Search

19th February | Current Affairs | MB Books


1. UN ने G20 देशों से ‘वैश्विक कोविड-19 टीकाकरण योजना’ तैयार करने के लिए कहा

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने जी-20 देशों को 17 फरवरी, 2020 को एक “वैश्विक कोविड-19 टीकाकरण योजना” तैयार करने के लिए कहा है।

मुख्य बिंदु : संयुक्त राष्ट्र ने ऐसा करने के लिए कहा, साथ ही इसने विभिन्न देशों में COVID-19 टीकों के बेतहाशा असमान और अनुचित वितरण की निंदा की है।

उन्होंने कहा कि, 10 अमीर देशों ने दुनिया भर में 75 प्रतिशत वैश्विक टीकाकरण किया है।

उन्होंने जोर दिया कि, यह एक महत्वपूर्ण क्षण है, इस प्रकार, वैक्सीन समानता वैश्विक समुदाय के लिए सबसे बड़ा नैतिक परीक्षण है।

उन्होंने कहा कि, दुनिया के 130 गरीब देशों को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं मिली है।

इस प्रकार, उन्होंने कोरोनोवायरस वैक्सीन के समान वितरण और पहुंच को संभव बनाने के लिए वैश्विक सहयोग की आवश्यकता पर जोर दिया।

उन्होंने विश्व नेताओं, वैज्ञानिकों और वैक्सीन निर्माताओं सहित एक तत्काल वैश्विक टीकाकरण योजना का आह्वान किया।

इस योजना में वे लोग भी शामिल होंगे जो वैश्विक स्वास्थ्य संकट से निपटने के लिए गरीब देशों के नागरिकों के लिए प्रयास कर सकते हैं।

उन्होंने एक ‘इमरजेंसी टास्क फोर्स’ गठित करने की भी घोषणा की और कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि हर जगह सभी को टीका लगाया जा सके।

महासचिव ने आगे कहा कि WHO की COVAX फैसिलिटी के तहत कम आय वाले और मध्यम आय वाले देश टीके खरीद सकते हैं।लेकिन इस पहल को पूरी तरह से वित्तपोषित करने की आवश्यकता है।

WHO की COVAX योजना : विश्व स्वास्थ्य संगठन की COVAX योजना ने गरीब देशों के लिए कोरोनोवायरस वैक्सीन की 40 मिलियन खुराक के लिए Pfizer-BioNTech के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। डब्लूएचओ के प्रमुख ने यह भी कहा कि डब्लूएचओ से मंजूरी मिलने के बाद एस्ट्राज़ेनेका के कोविड​​-19 वैक्सीन की 150 मिलियन खुराक को 2021 की पहली तिमाही में COVAX के तहत वितरित किया जाएगा।


2. अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन लॉन्च करेगा विश्व सौर बैंक

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (ISA) ने ग्लासगो में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में विश्व सौर बैंक (World Solar Bank-WSB) को लॉन्च करने की योजना बनाई है जो नवंबर 2021 के लिए निर्धारित है।

मुख्य बिंदु : विश्व सौर बैंक का विकास जलवायु क्षेत्र में अपने नेतृत्व को सुरक्षित करने के भारत के प्रयास का समर्थन करेगा।

इस बैंक का विकास महत्वपूर्ण है क्योंकि COP-26 नामक जलवायु बैठक में ग्रीन फाइनेंस प्राथमिकता वाले विषयों में से एक होगा।

COP-26 का आयोजन अमेरिका के पेरिस जलवायु समझौते में फिर से शामिल होने की पृष्ठभूमि में किया जाएगा।

विश्व सौर बैंक का मुख्यालय भारत में स्थापित किए जाने की उम्मीद है।यह पहला बहुपक्षीय विकास बैंक (एमडीबी) होगा जिसे भारत में स्थापित किया जाएगा।

WSB ने अगले 10 वर्षों में ISA के सदस्य देशों को लगभग 50 बिलियन डॉलर देने की योजना बनाई है।

विश्व सौर बैंक क्यों लॉन्च किया जाएगा? : ISA के कई सदस्य देशों को अपने दम पर वित्त जुटाने की चुनौती का सामना करना पड़ता है, इसलिए विश्व सौर बैंक को लांच किया जायेगा। इसके अलावा, इसे उन 800 मिलियन लोगों की सहायता के लिए लॉन्च किया जायेगा, जिनके पास बिजली तक पहुंच नहीं है।

