Search

11th February | Current Affairs | MB Books


1. 11 फरवरी : विज्ञान में महिलाओं व बालिकाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

प्रतिवर्ष को 11 फरवरी को विज्ञान में महिलाओं व बालिकाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day of Women and Girls in Science) मनाया जाता है। इस दिवस को संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिवर्ष 2015 से मनाया जा रहा है। इसका उद्देश्य विज्ञान व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका पर प्रकाश डालना है।

मुख्य बिंदु : इस दिवस को संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व भर में विज्ञान व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महिलाओं को बढ़ावा देने वाले संगठनों के साथ मिलकर मनाया जाता है।

Theme: Women Scientists at the forefront of the fight against COVID-19

महिलाओं व बालिकाओं को विज्ञान व प्रौद्योगिकी क्षेत्र में बढ़ावा देना अति आवश्यक है। वर्तमान में विश्व में महिलाओं अनुसंधानकर्ता केवल 30% है। STEM (Science, Technology, Engineering and Mathematics) क्षेत्र में महिलाओं की हिस्सेदारी पुरुषों की अपेक्षा कम है।


2. 11 फरवरी : विश्व यूनानी दिवस

विश्व यूनानी दिवस प्रतिवर्ष 11 फरवरी को मनाया जाता है, इसे यूनानी शोधकर्ता हकीम अजमल खान की जन्म वर्षगांठ के अवसर पर मनाया जाता है। वे एक यूनानी विशेषज्ञ थे। यूनानी दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में आयुष मंत्रालय द्वारा यूनानी औषधि पर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

यूनानी औषधि प्रणाली : यह एक किस्म की पर्शियन-अरबी पारंपरिक औषधि प्रणाली है। इसका उपयोग मुगलकालीन भारत में किया गया, इसके अतिरिक्त दक्षिण एशियाई तथा मध्य एशिया में भी यूनानी चिकित्सा पद्धति का उपयोग किया जाता है। इस चिकित्सा पद्धति का आरंभ यूनान में हुआ था। हिप्पोक्रेट्स को इस चिकित्सा पद्धति का जनक माना जाता है। भारत में इस चिकित्सा पद्धति की शुरुआत 13वीं शताब्दी में दिल्ली सल्तनत की स्थापना के साथ हुई थी।


3. राष्ट्रीय बागवानी मेला 2021 शुरू हुआ

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री, कैलाश चौधरी ने 08 फरवरी 2021 को बेंगलुरु में राष्ट्रीय बागवानी मेला (NHF) 2021 का उद्घाटन वर्चुअल मोड के माध्यम से किया है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हॉर्टिकल्चर रिसर्च (IIHR) द्वारा पांच दिवसीय इस कार्यक्रम का आयोजन 8 फरवरी से 12 फरवरी तक बेंगलुरु के हेसरघट्टा स्थित अपने IIHR कैंपस में किया गया है।

NHF 2021 का विषय है: ‘Horticulture for Start-Up and Stand-Up India’.

पहली बार, इस कार्यक्रम को हाइब्रिड मोड में आयोजित किया जा रहा है, अर्थात्, प्रतिभागियों को ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफ़लाइन भी कार्यक्रम में भाग लेने की अनुमति है।

NHF अत्याधुनिक तकनीकों, फसल किस्मों, कीट और रोग प्रबंधन अभ्यासों और प्रसंस्करण विधियों का प्रदर्शन करेगा। IIHR भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR) की एक सहायक कंपनी है।


4. भारत और अमेरिका ने हिन्द-प्रशांत विकास और क्वाड सहयोग की समीक्षा की

विदेश मंत्री एस. जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने हिन्द-प्रशांत विकास और क्वाड सहयोग की समीक्षा की। एक ट्वीट में, एस. जयशंकर ने कहा कि उन्होंने म्यांमार की स्थिति पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया। पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाईडेन के साथ टेलीफोन पर बातचीत के एक दिन बाद एस. जयशंकर और ब्लिंकन के बीच टेलीफोन पर बातचीत हुई। इस बातचीत के दौरान, दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय मुद्दों और चर्चा की।

क्वाड गठबंधन : इसे एशियाई नाटो के रूप में देखा जाता है। यह जापान, अमेरिका, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक अनौपचारिक रणनीतिक मंच है। यह अर्ध-नियमित शिखर सम्मेलन आयोजित करता है। यह 2007 में जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो आबे द्वारा शुरू किया गया था। यह संयुक्त सैन्य अभ्यास द्वारा समरूप था।

महत्व : इस समूह के सभी चार सदस्य देश इंडो-पैसिफिक क्षेत्र को मुक्त और समावेशी बनाने का लक्ष्य रखते हैं। यह समूह प्रसार और आतंकवाद जैसी आम चुनौतियों से निपटता है। इसके सदस्य उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों पर लगाम लगाने में सहयोग करते हैं।

क्वाड की आवश्यकता : भारत और भूटान जैसे अपने पड़ोसियों की सीमाओं के साथ चीन के आक्रामक कदमों ने क्वाड को चीनी चालों का मुकाबला करने के लिए मजबूर किया है। पूर्वी सागर और दक्षिण चीन सागर के क्षेत्र में व्यापार और नेविगेशन को लेकर चिंताएं जताई जा रही हैं।


5. पीएम मोदी ने किया विश्व सतत विकास शिखर सम्मेलन 2021 का उद्घाटन

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 फरवरी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विश्व सतत विकास शिखर सम्मेलन 2021 (World Sustainable Development Summit 2021) का उद्घाटन किया। विश्व सतत विकास शिखर सम्मेलन का आयोजन ‘Redefining Our Common Future: Safe and Secure Environment for All’ थीम के तहत किया जाएगा।

मुख्य बिंदु :

  • यह वर्ष शिखर सम्मेलन के 20वें संस्करण को चिह्नित करेगा।

  • यह 10 से 12 फरवरी के बीच में आयोजित किया जाएगा।

  • यह शिखर सम्मेलन ऊर्जा और संसाधन संस्थान (TERI) द्वारा आयोजित किया जाता है।

  • इस शिखर सम्मेलन का आयोजन जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ने के लिए सरकारों, शिक्षाविदों, व्यापारिक नेताओं, जलवायु वैज्ञानिकों, सिविल सोसाइटी और युवाओं को एक साथ लाने के उद्देश्य से किया जाएगा।

  • इस शिखर सम्मेलन में जलवायु वित्त, परिपत्र अर्थव्यवस्था, ऊर्जा और उद्योग संक्रमण, अनुकूलन और लचीलापन, प्रकृति आधारित समाधान, स्वच्छ महासागरों और वायु प्रदूषण इत्यादि विषयों पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

  • इस शिखर सम्मेलन के प्रमुख भागीदार नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, पर्यावरण मंत्रालय, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय हैं।

  • इस शिखर सम्मेलन में मालदीव के पीपल्स मजलिस के अध्यक्ष मोहम्मद नशीद, पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री जेम्स मारपे, संयुक्त राष्ट्र की उप-महासचिव अमीना जे मोहम्मद, गुयाना के राष्ट्रपति मोहम्मद इरफान अली और केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर शामिल होंगे।

विश्व सतत विकास शिखर सम्मेलन (WSDS) : यह वार्षिक प्रमुख कार्यक्रम है जो ऊर्जा और संसाधन संस्थान (TERI) द्वारा आयोजित किया जाता है। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन वैश्विक समुदाय को लाभ पहुंचाने के लिए दीर्घकालिक समाधान प्रदान करने के उद्देश्य से किया गया है। यह मानवता के भविष्य के मुद्दों का मुकाबला करने के लिए रचनात्मक कार्रवाई के लिए प्रयास शुरू करने के लिए एक मंच पर विभिन्न हितधारकों को इकट्ठा करने की कोशिश करता है। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन सतत विकास लक्ष्यों और पेरिस समझौते के अनुसार किया जाता है।

दिल्ली में सतत विकास शिखर सम्मेलन : ऊर्जा और संसाधन संस्थान प्रतिवर्ष 2001 से दिल्ली में सतत विकास शिखर सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। यह एक अंतरराष्ट्रीय प्लेटफार्म है जो सतत विकास के पहलुओं को कवर करने वाले ज्ञान के आदान-प्रदान की सुविधा प्रदान करता है।


6. तमिलनाडु में बनेगा राज्य का 5 वाँ बाघ अभयारण्य

केंद्र सरकार ने तमिलनाडु में पांचवें टाइगर रिजर्व के निर्माण के लिए अपनी मंजूरी दे दी है जो मेघमलाई और श्रीविल्लीपुथुर ग्रिजल्ड स्क्वैरेल वन्यजीव अभयारण्य के तहत बनेगा। यह भारत का 51 वां बाघ अभयारण्य होगा।

श्रीविल्लिपुथुर मेगामलाई टाइगर रिज़र्व तेनी, विरुधुनगर और मदुरई जिलों में फैले मेगामलाई वन्यजीव अभयारण्य और श्रीविल्लिपुथुर ग्रिज्ड स्क्विरल वन्यजीव अभयारण्य के जंगलों में फैलेगा।

100,000 हेक्टेयर क्षेत्र स्तनधारियों और पक्षियों की प्रजातियों और एक दर्जन से अधिक बाघों की श्रेणी का घर है। वन अधिकारियों ने दोनों वन्यजीव अभयारण्यों में नियमित रूप से 14 बाघों की पहचान की है।


7. सर्वोच्च न्यायालय ने INS विराट के विघटन पर रोक लगाईं

भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने आईएनएस विराट के विघटन पर रोक लगाई है। एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विराट, जिसने 30 साल से अधिक समय तक भारतीय नौसेना की सेवा की, को गुजरात के अलंग में विघटित किये जाने की योजना बनाई गयी थी। जहाज को तीन साल पहले डीकमीशन किया गया था।

दरअसल एक फर्म ने सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की है, इस फर्म ने आईएनएस विराट को एक समुद्री म्यूजियम में परिवर्तित करने के लिए आज्ञा मांगी है। इसके लिए फर्म ने 100 करोड़ रुपये अदा करने का प्रस्ताव रखा है। अब सर्वोच्च न्यायालय ने केद्र सरकार से उसकी राय मांगी है। इस

मुख्य बिंदु : आईएनएस विराट भारतीय नौसेना का सबसे लंबा सेवारत जहाज है। इसे 1987 में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था। इसे हाल ही में मेटल स्क्रैप कंपनी ने 38.54 करोड़ रुपये में खरीदा था। इस जहाज को मुंबई के नवल डॉकयार्ड से अलंग के शिप ब्रेकिंग यार्ड तक लाया जायेगा। जहाज को पूरी तरह से विघटित करने में नौ से बारह महीने लगेंगे।

आईएनएस विराट : इस जहाज ने 1959 और 1984 के बीच HMS हर्मीस के रूप में ब्रिटिश नौसेना की सेवा की। नवीनीकरण के बाद इसे भारतीय नौसेना में कमीशन किया गया। INS विराट एक सेंटोर-क्लास एयरक्राफ्ट कैरियर था। इसके अलावा, आईएनएस विक्रमादित्य को 2013 में कमीशन किए जाने से पहले यह भारतीय नौसेना का प्रमुख जहाज़ था। अब आईएनएस विक्रमादित्य भारतीय नौसेना का प्रमुख जहाज़ है।

भारत में एयरक्राफ्ट कैरियर : वर्तमान में, भारतीय नौसेना एक एयरक्राफ्ट कैरियर INS विक्रमादित्य का संचालन करती है। इसे रूस से खरीदा गया था। आईएनएस विक्रांत एक स्वदेशी विमानवाहक पोत है जो कोचीन शिपयार्ड में बनाया जा रहा है। INS विशाल प्रस्तावित दूसरा स्वदेशी विमानवाहक पोत है।

भारत सरकार ने हाल ही में एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ की तर्ज पर एक विमान वाहक का निर्माण करने के लिए यू.के. से संपर्क किया है।

आईएनएस विशाल : इसे आईएनएस विक्रांत के बाद बनाया जायेगा। 2015 में, रक्षा अधिग्रहण परिषद ने INS विशाल के प्रारंभिक निर्माण के लिए 30 करोड़ रुपये आवंटित किए।

INS विक्रमादित्य : इसने 1987 में सेवा में प्रवेश किया। इस एयरक्राफ्ट कैरिएर ने सोवियत नौसेना के साथ और बाद में 1996 तक रूसी नौसेना के साथ सेवा दी। यह मूल रूप से बाकू के रूप में बनाया गया था।


8. भारत और अफ़गानिस्तान ने लालंदर “शतूट” बांध के निर्माण के लिए किया समझौता

भारत और अफगानिस्तान ने अफगानिस्तान में काबुल नदी की एक सहायक नदी पर शतूट बांध (लालंदर बांध) के निर्माण के लिए वीडियो-टेलीकांफ्रेंसिंग (VTC) पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

लगभग 300 मिलियन डॉलर की लागत वाली यह परियोजना भारत और अफगानिस्तान के बीच न्यू डेवलपमेंट पार्टनरशिप का एक हिस्सा है।

भारतीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद अशरफ गनी की उपस्थिति में विदेश मंत्री डॉ. जयशंकर और अफगानिस्तान के विदेश मंत्री श्री हनीफ अतमार के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

लालंदर [शतूट] बांध, काबुल शहर की सुरक्षित पेयजल जरूरतों को पूरा करेगा, आस-पास के क्षेत्रों को सिंचाई का पानी प्रदान करेगा, मौजूदा सिंचाई और जल निकासी नेटवर्क का पुनर्वास करेगा, क्षेत्र में बाढ़ से बचाव और प्रबंधन के प्रयासों में मदद करेगा, और साथ ही क्षेत्र को बिजली भी प्रदान करेगा।

भारत - अफगानिस्तान मैत्री बांध [सलमा बांध] के बाद, जिसका उद्घाटन जून 2016 में किया गया था, यह अफगानिस्तान में भारत द्वारा बनाया जा रहा दूसरा बड़ा बांध है।


9. बाइडेन ने म्यांमार के सैन्य नेताओं पर लगाए नए प्रतिबंध, रोकेंगे 1 अरब डॉलर की राशि

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बुधवार को म्यांमार में तख्तापलट के जिम्मेदार सैन्य नेताओं पर तत्काल प्रतिबंध लगाने के एक कार्यकारी आदेश को मंजूरी दे दी है।

बाइडेन ने कहा कि आज मैंने एक नए कार्यकारी आदेश को मंजूरी दे दी है, जो हमें तख्तापलट करने वाले सैन्य नेताओं, उनके व्यावसायिक हितों, साथ ही परिवार के करीबी सदस्यों पर तुरंत प्रतिबंध को मंजूरी देने में सक्षम बनाता है और हम इस सप्ताह लक्ष्य के पहले दौर की पहचान करेंगे।

उन्होंने कहा कि अमेरिका की सरकार म्यांमार को दी जाने वाली 1 अरब डॉलर की राशि रोकने के लिए कदम उठा रही है।


10. दिल्ली कैबिनेट ने 'मुख्मंत्री विज्ञान प्रतिभा परिक्षा’ योजना को मंजूरी दी

दिल्ली कैबिनेट ने "मुख्यमंत्री विज्ञान प्रतिभा परीक्षा" को मंजूरी दे दी है, जिसमें दिल्ली के स्कूलों में कक्षा 9 के 1,000 मेधावी छात्रों को विज्ञान छात्रवृत्ति के रूप में 5,000 रुपये प्रदान किए जाएंगे। छात्रवृत्ति स्कूली स्तर पर माध्यमिक कक्षाओं में विज्ञान शिक्षा को बढ़ावा देगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी सरकार ने मेधावी और प्रतिभाशाली छात्रों को बढ़ावा देने के लिए यह महत्वपूर्ण कदम उठाया है। दिल्ली सरकार बच्चों के बीच उत्कृष्टता और वैज्ञानिक स्वभाव की खोज को बढ़ावा देना चाहती है।

विज्ञप्ति के अनुसार, दिल्ली के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र जिन्होंने कक्षा 8 में 60 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं, वे परीक्षा के लिए पात्र हैं। एससी, एसटी, पीएच या ओबीसी वर्ग से संबंधित छात्रों को 5 प्रतिशत तक छूट दी जाएगी।


11. Oscars 2021: ऑस्कर के लिए शॉर्टलिस्ट हुई लघु फिल्म बिट्टू

ऑस्कर (Oscars 2021) के लिए अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म की दौड़ से भारत की आधिकारिक प्रविष्टि 'जल्लीकट्टू' बाहर हो गयी है लेकिन अपनी लघु फिल्म 'बिट्टू' के साथ देश लघु फिल्म श्रेणी में अब भी मुकाबले में है। ऑस्‍कर अवॉर्ड 2021 के लिए दुनियाभर की फिल्‍मों के बीच कड़ी टक्‍कर चल रही है।

लाइव एक्‍शन शॉर्ट फिल्‍म कैटेगरी में फिल्‍म बिट्टू को शॉर्टलिस्‍ट किया गया है। फिल्‍म को टॉप 10 में जगह मिली है। वहीं, फीचर फिल्‍म फॉरेन लैंग्‍वेज कैटेगरी में भारत की आधिकारिक फिल्‍म जल्‍लीकट्टू को निराशा हाथ लगी है। लिजो जोस पेल्लीसेरी द्वारा निर्देशित मलयालम फिल्म 'जल्लीकट्टू' को मुकाबले के लिए 15 फिल्मों की अंतिम सूची में जगह नहीं मिली है।

जल्लीकट्टू: एक नजर में : इस श्रेणी में नामांकन के लिए 93 देशों की फिल्मों को योग्य पाया गया था। ‘जल्लीकट्टू’ हरीश की कहानी पर आधारित फिल्म है और इसमें एंटोनी वर्गीज, चेमबन विनोद जोस, साबूमन अब्दुसमद और सेंती बालचंद्रण ने भूमिका निभायी है।

टोरंटो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में 06 सितंबर 2019 को ‘जल्लीकट्टू’ का प्रदर्शन किया गया था और वहां लोगों ने इसकी जमकर सराहना की थी। करिश्मा देव दुबे के निर्देशन में बनी फिल्म ‘बिट्टू’ को ऑस्कर की ‘बेस्ट लाइव एक्शन शार्ट फिल्म’ श्रेणी की अंतिम सूची में जगह मिली है।

लघु फिल्म श्रेणी: एक नजर में : लघु फिल्म श्रेणी के लिए अंतिम सूची की 10 फिल्मों में बिट्टू के अलावा ‘डा येई’, ‘फिलिंग थ्रू’, ‘द ह्यूमन वॉइस’, ‘द किकस्लेड चोइर’, ‘द लेटर रूम’, ‘द प्रजेंट’, ‘टू डिस्टेंट स्ट्रेंजर्स’, ‘द वैन’ और ‘व्हाइट आई’ शामिल हैं।

बिट्टू की कहानी: एक नजर में : बिट्टू की कहानी सच्ची घटना पर आधारित है। इसमें दो लड़कियों के बीच दोस्ती को दिखाया गया है। एकेडमी अवार्ड के लिए अंतिम नामांकन की घोषणा 15 मार्च को की जाएगी। ‘जल्लीकट्टू’ के दौड़ से बाहर होने के साथ भारत के लिए इस श्रेणी में एक बार फिर रास्ता बंद हो गया है।

सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय फिल्म : भारत की तरफ से आखिरी बार आशुतोष गोवारीकर की ‘लगान’ ने साल 2001 में सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय फिल्म की श्रेणी में अंतिम पांच में जगह बनाई थी। उससे पहले भारत की दो फिल्में ‘मदर इंडिया’ (1958) और ‘सलाम बाम्बे’ (1989) आखिरी पांच फिल्मों की सूची तक पहुंची थीं।


12. कर्नाटक डिजिटल इकॉनमी मिशन कार्यालय का उद्घाटन, बढ़ायेगा राज्य में डिजिटल इकॉनमी का योगदान

कर्नाटक डिजिटल इकॉनमी मिशन - इस KDEM कार्यालय का उद्घाटन सकल राज्य घरेलू उत्पाद में डिजिटल इकॉनमी के योगदान को 30% तक बढ़ाने के उद्देश्य से किया गया है। इसके साथ ही, ‘बियॉन्ड बेंगलुरु’, जो इस लक्ष्य को प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करेगा, 09 फरवरी, 2021 को इसे भी लॉन्च किया गया था।

इस अवसर पर बोलते हुए, उप मुख्यमंत्री डॉ. सीएन अश्वत्थ नारायण ने यह कहा कि, कर्नाटक सरकार चाहती थी कि, KDEM उद्योग के अधिक अनुकूल हो। उन्होंने आगे यह भी कहा कि, इस बात को ध्यान में रखते हुए, इसने उद्योग संघों को 51% हिस्सेदारी की अनुमति दी है, जबकि अपने लिए 49% की अल्पसंख्यक हिस्सेदारी बरकरार रखी है।

डिजिटल इकॉनमी को मजबूत बनाने का लक्ष्य : राज्य की डिजिटल इकॉनमी को मजबूत करने के लिए, सरकार दूरदराज के हिस्सों तक कनेक्टिविटी में सुधार लाने, ग्रामीण-शहरी विभाजन को कम करने, आवश्यक बुनियादी ढांचे की स्थापना करने के माध्यम से 24/7 बिजली प्रदान करने पर अपना ध्यान केंद्रित करेगी।

कर्नाटक में KDEM: प्रमुख विशेषताएं :

• इसका उद्देश्य राज्य में IT/ ITeS क्षेत्र के लिए निवेश को आकर्षित करना और वर्ष, 2025 तक 10 लाख नौकरियां पैदा करना होगा। • IT के जिन पांच वर्टिकल पर ध्यान केंद्रित करके KDEM इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए काम करेगा वे हैं - सेवायें और उत्पाद; नवाचार और स्टार्टअप; प्रतिभा त्वरक; बियॉन्ड बेंगलुरु; इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिजाइन और मैन्युफैक्चरिंग। • IT निर्यात में 150 बिलियन डॉलर के लक्ष्य तक पहुंचने में और वर्ष, 2025 तक 300 बिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने में भी KDEM कर्नाटक सरकार की मदद करेगा।

GSDP में IT क्षेत्र का वर्तमान योगदान : वर्तमान में, GSDP में IT क्षेत्र का योगदान 25% है और अकेले बेंगलुरु में यह 98% है। इसे ध्यान में रखते हुए, अन्य क्षेत्रों में योगदान बढ़ाने के लिए, सरकार द्वारा ‘बियॉन्ड बेंगलुरु’ परियोजना शुरू की गई है।


13. ईशांत शर्मा 300 टेस्ट विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज बने

भारतीय तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा टेस्ट क्रिकेट में 300 विकेट लेने वाले देश के छठे भारतीय और तीसरे पेसर बने।

32 वर्षीय ईशांत को इस मुकाम पर पहुंचने में 98 मैच लगे, क्लब में अन्य भारतीय गेंदबाजों की तुलना में अधिक है। यह उपलब्धि ईशांत ने उस समय पायी, जब उन्होंने ओपनिंग टेस्ट के चौथे दिन इंग्लैंड की दूसरी पारी में डैन लॉरेंस को पगबाधा कर विकेट लिया।

अनिल कुंबले (619) और कपिल देव (434) के अलावा, रविचंद्रन अश्विन (इस खेल से पहले 377), हरभजन सिंह (417), और ज़हीर खान (311) इस मुकाम पर पहुँचने वाले देश के अन्य गेंदबाज हैं।


14. भारतीय सेना ने गुलमर्ग में 100 फुट ऊंचे राष्ट्रीय ध्वज की नींव रखी

भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के गुलमर्ग के प्रसिद्ध स्की-रिसॉर्ट में सबसे ऊंचे 'आइकोनिक नेशनल फ्लैग' की आधारशिला रखी है। झंडा 100 फीट ऊंचे पोल पर होगा, जो घाटी में सबसे ऊंचा तिरंगा है। सोलर इंडस्ट्री इंडिया के साथ मिलकर भारतीय सेना गुलमर्ग में 'आइकॉनिक नेशनल फ्लैग' स्थापित करेगी।

प्रतिष्ठित राष्ट्रीय ध्वज की आधारशिला डैगर डिवीजन जनरल ऑफिसर कमांडिंग (GoC) मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स ने बॉलीवुड अभिनेता-निर्माता अरबाज खान और अभिनेत्री विद्या बालन के साथ रखी।

यह प्रतिष्ठित भारतीय राष्ट्रीय ध्वज कई मायनों में पहला होगा। कश्मीर के बर्फ से ढके पहाड़ों के बीच यह स्थल एक अन्य पर्यटक आकर्षण बनने की उम्मीद है।




  • Source of Internet

11 views0 comments