Search

18th July|Current Affairs|MB Books


1. कोरोनाकाल में ब्रिटिश एयरवेज ने अपने बेड़े से रिटायर किए सभी लग्जरी बोइंग 747 विमान

ब्रिटिश एयरवेज बोइंग 747 हवाई जहाज के अपने पूरे बेड़े को रिटायर कर देगा। कंपनी की ओर से इन दिनों यात्रियों की संख्या में कमी और विमान की उच्च परिचालन लागत का अधिक होने का हवाला देते हुए ये घोषणा की गई है।

कंपनी के इस निर्णय से विमान के एक युग का अंत हो जाएगा। ये विमान कम से कम एक मंजिल के होते थे। अब उम्मीद की जा रही है कि ब्रिटिश एयरवेज अपने बेड़े में जो विमान शामिल करेगी वो इससे बड़े होंगे साथ ही और बेहतर और आधुनिक होंगे।

बोइंग 747 विमान की 50 साल पहले एयरवेज के बेड़े में शामिल किए गए थे। उस समय से विमान यात्रियों के आकर्षण का केंद्र होते थे। यात्री जब इसमें बैठते थे तो वो अधिक रोमांच महसूस करते थे। दुनिया का पहला जंबो जेट, जिसे "क्वीन ऑफ़ द स्काईज़" के रूप में जाना जाता है। बोइंग 747 ने जनता के लिए यात्रा में क्रांति ला दी, लेकिन हाल के वर्षों में इसको चलाने में लागत अधिक आने लगी और कमाई गिर गई, इस वजह से अब इसे हटाने का निर्णय लिया गया।

अमेरिकी वाहक द्वारा बोइंग 747 की अंतिम वाणिज्यिक उड़ान 2017 के अंत में हुई थी। ब्रिटिश एयरवेज ने 31 विमानों की सेवा के साथ दुनिया के सबसे बड़े बेड़े का संचालन किया। इसके अलावा कुछ अन्य वाणिज्यिक वाहक अभी भी 747 विमान उड़ा रहे हैं। हालांकि उनका उपयोग आने वाले वर्षों में और कम होने की उम्मीद है।

ब्रिटिश एयरवेज ने एक बयान में कहा कि बहुत दुख के साथ हम पुष्टि कर सकते हैं कि हम अपने पूरे 747 बेड़े को तत्काल प्रभाव से सेवानिवृत्त करने का प्रस्ताव कर रहे हैं। COVID-19 वैश्विक महामारी के कारण यात्रा में मंदी के कारण यह कभी भी हमारी शानदार magnificent क्वीन ऑफ़ द स्काईज 'कभी भी ब्रिटिश एयरवेज के लिए व्यावसायिक सेवाओं का संचालन नहीं करेगा।

जब बोइंग 747 ने पहली बार 1970 में सेवा शुरू की तो यह आधुनिक यात्रा तकनीक का एक बहुत शानदार उदाहरण था। जिसमें 27 प्रथम श्रेणी और 292 इकोनामिक क्लास के यात्रियों के लिए कमरा था। इसका आइकॉनिक, ऊपरी डेक पर एक लाउंज से सुसज्जित है। इस विमान में यात्रा करना एक लक्जरी यात्रा का पर्याय माना जाता था।


2. विश्व में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 1.40 करोड़ के पार

बीजिंग/जिनेवा/नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है और दुनियाभर में इससे अब तक 1.40 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं तथा 6 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

कोविड-19 के संक्रमितों के मामले में अमेरिका दुनिया भर में पहले, ब्राजील दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर है। वहीं इस महामारी से हुई मौतों के आंकड़ों के मामले में अमेरिका पहले, ब्राजील दूसरे और ब्रिटेन तीसरे स्थान पर है जबकि भारत मृतकों की संख्या के मामले में आठवें स्थान पर है।

अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार विश्व भर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1,40,60,402 हो गई है, जबकि अब तक इस महामारी के कारण 6,01,820 लोगों ने जान गंवाई है।

विश्व महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना से अब तक 36,41,539 लोग संक्रमित हो चुके हैं तथा 1,39,176 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील में अब तक 20,46,328 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं जबकि 77851 लोगों की मौत हो चुकी है।

