Search

17th July|Current Affairs|MB Books


1. भारत और अमेरिका की दवा कंपनियां कोरोना की वैक्‍सीन पर मिलकर कर रहीं काम

भारत और अमेरिका ना केवल महामारी से मिलकर मुकाबला कर रहे हैं बल्कि इसके लिए बनाए जाने वाले टीके में भी एक-दूसरे का सहयोग कर रहे हैं। अमेरिका में भारतीय राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने स्वास्थ्य, लाइफ साइंसेज और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में दोनों देशों की साझेदारी को रेखांकित करते हुए कहा कि इससे संपूर्ण विश्व को लाभ हो सकता है।

अमेरिका के मध्य-पश्चिमी हिस्से में रहने वाले भारतीय मूल के प्रमुख अमेरिकियों से एक वर्चुअल बातचीत के दौरान संधू ने कहा, 'महामारी के दौरान भारत और अमेरिका ने एक-दूसरे के साथ मिलकर काम किया है। दोनों देशों के शोध संस्थान एक-दूसरे के संपर्क में हैं। टीका बनाने को लेकर भी दोनों देशों की दवा कंपनियां मिलकर काम कर रही है। इस तरह के कम से कम तीन क्षेत्र हैं, जहां पर मिलकर काम किया जा रहा है।

गिलीड साइंसेज कंपनी ने कोरोना के इलाज के लिए अधिकृत रेमडेसिवीर के निर्माण और वितरण के लिए भारत की सात दवा कंपनियों के साथ एक समझौता किया है।' उन्होंने कहा कि संकट के समय भारत हमेशा एक विश्वसनीय भागीदार के तौर पर उभरा है और अमेरिका सहित 150 से अधिक देशों में दवाओं और मेडिकल उपकरणों की आपूर्ति की है। संधू ने कहा कि भारत में शुरुआती लॉकडाउन महामारी को रोकने में बहुत सफलता मिली।

कंटेनमेंट जोन को छोड़कर को काफी हद तक प्रतिबंध हटा लिए गए हैं। देश में कोरोना से ठीक होने की दर भी 65 फीसद से अधिक हो गई है। बता दें कि महामारी के दौरान भारतीय राजदूत नियमित रूप से भारतवंशियों के विभिन्न वर्गो से वर्चुअल बातचीत कर रहे हैं। इस तरह की उनकी यह छठी बातचीत थी। पिछले सप्ताह उन्होंने भारतीय मूल सिख समुदाय से बातचीत की थी।


2. संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान तालिबान नेता नूर महसूद को वैश्विक आतंकी घोषित किया

संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के नेता मुफ्ती नूर वली महसूद को वैश्विक आतंकवादी के रूप में नामित किया है। संयुक्‍त राष्‍ट्र ने अतंरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर आतंकवाद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए यह कदम उठाया है।

संयुक्त राष्ट्र परिषद की 1267 आईएसआईएल और अलकायदा प्रतिबंध समिति ने 42 वर्षीय महसूद को प्रतिबंध सूची में डाला। भारत ने हाल में संयुक्त राष्ट्र की बैठक में पाकिस्तान को घेरा था और आरोप लगाया था कि पाकिस्तान आतंकवादियों को पनाह दे रहा है।

वैश्विक आतंकी क्यों घोषित किया गया?

प्रतिबंध समिति ने कहा कि नूर वली महसूद को ‘अलकायदा से संबंधित समूहों का समर्थन करने, उनकी आतंकवादी गतिविधियों का वित्तपोषण करने, योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने के कारण इस सूची में डाला गया है। नूर वली महसूद जून 2018 में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रमुख मौलाना फजलुल्लाह की मौत के बाद इस आतंकवादी संगठन का प्रमुख बना था। संयुक्त राष्ट्र ने इस संगठन को अलकायदा से संबंध रखने के लिए 29 जुलाई 2011 को काली सूची में डाला था।

मुफ्ती नूर वली महसूद के बारे में

मुफ्ती नूर वली महसूद आतंकवादी संगठन अल-कायदा का समर्थक है। उसका अल कायदा से ताल्‍लुक है। वे अलकायदा के सहयोगी के रूप में पाकिस्‍तान में सक्रिय है।

महसूद आतंकवादी संगठनों के संयोजन, वित्‍तपोषण और उसकी आतंकी गतिविधियों की योजना में शामिल रहा है। महसूद संगठन को बनाने और उसको अंजाम देने में शामिल रहा है। उसका संगठन पाकिस्‍तान में सक्रिय है।

पाकिस्तान तालिबान को कई आत्मघाती बम विस्फोटों के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है, जिसके कारण सैकड़ों निर्दोष नागरिकों की हत्या हुई है।

यह संगठन कई आत्मघाती विस्फोटों को अंजाम देने के लिए जिम्मेदार है। इस पर सैकड़ों बेगुनाह नागरिकों की हत्‍या का आरोप है। टीटीपी पाकिस्तान में कई घातक आतंकवादी हमलों के लिए जिम्मेदार है।

टीटीपी के नेता नूर वली, जिसे मुफ्ती नूर वली महसूद के नाम से भी जाना जाता है। उसे जून, 2018 में पूर्व टीटीपी नेता मुल्ला फजलुल्लाह की मृत्यु के बाद टीटीपी का नेता नामित किया गया था।

पाकिस्‍तान को एक और झटका

यह पाकिस्तान के लिए एक और झटका है, जिसे बार-बार विश्व समुदाय द्वारा आतंकवादी समूहों का समर्थन करने के लिए कहा जाता है। पिछले साल, संयुक्त राष्ट्र ने जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख, मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी के रूप में नामित किया था।

अमेरिका ने क्या कहा?

अमेरिकी ट्रंप प्रशासन ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के इस कदम का स्‍वागत किया है। संयुक्त राज्य ने पिछले साल सितंबर में महसूद को आतंकवादी के रूप में नामित किया था। अमेरिकी विदेश विभाग के अनुसार नूर वली के नेतृत्व में, टीटीपी ने पाकिस्तान भर में कई घातक आतंकवादी हमलों की जिम्मेदारी ली है।


3. 17 जुलाई : विश्व इमोजी दिवस

17 जुलाई को विश्व इमोजी दिवस के रूप में मनाया जाता है, यह दिवस 2014 से प्रतिवर्ष इसी दिन मनाया जाता है। विश्व इमोजी दिवस की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के जेरेमी बर्ज ने की थी। जेरेमी बर्ज इमोजी इतिहासकार हैं ।

इमोजी

इमोजी जापानी भाषा का शब्द है। इमोजी वेब पेज और मेसेज में उपयोग किये जाने वाले छोटे चित्रों को कहा जाता है, यह चित्र आमतौर पर चेहरे के हाव-भाव, वस्तुओं, जगह, मौसम व पशु इत्यादि कई श्रेणियों के होते हैं। इमोजी की शुरुआत सबसे पहले 1999 में जापानी मोबाइल फ़ोन में हुई, 2010 के बाद इमोजी काफी प्रसिद्ध हुए, और अब उनका उपयोग वेबसाइट और एप्प्स में बड़े पैमाने पर किया जाता है। विश्व का पहला इमोजी 1999 में जापान के शिगेताका कुरिता ने बनाया था।


4. भारत-भूटान के बीच नया व्यापार मार्ग खोला गया

भारत और भूटान ने पश्चिम बंगाल में जैगोन और भूटान के पसाखा के बीच एक नया व्यापार मार्ग खोला गया।

मुख्य बिंदु

भूमि मार्ग से औद्योगिक कच्चे माल और पसाख औद्योगिक एस्टेट के लिए माल ले जाने में मदद मिलेगी। यह मार्ग व्यापार को बढ़ावा देने में मदद करेगा और वाहनों के आवागमन को कम करेगा।

भूटान भारत का निकटतम साझेदार है।

चाइना फैक्टर

भारत ने हाल ही में भूटान के येती क्षेत्र में सड़क बनाने का प्रस्ताव दिया था जिस पर चीन ने हाल ही में दावा किया था। यह सड़क भारत को अरुणाचल प्रदेश के तवांग तक जल्दी पहुंचने में भी मदद करेगी। यह सड़क गुवाहाटी और तवांग के बीच की दूरी 150 किलोमीटर कम कर देगी।

तिब्बत पर पूर्ण नियंत्रण हासिल करने के लिए चीन तवांग पर दावा करता है।

सकतेंग वन्यजीव अभयारण्य

जून 2020 में, चीन ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम-वैश्विक पर्यावरण सुविधा परिषद में सकतेंग वन्यजीव अभयारण्य के वित्तपोषण को अवरुद्ध करने का प्रयास किया था। यह अभयारण्य पूर्वी भूटान में स्थित है। चीन के अनुसार, यह अभयारण्य विवादित क्षेत्र का हिस्सा था।


5. साइबर सुरक्षा पर भारत-इजरायल ने समझौते पर हस्ताक्षर किये

भारत और इज़राइल ने साइबर खतरों से निपटने में अपने सहयोग का विस्तार करने के लिए समझौतों पर हस्ताक्षर किए। इज़राइल के राष्ट्रीय साइबर निदेशालय (INCD) के महानिदेशक और इज़राइल में भारत के राजदूत संजीव सिंगला के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

मुख्य बिंदु

इस समझौते में भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT) भी शामिल है जो इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी और INCD मंत्रालय के तहत काम करती है। इस समझौते से साइबर खतरों पर देशों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के दायरे का विस्तार होगा।

यह समझौता क्षमता निर्माण और क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रथाओं के आपसी आदान-प्रदान में सहायता करेगा।

पृष्ठभूमि

साइबर सुरक्षा को भारत और इज़राइल के नेताओं द्वारा सहयोग के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक के रूप में चिन्हित किया गया था जब पीएम मोदी ने 2017 में इज़राइल का दौरा किया। दोनों देशों ने 2018 में साइबर सुरक्षा समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए।

महत्व

COVID-19 संकट पूरे विश्व में कार्य संस्कृति को बदल रहा है। उद्योग अपने कर्मचारियों की भौतिक उपस्थिति को कम कर रहे हैं। ‘वर्क फ्रॉम होम’ संस्कृति से कार्य बड़े पैमाने पर बढ़ रहा है। इसके परिणामस्वरुप साइबर खतरे भी बढ़ गये हैं।


6. भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई, जर्मनी और फ्रांस के साथ “एयर बबल” बनाया

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने घोषणा की कि भारत फ्रांस और अमेरिका के साथ अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों के संचालन को फिर से शुरू करेगा।

मुख्य बिंदु

भारत सरकार ने यूएई में अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस के साथ समझौते किए हैं। जर्मनी के साथ बातचीत अपने अंतिम चरण में है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने हवाई यात्रा के शुल्क में 25% की कमी लाने की योजना बनाई है।

करार

देशों के साथ किए गए समझौतों के तहत, यूनाइटेड एयरलाइंस और डेल्टा को अमेरिका से संचालन करना है। एयर फ्रांस को फ्रांस से संचालित करना है। ब्रिटेन की कोई भी एयरलाइन भारत में परिचालन नहीं कर रही है। बल्कि, एयर इंडिया यू.के. के लिए उड़ान भरेगी। जर्मनी की लुफ्थांसा जर्मनी से संचालित होगी।

किसे अनुमति है?

हस्ताक्षरित समझौते के अनुसार, भारत को केवल विदेशी नागरिकों, भारतीय नागरिकों, कार्ड धारकों, व्यापार और राजनयिक वीजा वाले लोगों की एक निश्चित श्रेणी की अनुमति है। वैध पर्यटक वीज़ा वाले लोगों को निर्धारित उड़ानों द्वारा भारत में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

एयर बबल

एयर बबल COVID-19 के दौरान गढ़ा गया शब्द है। यह दुनिया में विशिष्ट क्षेत्रों के बीच परिवहन और लोगों के संपर्क को संदर्भित करता है। विशेष रूप से उन क्षेत्रों के बीच जहां COVID-19 को समान स्तर पर समाहित किया गया है। इस योजना को “वंदे भारत मिशन” का नया अवतार कहा जा रहा है।

वन्दे भारत मिशन

विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए भारत सरकार द्वारा वंदे भारत मिशन शुरू किया गया था। इस मिशन के तहत 70,000 से अधिक भारतीयों को देश वापस लाया गया।

7. इंडिगों की नई शुरुआत, अब एक यात्री खुद के लिए बुक कर सकता है दो सीट

इंडिगो ने शुक्रवार को एक योजना शुरू की जो एक यात्री को कोरोना वायरस महामारी के बीच अतिरिक्त सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए खुद के लिए दो सीटें बुक करने की अनुमति दी है। एयरलाइन ने एक बयान में कहा कि अतिरिक्त सीट के लिए शुल्क मूल बुकिंग लागत का 25% तक प्रभावी होगा। यह पेशकश 24 जुलाई, 2020 से शुरु हो रही यात्राओं पर प्रभावी होगी। इंडिगों ने बयान में कहा कि कि 6 ई डबल सीट योजना यात्रा पोर्टल, इंडिगो कॉल सेंटर या हवाई अड्डे के काउंटरों के माध्यम से उपलब्ध नहीं होगी। इस योजना का लाभ केवल इंडिगो की वेबसाइट का उपयोग करके लिया जा सकता है।

सर्वेक्षण में कहा गया है कि इंडिगो द्वारा 20 जून से 28 जून के बीच 25,000 यात्रियों के बीच ऑनलाइन किए गए सर्वेक्षण के अनुसार, अन्य यात्रियों द्वारा सामाजिक गड़बड़ी का अभाव यात्रियों के बीच एक चिंता का विषय है। अन्य यात्रियों (उत्तरदाताओं के 62%), राज्यों द्वारा संगरोध उपाय (55%) और इतने सारे लोगों (55%) के साथ विमान में बैठे लोगों द्वारा शारीरिक दूरी की कमी जैसे कारक हवाई यात्रा के लिए प्रमुख निवारक के रूप में पहचाने गए हैं।

शुक्रवार को, इंडिगो के मुख्य रणनीति और राजस्व अधिकारी संजय कुमार ने कहा कि भले ही हवाई यात्रा इस बिंदु पर यात्रा का सबसे सुरक्षित तरीका है, हम ग्राहकों की सुरक्षा की भावनात्मक आवश्यकता को समझते हैं।

उन्होंने कहा कि हमें इस तरह के अनुरोध मिल रहे थे और अतिरिक्त सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एकल यात्री के लिए दो सीटें बुक करने के विकल्प को पेश करने में खुशी हो रही है।

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। देश में इस वक्त कोरोना वायरस के 10 लाख से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले हैं। हालांकि, देश में इस वक्त कोरोना संक्रमितों से ज्यादा कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या है।

8. ट्यूनीशिया के प्रधान मंत्री एलिस फाखफाख ने दिया इस्तीफा

  • ट्यूनीशिया के प्रधान मंत्री एलिस फाखफाख (Elyes Fakhfakh) ने राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

  • उनका इस्तीफा एक मुहिम के बाद आया है, जिसमें उन्हें विश्वास मत हासिल करने और देश में संस्थानों के बीच बढ़ रहे संघर्षों से बचने के लिए दिया गया है।

  • एलिस फाखफाख (Elyes Fakhfakh) को जनवरी 2020 में ट्यूनीशिया का प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया था।

  • उन पर वर्तमान में उन कंपनियों के साथ संबंध के आरोपों की जांच चल रही हैं जिन्हें सरकारी ठेके दिए गए हुए थे।

  • ट्यूनीशिया के राष्ट्रपति: कैस सैयद

  • ट्यूनीशिया की राजधानी: ट्यूनिस

9. वेद प्रकाश दुदेजा को 'इन्फ्रा बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर' पुरस्कार से किया गया सम्मानित

  • रेल इन्फ्रा एंड मोबिलिटी बिजनेस डिजिटल अवार्ड्स (RIMBDA) द्वारा वेद प्रकाश दुदेजा को साल 2020 के प्रतिष्ठित ‘इन्फ्रा बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

  • वह रेल भूमि विकास प्राधिकरण (Rail Land Development Authority-RLDA) के उपाध्यक्ष हैं। उन्हें अवसंरचना विकास में दिए उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया है।

  • उनके नेतृत्व में, RLDA ने विभिन्न कमर्शियल परियोजनाएं, बहुक्रियाशील परिसर, कॉलोनी पुनर्विकास और स्टेशन पुनर्विकास परियोजनाएं शुरू की हैं।

10. ब्रेट ली बने SportsAdda के नए ब्रांड एंबेसडर

  • पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज और क्रिकेट दिग्गज ब्रेट ली को SportsAdda ने अपना नया ब्रांड एंबेसडर बनाया है।

  • SportsAdda एक भारतीय समाचार और सूचना प्लेटफार्म है, जो क्रिकेट, फुटबॉल और कबड्डी से जुड़ी सभी ताजा जानकारी, अपडेट और आंकड़े प्रदान करता है।

11. हैदराबाद एयरपोर्ट पर बनाई गई भारत की पहली संपर्क रहित कार पार्किंग

  • GMR हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट (GHIAL) ने COVID-19 के बीच सुरक्षित हवाई अड्डा प्रदान करने के लिए भारत की पहली पूरी तरह से संपर्क रहित एयरपोर्ट कार पार्किंग की शुरुआत की है।

  • इसके अतिरिक्त GHIAL ने NPCI (नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया) के साथ मिलकर अपने NETC (नेशनल इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन) FASTag कार पार्किंग का भी विस्तार किया है।

  • पार्किंग का भुगतान सीधे प्रीपेड खाते से लिंक्ड रीलोडेबल इलेक्ट्रॉनिक रेडियो फ़्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टैग का उपयोग करके किया जा सकेगा, जो पार्किंग शुल्क के स्वचालित भुगतान को सक्षम बनाएगा।

  • NPCI के एमडी और सीईओ: दिलीप अस्बे

  • NPCI प्रमुख कार्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र

12. हैदराबाद के INCOIS ने "स्वछता पखवाड़ा" का किया आयोजन

  • हैदराबाद स्थित भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र (INCOIS) द्वारा "स्वछता पखवाड़ा" का आयोजन किया गया।

  • आयोजन के दौरान, लोगों को मिशन के उद्देश्यों के बारे में जागरूक करने के लिए खुले में शौच से मुक्त होना, ठोस और तरल कचरे का कुशल प्रबंधन, समग्र स्वच्छता आदि जैसी कई गतिविधियाँ आयोजित की गई है।

  • इसमें ITCOocean परिसर में वृक्षारोपण, सिंगल यूज़ प्लास्टिक प्रतिज्ञा और कैंपस सैनिटाइजेशन आदि भी शामिल थी।

  • हैदराबाद स्थित भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र (INCOIS), भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संस्थान है।

  • केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री: हर्षवर्धन

13. Jal Jeevan Mission: सात महीनों में 84 लाख घरों को मिला साफ पानी, 15 करोड़ नल कनेक्शन का लक्ष्य

कोविड-19 महामारी के दौरान अनलॉक-1 के बाद जल जीवन मिशन के तहत 45 लाख घरों में नल के कनेक्शन लगाए गए। केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के बीच 1 जून को अनलॉक-1 की घोषणा की थी। जल जीवन मिशन अगस्त 2019 में लांच किया गया था। मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी जल जीवन मिशन का लक्ष्य 2024 तक देश के प्रत्येक ग्रामीण घर में व्यक्तिगत घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से सुरक्षित और पर्याप्त पेयजल उपलब्ध कराना है।

जल शक्ति मंत्रालय के अनुसार 2019-20 के सात महीने के दौरान करीब 84.83 लाख ग्रामीण घरों में नल कनेक्शन दिए गए है। रोजाना करीब एक लाख घरों को नल कनेक्शन मुहैया कराए जा रहे हैं। मंत्रालय ने कहा है, 'मिशन के अस्तित्व में आने के बाद राज्यों से बेसलाइन डाटा के फिर से वैध करने का काम शुरू करने का आग्रह किया गया जिसके अनुसार देश में 19.04 करोड़ ग्रामीण घर हैं। इनमें से 3.23 करोड़ घरों को नल कनेक्शन पहले से ही उपलब्ध है। शेष 15.81 करोड़ घरों को नल कनेक्शन मुहैया कराया जाना है।'

पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए कनेक्शन को घर के मुखिया के आधार कार्ड से जोड़ा जा रहा है। जापानी इंसेफेलाइटिस/एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (जेई-एईएस) से प्रभावित जिलों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है, जहां शिशु मृत्यु दर ज्यादा है। बयान में कहा गया है कि पांच राज्यों असम, बिहार, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल के 61 जिलों में 3.01 करोड़ घर हैं। जल जीवन मिशन गरीब कल्याण रोजगार अभियान (जीकेआरए) का भी हिस्सा है, जिसमें सार्वजनिक बुनियादी ढांचा बनाकर प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने का प्रयास किया जा रहा है। इसके तहत छह राज्यों में लगभग 25 हजार गांवों में काम करने की योजना है।

बता दें कि 2020-21 में जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन के लिए 23,500 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है। वर्तमान में मिशन के कार्यान्वयन के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए 8,000 करोड़ रुपये से अधिक धन उपलब्ध है। इसके अलावा, 2020-21 में ग्रामीण स्थानीय निकायों को 15वें वित्त आयोग का 50 प्रतिशत अनुदान, यानी 30,375 करोड़ रुपये जलापूर्ति और स्वच्छता के लिए रखा गया है। इस राशि का पचास प्रतिशत 15 जुलाई को राज्यों को जारी किया गया था। इससे गांवों में पेयजल आपूर्ति प्रणालियों की बेहतर योजना, कार्यान्वयन, प्रबंधन, संचालन और रखरखाव में मदद मिलेगी ताकि लोगों को नियमित और दीर्घकालिक रूप से पीने योग्य पानी मिलता रहे।


14. IIT मद्रास और स्टार्टअप ने मिलकर तैयार किए आसानी से फोल्ड हो जाने वाले पोर्टेबल कोविड अस्पताल

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास-इनक्यूबेटेड स्टार्टअप ने एक अनूठी पहल करते हुए पोर्टेबल अस्पताल यूनिट विकसित किया है। जिसे चार लोगों द्वारा दो घंटे के भीतर कहीं भी लगाया जा सकता है। मोडुलस हाउसिंग सोल्यूशन द्वारा विकसित किए गए फोल्डेबल पोर्टेबल अस्पताल MediCAB में चार जोन हैं। जिसमें डॉक्टर का कमरा, एक आइसोलेशन रूम, एक मेडिकल रूम / वार्ड और एक ट्विन-बेड आईसीयू शामिल है। ये स्टार्टअप छोटे अस्पतालों का विकास कर रहा है जो पूरे देश में तेजी से इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

इन पोर्टेबल अस्पतालों का मकसद स्थानीय समुदायों में COVID-19 रोगियों का पता लगाना, उनकी स्क्रीनिंग करना, उन्हें अलग करना और उनका इलाज करना है। मॉडुलस हाउसिंग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, श्रीराम रविचंद्रन ने कहा, "केरल में इस पायलट प्रोजेक्ट से माइक्रो-अस्पतालों की अहमियत को साबित किया जा सकेगा। MediCAB फौरन समाधान करने में कारगर है।''

रविचंद्रन ने कहा, " फौरन इमारतें बनाना मुश्किल है। ग्रामीण आबादी कम होने के कारण, वहां छोटे अस्पताल COVID-19 मामलों से निपटने में बहुत मदद कर सकते हैं।"मॉडुलस हाउसिंग ने तमिलनाडु में चेंगलपेट में अपनी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाई है। उन्होंने कहा कि COVID​​-19 के बाद इन्हें ग्रामीण इलाकों में सूक्ष्म अस्पतालों / क्लीनिकों के रूप में तैयार किया जा सकता है।


15. रोशनी नडार मल्होत्रा: भारत की सबसे अमीर महिला अब बनीं HCL टेक की 'बॉस'

रोशनी नडार मल्होत्रा भारत की सबसे धनी महिला अब एचसीएल टेक्नॉलजी की चेयरपर्सन बन गई हैं। नोएडा बेस्ड आईटी कंपनी ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की। 38 साल की रोशनी अपने पिता शिव नाडर की जगह लेंगी। कंपनी ने एक रेगुलेट्री फाइलिंग में कहा कि नॉन एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर रोशनी नडार मल्होत्रा ​​की नियुक्ति नई भूमिका तुरंत प्रभावी हो जाती है। शिव नडार एचसीएल टेक के मैनेजिंग डायरेक्टर और कंपनी के चीफ सट्रेटेजी ऑफिसर के पद पर बने रहेंगे। लेकिन एचसीएल चेयरमैन पद पर अब उनकी जगह उनकी बेटी रोशनी नडार मल्होत्रा ने ले ली है।

दिल्ली में पैदा हुईं और पली-बढ़ीं रोशनी ने वसंत वैली स्कूलसे अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की, इसके बाद उन्होंने अमेरिकी की नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री ली। नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी के ही केल्लोग (Kellogg) स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से रोशनी ने अपना एमबीए पूरा किया है।

रोशनी नडार मल्होत्रा एचसीएल कोर्पोरेशन की एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर और सीईओ रह चुकीं हैं। इसके अलावा वह एचसीएल टेक्नॉलजी की वाइस चेयरपर्सन और शिव नडार फाउंडेशन की ट्रस्टी रह चुकी हैं। एचसीएल कोर्पोरेशन में रोशनी नडार मल्होत्रा संगठन को रणनीतिक मार्गदर्शन (strategic guidance) देने की जिम्मेदारी निभाती रहीं हैं।

रोशनी नडार मल्होत्रा को 2013 में भारत के तीसरे सबसे बड़े सॉफ्टवेयर निर्यातक बोर्ड में एक अतिरिक्त निदेशक के रूप में शामिल किया गया था। एचसीएल टेक्नोलॉजीज और एचसीएल इंफोसिस्टम्स की होल्डिंग कंपनी एचसीएल कॉर्प के बोर्ड में उनकी नियुक्ति के चार साल बाद यह सब हुआ था। वाइल्ड लाइफ और कंजर्वेशन में रुची रखने वाली रोशनी नडार मल्होत्रा ने 2018 में द हैबिट्स ट्रस्ट की स्थापना की थी। ट्रस्ट का उद्देश्य देश के प्राकृतिक स्थानों और स्वदेशी प्रजातियों की रक्षा करना है। जिसमें स्थायी पारिस्थितिकी तंत्र बनाने (conserving sustainable ecosystems) और संरक्षण का मुख्य मिशन है।

रोशनी नडार वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के फोरम ऑफ़ यंग ग्लोबल लीडर्स इनिशिएटिव की पूर्व छात्र भी हैं, जो दुनिया के सबसे उत्कृष्ट, अगली पीढ़ी के लीडर्स का एक ग्रुप है। साल 2017 से 2019 तक फोर्ब्स की 100 "द् वर्ल्ड्स मोस्ट पॉवरफुल वुमेन" लिस्ट में भी शामिल रहीं है।

IIFL वेल्थ हुरुन इंडिया के अनुसार, रोशन नडार मल्होत्रा 2019 में देश की सबसे अमीर महिला थीं, जिनकी कुल कमाई 31,400 करोड़ रुपये थी।


16. 3.5 वर्षों में रेलवे में होगा 100 प्रतिशत विद्युतीकरण

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह घोषणा की है कि, भारतीय रेलवे अगले 3.5 वर्षों में 100 प्रतिशत विद्युतीकरण का लक्ष्य हासिल करने का प्रयास करेगा।

रेल मंत्री ने यह बताया कि, प्रत्येक भारतीय नागरिक पूरे गर्व सहित वर्ष 2030 तक दुनिया के सबसे बड़े स्वच्छ रेलवे का मालिक होगा। उन्होंने एक कार्यक्रम में यह घोषणा की, जिसका विषय था - "आत्मनिर्भर भारत की ओर: नवीकरणीय ऊर्जा निर्माण।"

रेल मंत्री ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि, केंद्र सरकार नवीकरणीय ऊर्जा के लिए ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा दे रही है और इस उद्योग को आत्म निर्भर बनाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

मुख्य विशेषताएं

भारतीय रेलवे अगले 3.5 वर्षों में 100 प्रतिशत विद्युतीकरण और अगले 9-10 वर्षों में 100 प्रतिशत नेट शून्य ऑपरेटर बनने का लक्ष्य हिल करने का प्रयास करेगा।

रेल मंत्री ने यह कहा है कि, भारत ने उक्त क्षेत्र की व्यापक उपलब्धता के लिए ट्रांसमिशन सेक्टर में काफी निवेश किया है।

एक सूर्य, एक दुनिया, एक ग्रिड

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक सूर्य, एक दुनिया, एक ग्रिड की अवधारणा के बारे में बात की, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रचारित किया है। रेल मंत्री ने आगे कहा कि, एक अंतरराष्ट्रीय सौर ग्रिड का संचालन करने का लक्ष्य ऐसा है, जिस पर हम सभी काम कर रहे हैं।

नवीकरणीय ऊर्जा

रेल मंत्री ने कहा कि, भारत अंतर्राष्ट्रीय नवीकरणीय समुदाय का नेतृत्व कर रहा है। फिर, आगे यह भी कहा कि, नवीकरणीय ऊर्जा प्रगति का रास्ता प्रशस्त करती है और अनेक पर्यावरणीय लाभ मिलने के साथ यह आर्थिक रूप से भी राष्ट्र के लिए लाभकारी है।

पीयूष गोयल ने आगे कहा कि, ‘प्रधानमंत्री-कुसुम योजना’ के तहत, सरकार की यह योजना है कि भारत के किसानों को भी अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में शामिल किया जाए।

पृष्ठभूमि

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले यह कहा था कि, जब नवीकरणीय ऊर्जा के लिए विभिन्न कदम उठाने के बारे में चर्चा होती है तो इस दिशा में भारत दुनिया के लिए एक मॉडल बन गया है। उन्होंने बताया कि, प्रत्येक इच्छुक नागरिक को आज सस्ती कीमतों पर बिजली उपलब्ध है।


17. कतर में 2022 फीफा विश्व कप आयोजित किया जाएगा

फीफा ने घोषणा की कि 2022 विश्व कप कतर में आयोजित किया जायेगा। फीफा ने मैचों की अनुसूची भी जारी की।

मुख्य बिंदु

2022 का फीफा विश्व कप अरब विश्व में आयोजित होने वाला पहला विश्व कप होगा और मुस्लिम बहुल देश में पहला भी होगा। विश्व कप 32 टीमों को शामिल करने वाला अंतिम टूर्नामेंट होगा क्योंकि 2026 टूर्नामेंट में टीमों को 48 तक बढ़ाया जायेगा।

यह टूर्नामेंट नवंबर-दिसंबर में होना है। टूर्नामेंट का अंतिम मैच 18 दिसंबर, 2020 को निर्धारित किया गया है, जो कतर नेशनल डे भी है।

भारत

भारत ने कभी फीफा विश्व कप में भाग नहीं लिया। भारतीय राष्ट्रीय टीम 2019 में जारी नवीनतम फीफा रैंकिंग में 108 रैंक पर है। भारतीय फुटबॉल टीम ने एएफसी एशियाई कप और ओलंपिक में भाग लिया है।


18. Data Report :देश में एक से 1 लाख कोरोना पॉजिटिव होने में लगे 111 दिन, अब 3 दिन में बढ़ रहे 1 लाख मरीज

देश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 10 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। देश में अगर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के आंकड़ों पर नजर डाले तो करीब दो महीने में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1 लाख से 10 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। देश में कोरोना के एक से एक लाख तक मरीजों का आंकड़ा पार करने में कोरोना वायरस को 111 दिन लगे थे। देश में कोरोना का पहला 30 जनवरी 2020 को सामने आया था जिसमें केरल की एक युवती कोरोना संक्रमण की चपेट में आई थी।

देश में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा किस कदर तेजी से बढ़ रहा है इसको इस बात से समझा जा सकता है कि एक से एक लाख कोरोना मरीज पहुंचने में 111 दिन लगे थे वहीं अब औसतन 3 दिन में एक लाख नए मरीज सामने आ रहे है। बीते एक सप्ताह के आंकड़ों को देखें तो 10 जुलाई को 8 लाख मरीज, 13 जुलाई को 9 लाख मरीज और 16 जुलाई को कोरोना मरीजों की संख्या 10 लाख पहुंच गई।

स्वास्थ्य विभाग के 24 घंटे जो आंकड़ें जारी करता हैं उसके मुताबिक देश 19 मई को एक लाख के पार (101139 मरीज), 3 जून को 2 लाख के पार (207615 मरीज),13 जून को 3 लाख के पार (308993 मरीज), 21 जून को को चार लाख के पार (410461 मरीज), 27 जून को पांच लाख (508953 मरीज), दो जुलाई को 6 लाख के पार (604641),7 जुलाई को 7 लाख के पार (719665),11 जुलाई को कोरोना मरीजों की संख्या 8 लाख के पार (820916) थी जो 14 जुलाई को 9 लाख के पार (9,06752 मरीज) और 17 जुलाई को 10 लाख के पार (10,03832 मरीज) तक पहुंच गई ।

इस पहले देश में 50 हजार से कोरोना के केस एक लाख होने में 12 दिन का समय लग रहा है। अगर आंकड़ों का बरीकी से विश्लेषण करें तो 6 मई को देश में कोरोना मरीजों की संख्या 49391 थी और 19 मई को कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 101139 तक पहुंच गई है।

देश में इस वक्त 24 घंटे में 35 हजार के करीब मामले रिपोर्ट हो रहे है जो स्थिति के खतरनाक होने का इशारा भी कर रहे है। इस बीच कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या पर अब सियासत भी तेज हो गई है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कोरोना मरीजों की संख्या 10 लाख का आंकड़ा पार कर गई है, इस तेजी से कोविड-19 फैला तो 10 अगस्त तक देश में 20 लाख से ज्या संक्रमित होंगे। सरकार को महामारी को रोकने के लिए ठोस नियोजित कदम उठाने चाहिए।

24 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved