Search

15th June | Current Affairs | MB Books


1. 15 जून : विश्व बुजुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस

विश्व बुजुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस (World Elder Abuse Awareness Day) हर साल 15 जून को मनाया जाता है। यह दिन दुनिया भर में बुजुर्ग आबादी के साथ दुर्व्यवहार (मौखिक, शारीरिक या भावनात्मक) के बारे में जागरूकता बढ़ाता है।

इस वर्ष विश्व बुजुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस की थीम ‘न्याय तक पहुंच’ (Access to Justice) है।

पृष्ठभूमि : 15 जून को बुजुर्गों के लिए एक विशेष दिन के रूप में घोषित करने के अनुरोध के बाद जून 2006 में इस दिन को मनाया जाने लगा। हालाँकि, संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने आधिकारिक तौर पर 2011 में इस दिन को मान्यता दी थी।

महत्व : 2021 में, कोविड-19 महामारी के मद्देनजर यह दिन अधिक प्रासंगिक है, जिसने दुनिया भर में लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित किया है। महामारी वृद्ध लोगों के लिए भय और पीड़ा का कारण बन रही है। उनके स्वास्थ्य को प्रभावित करने के अलावा, महामारी वृद्ध लोगों को गरीबी, भेदभाव और अलगाव के प्रति संवेदनशील बना रही है। इसके अलावा, वृद्ध आबादी को मृत्यु दर का खतरा है। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि 70 वर्ष और उससे अधिक आयु के 66 प्रतिशत लोगों में कम से कम एक अंतर्निहित स्थिति (underlying condition) है जो उन्हें कोविड -19 प्रेरित जटिलताओं के बढ़ते जोखिम में डाल रही है। वृद्ध व्यक्तियों को भी चिकित्सा देखभाल और जीवन रक्षक उपचारों के संबंध में उम्र के भेदभाव का सामना करना पड़ता है।


2. रेबेका ग्रिन्स्पन बनी UNCTAD की महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) के महासचिव के रूप में कोस्टा रिकान की अर्थशास्त्री रेबेका ग्रिन्स्पन (Rebecca Grynspan) की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है।

वह चार साल के लिए पद ग्रहण करेंगी। वह UNCTAD की अध्यक्षता करने वाली पहली महिला और मध्य अमेरिकी हैं। उन्हें संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस द्वारा महासचिव के रूप में नामित किया गया था।

ग्रिन्स्पन, इसाबेल ड्यूरेंट (Isabelle Durant) की जगह लेंगी, जो 15 फरवरी 2021 से कार्यवाहक महासचिव के रूप में कार्यरत हैं। इससे पहले, ग्रिन्स्पन ने लैटिन अमेरिका और कैरिबियन के लिए UNDP के क्षेत्रीय निदेशक और 1994 से 1998 तक कोस्टा रिका के दूसरे उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया।


3. नाटो शिखर सम्मेलन 2021 का आयोजन बेल्जियम में किया गया

नाटो (उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन) के शासनाध्यक्षों की 31वीं औपचारिक बैठक 14 जून, 2021 को ब्रुसेल्स, बेल्जियम में आयोजित की गई।

बैठक का एजेंडा : नाटो नेताओं ने प्रमुख मुद्दों पर चर्चा की, नाटो के भविष्य के बारे में निर्णय लिए और नाटो 2030 एजेंडा के अनुसार नाटो को अनुकूलित करने के लिए ठोस उपायों पर सहमति व्यक्त की। चर्चा के विषयों में भू-रणनीतिक वातावरण, उभरती प्रौद्योगिकियों, सामूहिक रक्षा, जलवायु परिवर्तन और सुरक्षा को बदलने में नाटो की भूमिका शामिल है।

उत्तर अटलांटिक संधि संगठन : नाटो, जिसे उत्तरी अटलांटिक गठबंधन भी कहा जाता है, 30 यूरोपीय और उत्तरी अमेरिकी देशों का एक अंतर-सरकारी सैन्य गठबंधन है। नाटो उत्तरी अटलांटिक संधि को लागू करता है जिस पर 1949 में हस्ताक्षर किए गए थे। इसमें सामूहिक रक्षा की एक प्रणाली शामिल है जहां स्वतंत्र सदस्य देश बाहरी पक्ष द्वारा किसी भी हमले के मामले में आपसी रक्षा के लिए सहमत होते हैं। नाटो का मुख्यालय बेल्जियम के ब्रुसेल्स में स्थित है।

नाटो के सदस्य : मूल रूप से नाटो में 12 सदस्य थे जो अब बढ़कर 30 हो गए हैं। सबसे हालिया सदस्य राज्य उत्तर मैसेडोनिया है जिसे 27 मार्च, 2020 को संगठन में जोड़ा गया था। इच्छुक सदस्यों में शामिल हैं- बोस्निया और हर्जेगोविना, जॉर्जिया और यूक्रेन।


4. चौथे सबसे बड़े विदेशी मुद्रा भंडार धारक के रूप में भारत ने की रूस के साथ साझेदारी

भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार, भारत का विदेशी मुद्रा भंडार पहली बार 600 बिलियन डॉलर का आंकड़ा पार कर गया है।

04 जून, 2021 को समाप्त सप्ताह में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 6.842 बिलियन अमरीकी डॉलर बढ़कर 605.008 बिलियन डॉलर हो गया।

यह भारत की विदेशी संपत्ति का अब तक का उच्चतम स्तर है। इसके साथ ही भारत रूस के साथ दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रिजर्व होल्डर बन गया है। रूस का विदेशी मुद्रा भंडार 605.2 बिलियन डॉलर आंका गया है।


5. मलेरिया के लड़ने के लिए India Interagency Expert Committee on Malaria and Climate (IEC) का गठन किया गया

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने “Malaria No More” के साथ साझेदारी की है जो एक गैर-सरकारी संगठन है।

मुख्य बिंदु :

  • IMD और ICMR ने “Malaria No More” के सहयोग से भारत में मलेरिया को खत्म करने के लिए जलवायु-आधारित समाधानों का पता लगाने और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए एक विशेषज्ञ समिति को लांच किया है।

  • इस समिति को “India Interagency Expert Committee on Malaria and Climate (IEC)” कहा जा रहा है।

IEC : IEC “Forecasting Healthy Futures” नामक एक वैश्विक पहल का हिस्सा है जो स्वास्थ्य परिणामों में सुधार के लिए डेटा-सूचित रणनीतियों और नीतियों को विकसित करने का प्रयास करता है। यह मलेरिया से निपटने के लिए मॉडलों को बेहतर बनाने पर ध्यान केंद्रित करेगा। IEC में स्वास्थ्य, जलवायु और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों के प्रमुख विशेषज्ञ और शोधकर्ता शामिल होंगे। वे परिष्कृत जलवायु-आधारित मलेरिया भविष्यवाणी उपकरणों को परिभाषित और संचालित करने में मदद करेंगे। 2030 तक मलेरिया को खत्म करने के भारत के लक्ष्य की दिशा में प्रगति को बढ़ावा देने के लिए इन उपकरणों को भारतीय संदर्भ के अनुरूप बनाया जाएगा।

समिति का कार्य : यह समिति सूक्ष्म प्रवृत्तियों (micro-trends) की जांच करने और मलेरिया पैटर्न की भविष्यवाणी करने के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र की जानकारी के साथ मौसम संबंधी जानकारी के संयोजन में मदद करेगी। इससे भारत के प्रयासों को मजबूती मिल सकती है।

ICMR की भूमिका : ICMR वेक्टर जनित रोगों से निपटने के लिए मजबूत और स्केलेबल उपयोग के मामलों को विकसित करने के लिए वैज्ञानिक जानकारी प्रदान करेगा।

“Malaria No More” की भूमिका : “Malaria No More” राष्ट्रीय मलेरिया रोकथाम अभियानों, परीक्षण और उपचार की योजना बनाने के लिए अपने मौसम-आधारित भविष्यवाणी मॉडल के माध्यम से डेटा-संचालित समाधान तैयार करने में मदद करेगा।


6. यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी 2030 में शुक्र के लिए 'EnVision' मिशन लॉन्च करेगी

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ESA), अब शुक्र (Venus) का अध्ययन करने के लिए अपनी जांच विकसित कर रही है, ताकि ग्रह के आंतरिक कोर से ऊपरी वायुमंडल तक के समग्र दृश्य को देखा जा सके।

"EnVision" के रूप में डब किया गया मिशन संभवतः 2030 की शुरुआत में ग्रह पर लॉन्च किया जाएगा।

ESA की EnVision जांच यह निर्धारित करेगी कि सूर्य के रहने योग्य क्षेत्र में रहते हुए भी शुक्र और पृथ्वी इतने अलग तरीके से कैसे और क्यों विकसित हुए।

ESA नासा के योगदान से इस मिशन को अंजाम देगा।

EnVision अंतरिक्ष यान ग्रह के वायुमंडल और सतह का अध्ययन करने, वातावरण में ट्रेस गैसों की निगरानी करने और इसकी सतह संरचना का विश्लेषण करने के लिए कई प्रकार के उपकरणों को ले जाएगा। नासा छवि और सतह का नक्शा बनाने के लिए एक रडार प्रदान करेगा।


7. UN Trade Forum 2021 का आयोजन किया गया

UN Trade Forum 2021 में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है, भारत का प्रति व्यक्ति कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे कम है।

मुख्य बिंदु :

  • भारत का 2030 तक 450 गीगावाट का अक्षय ऊर्जा लक्ष्य है। यहसतत विकास और सतत विकास लक्ष्यों पर संयुक्त राष्ट्र 2030 एजेंडा के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को दर्शाता है ।

  • उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि, जलवायु न्याय की रक्षा की जानी चाहिए और विकसित देशों को एक सतत जीवन शैली लाने के लिए अपने उपभोग के पैटर्न पर पुनर्विचार करना चाहिए।

  • मंत्री के अनुसार, भारत ने स्वच्छ ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता, वनीकरण और जैव-विविधता पर कई कदम उठाए हैं।

  • भारत ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (International Solar Alliance) और आपदा प्रतिरोधी बुनियादी ढांचे के लिए गठबंधन (Disaster Resilient Infrastructure) जैसी वैश्विक पहलों को भी प्रोत्साहित किया है।

संयुक्त राष्ट्र व्यापार मंच : एक समृद्ध, समावेशी और सतत दुनिया प्राप्त करने के लिए व्यापार का उपयोग कैसे किया जा सकता है, इस पर बातचीत के लिए संयुक्त राष्ट्र व्यापार मंच की स्थापना की गई थी।

सतत विकास लक्ष्य : सतत विकास लक्ष्य 17 परस्पर जुड़े वैश्विक लक्ष्यों का संग्रह है, जिन्हें सभी के लिए बेहतर और अधिक सतत भविष्य प्राप्त करने के लिए तैयार किया गया है। सतत विकास लक्ष्य की स्थापना 2015 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा की गई थी । इन लक्ष्यों को 2030 तक हासिल करने का प्रयास किया जायेगा। सतत विकास लक्ष्य को “2030 एजेंडा” नामक संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव में शामिल किया गया है।


8. न्यूजीलैंड दुनिया का पहला लकड़ी से बना उपग्रह लॉन्च करेगा

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ESA) 2021 के अंत तक दुनिया का पहला लकड़ी का उपग्रह WISA Woodsat पृथ्वी की कक्षा में लॉन्च करेगी।

विसा वुडसैट (WISA Woodsat) : अंतरिक्ष यान संरचनाओं में प्लाईवुड जैसी लकड़ी की सामग्री के उपयोग का परीक्षण करने के लिए इसे लॉन्च किया जाएगा। यह मिशन लकड़ी की सामग्री को चरम अंतरिक्ष स्थितियों जैसे गर्मी, ठंड, वैक्यूम और विकिरण के संपर्क में लाएगा। रॉकेट लैब इलेक्ट्रॉन रॉकेट के साथ 2021 के अंत तक लकड़ी के उपग्रह को अंतरिक्ष में लांच किया जाएगा। इसे न्यूजीलैंड के माहिया पेनिनसुला लॉन्च कॉम्प्लेक्स से लॉन्च किया जाएगा। इस सैटेलाइट को फिनलैंड में डिजाइन और निर्मित किया गया है।

उपग्रह की विशेषताएं : यह उपग्रह ध्रुवीय सूर्य-समकालिक कक्षा (polar sun-synchronous orbit) में लगभग 500-600 किमी की ऊंचाई पर परिक्रमा करेगा। यह एक 10x10x10 सेमी नैनो उपग्रह है जिसे प्लाईवुड के मानकीकृत बक्से और सतह पैनलों का उपयोग करके बनाया गया था, जो आमतौर पर हार्डवेयर स्टोर में पाए जाते हैं और फर्नीचर बनाने के लिए उपयोग किए जाते हैं। लकड़ी से आने वाली वाष्प को कम करने और परमाणु ऑक्सीजन के क्षरणकारी प्रभावों से बचाने के लिए इसमें एल्यूमीनियम ऑक्साइड की पतली परत लगाई गई है।


9. बांदीपोरा में वेयान गांव, सभी वयस्कों को टीका लगाने वाला भारत का पहला गांव

बांदीपोरा (जम्मू-कश्मीर) जिले का एक गांव वेयान देश का पहला गांव बन गया है, जहां 18 साल से ऊपर की पूरी आबादी को टीका लगाया गया है।

वेयान गांव में टीकाकरण को जम्मू-कश्मीर मॉडल के तहत कवर किया गया था, जो तेज गति से शॉट्स के लिए पात्र हर किसी को टीका लगाने के लिए एक 10-सूत्रीय रणनीति है।

केंद्र शासित प्रदेश ने प्रारंभिक वैक्सीन हिचकिचाहट के बावजूद 45+ आयु वर्ग के लोगों के लिए 70 प्रतिशत टीकाकरण हासिल किया, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग दोगुना है।

गांव बांदीपोरा जिला मुख्यालय से केवल 28 किलोमीटर दूर स्थित है, लेकिन 18 किलोमीटर की दूरी पैदल तय करनी पड़ती है क्योंकि कोई मोटर योग्य सड़क नहीं है।


10. पीएफआरडीए ने बिना पेंशन योजना लिए 5 लाख रुपए का पेंशन कोष निकालने की अनुमति दी

पेंशन कोष नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) ने पेंशन कोष की राशि 5 लाख रुपए से कम होने की स्थिति में अंशधारकों को बिना कोई पेंशन प्लान खरीदे समूची राशि निकालने की अनुमति दे दी है।

वर्तमान में राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) के ग्राहकों को सेवानिवृति के समय अथवा 60 साल की आयु पूरी होने पर 2 लाख रुपए का पेंशन कोष होने की स्थिति में बीमा कंपनियों द्वारा पेश की जाने वाली पेंशन योजना को खरीदना होता है। वे शेष 60 प्रतिशत राशि की निकासी कर सकते हैं।

पेंशन नियामक ने एक गैजेट अधिसूचना में कहा है एनपीएस के तहत समय पूर्व निकासी सीमा को एक लाख रुपए से बढ़ाकर ढाई लाख रुपए कर दिया गया है।

नियामक ने एनपीएस में प्रवेश करने की अधिकतम आयु को भी 65 साल से बढ़ाकर 70 साल कर दिया है जबकि बाहर निकलने की आयु सीमा को 75 साल कर दिया गया है।


11. बायोटेक्नोलॉजी कंपनी MyLab ने अक्षय कुमार को ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया

बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार (Akshay Kumar) को बायोटेक्नोलॉजी कंपनी Mylab डिस्कवरी सॉल्यूशंस का नया ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया है।

यह घोषणा पुणे स्थित फर्म द्वारा देश की पहली COVID-19 स्व-परीक्षण किट "CoviSelf" लॉन्च करने के कुछ दिनों बाद की गई है।

अक्षय के साथ साझेदारी का उद्देश्य Mylab के उत्पादों और CoviSelf जैसी किट के बारे में जागरूकता पैदा करना है।


12. महावीर चक्र प्राप्तकर्ता ब्रिगेडियर रघुबीर सिंह का निधन

महावीर चक्र प्राप्तकर्ता दिग्गज वयोवृद्ध, ब्रिगेडियर रघुबीर सिंह (Brigadier Raghubir Singh) का निधन हो गया है। उन्हें 18 अप्रैल 1943 को सवाईमन गार्ड्स में सेकेंड लेफ्टिनेंट के रूप में कमीशन किया गया था और उन्होंने दूसरे विश्व युद्ध सहित कई युद्ध लड़े थे।

इस वीरतापूर्ण कार्य के लिए भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. एस राधाकृष्णन ने लेफ्टिनेंट कर्नल (बाद में ब्रिगेडियर) रघुबीर सिंह को देश के दूसरे सबसे बड़े वीरता पुरस्कार महावीर चक्र से सम्मानित किया।






  • Source: Internet

9 views0 comments

Recent Posts

See All