Search

14th January | Current Affairs | MB Books


1. सूरीनाम के राष्ट्रपति संतोखी होंगे भारत के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि

सूरीनाम गणराज्य के राष्ट्रपति चंद्रिकाप्रसाद संतोखी 26 जनवरी को होने वाली भारत की गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि होंगे।

इससे भारत ने ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया था, लेकिन ब्रिटिश पीएम को ब्रिटेन दोबारा शुरू हुए गंभीर कोरोनोवायरस संकट के मद्देनजर अपनी यात्रा को रद्द करना पड़ा।

संतोखी इस सप्ताह के शुरूआत में, विदेश मंत्रालय द्वारा आयोजित प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में मुख्य अतिथि भी थे और जहां उन्होंने भाषण भी दिया था।

उन्होंने जुलाई 2020 में सूरीनाम के राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली, जब उनकी पार्टी, प्रोग्रेसिव रिफॉर्म पार्टी ने चुनाव में 51 में से 20 सीटें जीतीं।


2. कैबिनेट ने भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन को मंज़ूरी दी

हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग पर भारत और यूएई के बीच समझौते को मंजूरी दी है। इस समझौते पर भारत के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय और संयुक्त अरब अमीरात के नेशनल सेंटर ऑफ मीटिरोलॉजी के बीच हस्ताक्षर किए गए हैं।

मुख्य बिंदु

भारत और यूएई के बीच इस समझौता ज्ञापन में निम्नलिखित शामिल हैं-

  • इस समझौते के तहत साझा महत्व की वैज्ञानिक और तकनीकी जानकारी को साझा किया जायेगा।

  • इसमें प्रशिक्षण के लिए अनुसंधान विद्वानों, वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों आदि के अनुभव, उपग्रह डेटा के उपयोग पर शोध और उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के पूर्वानुमान सम्बन्धी सूचना को साझा करना शामिल है।

  • दोनों देशों के विज्ञान और प्रौद्योगिकी के मुद्दों पर वैज्ञानिक और तकनीकी कार्यशालाओं / संगोष्ठियों / सम्मेलनों और प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा।

  • महासागरीय क्षेत्र पर मौसम संबंधी अवलोकन नेटवर्क स्थापित किया जायेगा।

  • फोरकास्ट मॉडलिंग सॉफ्टवेयर के माध्यम से सुनामी प्रारंभिक चेतावनी केंद्र (TEWC) का समर्थन किया जायेगा।

  • भारत के दक्षिण और पश्चिम में और संयुक्त अरब अमीरात के उत्तर में स्थित स्थित भूकंपीय स्टेशनों से रियल-टाइम भूकंपीय आंकड़ों का आदान-प्रदान किया जायेगा।

भारत-संयुक्त अरब अमीरात संबंध

भारत और यूएई के बीच काफी मैत्रीपूर्ण संबंध हैं। दोनों देशों के बीच रेल क्षेत्र में तकनीकी सहयोग के लिए एक समझौता किया गया है। दोनों देश आतंकवाद का मुकाबला करने में मदद करते रहे हैं और हाल ही में, दोनों ने मिलकर दिल्ली में आईएसआई समर्थित आतंकवादी हमले को नाकाम कर दिया था।


3. मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह ने किया चेरी ब्लॉसम फेस्टिवल का उद्घाटन

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने माओ में चेरी ब्लॉसम महोत्सव के चौथे संस्करण का वर्चुली उद्घाटन किया। हालांकि, इस वर्ष, प्राधिकरण ने COVID-19 महामारी के कारण फेस्टिवल को सीमित करने का फैसला किया। इस फेस्टिवल में माओ के सुरम्य परिदृश्य को सुंदर फूलों से लदे हुए चेरी के पेड़ों से सजाया गया है, जो पारंपरिक रूप से दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करते हैं।

सुंदर चेरी ब्लॉसम फूलों से सजे माओ शहर के सुरम्य परिदृश्य को दर्शाने वाले फेस्टिवल को दोपहर 2 बजे से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर लाइव स्ट्रीम किया गया।

