Search

14th & 15th March | Current Affairs | MB Books


1. QUAD देश पूरे एशिया में 1 बिलियन वैक्सीन भेजेंगे

भारत के विदेश सचिव ने 12 मार्च, 2020 को कहा कि अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान के नेताओं ने पूरे एशिया और हिन्द-प्रशांत में 1 बिलियन कोरोनावायरस टीके भेजने के लिए वित्त, निर्माण और वितरण की सहमति दी है।

मुख्य बिंदु : “क्वाड” समूह का उद्देश्य दक्षिण पूर्व एशिया और दुनिया भर में चीन की बढ़ती टीकाकरण कूटनीति का मुकाबला करने के लिए वैश्विक टीकाकरण का विस्तार करना है। क्वाड समूह के चार देशों में से भारत दुनिया भर में सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता है। समूह के बीच यह सहयोग भारत के 1.4 बिलियन लोगों के लिए टीकों के उत्पादन को प्रभावित नहीं करेगा। इस प्रकार, भारत की विशाल वैक्सीन उत्पादन क्षमता का विस्तार अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की मदद से किया जाएगा।

यह समूह कैसे सहयोग करेगा? : इस समझौते के तहत, भारत अपनी विनिर्माण क्षमता का उपयोग अमेरिका के टीके बनाने के लिए करेगा। इसके लिए वित्तपोषण U.S. International Development Finance Corporation और जापान बैंक से आएगा। दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया प्रशिक्षण का वित्तपोषण करेगा।

चतुर्भुज सुरक्षा संवाद (Quadrilateral Security Dialogue-QUAD) : इसे एशियाई नाटो के रूप में देखा जाता है। यह जापान, अमेरिका, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक अनौपचारिक रणनीतिक मंच है। यह अर्ध-नियमित शिखर सम्मेलन आयोजित करता है। यह 2007 में जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो आबे द्वारा शुरू किया गया था। यह संयुक्त सैन्य अभ्यास द्वारा समरूप था।

महत्व : इस समूह के सभी चार सदस्य देश इंडो-पैसिफिक क्षेत्र को मुक्त और समावेशी बनाने का लक्ष्य रखते हैं। यह समूह प्रसार और आतंकवाद जैसी आम चुनौतियों से निपटता है। इसके सदस्य उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों पर लगाम लगाने में सहयोग करते हैं।

क्वाड की आवश्यकता : भारत और भूटान जैसे अपने पड़ोसियों की सीमाओं के साथ चीन के आक्रामक कदमों ने क्वाड को चीनी चालों का मुकाबला करने के लिए मजबूर किया है। पूर्वी सागर और दक्षिण चीन सागर के क्षेत्र में व्यापार और नेविगेशन को लेकर चिंताएं जताई जा रही हैं।


2. पीएम नरेंद्र मोदी ने भगवद गीता का किंडल वर्जन लॉन्च किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वामी चिद्भवानंद की 'भगवद गीता' का किंडल संस्करण लॉन्च किया है। ​यह आयोजन स्वामी चिद्भवानंदजी की भगवद गीता की 5 लाख से अधिक प्रतियों की बिक्री के लिए आयोजित किया गया है।

स्वामी चिद्भवानंदजी तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली के थिथिरुप्परैठुरै में श्री रामकृष्ण तपोवनम आश्रम के संस्थापक हैं। चिद्भवानंद जी भारत के उत्थान के लिए समर्पित थे। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद के मद्रास व्याख्यान ने स्वामी चिद्भवानंद जी को राष्ट्र को हर चीज से ऊपर रखने और लोगों की सेवा करने के लिए प्रेरित किया।


3. साहित्य अकादमी पुरस्कार 2020 के विजेताओं की घोषणा की गयी

नेशनल एकेडमी ऑफ लेटर्स (National Academy of Letters) ने 12 मार्च, 2021 को “साहित्य अकादमी पुरस्कार 2020 के विजेताओं की घोषणा की है। इन नामों की घोषणा वार्षिक“ फेस्टिवल ऑफ लेटर्स ”इवेंट के उद्घाटन के दौरान की गई।

