Search

19th January | Current Affairs | MB Books


1. मलेशिया ने 3.7 बिलियन डालर के पैकेज की घोषणा की

मलेशियाई सरकार ने हाल ही में COVID-19 के प्रभावों से उबरने में मदद करने के लिए 3.7 बिलियन डालर के पैकेज की घोषणा की। यह पैकेज मलेशिया के सकल घरेलू उत्पाद का 1.1% है। दरअसल, मलेशिया COVID-19 संक्रमण की अपनी तीसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए संघर्ष कर रहा है।

मुख्य बिंदु : मलेशिया के 3.7 बिलियन डालर के पैकेज में गरीबों को नकद सहायता और वेतन सब्सिडी शामिल हैं।

पैकेज का उद्देश्य : मलेशियाई सरकार का 3.7 बिलियन डालर का पैकेज मुख्य रूप से निम्नलिखित उद्देश्यों पर केंद्रित है:

COVID -19 का मुकाबला

मलेशिया के लोगों के कल्याण की रक्षा

देश में व्यापार निरंतरता का समर्थन

पृष्ठभूमि : COVID-19 के प्रकोप के बाद से, मलेशियाई सरकार ने चार आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज लॉन्च किए थे। उनकी कुल राशि 73.2 बिलियन अमरीकी डालर थी। यह देश की जीडीपी का 20% से अधिक है।

मलेशिया की अर्थव्यवस्था : अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार, मलेशिया दक्षिणपूर्व एशिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। मलेशिया का प्रमुख निर्यात पाम आयल है। इंडोनेशिया के बाद मलेशिया दुनिया में पाम आयल का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है। भारत दुनिया में पाम आयल का सबसे बड़ा आयातक है। भारत की मांग पाम आयल की कुल वैश्विक मांग का 23% है।