मणिपुर के सेनापति जिले का माओ क्षेत्र चेरी ब्लॉसम के लिए जाना जाता है, एक पौधा जिसे जापान में लोकप्रिय रूप से सकुरा के रूप में जाना जाता है।


4. अरब-भारत सहयोग मंच का आयोजन किया गया

12 जनवरी, 2021 को अरब-भारत सहयोग मंच (Arab-India Cooperation Forum) की 3वीं वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक वर्चुअली आयोजित की गयी। इस बैठक की अध्यक्षता मिस्र के सहायक विदेश मंत्री और अरब लीग में स्थायी प्रतिनिधि मोहम्मद अबू अल-खीर और संजय भट्टाचार्य, सचिव (CPV&OIA) ने की। इस बैठक में भारत और अरब देशों के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भी भाग लिया।

मुख्य बिंदु

इस बैठक के दौरान वरिष्ठ अधिकारियों ने अरब जगत और भारत के बीच संबंधों की सराहना की। उन्होंने इस बात को भी हाईलाइट किया कि यह फोरम अरब-भारत संबंधों को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। इन अधिकारियों ने संबंधित अंतरराष्ट्रीय प्रस्तावों, समझौतों और संदर्भों के अनुसार मध्य पूर्व में क्षेत्रीय मुद्दों के लिए राजनीतिक समाधान की आवश्यकता पर बल दिया।

इन अधिकारियों ने ऊर्जा और पर्यावरण अर्थव्यवस्था, व्यापार और निवेश; पर्यटन और संस्कृति; कृषि और खाद्य सुरक्षा; शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल; मानव संसाधन विकास; विज्ञान और प्रौद्योगिकी, और मीडिया के क्षेत्र में अरब-भारत सहयोग को बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की।

अरब-भारत सहयोग मंच (Arab-India Cooperation Forum)

इस फोरम की पहली मंत्रिस्तरीय बैठक जनवरी 2016 में बहरीन के मनामा में आयोजित की गई थी। इस बैठक के दौरान, दोनों पक्षों द्वारा मनामा घोषणा को अपनाया गया था। मनामा घोषणा का उद्देश्य मानव तस्करी को समाप्त करना है।


5. भारत बायोटेक ने ब्राजील को Covaxin देने के लिए प्रीसिसा मेडिकमेन्टस के साथ किया समझौता

भारत बायोटेक ने ब्राजील को भारत में निर्मित कोविड -19 वैक्सीन 'Covaxin' की आपूर्ति के लिए प्रीसिसा मेडिकमेन्टस (Precisa Medicamentos) के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

ब्राजील सरकार द्वारा प्रत्यक्ष खरीद के माध्यम से कोवाक्सिन की आपूर्ति को सार्वजनिक बाजार के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।

कोविड-19 के लिए बनाई गई भारत की पहले स्वदेशी वैक्सीन COVAXIN के निर्यात पर चर्चा करने के लिए प्रीसीसा मेडिकामेंट्स की एक टीम ने पिछले सप्ताह जीनोम घाटी में भारत बायोटेक के सुविधा केंद्र का दौरा किया था।


6. केंद्रीय बजट 2021: इतिहास में पहली बार पेश किया जाएगा पेपरलेस बजट

संसद में 1 फरवरी को पेश किया जाने वाला केंद्रीय बजट (Union Budget) 2021 मौजूदा कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर पूरी तरह से कागज रहित होने जा रहा है।

आजादी के बाद यह पहला मौका होगा जब बजट की प्रति (Copy) नहीं छपेंगी।

इस संबंध में केंद्र ने संसद के दोनों सदनों से अनुमति ले ली है। यह निर्णय COVID-19 के संक्रमण के कारण लिया गया है, क्योंकि करीब 100 कर्मचारी इस प्रक्रिया से जुड़े होते हैं, जो बजट दस्तावेजों के प्रिंट होने, सील होने और बजट के दिन डिलीवर किए जाने तक करीब 15 दिन कैद रहते हैं. उन्हें बाहर जाने या किसी से बात करने की इजाज़त नहीं होती है।

