन को आर्थिक विकास, समावेशी विकास और पर्यावरणीय स्थिरता के चालक के रूप में बढ़ावा देता है। यह दुनिया भर में ज्ञान और पर्यटन नीतियों को बढ़ाने के लिए पर्यटन क्षेत्र का नेतृत्व और समर्थन प्रदान करता है। यह सामाजिक-आर्थिक विकास में पर्यटन के योगदान को अधिकतम करने के लिए पर्यटन के लिए वैश्विक आचार संहिता के कार्यान्वयन को प्रोत्साहित करता है। UNWTO की आधिकारिक भाषाओं में चीनी, अरबी, अंग्रेजी, फ्रेंच, रूसी और स्पेनिश शामिल हैं।


2. कानून मंत्री ने लॉन्च किया 'आईटीएटी ई-द्वार'

केंद्रीय कानून और न्याय, संचार और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्री, रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने नई दिल्ली में औपचारिक रूप से आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण (ITAT), 'आईटीएटी ई-द्वार' का ई-फाइलिंग पोर्टल लॉन्च किया है।

नव विकसित ई-फाइलिंग पोर्टल पार्टियों को अपनी अपील, विविध आवेदन, दस्तावेज, पेपर बुक आदि इलेक्ट्रॉनिक रूप से दर्ज करने में सक्षम करेगा। पोर्टल विभिन्न पक्षों द्वारा अपीलों, आवेदनों और दस्तावेजों को ऑनलाइन दाखिल करने में सक्षम बनाएगा।

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के अनुसार, आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण (ITAT) के ई-फाइलिंग पोर्टल के शुभारंभ को देश में डिजिटल माध्यम से होने वाले परिवर्तन के एक बड़े आख्यान के रूप में देखा जाना चाहिए।


3. 1 जुलाई : राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस (National Doctors’ Day)

राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस (National Doctors’ Day) हर साल 1 जुलाई को पूरे देश में हमारे समाज के प्रति डॉक्टरों के समर्पण और प्रतिबद्धता के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने और स्वीकार करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन का पालन महान चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री, डॉ. बिधान चंद्र रॉय को सम्मानित करता है, जिनकी जयंती और पुण्यतिथि इसी दिन होती है।

डॉ. बिधान चंद्र रॉय : उनका जन्म 1 जुलाई ,1882 को पटना, बिहार में हुआ था और मृत्यु 1 जुलाई 1962 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुई थी। वे अत्यधिक सम्मानित चिकित्सक और एक प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी थे। वह पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री थे और 1948 से 1962 में अपनी मृत्यु तक 14 साल तक अपने पद पर रहे।

उन्हें अक्सर पश्चिम बंगाल का महान वास्तुकार माना जाता है। उन्होंने पश्चिम बंगाल दुर्गापुर, बिधाननगर, अशोकनगर, कल्याणी और हाबरा के पांच शहरों की स्थापना की थी। वे ब्रह्म समाज के भी सदस्य थे। वह कलकत्ता विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज कलकत्ता के पूर्व छात्र थे। उन्हें 1961 में भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। केंद्र सरकार ने उनकी स्मृति में डॉ. बी.सी. रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार की स्थापना की है। उन्होंने 1928 में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के गठन और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) की स्थापना में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।


4. शंभू नाथ श्रीवास्तव बने IFUNA के नए चेयरमैन

इलाहाबाद उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश और छत्तीसगढ़ के पूर्व प्रमुख लोकायुक्त न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) शंभू नाथ श्रीवास्तव (Shambhu Nath Srivastava) को इंडियन फेडरेशन ऑफ़ यूनाइटेड नेशन एसोसिएशन (IFUNA) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

इंडियन फेडरेशन ऑफ़ यूनाइटेड नेशन एसोसिएशन, संयुक्त राष्ट्र और इसकी विशेष एजेंसियों के उद्देश्यों को बढ़ावा देने के लिए एक गैर-लाभकारी संगठन है। IFUNA को संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद के साथ विशेष सलाहकार का दर्जा प्राप्त है।


5. गूगल ने नए आईटी नियमों के तहत रिपोर्ट प्रकाशित की

गूगल ने आईटी नियमों के अनुपालन में 30 जून, 2021 को अपनी पारदर्शिता रिपोर्ट जारी की।

मुख्य बिंदु :

  • यह पारदर्शिता रिपोर्ट प्रकाशित की गई थी क्योंकि भारत ने अपने नए आईटी नियमों के लिए गूगल के खिलाफ अपना रुख कड़ा कर दिया था।

  • गूगल के अनुसार, अप्रैल 2021 में उसे कुल 27,762 शिकायतें मिलीं, जबकि हटाने (removals) की संख्या 59,350 थी।

  • गूगल Information Technology (Guidelines for Intermediaries and Digital Media Ethics Code) Rules, 2021 के अनुपालन में अपनी पारदर्शिता रिपोर्ट प्रकाशित करने वाली पहली वैश्विक टेक कंपनी है।

  • यह पहली बार है जब गूगल ने नए आईटी नियमों के अनुसार मासिक पारदर्शिता रिपोर्ट प्रकाशित की

  • गूगल को प्राप्त लगभग 96% (26,707) शिकायतें कॉपीराइट मुद्दों से संबंधित हैं। लगभग 3 प्रतिशत (357) शिकायतें ट्रेडमार्क से संबंधित हैं।

  • गूगल के अनुसार, कुछ शिकायतें या अनुरोध बौद्धिक संपदा अधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगा सकते हैं, जबकि अन्य स्थानीय कानूनों के उल्लंघन का दावा करते हैं।

आईटी के नए नियम क्या कहते हैं? : नए आईटी नियमों के अनुसार, 5 मिलियन से अधिक यूजर्स वाले डिजिटल प्लेटफॉर्म को हर महीने समय-समय पर अनुपालन रिपोर्ट (compliance reports) प्रकाशित करनी होगी।

नए आईटी नियम : केंद्र सरकार ने फरवरी 2021 में Information Technology (Intermediary Guidelines and Digital Media Ethics Code) Rules 2021 को अधिसूचित किया है। यह नियम सोशल मीडिया और ओवर-द-टॉप (OTT) प्लेटफार्मों से संबंधित है। सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) अधिनियम, 2000 की धारा 87 (2) के तहत यह नियम बनाए गए थे। नए नियमों के अनुसार, शिकायत निवारण तंत्र (grievance redressal mechanism) के तहत निवासी शिकायत अधिकारी (resident grievance officer) की नियुक्ति की जाएगी और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामग्री की सक्रिय निगरानी की जाएगी। सोशल मीडिया प्लेटफार्म को भारतीय यूजर्स के लिए मासिक अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करनी पड़ेगी। साथ ही, भारत में अधिकारी किसी भी संदेश की उत्पत्ति की पहचान करने के लिए इन प्लेटफार्मों को आदेश दे सकते हैं।


6. कैबिनेट ने बिजली सुधार योजना के लिए 3 ट्रिलियन रुपये के परिव्यय को मंजूरी दी

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) ने 30 जून, 2021 को 3.03 लाख करोड़ रुपये की बिजली वितरण कंपनी (डिस्कॉम) सुधार योजना को मंजूरी दी है। इस योजना के तहत केंद्र की हिस्सेदारी लगभग 97,631 करोड़ रुपये होगी।

डिस्कॉम सुधार योजना : यह एक सुधार आधारित परिणाम से जुड़ी बिजली वितरण क्षेत्र की योजना है। यह 2025-2026 तक लागू रहेगी। यह केंद्रीय बजट 2021 में घोषित की गयी थी। यह योजना एकीकृत बिजली विकास योजना (Integrated Power Development Scheme) और दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana) जैसे कार्यक्रमों को शामिल करती है। इस योजना में बिजली फीडर से लेकर उपभोक्ता स्तर तक वितरण क्षेत्र के साथ एक अनिवार्य स्मार्ट मीटरिंग पारिस्थितिकी तंत्र शामिल है। इसमें लगभग 250 मिलियन परिवार शामिल है।

योजना का क्रियान्वयन कौन करेगा? : सरकारी संगठन पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन (PFC) और ग्रामीण विद्युतीकरण निगम (REC) को इस योजना को लागू करने के लिए नोडल एजेंसियों के रूप में नामित किया गया है।

यह योजना क्यों शुरू की गई? : यह योजना सभी DISCOMs या बिजली विभागों की परिचालन क्षमता और वित्तीय स्थिरता में सुधार के लिए शुरू की गई थी। हालाँकि, इसमें निजी क्षेत्र की DISCOMs शामिल नहीं हैं। आपूर्ति के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए सशर्त आधार पर उन्हें वित्तीय स्थिरता प्रदान की जाएगी।

योजना का उद्देश्य : भारत के औसत कुल तकनीकी और वाणिज्यिक नुकसान को 21.4% के मौजूदा स्तर से 12-15% तक लाने के उद्देश्य से यह योजना शुरू की गई थी। यह बिजली आपूर्ति की विश्वसनीयता और गुणवत्ता भी प्रदान करेगी।


7. चीन ने बनाया दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा जलविद्युत बांध

चीन सरकार ने ऊर्जा उत्पादन शुरू करने के लिए आधिकारिक तौर पर दुनिया के दूसरे सबसे बड़े जलविद्युत बांध, बैहेतन बांध (Baihetan Dam) की पहली दो उत्पादन इकाइयों को चालू कर दिया। बैहेतन बांध दक्षिण-पश्चिमी चीन में जिंशा नदी (Jinsha River) पर स्थापित किया गया है।

बांध एक 289 मीटर लंबा (954 फुट लंबा) डबल-वक्रता वाला आर्क बांध है, जिसमें 16 उत्पादन इकाइयां हैं।

2003 में यांग्त्ज़ी पर 22.5 मिलियन किलोवाट उत्पादन क्षमता के साथ "थ्री गोरजेस डैम (Three Gorges Dam)" खोले जाने के बाद प्रत्येक इकाई को 1 मिलियन किलोवाट की क्षमता उत्पन्न करनी होगी, जिससे यह आकार में दूसरा सबसे बड़ा हो जाएगा।

बैहेतन बांध के माध्यम से, चीनी सरकार का लक्ष्य अधिक जल विद्युत क्षमता का निर्माण करके जीवाश्म ईंधन की बढ़ती मांग को रोकना है।

दोनों बांधों का निर्माण राज्य के स्वामित्व वाली थ्री गोरजेस ग्रुप कार्पोरेशन द्वारा किया गया है, जो हाइड्रो, सौर और पवन उत्पादन में दुनिया का सबसे बड़ा निवेशक है।


8. विश्व स्तर पर इंटरनेट प्रदान करेगा एलोन मस्क (Elon Musk) का स्टारलिंक (Starlink)

टेस्ला (Tesla) और स्पेसएक्स (Tesla) के मुख्य कार्यकारी एलोन मस्क के अनुसार, स्टारलिंक जल्द ही वैश्विक इंटरनेट कवरेज प्रदान करेगा। वर्तमान में 12 देशों में स्टारलिंक के 70,000 से अधिक यूजर्स हैं।

मुख्य बिंदु :

  • उन्होंने कहा किस्पेसएक्स अगले 12 महीनों में 5 लाख यूजर्स को कवर करने के लिए स्टारलिंक का विस्तार करने के लिए लगभग 30 अरब डॉलर खर्च करेगा।

  • स्टार्टलिंक ध्रुवों को छोड़कर हर जगह एक इंटरनेट नेटवर्क प्रदान करेगा।

  • रॉडबैंड इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए स्टारलिंक स्पेसएक्स की उपग्रह शक्ति का उपयोग करता है। यह वर्तमान में निचली कक्षा में 1,500 स्पेसएक्स उपग्रहों का उपयोग करता है लेकिन एलोन मस्क ने संख्या को बढ़ाकर 12,000 करने की योजना बनाई है।

स्टारलिंक क्या है? : स्टारलिंक हाई-स्पीड, लो लेटेंसी ब्रॉडबैंड इंटरनेट है जो घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रारंभिक बीटा सेवा प्रदान करता है। यह एक उपग्रह इंटरनेट समूह है, जिसका निर्माण स्पेसएक्स द्वारा दुनिया भर में उपग्रह इंटरनेट एक्सेस प्रदान करने के लिए किया गया है। इसमें पृथ्वी की निचली कक्षा (LEO) में बड़े पैमाने पर उत्पादित हजारों छोटे उपग्रह शामिल हैं। ये उपग्रह नामित ग्राउंड ट्रांसीवर के साथ संचार करते हैं। इन उपग्रहों डिजाइन, निर्माण और तैनाती के लिए परियोजना की लागत कम से कम $ 10 बिलियन डॉलर है।


9. यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी नियुक्त करेगी पहला दिव्यांग अंतरिक्ष यात्री