Search

19th January | Current Affairs | MB Books


1. मलेशिया ने 3.7 बिलियन डालर के पैकेज की घोषणा की

मलेशियाई सरकार ने हाल ही में COVID-19 के प्रभावों से उबरने में मदद करने के लिए 3.7 बिलियन डालर के पैकेज की घोषणा की। यह पैकेज मलेशिया के सकल घरेलू उत्पाद का 1.1% है। दरअसल, मलेशिया COVID-19 संक्रमण की अपनी तीसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए संघर्ष कर रहा है।

मुख्य बिंदु : मलेशिया के 3.7 बिलियन डालर के पैकेज में गरीबों को नकद सहायता और वेतन सब्सिडी शामिल हैं।

पैकेज का उद्देश्य : मलेशियाई सरकार का 3.7 बिलियन डालर का पैकेज मुख्य रूप से निम्नलिखित उद्देश्यों पर केंद्रित है:

COVID -19 का मुकाबला

मलेशिया के लोगों के कल्याण की रक्षा

देश में व्यापार निरंतरता का समर्थन

पृष्ठभूमि : COVID-19 के प्रकोप के बाद से, मलेशियाई सरकार ने चार आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज लॉन्च किए थे। उनकी कुल राशि 73.2 बिलियन अमरीकी डालर थी। यह देश की जीडीपी का 20% से अधिक है।

मलेशिया की अर्थव्यवस्था : अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार, मलेशिया दक्षिणपूर्व एशिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। मलेशिया का प्रमुख निर्यात पाम आयल है। इंडोनेशिया के बाद मलेशिया दुनिया में पाम आयल का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है। भारत दुनिया में पाम आयल का सबसे बड़ा आयातक है। भारत की मांग पाम आयल की कुल वैश्विक मांग का 23% है।


2. अमेरिका ने किया यूएई, बहरीन को 'प्रमुख रणनीतिक साझेदार' के रूप में नामित

संयुक्त राज्य ने हाल ही में किंगडम ऑफ बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) को देश के "प्रमुख रणनीतिक साझेदार" के रूप में नामित किया है।

यह घोषणा डोनाल्ड ट्रम्प से जो बिडेन के राष्ट्रपति पद के औपचारिक परिवर्तन से पहले की गई। "प्रमुख रणनीतिक साझेदारों" की यह घोषणा व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव केलिग मैकनानी ने की थी।

रणनीतिक भागीदारों का पद, संयुक्त राज्य, बहरीन राज्य और संयुक्त अरब अमीरात के बीच मौजूदा साझेदारी को मजबूत करेगा।

दोनों देशों को पूरे क्षेत्र में हिंसक अतिवाद का मुकाबला करने, असाधारण सुरक्षा साझेदारी और संयुक्त राज्य के हजारों एयरमैन, सैनिकों, नौसैनिकों और नाविकों की मेजबानी करने के लिए उनकी प्रतिबद्धता के लिए नामित किया गया है।


3. फिजी को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का अध्यक्ष चुना गया

जिनेवा में फिजी की एम्बेसडर नाज़त शमीम खान को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया है।

मुख्य बिंदु : नाज़त शमीम खान वर्ष 2021 में राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की अध्यक्ष के रूप में कार्य करेंगी। कोई सहमति नहीं बनने के बाद उन्हें एक गुप्त मतदान के माध्यम से चुना गया था।

आमतौर पर, यूएनएचआरसी क्षेत्रों के बीच अध्यक्ष पद को घुमाता बारी-बारी से रोटेट किया जाता है और अध्यक्ष का चुनाव सर्वसम्मति से होता है। यह 15 साल के इतिहास में पहली बार था जब परिषद ने बिना अध्यक्ष के वर्ष की शुरुआत की और अंत में मतदान किया।

नाज़त शमीम खान के साथ अध्यक्ष पद के लिए उज्बेकिस्तान के एम्बेसडर उलुगबेक लापसोव और बहरीन के एम्बेसडर यूसुफ अब्दुलकरिम बुचेरी अन्य उम्मीदवार थे। उलुगबेक को 4 और बुचेरी को 14 वोट मिले। नाज़त शमीम खान को 47 में से 29 वोट मिले और उन्हें अध्यक्ष चुना गया।

