Search

11th & 12th April | Current Affairs | MB Books


1. बांग्लादेश में संस्कृत लर्निंग एप्प ‘Little Guru’ लांच किया गया

12 अप्रैल को भारत के उच्चायोग के इंदिरा गांधी सांस्कृतिक केंद्र (IGCC) ने बांग्लादेश में एक संस्कृत लर्निंग एप्प लॉन्च किया। यह संस्कृत लर्निंग एप्प भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (Indian Council of Cultural Relations – ICCR) द्वारा दुनिया भर के छात्रों, धार्मिक विद्वानों, वैज्ञानिकों और इतिहासकारों के बीच संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए चलाए जा रहे अभियान का हिस्सा है।

मुख्य बिंदु : संस्कृत लर्निंग एप्प ‘लिटिल गुरु’ (Little Guru) एक इंटरैक्टिव प्लेटफॉर्म पर आधारित है जो संस्कृत सीखने को आसान, मनोरंजक और मजेदार बना देगा। यह एप्प उन लोगों की मदद करेगा जो पहले से ही संस्कृत सीख रहे हैं या जो लोग संस्कृत सीखने के इच्छुक हैं। यह एप्प मनोरंजन के साथ शिक्षा को जोड़ती है।

ICCR को संस्कृत सीखने के इच्छुक लोगों से दुनिया भर से बड़ी संख्या में अनुरोध प्राप्त होते रहे हैं। बुद्ध, जैन और अन्य धार्मिक ग्रंथों में से कई संस्कृत में हैं। ऐसे देशों से संस्कृत भाषा सीखने में सहायता की बहुत माँग की जा रही है।

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (Indian Council of Cultural Relations – ICCR) :

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद भारत सरकार का एक स्वायत्त संगठन है, इसकी स्थापना 9 अप्रैल, 1950 को की गयी थी। इसकी स्थापना भारत के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद द्वारा की गयी थी। इस संगठन की स्थापना अन्य देशों के साथ सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए की गयी थी। वर्तमान में भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के अध्यक्ष विनय सहस्रबुद्धे हैं।


2. भारत-जापान ने शैक्षणिक और अनुसंधान सहयोग के लिए किया समझौता

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हाल ही में भारत और जापान के बीच एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए।

MoU को राष्ट्रीय वायुमंडलीय अनुसंधान प्रयोगशाला (NARL) के बीच हस्ताक्षरित किया गया था, जो अंतरिक्ष विभाग, भारत सरकार और रिसर्च इंस्टिट्यूट फॉर सस्टेनेबल ह्यूमनोस्फीयर के तहत संचालित होता है, जिसे RISH कहा जाता है, और इसका संचालन जापान के क्योटो विश्वविद्यालय के तहत किया जाता है।

MoU के अनुसार, NARL और RISH प्रौद्योगिकी, वायुमंडलीय विज्ञान, सहयोगी वैज्ञानिक प्रयोगों और अन्य संबंधित मॉडलिंग अध्ययन के क्षेत्रों में अपना सहयोग जारी रखेंगे।

वे वैज्ञानिक सामग्री, सूचना, प्रकाशन, छात्रों, संकाय सदस्यों और शोधकर्ताओं का आदान-प्रदान करेंगे।

समझौता ज्ञापन में जापान में मध्य और ऊपरी वायुमंडल राडार, मेसोस्फीयर-स्ट्रैटोस्फियर-ट्रोपोस्फीयर रडार, इंडोनेशिया में इक्वेटोरियल एटमॉस्फियर रडार जैसी सुविधाओं का उपयोग करने की अनुमति होगी।


3. 12 अप्रैल : मानव अंतरिक्ष उड़ान का अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day of Human Space Flight)

हर साल, मानव अन्तरिक्ष उड़ान का अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day of Human Space Flight) 12 अप्रैल को मनाया जाता है। यह दिन 1961 में यूरी गगारिन (Yuri Gagarin) की ऐतिहासिक अंतरिक्ष यात्रा की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है।

पृष्ठभूमि : संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) ने अप्रैल, 2011 में 12 अप्रैल को मानव अन्तरिक्ष उड़ान का अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया था। इसका उद्देश्य सतत विकास लक्ष्य को प्राप्त करने में अंतरिक्ष के योगदान की फिर से पुष्टि करना है।

12 अप्रैल ही क्यों? : 1957 में, पहले मानव निर्मित पृथ्वी उपग्रह स्पुतनिक I को बाहरी अंतरिक्ष में लॉन्च किया गया था। 12 अप्रैल, 1961 को, यूरी गगारिन पृथ्वी की सफलतापूर्वक परिक्रमा करने वाले पहले व्यक्ति बने थे। इससे बाहरी अंतरिक्ष के लिए मानवीय प्रयास खुले।

UNOOSA (United Nations Office for Outer Space Affairs) : बाहरी अंतरिक्ष मामलों के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (United Nations Office for Outer Space Affairs) वह कार्यालय है जो बाहरी अंतरिक्ष में शांतिपूर्ण उपयोग के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देता है। संयुक्त राष्ट्र के इस दिवस को मनाने के कार्यक्रम UNOOSA द्वारा आयोजित किए जाते हैं। UNOOSA का उद्देश्य बाहरी अंतरिक्ष के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देना है।

अन्य अवलोकन : इस दिन को सोवियत संघ में कॉस्मोनॉटिक्स दिवस (Cosmonautics Day) के रूप में मनाया जाता है। 2001 से अमेरिका इस दिन को “विश्व अंतरिक्ष पार्टी” (World Space Party) के रूप में मना रहा है।


4. केंद्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ‘रेमडेसिविर’ के निर्यात पर लगाई रोक

केंद्र सरकार ने 11 अप्रैल 2021 को देश में कोविड-19 की स्थिति में सुधार होने तक रेमडेसिविर इंजेक्शन और इसके ऐक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया। केंद्र सरकार ने कहा कि आने वाले दिनों में रेमडेसिविर की मांग में और वृद्धि होने की संभावना है और सरकार ने घरेलू निर्माताओं से इसके उत्पादन को बढ़ाने हेतु संपर्क किया है।

केंद्र सरकार ने यह फैसला तब किया जब देश के कई हिस्सों में एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिविर की कमी होने की सूचनाएं आने लगीं। कोरोना मरीजों की संख्या काफी बढ़ने के साथ ही रेमडेसिविर का इस्तेमाल भी देश के डॉक्टर बड़ी संख्या में कर रहे हैं।

मुख्य बिंदु :

• भारत ने आधिकारिक तौर पर पहली बार कोरोना महामारी से जुड़ी किसी दवा या इंजेक्शन के निर्यात पर रोक लगाई है। वैसे पिछले एक पखवाड़े से कोरोना की वैक्सीनों के निर्यात की रफ्तार काफी धीमी कर दी गई है।

• रेमडेसिविर अमेरिकी कंपनी गिलीड साइंसेज की इजाद है जिसे अभी सात भारतीय कंपनियां स्वैच्छिक लाइसेंसिंग समझौते के तहत भारत में घरेलू उपयोग और 100 से अधिक देशों में निर्यात के लिए बना रही हैं।

• सिप्ला लिमिटेड, डॉ.रेड्डी सहित अभी इन भारतीय कंपनियों की कुल उत्पादन क्षमता 38.8 लाख यूनिट प्रति माह है।

• केंद्र सकार ने इन सभी हालात को देखते हुए रेमडेसिविर इंजेक्शन और रेमडेसिविर एक्टिव फार्मास्यूटिकल इंग्रेडिएंट्स (एपीआइ) के निर्यात पर रोक लगा दी है।

• केंद्र सरकार ने यह स्पष्ट किया कि हालात सुधरने तक यह रोक लगाने का फैसला किया गया है। इसके साथ ही सरकार की तरफ से देश के अस्पतालों व चिकित्सा केंद्रों पर इसकी उपलब्धता को ज्यादा पारदर्शी बनाने के लिए भी कुछ कदम उठाए हैं।

एक्टिव मरीजों की संख्या 11.08 लाख : केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय की तरफ से जारी सूचना में बताया गया कि 11 अप्रैल, 2021 तक देश में कोविड के एक्टिव मरीजों की संख्या 11.08 लाख पहुंच गई है। संख्या अभी भी बढ़ रही है। इससे कोविड से प्रभावित रोगियों के इलाज में इस्तेमाल होने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग काफी बढ़ गई है। इसकी मांग और बढ़ने की संभावना है।


5. RBI ने बढाया व्यवस्थित G-Sec मार्केट के लिए G-SAP

भारतीय रिज़र्व बैंक ने 2021-22 की पहली तिमाही में G-sec अधिग्रहण कार्यक्रम (G-SAP 1.0) के तहत 1 लाख करोड़ रुपये की सरकारी प्रतिभूतियों की खुली बाजार में खरीद करने की घोषणा की है।

इसका उद्देश्य उपज वक्र का एक स्थिर और व्यवस्थित विकास करना है। इस योजना के तहत G-SAP 1.0 के तहत 25,000 करोड़ रुपये की कुल राशि के लिए सरकारी प्रतिभूतियों की पहली खरीद 15 अप्रैल, 2021 को आयोजित की जाएगी।


6. निर्मला सीतारमण ने दूसरे वर्चुअल G20 वित्त मंत्रियों की बैठक में लिया भाग

केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री, निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने G20 वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक गवर्नर्स (FMCBG) की दूसरी बैठक में वर्चुअली भाग लिया है।

यह बैठक मजबूत, स्थायी, संतुलित और समावेशी विकास को बहाल करने के लिए वैश्विक चुनौतियों के लिए नीतिगत प्रतिक्रियाओं पर चर्चा करने के लिए इतालवी अध्यक्षता के तहत आयोजित की गई।

G20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों ने COVID -19 की प्रतिक्रया में G20 एक्शन प्लान के अपडेट पर चर्चा की।

उन्होंने सबसे कमजोर अर्थव्यवस्थाओं के वित्तपोषण की जरूरतों का समर्थन करने, अंतर्राष्ट्रीय कराधान के एजेंडे पर प्रगति, हरियाली संक्रमण को बढ़ावा देने और महामारी से संबंधित वित्तीय विनियमन मुद्दों पर भी चर्चा की।

श्रीमती सीतारमण ने सभी G20 सदस्यों से वैक्सीन के समान पहुंच और व्यापक वितरण को सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

श्रीमती सीतारमण ने वैश्विक विकास अनुमानों को प्रतिबिंबित किया और वायरस से जुड़ी अनिश्चितताओं की दृढ़ता के बीच निरंतर समन्वय की आवश्यकता को रेखांकित किया।

वित्त मंत्री ने कहा कि G20 एक्शन प्लान ने एक अच्छे मार्गदर्शन उपकरण के रूप में काम किया है और वसूली को आकार देना इसके वर्तमान अपडेट का मुख्य आधार है।


7. RBI ने भुगतान प्रणाली ऑपरेटरों के लिए RTGS, NEFT सुविधाओं को खोलने का फैसला किया

ऑनलाइन भुगतान क्षेत्रों में एक प्रमुख कदम में, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने भुगतान प्रणाली ऑपरेटरों को केंद्रीकृत भुगतान प्रणाली (CPS) जैसे RTGS और NEFT, की प्रत्यक्ष सदस्यता लेने की अनुमति देने का निर्णय लिया है।

बैंकों के अलावा अन्य संस्थाओं के लिए केंद्रीयकृत भुगतान प्रणाली (CPS) RTGS और NEFT में सदस्यता कुछ अपवादों के साथ, जैसे निगमों को साफ़ करने और विकास वित्तीय संस्थानों को चुनने जैसी विशिष्ट संस्थाएँ अब तक बैंकों तक सीमित हैं।

आरबीआई ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में, भुगतान स्थान में गैर-बैंक संस्थाओं की भूमिका जैसे प्रीपेड भुगतान साधन (PPI) जारीकर्ता, कार्ड नेटवर्क, व्हाइट लेबल एटीएम (WLA) ऑपरेटर, ट्रेड रिसीवेबल्स डिस्काउंटिंग सिस्टम (TReDS) प्लेटफॉर्म, महत्व और मात्रा में बढ़ गए हैं, क्योंकि उन्होंने प्रौद्योगिकी का लाभ उठाया है और उपयोगकर्ताओं को अनुकूलित समाधान पेश किए हैं।


8. 11 अप्रैल: विश्व पार्किंसंस दिवस (World Parkinson’s Day)

आज विश्व भर में ‘विश्व पार्किंसंस दिवस’ मनाया जा रहा है। पार्किंसंस के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए प्रतिवर्ष 11 अप्रैल को ‘विश्व पार्किंसंस दिवस’ मनाया जाता है। पार्किंसंस रोग शरीर के गतिविधि में धीमापन, अकड़न और अस्थिरता पैदा कर सकता है।

वर्तमान में दुनिया भर में पार्किंसंस से एक करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हैं। इसके इलाज के लिए कई दवाएं उपलब्ध हैं। संतुलित आहार और व्यायाम भी बीमारी को रोकने में मदद कर सकते हैं।

पार्किंसंस रोग (Parkinson’s Disease) : पार्किंसंस रोग एक अपक्षयी विकार के केंद्रीय तंत्रिका तंत्र कि मुख्य रूप से प्रभावित करता है। इसके लक्षण आमतौर पर धीरे-धीरे उभरते हैं और जैसे-जैसे बीमारी बिगड़ती है, गैर-मोटर लक्षण अधिक आम हो जाते हैं। इसके सबसे स्पष्ट शुरुआती लक्षण में शामिल हैं – कंपकंपी, अकड़न, गति का धीमा होना और चलने में कठिनाई इत्यादि। इससे पीड़ित व्यक्ति को अवसाद के साथ संज्ञानात्मक और व्यवहार संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। पार्किंसंस रोग के साथ कई लोगों में चिंता, उदासीनता का सामना भी करना पड़ता है। पार्किंसंस रोग मनोभ्रंश उन्नत चरणों में आम हो जाता है। पार्किंसंस से पीड़ित लोगों को उनकी नींद और संवेदी प्रणालियों की समस्या भी हो सकती है।


9. WWE हॉल ऑफ फ़ेम 2021 में औपचारिक रूप से शामिल हुए द ग्रेट खली

द ग्रेट खली (The Great Khali) को 2021 के WWE हॉल ऑफ फ़ेम क्लास में शामिल किया गया है। द ग्रेट खली ने WWE के कई दिग्गज सुपरस्टार्स को टक्कर दी, जिनमें जॉन सीना, बटिस्टा, शॉन माइकल्स और 2021 में शामिल साथी केन शामिल थे, जिसे उन्होंने द ग्रैंडस्ट स्टेज ऑफ़ देम ऑल, रैसलमेनिया में अपनी पहली जीत हासिल करने के लिए हराया।

सात फुट एक इंच लंबे और 347 पोंड वजहनी द ग्रेट खली 2006 में WWE में प्रसिद्ध द डेडमैन, अंडरटेकर को हराकर एकाएक चर्चा में आ गए थे। द ग्रेट खली का आधिकारिक नाम दलीप सिंह राणा (Dalip Singh Rana) है।


10. भारत बना सबसे तेज़ी से 10 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाने वाला देश

भारत में अब तक 10 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। गौरतलब है कि भारत ने मात्र 85 दिनों के भीतर 10 करोड़ लोगों का टीकाकरण कर दिया है। गौरतलब है कि सरकार ने 1 अप्रैल, 2021 से 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण शुरू किया है।

अमेरिका ने 85 दिनों में 92 मिलियन लोगों का टीकाकरण किया था, जबकि चीन ने इसी अवधि में 61 मिलियन लोगों का टीकाकरण किया था।

टीकाकरण की लागत कितनी है? :

  • टीकाकरण अभियान सभी 10,000 सरकारी अस्पतालों में मुफ्त चलेगा।

  • लेकिन लाभार्थी को 20,000 निजी टीकाकरण केंद्रों पर अपना टीकाकरण कराने के लिए भुगतान करना होगा। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा अभी तक टीकों का शुल्क तय नहीं किया गया है।

कोविड-19 टीकाकरण का पहला चरण : कोविड-19 टीकाकरण अभियान का पहला चरण 16 जनवरी, 2021 को शुरू किया गया था। यह अभियान पूरे देश में 3006 टीकाकरण केंद्रों पर शुरू किया गया था। पहले चरण में केवल स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन श्रमिकों का टीकाकरण शुरू किया गया था। चरण 1 के तहत, लगभग 1,26,71,163 लोगों को अब तक टीका की पहली खुराक दी गयी है। उनमें से, लगभग 14 लाख लोगों ने दूसरी खुराक भी प्राप्त की है। टीकाकरण अभियान में 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को भी शामिल किया गया है।

दूसरा चरण : कोविड-19 टीकाकरण के दूसरे चरण के तहत, 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा है।

इसके अलावा, दिशानिर्देशों के अनुसार, 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और रोगों से पीड़ित लोगो का टीकाकरण भी किया जा रहा है।


11. आशुतोष भारद्वाज को दिया गया देवीशंकर अवस्थी पुरस्कार 2020

प्रसिद्ध देवीशंकर अवस्थी पुरस्कार (Devishankar Awasthi Award) को विपुल हिंदी गद्य, पत्रकार और आलोचक आशुतोष भारद्वाज (Ashutosh Bhardwaj) को दिया गया है। यह सम्मान उन्हें उनके कार्य 'पितृ-वध (Pitra-Vadh)’ के लिए दिया गया है। उनका चयन अशोक वाजपेयी, नंदकिशोर आचार्य और राजेंद्र कुमार की चयन समिति ने किया था।

आशुतोष भारद्वाज एक देशी अंग्रेजी पत्रकार रहे हैं और बस्तर के उनके अनुभव हिंदी और अंग्रेजी दोनों में ही विवादित रहे हैं। यह पुस्तक अंग्रेजी में 'द डेथ ट्रैप (The Death Trap)' के नाम से प्रकाशित हुई है। इसके अलावा, आधुनिकतावाद और राष्ट्रवाद जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर उनका काम भारतीय उपन्यासों में काफी प्रसिद्ध रहा है। वह शिमला इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज़ के साथी भी रहे हैं और स्वतंत्र रूप से लिख रहे हैं।


12. शिक्षा मंत्री ने विजेताओं को महिला सशक्तिकरण पर AICTE लीलावती पुरस्कार 2020 प्रदान किये

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Ramesh Pokhriyal ‘Nishank’) ने नई दिल्ली में विजेताओं को महिला सशक्तिकरण पर AICTE लीलावती पुरस्कार 2020 प्रदान किया।

मुख्य बिंदु : रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने AICTE (All India Council for Technical Education) के लीलावती पुरस्कारों (Lilawati Awards) की स्थापना की पहल का स्वागत किया और कहा कि इस तरह के अभिनव कदम लड़कियों को उच्च शिक्षा में शामिल होने के लिए प्रेरणा देंगे।

केंद्र सरकार ने उड़ान योजना शुरू की है, जिसका उद्देश्य उच्च शिक्षा तक पहुँच प्राप्त करने के लिए स्कूल स्तर पर कमजोर सामाजिक-आर्थिक स्थिति की लड़कियों को सक्षम बनाना है। इसके अलावा केंद्र सरकार ने युवा महिलाओं को अपनी तकनीकी शिक्षा को आगे बढ़ाने का अवसर देने के लिए प्रगति योजना (Pragati Yojana) भी शुरू की है।

‘महिला सशक्तिकरण’ विषय पर आधारित, AICTE ने कुल 456 प्रविष्टियों में से विजेताओं को अंतिम रूप दिया। यह पुरस्कार महिला स्वास्थ्य, आत्मरक्षा, स्वच्छता, साक्षरता, महिला उद्यमिता और कानूनी जागरूकता के क्षेत्र में दिए गये हैं।

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) : AICTE एक वैधानिक निकाय है और तकनीकी शिक्षा के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की परिषद है। यह उच्च शिक्षा विभाग के तहत काम करती है। इस परिषद की स्थापना नवंबर, 1945 में की गई थी। यह पहले एक सलाहकार निकाय था।


13. ओडिशा ने लांच किया मास्क अभियान (Mask Abhiyan)

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हाल ही में COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए 14 दिनों का “मास्क अभियान” लांच किया है।

मास्क अभियान : इस पहल का मुख्य उद्देश्य मास्क के उपयोग को एक आदत में बदलना है। यह COVID-19 की वर्तमान वृद्धि को नियंत्रित करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। साथ ही, ओडिशा राज्य सरकार ने उल्लंघनकर्ताओं के लिए जुर्माना 1000 रुपये से बढ़ाकर 2000 रुपये कर दिया है।

ओडिशा सरकार ने महामारी रोग अधिनियम, 1897 के तहत COVID -19 नियमों में संशोधन भी किया था। तदनुसार, सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर पहली बार उल्लंघन के लिए 2,000 रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगा। जब दूसरी बार उल्लंघन किया जाता है, तो लोगों पर 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

ओडिशा सरकार ने किन कानूनी आधारों पर जुर्माना लगाया है? : मई 2020 में, केंद्र सरकार ने राज्यों को महामारी रोग अधिनियम लागू करने का निर्देश दिया। यह अधिनियम राज्य सरकारों को एक महामारी के दौरान विशेष उपाय करने का अधिकार देता है। इन प्रावधानों के तहत, ओडिशा सरकार ने जुर्माना पेश किया है।

महामारी अधिनियम, 1897 के प्रावधान : स्वास्थ्य एक राज्य का विषय है।हालाँकि, महामारी अधिनियम की धारा 2A केंद्र सरकार को महामारी के प्रसार को रोकने के लिए कदम उठाने का अधिकार देती है।

अधिनियम की धारा 3 अवज्ञा के लिए दंड का प्रावधान करती है।

अधिनियम की धारा 4 अधिनियम के तहत कार्रवाई करने वाले अधिकारियों को कानूनी सुरक्षा प्रदान करती है।

हाल ही में महामारी अधिनियम, 1897 में संशोधन : केंद्र सरकार ने हाल ही में इस अधिनियम में संशोधन करते हुए कहा कि स्वास्थ्य सेवा कर्मियों के खिलाफ हिंसा के कार्यों को दंडित किया जाएगा। आरोपी को तीन महीने से पांच साल तक की कैद होगी और 2 लाख रुपये तक जुर्माना लगेगा।


14. अभिनेता सतीश कौल (Satish Kaul) का निधन

10 अप्रैल, 2021 को अभिनेता सतीश कौल का निधन हो गया, वे कोविड-19 से संक्रमित थे। उन्होंने अपने करियर में 300 से ज्यादा हिंदी और पंजाबी फिल्मों में कार्य किया। उन्होंने क्षेत्रीय सिनेमा के सबसे सफल अभिनेताओं में से एक माना जाता है। उन्हें पंजाबी सिनेमा का अमिताभ बच्चन भी कहा जाता है। उन्होंने महाभारत टीवी धारावाहिक में देवराज इंद्र की भूमिका निभाकार काफी प्रसिद्धि हासिल की थी।

सतीश कौल (Satish Kaul) : सतीश कौल का जन्म 8 सितम्बर, 1948 को कश्मीर में हुआ था। उन्होंने अपने करियर में ज़ंजीर, याराना, ऐलान, राम लखन, इलज़ाम जैसी फिल्मों में काम किया। उन्होंने महाभारत, विक्रम और बेताल जैसे कई लोकप्रिय धारावाहिकों में भी कार्य किया। इसके अलावा उन्होंने कई पंजाबी फिल्मों में भी काम किया। उनके कार्य के लिए उन्हें PTC Punjabi Film Awards 2011 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया था।


15. BAFTA Awards 2021

द ब्रिटिश अकादमी ऑफ फिल्म और टेलीविजन आर्ट्स (BAFTA) 2021 अवॉर्ड्स की घोषणा 11 अप्रैल 2021 को हो चुकी है। इस साल ये अवॉर्ड नाइट दो दिनों तक चली और 10 अप्रैल 2021 की रात क्राफ्ट्स पर निर्धारित अवॉर्ड्स की घोषणा की गई थी। इसके बाद 11 अप्रैल 2021 को बाकि के अवॉर्ड्स की घोषणा हुई। यह 74वां बाफ्टा पुरस्कार आयोजन था।

10 और 11 अप्रैल को लंदन के रोयाल अलबर्ट हॉल में वर्चुअली आयोजित किए गए बाफ्टा अवॉर्ड्स में इस बात की घोषणा कई गई कि बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड ‘द व्हाइट टाइगर’ अभिनेता आदर्श गौरव को नहीं बल्कि ‘द फादर’ अभिनेता एंथनी हॉपकिन्स को जाता है। एंथनी को ‘द फादर’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अवॉर्ड मिला है। तो वहीं बेस्ट फिल्म का अवॉर्ड 'नॉमलैंड’ ने अपने नाम किया है।

इस साल के विनर्स की पूरी सूची:-

  • बेस्ट फिल्म- नोमाडलैंड

  • बेस्ट एक्टर- एंथनी हॉपकिन्स ( द फादर)

  • बेस्ट एक्ट्रेस- फ्रांसिस मैकडोरमैंड (नोमाडलैंड)

  • आउटस्टैंडिंग ब्रिटिश फिल्म- मिसिंग यंग वुमन

  • बेस्ट डायरेक्टर- Chloé Zhao (नोमाडलैंड)

  • ओरिजनल स्क्रीनप्ले- प्रॉमिसिंग यंग वुमन

  • एडैप्टेड स्क्रीनप्ले- क्रिस्टोफर हैम्पटन, फ्लोरियन जेलर ( द फादर)

  • सपोर्टिंग एक्ट्रेस- युह जुंग योन (मिनारी)

  • सपोर्टिंग एक्टर- डैनी कलय्यू श्रजुदास एंड द ब्लैक मसीहा)

  • ब्रिटिश राइटर, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर आउटस्टैंडिंग डेब्यू- रेमि वीक्स (हिस हाउस)

  • फिल्म जो इंग्लिश भाषा में नहीं है- थोमस विटरबर्ग, सिस्से ग्रॉम (अनादर राउंड)

  • बेस्ट शॉर्ट फिल्म- द प्रेजेंट, फराह नबुल्सी

  • प्रोडक्शन डिजाइन- मैंक, डोनाल्ड ग्रैहम बर्ट, जैन पास्केल

  • ब्रिटिश शॉर्ट एनिमेशन- द आउव एंड दा पुसी कैट, मोल हिल, लॉरा डनकाल्फ

  • साउंड- साउंड ऑफ मेटल, जैमि, निकोलस बेकर, Phillip Bladh, कार्लोस, Michelle Couttolenc

  • कास्टिंग- रॉक्स, लूसी पार्डी

  • कॉस्ट्यूम डिजाइन- मां रैने, एन रॉथ

  • मेकअप एंड हेयर- मा रैने ब्लैक बॉटम, मैटिकि एनॉफ, लैपी एम चैरी, सर्जियो लोपेज, मिया नील

  • डॉक्यूमेंट्री- पिप्पा एहरलिच, जेम्स रीड, क्रैग फोस्टर (माई ओक्टोपस टीचर)

  • ओरिजनल स्कोर- जोन बैटिस्टि, ट्रेंट रेनजर, एटीकस रोज (सोल)

  • एनिमेटेड फिल्म- पेटे डॉक्टर, डाना मुरे (सोल)

  • कास्टिंग- लूसी पैरडी (रॉक्स)

  • सिनेमाटोग्राफी- जोशुआ जेम्स