Search

16th & 17th May | Current Affairs | MB Books


1. 16 मई : विश्व कृषि-पर्यटन दिवस (World Agri-Tourism Day)

हर साल 16 मई को विश्व कृषि-पर्यटन दिवस (World Agri-Tourism Day) मनाया जाता है। 2021 में, इस दिवस को निम्नलिखित थीम के तहत मनाया जायेगा :

थीम: Rural Women Sustainable Entrepreneurship Opportunities through Agri Tourism

कृषि पर्यटन क्या है? (What is Agri-Tourism?) : कृषि-पर्यटन में शहरी पर्यटक किसानों के घर में रहते हैं। अपने प्रवास के दौरान वे खेती की गतिविधियों, ट्रैक्टर की सवारी, बैलगाड़ी की सवारी में संलग्न होते हैं। इसके अलावा, वे लोक गीतों और नृत्यों का आनंद लेते हैं। वे ताजा कृषि उपज खरीदते हैं।

बदले में, किसान पर्यटकों को आवास प्रदान करते हैं और उनके प्रवास के दौरान उनका मनोरंजन करते हैं। यह किसानों के लिए एक अतिरिक्त आय के रूप में कार्य करता है। साथ ही, यह स्थानीय युवाओं को टूरिस्ट गाइड के रूप में नियुक्त करता है। इस तरह यह कार्यक्रम रोजगार के अवसर भी प्रदान करता है।

सर्वेक्षण : कृषि पर्यटन विकास निगम (Agriculture Tourism Development Corporation) के सर्वेक्षण में कहा गया है कि लगभग 0.56 मिलियन पर्यटकों ने कृषि-पर्यटन केंद्रों का दौरा किया। यह 2019 में बढ़कर 0.61 मिलियन और 2020 में 0.78 मिलियन हो गया है।

पृष्ठभूमि : महाराष्ट्र देश में कृषि-पर्यटन को विकसित और बढ़ावा देने वाला अग्रणी राज्य है।

सितंबर 2020 में, महाराष्ट्र ने कृषि-पर्यटन नीति (Agro-Tourism policy) पारित की।इसका उद्देश्य पर्यटकों को खेती का आनंद प्रदान करना और किसानों की आय बढ़ाने में मदद करना है।


2. 17 मई: विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस

विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस 17 मई 2021 को सम्पूर्ण विश्व में मनाया गया। इस दिन सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के फायदों के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा की जाती है।

इस दिन को मनाने का उद्देश्य दूरदराज के इलाकों में रहने वाले लोगों को सूचना और संचार प्रौद्योगिकी सुलभ कराना है। इस दिन का मुख्य उद्देश्य इंटरनेट, टेलीफोन और टेलीविजन के द्वारा तकनीकी दूरियों को कम करना और आपसी संचार सम्पर्क को बढ़ाना भी है।

विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस :

• यह दिन अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) की स्थापना और वर्ष 1865 में पहले अंतर्राष्ट्रीय टेलीग्राफ समझौते पर हस्ताक्षर होने की स्मृति में मनाया जाता है।

• आधुनिक युग में फोन, मोबाइल और इंटरनेट लोगों की प्रथम आवश्यकता बन गये हैं। इसके बिना जीवन की कल्पना करना बहुत ही मुश्किल हो चुका है।

• पहले जहाँ किसी से संपर्क साधने के लिए लोगों को काफ़ी मशक्कत करनी पड़ती थी, वहीं आज मोबाइल और इंटरनेट ने इसे बहुत ही आसान बना दिया है। व्यक्ति कुछ ही सेकेंड में बेहद असानी से दोस्तों, परिवार और सगे संबधियों से संपर्क साध सकता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने मानवीय कार्य को काफी सुविधाजनक बना दिया है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का आरंभ 1950 के दशक में हुआ था। मोबाइल फोन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आपके कई कामों को आसान बना सकते हैं। मोबाइल फोन में आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के जरिये आसानी से बिना टाइप किये यानी कि सिर्फ बोलकर टेक्स्ट मैसेजिंग कर सकते हैं।

पृष्ठभूमि : विश्व दूरसंचार दिवस मनाने की परंपरा 17 मई 1865 में शुरू हुई थी, लेकिन आधुनिक समय में इसकी शुरुआत वर्ष 1969 में हुई। तभी से पूरे विश्व में इसे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

यह दूरसंचार की क्रांति है, जिसकी बदौलत भारत जैसे कुछ विकासशील देशों की गिनती भी विश्व के कुछ ऐसे देशों में होती है, जिनकी अर्थव्यवस्था तेज़ी से रफ्तार पकड़ रही है। आज हम दूरसंचार के मामले में काफी आगे निकाल चुके हैं।


3. सिंथेटिक कैनबिनोइड्स पर प्रतिबंध लगाने वाला दुनिया का पहला देश बना चीन

चीन सभी सिंथेटिक कैनबिनोइड (Synthetic cannabinoids) पदार्थों पर प्रतिबंध लगाने वाला दुनिया का पहला देश बन जाएगा। ​यह प्रतिबंध 1 जुलाई से लागू होने की संभावना है।

यह कदम तब उठाया गया, जब चीन दवा के निर्माण और तस्करी पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रहा है।

सिंथेटिक कैनबिनोइड्स अत्यधिक छलावरण वाले होते हैं, क्योंकि कुछ ई-सिगरेट के तेल में पाए जाते हैं, और कुछ विभिन्न फूलों की पंखुड़ियों, या पौधे के तने और पत्तियों से बने कट तंबाकू में पाए जाते हैं। झिंजियांग में, इसका उपनाम आमतौर पर "नताशा (Natasha)" है।


4. 16 मई : अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश दिवस (International Day of Light)

हर साल, 16 मई को यूनेस्को (UNESCO) और कई अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश दिवस (International Day of Light) मनाया जाता है। यह दिन विज्ञान, कला, संस्कृति, शिक्षा और सतत विकास में प्रकाश की भूमिका का जश्न मनाता है। इस वर्ष, 2021 में, अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश दिवस निम्नलिखित थीम के तहत मनाया गया:

थीम: Trust Science

16 मई को ही अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश दिवस क्यों मनाया जाता है? : क्योंकि LASER का पहला सफल ऑपरेशन 16 मई 1960 को भौतिक विज्ञानी थियोडोर मेमन (Theodore Maiman) द्वारा किया गया था।

अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश दिवस के लक्ष्य :

  • दैनिक जीवन में प्रकाश-आधारित प्रौद्योगिकियों के महत्व में सार्वजनिक समझ में सुधार करना

  • युवा लोगों के लिए विज्ञान को लक्षित करने वाली गतिविधियों का निर्माण करना

  • प्रकाश, कला और संस्कृति के बीच की कड़ी को उजागर करने के लिए

  • प्रकाश प्रौद्योगिकियों के महत्व को बढ़ावा देने के लिए

प्रकाश प्रौद्योगिकियां (Light Technologies) :

  • रेडियो तरंगें और गामा किरणें ब्रह्मांड की उत्पत्ति में अंतर्दृष्टि (insights) प्रदान करती हैं।इसके अलावा, नैनो फोटोनिक्स और क्वांटम ऑप्टिक्स जैसे शोध नई मौलिक खोजों को प्रेरित करते हैं।

  • फोटोनिक्स समर्थित उद्योग अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने में मदद करते हैं।

  • स्मार्टफोन की शक्ति को बेहतर दृष्टि प्रदान करने में फोटोनिक्स एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

अर्थव्यवस्था पर प्रभाव : फोटोनिक प्रौद्योगिकियों का विश्व अर्थव्यवस्था पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। इसमें 600 अरब यूरो का बाजार शामिल है। फोटोनिक्स में वृद्धि 2005 और 2011 के बीच दोगुनी हो गई थी।

प्रकाश प्रदूषण (Light Pollution) : एक ओर, प्रकाश प्रौद्योगिकियां तेजी से बढ़ रही हैं। दूसरी ओर, वे विशेष रूप से पक्षियों के लिए बहुत परेशानी खड़ी करती हैं। इस प्रकार, सतत विकास करने के लिए प्रकाश प्रौद्योगिकियों का उपयोग बहुत सावधानी से किया जाना चाहिए। मुख्य रूप से शहरीकरण के कारण प्रकाश प्रदूषण में वृद्धि हुई है।

सामान्य प्रकाश प्रदूषण में प्रकाश अतिचार, अधिक रोशनी, चकाचौंध, प्रकाश अव्यवस्था शामिल है।


5. सर डेविड एटेनबरो को COP26 पीपुल्स एडवोकेट नामित किया

विश्व प्रसिद्ध प्रसारक और प्राकृतिक इतिहासकार सर डेविड एटनबरो (Sir David Attenborough) को इस नवंबर में ग्लासगो में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन के यूके प्रेसीडेंसी के लिए COP26 पीपुल्स एडवोकेट नामित किया गया है।

एटनबरो ने पहले ही यूके और दुनिया भर में लाखों लोगों को जलवायु परिवर्तन पर कार्य करने और आने वाली पीढ़ियों के लिए ग्रह की रक्षा करने के लिए अपने जुनून और ज्ञान के साथ प्रेरित किया है।


6. एंड्रिया मेजा (Andrea Meza) ने जीता मिस यूनिवर्स (Miss Universe) 2020 का खिताब

मेक्सिको की एंड्रिया मेजा (Andrea Meza) ने मिस यूनिवर्स, 2020 (Miss Universe 2020) का खिताब जीता है। मिस यूनिवर्स के 69वें संस्करण का आयोजन 16 मई, 2021 को फ्लोरिडा, अमेरिका में किया गया। इसे पहली बार 2020 में COVID-19 महामारी के कारण रद्द किया गया था।

मिस यूनिवर्स, 2020 : एंड्रिया मेजा ने दुनिया भर की 74 प्रतियोगियों को हराया। ब्राजील की जूलिया गामा (Julia Gama) उपविजेता रही और पेरू की जानिक मैकेटा (Janick Maceta) तीसरे स्थान पर रहीं।

मिस इंडिया : मिस इंडिया एडलाइन कैस्टेलिनो (Adline Castelino) ने शीर्ष चार में जगह बनाई।

तमाशा में राजनीतिक वक्तव्य : मिस म्यांमार, थुज़र विंट ल्विन (Thuzar Wint Lwin) ने तब ध्यान आकर्षित किया जब उन्होंने म्यांमार में तख्तापलट की ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए अपने समय का उपयोग किया। उन्होंने उस विशेष प्रतियोगिता खंड के दौरान सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय पोशाक का पुरस्कार भी जीता। उन्होंने पारंपरिक बर्मीज पैटर्न पहना था और “Pray for Myanmar” का एक चिन्ह भी पकड़ा हुआ था। सैन्य तख्तापलट के कारण म्यांमार में 796 से अधिक लोग मारे गए और चार हजार लोग जेल में बंद हैं। 1 फरवरी, 2021 को म्यांमार की सेना द्वारा आंग सान सू की को सत्ता से बेदखल करने के बाद से देश में भारी विवाद उत्पन्न हो गया था।

मिस म्यांमार के अलावा मिस सिंगापुर बर्नडेट बेले ओंग (Bernadette Belle Ong) ने भी राजनीतिक बयान दिए। उनकी लंबी पोशाक में “Stop Asian Hate” लिखा हुआ था।


7. WHO ने भारतीय कोरोनावायरस संस्करण को "ग्लोबल वैरिएंट ऑफ़ कंसर्न" के रूप में वर्गीकृत किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत में पाए जाने वाले एक कोरोनावायरस वैरिएंट को वैश्विक "वैरिएंट ऑफ़ कंसर्न (variant of concern)" के रूप में वर्गीकृत किया है।

इस वैरिएंट को B.1.617 नाम दिया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, यह वैरिएंट पहले से ही 30 से अधिक देशों में फैल चुका है।

यह अन्य वैरिएंट की तुलना में अधिक ट्रांसमिसिबल है। ​इस वैरिएंट को "डबल म्यूटेंट वैरिएंट (double mutant variant)" भी कहा जाता है। यह पहली बार यूनाइटेड किंगडम के स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा पहचाना गया था।

B.1.617 वैरिएंट WHO द्वारा वर्गीकृत कोरोनावायरस का चौथा वैरिएंट है। इसके दो उत्परिवर्तन हैं, जिन्हें E484Q और L452R कहा जाता है।

वायरस स्वयं को परिवर्तित करके एक या अधिक वैरिएंट बनाते हैं। वायरस खुद को बदलते हैं ताकि वे इंसानों के साथ रह सकें।

दुनिया भर के वैज्ञानिक अभी भी B.1.617 वैरिएंट के खिलाफ टीके की प्रभावशीलता का अध्ययन कर रहे हैं।


8. 16 मई : सिक्किम राज्य स्थापना दिवस

सिक्किम 16 मई, 1975 को भारत संघ में शामिल हुआ था। तब से, हर साल 16 मई को सिक्किम राज्य का स्थापना दिवस (Sikkim Statehood Day) मनाया जाता है।

इतिहास : 1950 में, भारत-सिक्किमीज़ संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे। इसके साथ, सिक्किम भारत का संरक्षित राज्य (protectorate) बन गया। सिक्किम पर 1975 तक नामग्याल वंश (Namgyal Dynasty) का शासन था।

सिक्किम (Sikkim) : सिक्किम 100% जैविक बनने वाला देश का पहला राज्य है। आज सिक्किम में सभी कृषि गतिविधियाँ कीटनाशकों और सिंथेटिक उर्वरकों के उपयोग के बिना की जाती हैं।

कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान (Kanchenjunga National Park) एक विश्व धरोहर स्थल है जो सिक्किम में स्थित है।

तीस्ता नदी (River Teesta) इस राज्य में बहने वाली प्रमुख नदी है। तीस्ता की सहायक नदियाँ ल्होनक (Lhonak), लाचुंग (Lachung) और तालुंग (Talung) हैं। तीस्ता नदी ब्रह्मपुत्र की सहायक नदी है।

राज्य का दर्जा : 1975 में सिक्किम के प्रधानमंत्री ने भारत से सिक्किम को भारत संघ में शामिल करने की अपील की। इसके बाद, भारतीय सेना ने गंगटोक शहर को अपने नियंत्रण में लिया और चोग्याल महल के रक्षकों को निशस्त्र कर दिया गया। एक जनमत संग्रह हुआ जिसमें 97.5% ने राजशाही को खत्म करके भारत में शामिल होने का समर्थन किया।

भारतीय संसद ने अपने 35वें संशोधन में शर्तें रखीं, जिसने सिक्किम को एक “सहयोगी राज्य” (Associate State) बना दिया। सिक्किम इस स्थिति को पाने वाला एकमात्र राज्य है। 36वें संशोधन ने 35वें संशोधन को निरस्त कर दिया और सिक्किम एक पूर्ण राज्य बन गया ।

सिक्किम की जातीयता (Ethnicity of Sikkim) : सिक्किम के निवासी नेपाली मूल के हैं। सिक्किम के मूल निवासी भूटिया (Bhutia) हैं। वे 14वीं शताब्दी में तिब्बत से स्थानांतरित हुए थे। भूटिया से पहले लेप्चा रहते थे। तिब्बती ज्यादातर राज्य के उत्तरी और पूर्वी हिस्सों में रहते थे।


9. उत्तराखंड पुलिस ने शुरू किया 'मिशन हौसला'

उत्तराखंड पुलिस ने लोगों को कोविड -19 रोगियों के लिए ऑक्सीजन, बेड, वेंटिलेटर और प्लाज्मा प्राप्त करने में मदद करने के लिए "मिशन हौसला (Mission Hausla)" नामक एक अभियान शुरू किया है।

इनके अलावा, पुलिस मिशन और राशन के हिस्से के रूप में जनता को कोविड -19 प्रबंधन के लिए दवाएं प्राप्त करने में भी मदद करेगी।

कोरोनोवायरस से जूझ रहे परिवारों तक दवाएं, ऑक्सीजन और राशन पहुंचाने और प्लाज्मा दाताओं और इसके जरूरतमंद लोगों के बीच समन्वय करना भी मिशन के हिस्से के रूप में पुलिस द्वारा की जाने वाली कुछ गतिविधियाँ होंगी।

उन्होंने कहा कि पुलिस स्टेशन बाजार क्षेत्रों में भीड़ के प्रबंधन और सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनने और सामाजिक दूरी जैसे लोगों द्वारा उचित व्यवहार सुनिश्चित करने के लिए नोडल केंद्र के रूप में काम करेंगे। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


10. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मलेरकोटला को 23वां जिला घोषित किया

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने ईद-उल-फितर के मौके पर 14 मई 2021 को मलेरकोटला (Malerkotla) को राज्य का 23वां जिला घोषित किया है।

मलेरकोटला एक मुस्लिम बहुल इलाका है और इसे राज्य के संगरूर जिले से अलग कर बनाया गया है।

2017 में सरकार ने वादा किया था कि जल्द ही मलेरकोटला को जिला घोषित किया जाएगा।


11. DRDO ने एंटी-कोविड दवा 2DG (2-Deoxy – D – Glucose) का पहला बैच जारी किया

17 मई, 2021 को DRDO ने एंटी-कोविड दवा 2DG (2-Deoxy – D – Glucose) का पहला बैच जारी किया गया। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India) ने हाल ही में COVID-19 के इलाज के लिए एक मौखिक दवा (oral drug) को मंजूरी दी है जिसे 2-DG कहा जाता है। 2-डीजी को रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (Defence Research Development Organisation) द्वारा आपातकालीन उपयोग के लिए विकसित किया गया है। 2-DG का अर्थ 2-Deoxy – D – Glucose है। इसे डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज (Dr. Reddy’s Laboratories) के सहयोग से विकसित किया गया है। इस दवा का पहला बैच अगले हफ्ते लांच किया जा सकता है।

2-DG दवा :

  • यह दवा अस्पताल में भर्ती मरीजों की तेजी से रिकवरी सुनिश्चित करती है और नैदानिक ​​परीक्षणों के दौरान पूरक ऑक्सीजन निर्भरता (supplemental oxygen dependence) को कम करेगी।

  • यह संक्रमित कोशिकाओं में जमा हो जाती है और वायरल संश्लेषण को रोकती है।

  • दवा पाउच रूप में पाउच में आती है। पानी में घोलकर इसका सेवन मौखिक रूप से किया जाता है।

  • इसे इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज (INMAS) द्वारा विकसित किया गया था। INMAS DRDO के तहत संचालित होने वाली एक प्रयोगशाला है।

  • कोविड-19 के गंभीर रोगियों के लिए DGCI ने इस दवा के आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी है।

  • 2-डीजी एक जेनेरिक मॉलिक्यूल है और इस प्रकार आसानी से देश में प्रचुर मात्रा में निर्मित व उपलब्ध कराया जा सकता है।

ट्यूमर के लिए 2-DG :

कैंसर की कोशिकाओं में ग्लूकोज अधिक होता है। इस प्रकार, जब 2-डीजी को कैंसर रोगियों में इंजेक्ट किया जाता है, तो यह कैंसर कोशिकाओं के लिए एक अच्छे मार्कर के रूप में कार्य करती है।


12. एयरलाइन कंपनी गोएयर ने खुद को 'गो फर्स्ट' के रूप में रीब्रांड किया

वाडिया समूह के स्वामित्व वाली, गोएयर (GoAir) ने नए आदर्श वाक्य "यू कम फर्स्ट (You Come First)" के साथ खुद को 'गो फर्स्ट (Go First)' के रूप में पुनः ब्रांडेड किया है।

COVID-19 महामारी के प्रभाव से निपटने के लिए, 15 वर्षों के बाद रीब्रांड करने का निर्णय कंपनी के ULCC (अल्ट्रा-लो-कॉस्ट कैरियर) एयरलाइन मॉडल में वाहक को संचालित करने के प्रयास का हिस्सा है।

गो फर्स्ट ULCC योजनाओं के तहत एयरबस A320 और A320 नियोस (नया इंजन विकल्प) विमानों सहित अपने बेड़े में संकीर्ण शरीर वाले विमानों का संचालन करेगा।

यह न केवल यात्रियों के लिए सुरक्षा, आराम और समय की बचत सुनिश्चित करेगा बल्कि उन्हें अल्ट्रा-लो-कॉस्ट किराए पर अगली पीढ़ी के बेड़े के लाभों का अनुभव करने में भी मदद करेगा, ताकि उनकी यात्रा योजनाओं में कभी बाधा न आए।


13. फॉर्च्यून की दुनिया के 50 महानतम नेता 2021 सूची में शीर्ष पर न्यूजीलैंड की पीएम जैसिंडा अर्डर्न

फॉर्च्यून पत्रिका द्वारा जारी, 2021 के लिए 'विश्व के 50 महानतम नेताओं' की सूची में न्यूजीलैंड की प्रधान मंत्री जैसिंडा अर्डर्न (Jacinda Ardern) ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया है।

2021 के लिए 'विश्व के 50 महानतम नेताओं' की सूची वार्षिक सूची का आठवां संस्करण है, जो नेताओं, कुछ जाने-माने और अन्य लोगों, जो इतने परिचित नहीं हैं, को सम्मानित करता है, जिन्होंने कोविड - 19 महामारी के "वास्तव में अभूतपूर्व समय" के बीच कुछ अलग करने के प्रयास किए हैं।

भारत से, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) अदार पूनावाला शीर्ष 10 नामों में एकमात्र भारतीय हैं। उन्हें 10वें स्थान पर रखा गया है।


14. राफेल नडाल ने जीता इटालियन ओपन, 2021

राफेल नडाल ने इटालियन ओपन, 2021 जीता। रोम मास्टर्स का यह उनका 10वां खिताब है। इटालियन ओपन, 2021 का आयोजन 16 मई, 2021 को रोम में हुआ था। फाइनल मुकाबला राफेल नडाल और नोवाक जोकोविच के बीच हुआ था। इसे रोम मास्टर्स के नाम से भी जाना जाता है।

राफेल नडाल (Rafael Nadal) : राफेल नडाल स्पेन के टेनिस खिलाड़ी हैं।उन्हें एसोसिएशन ऑफ टेनिस प्रोफेशनल्स द्वारा दुनिया में तीसरा स्थान दिया गया है।

उन्होंने अब तक 20 ग्रैंड स्लैम, 13 फ्रेंच ओपन खिताब जीते हैं।क्ले कोर्ट में उनकी जीत का रिकॉर्ड सबसे ज्यादा रहा है।

नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) : नोवाक जोकोविच एक सर्बियाई टेनिस खिलाड़ी हैं।वह वर्तमान में एसोसिएशन ऑफ टेनिस प्रोफेशनल्स द्वारा नंबर एक स्थान पर है। उन्होंने 18 ग्रैंड स्लैम जीते हैं।

वह एटीपी दौरे पर सभी “बिग टाइटल” जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं।

इटालियन ओपन : इसे मूल रूप से इतालवी अंतर्राष्ट्रीय चैम्पियनशिप (Italian International Championship) कहा जाता है।यह रोम, इटली में आयोजित एक टेनिस टूर्नामेंट है।

यह एक क्ले टेनिस टूर्नामेंट है।टेनिस कोर्ट की चार अलग-अलग प्रकार की सतहें होती हैं। वे क्ले कोर्ट, कारपेट कोर्ट, हार्ड कोर्ट और ग्रास कोर्ट हैं।

यह एक एटीपी टूर्स मास्टर्स 100 इवेंट है।

एटीपी टूर्स मास्टर्स 1000 : यह शीर्ष रैंक वाले खिलाड़ियों की विशेषता वाले नौ टेनिस टूर्नामेंटों की एक श्रृंखला है। मतलब हर टेनिस खिलाड़ी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले सकता।

वर्तमान में एटीपी टूर्स मास्टर्स 1000 के नौ टूर्नामेंट निम्नलिखित हैं:

  • पेरिस मास्टर्स

  • शंघाई मास्टर्स

  • सिनसिनाटी मास्टर्स

  • मैड्रिड ओपन

  • मोंटे कार्लो मास्टर्स

  • मियामी ओपन

  • इंडियन वेल्स मास्टर्स

  • इटालियन ओपन

  • कैनेडियन ओपन

ये ग्रैंड स्लैम से अलग हैं।

ग्रैंड स्लैम : ग्रैंड स्लैम के कार्यक्रम में फ्रेंच ओपन, ऑस्ट्रेलियन ओपन, विंबलडन और यूएस ओपन शामिल हैं।


15. टाइम्स ग्रुप की चेयरपर्सन इंदु जैन का निधन

अग्रणी परोपकारी और टाइम्स ग्रुप की चेयरपर्सन, इंदु जैन (Indu Jain) का कोविड से संबंधित जटिलताओं के कारण निधन हो गया है।

प्रमुख भारतीय मीडिया हस्ती, इंदु जैन भारत के सबसे बड़े मीडिया समूह, बेनेट, कोलमैन एंड कंपनी लिमिटेड, जिसे टाइम्स समूह के रूप में जाना जाता है, की अध्यक्ष थीं, जिसमें टाइम्स ऑफ इंडिया और अन्य बड़े समाचार पत्र शामिल है।

एक अध्यात्मवादी होने के नाते, जैन को प्राचीन शास्त्रों का गहरा ज्ञान था और वे श्री श्री रविशंकर (Sri Sri Ravi Shankar) और सद्गुरु जग्गी वासुदेव (Sadhguru Jaggi Vasudev) की अनुयायी थी। इसके अलावा, जैन महिलाओं के अधिकारों के प्रति भी भावुक थी और फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन (FLO) की संस्थापक अध्यक्ष थीं।


16. CBI के पूर्व अधिकारी के रागोथमन का निधन

CBI के पूर्व अधिकारी के रागोथमन (K Ragothaman) का निधन हो गया है। वह राजीव गांधी हत्याकांड के विशेष जांच दल (SIT) के मुख्य जांच अधिकारी थे। उन्हें 1988 में पुलिस पदक और 1994 में राष्ट्रपति पदक से सम्मानित किया गया था।

रागोथमन ने कांस्पीरेसी टू किल राजीव गांधी, थर्ड डिग्री क्राइम इन्वेस्टिगेशन मैनेजमेंट: क्राइम एंड द क्रिमिनल सहित कई किताबें लिखी हैं। वह 1968 में पुलिस उप-निरीक्षक के रूप में सीबीआई में शामिल हुए थे।









  • Source of Internet

5 views0 comments