UNHRC : यह संयुक्त राष्ट्र का एक निकाय है जो दुनिया भर में मानवाधिकारों की रक्षा के लिए काम करता है। UNHRC की स्थापना वर्ष 2006 में हुई थी और इसका मुख्यालय स्विट्जरलैंड के जिनेवा में है। इसमें 47 सदस्य हैं। पिछले साल अक्टूबर में, पाकिस्तान फिर से UNHRC का सदस्य बना था। अब, यह 2023 तक सदस्य बना रहेगा। भारत 2021 तक परिषद का सदस्य है।


4. पाकिस्तान ने दुबई रॉयल्स को ‘हाउबारा बस्टर्ड’ का शिकार करने की अनुमति दी

पाकिस्तान ने दुबई शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम, द क्राउन प्रिंस, और शाही परिवार के 5 सदस्यों को 2020-21 के शिकार सत्र के दौरान तिलोर (हूबारा बस्टर्ड) के शिकार को विशेष अनुमति जारी की है।

अनुमति के बाद, संयुक्त अरब अमीरात के शाही परिवार के 11 सदस्य पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के लाइसेंस के तहत अत्यधिक असुरक्षित और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संरक्षित तिलोर (हूबारा बस्टर्ड) का शिकार करने के लिए पाकिस्तान के बलूचिस्तान के पंजगुर जिले में पहुंचे।

तिलोर (हूबारा बस्टर्ड) एक स्थलीय पक्षी है जो मध्य पूर्व, एशिया और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में पाया जाता है। एशियाई हूबारा (क्लैमाइडोटिस मैकक्वीन) और उत्तरी अफ्रीकी हूबारा (क्लैमाइडोटिस अंडुलता) अलग-अलग प्रजातियां हैं।

वसंत के दौरान मध्य एशिया में प्रजनन के बाद, तिलोर (हूबारा बस्टर्ड) पाकिस्तान में सर्दियां बिताने के लिए दक्षिण की ओर पलायन करते हैं।


5. फिलिस्तीन में 14 साल बाद होंगे पहले राष्ट्रीय चुनाव

फिलिस्तीन 14 वर्षों के लंबे समय के बाद वर्ष, 2021 में अपना पहला राष्ट्रीय चुनाव आयोजित करने के लिए तैयार है। फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास द्वारा 15 जनवरी, 2021 को हस्ताक्षरित एक डिक्री के अनुसार, इस वर्ष देश में तीन चुनाव - संसदीय, राष्ट्रपति और राष्ट्रीय परिषद के चुनाव कराए जाएंगे।

फिलिस्तीन राष्ट्रीय चुनाव 2021: प्रमुख तिथियां

फिलिस्तीनी चुनाव की प्रमुख तिथियां निम्नलिखित हैं:

• संसदीय चुनाव - 22 मई, 2021 • राष्ट्रपति चुनाव - 31 जुलाई, 2021 • फिलिस्तीनी राष्ट्रीय परिषद चुनाव - 31 अगस्त, 2021

मुख्य विशेषताएं :

• फिलिस्तीनी राष्ट्रपति ने चुनाव समिति सहित देश के सभी राज्यों को सभी शहरों में लोकतांत्रिक चुनाव प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया है। • दो फिलिस्तीनी समूहों - हमास और फतह एक-दूसरे के खिलाफ तब से हैं जब हमास ने वर्ष, 2007 में अपने प्रतिद्वंद्वी से गाजा पट्टी पर कब्ज़ा कर लिया था। हालांकि, सितंबर, 2020 में, ये दोनों समूह तुर्की में मिले और संसदीय और राष्ट्रपति चुनाव कराने पर सहमत हुए। • अंत में, 31 दिसंबर, 2020 को वरिष्ठ हमास नेता इस्माइल हन्नीह ने राष्ट्रपति अब्बास को आंतरिक फिलिस्तीनी विभाजन को समाप्त करने और फिलिस्तीनी क्षेत्रों में आम चुनाव आयोजित करने के लिए एक आधिकारिक पत्र भेजा।

इज़राइल-फिलिस्तीन संघर्ष : वर्ष, 2014 में इजरायल और फिलिस्तीन के बीच शांति वार्ता का अंतिम दौर वेस्ट बैंक में इजरायली बस्तियों के विस्तार के बाद समाप्त हो गया। फिलिस्तीनी, हालांकि, पूर्वी येरुशलम को अपनी राजधानी बनाकर, इस भूमि पर एक स्वतंत्र राज्य स्थापित करना चाहते हैं.