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन : आईएसए की स्थापना भारत द्वारा की गई थी। यह पेरिस में 2015 के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में स्थापित किया गया था। यह पहला संधि-आधारित अंतर्राष्ट्रीय सरकारी संगठन है जिसका मुख्यालय भारत में है। यह “वन सन वन वर्ल्ड वन ग्रिड (OSOWOG)” नामक भारत की वैश्विक बिजली ग्रिड योजना को लागू करने के लिए नोडल एजेंसी है।

वन सन वन वर्ल्ड वन ग्रिड (OSOWOG) : यह योजना एक क्षेत्र में उत्पन्न सौर ऊर्जा को दूसरे क्षेत्र की बिजली मांगों को पूरा करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी। OSOWOG के विज़न के तहत, भारत का लक्ष्य वैश्विक रूप से जुड़े सौर ऊर्जा ग्रिड के एक एकल चरणबद्ध विकास के माध्यम से अपने वैश्विक सौर नेतृत्व को मज़बूत करना है। इससे निम्न लागत, शून्य प्रदूषण जैसे कई लाभ होंगे।


3. थावरचंद गहलोत ने किया भारतीय सांकेतिक भाषा शब्दकोश के तीसरे संस्करण का विमोचन

केंद्रीय सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री थावरचंद गहलोत ने एक वर्चुअल कार्यक्रम में “भारतीय सांकेतिक भाषा (ISL) शब्दकोश का तीसरा संस्करण" जारी किया।

ISL डिक्शनरी के तीसरे संस्करण में कुल 10,000 शब्द हैं। इनमें शब्दकोश के पहले और दूसरे संस्करण के 6000 शब्द शामिल हैं।

ये शब्द शैक्षणिक शब्द, कानूनी और प्रशासनिक शब्द, चिकित्सा शब्द, तकनीकी शब्द और कृषि शब्द से रोजमर्रा के उपयोग के शब्द हैं।

शब्दकोश को भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान और प्रशिक्षण केंद्र (ISLRTC) द्वारा विकसित किया गया है, जो सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय के विकलांग व्यक्तियों के सशक्तिकरण विभाग (दिव्यांगजन) के तहत एक स्वायत्त संस्थान है।

ISL डिक्शनरी का पहला संस्करण 23 मार्च 2018 को 3000 शब्दों के साथ लॉन्च किया गया था।

दूसरा संस्करण 27 फरवरी 2019 को 6000 शब्दों (पहले 3000 शब्दों सहित) के साथ लॉन्च किया गया था।


4. सरकार ने 'नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज' के लिए 25 शहरों को चुना

अगरतला, बेंगलुरु, तिरुवनंतपुरम, वडोदरा और उज्जैन सहित 25 शहरों को बच्चों, देखभाल करने वालों और परिवारों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए सरकार की 'नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज' के लिए चुना गया है। केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि इन शहरों को शुरुआती जीत प्रदर्शित करने, नागरिकों की भागीदारी के लिए काम करने और उनके प्रस्तावों पर सहमति बनाने के लिए अगले छह महीनों में तकनीकी सहायता, क्षमता निर्माण आदि प्राप्त होगी। मंत्रालय ने कहा कि यह चैलेंज तीन वर्ष का कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य सरकार के स्मार्ट सिटी मिशन के तहत बचपन के अनुकूल पड़ोस का समर्थन करना है। इस चुनौती के लिए अगरतला, बेंगलुरु, कोयंबटूर, धर्मशाला, इरोड, हुबली-धारवाड़, हैदराबाद, इंदौर, जबलपुर, काकीनाडा, कोच्चि, कोहिमा, कोटा, नागपुर, राजकोट, रांची, रोहतक, राउरकेला, सलेम, सूरत, तिरुवनंतपुरम, तिरुप्पुर, उज्जैन, वडोदरा और वारंगल को चुना गया है। मंत्रालय ने बयान में कहा कि समय के साथ, कार्यक्रम शहर के नेताओं, प्रबंधकों, कर्मचारियों, इंजीनियरों, शहरी नियोजकों और वास्तुकारों को विकास और नियोजन में बचपन विकास पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम बनाएगा। स्मार्ट सिटी मिशन के निदेशक कुणाल कुमार ने एक बयान में कहा, यह दृष्टिकोण स्मार्ट सिटी मिशन की रणनीति के साथ अच्छी तरह से मेल खाता है...


5. ममता बनर्जी ने 5 रुपये में भोजन उपलब्ध कराने के लिए शुरू की 'माँ' योजना

पश्चिम बंगाल सरकार ने 5 रुपये की मामूली लागत पर गरीबों और निराश्रितों के लिए रियायती पका भोजन मुहैया कराने के लिए "मां" कैंटीन शुरू की। सरकार 15 रुपये की सब्सिडी देगी और लोगों को 5 रुपये का भुगतान करना होगा।

रसोई स्वयं सहायता समूह (SHG) द्वारा चलाई जाएगी। सरकार ने इस परियोजना के लिए 100 रुपये करोड़ आवंटित किए।

कैंटीन प्रति दिन दोपहर 1 से 3 बजे तक खुलेगी। लोगों को चावल, दाल, एक सब्जी और एग करी मिलेगी।

यह नई पहल आम लोगों के लिए है। हालांकि हम मुफ्त राशन देते हैं लेकिन अभी भी पके हुए भोजन की भारी मांग है। इसलिए, हम ये सामुदायिक रसोई शुरू कर रहे हैं।


6. चीन की मोबाइल कंपनी वीवो फिर बनी आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सर

भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव के कारण चीनी मोबाइल कंपनी वीवो गत वर्ष आईपीएल के टाइटल प्रायोजन से हट गयी थी लेकिन 2021 सत्र के लिए वीवो फिर से आईपीएल का टाइटल प्रायोजक बन गया है।

आईपीएल के चेयरमैन बृजेश पटेल ने गुरूवार को आईपीएल नीलामी शुरू होने से पहले अपने सम्बोधन में घोषणा की कि वीवो फिर से आईपीएल के प्रायोजन के लिए लौट आया है। भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव के कारण बीसीसीआई को वीवो के साथ अपना करार 2020 सत्र के लिए निलंबित करने पर मजबूर होना पड़ा था जिसके बाद भारतीय ऑनलाइन गेमिंग प्लेटफार्म ड्रीम 11 को 2020 सत्र के लिए आईपीएल का टाइटल प्रायोजक बनाया गया था।

गौरतलब है कि वीवो ने 2017 में पांच साल (2018-2022) के लिए आईपीएल टाइटल प्रायोजन का करार 2199 करोड़ रुपए में खरीदा था। बीसीसीआई को एक सत्र में वीवो से 440 करोड़ रुपए मिलते हैं। बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने आईपीएल 2020 से पहले बयान जारी कर कहा था कि वीवो इसका टाइटल प्रायोजक बना रहेगा। लेकिन इस घोषणा के बाद बीसीसीआई को राजनेताओं, संगठनों, ट्रेड यूनियनों और सोशल मीडिया पर कड़े विरोध का सामना करना पड़ा था। इसके बाद बोर्ड ने प्रायोजकों के लिए नए आवेदन मंगाने शरु किए। अगस्त 2020 में बीसीसीआई ने घोषणा की कि महाराष्ट्र के मुंबई स्थित भारतीय ऑनलाइन फैंटेसी स्पोर्ट्स कंपनी ड्रीम 11 (स्पोर्टा टेक्नोलॉजीज प्रा. लिमि.) आईपीएल 2020 की टाइटल स्पॉन्सर होगी।

ड्रीम 11 ने आईपीएल के टाइटल प्रायोजन अधिकार 222 करोड़ रुपए की बोली लगाकर हासिल किए थे। ड्रीम 11 को 18 अगस्त से 31 दिसम्बर 2020 तक के लिए आईपीएल के टाइटल प्रायोजन अधिकार मिले थे। वीवो और ड्रीम 11 की राशी की तुलना करें तो टाइटल प्रायोजक की इस डील में बीसीसीआई को कुल 218 करोड़ का घाटा उठाना पड़ा था। लेकिन यह जरूरी भी था क्योंकि तब सोशल मीडिया पर भी बैन आईपीएल ट्रैंड कर रहा था। बोर्ड जनमानस के गुस्सा मोल नहीं लेना चाहता था। इस बार ऐसा नहीं होगा यह भी पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता।


7. फ्लिपकार्ट ने ‘Hospicash’ बीमा शुरू करने के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के साथ की साझेदारी