मुख्य बिंदु : यह पुरस्कार राजनीतिज्ञ-लेखक एम. वीरप्पा मोइली, कवि अरुंधति सुब्रमण्यम सहित अन्य 20 लेखकों को दिया जाएगा। सुब्रमण्यम ने अंग्रेजी में “When God is a Traveller” नामक अपने कविता संग्रह के लिए यह पुरस्कार जीता है । वीरप्पा मोइली को कन्नड़ भाषा में श्री बाहुबली अहिंसा दिग्विजयम नामक महाकाव्य के लिए नामित किया गया है। इस सूची में कविता की सात पुस्तकें, पांच लघु कथाएँ, चार उपन्यास, दो नाटक और एक संस्मरण और 20 भारतीय भाषाओं में एक महाकाव्य कविता शामिल है। नेपाली, मलयालम, ओडिया और राजस्थानी भाषाओं के पुरस्कारों की घोषणा बाद में की जाएगी।

अन्य पुरस्कार विजेता : काव्य श्रेणी में यह पुरस्कार हरीश मीनाक्षी (गुजराती), आर.एस. भास्कर (कोंकणी), अनामिका (हिंदी), इरुंगबाम देवेन (मणिपुरी), निखिलेश्वर (तेलुगु) एंड रूपचंद हंसदा (संथाली) को दिया जायेगा। उपन्यास की श्रेणी में यह पुरस्कार इमैयम (तमिल), नन्द खरे (मराठी), महेश चन्द्र शर्मा गौतम (संस्कृत) और हुसैन उल हक़ को प्रदान किया जायेगा। जबकि अपूर्व कुमार सैकिया(असमिया), हिदय कौल भारती (कश्मीरी), धरनीधर ओवरी (बोडो), गुरदेव सिंह रुपना (पंजाब) और कमाकांत झा (मैथिली) को लघु कथा के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जायेगा।

साहित्य अकादमी पुरस्कार : यह भारत में एक साहित्यिक सम्मान है। यह साहित्य अकादमी द्वारा प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार साहित्यिक योग्यता की सबसे उत्कृष्ट पुस्तकों को प्रदान किया जाता है, जो कि हिंदी, अंग्रेजी और संविधान की आठवीं अनुसूची की अन्य 22 भाषाओं सहित किसी भी 24 प्रमुख भारतीय भाषाओं में प्रकाशित होती है। इस पुरस्कार के विजेता को तांबे की पट्टिका, एक शाल और 1,00,000 रुपये की राशि प्रदान की जाती है।


4. पल्लव मोहपात्रा बने ARCIL के एमडी और सीईओ

एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी (इंडिया) लिमिटेड (Asset Reconstruction Company (India) Ltd-Arcil) ने पल्लव मोहपात्रा (Pallav Mohapatra) को अपना मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक नियुक्त करने की घोषणा की है। इस नियुक्ति से पहले, मोहपात्रा सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India) के एमडी और सीईओ थे।

CBoI के एमडी और सीईओ के रूप में पदोन्नत होने से पहले, वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के स्ट्रेस एसेट्स मैनेजमेंट ग्रुप (Stressed Assets Management Group) के उप प्रबंध निदेशक थे।

विनायक बहुगुणा (Vinayak Bahuguna) ने जून 2020 तक पांच साल के लिए Arcil के एमडी और सीईओ के रूप में काम किया। Arcil, जिसे 2002 में स्थापित किया गया था, वर्तमान में 12,000 करोड़ रुपये के प्रबंधन (गैर-निष्पादित ऋण) में परिसंपत्तियां हैं।


5. पीएम मोदी ने चौथे वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव को संबोधित किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मार्च, 2021 को वर्चुअल मोड में चौथे वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव को संबोधित किया।

