Search

12th January | Current Affairs | MB Books


1. जापान ने भारत के COVID राहत प्रयासों के लिए 2,113 करोड़ रु का ऋण देने की घोषणा की

जापान सरकार ने भारत को 30 बिलियन जापानी येन (लगभग 2113 करोड़ रुपये) का विकास सहायता ऋण देने की घोषणा की है।

इस कार्यक्रम के ऋण का उद्देश्य COVID-19 महामारी के गंभीर प्रभावों के खिलाफ पूरे देश में गरीब और कमजोर लोगों को समन्वित और पर्याप्त सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के भारत के प्रयासों में सहयोग करना है।

भारत और जापान का 1958 से द्विपक्षीय विकास सहयोग का एक लंबा और लाभदायक इतिहास रहा है।

पिछले कुछ वर्षों में, भारत और जापान के बीच आर्थिक सहयोग एक रणनीतिक साझेदारी में मजबूत और विकसित हुआ है।


2. 12 जनवरी : राष्ट्रीय युवा दिवस

प्रतिवर्ष 12 जनवरी को समाज सुधारक, विचारक व यूथ आइकॉन स्वामी विवेकानंद के जन्म दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य स्वामी विवेकानंद के महान विचारों के प्रति जागरूकता फैलाना है। वे देश के युवाओं के लिए एक महान प्रेरणास्त्रोत हैं।

1984 में भारत सरकार ने 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस घोषित किया था। तत्पश्चात 1985 से प्रतिवर्ष 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। इस दिवस के अवसर पर देश भर में सेमिनार, भाषण, युवा वार्ता, योगासन, निबंध लेखन प्रतियोगिता इत्यादि विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाता है।

स्वामी विवेकानंद के बारे में रोचक तथ्य

स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 को बंगाल प्रेसीडेंसी के कलकत्ता में हुआ था।

उनका मूल नाम नरेन्द्रनाथ दत्त था।

वे 19वीं शताब्दी के प्रसिद्ध संत रामकृष्ण परमहंस के शिष्य थे।

उन्हें भारत में हिन्दू धर्म के पुनर्जागरण व राष्ट्रवाद का प्रणेता माना जाता है।

उन्होंने 1893 में अमेरिका के शिकागो में विश्व धर्म संसद में ऐतिहासिक भाषण दिया था और विश्व से हिन्दू धर्म का परिचय करवाया था।

स्वामी विवेकानंद को उनके प्राचीन हिन्दू दर्शन के ज्ञान, अकाट्य तर्क तथा वैज्ञानिक दृष्टिकोण के समायोजन के लिए जाना जाता है।

स्वामी विवेकानंद का निधन 4 जुलाई, 1902 को हुआ था।

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा दिसम्बर, 1999 में की गयी थी। इसके लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 54/120 प्रस्ताव पारित किया था। पहली बार 12 अगस्त, 2000 को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया था। इसके लिए 8-12 अगस्त, 1998 में पुर्तगाल के लिस्बन में आयोजित World Conference of Ministers Responsible for Youth द्वारा सिफारिश की गयी थी।


3. टेकऑफ के बाद समुद्र में गिरा इंडोनेशियाई श्रीविजय यात्री विमान

इंडोनेशिया के जकार्ता से 62 लोगों को लेकर जा रहा यात्री विमान श्रीविजय एयर उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही समुद्र में क्रेश हो गया।

बोइंग 737-500 अनुमानित रूप से इंडोनेशिया के बोर्नियो द्वीप पर पश्चिम कालीमंतन प्रांत की राजधानी जकार्ता से पोंटियानक तक 90 मिनट की उड़ान पर था।

पश्चिमी कालीमंतन प्रांत में पोंटियनक की यात्रा के चार मिनट बाद श्रीविजय एयर राडार से गायब हो गई।

इसे एक मिनट से भी कम समय में 3,000 मीटर (10,000 फीट) से अधिक गिरा हुआ माना जा रहा है।


4. विरासत संरक्षण समिति ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को मंजूरी दी

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है जो राष्ट्रपति भवन और इंडिया गेट के बीच तीन किलो मीटर की दूरी को कवर करता है। इसके बाद, विरासत संरक्षण समिति ने भी नए संसद के निर्माण को मंजूरी दी है।

विरासत संरक्षण समिति (Heritage Conservation Committee)

विरासत संरक्षण समिति की स्थापना शहरी मामले के मंत्रालय के अपर सचि की अध्यक्षता में दिल्ली बिल्डिंग बायलॉज, 1983 में धरोहर इमारतों की सुरक्षा के लिए की गई है। केवल दिल्ली और उसके आसपास की इमारतें ही इन कानूनों द्वारा शासित हैं। इसी तरह की संरक्षण समितियाँ राज्य स्तर पर भी स्थापित की जाती हैं।

विरासत संरक्षण समिति द्वारा दी जाने वाली ग्रेडिंग

विरासत संरक्षण समिति तीन ग्रेड प्रदान करती है। वे इस प्रकार हैं:

ग्रेड I : ग्रेड I के तहत आने वाली इमारतों में ऐतिहासिक महत्व की इमारतें शामिल हैं। जब तक यह इमारत के जीवन को मजबूत करने के हित में आवश्यक नहीं है, तब तक किसी भी हस्तक्षेप को धरोहर इमारतों के आंतरिक या बाहरी हिस्से पर अनुमति नहीं दी जाती है।

ग्रेड II: इन इमारतों में क्षेत्रीय या स्थानीय महत्व की वास्तुशिल्प या ऐतिहासिक महत्व शामिल हैं। इन इमारतों में आंतरिक परिवर्तन की अनुमति है।

ग्रेड III: इसमें ऐसी इमारतें शामिल हैं जो स्थापत्य या समाजशास्त्रीय हित से सम्बंधित हैं।

अधिसूचित विरासत भवन

इस सूची में 886 इमारतें अधिसूचित हैं। यह सूची राष्ट्रीय विकास प्रबंधन समिति, दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा तैयार की जाती है।


5. हर्षवर्धन ने तटीय अनुसंधान पोत 'सागर अन्वेशिका' का किया जलावतरण

केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन ने चेन्नई बंदरगाह पर तटीय अनुसंधान वाहन (Coastal Research Vehicle) "सागर अन्वेषिका" का जलावतरण किया है।

इस वाहन का उपयोग तटीय और अपतटीय जल दोनों में पर्यावरण अनुक्रमण और बाथिमेट्रिक (पानी के नीचे की सुविधाओं को मैप करने) के लिए किया जाएगा।

इसका उपयोग राष्ट्रीय महासागर प्रौद्योगिकी संस्थान (NIOT) के अनुसंधान उद्देश्यों के लिए किया जाएगा और इसका निर्माण टीटागढ़ वैगन्स, कोलकाता, पश्चिम बंगाल द्वारा किया गया है।

NIOT के पहले से ही 6 रिसर्च वेसेल्स हैं - सागर कन्या, सागर सम्पदा, सागर निधि, सागर मानुष, और सागर तारा.


6. इसरो 100 अटल टिंकरिंग लैब्स को अडॉप्ट करेगा

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने हाल ही में घोषणा की कि वह देश भर में 100 अटल टिंकरिंग लैब्स को अडॉप्ट करेगा।

मुख्य बिंदु

100 अटल टिंकरिंग लैब्स को अपनाकर, इसरो अत्याधुनिक तकनीकों में छात्रों को मेंटरिंग और कोचिंग की सुविधा प्रदान करेगा। इसमें अंतरिक्ष से जुड़ी तकनीकें भी शामिल हैं।

इस पहल के द्वारा इसरो छात्रों के बीच वैज्ञानिक स्वभाव को बढ़ावा देगा और उन्हें अंतरिक्ष से संबंधित प्रौद्योगिकियों के लिए प्रोत्साहित करेगा। छात्रों को कार्यक्रम के माध्यम से STEM का व्यावहारिक और अनुप्रयोग-आधारित ज्ञान प्राप्त होगा।

भारत में अटल टिंकरिंग लैब्स

भारत में सात हजार से अधिक अटल टिंकरिंग लैब्स हैं। यह तीन मिलियन से अधिक छात्रों को समस्या हल करने और नवाचार करने में मदद करता है। अटल टिंकरिंग लैब्स की स्थापना नीति आयोग द्वारा की जाती है। अटल टिंकरिंग लैब्स की स्थापना ‘अटल इनोवेशन मिशन’ कार्यक्रम के तहत की गयी है।

अटल इनोवेशन मिशन

देश में उद्यमिता और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए अटल इनोवेशन मिशन को लांच किया गया था। स्वरोजगार को बढ़ावा देना और नवाचार के माध्यम से उद्यमशीलता को बढ़ावा देना इसका मुख्य कार्य है।

अटल इनोवेशन मिशन की प्रमुख पहलें

अटल न्यू इंडिया से उत्पाद नवोन्मेष को बढ़ावा मिलेगा।यह उन्हें विभिन्न मंत्रालयों की जरूरतों के लिए संरेखित करता है।

अटल इन्क्यूबेशन सेंटर विश्व स्तर के स्टार्टअप को बढ़ावा देते हैं और यह इनक्यूबेटर मॉडल में एक नया आयाम जोड़ेंगे।

मेंटर इंडिया अभियान एक राष्ट्रीय मेंटर नेटवर्क है जो अटल इनोवेशन मिशन की सभी पहलों का समर्थन करने के लिए कॉर्पोरेट और सार्वजनिक क्षेत्रों के सहयोग से शुरू किया गया है।

ARISE का अर्थ Atal Research and Innovation for Small Enterprises है। यह एमएसएमई उद्योग में अनुसंधान और नवाचार को प्रोत्साहित करता है।


7. IREDA-NHPC ने ग्रीन एनर्जी परियोजना के लिए मिलाया हाथ

एनएचपीसी लिमिटेड ने अगले 5 वर्षों में अक्षय ऊर्जा (renewable energy) परियोजनाओं की स्थापना में सहायता प्रदान करने के लिए भारतीय अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (Indian Renewable Energy Development Agency) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

समझौते पर हस्ताक्षर NHPC के CMD अभय कुमार सिंह और IREDA के CMD प्रदीप कुमार दास की उपस्थिति में किए गए।

NHPC जानकारी और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण में मदद करेगा और परामर्श और अनुसंधान सेवाएं प्रदान करेगा।

एनएचपीसी ने देश के नवीकरणीय ऊर्जा परिदृश्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालने के लिए एक महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है।

योजना के तहत, एनएचपीसी अगले 3 वर्षों में 7.5 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं का विकास करेगी।

एनएचपीसी ने पहले ही स्वामित्व के आधार पर 102.5 मेगावाट की एक अक्षय क्षमता का सफलतापूर्वक कमीशन कर लिया है और मध्यस्थ के आधार पर 2000 मेगावाट का अनुबंध किया है।


8. कमांडर अभिलाष टॉमी ने भारतीय नौसेना से सेवानिवृत्ति की घोषणा की

हाल ही में कमांडर अभिलाष टॉमी सुर्ख़ियों में रहे हैं। वे भारतीय नौसेना में कमांडर के पद पर तैनात हैं। उन्हें भारतीय नौसेन से सेवानिवृत्ति का निर्णय लिया है। उन्होंने 20 वर्षों तक भारतीय नौसेना को अपनी सेवाएं दी हैं। उन्होंने से समय से पहले सेवानिवृत्ति लेने की घोषणा की है, दरअसल वे गोल्डन ग्लोब रेस 2022 के लिए अपनी तैयारियों को पुख्ता करना चाहते हैं।

मुख्य बिंदु

गौरतलब है कि वे गोल्डन ग्लोब रेस 2018 में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे थे, इस समुद्री रेस में उनकी नौका दक्षिण हिन्द महासागर में दुर्घटनाग्रस्त हुई, इस दुर्घटना में वे काफी चोटिल हुए थे। उन्हें बचाने के लिए भारतीय नौसेना ने ‘ऑपरेशन रक्षम’ शुरू किया था। भारतीय नौसेना ने 24 सितम्बर को अभिलाष टोमी को सफलतापूर्वक बचा लिया था। 6 अक्टूबर, 2018 को उन्हें आईएनएस सतपुड़ा के द्वारा विशाखापत्तनम लाया गया था।

5 प्रमुख तथ्य

अभिलाष टॉमी का जन्म 5 फरवरी, 1979 को केरल के कोट्टायम जिले में हुआ था।

वे अकेले नौका पर पृथ्वी की समुद्री परिक्रमा करने वाले पहले भारतीय तथा दूसरे एशियाई व्यक्ति हैं। उन्होंने 1 नवम्बर, 2012 को अपनी यह यात्रा मुंबई से INVS म्हादेयी में शुरू की थी।

वर्ष 2013 में उन्हें उनकी परिक्रमा के लिए कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया था। कीर्ति चक्र शांति के समय दिया जाने वाला दूसरा सर्वोच्च वीरता पुरस्कार है।

वे कई अंतर्राष्ट्रीय इवेंट्स जैसे केप टाउन तो रिओ यॉट रेस, स्पेनिश कोपा देल रे तथा कोरिया कप में हिस्सा ले चुके हैं।

हाल ही में नाविका सागर परिक्रमा के द्वारा केवल महिला क्रू (वर्तिका जोशी, प्रतिभा जम्वाल, पी. स्वाती, ऐश्वर्या बोद्दपति तथा विजया देवी) ने पृथ्वी की समुद्री परिक्रमा की थी, इस महिला क्रू को अभिलाष टॉमी ने प्रशिक्षण प्रदान किया था।


9. डब्ल्यूटीओ में हुआ भारत की 7 वीं व्यापार नीति समीक्षा (TPR) का समापन

भारत की 7 वीं व्यापार नीति समीक्षा (Trade Policy Review) का दूसरा सत्र विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organization) में संपन्न हुआ। यह 7 वीं व्यापार नीति समीक्षा का अंतिम सत्र था।

व्यापार नीति की समीक्षा विश्व व्यापार संगठन के निगरानी समारोह के तहत एक महत्वपूर्ण तंत्र है।

इस व्यापार नीति की समीक्षा के दौरान, डब्ल्यूटीओ ने डब्ल्यूटीओ के नियमों का पालन करने और रचनात्मक प्रतिक्रिया प्रदान करने के उद्देश्य से सदस्य देशों की व्यापार और संबंधित नीतियों का आकंलन किया है।

7 वें TPR के भारतीय आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वाणिज्य सचिव अनूप वधावन ने किया।

वाणिज्य सचिव ने पहले टीपीआर सत्र के दौरान सदस्यों द्वारा पूछे गए सभी मुद्दों पर प्रतिक्रिया दी।

वाणिज्य सचिव ने सदस्यों से खाद्य सुरक्षा के लिए सार्वजनिक स्टॉक होल्डिंग (पीएसएच) का स्थायी समाधान प्रदान करने का भी आग्रह किया।

भारत समग्र घरेलू कारोबारी माहौल को सरल और कारगर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और इसका उद्देश्य विश्व बैंक की डूइंग बिजनेस रिपोर्ट में शीर्ष 50 में जगह बनाना है।

इससे पहले, भारत की आखिरी व्यापार नीति समीक्षा वर्ष 2015 में आयोजित की गई थी।


10. 6000 टेस्ट रन पूरे करने वाले ग्यारहवें भारतीय बल्लेबाज बने पुजारा

भारत के चेतेश्वर पुजारा टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे करने ग्यारहवें भारतीय और दुनिया के उनहत्तरवें बल्लेबाज बन गए हैं।

भारत के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज पुजारा को सिडनी टेस्ट शुरू होने से पहले 6000 टेस्ट रन पूरे करने के लिए 97 रन की जरूरत थी। भारत के पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे में मैन ऑफ द सीरीज रहे पुजारा इस बार अपनी जबरदस्त फॉर्म में नहीं दिखाई दे रहे थे और पहले दो टेस्ट की चार पारियों में 43, 0, 17, 3 रन ही बना पाए थे। पुजारा ने 2018-19 के पिछले दौरे में सिडनी के मैदान में भारत की पहली पारी में 193 रन बनाये थे और सिडनी का मैदान एक बार फिर पुजारा के लिए भाग्यशाली साबित हुआ।

पुजारा ने तीसरे टेस्ट की पहली पारी में 50 और दूसरी पारी में 77 रन बनाये और इसके साथ ही 80 टेस्टों में 6000 रन पूरे कर लिए। उनके अब 6030 रन हो गए हैं और उनके पास ब्रिस्बेन में होने वाले चौथे टेस्ट में गुंडप्पा विश्वनाथ (6080 रन) से आगे निकलने का पूरा मौका रहेगा।



  • Source of Internet

5 views0 comments

Recent Posts

See All