बजट पेपर आमतौर पर मंत्रालय के प्रिंटिंग प्रेस में नॉर्थ ब्लॉक में छापे जाते हैं। इस वर्ष के बजट में कथित तौर पर पारंपरिक 'हलवा' समारोह का आयोजन नही किया जाएगा, अथवा इसे सीमित लोगों के साथ समारोह आयोजित किया जा सकता है।

'हलवा' समारोह, हर साल बजट से पहले वित्त मंत्रालय में हलवा समारोह का आयोजन होता है. इसे बजट से जुड़ी प्रक्रिया की औपचारिक शुरुआत माना जाता है।


7. DRDO ने बनाई भारत की पहली स्वदेशी मशीन पिस्टल ‘ASMI’

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने भारतीय सेना के साथ मिलकर भारत की पहली स्वदेशी मशीन पिस्टल ‘ASMI’ विकसित की है। इस पिस्टल को हाल ही में भारतीय सेना के नवाचार प्रदर्शन कार्यक्रम में प्रदर्शित किया गया था।

मुख्य बिंदु

स्वदेशी रूप से विकसित यह मशीन पिस्टल रक्षा बलों द्वारा इस्तेमाल की जा रही 9 मिमी पिस्टल को रीप्लेस करेगी। इस मशीन पिस्टल की फायरिंग रेंज 100 मीटर है और यह इजरायल की उजी सीरीज की बंदूकों की श्रेणी में है। पिछले 4 महीनों में विकास के दौरान इस पिस्टल से 300 से अधिक राउंड फायर किए गये हैं। यह पिस्टल अब जल्द ही भारतीय सेना को सौंप दी जाएगी।

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO)

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) की स्थापना 1958 में की गयी थी, इसका मुख्यालय नई दिल्ली के DRDO भवन में स्थित है। यह भारत सरकार की एजेंसी है। यह सैन्य अनुसन्धान तथा विकास से सम्बंधित कार्य करता है। DRDO का आदर्श वाक्य “बलस्य मूलं विज्ञानं” है। DRDO में 30,000 से अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं। वर्तमान में DRDO के चेयरमैन डॉ. जी. सतीश रेड्डी हैं। DRDO का नियंत्रण केन्द्रीय रक्षा मंत्रालय के पास है। DRDO की 52 प्रयोगशालाओं का नेटवर्क है।


8. दिसंबर में भारत की खुदरा मुद्रास्फीति घटकर हुई 4.59%

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, भारत की खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर में तेजी से गिरकर 4.59 प्रतिशत पर आ गई है, जिसका मुख्य कारण खाद्य कीमतों में आई गिरावट है।

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (Consumer Price Index) पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति नवंबर में 6.93 प्रतिशत थी।

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर 2020 में खाद्य मुद्रास्फीति घटकर दिसंबर में 3.41 प्रतिशत रह गई, जो पिछले महीने में 9.5 प्रतिशत थी।


9. 14 जनवरी : सशस्त्र बल भूतपूर्व सैनिक दिवस (Armed Forces Veterans’ Day)

प्रतिवर्ष 14 जनवरी को सशस्त्र बल भूतपूर्व सैनिक दिवस (Armed Forces Veterans’ Day) मनाया जाता है। इस दिवस को 2017 से मनाया जा रहा है। पहले इस दिवस को युद्धविराम दिवस कहा जाता था।

मुख्य बिंदु

इस दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, इस कार्यक्रम में थलसेना प्रमुख, नौसेना प्रमुख तथा वायुसेना प्रमुख शरीक होंगे।

प्रतिवर्ष 14 जनवरी को सशस्त्र बल भूतपूर्व सैनिक दिवस मनाने का कारण यह है कि इसी दिवस भारतीय सशस्त्र बल के पहले कमांडर-इन-चीफ फील्ड मार्शल के.एम. करियप्पा सेवानिवृत्त हुए थे।

थल सेना दिवस

भारत में 15 जनवरी को थल सेवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस के अवसर देश की रक्षा में कार्यरत्त तथा शहीद बहादुर जवानों के योगदान के प्रति सम्मान व्यक्ति किया जाता है।

फील्ड मार्शल के.सी. करियप्पा ने 15 जनवरी, 1949 को जनरल सर फ्रांसिस बुचर (भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ) से भारतीय सेना के पहले कमांडर इन चीफ का कार्यभार ग्रहण किया था, इसलिए 15 जनवरी को थल सेना दिवस मनाया जाता है।

भारतीय थल सेना

ईस्ट इंडिया कंपनी की सरकार के अंतर्गत सैन्य विभाग में 1776 में भारतीय थल सेना की शुरुआत हुई है। भारतीय सेना का आदर्श वाक्य “स्वपूर्व सेवा” है। भारतीय थल सेना बाहरी तथा अन्तरिक्ष खतरों से देश की रक्षा करती है तथा देश की सीमाओं को सुरक्षित रखते हुए देश में शांति सुनिश्चित करती है। भारतीय थल सेना में 12 लाख से अधिक सक्रीय सैनिक कार्यरत्त हैं।


10. आरबीआई ने रद्द किया वसंतदादा नगरी सहकारी बैंक का लाइसेंस

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने महाराष्ट्र स्थित वसंतदादा नगरी सहकारी बैंक का लाइसेंस तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया है।

वसंतदादा नगरी सहकारी बैंक लिमिटेड को अब 11 जनवरी, 2021 को कारोबार बंद होने के प्रभाव से जमा राशि के भुगतान और जमा की अदायगी सहित 'बैंकिंग' कार्य करने की अनुमति नहीं होगी।

साथ ही, RBI ने महाराष्ट्र के सहकारिता और सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार (Registrar of Cooperative Societies) से अनुरोध किया है कि वे बैंक को बंद करने और बैंक के लिए एक प्रशासक नियुक्त करने का आदेश जारी करें।

लाइसेंस रद्द करने और परिसमापन की कार्यवाही शुरू होने के बाद अब DICGC अधिनियम, 1961 के तहत वसंतदादा नगरी सहकारी बैंक लिमिटेड, उस्मानाबाद, महाराष्ट्र के जमाकर्ताओं को भुगतान करने की प्रक्रिया निर्धारित की जाएगी।

प्रत्येक जमाकर्ता डीआईसीजीसी से 5,00,000 रुपये तक की अपनी जमा राशि के पुनर्भुगतान का हकदार होगा।

बैंक के 99% से अधिक जमाकर्ताओं को डीआईसीजीसी से अपनी जमा राशि का पूर्ण पुनर्भुगतान मिलेगा।


11. भारतीय वायु सेना के लिए 83 एलसीए तेजस लड़ाकू विमानों की खरीद को मंजूरी दी गयी

मंत्रिमंडल ने भारतीय वायु सेना के लिए 10 लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (LCA) तेजस एमके -1 ट्रेनर विमान और 73 एलसीए तेजस एमके-1 ए लड़ाकू विमान की खरीद के लिए मंजूरी दे दी है।

मुख्य बिंदु

लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट Mk-1A को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) द्वारा डिजाइन, विकसित और निर्मित किया गया है। इसकी कुल लागत 45,696 करोड़ रुपये आएगी। साथ ही, इन्फ्रास्ट्रक्चर के डिजाइन और विकास के लिए 1,202 करोड़ रुपये मंज़ूर किये गये हैं।

एलसीए एमके -1 ए में इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सूट, बियॉन्ड विजुअल रेंज (बीवीआर) मिसाइल, एक्टिव इलेक्ट्रॉनिकली स्कैन्ड एरे (AESA) रडार, और एयर टू एयर रिफ्यूलिंग (एएआर) की क्षमता है।

मंत्रिमंडल ने अपने बेस डिपो में सर्विसिंग और मरम्मत के लिए वायुसेना को बुनियादी ढांचे के विकास के लिए मंजूरी दी है।