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने अपने ग्राहकों के लिए 'ग्रुप सेफगार्ड' बीमा, एक ग्रुप स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी शुरू करने के लिए ICICI लोम्बार्ड के साथ साझेदारी की है।

ग्रुप सेफगार्ड, दैनिक नकद लाभ 500 रुपये से शुरू होगा, और फ्लिपकार्ट उपभोक्ताओं के लिए ‘Hospicash’ लाभ होगा।

यह बिमा उत्पाद उपभोक्ताओं को अस्पताल में भर्ती होने के हर दिन का भुगतान करने में सक्षम बनाएगा।

निर्धारित दैनिक राशि उपभोक्ताओं को आकस्मिक चिकित्सा या आपातकालीन खर्चों के लिए भुगतान करने में सक्षम बनाएगी।

बीमा की कीमत फ्लेक्सिबल और यह पेपरलेस रहेगा; इसमें आकस्मिक अस्पताल में भर्ती या नियोजित सर्जरी / उपचार दोनों को कवर किया जाएगा।


8. 19 फरवरी : साइल हेल्थ कार्ड दिवस

भारत सरकार ने 19 फरवरी, 2020 को साइल हेल्थ कार्ड दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। साइल हेल्थ कार्ड स्कीम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 19 फरवरी, 2015 को लांच किया गया था।

उद्देश्य : इस योजना का उद्देश्य मिट्टी की उपजाऊ क्षमता का मूल्यांकन करना था। इस योजना के तहत प्रत्येक दो वर्ष बाद साइल हेल्थ कार्ड जारी किये जाते हैं। इसके द्वारा किसानों को खेत में उर्वरक की उचित मात्र डालने में आसानी होती है, इससे बड़े पैमाने पर अतिरिक्त उर्वरक के उपयोग में कमी आई है।

राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद् द्वारा किये गये एक अध्ययन के अनुसार देश में साइल कार्ड (Soil Health Card) के उपयोग से उर्वरक के उपयोग में 10% की कमी आई है। इस अध्ययन से यह भी ज्ञात हुआ है कि साइल कार्ड के कारण उत्पादकता में 5-6% की वृद्धि हुई है। साइल कार्ड योजना में मिट्टी में कम हो रहे पोषक तत्वों की समस्या पर फोकस किया जाता है।

साइल हेल्थ कार्ड्स (मृदा स्वास्थ्य कार्ड) : केंद्र सरकार ने 2014-15 में साइल हेल्थ कार्ड योजना शुरू की थी। 2015-17 के दौरान 10.74 करोड़ साइल हेल्थ कार्ड जारी किये गये। जबकि 2017-19 के दौरान 11.69 करोड़ हेल्थ कार्ड जारी किये गये।


9. धर्मेंद्र प्रधान ने 11 वीं IEA, IEF, OPEC संगोष्ठी में भाग लिया

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री एचआरएच प्रिंस अब्दुल अजीज बिन सलमान अल सऊद के संरक्षण में ऊर्जा दृष्टिकोण पर 11 वीं IEA-IEF-OPEC संगोष्ठी का आयोजन 17 फरवरी, 2021 को वर्चुअली किया गया था।

भारत से, केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री, धर्मेंद्र प्रधान ने संगोष्ठी में भाग लिया।

ओपेक और आईईए के 2020 में प्रकाशित अल्प, मध्यम और लम्बी अवधि के ऊर्जा दृष्टिकोण के तुलनात्मक विश्लेषण के अतिरिक्त त्रिपक्षीय संगोष्ठी में प्रमुख उत्पादक और उपभोक्ता देशों के लम्बी अवधि के दृष्टिकोणों पर भी विचार हुआ।


10. पुरस्कार विजेता लेखक इरविन एलन सीली का नया उपन्यास 'ASOCA’

पुरस्कार विजेता लेखक इरविन एलन सीली का नया उपन्यास 'ASOCA: A Sutra’, जो महान सम्राट अशोक का एक काल्पनिक संस्मरण है।

इस उपन्यास को महान सम्राट अशोक के एक काल्पनिक संस्मरण के रूप में प्रस्तुत किया जाएगा, वह सम्राट जिसने भारतीय उपमहाद्वीप के अधिकांश हिस्सों पर शासन किया था और तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में भारत से एशिया के अन्य हिस्सों में बौद्ध धर्म के प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसे पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया द्वारा प्रकाशित किया जाएगा।

