Search

11th December | Current Affairs | MB Books


1. 11 दिसम्बर : अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस

प्रतिवर्ष 11 दिसम्बर को अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2003 में प्रस्ताव पारित करके की थी। इसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को पर्वत के संरक्षण के लिए प्रेरित करना तथा पर्वतों के महत्व को रेखांकित करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करना है।

मुख्य बिंदु

इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस की थीम “Mountain biodiversity” है। इस दिवस के लिए संयुक्त राष्ट्र खाद्य व कृषि संगठन द्वारा समन्वय किया जाता है। इस दिवस पर पर्वतों के महत्व को दर्शाने के लिए विभिन्न किस्म के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।

FAO के अनुसार पर्वत ताज़े पानी का एक महत्वपूर्ण स्त्रोत है, इनसे विश्व के कुल 60-80% ताज़े पानी की आपूर्ति होती है। यह जैव विविधता के लिए भी अति आवश्यक है। विश्व भर में पर्वतीय क्षेत्रों लगभग 1 अरब लोग निवास करते हैं। लगभग आधा अरब लोग जल, भोजन तथा स्वच्छ उर्जा के लिए पर्वतों पर निर्भर हैं। पिछले कुछ समय में जलवायु परिवर्तन, भू-क्षरण, अत्याधिक शोषण तथा प्राकृतिक आपदाओं के कारण पर्वतों को नुकसान हो रहा है।

खाद्य व कृषि संगठन (FAO)

यह एक संयुक्त राष्ट्र की संस्था है, यह संयुक्त राष्ट्र आर्थिक व सामजिक परिषद् के अधीन कार्य करती है। इसकी स्थापना 16 अक्टूबर, 1945 को की गयी थी। इसका मुख्यालय इटली के रोम में स्थित है। वर्तमान में इसके कुल 194 सदस्य हैं।


2. कुवैत अमीर ने शेख सबा अल-खालिद को फिर नियुक्त किया प्रधानमंत्री

कुवैत अमीर शेख नवाफ अल-अहमद अल-सबाह द्वारा पुनः शेख सबा अल-खालिद अल-सबाह को कुवैत का प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया है।

यह कदम शेख सबा द्वारा संसदीय चुनावों के बाद एक प्रक्रियात्मक प्रक्रिया के तहत अपनी सरकार का इस्तीफा सौंपने के दो दिन बाद आया है।

देश के सुलतान ने नई सरकार बनाने के लिए मौजूदा प्रधानमंत्री के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया।

शेख नवाफ जिन्होंने अपने भाई की मृत्यु के बाद सितंबर में खाड़ी देश का नेतृत्व संभाला था, उन्होंने शेख सबा से नए मंत्रिमंडल के सदस्यों को नामित करने के लिए भी कहा है।

नए मंत्रिमंडल को अमीर द्वारा अनुमोदित किया जाएगा।


3. 11 दिसंबर : यूनिसेफ दिवस

हर साल संयुक्त राष्ट्र द्वारा 11 दिसंबर को यूनिसेफ दिवस मनाया जाता है। यूनिसेफ दिवस 11 दिसंबर को मनाया जाता है क्योंकि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 11 दिसंबर 1946 को यूनिसेफ का गठन किया था। UNICEF का पूर्ण स्वरुप United Nations International Children Emergency Fund है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद बच्चों की स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण में सहायता, आपूर्ति और सुधार करने के लिए इसे शुरू किया गया था।

यूनिसेफ द्वारा तैयार की जाने वाली रिपोर्ट

यूनिसेफ स्टेट ऑफ वर्ल्ड चिल्ड्रन रिपोर्ट जारी करता है। स्टेट ऑफ द वर्ल्ड चिल्ड्रन रिपोर्ट, 2019 के अनुसार, पांच साल से कम उम्र के तीन बच्चों में से कम से कम एक का वजन अधिक या कम है। रिपोर्ट यह भी कहती है कि कम से कम दो में से एक बच्चा भूख से पीड़ित है। तीन मुख्य चिंताएं जो बच्चों के अस्तित्व और विकास को खतरे में डालती हैं, वे हंु कुपोषण, अधिक वजन और भूख।

यूनिसेफ

यूनिसेफ का गठन 11 दिसम्बर, 1946 को किया गया था। नौ देशों को छोड़कर 191 देशों में यूनिसेफ की उपस्थिति है। इसका मुख्यालय अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में मौजूद है। इसके सात देशों में क्षेत्रीय कार्यालय हैं जिनमें पनामा, स्विट्जरलैंड, थाईलैंड, केन्या, जॉर्डन, नेपाल और सेनेगल शामिल हैं। इनके अलावा, लगभग 36 विकसित राष्ट्रों में राष्ट्रीय समितियाँ हैं जिनका मुख्य कार्य सार्वजनिक क्षेत्र से धन जुटाना है क्योंकि यूनिसेफ पूरी तरह से स्वैच्छिक योगदान पर निर्भर है। इसका उद्देश्य बच्चों के जीवन को बचाना, उनके अधिकारों की रक्षा करना और उन्हें उनकी क्षमता को पूरा करने में मदद करना है। इसे 1965 में शांति के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। यूनिसेफ के कार्यों में बाल संरक्षण, बाल विकास और पोषण, शिक्षा, पोलियो उन्मूलन, प्रजनन और बाल स्वास्थ्य, आपातकालीन तैयारी और प्रतिक्रिया शामिल हैं।


4. जेना वोल्ड्रिज चुनी गई वर्ल्ड स्क्वैश फेडरेशन की नई अध्यक्ष

इंग्लैंड की जेना वोल्ड्रिज (Zena Wooldridge) को वर्ल्ड स्क्वैश फेडरेशन का अध्यक्ष चुना गया है।

वह 1967 में स्थापित फेडरेशन की 10 वीं WSF अध्यक्ष होंगी।

वह न्यूजीलैंड की सूसी सिमकोक (Susie Simcock) के बाद अध्यक्ष बनने वाली दूसरी महिला हैं।

वह फ्रांस से निवर्तमान अध्यक्ष जैक्स फोंटेन की जगह लेंगी।

इससे पहले वह 2013-2019 के दौरान यूरोपीय स्क्वैश फेडरेशन के अध्यक्ष के रूप में छह साल काम कर चुकी है।


5. एसोसिएशन ऑफ बुद्धिस्ट टूर ऑपरेटर्स (ABTO) के अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया गया

10 दिसंबर, 2020 को केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने नई दिल्ली में एसोसिएशन ऑफ बुद्धिस्ट टूर ऑपरेटर्स के इंटरनेशनल कन्वेंशन का उद्घाटन किया। यह सम्मेलन पर्यटन मंत्रालय की साझेदारी में आयोजित किया जा रहा है।

भारत के पर्यटन क्षेत्र में हालिया गतिविधियाँ

इस उद्घाटन समारोह के दौरान केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री ने निम्नलिखित घोषणाएं कीं :

स्वदेश दर्शन योजना और प्रसाद योजना देश में पर्यटन उद्योग को विकसित करने के लिए शुरू की गई है।

स्वदेश दर्शन योजना के तहत, बौद्ध स्थलों के विकास के लिए 350 करोड़ रुपये से अधिक की राशि मंजूर की गई है।

प्रसाद योजना के तहत 900 करोड़ रुपये से अधिक की राशि मंजूर की गई है।

वर्तमान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण अपनी स्मारकों की सूची को संशोधित कर रहा है और आने वाले दिनों में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अंतर्गत स्मारकों की संख्या में वृद्धि होगी।

पर्यटन मंत्रालय राष्ट्रीय एकता डेटाबेस के आतिथ्य उद्योग के तहत आवास इकाइयों को पंजीकृत करने की योजना बना रहा है, एक पोर्टल जो पर्यटन मंत्रालय के तहत संचालित होता है।अब तक डाक के तहत 32000 से अधिक आवास इकाइयाँ पंजीकृत हैं।

प्रसाद योजना

इस योजना को केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा 2014-15 में लांच किया गया था। इसका उद्देश्य धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थानों का विकास सतत, योजनाबद्ध तथा प्रमुखता से करना है। इस योजना के तहत धार्मिक पर्यटन स्थलों के सौंदर्यीकरण के लिए कार्य किया जायेगा।

उद्देश्य

धार्मिक पर्यटन स्थलों को बढ़ावा देकर रोज़गार सृजन में वृद्धि करना।

धार्मिक स्थलों में आधारभूत संरचना का विकास।

स्थानीय कला, संस्कृति, हस्तशिल्प तथा भोजन इत्यादि को बढ़ावा देना।

इस योजना के तहत निम्नलिखित आधारभूत सुविधाओं का विकास किया जायेगा :

सड़क, रेल, जल मार्ग, एटीएम तथा मनी एक्सचेंज इत्यादि।

पर्यावरण मैत्री यातायात मार्ग, रौशनी के लिए नवीकरणीय उर्जा के स्त्रोत का उपयोग, पेयजल, पार्किंग, शौचालय, वेटिंग रूम, फर्स्ट ऐड केंद्र, कैफ़े, वर्षा आश्रलय, इन्टरनेट सुविधा इत्यादि।


6. एनिका सोरेनस्टैम होंगी इंटरनेशनल गोल्फ फेडरेशन की नई अध्यक्ष

इंटरनेशनल गोल्फ फेडरेशन (IGF) ने एनिका सोरेनस्टैम (Annika Sorenstam) को नया अध्यक्ष चुना है, उनकी नियुक्ति 1 जनवरी, 2021 से प्रभावी होगी।

वह वर्तमान IGF अध्यक्ष पीटर डॉसन की जगह लेंगी, जो 10 साल तक संगठन का नेतृत्व और सेवा करने के बाद पद हट रहे है।

सोरेनस्टैम, एलपीजीए टूर की 72 बार विजेता और स्वीडन की पूर्व नंबर 1 खिलाड़ी है।


7. NASA के चंद्र अभियान के लिए चुने गए भारतवंशी अंतरिक्ष यात्री राजा चारी

नासा ने चंद्रमा पर इंसान को भेजने के अपने अभियान के लिए एक भारतीय-अमेरिकी सहित 18 अंतरिक्ष यात्रियों का चयन किया है। राजा जॉन वुरपुतूर चारी (43) ‘यूएस एयर फोर्स एकेडमी, एमआईटी’ और ‘यूएस नवल टेस्ट पायलट स्कूल’ से स्नातक हैं और इस सूची में वे भारतीय मूल के एकमात्र अंतरिक्ष यात्री हैं। नासा ने अपने चंद्र अभियान के लिए बुधवार को 18 अंतरिक्ष यात्रियों के नामों की घोषणा की। इनमें आधी संख्या महिलाओं की है। नासा इन्हें अपने ‘आर्टमिस’ चंद्र अभियान के लिए प्रशिक्षित करेगा। राजा जॉन वुरपुतूर चारी (43) ‘यूएस एयर फोर्स एकेडमी, एमआईटी’ और ‘यूएस नवल टेस्ट पायलट स्कूल’ से स्नातक हैं और इस सूची में वे भारतीय मूल के एकमात्र अंतरिक्ष यात्री हैं। नासा ने उन्हें 2017 ‘एस्ट्रोनॉट कैंडिडेट क्लास’ के लिए चुना। अगस्त 2017 में वह इसमें शामिल हुए थे और अपना शुरुआती प्रशिक्षण पूरा किया। अब वे अभियान के लिए पूरी तरह तैयार हैं। फ्लोरिडा में नासा के ‘केनेडी स्पेस सेंटर’ में उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने बुधवार को कहा, मेरे अमेरिकी साथियों मैं आपको भविष्य के वे नायक दे रहा हूं जो हमें चांद और उससे भी आगे ले जाएंगे : द आर्टमिस जेनरेशन। पेंस ने राष्ट्रीय अंतरिक्ष परिषद की बैठक में इन अंतरिक्ष यात्रियों के नामों की घोषणा करते हुए कहा, यह सोचना रोमांचकारी है कि चांद की सतह पर उतरने वाला अगला इंसान और पहली महिला उनमें से होगी जिनके नाम हमने यहां पढ़े हैं....। आर्टमिस जेनरेशन भविष्य के अभियान के नायकों का प्रतिनिधित्व करता है।नासा के इस अभियान के तहत 2024 में चांद की सतह पर पहली बार कोई महिला कदम रखेगी। चीफ एस्ट्रोनॉट पैट फोरेस्टर ने कहा, चांद की सतह पर चलना हमारे लिए किसी सपने के साकार होने जैसा होगा। अभियान में किसी भी तरह की भूमिका निभाना हमारे लिए गौरव की बात होगी।


8. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फोर्ब्स 2020 की सूची में हासिल किया 41 वां स्थान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फोर्ब्स द्वारा जारी की जाने वाली विश्व की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में 41 वां स्थान हासिल किया है।

यह दूसरा मौका है जब उन्हें इस सूची में रखा गया है, इससे 2019 में वह 34 वें स्थान पर रहीं थी। भारत की प्रमुख बिजनेसवुमन और बायोकॉन लिमिटेड की चेयरमैन किरण मजूमदार-शॉ ने भी इस सूची में 68 वें स्थान हासिल किया है।

इस सूची में सबसे लंबी छलांग संयुक्त राज्य अमेरिका की नई निर्वाचित उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस ने तीसरा और बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना वाजेद ने 39 वां स्थान हासिल करके लगाई है।


9. जो बिडेन और कमला हैरिस 2020 के 'पर्सन ऑफ द ईयर'

टाइम पत्रिका ने अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बिडेन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को 2020 का पर्सन ऑफ द ईयर चुना है।

पत्रिका ने चेंजिंग अमेरिका स्टोरी' कैप्शन के साथ बिडेन (78) और हैरिस (56) दोनों नेताओं की तस्वीर 'अपने कवर पेज पर छापी है।

टाइम के एडिटर-इन-चीफ एडवर्ड फेल्सन्थल ने कहा कि बिडन और हैरिस ने यह सम्मान इसलिए जीता, क्योंकि उन्होंने 'अमेरिकी कहानी को बदला। दोनों ने यह दिखाया कि सहानुभूति की ताकत विभाजन से कहीं अधिक होती है।

टाइम ने 2019 का पर्सन ऑफ द ईयर जलवायु परिवर्तन की एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग को चुना था।


10. बैंक ऑफ बड़ौदा ने महिलाओं के लिए शुरू की आत्मनिर्भर योजना

बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) ने हाल ही में अपने बड़ौदा गोल्ड लोन के तहत आत्मनिर्भर महिला योजना की शुरूआत की है।

इस योजना का उद्देश्य भारत की आत्मनिर्भर महिला को लक्षित करना है।

इस योजना के तहत, बैंक महिलाओं को 0.50 प्रतिशत की रियायत पर ऋण उपलब्ध कराएगा।

गोल्ड लोन स्कीम के तहत बैंक एग्री-गोल्ड लोन 0.25 प्रतिशत रियायत और रिटेल ऋण 0.50 प्रतिशत की रियायत पर देगा।

यह आत्मनिर्भर योजना विशेष रूप से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में मदद करने के लिए शुरू की गई है।

यह योजना बेंगलुरु की बीओबी शाखा राममूर्ति नगर में शुरू की गई और इसे देश के 18 क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाली 18 शाखाओं में शुरू करने की योजना है।


11. स्विगी 125 शहरों में करेगा PM स्वनिधि योजना का विस्तार

हाल ही में देश के अग्रणी फ़ूड एग्रीगेटर स्विगी ने देश के 125 शहरों में पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना (PM-SVANidhi) का विस्तार करने की घोषणा की है। इसके तहत स्विगी 125 शहरों के लगभग 36,000 स्ट्रीट वेंडर्स से भोजन की डिलीवर करेगा। इसमें देश के सभी प्रमुख शहर शामिल हैं।

स्विगी

स्विगी भारत में सबसे बड़ा और सबसे अधिक मूल्य का ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग प्लेटफॉर्म है। यह 2014 में स्थापित किया गया था। यह वर्तमान में सौ शहरों में चल रहा है। यह एक भारतीय कंपनी है जिसका मुख्यालय बैंगलोर में है।

पीएम स्वनिधि योजना

स्ट्रीट वेंडर्स को 10000 रुपये का ऋण मुहैया कराने के लिए आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत 2020 में यह योजना शुरू की गई थी। समय पर किस्त चुकाने वाले विक्रेताओं के लिए पूंजी राशि को 20000 रुपये तक बढ़ाया जायेगा। यह योजना मार्च 2022 तक संचालित की जाएगी।

महत्व

कोविड-19 के कारण लगाए गए लॉकडाउन ने कई दैनिक मजदूरी करने वालों की आजीविका को बाधित किया है। इनमें से स्ट्रीट वेंडर सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। स्ट्रीट वेंडर आमतौर पर छोटे पूंजी आधार के साथ काम करते हैं। और ये पूंजी उच्च ब्याज दर पर अनौपचारिक स्रोतों से प्राप्त की जाती हैं। लॉकडाउन ने उनकी बचत को समाप्त कर दिया और उनके व्यवसायों को प्रभावित किया। औपचारिक बैंकिंग के माध्यम से इन कामकाजी आबादी को ऋण उपलब्ध कराने की तत्काल आवश्यकता थी।

स्ट्रीट वेंडरों को अपने व्यवसाय को फिर से शुरू करने में मदद करने के लिए पीएम स्वनिधि योजना शुरू की गई।


12. सिंगापुर में आयोजित की जाएगी वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम 2021 की वार्षिक बैठक

विश्व आर्थिक मंच (World Economic Forum) ने अपनी वर्ष 2021 की वार्षिक बैठक सिंगापुर में आयोजित करने का फैसला किया है, पहले इसे ल्यूसर्न-बर्गेनस्टॉक, स्विट्जरलैंड में 13 से 16 मई 2021 के दौरान आयोजित करने के लिए निर्धारित किया गया था।

स्विट्जरलैंड से वार्षिक फोरम को स्थानांतरित करने का निर्णय यूरोप में बढ़ती कोविड -19 महामारी को देखते हुए लिया गया है।

वर्ष 1971 में हुई स्थापना के बाद से यह दूसरी मौका होगा जब फोरम को स्विट्जरलैंड के बाहर आयोजित किया जाएगा।

इससे पहले साल 2002 में, न्यूयॉर्क में 9/11 हमले के बाद अमेरिकी लोगों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए मंच का आयोजन किया गया था।

यह बैठक आम तौर पर स्विट्जरलैंड के दावोस में आयोजित की जाती है, लेकिन मौजूदा कोविड के चलते बैठक को पहली बार अक्टूबर 2020 में ल्यूसर्न-बर्गेनस्टॉक, स्विट्जरलैंड में स्थानांतरित कर दिया गया था।

13. बिहार में कोलीवार पुल का उद्घाटन किया गया

10 दिसंबर, 2020 को केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बिहार में सोन नदी के ऊपर कोलीवर पुल का उद्घाटन किया। इस पुल का निर्माण 256 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

पृष्ठभूमि

सड़क और रेल यातायात दोनों के लिए नदी पर मौजूदा दो लेन वाला पुल 138 साल पुराना है। नया पुल बाद में NH-30 और NH-922 पर यातायात को कम करने में मदद करेगा। यह उत्तर प्रदेश और बिहार के बीच प्रमुख लिंक हैं।

कोलीवार पुल

1862 और 1900 के बीच यह पुल भारत का सबसे लंबा पुल था। इसका उद्घाटन भारत के तत्कालीन वायसराय लॉर्ड एल्गिन ने किया था। इस पुल को अब्दुल बारी पुल भी कहा जाता है।

अब्दुल बारी

वह एक भारतीय शिक्षाविद और समाज सुधारक थे। वह भारत को सामाजिक असमानता, गुलामी और साम्प्रदायिक विद्वेष से मुक्त करना चाहते थे। उन्होंने 1921, 1922 और 1942 में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान बंगाल, बिहार और उड़ीसा राज्यों में श्रमिक वर्ग को एकजुट करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई थी। वे टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष भी थे।

सोन नदी

सोन नदी गंगा नदी की प्रमुख सहायक नदियों में से एक है। यह मध्य प्रदेश के अमरकंटक के पास से निकलती है। अमरकंटक एक तीर्थस्थल है और एक अद्वितीय प्राकृतिक विरासत क्षेत्र है और यह विंध्य और सतपुड़ा पर्वतमाला का मिलन बिंदु है। अमरकंटक नर्मदा और जोहिला नदी का प्रारंभिक बिंदु भी है।


14. मालदीव की जगह अब मेडागास्कर करेगा 2023 इंडियन ओसियन आइलैंड गेम्स की मेजबानी

मेडागास्कर को COVID-19 महामारी के चलते मालदीव में आयोजित होने वाले 2023 इंडियन ओसियन आइलैंड गेम्स की मेजबानी सौंपी गई है।

इस आयोजन का जिम्मा पिछले साल मालदीव को सौंपा गया था, लेकिन इंडियन ओसियन आइलैंड गेम्स महासंघ के सदस्यों ने इन खेलों को मेडागास्कर में ट्रासफर किए जाने के लिए मतदान किया।

यह निर्णय मालदीव में कोरोनोवायरस संकट के दौरान कार्यक्रम के आयोजन में सामने आ रही चुनौतियों के परिणामस्वरूप किया गया है।

मालदीव ने 2023 खेलों को 2025 तक स्थगित करने का अनुरोध किया था, लेकिन IOIGF ने मल्टी-स्पोर्ट इवेंट के संस्करणों के बीच छह साल का गैप होने बचने के लिए इससे इनकार कर दिया।


15. Walmart की 2027 तक भारत से 10 अरब डॉलर का निर्यात करने की योजना

वैश्विक खुदरा कंपनी वालमार्ट (Walmart) की योजना साल 2027 तक देश से अपना निर्यात तीन गुना बढ़ाकर प्रतिवर्ष 10 अरब डॉलर करने की है। कंपनी ने यह जानकारी 10 दिसंबर 2020 को दी। दिग्गज रिटेलर वालमार्ट ने भारत से होने वाले अपने निर्यात में अगले सात साल में तीन गुना बढ़ोतरी करने की घोषणा की है।

वालमार्ट ने भारत को वैश्विक बाजारों के लिए मैन्यूफैक्चरिंग हब के रूप में विकसित करने की सरकार की नीति के समर्थन में यह घोषणा की है। इस लक्ष्य को पाने में वालमार्ट भारतीय बाजार से उत्पादों की खरीद के कार्यक्रमों को भी गति देगी। निर्यात के संपूर्ण लक्ष्य की सोर्सिंग कंपनी घरेलू बाजार से ही करेगी।

सबसे अधिक फायदा भारतीय एमएसएमई

घरेलू स्तर पर सामान की खरीदारी से सबसे अधिक फायदा भारतीय एमएसएमई को होगा। सोर्सिंग के विस्तार कार्यक्रम के तहत खाद्य, फार्मास्यूटिकल्स, कंज्यूमर उत्पाद, स्वास्थ्य और वैलनेस जैसे सेक्टर में एमएसएमई स्तर के सैकड़ों नए सप्लायर जुड़ेंगे।

भारत से होने वाले निर्यात में तेजी

भारत से होने वाले अपने निर्यात में तेजी लाने के लिए वालमार्ट घरेलू स्तर पर सप्लाई चेन को और मजबूत बनाएगी। इसके लिए मौजूदा निर्यातकों को बढ़ावा देने के साथ निर्यात की क्षमता वाले नए व्यवसायों की मदद की जाएगी। कंपनी की इस प्रतिबद्धता से भारत में सूक्ष्म, लघु और मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) को बढ़ावा मिलेगा। कंपनी इसके लिए ‘फ्लिपकार्ट समर्थ’ और ‘वालमार्ट वृद्धि’ आपूर्तिकर्ता विकास कार्यक्रम के माध्यम से प्रयास करती रहेगी।

भारतीय उत्पादों की सोर्सिंग

वॉलमार्ट पिछले 20 वर्षो से अधिक समय से भारतीय उत्पादों की सोर्सिंग कर रही है। कंपनी की इस नीति से स्थानीय आपूर्तिकर्ताओं को अपने ऑपरेशन को अपग्रेड करने, अंतर्राष्ट्रीय मानकों को पूरा करने, नई उत्पाद लाइनों को विकसित करने और पैकेजिंग, मार्केटिंग, सप्लाई चेन मैनेजमेंट में नई क्षमताओं का निर्माण करने में सहायता मिली है। वालमार्ट इंक के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डग मैकमिलन ने कहा कि आने वाले वर्षो में भारत से होने वाले हमारे वार्षिक निर्यात में बढ़ोतरी से मेक इन इंडिया पहल मजबूत होगी।

भारत से उत्पादों की खरीद

वालमार्ट पूरी दुनिया के अपने ग्राहकों के लिए भारत से उत्पादों की खरीद कर रही है। इसके लिए कंपनी ने बैंगलुरू में साल 2002 में ग्लोबल सोर्सिंग ऑफिस स्थापित किया था। दुनिया भर में अब कंपनी के लिए भारत मुख्य सोर्सिंग बाजारों में से एक है। कंपनी अभी भारत से 3 अरब डॉलर मूल्य के भारतीय उत्पादों का सालाना निर्यात करती है। इनमें अपेरल, होमवेयर, ज्वैलरी, फार्मा, फूड और कई अन्य उत्पाद शामिल हैं जिन्हें अमेरिका, कनाडा, मैक्सिको, मध्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम समेत 14 विदेशी बाजारों में निर्यात किया जाता है।


8 views0 comments

MB Books Pvt. Ltd.

+91-9708316298

Timing:- 11:30 AM to 5:30 PM

Sunday Closed

mbbooks.in@gmail.com

Boring Road, Patna-01

Shop

Socials

Be The First To Know

  • YouTube
  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter

Sign up for our newsletter

© 2010-2020 MB Books all rights reserved