भारत में 34000 से ज्यादा मामले : भारत में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के 34,884 नए मामले सामने आए हैं और इसके साथ ही यहां इससे संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 10,38,716 हो गई है। देश में अब तक कुल 6,53,751 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जबकि 26,273 लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है। देश में वर्तमान में 3,58,692 सक्रिय मामले हैं।

रूस कोविड-19 के मामलों में चौथे नंबर पर है और यहां इसके संक्रमण से अब तक 7,58,001 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 12,106 लोगों ने जान गंवाई है। पेरू में लगातार हालात खराब होते जा रहे है वह इस सूची में पांचवें नम्बर पर पहुंच गया है। यहां संक्रमितों की संख्या 3,45,537 हो गई तथा 12,799 लोगों की मौत हो चुकी है।

दक्षिण अफ्रीका सातवें स्थान पर : कोरोना से संक्रमित होने के मामले में दक्षिण अफ्रीका सातवें स्थान पर पहुंच गया है। यहां इससे अब तक 3,37,594 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 4804 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं मैक्सिको में कोरोना से अब तक 3,31298 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 38310 लोगों की मौत हुई है। कोविड-19 से संक्रमित होने के मामले चिली अब छठे नंबर पर पहुंच गया है। यहां इससे अब तक 3,26,439 लोग संक्रमित हुए हैं और मृतकों की संख्या 8347 है।

ब्रिटेन संक्रमण के मामले में नौवें नंबर पर है। यहां अब तक इस महामारी से 2,94,803 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 45,318 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

वहीं, खाड़ी देश ईरान में संक्रमितों की संख्या 2,69,440 हो गई है और 13,791 लोगों की इसके कारण मौत हुई है। वहीं स्पेन में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2,60,255 है, जबकि 28,420 लोगों की मौत हो चुकी है। पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोरोना से अब तक 2,59,999 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 5475 लोगों की मौत हो चुकी है।

सऊदी अरब में कोरोना संक्रमण से अब तक 2,45,851 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 2407 लोगों की मौत हो चुकी है। यूरोपीय देश इटली में इस जानलेवा विषाणु से 2,43,967 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 35,028 लोगों की मौत हुई है।

तुर्की में 5000 से ज्यादा की मौत : तुर्की में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2,17,799 हो गई है और 5458 लोगों की मौत हो चुकी है। फ्रांस में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2,11,943 हैं और 30,155 लोगों की मौत हो चुकी है। जर्मनी में 2,02,045 लोग संक्रमित हुए हैं और 9088 लोगों की मौत हुई है।

बंगलादेश में 1,99,357 लोग कोरोना की चपेट में आए हैं, जबकि 2547 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस से नीदरलैंड में 12295, बेल्जियम में 9795, कनाडा में 8884, स्वीडन में 5619, इक्वाडोर में 5250, मिस्र में 4188, इंडोनेशिया में 3957, इराक में 3616, स्विट्जरलैंड में 1969, रोमानिया में 1988, अर्जेंटीना में 2178, बोलीविया में 20, आयरलैंड में 1752 और पुर्तगाल में 1682 लोगों की मौत हो चुकी है।

3. भारतीय मूल के चंद्रिकाप्रसाद संतोखी को चुना गया “सूरीनाम” का राष्ट्रपति

  • भारतीय मूल के चंद्रिकाप्रसाद ‘Chan’ संतोखी को दक्षिण अमेरिकी देश “सूरीनाम” का राष्ट्रपति चुना गया है।

  • पूर्व न्याय मंत्री रहे प्रोग्रेसिव रिफार्म पार्टी (PRP) के संतोखी को निर्विरोध राष्ट्रपति चुना गया।

  • वे पूर्व सैन्य तानाशाह डेसी बॉउटर्स की जगह लेंगे, जिनकी नेशनल पार्टी ऑफ सूरीनाम (NPS) देश को आर्थिक संकट में डालने के कारण मई में हुए चुनाव में हार गई थी।

  • सूरीनाम की राजधानी: पैरामारिबो

  • सूरीनाम की मुद्रा: सूरीनामी डॉलर

4. तेलंगाना पुलिस ने की "CybHer" अभियान की शुरुआत

  • तेलंगाना राज्य पुलिस की महिला सुरक्षा विंग द्वारा कानूनी सहायता केंद्र, सिम्बायोसिस लॉ स्कूल, हैदराबाद के सहयोग से "CybHer" अभियान शुरू किया गया है।