पृष्ठभूमि : फिलिस्तीन का पहला विधायी और राष्ट्रपति चुनाव वर्ष, 1996 में हुआ था। हालांकि यहां चुनाव वर्ष, 2009 में होने वाले थे, लेकिन फतह-हमास संघर्ष के कारण उन्हें स्थगित करना पड़ा।

राष्ट्रपति महमूद अब्बास अगले चुनाव तक फिलिस्तीन के राष्ट्रपति बने रहने के लिए सहमत हुए, लेकिन उन्हें केवल वेस्ट बैंक में राष्ट्रपति के तौर पर मान्यता प्राप्त है, न कि हमास द्वारा गाजा पट्टी को नियंत्रित करने के लिए कोई मान्यता हासिल है।


6. केरल के राज्यपाल ने 'One School One IAS' योजना शुरू की

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने 'वनस्कूल वन आईएएस’योजना का उद्घाटन किया है, जिसे वेदिक इरुडेइट फाउंडेशन्स स्कॉलरशिप प्रोग्राम के तहत शुरू किया गया है।

एक अधिसूचना के अनुसार शीर्ष शिक्षाविदों और राज्य में सेवानिवृत्त आईएएस और आईपीएस अधिकारियों द्वारा विचारित एक संस्थान एक कार्यक्रम का संचालन कर रहा है जो सामान्य धारणा का खंडन करना चाहता है कि सिविल सेवा केवल कुलीन वर्ग के लिए है।

यह कार्यक्रम उन छात्रों को नि: शुल्क प्रशिक्षण प्रदान करेगा जो आर्थिक रूप से पिछड़े हैं, लेकिन शैक्षणिक रूप से सिविल सेवा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के इच्छुक हैं।

यह योजना प्रायोजकों द्वारा समर्थित है, जिसमें राज्य भर में 10,000 लड़कों और लड़कियों के नामांकन की उम्मीद है।

कार्यक्रम के लाभार्थियों का चयन एक पैनल द्वारा किया जाएगा, जिसकी अध्यक्षता संबंधित शिक्षण संस्थानों के प्रमुख करेंगे।


7. सोमनाथ ट्रस्ट के अध्यक्ष बने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोमनाथ ट्रस्ट का नया अध्यक्ष चुना गया है। केशुभाई पटेल ट्रस्ट के अध्यक्ष थे।

वर्चु्अल बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ट्रस्ट का अध्यक्ष चुना गया। सभी ट्रस्टियों ने मोदी को अध्यक्ष चुना। मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत 6 लोग इसके ट्रस्टी हैं।

सोमवार को सोमनाथ ट्रस्ट की हुई बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वसम्मति से ट्रस्ट का अध्यक्ष घोषित किया गया। गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल सोमनाथ ट्रस्ट के अध्यक्ष थे। उनके निधन के बाद यह ट्रस्ट की पहली बैठक थी।


8. CARE ने GDP के 7.8% तक घटाया केंद्र का राजकोषीय घाटा अनुमान

CARE रेटिंग ने FY21 के दौरान इसके पहले के 9-9.5% के अनुमान के मुकाबले केंद्र के राजकोषीय घाटे को GDP के 7.8% तक के अपने अनुमान को संशोधित किया है।

कम राजस्व और उच्च व्यय का संयुक्त प्रभाव राजकोषीय घाटे को GDP के 7.8% तक विस्तार करने की संभावना है।


9. पीएम मोदी ने लॉन्च किया 1,000 करोड़ रुपये का 'स्टार्टअप इंडिया सीड फंड’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'प्रारम्भ: स्टार्टअप इंडिया इंटरनेशनल समिट’ 2021 को संबोधित करते हुए 16 जनवरी 2021 को 1,000 करोड़ रुपये का 'स्टार्टअप इंडिया सीड फंड’ लॉन्च किया है। इस पहल से नए स्टार्टअप स्थापित करने और उनकी वृद्धि को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।

स्टार्टअप इंडिया सीड फंड अपने कारोबार को शुरू करने और विकसित करने के लिए शुरुआती पूंजी की जरूरत में स्टार्टअप का समर्थन करेगा और नवोदित उद्यमियों को नवीन विचारों को आगे बढ़ाने में मदद करेगा।

स्टार्टअप को पूंजी जुटाने में मदद करने के लिए सरकार फंड ऑफ फंड स्कीम को लागू कर रही है. आगे जाकर, सरकार ऋण पूंजी जुटाने में स्टार्टअप्स की भी मदद करेगी।


10. गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार शामिल होगा राफेल विमान

भारतीय वायुसेना में हाल ही में शामिल राफेल लड़ाकू विमान 26 जनवरी को भारत की गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगा और फ्लाईपास्ट का समापन इस विमान के ‘वर्टिकल चार्ली फार्मेशन’ में उड़ान भरने से होगा।

‘वर्टिकल चार्ली फार्मेशन’ में विमान कम ऊंचाई पर उड़ान भरता है, सीधे ऊपर जाता है और उसके बाद कलाबाजी खाते हुए एक ऊंचाई पर स्थिर हो जाता है। वायुसेना प्रवक्ता विंग कमांडर इंद्रनील नंदी ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फ्लाईपास्ट का समापन एक राफेल विमान के ‘वर्टिकल चार्ली फार्मेशन’ से होगा।

भारत की वायुशक्ति क्षमताओं में तब बढ़ोतरी हुई थी जब गत वर्ष 10 सितंबर को फ्रांस निर्मित 5 बहुद्देश्यीय राफेल लड़ाकू विमान भारतीय वायुसेना में शामिल किए गए थे।

नंदी ने बताया कि 26 जनवरी को फ्लाईपास्ट में वायुसेना के कुल 38 विमान और भारतीय थलसेना के 4 विमान शामिल होंगे।

प्रवक्ता ने कहा कि फ्लाईपास्ट पारंपरिक तौर पर दो खंडों में विभाजित होगा - पहला खंड परेड के साथ पूर्वाह्न 10.04 बजे से लेकर पूर्वाह्न 10.20 बजे तक और दूसरा खंड परेड के बाद पूर्वाह्न 11.20 बजे से पूर्वाह्न 11.45 बजे तक होगा।

नंदी ने कहा कि पहले खंड में तीन फॉर्मेशन होंगे। उन्होंने कहा कि पहला 'निशान' फॉर्मेशन होगा जिसमें चार एमआई17वी5 शामिल होंगे, जो राष्ट्रीय ध्वज और सेना के तीनों अंगों के झंडे लिए हुए होंगे। उन्होंने कहा कि इसके बाद आर्मी एविएशन कोर के चार हेलीकॉप्टर 'ध्रुव' फार्मेशन बनाएंगे।

उन्होंने कहा कि अंतिम फार्मेशन 'रुद्र' होगा जो 1971 की लड़ाई में देश की जीत की 50वीं वर्षगांठ का जश्न मनाएगा। उन्होंने कहा कि इसमें एक डकोटा विमान और दो एमआई17वी5 हेलीकॉप्टर शामिल होंगे।

पिछले साल 16 दिसंबर को भारत ने 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर अपनी जीत का जश्न मनाने के लिए वर्षभर के जश्न की शुरुआत की थी। उक्त युद्ध के बाद ही बांग्लादेश का निर्माण हुआ था। नंदी ने कहा कि फ्लाईपास्ट के दूसरे खंड में नौ फार्मेशन होंगे। उन्होंने कहा कि इन नौ फार्मेशनों में 'सुदर्शन', 'रक्षक', 'भीम', 'नेत्र', 'गरुड़', 'एकलव्य', 'त्रिनेत्र', 'विजय' और 'ब्रह्मास्त्र' शामिल होंगे।

उन्होंने कहा कि फ्लाईपास्ट के दूसरे खंड में एक राफेल विमान दो जगुआर और मिग -29 विमानों के साथ 'एकलव्य' फार्मेशन बनाएगा। विंग कमांडर तेज प्रताप पांडेय ने कहा कि हल्का लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस और स्वदेशी तौर पर विकसित एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल ध्रुवस्त्र के मॉडल भारतीय वायुसेना के गणतंत्र दिवस परेड झांकी में शामिल होंगे।

उन्होंने कहा कि ये (झांकी) हल्के लड़ाकू विमान तेजस, हल्के लड़ाकू हेलीकाप्टर (एलसीएच), सुखोई -30 एमकेआई और रोहिणी राडार के मॉडल को प्रदर्शित करेंगे। पांडेय ने कहा कि अगली पीढ़ी की विकसित एंटी-रेडिएशन मिसाइल रुद्रम और एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल ध्रुवस्त्र क्रमशः एलसीए और एलसीएच पर प्रदर्शित किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सुखोई -30 एमकेआई पर स्वदेशी विकसित अस्त्र और ब्रह्मोस मिसाइलों को प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वदेश विकसित आकाश मिसाइल को रोहिणी रडार के साथ प्रदर्शित किया जाएगा।

विंग कमांडर वासुदेव आहूजा ने कहा कि परेड में वायुसेना की मार्चिंग टुकड़ी में चार अधिकारी और 96 सैनिक शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि मार्चिंग टुकड़ी का नेतृत्व फ़्लाइट लेफ्टिनेंट तनिक शर्मा करेंगे।


11. किरण मजूमदार शॉ चुनी गई USIBC की वाईस-चेयरमैन

यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (USIBC) ने तत्काल प्रभाव से तीन टॉप कॉर्पोरेट लीडर्स को USIBC के 2021 ग्लोबल बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के उपाध्यक्ष के रूप में चयन किया गया है।

तीनों नए लीडर्स अब USIBC अध्यक्ष निशा बिस्वाल और परिषद के नीति निदेशक के साथ मिलकर भविष्य के लिए यूएस-भारत वाणिज्यिक संबंधों को मजबूत करने की दिशा में काम करेंगे।

तीन नए वाईस-प्रेसिडेंट हैं

बायोकॉन की कार्यकारी अध्यक्ष: किरण मजूमदार-शॉ

एमवे के सीईओ: मिलिंद पंत

नैस्डैक के उपाध्यक्ष: एडवर्ड नाइट


12. बिस्वजीत चटर्जी को मिला IFFI में 'इंडियन पर्सनैलिटी ऑफ द ईयर' पुरस्कार

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रसिद्ध अभिनेता, निर्देशक और गायक बिस्वजीत चटर्जी को 'इंडियन पर्सनालिटी ऑफ द ईयर' पुरस्कार के प्राप्तकर्ता के रूप में घोषित किया।

84 वर्षीय अभिनेता को "बीस साल बाद", "नाइट इन लंदन" और "अप्रैल फूल" जैसी फिल्मों में अभिनय के लिए जाना जाता है। बिस्वजीत चटर्जी ने 1950 के दशक के अंत में अपने करियर की शुरुआत की और "बीवी और मकान", "सगाई", "कोहरा" जैसी फिल्मों में काम किया। 1975 में, उन्होंने "कहते हैं मुझको राजा" का निर्देशन और निर्माण किया, जिसमें धर्मेंद्र, हेमा मालिनी और रेखा के साथ वे स्वयं भी शामिल थे।


13. NASA करने वाला है विश्व के सबसे शक्तिशाली राकेट का अंतिम परिक्षण

नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) अपनी "ग्रीन रन" टेस्ट सीरीज़ में आठवें और अंतिम परिक्षण करने वाला है।

इस आठवें चरण को "हॉट फायर" कहा गया है, जो परीक्षणों की श्रृंखला को समाप्त करेगा जो, नासा का कहना है, पहली बार जीवन के लिए स्पेस लॉन्च सिस्टम (SLS) के मुख्य चरण को धीरे-धीरे साथ लाएगा।

SLS का मुख्य चरण नासा के अनुसार "दुनिया का सबसे शक्तिशाली रॉकेट" होगा और इसके अगलीपीढ़ी के मानव चंद्रमा मिशनों को शक्ति प्रदान करेगा।


14. रामचंद्र गुहा की नवीनतम पुस्तक 'द कामनवेल्थ ऑफ़ क्रिकेट' होगी वर्चुअली लॉच

प्रसिद्द इतिहासकार रामचंद्र गुहा की नवीनतम पुस्तक 'द कॉमनवेल्थ ऑफ क्रिकेट' इस महीने टाटा लिटरेचर लाइव (द मुंबई लिट फेस्ट) में वर्चुअली लॉच की जाएगी।

उनकी नवीनतम पुस्तक खेल के प्रति उनके प्रेम के साथ उनके जीवन की तुलना करती।

अपनी पुस्तक, 'द कॉमनवेल्थ ऑफ़ क्रिकेट: द मोस्ट सटल और सफिस्टिकैटड गेम नोन टू मैनकाइंड', में गुहा ने देहरादून में बचपन से लेकर कॉलेज में उनके दिनों में खेल के साथ जुड़े होने, बीसीसीआई का हिस्सा बनकर सर्वश्रेष्ठ भारतीय और विदेशी क्रिकेट खिलाड़ियों से उनका मुकाबले के अपने व्यक्तिगत अनुभवों को साझा किया है।

15. NDRF ने मनाया अपना 16 वां स्थापना दिवस

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) ने 18 जनवरी को अपना 16 वां स्थापना दिवस मनाया।

देश की एक विशेष बहु-कुशल, मानवीय बल वाली राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) 19 जनवरी, 2006 को अस्तित्व में आई, जो देश में आपदा जोखिम न्यूनीकरण (DRR) के लिए आपदा प्रबंधन और सामुदायिक जागरूकता में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।


16. महान शास्त्रीय संगीतकार उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का निधन

महान भारतीय शास्त्रीय संगीतकार और पद्म विभूषण से सम्मानित उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का निधन हो गया।

उन्हें 1991 में पद्म श्री, 2006 में पद्म भूषण, और 2018 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। 2003 में उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से भी नवाजा गया, जो कि संगीत नाटक अकादमी द्वारा भारतीय कलाकारों को अभ्यास करने के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है।


17. स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को पीएम मोदी ने दिखाई हरी झंडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के विभिन्न क्षेत्रों के साथ गुजरात के केवडिया में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को जोड़ने वाली आठ ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई।

पीएम मोदी ने बताया कि इतिहास में यह पहली बार था कि विभिन्न स्थानों से कई ट्रेनों को एक ही गंतव्य के लिए रवाना किया गया था।

जिन आठ ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई गई वे केवडिया को इन शहरों से जोड़ती हैं: वाराणसी, दादर, अहमदाबाद, हजरत निज़ामुद्दीन, रीवा, चेन्नई, और प्रतापनगर

पीएम ने केवडिया में अन्य रेलवे परियोजनाओं का भी उद्घाटन किया, जिनमें दभोई - चंदोद लाइन जिसे छोटी लाइन से बड़ी लाइन में बदलना, चंदोद से केवड़िया नई बड़ी रेल लाइन, प्रतापनगर- केवड़िया नए विद्युतीकृत खंड, दभोई जंक्शन, चंदोद और केवड़िया के नए स्टेशन भवन शामिल हैं।


18. पेट्रोलियम मंत्रालय ने किया 'सक्षम' अभियान का शुभारंभ

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने हरित और स्वच्छ ऊर्जा के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक महीने तक चलने वाले "सक्षम" नामक जन जागरूकता अभियान की शुरुआत की है।

पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान एसोसिएशन (PCRA) द्वारा उपभोक्ताओं को स्वच्छ ईंधनों की तरफ प्रेरित करने के लिए भरोसा दिलाना तथा जीवाश्म ईंधन का बुद्धिमानी से उपयोग करने के लिए व्यवहारगत बदलावों को लाने के लिए प्रेरित करने के लिए अभियान का आयोजन किया जा रहा है।

अभियान सात प्रमुख 7 वाहकों के बारे में जागरूकता फैलाएगा, जिनका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में उल्लेख किया था।

सक्षम का अर्थ संरक्षण क्षमता महोत्सव (Sanrakshan Kshamata Mahotsav) है।

पुरे देश में चलाए जाने वाले अभियान में स्वच्छ ईंधन का उपयोग करने के फायदों के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न गतिविधियों जैसे साइक्लोट्रॉन, किसान कार्यशालाएं, सेमिनार, पेंटिंग प्रतियोगिता, सीएनजी वाहन ड्राइविंग प्रतियोगिता आदि शामिल होंगे।

इनमें गैस आधारित अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ना, जीवाश्म ईंधन का स्वच्छ उपयोग, जैव स्रोतों को चलाने के लिए घरेलू स्रोतों पर अधिक निर्भरता और इलेक्ट्रिक वाहनों का बढ़ता उपयोग शामिल हैं।


19. भारत ने ब्रिस्बेन में रचा इतिहास, 2-1 से जीती सीरीज

युवा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (91), टीम इंडिया की दीवार चेतेश्वर पुजारा (56) और प्रतिभाशाली विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत (नाबाद 89) की करिश्माई बल्लेबाजी से भारत ने ब्रिस्बेन के गाबा मैदान में ऑस्ट्रेलिया को चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के पांचवें दिन मंगलवार को 3 विकेट से हराकर नया इतिहास रच दिया। भारत ने पहली बार ब्रिस्बेन में टेस्ट जीत हासिल की और 4 मैचों की सीरीज को 2-1 से जीत लिया।

भारत को इस मुकाबले को जीतने के लिए 328 रन का लक्ष्य मिला था। भारत ने सुबह जब बिना कोई विकेट खोए 4 रन से अपनी पारी को आगे बढ़ाया तो किसी को उम्मीद नहीं थी कि भारत चौथी पारी में इतने मुश्किल लक्ष्य को हासिल कर लेगा। भारतीय बल्लेबाजों ने आखिर में करिश्मा कर दिखाया जिसका करोड़ों देशवासियों को इंतजार था। भारत ने 97 ओवर में 7 विकेट पर 329 रन बनाकर ऐतिसाहिक जीत दर्ज की।

भारत की गाबा मैदान में 7 टेस्ट मैचों में यह पहली जीत है। भारत ने इस मैदान पर अपने पिछले 6 टेस्ट मैचों में 5 हारे थे और एक ड्रॉ खेला था। गाबा मैदान में भारत की ऐतिहासिक जीत के 3 बड़े हीरो रहे। शुभमन, पुजारा और पंत ने मैच के अंतिम दिन ऐसी बल्लेबाजी की जिसे लंबे समय तक याद रखा जाएगा।

शुभमन ने 146 गेंदों में 8 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 91 रन की आक्रामक पारी खेली जिसने भारत को जीत का आधार दिया। पुजारा ने चट्टान की तरह एक छोर संभाल कर खेलते हुए 211 गेंदों में 7 चौकों के सहारे 56 रन बनाए। पुजारा की इस पारी ने भी टीम इंडिया को मजबूती प्रदान की और पंत ने 138 गेंदों में 9 चौकों और 1 छक्के की मदद से नाबाद 89 रन बनाकर मुकाबले में भारत की जीत की मुहर लगा दी।

कप्तान अजिंक्या रहाणे ने 24, मयंक अग्रवाल ने 9 रन और वाशिंगटन सुंदर ने 29 गेंदों में 2 चौकों और 1 छक्के के सहारे 22 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया अपनी पूरी ताकत के साथ गेंदबाजी करने के बावजूद टीम इंडिया के हौंसलों को नहीं डगमगा पाया और भारत ने 2-1 की जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया दौरा समाप्त किया। भारत ने इस दौरे में वनडे सीरीज 1-2 से गंवाई लेकिन फिर वापसी करते हुए टी-20 सीरीज 2-1 से और टेस्ट सीरीज 2-1 से जीत ली।

भारत की गाबा मैदान में 7 टेस्ट मैचों में यह पहली जीत है। भारत ने इस मैदान पर अपने पिछले 6 टेस्ट मैचों में 5 हारे थे और एक ड्रॉ खेला था। भारत ने 4 मैचों की इस सीरीज में एडिलेड में खेले गए पहले दिन-रात्रि मुकाबले में दूसरी पारी में 36 रन के अपने इतिहास के न्यूनतम स्कोर पर आउट होकर 8 विकेट से पराजय झेली थी। लेकिन टीम इंडिया ने अजिंक्या रहाणे की कप्तानी में मेलबोर्न में बॉक्सिंग डे टेस्ट में शानदार वापसी करते हुए 8 विकेट से जीत हासिल की और सीरीज को 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

सिडनी में तीसरे टेस्ट के 5वें दिन साहसिक बल्लेबाजी करते हुए टेस्ट ड्रॉ कराया और ब्रिस्बेन में 5वें तथा अंतिम दिन ऐतिहासिक जीत अपने नाम कर ली। भारत के टेस्ट इतिहास में यह पहला मौका है जब टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर लगातार 2 टेस्ट सीरीज में जीत हासिल की है।

ऑस्ट्रेलिया ने इस मुकाबले की पहली पारी में 369 रन बनाए थे जबकि भारत ने शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर के अर्ध्दशतकों से पहली पारी में 336 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 33 रन की बढ़त हासिल की थी। भारत ने तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के 5 विकटों की बदौलत ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में 294 रन पर समेटा। भारत को जीत के लिए 328 रन का लक्ष्य मिला जो उसने मैच के पांचवें और अंतिम दिन अपनी शानदार बल्लेबाजी से हासिल कर लिया।

भारत ने हालांकि सुबह रोहित शर्मा का विकेट जल्द ही गंवा दिया था लेकिन इसके बाद के बल्लेबाजों ने पूरी सूझबूझ, रणनीति और साहस के साथ बल्लेबाजी की और अंतिम सत्र के आखिरी ओवरों में जीत हासिल कर ली। भारतीय क्रिकेट इतिहास में ब्रिस्बेन की यह जीत ऐसा ऐतिहासिक लम्हा है जो हमेशा के लिए स्वर्ण अक्षरों में अंकित हो गया है। कई खिलाड़ियों के चोटिल होकर बाहर हो जाने और निर्णायक जंग में नवोदित खिलाड़ियों के बलबूते पर रहाणे की सेना ने वो कारनामा कर दिखाया जो आजतक कोई भारतीय कप्तान नहीं कर पाया।

इससे पहले आज सुबह रोहित शर्मा ने चार रन और शुभमन गिल ने खाता खोले बिना भारतीय पारी को आगे बढ़ाया। रोहित हालांकि कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर सके और तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने विकेट के पीछे टिम पेन के हाथों कैच कराकर रोहित को आउट किया। रोहित ने 21 गेंदों में एक चौकों की मदद से सात रन बनाए। रोहित का विकेट 18 रन के स्कोर पर गिरा। रोहित के आउट होने के बाद युवा बल्लेबाज शुभमन ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए चेतेश्वर पुजारा के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिए 114 रनों की मजबूत साझेदारी की और भारत के लिए मैच में उम्मीद बढ़ा दी। शुभमन ने इसके साथ ही अपने टेस्ट करियर का दूसरा अर्धशतक पूरा किया।

शुभमन हालांकि अपना पहला शतक बनाने से चूक गए और लेग स्पिनर नाथन लियोन की गेंद पर स्टीव स्मिथ के हाथों कैच थमाकर पैवेलियन लौट गए। शुभमन ने 146 गेंदों में 8 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 91 रन बनाए। उनकी शानदार पारी ने भारत को अच्छी स्थिति पर पहुंचाया। पुजारा ने इसके बाद कप्तान अजिंक्या रहाणे के साथ टीम की पारी को गति देने की कोशिश की और दोनों बल्लेबाजों ने सधी हुई पारियां खेल कंगारु टीम के गेंदबाजों पर दबाव बनाया। कमिंस ने एक बार फिर अपनी गेंदबाजी का जादू बिखेरा और रहाणे को पिन के हाथों कैच कराकर टीम इंडिया को तीसरा झटका दे दिया। रहाणे ने 22 गेंदों में एक चौका और एक छक्के के सहारे 24 रन बनाए।

इस बीच पुजारा एक छोर से पारी को संभाले रहे तथा उनका साथ विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत ने बखूबी दिया। पुजारा और पंत के बीच चौथे विकेट के लिए 61 रनों की साझेदारी हुई। पुजारा ने इसके साथ ही शानदार बल्लेबाजी करते हुए अपने टेस्ट करियर का 28वां अर्ध्दशतक पूरा किया।