HAL द्वारा एलसीए के इस निर्माण से आत्मनिर्भर भारत पहल मजबूत होगी और भारत में रक्षा उत्पादन और रक्षा उद्योग के स्वदेशीकरण को बल मिलेगा। इस विमान डिजाइन और विनिर्माण के लिए MSME सेक्टर से लगभग 500 भारतीय कंपनियां HAL के साथ काम करेंगी

आकाश मिसाइल सिस्टम

हाल ही में, मंत्रिमंडल ने आकाश मिसाइल प्रणाली के निर्यात को भी मंजूरी दी है और निर्यात की तेजी से मंजूरी सुनिश्चित करने के लिए एक समिति का भी गठन किया है।


12. RBI ने डॉएश बैंक पर नियमों का उल्लंघन करने के चलते लगाया 2 करोड़ रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक ने जमा पर ब्याज दर से संबंधित निर्देशों के कुछ प्रावधानों का पालन न करने पर डॉएश बैंक एजी (Deutsche Bank AG) पर 2 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

रिज़र्व बैंक ने कहा कि 31 मार्च, 2019 को ड्यूश बैंक की वित्तीय स्थिति का वैधानिक निरीक्षण और रिस्क असेसमेंट रिपोर्ट ने पाया गया कि बैंक ने 'भारतीय रिजर्व बैंक (जमा पर ब्याज दर) निर्देश, 2016' का अनुपालन नहीं

यह कार्रवाई विनियामक अनुपालन में कमियों पर आधारित थी और इसका उद्देश्य बैंक द्वारा अपने ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता पर निर्णय सुनाना नहीं था।


13. भारत सरकार लांच करेगी प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण (PMKVY 3.0)

भारत सरकार प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तीसरे चरण को लांच करने जा रही है, यह चरण केन्द्रीय कौशल विकास व उद्यमिता मंत्रालय द्वारा 15 जनवरी, 2021 को लांच किया जायेगा। यह तीसरा चरण देश के सभी राज्यों में 600 जिलों में लांच किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तीसरे चरण (PMKVY 3.0) का लक्ष्य वर्ष 2020-2021 के दौरान 8 लाख उम्मीदवारों को प्रशिक्षण प्रदान करना है। इस प्रशिक्षण के लिए 948.90 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे। इस तीसरे चरण में COVID-19 संबंधित कौशल और नए युग के कौशल पर फोकस किया जायेगा। कौशल भारत मिशन पीएमकेवीवाई 3.0 के तहत 729 प्रधानमंत्री कौशल केंद्रों (PMKK), गैर-पीएमकेके प्रशिक्षण केंद्रों और 200 से अधिक आईटीआई द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। यह प्रशिक्षण कुशल पेशेवरों का एक मजबूत पूल तैयार करेगा। जिससे आने वाले समय में देश में योग्य व कुशल श्रमिकों की कमी नहीं होगी और लोग आसानी से रोज़गार प्राप्त कर सकेंगे। दूसरी और उद्योगों को भी कुशल श्रमिक प्राप्त हो सकेंगे।

स्किल इंडिया

स्किल इंडिया को राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन भी कहा जाता है, इस अभियान को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लांच किया था। इसे 15 जुलाई, 2015 को लांच किया गया था। इस अभियान का उद्देश्य देश में 2022 तक लगभग 40 करोड़ लोगों को विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण प्रदान करना है ताकि वे रोज़गार प्राप्त कर सकें या खुद का काम शुरू कर सकें।

इस अभियान के तहत प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, रूरल स्किल इंडिया, कौशल विकास और उद्यमिता के लिए राष्ट्रीय नीति, 2015 जैसी कई पहलें व योजनायें शुरू की गयी थीं।


14. डॉ. अजय कुमार ने की 13 वीं भारत-वियतनाम रक्षा सुरक्षा वार्ता की संयुक्त अध्यक्षता

भारत-वियतनाम रक्षा सुरक्षा संवाद का 13 वां संस्करण वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित किया गया।

वर्चुल कार्यक्रम की सह-अध्यक्षता भारत की ओर से रक्षा सचिव डॉक्टर अजय कुमार और वियतनाम की ओर से वहां के उप रक्षा मंत्री लेफ्टिनेंट जनरल गुएन चिन विन्ह ने की।

वर्चुअल रूप से आयोजित इस बैठक में दोनों ने कोविड महामारी के कारण सीमित हो गए अवसरों के बावजूद मौजूदा रक्षा सहयोग की स्थितियों पर संतोष व्यक्त किया।

दोनों देशों ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और वियतनाम के प्रधानमंत्री गुयेन जुआन फुक के बीच दिसंबर 2020 में संपन्न हुए वर्चुअल शिखर सम्मेलन के परिणामस्वरुप तैयार की गई कार्ययोजना पर विचार-विमर्श किया।

दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग के लिए की गई विभिन्न पहलों की प्रगति की समीक्षा की और व्यापक रणनीतिक साझेदारी के तहत सशस्त्र बलों के बीच आगे सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की।

दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि हाल के दिनों में दोनों देशों ने रक्षा उद्योग और प्रौद्योगिकी सहयोग में उल्लेखनीय प्रगति की है और इस क्षेत्र में और भी अधिक सहयोग के लिए तत्पर हैं।


15. बेंगलुरु सबसे तेजी से आगे बढ़ता प्रौद्योगिकी केंद्र, लंदन, पेरिस और मुंबई पछाड़ा

बेंगलुरु दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते प्रौद्योगिकी केंद्र के रूप में उभरा है। लंदन में गुरुवार को जारी एक ताजा शोध के अनुसार 2016 से बेंगलुरु दुनिया का सबसे तेजी से आगे बढ़ता परिपक्व प्रौद्योगिकी पारिस्थितिकी तंत्र रहा है।

इस सूची में बेंगलुरु के बाद यूरोपीय शहरों लंदन, म्यूनिख, बर्लिन और पेरिस का नंबर आता है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई सूची में छठे स्थान पर है।

लंदन एंड पार्टनर्स ने डीलरूम डॉट कॉम के आंकड़ों का विश्लेषण किया है। आंकड़ों के अनुसार कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में निवेश 2016 के 1.3 अरब डॉलर से 5.4 गुना बढ़कर 2020 में 7.2 अरब डॉलर पर पहुंच गया है।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में इसी अवधि में निवेश 1.7 गुना बढ़कर 70 करोड़ डॉलर से 1.2 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। ब्रिटेन की राजधानी लंदन में निवेश तीन गुना बढ़कर 3.5 अरब डॉलर से 10.5 अरब डॉलर पर पहुंच गया है।

लंदन एंड पार्टनर्स में भारत के मुख्य प्रतिनिधि हेमिन भड़ूचा ने कहा, 'यह देखना सुखद है कि बेंगलुरु और लंदन उद्यम पूंजी (वीसी) निवेश के लिए सबसे तेजी से आगे बढ़ते प्रौद्योगिकी केंद्र हैं। हमारे दोनों शानदार शहर उद्यमिता और नवोन्मेषण में परस्पर मजबूती साझा करते हैं। इससे प्रौद्योगिकी निवेशकों तथा कंपनियों के लिए बड़ी संख्या में अवसरों का सृजन होता है।

भड़ूचा ने कहा, 'लंदन के भारत के शहरों के साथ मजबूत व्यापारिक और निवेश संबंध हैं। आज के आंकड़ों से ब्रिटेन और भारत के बीच भविष्य में प्रौद्योगिकी क्षेत्र में भागीदारी के अवसरों का पता चलता है।'

बेंगलुरु इसके साथ ही प्रौद्योगिकी उद्यम पूंजी (वीसी) निवेश के मामले में वैश्विक सूची में छठे स्थान पर है। इस सूची में पहले स्थान पर बीजिंग और दूसरे पर सैन फ्रांसिस्को हैं। इनके बाद न्यूयॉर्क, शंघाई और लंदन का स्थान है। इस सूची में मुंबई 21वें स्थान पर है।


16. नुब्रा वैली में किया गया पहली बार आइस क्लाइम्बिंग फेस्टिवल का आयोजन

लेह की नुब्रा घाटी में पहली बार बर्फ पर चढ़ने (Ice climbing festival) का उत्सव मनाया गया।

सात दिन लंबे इस कार्यक्रम को नुब्रा एडवेंचर क्लब द्वारा आयोजित किया गया था।

आइस क्लाइम्बिंग विदेश में एक लोकप्रिय शीतकालीन खेल है। नुब्रा घाटी में शीतकालीन पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए, सोशल एक्टिविस्ट डॉ. नॉर्डन ओत्ज़ेर की मदद से नुब्रा एडवेंचर क्लब ने सात दिनों के आइस क्लाइम्बिंग फेस्टिवल का आयोजन किया है।

ट्रेनर रिग्जिन त्सावांग ने कहा कि नुब्रा, हिमालय की आइस क्लाइम्बिंग की राजधानी बनाने की क्षमता है।


17. हेनले पासपोर्ट इंडेक्स 2021 में भारत को मिला 85 वां स्थान

हेनली एंड पार्टनर्स द्वारा हेनली पासपोर्ट इंडेक्स 2021 जारी किया गया है, जो इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA) प्राप्त आंकड़ों पर आधारित है।

नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, 2021 के लिए हेनले पासपोर्ट सूचकांक में वीज़ा-फ्री स्कोर 58 के साथ भारत को 110 देशों में से 85 वें स्थान पर रखा गया है।

यह सूचकांक दुनिया के सबसे पावरफुल पासपोर्ट की रैंकिंग प्रस्तुत करता है, जिसके जरिए पासपोर्ट धारक बिना वीजा के प्रवेश कर सकते हैं।

जापान ने लगातार तीसरे वर्ष दुनिया में सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट होने की सूची में एक बार फिर से शीर्ष स्थान हासिल किया है।

जापानी नागरिक 191 देशों में बिना वीजा के जा सकते हैं। दूसरे स्थान पर सिंगापुर (190) और तीसरे स्थान पर जर्मनी और दक्षिण कोरिया (189) हैं।

इस सूची में सीरिया, इराक और अफगानिस्तान सबसे कम शक्तिशाली पासपोर्ट वाले देश हैं, जिनका पासपोर्ट स्कोर क्रमशः 29, 28 और 26 है।


18. फ्रांस ने वर्चुली किया चौथी 'वन प्लेनेट समिट' का आयोजन

फ्रांस सरकार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चौथी ‘One Planet Summit’ का आयोजन किया, जिसका उद्देश्य विश्व की जैव विविधता की रक्षा करना था।

इस शिखर सम्मेलन का आयोजन संयुक्त राष्ट्र और विश्व बैंक के सहयोग से किया गया था। शिखर सम्मेलन का विषय था “Let’s act together for nature!”

इसका उद्घाटन संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन और विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष डेविड मलपास द्वारा किया गया था।


19. भारतीय अमेरिकी लेखक वेद मेहता का निधन

भारतीय मूल के अमेरिकी लेखक वेद मेहता का निधन।

बचपन में ही आंखों की रोशनी खोने वाले भारतीय-अमेरिकी उपन्यासकार को 20 वीं सदी के दिग्गज लेखक के रूप में व्यापक रूप से जाना जाता है, जिन्होंने अमेरिकी पाठकों की भारत से पहचान कराई थी।

वेद मेहता, द न्यू यॉर्कर के लिए एक लंबे समय से लेखक रहे, जिनके सबसे प्रसिद्ध कार्यों में, एक दर्जन संस्करणों में अपनी आत्मकथा के अंतरंग लेंस के माध्यम से आधुनिक भारत के विशाल, अशांत इतिहास का पता लगाया।




  • Source of Internet