मुख्य बिंदु : इस अवसर पर, प्रधानमंत्री ने आयुर्वेद में बढ़ती वैश्विक रुचि पर प्रकाश डाला। उन्होंने दुनिया भर में आयुर्वेद पर काम करने वालों के प्रयासों की भी सराहना की। एक समग्र मानव विज्ञान के रूप में आयुर्वेद के महत्व प्रकाश डालते हुए उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे कोविड-19 महामारी के बीच आयुर्वेदिक उत्पादों की मांग लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा, महामारी की यह वर्तमान स्थिति आयुर्वेद और पारंपरिक दवाओं के लिए दुनिया भर में अधिक लोकप्रिय होने का एक सही समय है। उन्होंने आयुर्वेद की लोकप्रियता और अवसरों का लाभ उठाने का भी आह्वान किया।

चौथा वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव : इस इवेंट में लाइव सत्र जैसे प्लेनरी, समांतर सत्र, संगोष्ठी, आभासी प्रदर्शनी और वर्चुअल नेटवर्किंग शामिल होंगे। यह आयोजन आयुर्वेद के क्षेत्र से संगठनों, संस्थानों, व्यक्तियों और सांविधिक निकायों के लिए एक साथ मिलने, साझा करने, जानने और बढ़ने के लिए प्लेटफार्म प्रदान कर रहा है।

थीम : इस आयोजन के तहत, अंतर्राष्ट्रीय आयुर्वेद संगोष्ठी का आयोजन “Strengthening Host Defence System – Ayurveda A Potential Promise”थीम के तहत किया जा रहा है। इंटरनेशनल डेलिगेट असेंबली का आयोजन “Globalizing Ayurveda – Scope, Challenges and Solutions” थीम के तहत किया जाएगा।


6. भारत ने ब्रिक्स CGETI की पहली बैठक की अध्यक्षता की

भारत की अध्यक्षता में, ब्रिक्स संपर्क समूह की पहली बैठक आर्थिक और व्यापार के मुद्दों (Contact Group on Economic and Trade Issues- CGETI) पर 9 मार्च 2021 से 11 मार्च, 2021 तक आयोजित की गई। ब्रिक्स का 2021 के लिए विषय "ब्रिक्स@15: निरंतरता, समेकन, और सहमति के लिए इंट्रा ब्रिक्स सहयोग" है।

भारत ने BRICS CGETI 2021 के लिए कार्यक्रम का कैलेंडर प्रस्तुत किया, इसमें डिलिवरेबल्स के प्राथमिकता वाले क्षेत्र, सेवा सांख्यिकी पर MSME राउंडटेबल सम्मेलन कार्यशाला का दायरा और ब्रिक्स व्यापार मेला शामिल है। भारत सरकार के संबंधित विभागों द्वारा BRICS CGETI ट्रैक के तहत भारत की अध्यक्षता के दौरान प्रस्तावित डिलिवरेबल्स की प्रस्तुति को एक अलग सत्र में बनाया गया था।


7. झारखंड में स्थानीय लोगों के लिए 75% निजी नौकरी आरक्षित करने के लिए मंजूरी दी गयी

झारखंड कैबिनेट ने स्थानीय लोगों के लिए प्रति माह 30,000 रुपये तक के वेतन के साथ 75 प्रतिशत नौकरियों को आरक्षित करने के लिए रोजगार नीति को मंजूरी दी है। झारखंड से पहले, हरियाणा सरकार ने भी इसी तरह की नीति को मंजूरी दी थी।

मुख्य बिंदु : 75% आरक्षण को अनिवार्य करने वाली इस नई नीति की घोषणा 17 मार्च को विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन करेंगे। मुख्यमंत्री ने यह निर्णय झारखंड औद्योगिक और निवेश प्रोत्साहन नीति, 2021 के मसौदे पर चर्चा करने के लिए दिल्ली का दौरा करने के बाद लिया। 12 मार्च को मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान विभिन्न प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।

झारखंड में बेरोजगारी : जनवरी, 2021 के महीने में झारखंड में बेरोजगारी की दर धीरे-धीरे गिरकर 11.3 प्रतिशत हो गई थी। आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि, कोविड-19 महामारी के मामलों के दौरान बेरोजगारी दर मई 2020 के महीने में बढ़कर 59.2% हो गई थी। जनवरी 2020 के महीने में बेरोजगारी दर 10.6% थी।

चिंताएं : सरकार ने हवाला दिया था कि स्थानीय आरक्षण नीति के लागू होने से बड़ी समस्या लाभार्थियों की पहचान करना है।

अधिवास नीति (Domicile Policy) : झारखंड राज्य ने वर्ष 2016 में रिलैक्स्ड डोमिसाइल पॉलिसी को अधिसूचित किया था। नई नीति में छह तरीकों को सूचीबद्ध किया गया था, जिसे झारखंड के अधिवास के रूप में माना जा सकता है। लेकिन नीति की आलोचना की गई क्योंकि यह आदिवासियों को प्राथमिकता नहीं दे रही थी।

झारखंड में आदिवासी : झारखंड राज्य में 32 जनजातियाँ निवास करती हैं। इन जनजातियों को मूल रूप से उनके सांस्कृतिक प्रकारों के आधार पर वर्गीकृत किया गया था।

  • शिकारी-संग्रहकर्ता प्रकार –जिसमें कोरवा, बिरहोर, हिल खारिया शामिल है।

  • स्थानांतरण कृषि – सौरिया पहाड़िया।

  • सरल कारीगर– लोहरा, महली, करमाली, चिक बारिक।

  • कृषक –मुंडा, संथाल, हो, उरांव, भूमिज।

झारखंड की अनुसूचित जनजाति (एसटी) जनसंख्या : राज्य में 2002 की जनगणना के अनुसार 7,087,068 एसटी आबादी है जो कुल आबादी का 26.3 प्रतिशत है। वे मुख्य रूप से ग्रामीण हैं, जिनमें से 91.7 प्रतिशत गांवों में रहते हैं। राज्य में वर्तमान झारखंड में मुंडा, उरांव, संथाल, गोंड, कोल, असुर, बंजारा, चेरो, हो, कोरा, भूमिज आदि जैसे 32 आदिवासी समूह हैं।


8. पीएम मोदी ने पहले क्वाड समिट 2021 में वर्चुअली भाग लिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन, ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधान मंत्री योशिहिडे सुगा पहले QUAD शिखर सम्मेलन के लिए एक साथ आए।

यह बैठक वर्चुअली आयोजित की गई, जिसके दौरान चार प्रतिभागी एक स्वतंत्र, खुला और समावेशी इंडो-पैसिफिक क्षेत्र, COVID -19, उभरती और महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों, समुद्री सुरक्षा और जलवायु परिवर्तन जैसे सहयोग के विभिन्न क्षेत्रों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।

फोरम को सदस्य देशों के बीच अर्ध-नियमित शिखर सम्मेलन, सैन्य अभ्यास और जानकारी द्वारा बनाए रखा जाता है। QUAD का विचार पहली बार 2007 में तत्कालीन जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे द्वारा लाया गया था। तब से सदस्य देशों के प्रतिनिधि नियमित रूप से मिले हैं और एक साथ काम किया है। हालाँकि, यह QUAD देशों के राष्ट्रीय प्रमुखों के बीच पहली बैठक थी।


9. एनसीआर में वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए गठित केंद्र के पैनल का विघटन किया गया

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के आसपास केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित वायु गुणवत्ता प्रबंधन के पैनल को अब भंग कर दिया गया है।

मुख्य बिंदु : इस पैनल को केंद्र सरकार द्वारा अक्टूबर, 2020 में स्थापित किया गया था। अब इस पैनल को भंग कर दया गया है क्योंकि इस पैनल को स्थापित करने के लिए जो अध्यादेश पारित किया गया था, वह अब समाप्त हो गया है। अध्यादेश को छह सप्ताह के भीतर संसद में पेश किया जाना था। लेकिन इसे निर्धारित समय के भीतर पेश नहीं किया गया था जिसके कारण अध्यादेश लैप्स हो गया था। इस पैनल का नेतृत्व पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के एक पूर्व सचिव एम.एम. कुट्टी ने किया था।

वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए पैनल : राष्ट्रपति के “Commission for Air Quality Management in National Capital Region (NCR) and Adjoining Areas Ordinance, 2020” पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद वैधानिक प्राधिकरण को एयर क्वालिटी मैनेजमेंट के लिए कमीशन को स्थापित किया गया था। इस पैनल का गठन एनसीआर और आसपास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता की निगरानी के लिए किया गया था।

पृष्ठभूमि : दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में वायु गुणवत्ता निगरानी और प्रबंधन कई निकायों जैसे EPCA, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB), राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में राज्य सरकारों द्वारा किया जाता है। उनकी निगरानी केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (MoEFCC) और सुप्रीम कोर्ट द्वारा की जाती है।


10. सरकार ने लॉन्च किया मेरा राशन मोबाइल ऐप

देश में 'वन नेशन-वन राशन कार्ड (One Nation-One Ration Card)’ प्रणाली की सुविधा के लिए, सरकार ने निकटतम उचित मूल्य की दुकान की पहचान करने में नागरिकों को लाभान्वित करने के लिए 'मेरा राशन’ मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप से विशेष रूप से उन राशन कार्ड धारकों को लाभ होगा जो आजीविका के लिए नए क्षेत्रों में जाते हैं।

यह ऐप राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (National Food Security Act-NFSA) के लाभार्थियों, विशेष रूप से प्रवासी लाभार्थियों, उचित मूल्य की दुकान के डीलरों और अन्य संबंधित हितधारकों के बीच विभिन्न "वन नेशन-वन राशन कार्ड" संबंधित सेवाओं की सुविधा के लिए सरकार द्वारा NIC के सहयोग से विकसित किया गया है।

ऐप की मदद से, लाभार्थी आसानी से खाद्यान्न की पात्रता, हाल के लेनदेन और उनके आधार सीडिंग की स्थिति का विवरण देख सकते हैं।

प्रवासी लाभार्थी आवेदन की सहायता से अपना प्रवासन विवरण भी दर्ज कर सकते हैं। लाभार्थी अपने सुझाव या प्रतिक्रिया भी दर्ज कर सकते हैं।


11. DoT ने शुरू किया 5G टेक्नोलॉजी पर ऑनलाइन सर्टिफिकेट कोर्स

दूरसंचार विभाग (Department of Telecommunications - DoT) ने DoT के प्रशिक्षण संस्थान नेशनल टेलिकम्युनिकेशन इंस्टीट्यूट फॉर पॉलिसी रिसर्च, इनोवेशन एंड ट्रेनिंग (National Telecommunications Institute for Policy Research, Innovation and Training- NTIPRIT) द्वारा संचालित 5G तकनीक पर एक नया ऑनलाइन सर्टिफिकेट कोर्स शुरू किया है।

पाठ्यक्रम, जो 9 मार्च 2021 से आयोजित किया जाएगा, 36 घंटे लंबा है और प्रत्येक मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को दोपहर 3:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक 12 सप्ताह की अवधि में आयोजित किया जाएगा। प्रतिभागियों को सत्र मिस करने पर सत्र को रिकॉर्ड करने की अनुमति भी दी जाएगी।


12. पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित जाने-माने चित्रकार लक्ष्मण पाई का निधन

जाने-माने चित्रकार और पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित लक्ष्मण पाई का रविवार शाम गोवा में उनके आवास पर निधन हो गया। वे 95 वर्ष के थे। उनके करीबी सूत्रों ने बताया कि डोना पाउला में अपने घर पर उन्होंने अंतिम सांस ली।

वर्ष 1926 में गोवा में जन्मे पाई को कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किया गया, जिनमें पद्मभूषण, पद्मश्री, नेहरू पुरस्कार और ललित कला अकादमी पुरस्कार शामिल हैं। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने पाई की निधन पर दुख व्यक्त किया।

उन्होंने ट्विटर पर कहा कि गोवा के जाने-माने कलाकार पद्म भूषण श्री लक्ष्मण पाई के निधन से बहुत दुख हुआ। गोवा ने आज एक रत्न को खो दिया। हम कला के क्षेत्र में उनके अपार योगदान को हमेशा याद करेंगे। उनके परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है।


13. पैरेंटहुड का समर्थन करने के लिए टाटा मोटर्स ने लॉन्च किया 'व्हील्स ऑफ लव'

टाटा मोटर्स ने 'व्हील्स ऑफ लव’, एक समग्र कार्यक्रम लॉन्च किया है जो कार्यबल में नए माता-पिता का समर्थन करता है। यह सभी स्तरों में संगठन के भीतर देखभाल, समावेश और संवेदीकरण की प्रगतिशील संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए एक कदम है। एक विशेष रूप से क्यूरेटेड पुस्तक, जिसका उपयुक्त शीर्षक, व्हील्स ऑफ़ लव, ने नए और अपेक्षित माता-पिता को अपने कैरियर के लक्ष्यों को पूरा करने के साथ-साथ एक बढ़ते परिवार की जरूरतों को सफलतापूर्वक प्रबंधित करने में सक्षम बनाने के लिए विभिन्न विश्वासों को सामने रखा।

यह मार्गदर्शिका पुस्तक प्रबंधकों के लिए उनकी टीम के सदस्यों का समर्थन करने के लिए मूल्यवान अंतर्दृष्टि प्रदान करती है क्योंकि वे पितृत्व के विभिन्न चरणों के माध्यम से प्रगति करते हैं।


14. उत्तर प्रदेश में ‘काला नमक चावल महोत्सव’ का आयोजन किया गया

उत्तर प्रदेश सरकार ने सिद्धार्थ नगर जिले में तीन दिवसीय “काला नमक चावल महोत्सव” का आयोजन किया। यह उत्सव 13 मार्च, 2021 से शुरू हुआ। यह उत्सव “झाँसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव” और “लखनऊ में गुड़ महोत्सव” की शानदार सफलता के बाद आयोजित किया जा रहा है।

मुख्य बिंदु : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्थानीय उत्पादन को बढ़ावा देने और किसानों के लिए आय के नए अवसर पैदा करने के लिए जोर दिया है। इस उत्सव का उद्घाटन लगभग 13 मार्च को किया गया था।

महोत्सव के बारे में : इस चावल महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ और ‘लोकल फॉर वोकल’ अभियान के तहत चयनित उत्पादों को ‘वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ (ODOP) के रूप में बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। काला नमक चावल इस क्षेत्र में उगाया जाता है और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों का वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट है। इस प्रकार, त्योहार में शामिल होने वाले लोग काला नमक चावल से बने व्यंजनों का स्वाद ले सकेंगे। वे इन स्टालों से काला नमक धान के बीज और चावल खरीद सकते हैं।

सांस्कृतिक कार्यक्रम : यह महोत्सव रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों को भी चिह्नित करेगा जिसमें स्थानीय कलाकार और छात्र अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हैं। यह कार्यक्रम प्रगतिशील किसानों, एफपीओ और स्वयं सहायता समूहों को उत्पाद की खेती और प्रसंस्करण के संबंध में जानकारी प्रदान करेगा।

काला नमक चावल :

  • इस चावल को बुद्ध चावल भी कहा जाता है।

  • यह भारत में उगाए जाने वाले सुगंधित चावल की बेहतरीन किस्मों में से एक है।

  • चावल को ‘बुद्ध का महाप्रसाद’ भी कहा जाता है।

  • मुख्य रूप से देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर, गोंडा, महाराजगंज, सिद्धार्थ नगर, बलरामपुर, संत कबीर नगर, बहराइच, श्रावस्ती में इसकी खेती की जाती है।

15. टी20 क्रिकेट में विराट बने कोहली- बने 3000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज, लगाए सर्वाधिक 26 अर्द्धशतक

विराट कोहली की नाबाद 73 रनों की कप्तानी पारी से टीम इंडिया ने इंग्लैंड से हो रही टी-20 सीरीज में तो बराबरी की ही है, उनके फैंस के चेहरे पर भी मुस्कान लायी है। पहले टी-20 में कोहली ने पहले से मन बनाकर शॉट खेला था और आदिल रशीद की गेंद पर 0 पर आउट हो गए थे, लेकिन दूसरे टी20 में उन्होंने यह गलती नहीं की।

दूसरे टी-20 में खेली गई पारी में विराट कोहली ने 49 गेंदो में 73 रनों की पारी खेली जिसमें 5 चौके और 3 छक्के शामिल थे।

दूसरे टी-20 में विराट कोहली स्ट्राइक को रोटेट करते हुए नजर आए क्योंकि सामने से टी-20 डेब्यू करने वाले इशान किशन विस्फोटक पारी खेल रहे थे। लक्ष्य भी सिर्फ 165 रनों का था तो कोहली को कुछ खास जोखिम लेने की जरूरत नहीं थी।

जब समय खराब हो तो थोड़ा धैर्य रखना चाहिए, कोहली ने इस ही बात का पालन किया और पहले फॉर्म में आने को तरजीह दी। किशन के आउट होने के बाद दूसरे छोर से पंत तेजी से खेल रहे थे इस कारण कोहली को अपनी सोच में बदलाव करने की जरूरत नहीं पड़ी।

पंत के आउट होने के बाद कोहली पिच पर सेट हो चुके थे और फिर उन्होंने अपने हाथ खोलने शुरु किए। छक्का लगाकर उन्होंने टी-20 क्रिकेट में अपना 26वां अर्धशतक पूरा किया। टी-20 क्रिकेट में कोहली के सर्वाधिक अर्धशतक हैं।

दूसरे नंबर पर भारत के सलामी बल्लेबाज और इस सीरीज पर बैंच पर बैठे रोहित शर्मा है जिन्होंने टी-20 क्रिकेट में 25 अर्धशतक लगाए हैं। तीसरे स्थान पर द पड़ोसी देश के सलामी बल्लेबाज बराबरी पर खड़े हैं। ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के बल्लेबाज डेविड वार्नर और न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल टी20 क्रिकेट में 19 अर्धशतक लगा चुके हैं।

50 बनाने के बाद विराट कोहली का आत्मविश्वास और बढ़ गया और उन्होंने मैच जल्दी खत्म करने की ठानी। उन्होंने छक्का लगाकार टीम इंडिया को जीत की दहलीज पर पहुंचाया और टी-20 क्रिकेट में 3000 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने।

टी-20 क्रिकेट में सर्वाधिक रनों की लिस्ट में भी लगभग वह ही नाम शुमार है जो सर्वाधिक अर्धशतक की लिस्ट में थे। 87 मैचों में कोहली ने 3001 रन बनाए हैं। दूसरे स्थान पर मार्टिन गुप्टिल है जिन्होंने 99 मैचों में 2839 रन बनाए हैं।तीसरे स्थान पर भारत के रोहित शर्मा हैं जिन्होंने 198 मैचों में 2773 रन बनाए हैं। इस लिस्ट को देखकर ही पता चलता है कि विराट ने कितनी तेजी के साथ रन बनाए हैं।

यही नहीं विराट कोहली कप्तान ने एक और रिकॉर्ड बनाया जिसकी कल के मैच के बाद ज्यादा चर्चा नहीं हुई। टी-20 क्रिकेट में 50 छक्के लगाने वाले वह पहले भारतीय कप्तान बन गए हैं। जिस तरह से कोहली टी-20 क्रिकेट में विराट बन रहे हैं इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह अभी और रिकॉर्ड तोड़ेगे।





  • Source of Internet

6 views0 comments

Recent Posts

See All