इससे पहले, पेंगुइन ने सीली के समीक्षकों द्वारा प्रशंसित डेब्यू उपन्यास द ट्रोट्टर-नामा का तीसवां-वर्षगाँठ संस्करण प्रकाशित किया था और यह पीआरएच द्वारा प्रकाशित की जाने वाली लेखक की दूसरी पुस्तक है। यह पुस्तक पेंगुइन की वाइकिंग इंप्रिंट के तहत जुलाई 2021 में जारी की जाएगी।


11. वाईएस जगन मोहन रेड्डी SKOCH चीफ़ मिनिस्टर ऑफ़ द ईयर अवार्ड से सम्मानित

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री, वाई एस जगन मोहन रेड्डी को स्कोच चीफ़ मिनिस्टर ऑफ़ द ईयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार आंध्र प्रदेश के तडेपल्ली में व्यक्तिगत रूप से अध्यक्ष, स्कोच समूह, समीर कोचर द्वारा सीएम को प्रदान किया गया है। पुरस्कार चयन विभिन्न राज्यों में परियोजना-स्तरीय परिणामों के अध्ययन पर आधारित था।

इसी प्रकार, सरकार ने COVID-19 पर प्रतिक्रया देने के लिए पहल की है और वांछित परिणाम दिखाए हैं। उपरोक्त सभी और अधिक आंध्र प्रदेश के क्षेत्रों में 123 परियोजनाओं के एक साल लंबे अध्ययन में स्पष्ट है।

राज्य ने शासन को अधिक कुशल और पारदर्शी बनाने के लिए पिछले दो वर्षों में कई क्रांतिकारी उपाय किए हैं। क्षेत्रों में अभिनव उपाय किए गए हैं, जिसका श्रेय मुख्यमंत्री को जाता है।


12. क्रिस मौरिस ने रचा इतिहास, IPL में बिकने वाले सबसे महंगे खिलाड़ी बने

आइपीएल 2021 की नीलामी में ऑलराउंडर क्रिस मौरिस ने एक नया इतिहास रच दिया है। वे इस लीग में अब तक से सभी सीजन में बिकने वाले सबसे महंगे खिलाड़ी बने। क्रिस मौरिस को इस बार राजस्थान रॉयल्स ने 16 करोड़ 25 लाख में खरीदा।

क्रिस मौरिस पिछले सीजन में आरसीबी का हिस्सा थे, लेकिन उनके खराब प्रदर्शन की वजह से उन्हें इस टीम ने रिलीज कर दिया था। आरसीबी ने पिछले सीजन में मौरिस को 10 करोड़ में खरीदा था। क्रिस मौरिस शानदार ऑलराउंडर हैं।

क्रिस मौरिस सबसे महंगे खिलाड़ी : दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर क्रिस मौरिस (Chris Morris) युवराज सिंह और ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस को पछाड़कर आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी बन गए हैं। मॉरिस से पहले युवराज सिंह आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी थे। उन्हें साल 2015 में दिल्ली कैपिटल्स ने अपने साथ जोड़ा था।

क्रिस मौरिस का आईपीएल रिकॉर्ड : क्रिस मौरिस ने आईपीएल में अबतक 70 मैच खेले हैं। इसमें 23.95 की औसत से 551 रन बनाए हैं। जबकि गेंदबाजी में मौरिस ने इसी दौरान 23.98 की औसत से 80 विकेट लिए हैं। गेंदबाजी में उनका प्रदर्शन 23 रन देकर 4 विकेट रहा है। वहीं उनकी इकोनॉमी भी 7.81 की रही है। क्रिस मौरिस शानदार ऑलराउंडर हैं जिनमें विकेट लेने की क्षमता तो है ही, लेकिन वे अपनी तूफानी बल्लेबाजी के लिए भी खूब जाने जाते हैं।

पिछले सीजन में प्रदर्शन : क्रिस मॉरिस पिछले सीजन आरसीबी के सदस्य रहे थे। उन्हें 10 करोड़ रुपये में शामिल किया था। उन्होंने आरसीबी के लिए 2020 में अच्छा प्रदर्शन किया था और 9 मैच में 19.09 के औसत से 11 विकेट लिए थे।


  • Source of Internet

14 views0 comments