  • यह अभियान राज्य में बच्चों और महिलाओं के खिलाफ होने वाले ऑनलाइन अपराध से निपटने के लिए शुरू किया गया है।

  • "CybHer" एक महीने तक चलने वाला वर्चुली अभियान है जो साइबरस्पेस को महिलाओं और बच्चों दोनों के लिए सुरक्षित बनाएगा।

  • यह पीडोफाइल गतिविधि, नाबालिगों का यौन उत्पीड़न और व्यक्तिगत गतिविधि की ऑनलाइन जानकारी, शिक्षा गतिविधि की समानता के तहत यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर ध्यान केंद्रित करेगा।

  • तेलंगाना के मुख्यमंत्री: के चंद्रशेखर राव

  • राज्यपाल: तमिलिसाई सौंदरराजन

5. यूनिसेफ इंडिया ने युवा लोगों के रोजगार के लिए SAP इंडिया के साथ की साझेदारी

यूनिसेफ इंडिया ने देश भर के युवाओं को कैरियर परामर्श देने के लिए SAP इंडिया के साथ साझेदारी की है।

दोनों के बीच हुई इस साझेदारी का उद्देश्य COVID-19 के वर्तमान कल और इसके बाद के समय में युवाओं के रोजगार कौशल में सुधार करना है।

इस पहल के तहत, यूनीसेफ ने भारत के बेरोजगार युवाओं को डिजिटल शिक्षा के साथ-साथ व्यावसायिक कौशल प्रदान करने के लिए YuWaah (जेनरेशन अनलिमिटेड) के साथ सहयोग किया है।

यूनिसेफ - YuWaah - SAP इंडिया के बीच हुई साझेदारी का मुख्य उद्देश्य युवाओं को सशक्त बनाना, उनकी रचनात्मकता, समस्या को सुलझाने और उन्हें लीडरशिप के लिए तैयार करना है, ताकि वे अपने समुदायों के साथ-साथ अपने जीवन को बेहतर बना सकें।

यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक: हेनरीटा एच. फोर


6. मार्कस रैशफोर्ड ने मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी से प्राप्त की डॉक्टरेट की मानद उपाधि

  • · इंग्लैंड के 22 वर्षीय फुटबॉल खिलाड़ी मार्कस रैशफोर्ड मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट की मानद उपाधि पाने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति बन गए हैं।

  • उन्हें यह उपाधि बाल गरीबी के खिलाफ चलाई उनकी मुहिम के लिए दी जाएगी।

  • रैशफोर्ड ने गरीबी और भोजन अपशिष्ट चैरिटी, FareShare के साथ मिलकर वित्तीय और आहार दान के लिए £20 मिलियन की सहायता राशि जुटाई है।

  • दुनिया भर में फैल चुकी COVID-19 महामारी के बीच प्रति सप्ताह 3.9 मिलियन से अधिक लोगों को भोजन वितरित किया जा रहा है।

7. एन चंद्रशेखरन और जिम ताइक्लेट को दिया गया साल का 2020 ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड

  • टाटा समूह के चेयरमेन, नटराजन चंद्रशेखरन और लॉकहीड मार्टिन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और अध्यक्ष जिम ताइक्लेट (Jim Taiclet) को US-इंडिया बिजनेस काउंसिल (USIBC) ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड 2020 दिया गया है।

  • एन चंद्रशेखरन अक्टूबर 2016 में टाटा संस के बोर्ड में शामिल हुए और उन्हें जनवरी 2017 में अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।

  • वह वर्तमान में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के केंद्रीय बोर्ड में अंशकालिक गैर-सरकारी निदेशक के रूप में कार्य करते हैं।

  • USIBC Global Leadership Award को 2007 से प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है।

  • यह संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के शीर्ष कॉर्पोरेट अधिकारियों को दिया जाता है, जिनकी कंपनियां अमेरिका-भारत वाणिज्यिक गलियारे में विकास को बढ़ावा देने में प्रमुख भूमिका निभाती हैं।

  • USIBC मुख्यालय: वाशिंगटन, D.C., अमेरिका.

  • USIBC अध्यक्ष: निशा बिस्वाल.

  • भारत के लिए USIBC प्रबंध निदेशक: अंबिका शर्मा.

8. आईओसी ने 2022 डैकर युवा ओलंपिक को 2026 तक किया स्थगित

  • सेनेगल और अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) ने 2022 में डैकर में होने वाले युवा ओलंपिक खेलों को स्थगित करने के फैसले पर "पारस्परिक रूप से सहमति" जताई है।

  • युवा ओलंपिक खेल अब साल 2026 में आयोजित किए जाएंगे।

  • सेनेगल कैपिटल: डैकर

  • सेनेगल मुद्रा: पश्चिम अफ्रीकी सीएफए फ्रैंक

  • अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति मुख्यालय: लॉज़ेन, स्विट्जरलैंड

  • अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष: थॉमस बाख

9. गूगल ने जियो प्लेटफार्मों में खरीदी 7.73% हिस्सेदारी

IT दिग्गज गूगल ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के जियो प्लेटफार्मों की 7.73% हिस्सेदारी 33,737 करोड़ रुपए में खरीदी है। जिसके लिए, दोनों कंपनियों द्वारा बाध्यकारी साझेदारी और निवेश समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं। यह निवेश पूरे भारत में डिजिटलीकरण के लाभ का विस्तार करने के लिए गूगल और जियो प्लेटफार्मों के मौजूदा प्रयासों को मजबूत करेगा। एक्सचेंज फाइलिंग के अनुसार, गूगल 4.36 लाख करोड़ रुपये के इक्विटी मूल्यांकन में निवेश कर रहा है।

इसके साथ ही, जियो प्लेटफार्मों में वित्तीय और रणनीतिक निवेशकों का कुल निवेश 1,52,056 करोड़ रुपये है।

  • आरआईएल का मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र

  • आरआईएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक: मुकेश डी। अंबानी

  • गूगल मुख्यालय: कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका

  • गूगल के सीईओ: सुंदर पिचाई

10. भारत ने अमेरिका में पेट्रोलियम के रणनीतिक भंडार को रखने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

भारत और अमेरिका ने अमेरिका की धरती में पेट्रोलियम भंडार पर चर्चा शुरू करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। एक आभासी यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक एनर्जी पार्टनरशिप मिनिस्ट्रियल का आयोजन केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान और अमेरिका के उर्जा सचिव डैन ब्रोइलेट के बीच हुआ था।

मुख्य बिंदु

दोनों देशों ने रणनीतिक पेट्रोलियम भंडार के सहयोग और रखरखाव पर चर्चा शुरू करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इसमें सूचनाओं का आदान-प्रदान और सर्वोत्तम अभ्यास भी शामिल हैं।

पृष्ठभूमि

वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में ऐतिहासिक गिरावट के साथ, भारत अपने तेल भंडार को देश के अंदर और विदेशों में भी सक्रिय रूप से बढ़ा रहा है।

भारत-अमेरिका सामरिक उर्जा साझेदारी

यह साझेदारी सतत ऊर्जा विकास का समर्थन करने के लिए काम करती है। इसके तहत दोनों देश स्मार्ट ग्रिड, नवीकरणीय ऊर्जा, स्वच्छ ऊर्जा और ऊर्जा के अपरंपरागत स्रोतों पर सहयोग करते हैं।

इस साझेदारी के तहत, भारत-अमेरिका ने पिछले तीन वर्षों में अपने हाइड्रोकार्बन व्यापार में वृद्धि की है। 2019-20 के बीच द्विपक्षीय हाइड्रोकार्बन व्यापार 9.2 बिलियन अमरीकी डालर था। भारत और अमेरिका वर्तमान में कार्बन कैप्चर, उपयोग और भंडारण पर काम कर रहे हैं।

भारतीय सामरिक पेट्रोलियम रिजर्व लिमिटेड (ISPRL)

ISPRL एक भारतीय कंपनी है जो भारत के रणनीतिक पेट्रोलियम भंडार को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार है। यह पूरी तरह से तेल उद्योग विकास बोर्ड द्वारा संचालित है जो पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन कार्य करता है।

ISPRL 5.33 मिलियन टन के आपातकालीन ईंधन स्टोर का रखरखाव करता है जो 10 दिनों की खपत प्रदान करने के लिए पर्याप्त है।

स्थान

कच्चे तेल का भंडारण मैंगलोर, पाडुर और विशाखापट्टनम जैसे तीन भूमिगत स्थानों पर है। वे भारत के पूर्वी और पश्चिमी तट पर स्थित हैं और रिफाइनरियों के लिए आसानी से उपलब्ध हैं।

भविष्य की योजनाएं

2017-18 के बजट में, तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने घोषणा की थी कि दो और पेट्रोलियम भंडार बीकानेर, राजस्थान और चंदिखोल, ओडिशा में स्थापित किए जाएंगे। साथ ही, पाडुर पेट्रोलियम रिजर्व की क्षमता को दोगुना किया जायेगा। इन परियोजनाओं को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है और इनका कार्यान्वयन किया जा रहा है। इन अतिरिक्त पेट्रोलियम भंडारों से भारत की क्षमता बढ़कर 12.33 मिलियन टन हो जाएगी।


11. जायडस कैडिला की वैक्सीन का ट्रायल मार्च तक होगा पूरा, कंपनी एक साल में बनाएगी 10 करोड़ खुराक

भारत की दवा निर्माता कंपनी जायडस कैडिला अपनी कोरोना वैक्सीन का ट्रायल अगले साल फरवरी या मार्च तक पूरा करने की योजना बना रही है। कंपनी के चेयरमैन पंकज पटेल ने शुक्रवार को कहा कि यदि वैक्सीन का ट्रायल सफल रहा, तो वह 10 करोड़ खुराक का एक साल में उत्पादन करेगी। कैडिला की वैक्सीन का नाम जायकोव-डी है। यह उन दर्जनों वैक्सीनों में शुमार है, जिसका विकास कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए किया जा रहा है।

पटेल ने एक साक्षात्कार में कहा, हमें सात महीने या इससे कुछ ज्यादा समय में वैक्सीन तैयार होने की उम्मीद है, बशर्ते डाटा उत्साहवर्धक रहा और ट्रायल के दौरान टीका असरकारक साबित हुआ। हम दुनिया के विभिन्न हिस्सों में अन्य दवा निर्माताओं के साथ भी साझेदारी करने के लिए तैयार हैं। हालांकि, इस समय इस बारे में कुछ कहना जल्दबाजी होगी। हम यह काम पहले और दूसरे चरण का परीक्षण खत्म होने के बाद करेंगे। उन्होंने कहा कि पहले और दूसरे चरण का मानव परीक्षण अगले तीन महीने में संपन्न होने की उम्मीद है।

कैडिला कोविड-19 के इलाज में काम आने वाली दवा रेमडेसिविर का उत्पादन करने की योजना भी बना रही है। गंभीर मरीजों में सकारात्मक असर दिखाने के बाद दुनियाभर में इसकी मांग बढ़ी है। कैडिला उन कई दवा कंपनियों में शामिल है, जिसने पिछले महीने अमेरिकी कंपनी गिलियड साइंसेज से भारत समेत विकासशील देशों में दवा का उत्पादन और बेचने के लिए लाइसेंस की खातिर समझौता किया था।

देश के बायोटेक्नोलॉजी विभाग की सचिव रेणु स्वरूप का कहना है कि कोरोना के लिए स्वदेशी रूप से विकसित वैक्सीन का इंसानों पर परीक्षण आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक मील का पत्थर है। जाइडस कैडिला (Zydus Cadila) ने कहा है कि उसने अपनी कोरोना वैक्सीन के मानव परीक्षण की शुरुआत कर दी है। इसके तहत मानव ट्रायल के फेज-1 और फेज-2 को शुरू कर दिया गया है। प्लास्मिड डीएनए वैक्सीन ZyCoV-D को जाइडस कैडिला (Zydus Cadila) द्वारा विकसित की गई है।


12. भारत ने आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने के लिए 5 पोर्टल लांच किये

भारत सरकार ने घोषणा की कि भारत में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न संगठनों द्वारा पांच पोर्टल विकसित किए जा रहे हैं। इससे आत्म निर्भर भारत अभियान को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।

मुख्य बिंदु

विकसित किए जा रहे पोर्टल विशिष्ट क्षेत्रों के लिए हैं और निम्नानुसार हैं :

  • उर्जा क्षेत्र के लिए बी.एच.ई.एल.

  • विनिर्माण क्षेत्र के लिए सी.एम.एफ.टी.आई.

  • मशीन टूल्स के लिए एचएमटी

  • मोटर वाहन क्षेत्र के लिए आईसीएटी और एआरएआई।

पोर्टल के बारे में

समस्या को हल करने और समाधान चाहने वालों को एक साथ लाने के लिए यह पोर्टल लॉन्च किए जा रहे हैं। यह पोर्टल शिक्षा, उद्योग, अनुसंधान संस्थान, स्टार्टअप और विशेषज्ञों पर केंद्रित होंगे।

महत्व

यह पोर्टल अपने लक्षित क्षेत्रों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मदद करेंगे। इन पोर्टल में निम्नलिखित गतिविधियाँ शामिल होंगी :

  • अनुसंधान और विकास

  • तकनीकी नवाचार

  • विनिर्माण और प्रक्रिया प्रौद्योगिकी विकास

  • बाजार अनुसंधान और प्रौद्योगिकी सर्वेक्षण करने के लिए

  • गुणवत्ता की समस्या का समाधान

ASPIRE पोर्टल

ASPIRE पोर्टल को ICAT (International Centre for Automotive Technology) द्वारा तैयार किया गया था। यह पोर्टल चुनौतियों की मेजबानी करने और विस्तृत संसाधन डेटाबेस प्रदान करने के लिए पूरी तरह कार्यात्मक है।


13. पीएम स्वनिधि की एप्प लांच की गयी

हाल ही में स्ट्रीट वेंडर्स को ऋण प्रदान करने के लिए पीएम स्वनिधि एप्प लांच की गयी। इसका उद्देश्य छोटे दुकानदारों को ऋण के लिए आवेदन करने में सहूलियत प्रदान करना है। इस एप्प को गूगल प्ले स्टोर से निशुल्क डाउनलोड किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (PM SVANidhi)

PM SVANidhi या PM Street Vendors Atmanirbhar Nidhi एक क्रेडिट सुविधा योजना है जो 50 लाख से अधिक शहरी और ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स की मदद करेगी। इस योजना से स्ट्रीट वेंडर्स को अपनी आजीविका फिर से शुरू करने में मदद मिलेगी।

इस योजना के तहत, स्ट्रीट वेंडर्स को 10,000 रुपये का ऋण प्रदान किया जायेगा। स्ट्रीट वेंडर्स एक वर्ष के भीतर मासिक किस्तों के रूप में राशि लौटाएंगे।

इस योजना की घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्म निर्भार भारत अभियान के पैकेज की घोषणा के दौरान की थी।


14. भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 3.1 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 516.362 अरब डॉलर पर पहुंचा

10 जुलाई, 2020 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 3.1 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 516.362 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत 5वें स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

विदेशी मुद्रा भंडार

इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

10 जुलाई, 2020 को विदेशी मुद्रा भंडार

विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $475.635 बिलियन गोल्ड रिजर्व: $ 34.729 बिलियन आईएमएफ के साथ एसडीआर: $ 1.453 बिलियन आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $ 4.545 बिलियन

15. महाराष्ट्र की पहली महिला निर्वाचन आयुक्त नीला सत्यनारायण का निधन

  • महाराष्ट्र की पहली महिला राज्य निर्वाचन आयुक्त (State Election Commissioner) नीला सत्यनारायण का निधन।

  • वह 1972 बैच की IAS अधिकारी थीं। उन्हें राजस्व विभाग के एक अतिरिक्त मुख्य सचिव के रूप में उनके संक्षिप्त कार्यकाल के बाद 2009 में महाराष्ट्र के राज्य चुनाव आयुक्त (SEC) के रूप में नियुक्त किया गया था।

  • उन्होंने 05 जुलाई 2014 तक महाराष्ट्र के SEC के रूप में कार्य किया।

  • महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री: उद्धव ठाकरे

  • राज्यपाल: भगत सिंह कोश्यारी

16. आचार्य श्री पुरुषोत्तम प्रियदासजी स्वामीश्री का निधन

  • आचार्य श्री पुरुषोत्तम प्रियदासजी स्वामीश्री का COVID-19 के कारण निधन।

  • वह स्वामीनारायण संस्था के प्रमुख थे। वह सन्यासी आचार्यों के वंश में पाँचवें उत्तराधिकारी थे।

  • वह वर्तमान में श्री स्वामीनारायण पीठ के आचार्य थे।

19 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved