Search

12th July |Current Affairs|MB Books

Updated: Jul 13


1. भारत के खिलाफ हिंसा भड़काने के आरोप में कनाडा टीवी प्राधिकरण पर केस दर्ज

भारत ने कनाडाई टीवी प्राधिकरण के खिलाफ विरोध दर्ज किया है। भारत ने कनाडा के टीवी नियामक- कनाडाई रेडियो टेलीविजन एंड टेलीकम्यूनिकेशन कमशीन (CRTC) के साथ एक स्थानीय टीवी चैनल के खिलाफ विरोध दर्ज किया है। स्थानीय टीवी चैनल PTN24 पर भारत के खिलाफ हिंसा और नफरत भड़काने का आरोप है। 26 अप्रैल 2020 को PTN24 चैनल द्वारा प्रसारित एक कार्यक्रम के बारे में कनाडा में भारतीय उच्चायोग ने आपत्ति जताई है।

सूत्रों के अनुसार यह कार्यक्रम पंजाब में आतंकवाद के दौरान मारे गए आतंकवादियों को श्रद्धांजलि सेवा के रूप में प्रतिवर्ष आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम पर था। इसमें एक 'सहज पथ' शामिल है। पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब का पाठ, जिसके बाद सिख समुदाय के प्रमुख सदस्यों का भाषण होता है।

पूरा कार्यक्रम भारत के खिलाफ घृणास्पद से भरा हुआ

सूत्र बताते हैं कि ये भाषण भारत के खिलाफ नफरत और उकसावे वाली हिंसा से भरे थे। हालांकि, पूरा कार्यक्रम घृणास्पद सामग्री से भरा था, लेकिन हरभजन सिंह और संतोख सिंह खेला के भाषण विशेष रूप से विट्रियल थे। सूत्रों ने कहा कि हरभजन सिंह न केवल आतंकवादियों के कृत्य का समर्थन कर रहे थे बल्कि उन्होंने यह भी दावा किया कि पंजाब के सिख गुरु अपने मिशन में आतंकवादियों का समर्थन कर रहे थे।

PTN24 एक कनाडाई टेलीविजन चैनल है जिसका मुख्यालय मॉन्ट्रियल में है और यह पंजाबी भाषा में धार्मिक प्रोग्रामिंग, विश्व राजनीति और कनाडाई की राजनीति पर प्रोग्राम प्रसारित किए जाते हैं।

सिख के भावनाओं को पहुंचाई ठेस

26 अप्रैल के विवादित प्रोग्राम के भाषण पंजाब में आतंकवाद का महिमामंडन करने का एक प्रयास था जो हजारों निर्दोष सिखों की मौत के लिए जिम्मेदार था। कार्यक्रम के इस भाषणों ने उन लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है जो 1980 के दशक और 90 के दशक की शुरुआत में पंजाब में हुई संवेदनहीन हिंसा में परिवार के सदस्यों को खो चुके थे।


2. कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने मारी बाजी, सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा सभी परीक्षण रहे सफल

कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने बाजी मार ली है। रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा है कि उसने कोरोना वायरस के लिए वैक्‍सीन तैयार कर लिया है। विश्वविद्यालय का कहना है कि वैक्‍सीन के सभी परीक्षणों को सफलतापूर्वक संपन्‍न कर लिया गया है। अगर यह दावा सच निकला तो यह कोरोना वायरस की पहली वैक्‍सीन होगी। इसके साथ ही दुनिया को कोरोना वायरस की काट भी रूस ने खोज निकाला है। हालांकि, अमेरिका समेत दुनिया के तमाम विकसित मुल्‍क कोरोना पर वैक्‍सीन तैयार करने में जुटे हैं। कई तो ट्रायल के स्‍तर पर असफल भी हो चुके हैं, लेकिन रूस ने पहली वैक्‍सीन को सफल करार देकर बाजी मार ली है।

18 जून को टीके का शुरू हुआ था ​​परीक्षण

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव ने कहा कि विश्वविद्यालय ने 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके के ​​परीक्षण शुरू किया था। तारासोव ने कहा कि सेचेनोव विश्वविद्यालय ने कोरोनोवायरस के खिलाफ दुनिया के पहले टीके के स्वयं सेवकों पर सफलतापूर्वक परीक्षण पूरा कर लिया है।

जल्‍द ही बाजार में सुलभ होगी वैक्‍सीन

सेचनोव यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल पैरासिटोलॉजी, ट्रॉपिकल एंड वेक्टर-बॉर्न डिजीज के निदेशक अलेक्जेंडर लुकाशेव के अनुसार इस पूरे अध्ययन का मकसद मानव स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए कोविड 19 के वैक्सीन को सफलतापूर्वक तैयार करना था। लुकाशेव ने स्पुतनिक को बताया कि सुरक्षा के लिहाज से वैक्सीन के सभी पहलुओं की जांच कर ली गई है। उन्‍होंने कहा कि लोगों के सुरक्षा के लिए यह जल्‍द बाजार में सुलभ होगा।

ड्रग्स और जटिल उत्पादों के निर्माण में भी यह सक्षम है सेचेनोव

तारसोव ने कहा कि सेचेनोव विश्वविद्यालय ने न केवल एक शैक्षणिक संस्थान के रूप में, बल्कि एक वैज्ञानिक और तकनीकी अनुसंधान केंद्र के रूप में भी सराहनीय काम किया है। महामारी की स्थिति में ड्रग्स जैसे महत्वपूर्ण और जटिल उत्पादों के निर्माण में भी यह सक्षम है। उन्‍होंने कहा कि हमने कोरोना टीके के साथ काम करना शुरू किया। उन्‍होंने बताया कि ट्रायल में स्वयंसेवकों के दूसरे समूह को 20 जुलाई को छुट्टी दी जाएगी।

अमेरिका की मॉडर्ना ने भी किया ऐलान

एक अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना का दावा है कि वह जल्‍द ही वह कोरोना वैक्‍सीन का निर्माण कर लेगी। मॉडर्ना का कहना है कि इस वैक्सीन की वजह से किसी व्यक्ति में कोरोना संक्रमण नहीं हो सकता, क्योंकि इसमें कोरोना वायरस मौजूद नहीं होता। 18 मई को मॉडर्ना ने ऐलान किया था कि फेज-1 ट्रायल में इसके परिणाम सकारात्मक आए हैं। mRNA-1273 वैक्सीन को अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ और मॉडर्ना कंपनी ने तैयार किया गया है। मॉडर्ना ने अपनी वैक्सीन को लेकर यह भी कहा था कि जुलाई में वैक्सीन की फेज-3 स्टडी शुरू हो जाएगी। तीसरे राउंड में 30 हजार लोगों को वैक्सीन की खुराक दिए जाने की योजना है।


3. यूएस नेवी की एयरविंग में पहली अश्‍वेत महिला पायलट बनकर मेडलिन स्‍वीगल ने रचा इतिहास

अमेरिकी नौसेना में अफ्रीकी मूल की लेफ्टिनेंट मेडलिन स्‍वीगल ने पहली अश्‍वेत महिला TACAIR पायलट बनकर इतिहास रच दिया है। ये पल न सिर्फ अमेरिका और वहां रहने वाले लाखों अश्‍वेत नागरिकों के लिए खुशी का पल है बल्कि अमेरिकी नौसेना के लिए भी बेहद गर्व का विषय है। मेडलिन के पहली अफ्रीकी मूल की अश्‍वेत महिला पायलट बनने की खबर इसलिए भी काफी खास है क्‍योंकि कुछ समय पहले तक अमेरिका में अश्‍वेत नागरिक जार्ज फ्लॉइड की कथित हत्‍या के खिलाफ कई राज्‍यों में जबरदस्‍त प्रदर्शन हुए थे। इसको लेकर अमेरिका के बाहर रह रहे लोगों ने भी पुलिस ज्‍यादतियों के खिलाफ प्रदर्शन किए थे, जिनमें कई श्‍वेत नागरिक भी शामिल रहे थे। इसकी वजह से अमेरिका की छवि को भी काफी धक्‍का लगा था। ऐसे में मे‍डलिन की उपलब्धि अपने आप में खास हो जाती है।

अमेरिकी नौसेना ने भी इसको बना MAKING HISTORY! कहा है। अमेरिकी नौसेना की तरफ से नेवल एयर ट्रेनिंग कमांड द्वारा किए गए एक ट्वीट में मेडलिन की इस उपलब्धि के बारे में जानकारी दी गई है। इसमें लिखा गया है कि ट्रेनिंग पूरी करने के बाद टेक्टिकल एयरक्राफ्ट (TACAIR) उड़ाने वाली पहली अश्‍वेत महिला पायलट बन गई हैं। इससे पहले गुरुवार को अमेरिकी नेवी ने भी इसको लेकर एक ट्वीट किया था। नेवल एयर ट्रेनिंग कमांड ने अपने ट्वीट में कहा है कि फ्लाइंग ऑफिसर मेडलिन ने विंग्‍स ऑफ गोल्‍ड हासिल किया है। अमेरिकी नौसेना की एयरविंग में ये पाने वाली वे पहली अश्‍वेत महिला हैं।

वर्जीनिया के बुर्के से ताल्‍लुक रखने वाली मेडलिन ने वर्ष 2017 में यूएस नेवल अकादमी से ग्रेजुएट की डिग्री हासिल की थी। अधिकारियों के मुताबिक उन्‍हें टेक्‍सास में रेडहॉक ट्रेनिंग स्‍वार्डन 21 की जिम्‍मेदारी दी गई है। आपको बता दें कि वर्ष 1974 में रोजमेरी मेरिनर अमेरिका की पहली ऐसी महिला थी जिन्‍होंने टेक्टिकल फाइटर जेट में उड़ान भरी थी। इसके 45 वर्ष बाद मेडलिन ने दोबारा इस क्षेत्र में इतिहास रचा है।


4. डोनाल्ड ट्रंप और जो बिडेन ने लुइसियाना से जीता प्राइमरी चुनाव

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन ने लुइसियाना से प्राइमरी का चुनाव जीत लिया है। इस सीट से प्राइमरी चुनाव पहले 2 बार स्थगित हो गया था। इस सीट पर रिपब्लिकन पार्टी के किसी अन्य उम्मीदवार से ट्रंप को कड़ी टक्कर नहीं मिली। वहीं बिडेन के सामने 13 अन्य डेमोक्रेट्स की चुनौती रही। हालांकि वे पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने के लिए अन्य राज्यों में पर्याप्त प्रतिनिधि जुटा चुके हैं। लुइसियाना देश की आखिरी प्रेसीडेंशियल प्राइमरी में से एक है। यहां पर सबसे पहले चार अप्रैल को चुनाव होना था, लेकिन कोरोनावायरस (Coronavirus) वैश्विक महामारी के कारण उसे टाल दिया गया।


5. हरियाणा में अब छात्राओं को ग्रेजुएशन डिग्री के साथ मिलेगा पासपोर्ट, सीएम खट्टर ने की घोषणा

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने घोषणा की है कि छात्राओं को उनकी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी होने पर पासपोर्ट प्रदान किया जाएगा और इसकी पूरी प्रक्रिया कॉलेज में ही पूरी होगी। शनिवार को करनाल में 100 छात्रों को लर्निंग लाइसेंस और फ्री हेलमेट प्रदान करने के लिए आयोजित कार्यक्रम "हर सर हेलमेट" के दौरान सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा, "राज्य सरकार ने फैसला किया है कि सभी छात्राओं को अपनी स्नातक की डिग्री के साथ अपने संस्थानों से पासपोर्ट प्राप्त करना चाहिए" उन्होंने यह भी कहा कि लर्निंग लाइसेंस उन्हें यातायात नियमों के बारे में जागरूक करने के लिए दिए जाएंगे।

इस अवसर पर, सीएम खट्टर ने कुछ छात्रों को हेलमेट भी वितरित किए और कहा कि "इस तरह का कार्यक्रम राजनीतिक विषय से अलग है और इसके दीर्घकालिक परिणाम होंगे।" उन्होंने आगे कहा कि हेलमेट पहनने से दुर्घटनाओं में मृत्यु की संख्या कम हो सकती है।

उन्होंने कहा, "देश में रोजाना लगभग 1,300 दुर्घटनाएं होती हैं। बिना हेलमेट के पीड़ितों में से अधिकांश की मौत उनकी चोटों के कारण होती है। सीएम ने बताया, "हरियाणा में दुर्घटनाओं में लगभग 13 लोग प्रतिदिन मरते हैं.अध्ययन से पता चलता है कि यदि कोई व्यक्ति हेलमेट पहने हुए वाहन चलाता है, तो दुर्घटना में जीवित रहने की संभावना 80 प्रतिशत है।"


6. उत्तर प्रदेश सरकार का फैसला, अब हर हफ्ते किया जाएगा 55 घंटे का लॉकडाउन

उत्तर प्रदेश कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए हर सप्ताहांत में 55 घंटों के लिए लॉकडाउन (Lockdown) लागू किया जाएगा। उत्तर प्रदेश के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी अवनीश दुबे ने NDTV को बताया कि कोरोना वायक से मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। जिसको देखते हुए यह फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार के सारे मुख्यालय और विधानसभा बंद रहते हैं। स्कूल-कॉलेज भी बंद रहते हैं लेकिन फिर भी सड़कों पर बड़ी तादात में लोग फालतू घूम रहे होते हैं। इनको रोकने के लिए यह आदेश दिया गया है। अविनाश दुबे ने कहा कि लोगों के बेवजह बाहर घूमने से भी कोरोना के मामलों में तेजी देखने को मिली है।

एडिशनल चीफ सेक्रेटरी उत्तर प्रदेश के अनुसार वीकेंड पर लॉकडाउन लागू करने से कोरोना की रोकथाम में भी मदद मिलेगी और आर्थिक गतिविधियों पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। क्योंकि लॉकडाउन खुलने के बाद एकाएक कोरोना के मामलों में तेजी देखने को मिली है। उन्होंने कहा कि यूपी में कोरोना का आंकड़ा 35 हजार को पार कर चुका है। सिर्फ शनिवार को एक दिन में 1403 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, आगरा, कानपुर और लखनऊ में ही कोरोना के एक हजार से ज्यादा मामले हैं।

अविनाश दुबे के अनुसार उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान कोरोना के मामलों में काफी कमी देखने को मिली थी। लेकिन इस दौरान लाखों प्रवासी वापस लौटे और फिर लॉकडाउन खुल गया। जिसकी वजह से इसकी तादात में खासी वृद्धि देखने को मिली है। उनके अनुसार ऐसी स्थिति में कोरोना पर काबू पाना में वीकेंड लॉकडाउन जैसा कदम कारगर साबित हो सकता है।


7. दलाई लामा के जीवन पर लिखी किताब 2020 में होगी रिलीज

दलाई लामा के जीवन पर लिखी गई ‘His Holiness the Fourteenth Dalai Lama: An Illustrated Biography’ शीर्षक पुस्तक का विमोचन 2020 में किया जाएगा।

इस पुस्तक को रोली बुक्स द्वारा प्रकाशित किया गया है।

यह पुस्तक दलाई लामा के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक माने जाने वाले और 40 से अधिक वर्षों सलाहकार रहे लेखक तेनजिन गेये टेथॉन्ग (Tenzin Geyche Tethong) द्वारा लिखी गई हैं।

यह बायोग्राफी 14 वें दलाई लामा, तेनजिन ग्यात्सो की यादगार यात्रा का वृतांत है।


8. मणिपुर के ज्ञानेंद्रो निगोमबाम बनाए गए हॉकी इंडिया के नए अध्यक्ष

मणिपुर के ज्ञानेंद्रो निगोमबाम को हॉकी इंडिया का नया कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। वह वर्तमान अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद का स्थान लेंगे।

यह फैसला मोहम्मद मुश्ताक अहमद के 7 जुलाई को हॉकी इंडिया को मिले इस्तीफा के बाद किया गया है, जिसमें उन्होंने इस्तीफे की वजह निजी और पारवारिक कारण को बताया था।

हॉकी इंडिया की स्थापना: 20 मई 2009

हॉकी इंडिया मुख्यालय: नई दिल्ली


9. फ्लिपकार्ट ने कला, शिल्प और हथकरघा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कर्नाटक सरकार के साथ किया समझौता

फ्लिपकार्ट ने कर्नाटक के कला, शिल्प और हथकरघा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कर्नाटक सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) और खनन विभाग के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

यह MoU कर्नाटक के कर्नाटक हथकरघा विकास निगम के कावेरी और प्रियदर्शनी हथकरघा जैसे ब्रांडों को ब्रांडों फ्लिपकार्ट समर्थ कार्यक्रम के साथ जोड़ेगा।

फ्लिपकार्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ): कल्याण कृष्णमूर्ति

मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ): श्रीराम वेंकटरमन

प्रधान कार्यालय: बेंगलुरु, कर्नाटक

कर्नाटक के मुख्यमंत्री: बी.एस. येदियुरप्पा

कर्नाटक के राज्यपाल: वजुभाई रुदाभाई वाला

कर्नाटक की राजधानी: बेंगलुरु


10. हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर ने लॉन्च किया 'हर सर हेलमेट' कैंपेन

हरियाणा (Haryana) के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने शनिवार को करनाल में 'हर सर हेलमेट' कैंपेन लॉन्च किया। इस दौरान कई युवाओं को हेलमेट भी बांटे गए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा, 'छात्रों को कॉलेज में ग्रेजुएशन के दौरान 18 साल की उम्र पर लर्निंग लाइसेंस मिलेगा। इस दौरान उन्हें रोड सेफ्टी और नियमों की बेसिक ट्रेनिंग भी दी जाएगी। हेलमेट पहनना बहुत जरूरी है।'

बता दें कि सावन माह के प्रथम दिन हरियाणा मंत्रिमंडल की हुई बैठक में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने अपनी पार्टी का वादा निभाते हुए प्राइवेट नौकरियों में 75 प्रतिशत हरियाणा के युवाओं को भर्ती करने के अध्यादेश का प्रारूप रखा। हरियाणा सचिवालय में हुई राज्य सरकार की कैबिनेट बैठक में अध्यादेश का प्रारूप पारित हो गया। आगामी कैबिनेट बैठक से अध्यादेश को मंजूरी मिलते ही निजी क्षेत्र में हरियाणा के युवाओं के लिए 75 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान लागू हो जाएगा। चुनाव से पहले जननायक जनता पार्टी ने प्रदेश के युवाओं से यह वादा किया था।

गौरतलब है कि हरियाणा स्टेट एम्प्लॉयमेंट टू लोकल कैंडिडेट्स एक्ट-2020 प्रदेश के सभी निजी उद्योग, फर्म अथवा हर रोजगार प्रदाता पर लागू होगा, जहां 10 से अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं। यह नियम पहले से कार्यरत कर्मचारियों पर लागू न होकर अध्यादेश के नोटिफिकेशन जारी होने की तिथि के बाद निजी क्षेत्र में होने वाली भर्तियों पर लागू होगा। निजी क्षेत्र के उद्योगों में हरियाणा के युवाओं को आरक्षण का लाभ लेने के लिए उनके पास हरियाणा का स्थाई निवासी प्रमाणपत्र होना अनिवार्य है।


11. भारत में कोरोना के बीते 24 घंटे में आए सबसे ज्यादा 28,637 नए मामले, 551 लोगों की हुई मौत

तमाम कोशिशों के बीच देश में कोराना वायरस (Coronavirus in India) का प्रकोप कम होता दिखाई नहीं दे रहा है। रविवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में एक बार फिर सर्वाधिक 28,637 नए Covid-19 के मामले सामने आए हैं। जिसके बाद अब कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8,49,553 पर पहुंच चुकी है। वहीं बात करें मृतकों की संख्या की तो आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में 551 लोगों की मौत हुई है। जिसके बाद अब तक कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 22,674 हो गई है। हालांकि इस खतरनाक वायरस को मात देने में 5,34,621 लोगों ने कामयाबी पाई है। जोकि ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। रिकवरी रेट में भी मामूली बढ़त देखने को मिली है जोकि बढ़कर 62.92 फीसदी पर पहुंच गया है। इसके अलावा पॉजिटिविटी रेट 10.22 फीसदी पर आ गया है।

अगर राज्यवार आंकड़ों की बात करें तो महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कोरोना मामलों के साथ शीर्ष पर बना हुआ है। पिछले 24 घंटों में महाराष्ट्र में 8139, तमिलनाडु में 3965, कर्नाटक में 2798, आंध्र प्रदेश में 1813 और दिल्ली में 1781 मामले सामने आए हैं। वहीं पिछले 24 घंटों में महाराष्ट्र में 223 लोगों की मौत हुई है, जबकि कर्नाटक में 70, तमिलनाडु में 69, दिल्ली में 34 और पश्चिम बंगाल में 26 नए मामले सामने आए हैं।

12. COVID-19 प्रभाव: 180 ट्रेनी केबिन क्रू सदस्यों को नौकरी नहीं देगी एयर इंडिया

कोविड-19 महामारी की वजह से देश के विमानन क्षेत्र में छाई सुस्ती के बीच राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया ने 180 प्रशिक्षु केबिन क्रू सदस्यों से नौकरी की पेशकश वापस ले ली है। एयरलाइन के एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा, ‘‘एयर इंडिया ने 180 प्रशिक्षुओं से नौकरी की पेशकश वापस ले ली है। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद इन्हें एयर इंडिया में नौकरी पर रखा जाना था।'' ऐसे ही एक प्रशिक्षु को छह जुलाई को भेजे पत्र में एयरलाइन ने कहा, ‘‘विमानन क्षेत्र की मौजूदा स्थिति को देखते हुए एयर इंडिया द्वारा आपकी सेवाएं लेने के लिए आगे और प्रशिक्षण देना संभव नहीं है।''

पत्र में कहा गया है कि उपरोक्त कारण, जो कंपनी के नियंत्रण से बाहर हैं, के मद्देनजर हमने आपका प्रशिक्षण बंद करने और आगे सेवाओं की पेशकश को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का फैसला किया है।‘‘ पत्र में कहा गया है कि प्रशिक्षुओं ने प्रशिक्षण शुरू होते समय जो बैंक गारंटी जमा कराई थी, उसे वापस किया जा रहा है। इस बारे में पूछे जाने पर एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि यह आंतरिक मामला है, जिसपर एयरलाइन टिप्पणी नहीं करेगी। कोरोना वायरस की वजह से देश और विदेश में यात्रा अंकुशों की वजह से विमानन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ है। देश में सभी एयरलाइन कंपनियों ने लागत कटौती के लिए कर्मचारियों के वेतन में कटौती और छंटनी जैसे कदम उठाए हैं।

देश में 25 मार्च को लॉकडाउन लगा था। घरेलू उड़ान सेवाएं दो माह बाद 25 मई से फिर शुरू हुईं। हालांकि, एयरलाइंस को अपनी कोविड पूर्व की क्षमता के 45 प्रतिशत पर परिचालन की अनुमति है। कुल सीटों की बुकिंग करीब 50-60 प्रतिशत है।


13. भारतीय सेना को मिलेंगी 72 हजार अमेरिकी असाल्ट राइफलें, मौजूदा हथियारों की जगह किया जाएगा इस्तेमाल

भारत-चीन तनाव के बीच रक्षा मंत्रालय अब अमेरिका से और 72 हजार सिग 716 असॉल्ट राइफलों का ऑर्डर देने जा रही है। यह दूसरे बैच की राइफलें होंगी, जो पहले ही उत्तरी कमान और अन्य ऑपरेशनल इलाकों में सैनिकों के इस्तेमाल के लिए सेना को पहुंचाई जा चुकी हैं।

रक्षा सूत्रों के अनुसार, भारतीय सेना के अधिकारी ने कहा कि हम सशस्त्र बलों को दी गई वित्तीय शक्तियों के तहत इनमें से 72 हजार से अधिक राइफलों के लिए ऑर्डर देने जा रहे हैं। भारतीय सेना को अपने आतंकवाद-रोधी अभियानों को बढ़ावा देने के लिए सिग सॉयर असॉल्ट राइफलों की पहली खेप मिली थी। भारत ने फास्ट ट्रैक खरीद के तहत राइफलों का प्राप्त किया था। नई राइफलों को मौजूदा भारतीय स्माल आ‌र्म्स सिस्टम (FTP) 5.56 गुणा 45 एमएम राइफलों की जगह इस्तेमाल किया जाएगा और स्थानीय रूप से आयुध कारखाना बोर्ड की ओर से निर्मित किया जाएगा।

भारतीय सेना के राइफलों की बदलने की हो रही थी कोशिश

भारतीय सेना की एक योजना के अनुसार, आतंकवाद निरोधी अभियानों और नियंत्रण रेखा पर तैनात सैनिकों के लिए लगभग 1.5 लाख आयातित राइफलों का उपयोग किया जाना था, शेष सेनाओं को एके-203 राइफलों के साथ प्रदान किया जाएगा। जो कि अमेठी आयुध कारखाने में भारत और रूस द्वारा संयुक्त रूप से उत्पादन किया जाएगा। भारतीय सेना कई वर्षो से अपने मानक इनसास असॉल्ट राइफलों को बदलने की कोशिश कर रही थी लेकिन यह प्रयास बार-बार विफल हो रहे थे। दूसरी ओर अभी हाल ही में रक्षा मंत्रालय ने इन राइफलों की कमी को दूर करने के लिए इजरायल से भी 16,000 लाइट मशीन गन का ऑर्डर दिया था।

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव की स्थिति है। चीनी सेना ने मई के पहले सप्ताह से बिना किसी उकसावे के अपने 20,000 से अधिक सैनिकों को वहां तैनात किया है। हालांकि, दोनों देशों की आपसी सहमति के बाद गलवन क्षेत्र से चीनी सैनिक तीन किलोमीटर पीछे हट गए हैं और भारतीय सेना भी उतनी ही पीछे हटी है।


14. ओडिशा के VSSUT ने सैनिटाइजेशन के लिए बनाया अल्ट्रावायलेट डिवाइस

ओडिशा में वीर सुरेंद्र साई प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (VSSUT) ने सैनिटाइजेशन के लिए एक रोबोट-सहायक उपकरण का निर्माण किया है, जो लघु-तरंग पराबैंगनी किरणों का उपयोग करेगा। उन्होंने कहा कि यह कोरोना वायरस के प्रकोप को फैलने से रोकने में एक सहायक उपकरण हो सकता है।

इसका निर्माण संबलपुर जिले के बुरला में स्थित VSSUT के रोबोटिक्स क्लब द्वारा किया गया है। युनिवर्सिटी के पब्लिक रिलेशन के प्रोफेसर इनचार्ज, प्रकाश चंद्र स्वैन ने कहा कि यह पराबैंगनी कीटाणुशोधन स्वच्छता बनाए रखने में उपयोगी हो सकती है। उन्होंने कहा कि रोबोट की मदद से यह डिवाइस शॉर्ट-वेव अल्ट्रवयलेट लाइट का उपयोग करके सतहों को निष्फल कर सकता है।

उन्होंने कहा, "यूवीआरएएस अस्पताल के कमरे, डॉक्टरों के चैंबर, ऑपरेशन थिएटर, गेस्ट रूम, रेस्तरां और मीटिंग स्पेस जैसे कीटाणुरहित क्षेत्रों में पराबैंगनी प्रकाश का उत्सर्जन करता है।" उन्होंने आगे कहा, "इस उपकरण में एक कैमरा है जो उस क्षेत्र का वास्तविक समय का वीडियो देता है जहां इसे सैनिटेशन के लिए लगाया जाएगा।

स्वैन ने कहा, "उपकरण हमारी समस्या का एक सही समाधान प्रदान करता है। पराबैंगनी प्रकाश रोगजनकों को लक्षित करता है और हवा कीटाणुरहित करने के लिए प्रभावी है। यह कुछ संक्रामक रोगों को फैलने से भी रोकता है।"

VSSUT के वाइस चांसलर अटल चौधरी के मार्गदर्शन में छात्रों ने एक स्वचालित हैंड सेनेटाइजर डिस्पेंसर भी तैयार किया है। यह संपर्क रहित और कम लागत वाला उपकरण भी है। प्रोफेसर ने कहा, "निकट भविष्य में, हमने लोगों और संगठनों को आपूर्ति करने के लिए इसके बड़े पैमाने पर उत्पादन किए जाने की योजना बनाई है।"

भारत में कोरोना के 8 लाख से ज्यादा मामले

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोरोना वायरस के अब तक कुल 8,49,553 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 2,92,258 एक्टिव केस हैं, 5,34,621 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। वहीं 22,674 लोगों की इससे मौत हो गई है। देश में एक दिन में COVID-19 के 28,637 नए मामले दर्ज किए गए हैं और 551 लोगों की मौत हो गई है।


15. World Simplicity Day 2020

World Simplicity Day 2020 आपदा के कारण जिंदगी की रफ्तार थमी तो ठहराव के दौर में इसे देखने का नजरिया भी बदलने लगा। क्या आपने गौर किया है कि सादा खानपान, रहनसहन जो पहले मुश्किल था, अब जाने-अनजाने में दिनचर्या का हिस्सा बनने लगा है। मुश्किल जिंदगी के बीच होने लगा है इसकी सादगी का भी एहसास।

हर साल 12 जुलाई को अमेरिका में ‘सादगी दिवस’ मनाया जाता है, जबकि भारतीय संस्कृति और समाज का यह सर्वोच्च मूल्य है। वे दिन खूब याद आ रहे हैं, जब सुबह से शाम तक काम और निजी जीवन के बीच संतुलन बनाने की होड़ मची रहती थी। ‘समय नहीं है’ का जुमला हर किसी की जुबान पर था। दुनियाभर में जीवन में ‘स्लोडाउन’ पर बात हुई। यानी भागमभाग वाली दिनच र्या को थोड़ा धीमा करना सीख जाएं तो आसान हो सकती है जिंदगी। हम थोड़ा ठहरे, तब जाना कि इसकी जटिलताएं तो हमने ही पैदा की हैं, जिंदगी खुद में कितनी सरल और सादी है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर स्वाति वर्णवाल कहती हैं, ‘जो बात हमें सालों से समझ में नहीं आ रही थी, उसे इस मुश्किल समय ने एक झटके में समझा दिया है।’ उनके मुताबिक, ऐसा लग रहा है, जैसे जिंदगी ‘बैक गियर’ में बहुत पीछे चली गई है, जब आधुनिक युग का ऐसा दबाव नहीं था और न ही ख्वाहिशों का बोझ था। इतनी ही सरल होनी चाहिए जिंदगी, जहां रोजाना आने वाली तमाम कठिनाइयों के बावजूद हम इनसे सब्र से निपटने का हौसला भी रख सकें। याद कीजिए, पिछली बार हमने कब झरोखे पर बैठने का सुख पाया। कब बारिश के बाद सोंधी मिट्टी की खुशबू को जरा रुककर महसूस किया। काढ़ा पीते हुए जिंदगी की ऐसी सादगी का एहसास इससे पहले कब हुआ?

सादगी दिवस 12 जुलाई: अमेरिका के मशहूर लेखक, कवि, पर्यावरणविद, इतिहासकार और दर्शनशास्त्री हेनरी डेविड थोरी के जन्मदिन (12 जुलाई, 1817) को ‘सिंप्लीसिटी डे’ यानी सादगी दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने दुनिया को ‘सादा जीवन’ जीने का संदेश दिया था और सभी समस्याओं का हल इसे बताया।

22 views

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved